Top Story
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने 100 क्विंटल धान बेचा छत्तीसगढ़ सरकार को फिर भी लगा रहे अव्यवस्था का आरोप - कांग्रे स 09-Jan-2021
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय खुद 100 क्विंटल धान बेचकर धान बेचने में अव्यवस्था का झूठे आरोप लगाकर राजनीति कर रहे रायपुर/9 जनवरी 2021 /प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय खुद के 100 क्विंटल धान को जशपुर के चोंगरी बहार धान उपार्जन केंद्र में बेचकर बैंक खाता में एक लाख छियासी हजार आठ सौ रुपए प्राप्त कर धान खरीदी में अव्यवस्था एवं धान बेचने वाले किसानों को भुगतान नहीं होने का झूठा आरोप लगाकर झूठी राजनीति कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में 1 दिसंबर को धान की खरीदी शुरू हुई और 7 जनवरी तक 15लाख 49हजार किसानों से लगभग 62 लाख मैट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है।धान बेचने वाले किसानों के खाता में समर्थन मूल्य की राशि भी जमा करा दी गई है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के 2 साल के कार्यकाल के बाद भाजपा मुद्दा विहीन हो चुकी हैं झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगाकर भाजपा अपनी खोई हुई राजनीतिक धरातल को पाने में जुटी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि यह पहला अवसर नहीं है जब भाजपा के नेता झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगाकर छत्तीसगढ़ में किसानों के नाम से धान खरीदी में अव्यवस्था फैलाने का आरोप लगाकर राजनीति करने का प्रयास कर रहे हैं। इसके पहले भी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित भाजपा के नेताओं ने धान की कीमत 2500 रु प्रति क्विं एकमुश्त प्राप्त करने एवं राजीव गांधी किसान न्याय योजना के जरिये तीन किस्त खाता में जमा होने के बाद भी समर्थन मूल्य के अलावा अंतर की राशि नहीं मिलने का झूठा मनगढ़ंत आरोप लगाए थे ।छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार राज्य के लगभग धान बेचने पंजीकृत 21लाख 50हजार किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान 2500रु की दाम पर खरीदी कर रही है इस वर्ष 90 लाख मैट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और 7 जनवरी तक 62 लाख मैट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा की जहां जहां सरकार है वहां के किसान परेशान हताश एवं दुखी हैं किसानों के साथ किए वादा को भाजपा कभी पूरा नहीं करती है उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश बिहार गुजरात में किसानों को उनकी उपज का समर्थन मूल्य नहीं मिल पा रहा है किसानों की आर्थिक हालात खराब है केंद्र में बैठी नरेंद्र मोदी की सरकार जो किसानों से लोक लुभावने वादे की थी स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश के अनुसार लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य और 50% अतिरिक्त प्रॉफिट देने का वादा कर किसानों से वोट लेकर सत्ता तो प्राप्त कर लिए लेकिन किसानों से किए वादे को पूरा नहीं किए बल्कि किसानों को चंद पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बनाने पूंजी पतियों के गुलाम बनाने तीन कृषि कानून लाकर देश के कृषि क्षेत्र को समाप्त करने में लगी हुई है जिसे खिलाफ देशभर के किसान दिल्ली में आंदोलन कर रहे हैं और भाजपा के नेता एवं मोदी के मंत्री किसानों की मांगों को सुनने के बजाय किसानों के आंदोलन के खिलाफ बेतुका आधारहीन आरोप लगा रहे हैं देश के अन्नदाता को खालिस्तानी समर्थक टुकड़े-टुकड़े गैंग पाक परस्त बता रहे और न जाने कितने प्रकार के झूठे मनगढंत आरोप लगाकर झूठ की राजनीति करना भाजपा बन्द करे।
More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.