Top Story
देश के इतिहास का काला दिन - देश का प्रधानमंत्री किसी प्रदेश में जाने के लिए स्वतंत्र नहीं 05-Jan-2022

देश के इतिहास का काला दिन

देश का प्रधानमंत्री किसी प्रदेश में जाने के लिए स्वतंत्र नहीं,

यही कुछ आज की घटना - दुर्घटना का निचोड़ कहा जा सकता है, सियासत इतनी ज्यादा गंदी हो गई है कि अब भारत दुनिया में इस घटना के बाद बदनाम हो जाएगा |

प्रधानमंत्री बनने के बाद व्यक्ति किसी राजनीतिक दल का नहीं रह जाता, वह देश का प्रधानमंत्री होता है, हर वर्ग का प्रधानमंत्री होता है और देश के नागरिकों का प्रधानमंत्री होता है और ऐसे में अगर प्रधानमंत्री को किसी प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था की चूक का सामना करना पड़े तो यह शर्म की बात है |

 

हम आपको दूसरे पक्ष की बात बताते हैं पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने पत्रकार वार्ता के माध्यम से जानकारी दी कि उनके साथ चलने वाला सुरक्षाकर्मी कोविड पॉजिटिव पाया गया जिसके कारण उन्हें भी अपने आप को आइसोलेटेड करना पड़ा और प्रधानमंत्री के नियमानुसार कार्यक्रम में शामिल होने से परहेज करना पड़ा |

 

अब बात यहां पर यह आती है कि मुख्यमंत्री जी आप जब यह बातें कह रहे हैं तो यह बातें नियमानुसार फोन के माध्यम से, अपने अधिकारियों के माध्यम से प्रधानमंत्री के सुरक्षा सलाहकार या एसजीपी के अधिकारियों तक पहुंचा सकते थे, परंतु ना आपने उनको सूचना दी और ना ही आप प्रधानमंत्री को रिसीव करने गए , आपकी यह सफाई किसी के गले नहीं उतरेगी |

प्रधानमंत्री के काफिले के फंसने के बाद जब एसजीपी और प्रधानमंत्री के सुरक्षा दस्ते ने मुख्यमंत्री चन्नी सहित सीएम हाउस में संपर्क करने की कोशिश की तो किसी ने भी फोन अटेंड नहीं किया | आश्चर्यजनक बात है कि देश का प्रधानमंत्री किसी प्रदेश में जाए और उस प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी या मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था में लगे अधिकारियों का फोन अटेंड ना करें यह तो एक सोची समझी साजिश ही मानी जा सकती है!

 

अब रही बात किसानों के धरना प्रदर्शन और डिमांड की तो सवाल यह उठता है कि इन किसान आंदोलन कारियों को कैसे पता चला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सड़क मार्ग से आने वाले हैं ? जबकि यह निर्णय तात्कालिक था जिसकी पहले से कोई तैयारी नहीं थी, यह खराब मौसम के कारण लिया गया अचानक निर्णय था, तो जब सड़क मार्ग से जाने का निर्णय अचानक था तो आंदोलनकारी उस सड़क मार्ग पर कैसे पहुंच गए ?  सामने से ट्रैक्टर ट्राली कैसे अड़ाई गई ? 

 

राजनीति जबकि बहुत गंदी है उसके तहत कोई भी अपनी गलती मानने को तैयार नहीं होता |

परंतु देश का प्रधानमंत्री जो कि सर्वे सर्वा होता है वह ऐसी अव्यवस्था का शिकार हो जाए तो देश के लिए यह शर्म की बात है |

 

बहरहाल हम फिर से यह अनुरोध अपील करते हैं कि जो कुछ हुआ सही नहीं हुआ और अगर पंजाब की सरकार के साथ-साथ कांग्रेस इस पर आरोप-प्रत्यारोप, तर्क - वितर्क - कुतर्क के साथ अपने बचाव की बातें करती है तो यह किसी भी हाल में मान्य नहीं है | देश का कोई भी नागरिक इसे सही नहीं मानेगा | CG 24 News Sukhbir Singhotra

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.