Top Story
भाजपा सत्ता में कैसे आएगी ? चिंतन शिविर में क्या हुई चर्चा ? 04-Sep-2021

थूक वाले बयान में दबकर रह गए चिंतन शिविर के विषय  

 नए युवा कार्यकर्ताओं पर संगठन दांव खेलेगा और छत्तीसगढ़ में फिर से भाजपा की सरकार बनाने की कोशिश करेगा

बस्तर में भारतीय जनता पार्टी के चिंतन शिविर में किन किन विषयों पर चर्चा हुई वह सब मुद्दे भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी के थूक वाले बयान में दबकर रह गए | भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता थूक देंगे तो भूपेश बघेल और उनकी सरकार के मंत्री बह जाएंगे - इस बयान पर भी भारतीय जनता पार्टी के तरफ से कोई स्पष्टीकरण सामने नहीं आया है, पता नहीं क्यों ? वहीं दूसरी तरफ चिंतन शिविर से जो मुख्य बात सामने आई है उससे यह जाहिर हो गया है कि पुराने सीनियर और वरिष्ठ पदाधिकारियों की पूछ परख नहीं की जाएगी, नए युवा कार्यकर्ताओं पर संगठन दांव खेलेगा और छत्तीसगढ़ में फिर से भाजपा की सरकार बनाने की कोशिश करेगा| अब सवाल यह उठता है कि जो कार्यकर्ता है वह सब किसी न किसी सीनियर पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री पूर्व मंत्री के भरोसे चलते हैं | उनके नाम को आगे करने का काम भी यही वरिष्ठ नेता करते हैं | इन नए कार्यकर्ताओं में ज्यादातर कार्यकर्ता स्वार्थ वश सत्ता की लोलुपता एवं भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में सरकार का लाभ उठाने के लिए जुड़े हैं | पार्टी के लिए निस्वार्थ सेवा करने वाले, संगठन को खड़ा करने वाले, प्रदेश एवं केंद्र में भाजपा की सरकार बनाने में अपना खून पसीना एवं जी जान लगाने वाले कार्यकर्ता कहां है ? किसी भी वरिष्ठ पदाधिकारी को नहीं मालूम ना ही पार्टी के यही सर्वे सर्वा नेता इन निस्वार्थ कार्यकर्ताओं को जानते हैं और जो जानते भी है वह सब भी उनकी सुध नहीं ले रहे हैं | *पार्टी के लिए निस्वार्थ काम करने वाले, भारतीय जनता पार्टी को शिखर तक पहुंचाने वाले कार्यकर्ताओं की अवहेलना कर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सिर्फ नए कार्यकर्ताओं के भरोसे दोबारा सत्ता हासिल कैसे कर पाएंगे ?* देश में बदलाव लाने वाले, कांग्रेस की जगह भाजपा की सत्ता बनाने में सहयोग करने वाले, निस्वार्थ कार्यकर्ता छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की सत्ता से बेदखली से आहत हैं |

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.