National News
*संसद के दोनों सदनों में उठा छत्तीसगढ़के धान खरीदी का मामला* 20-Nov-2019
*रायपुर/20 नवंबर 2019।* एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी और राज्यसभा सदस्य पी.एल. पुनिया ने राज्यसभा में कहा कि पूरे हिन्दुस्तान भर में धान समर्थन मूल्य के अंतर्गत भारत सरकार और राज्य सरकारें खरीदती है। भारत सरकार एफसीआई के माध्यम से मई 2014 में एनडीए की सरकार बनी है, और एक महिने के अंदर एक आदेश जारी हुआ था उसमें लिखा गया कि जो राज्य सरकारें समर्थन मूल्य से अधिक बोनस देंगी तो समर्थन मूल्य में धान नहीं खरीदेंगे और सरप्लस चांवल उसको भी हम सेन्ट्रल पुल में नहीं लेगे। वहां की परिस्थिति को देखते हुये केन्द्र सरकार ने छूट दी कि ज्यादा बोनस देने के बावजूद हम उनसे खरीदेंगे। केन्द्र सरकार ने संकल्प लिया है कि हम किसान के आमदनी को दुगुना करेंगे। केन्द्र सरकार ने धान को 1815 रू. प्रतिक्विंटल में खरीदने का आदेश दिया। राज्य सरकार ने 2500 रू. प्रतिक्विंटल में धान खरीदने का आदेश दिया और उस पर खरीद रहे है। जब केन्द्र सरकार का संकल्प है उसका पूरा करने में राज्य सरकार का अपना बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। उसको नाराजगी दिखाने के बजाय उसको पैरालाईज करने के बजाय, उनका प्रशंसा करना चाहिये। किसानों का हित महत्वपूर्ण है। किसान संकट में है। राज्य सरकार संकट में है। मेरा विशेष अनुरोध है कि सरकार की तरफ से रिस्पांस आये कि वो छत्तीसगढ़ सरकार के साथ कोई भेदभाव नहीं करेंगे और उनका धान खरीदेंगे। चांवल भी सेन्ट्रल पुल में खरीदेंगे। *लोकसभा और राज्यसभा में कांग्रेस सांसदों ने उठाया धान खरीदी का मुद्दा* *लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने उठाया मुद्दा : छत्तीसगढ़ धान खरीदी मुद्दे पर लोकसभा में हंगामा* *सेन्ट्रल पुल में छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बना चांवल खरीदे केन्द्र - मोतीलाल वोरा* *कांग्रेस सांसद छाया वर्मा ने भी उठाया मुद्दा* *कांग्रेस सांसदों ने दोनों सदनों में उठाया मुद्दा* *बस्तर के लोकसभा सदस्य दीपक बैज ने कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी जी के समक्ष छत्तीसगढ़ के किसानों को धान के दाम 2500 रू. देने की बात को रखा* एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी और राज्यसभा सदस्य पी.एल. पुनिया, एआईसीसी के महासचिव मोतीलाल वोरा, लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता अधीर रंजन चौधरी, लोकसभा सदस्य दीपक बैज, राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा सहित कांग्रेस पक्ष के संसद सदस्यों द्वारा आज संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बने चावल को सेंट्रल पूल में लिए जाने की मांग को पुरजोर तरीके से उठाया गया। इसके पहले संसद परिसर में ही हुई कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में बस्तर के लोकसभा सदस्य दीपक बैज ने कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी जी के समक्ष छत्तीसगढ़ के किसानों को धान के दाम 2500 रू. देने की बात को रखा। सोनिया जी ने आज संसद के दोनों ही सदनों में छत्तीसगढ़ के किसानों की आवाज उठाने के लिए कांग्रेस सांसदों को निर्देशित किया। *छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं का किसान विरोधी चरित्र लगातार हुआ उजागर* कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा और कांग्रेस के सांसदों द्वारा छत्तीसगढ़ के किसानों के पक्ष में की गई सकारात्मक पहल और धान उगाने वाले किसानों की आवाज संसद में उठाए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है एक और पूरा कांग्रेस संसदीय दल छत्तीसगढ़ के किसानों के पक्ष में खड़ा है वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के मतदाताओं के वोटों से चुने गए और छत्तीसगढ़ के किसानों के समर्थन से चुने गये भाजपा के सांसदों ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में कुछ कहना मुनासिब नहीं समझा। यह भाजपा के किसान विरोधी चरित्र का जीता जागता सबूत है। *संलग्न :- शून्य काल में आसंदी की सहमति से विषय उठाने का नोटिस*
More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.