State News
ट्रिपल मर्डर : भाभी ने रची साजिश, साले ने साथी के साथ मिलकर कर दी तीनों की निर्मम हत्या, दूसरा आरोपी भी पकड़ाया 21-Apr-2021
कोरबा । इसकी कल्पना स्वयं मृतक हरीश कंवर ने कभी नहीं की रही होगी कि उसकी अपनी भाभी ही उसके खून की प्यासी हो जाएगी। पहले से बनाए जा रहे मर्डर की योजना को आज तड़के भाभी के इशारे पर उसके भाई ने साथी के साथ मिलकर अंजाम दिया किंतु मामले का बहुत ही कम समय में पर्दाफाश हो गया। मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर सहयोगी की तलाश शुरू की गई। वह जिला छोड़कर भागने की फ़िराक में था उसे जांजगीर-चांपा जिले के थाना नगरदा में पदस्थ 2 आरक्षकों के द्वारा पकड़ कर उरगा पुलिस के हवाले कर दिया गया है। बता दें कि अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय प्यारेलाल कंवर के कनिष्ठ पुत्र हरीश कंवर, उनकी पत्नी और पोती की बुधवार तड़के निर्मम हत्या घर पर ही कर दी गई। हरीश का बड़ा भाई हरभजन कंवर तड़के करीब 4 बजे हर दिन की तरह बाड़ी के लिए निकल गया था। उसकी पत्नी मायके ग्राम सलिहाभाठा गई हुई थी। इधर घर में कम देख सकने वाली वृद्धा मां, हरीश कंवर, और उसकी पत्नी सुमित्रा व उनकी पुत्री यशिका रह गए थे । हत्यारों ने इसी बीच घर में घुसकर धारदार हथियार व भारी ठोस वस्तु से हत्या को अंजाम दिया व भाग निकले। हरभजन जब घर लौटा तब रक्त बिखरा देखकर हत्या का पता चला। इसके बाद वहाँ कोहराम मच गया। सूचना मिलते ही मौक़े पर पुलिस के अधिकारी मातहतों, डॉग स्क्वाड, फोरेंसिक एक्सपर्ट के साथ पहुंच गए व आरोपियों की तलाश शुरू हुई। घटनास्थल के बाहर पड़ोसी के सीसीटीवी कैमरे को खंगालने पर दो लोग घर के भीतर घुसते नजर आए। इसी तरह खोजी डॉग बाघा घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूर बाजार लगने वाले स्थल पर मौजूद पेड़ के पास जाकर ठहरा और यहां से चीतापाली की ओर जाने वाले मार्ग पर आगे बढ़ा। इस संकेत का पुलिस ने पीछा किया और ग्राम ढोंगदरहा होते हुए सलिहाभांठा-नोनबिर्रा मार्ग तक पहुंचे। सलिहाभाठा डेम में जले हुए कपड़ों के अवशेष मिले जिन्हें जब्त किया गया। पुलिस अधिकारियों के बीच से जानकारी छनकर आई है कि हत्या और हत्यारे की तलाश के मध्य डॉयल 112 को फोन कर इस मार्ग में सड़क दुर्घटना की सूचना दी गई और पहुंचे एम्बुलेंस से परमेश्वर नामक युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस को भी डॉयल 112 के फोन की जानकारी हुई और अंदेशे पर जब आसपास के लोगों से पूछा तो कोई सड़क हादसा होना नहीं बताया। इस आधार पर पुलिस सीधे परमेश्वर के पास अस्पताल पहुंची जिसकी आंख और चेहरे के आसपास जख्म बने थे जो दुर्घटना के नहीं थे। दरअसल अपने बचाव में हरीश कंवर ने हथियार छीनकर हमला किया था जिससे यह चोट लगी थी।परमेश्वर कंवर मृतक हरीश के बड़े भाई हरभजन का सगा साला है ,और कॉलेज में द्वितीय वर्ष का छात्र भी है। उसे हिरासत में लेने के साथ तस्वीरें कुछ साफ हुई। उसने अपने साथी के साथ मिलकर हत्या करना बताया है। उसकी बहन हरभजन की पत्नी की इसमें भूमिका उजागर हुई है। अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक इस पूरे मामले में हरभजन की भी भूमिका को तलाशा जा रहा है कि कहीं संपत्ति और पारिवारिक विवाद में उसने भी अपनी पत्नी का साथ तो नहीं दिया था। बहरहाल पुलिस इस पूरे मामले में अब-तब में खुलासा कर सकती है।
More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.