Top Story
प्रधानमंत्री मोदी ने मिस्र के विदेश मंत्री से की मुलाकात 28-May-2018

नई दिल्ली: भारत दौरे पर आये मिस्र के विदेश मंत्री समेह हसन शौकरी शुक्रवार को यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले। वह द्विपक्षीय संयुक्त आयोग की बैठक में हिस्सा लेने के लिए इस समय भारत की यात्रा पर हैं।
एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए भारत एवं मिस्र की साझा प्रतिबद्धता पर चर्चा की। बयान के अनुसार बैठक में बुनियादी ढांचा, व्यापार एवं निवेश और लोगों के बीच संबंधों जैसे क्षेत्रों में सहयोग गहराने पर चर्चा की गयी। मंत्री ने मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल सिसी की तरफ से प्रधानमंत्री का अभिवादन भी किया।
नई दिल्ली: विश्व के सबसे बड़े सोशल साईट फेसबुक पर भारत सरकार सख्त नजर आ रही है. फेसबुक डाटा चोरी मामले में सुचना एवं प्रसारण मंत्रलाय ने  कैंब्रिज एनालिटिका को नोटिस जारी कर 6 सवालों के जवाब 31 मार्च तक  मांगे है. सरकार के इस रुख को गोपनीयता और सोशल साइट्स में निजी जानकारियों के दुरुपयोग पर रोक लगाने की दिशा में कड़े कदम उठाने के रूप में देखा जा रहा है. 
फेसबुक डाटा लीक मामले में सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी से सवाल पूछते हुए जानना चाहा है कि कंपनी ने कैसे यूजर्स के डाटा को कलेक्ट किया ? कैसे इसका इस्तेमाल किया ? तथा प्रयोगकर्ताओं की सहमति ली गई थी या नही ?  इसके साथ ही नोटिस में यह भी पूछा गया है कि देश की किन किन इकाइयों ने सेवाएं ली हैं ?

बता दे कि कैंब्रिज एनालिटिका पर आरोप है कि उन्होंने फेसबुक से डाटा संग्रह कर अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में दुरपयोग कर चुनाव को प्रभावित करने की कोशिस की गई थी, इस मामले की खुलासा होते ही भारत में भी कई पार्टियों द्वारा उनसे सेवाएं लेने की बात सामने आ रही है जिससे भारत की राजनीति में खलबली मची हुई है.  दोनों प्रमुख राष्ट्रीय पार्टियाँ कांग्रेस और भाजपा एक दुसरे पर कैंब्रिज एनालिटिका से सेवाएं लेने का आरोप लगा रहें है.  आशंका है कि उन डाटा का उपयोग आने वाले 2019 के लोक सभा चुनाव में भी कर सकती है.
आज भारत में फेसबुक उपयोग कर्ताओं की संख्या लगभग 20 करोड़ से अधिक है. ऐसे में अगर इनसे जुड़ी जानकारी को कोई चुराता है और चुनाव में दुरुपयोग करते हुए चुनाव प्रभावित करने की कोशिस करता है तो यह गोपनीयता के साथ ही मतदान के तरीके को प्रभावित करने जैसा गंभीर मामला है. 

केन्द्रीय सुचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को पहले ही चेतावनी जारी कर चुके है. सरकार ने इस मामले में कदम उठाते हुए  कैंब्रिज एनालिटिका  को नोटिस कर जवाब माँगा है. अब उसके जवाब आने के बाद ही सरकार इस दिशा में क्या कार्यवाही करती है यह स्पष्ट हो पायेगा.

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.