News Update
अगर आप स्टूडेंट हैं, जानिए- आपके लिए लैपटॉप या आईपैड में कौन बेहतर विकल्प है और क्यों 28-Jul-2020

छात्रों के लिए लैपटॉप और आईपैड के बीच तुलना करना काफी मुश्किल हो जाता है.

दोनों की अपनी-अपनी विशेषता के कारण अपनी जरूरत को देखते हुए चुन सकते हैं.

Ipad, Tablet Vs Laptop: छात्रों को अपनी पढ़ाई संबंधी जरूरतों को पूरा करने में ऑनलाइन सामग्री मदद पहुंचाती है. इसके लिए उन्हें लैपटॉप या आईपैड जरूरी होता है. मगर अक्सर उन्हें इसी दुविधा में देखा गया है कि दोनों में बेहतर विकल्प कौन सा है.

 

दोनों की अपनी-अपनी विशेषता है. जहां तक बात वजन की है तो लैपटॉप आईपैड से ज्यादा वजनी होता है. आईपैड का वजन करीब 600 ग्राम जबकि लैपटॉप का भार दो किलो होता है. इसलिए आईपैड थोड़ा ज्यादा पोर्टेबल माना जाता है. सिर्फ ब्राउजिंग करना है तो दोनों आपके लिए ठीक रहेंगे.

 

इसके मुकाबले आईपैड या टैबलेट में बैट्री बैकअप लैपटॉप की तुलना में ज्यादा रहता है. करीब 8-10 घंटे का इसमें बैकअप मिलता. जबकि लैपटॉप 4 घंटे चलाने के बाद ऑफ हो जाएगा. हैंड नोट बनाने के लिए आईपैड ज्यादा बेहतर विकल्प है जिसे पीडीएफ फॉर्मेट में शेयर करना भी आसान होता है. जबकि लैपटॉप में एक अलग से डिवाइस की जरूरत होगी. साधारण भाषा में कहें तो लैपटॉप पर हैंड नोट बनाना बहुत मुश्किल है.

 

ई बुक को ऑनलाइन या डाउनलोड कर पढ़ने के लिए आईपैड में स्पेस मिल जाता है. हालांकि लैपटॉप में भी सामग्री को पढ़ा जा सकता है मगर आईपैड ज्यादा अच्छा विकल्प साबित होगा. इसमें डिजाइनिंग, ड्राइंग बनाने के लिए एक अतिरिक्त डिवाइस शामिल करने की जरूरत होगी. इसके लिए एप्पल के पेंसिल को इस्तेमाल किया जा सकता है.

 

आईपैड में स्क्रीन का नहीं मिलता है विकल्प 

 

स्क्रीन के मामले में आईपैड की सीमा तय होती है. आईपैड में 10 इंच का स्क्रीन मिलता है. लेकिन लैपटॉप में अलग-अलग इंच के स्क्रीन मिलेंगे. अब अपनी जरूरत के हिसाब से दोनों के बीच चुनाव कर सकते हैं. जहां तक बहुत ज्यादा टाइपिंग की जरूरत पूरा करने का सवाल है तो लैपटॉप में डेडिकेटेड की बोर्ड मिलने से टाइपिंग आसान हो जाती है. इसके विपरीत आईपैड में ऑनस्क्रीन की बोर्ड की मदद से ही टाइप किए जा सकते हैं. इसमें तेज गति से टाइप करना थोड़ा मुश्किल साबित होता है. अलग से की बोर्ड खरीदकर आईपैड का इस्तेमाल किया जा सकता है मगर उसके लिए अतिरिक्त रकम खर्च करना पड़ेगा.

 

इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए लैपटॉप बेहतर

 

कैमरे की बात की जाए तो आईपैड में दो कैमरे एक फ्रंट की तरफ और दूसरा बैक कैमरा होता है. लैपटॉप में सिर्फ फ्रंट में ही कैमरे की सुविधा होती है. बैक कैमरा का इस्तेमाल करते हुए वीडियो, फोटो, स्क्रीनशॉट लेने या फिर डॉक्यूमेंट्स के स्कैन करने में आईपैड की भूमिका अहम हो जाती है. फोटोशॉप पर काम करने के लिए आईपैड की तुलना में लैपटॉप ज्यादा मुफीद साबित होता है. इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए लैपटॉप बेहतर विकल्प है.

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.