National News
जब देश में छपे थे जीरो रुपये के नोट, किसने किया था इसका इस्तेमाल? जानें क्या थी वजह 22-Apr-2021
हां, तो आपने कितने रुपये तक के नोट देखे हैं? एक, दो, पांच…100, 500, 1000 और दो हजार. हालांकि, एक हजार वाला लाल रंग का नोट अब चलन से बाहर है. देश में सबसे अधिक मूल्य का नोट फिलहाल गुलाबी रंग वाला दो हजार रुपये का है. जिसके एटीएम से निकलने के बाद छुट्टा कराने में आपके पसीने छूट जाते हैं. मगर क्या आप जानते हैं कि देश में कभी जीरो (0) मूल्य के नोट भी छपे हैं? नहीं जान रहे हैं न, कोई बात नहीं आज आपको जीरो रुपये वाले नोट की पूरी कहानी समझा देते हैं. तो हाज़रीन ऐसा है कि बात साल 2007 की है. देश में जीरो रुपये के नोट रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नहीं छापे थे. दरअसल, दक्षिण भारत की एक नॉन प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन (NGO) ने जीरो रुपये के नोट को प्रिंट किया था. तमिलनाडु स्थित 5th Pillar नाम की इस एनजीओ ने जीरो रुपये के लाखों नोट छाप दिए थे. ये नोट चार भाषाओं हिंदी, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम में छापे गए थे. क्या था मकसद दरअसल, इस नोट को छापने के पीछे का मकसद भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ लोगों को जारूरक करना था. भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ लड़ाई में जीरो रुपये वाले नोट को हथियार बनाया गया था. अलग-अलग भाषाओं में छपे इन नोटों पर लिखा था ‘अगर कोई रिश्वत मांगे तो इस नोट को दे दें और मामले को हमें बताएं!’ 30 लाख नोट बांटे संस्था ने जीरो रुपये के मूल्य वाले नोट छापकर भ्रष्टाचार के खिलाफ महालौ तैयार करने की कोशिश की थी. सिर्फ तमिलनाडु में ही 25 लाख से अधिक ये नोट बांटे गए थे. पूरे देश में करीब 30 लाख नोट बांटे गए थे. लोगों को किया जागरूक 5th Pillar संस्थान के संस्थापक विजय आनंद ने इस मुहिम की शुरुआत की थी. उन्होंने अपने वॉलिंटियर्स के द्वारा रेलवे स्टेशन से लेकर हर चौक-चौराहे और बाजारों में जीरो रुपये के नोट बंटवाए थे. इस नोट के साथ एक पर्चा भी लोगों को दिया जाता था, जिसपर लोगों को जागरूक करने और उनके अधिकार से जुड़ी जानकारी छपी होती थी. “ना तो मैं रिश्वत लूंगा और ना ही दूंगा” 5th Pillar संस्था पिछले पांच वर्षों से दक्षिण भारत के 1200 स्कूल, कॉलेज और लोगों के बीच जाकर लोगों को करप्शन के खिलाफ जागरूक कर रही है. इसके लिए 30 लंबाई के जीरो रुपये के नोट बनाए गए हैं, जिसपर लोगों से साइन कराए जाते हैं. इस पर अब तक 5 लाख से अधिक लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं. इस नोट पर लिखा है कि ना तो मैं रिश्वत लूंगा और ना ही दूंगा.
More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.