Rajdhani
इंदिरा गांधी में वो साहस था कि चीनी सैनिक देश की जमीं पर पैर रखने भी 100 बार सोचते - विकास उपाध्याय 04-Dec-2021

संसदीय सचिव विकास उपाध्याय आज प्रदेश युवा कांग्रेस द्वारा भारत की इंदिरा के नाम पर इंदिरा गांधी के सम्पूर्ण जीवन पर आधारित चित्र प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी और 10 साल भी जीवित रहतीं तो भाजपा जैसे साम्प्रदायिक पार्टी का उदय ही नहीं हो पाता। उन्होंने मोदी सरकार से इंदिरा गांधी से सीख लेने की बात करते हुए कहा, आज इंदिरा जी देश की प्रधानमंत्री होतीं तो चीनी सैनिक भारत की जमीं पर कदम रखने से भी सौ बार सोचते।

संसदीय सचिव विकास उपाध्याय आज ऐतिहासिक गांधी मैदान में युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित इंदिरा गांधी के सम्पूर्ण जीवन पर आधारित चित्र प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान वे उनकी एक-एक तस्वीरों को देख काफी ओत-प्रोत दिखाई दिये। उन्होंने कहा, इंदिरा गांधी ने आदर्शवादी तत्वों को अपनाया। वे हमेशा राष्ट्रीय हितों के संदर्भ में देखा करतीं थीं। भारतीय विदेशनीति में यथार्थवाद के साथ-साथ गत्यात्मकता व अनुरूपता बनाए रखने का प्रयास करते रहीं। परन्तु विश्व के सभी देश इसका पालन आज नहीं कर रहे हैं, अन्यथा चल रहे संघर्षों का अंत हो जाता। उन्होंने कहा, इंदिरा गांधी में वह साहस व पराक्रम था कि सीमावर्ती देश कोई भी गलत हरकत करने से घबराते थे, परन्तु वर्तमान की स्थिति में यह सब समाप्त हो चुका है।अब बोलने के नेता ही रह गए हैं।

विकास उपाध्याय ने यह भी कहा कि इंदिरा गांधी अपने जीवनकाल में 10 साल और देश का नेतृत्व कर लेतीं तो आज भारत की स्थिति विश्व के विकसित देशों की सूची में होता। जो चीन आज भारतीय जमीन पर घूसने का साहस कर रहा है उसे 100 बार सोचना पड़ता और उन्होंने 1971 के पाकिस्तान युद्ध में साबित भी कर दिया था कि उनके साहस के सामने कोई भी देश भारत को आँख उठाकर नहीं देख सकता। विकास उपाध्याय ने कहा, इंदिरा गांधी में वो काबिलियत थी की भाजपा जैसे साम्प्रादायिक पार्टी को उदय ही नहीं होता और जिस राम मंदिर को लेकर भाजपा वोट की राजनीति कर रही है वह 80 के दशक में ही निर्मित हो जाता।

More Photo
  • इंदिरा गांधी में वो साहस था कि चीनी सैनिक देश की जमीं पर पैर रखने भी 100 बार सोचते - विकास उपाध्याय
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.