Top Story
भूपेश बघेल अब यह न कह दें कि मोदी जी ने तिरपाल नहीं दिया, इसलिए धान भीग गया - भाजपा 30-Dec-2021
भूपेश बघेल अब यह न कह दें कि मोदी जी ने तिरपाल नहीं दिया, इसलिए धान भीग गया - भाजपा मुख्यमंत्री को हम जगाते रहे, वे नींद में यूपी के ख्वाब देखते रहे, अब बहानेबाजी दिखा रहे हैं- विष्णुदेव साय 0 बेमौसम बारिश तो एक बहाना है, सरकार का निकम्मापन असल वजह है 0 किसानों से भीगा धान खरीदें या कीमत के बराबर मुआवजा दें 0 खाद्य मंत्री भगत को फौरन बर्खास्त किया जाय रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने बरसात में किसानों की बिना बिका और खरीदा जा चुका अरबों रुपये का धान बर्बाद हो जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि जब भाजपा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धान की सुरक्षा के लिए जगा रही थी तब वे नींद में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के सपने देख रहे थे। अपने राज्य के किसान और उसके धान को भगवान भरोसे छोड़ कर यूपी में मगन भूपेश बघेल अब धान की बर्बादी का दोष मौसम पर डालकर अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा है कि बेमौसम बरसात तो एक बहाना है। धान की बर्बादी की असल वजह भूपेश बघेल और उनकी सरकार का निकम्मापन, टालमटोल, झूठ और बहानेबाजी ही है। भूपेश बघेल फुल कॉन्फिडेंस के साथ झूठ बोलने में माहिर हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा है कि अब जब भारी नुकसान हो गया तब मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि नुकसान का त्वरित आकलन करने के निर्देश दिए हैं। वे किसानों और गरीबों को बताएं कि अब तक क्या कर रहे थे जो एहतियात के कदम नहीं उठाए जबकि भाजपा लगातार चेता रही थी कि धान खरीदी एक नवम्बर से करें। यदि समय पर धान खरीदी शुरू हो जाती तो न किसान के पास रखा धान भीगता और न खरीदी केंद्रों में खुला पड़ा धान बर्बाद होता। भूपेश बघेल की हठधर्मिता और हद दर्जे की झुठीली राजनीति ने न केवल किसान की किस्मत पर पानी फेर दिया, बल्कि राष्ट्रीय धन की बर्बादी का घोर अपराध भी किया है। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत की तत्काल बर्खास्तगी की मांग करते हुए श्री साय ने कहा कि वे विधानसभा में तो बड़ी बड़ी बात करते हैं लेकिन इंतजाम क्या है? यह उन्होंने एक दो धान खरीदी केन्द्रों में मुंह दिखाई के दौरान खुद देख लिया कि धान की बर्बादी में भूपेश बघेल के बराबर के हिस्सेदार वे ही हैं। धान बचाने तिरपाल खरीदने पैसे नहीं हैं और कर्मचारियों को छह महीने से पगार नहीं मिली है तो इसके लिए अमरजीत भगत सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि जब नुकसान हो जाता है तब श्री बघेल को होश आता है। वे अब अपनी नाकामी का ठीकरा बेमौसम बरसात पर फोड़ रहे हैं। जब मौसम विभाग ने चेतावनी दी थी तब वे किस कारण से बेहोश थे? भाजपा खुले में पड़े धान की सुरक्षा सुनिश्चित करने कह रही थी तब वे कान में रुई ठूंसकर बैठे थे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री साय ने कटाक्ष करते हुए कहा है कि कहीं अब मुख्यमंत्री श्री बघेल यह न कह दें कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने तिरपाल नहीं दिया, इसलिए छत्तीसगढ़ का धान भीग गया। उन्होंने कहा कि अपनी गलती पर पर्दा डालना और दूसरों को दोष देना मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पुरानी आदत है। इसे छत्तीसगढ़ की जनता तीन साल से हर रोज देख रही है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा है कि भूपेश बघेल त्वरित आकलन का राग अलापने की बजाय किसानों का भीगा धान खरीदें या फिर उसकी कीमत के अनुसार मुआवजा दें। इस बरसात में गरीबों के जो घर बर्बाद हुए हैं, उन्हें भी मुआवजा देने में वैसी ही दरियादिली दिखाएं, जैसी अपनी दीदी को खुश करने के लिए यूपी में दिखा रहे हैं।
More Photo
  • भूपेश बघेल अब यह न कह दें कि मोदी जी ने तिरपाल नहीं दिया, इसलिए धान भीग गया - भाजपा
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.