Top Story
Previous123456789...169170Next
  • *दादासाहेब फालके आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स लगातार सफल - छत्तीसगढ़ में भी होगा बड़ा आयोजन की तैयारी*
    *छत्तीसगढ़ में भी शीघ्र होगा DPIAF आइकॉन अवॉर्ड छत्तीसगढ़* *मुंबई, दिल्ली राजस्थान, दुबई में दादासाहेब फालके आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स इंटरनेशनल शो लगातार सफल* दादासाहेब फाल्के आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गेनाइजेशन के फाउंडर अवॉर्ड शो आयोजक फिल्म एक्टर, कॉमेडियन कल्याणजी जाना ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेस में पत्रकारों को बताया कि दादासाहेब फाल्के आईकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गेनाइजेशन के माध्यम से वे काफी सालों से मुंबई के साथ साथ देश के कई राज्यों में समाज कल्याण के लिए कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई, दिल्ली राजस्थान के अलावा दुबई में दादासाहेब फालके आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स इंटरनेशनल शो सफलता पूर्वक पूर्ण के साथ-साथ देश की संस्कृति कल्चर और पर्यटन को भी दुबई में फैशन शो के माध्यम से रिप्रेशन किया गया। DADASAHEB PHALKE ICON AWARD FILMS DADASAHED PHALKE ICON AWARD FILMS दादासाहेब फाल्के आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गेनाइजेशन के तत्वाधान में मुंबई में हर वर्ष की तरह 24 नवंबर 2022 को चौथा बड़ा अवार्ड शो आयोजित किया जा रहा है दादासाहेब फाल्के आईकॉन अवॉर्ड फिल्म्स नेशनल डीपीआईएफ लाइफ स्टाइल आईकॉनिक अवॉर्ड इस अवॉर्ड शो में पूरे भारत की कला संस्कृति एवं पर्यटन को प्रसारित एवं प्रोत्साहित किया जाएगा यह कार्य इसलिए किया जा रहा है जाते अभी के पीढ़ी को यह बताया जाए जो देश के कल्चर और हमारे पर्यटन को सब मिलकर बचाना है द्य इस अवॉर्ड शो में अनेक केंद्रीय मंत्री, देश के अनेक राज्यों के सांसद, मुंबई फिल्म जगत के अनेक एक्टर, एक्ट्रेस, प्रोड्यूसर, डायरेक्टर, कॉमेडियन म्यूजिशियन सहित सिगर उपस्थित रहेंगे एवं इस अवार्ड से उन सभी को सम्मानित किया जाएगा।24 दिसंबर को होने जा रहा है मुंबई में मुंबई पुलिस आइकॉन अचीवर अवार्ड, छत्रपति शिवाजी महाराज गौरव अवॉर्ड एवं दार्शनिक मुंबई प्रेस मीडिया अवार्ड इसके अलावा 2023 का सबसे बढ़ प्रेस्टीजियस अवॉर्ड शो दादासाहेब फालके आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गेनाइजेशन द्वारा 24 फरवरी 2023 को होने जा रहा है दादासाहेब फाल्के आइकॉन अवॉर्ड फिल्म्स इंटरनेशनल, डीपीआईएएफ लाइफ स्टाइल आईकोनिक अवार्ड, डीपीआईएएफ मिस एंड मिसेज इंडिया एंड दुबई इंटरनेशनल कल्चरल फैशन शो दुबई में सेकंड टाइम इंटरनेशनल स्तर पर आयोजन किया जा रहा है। सभी अवॉर्ड शो में भाग लेने के लिए दादासाहेब फालके आइकॉन अवॉर्ड फिल्मा आर्गेनाइजेशन के छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष सुखबीर सिंह सिंघोत्रा से 9301094242 पर संपर्क कर प्रतिभागी बन सकते हैं। कल्याणजी जाना ने बताया कि श्री दादासाहेब फाल्के जी का 15 फुट का स्टैचू बहुत जल्द मुंबई में लगाने की तैयारी चल रही है, क्योंकि मुंबई सहित देश में कहीं पर भी श्री दादासाहेब फाल्के जी की प्रतिमा स्थापित नहीं है दादासाहेब फाल्के आईकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गेनाइजेशन के फाउंडर कल्याणजी जाना ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया की अति शीघ्र छत्तीसगढ़ के फिल्मी कलाकारों सहित क्षेत्र की प्रतिभाओं को उनकी कला के अनुसार छत्तीसगढ़ में डीपीआईएएफ छत्तीसगढ़ आईकॉनिक अवॉर्ड्स शो के माध्यम से सम्मानित किया जाएगा। पत्रकार वार्ता में दादासाहब फाल्के आईकॉन अवॉर्ड फिल्म्स ऑर्गनाइजेशन के ब्रांड एम्बेसडर छत्तीसगढ़ के डॉक्टर अजय मोहन सहाय, प्रदेश अध्यक्ष सुखबीर सिंह सिंघोत्रा, महिला विंग की अध्यक्ष श्रीमती रूना शर्मा एवं छत्तीसगढ़ की मिस 2020 ब्यूटी क्वीन, दिल्ली में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित मिस शिप्रा भी उपस्थित रहे।
  • करीब 70 साल बाद भारत में चीते लौट आए हैं.vedio

    कूनो राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश (MP) में स्थित एक नेशनल पार्क है. साल 1981 में इसका निर्माण किया गया था. ये राष्ट्रीय उद्यान करीब 750 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. 

     प्रधानमंत्री <a data-cke-saved-href="https://www.abplive.com/topic/narendra-modi" href="https://www.abplive.com/topic/narendra-modi" style="margin: 0px; padding: 0px; box-sizing: border-box; text-decoration-line: none; cursor: pointer; font-family: Cambay, " noto="" sans",="" "hind="" siliguri",="" vadodara",="" "baloo="" paaji="" 2",="" sans-serif;="" font-size:="" 20px;="" text-align:="" justify;="" background-color:="" rgb(255,="" 255,="" 255);="" color:="" rgb(236,="" 36,="" 54)="" !important;"="" title="नरेंद्र मोदी">नरेंद्र मोदी ने कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में 8 चीतों को छोड़ दिया है. इन सभी चीतों को पार्क के अंदर विशेष बाड़ों में रखा गया है. नए मेहमानों के लिए खास इंतजाम 

  • प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर सेवा पखवाड़ा, कांग्रेस को आपत्ति
    आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है जिसे लेकर भाजपा शिवा पखवाड़ा के रूप में मना रही है जिसमें वे विभिन्न कार्यक्रम सेवा के रूप में कर रहे हैं, इसको लेकर संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला का कहना है कि भाजपा को प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिवस मंहगाई दिवस बेरोजगारी दिवस ,किसान दगा दिवस नोटबन्दी दिवस gst दिवस के रूप में मनाना चाहिए ।जिस महापुरुष की जिसमे पहचान रहती है उसके जन्मदिन को उसी के रूप में मनाने की परम्परा है, पंडित जवाहरलाल नेहरू का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्हें बच्चों से प्रेम था इसलिए बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है वैसे ही मोदी जी ने किसानों बेरोजगारों को धोखा मंहगाई बढ़ाने के अलावा किया क्या है,नोटबन्दी gst के अलावा उनकी कोई उपलब्धि नहीं है।
  • मुख्यमंत्री के आमंत्रण पर संघ प्रमुख मोहन भागवत माता कौशल्या के मंदिर का दर्शन करने गए

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के आमंत्रण पर संघ प्रमुख  मोहन भागवत माता कौशल्या के मंदिर का दर्शन करने गए ।हमे पूरा भरोसा है माता कौशल्या के मंदिर में दर्शन करके उन्हें प्रसन्नता हुई होगी आत्मिक शांति की अनुभूति हुई होगी ।
    यह अफसोस जनक है कि उन्होंने माता कौशल्या के दर्शन के लिए कांग्रेस के औपचारिक आमंत्रण का इंतजार किया।
      मुख्यमंत्री ने उनसे गो माता के संरक्षण के लिये चलाई जा रही गोधन न्याय योजना गोठनो और बच्चों के भविष्य निर्माण के लिए खोले गए आत्मानन्द स्कूलों का भी अवलोकन करे ।यदि वे वहाँ गए होते तो उन्हें इस योजनाओं को देख कर और खुशी होती कि देश मे एक ऐसी सरकार भी है जो गो माता के साथ बच्चों के भविष्य का भी ध्यान रख रही

  • लिज ट्रस बनीं ब्रिटेन की प्रधानमंत्री

    ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के चुनाव में लिज ट्रस ने जीत दर्ज की है. उन्होंने करीबी मुकाबले में भारतीय मूल के सांसद ऋषि सुनक को हराया है. थेरेसा मे और मार्गरेट थैचर के बाद लिज ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री बनी हैं. पीएम चुनाव के अंतिम चरण का मतदान शुक्रवार को खत्म हुआ था. चुनाव नतीजों से पहले आए प्री-पोल सर्वे में ऋषि सुनक को लिज ट्रस से पीछे बताया गया था.

    ब्रिटेन के नए पीएम पद का चुनाव जुलाई में तब शुरू हुआ था जब बोरिस जॉनसन ने अपनी सरकार में कई घोटालों और मंत्रियों के इस्तीफा देने के बाद पीएम पद छोड़ने की घोषणा की थी. बोरिस जॉनसन के पीएम पद से इस्तीफा देने के बाद करीब 2 महीने से चल रही कवायद आज खत्म हो गई और ब्रिटेन को नया पीएम मिल गया. 

  • छत्तीसगढ़ शासकीय कर्मचारियों का हड़ताल खत्म - मंत्री की उपस्थिति में शासकीय अधिकारियों ने दी जानकारी
    रायपुर ब्रेकिंग छत्तीसगढ़ शासकीय कर्मचारियों का हड़ताल खत्म..... कर्मचारी फेडरेशन कोर कमेटी की बैठक में किया गया निर्णय.... कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे के निवास में मंत्री की उपस्थिति में प्रेस वार्ता के ज़रिए शासकीय अधिकारियों ने दी जानकारी..... कहा-कल सभी प्रांत अध्यक्षो के साथ 5 घंटे बैठक चली.... सभी ने तय किया है कि लड़ाई आगे जारी रहेगी..... मुख्य सचिव से भी चर्चा की गई है.... आज कोर कमेटी की बैठक में तय किया गया है..... *की आंदोलन को तत्काल प्रभाव से किया जाए स्थगित*..... लगातार आंदोलन से शासकीय कार्य हो रहे थे बाधित..... कैबिने मंत्री रविंद्र चौबे ने सभी शासकीय कर्मचारियों का किया आभार...... कहा आज आंदोलन का स्थगन हुआ है..... आने वाले समय मे सभी शासकीय कर्मचारियों के हित मे फैसले किये जायेंगे..... मुख्यमंत्री भुपेश बघेल है सभी शासकीय शासकीय कर्मचारियों के साथ -
  • झारखंड के विधायकों के लिए सरकारी वाहन से मे फेयर रिसॉर्ट में पहुंची शराब
    मेफेयर रिसॉर्ट में सरकारी वाहन से पहुंची शराब राजधानी के नया रायपुर स्थित मेफेयर रिसॉर्ट में पहुंचे झारखंड के विधायकों की सेवा के लिए सरकारी वाहन से अवैध शराब पहुंचाने का मामला सामने आया है | झारखंड में सरकार को बचाने की जुगत के तहत वहां के विधायकों मंत्रियों को राजधानी रायपुर शिफ्ट किया गया है | नवा रायपुर के मेफेयर होटल में उनके रुकने की व्यवस्था की गई है | खबर को कवर करने वहां मीडिया पहले से तैनात हैं | खबरों को कवर करने वाले रिपोर्टर कैमरामैनो को एक सरकारी वाहन नजर आई जिसमे शराब की पेटियां भरी हुई थीं, जब उसे रोक जानकारी ली गई तो वाहन चालक के पास उस शराब से संबंधित कोई भी वैध दस्तावेज उपलब्ध नहीं थे | अर्थात सरकारी वाहन से अवैध शराब मेफेयर होटल में पहुंचाई जा रही थी | इसकी जानकारी मिलते ही भारतीय जनता पार्टी ने भूपेश सरकार पर निशाना साधा, छत्तीसगढ़ सरकार ने अपनी नैतिकता को भरे बाजार में बेच दिया,जो शराबबंदी का वादा करकर वो शराब की व्यवस्था कर रहे - बोजेपी,रायपुर के मेफेयर रिसोर्ट में छत्तीसगढ़ सरकार की सरकारी गाड़ी से शराब पहुंचाने को लेकर भाजपा ने काँग्रेस सरकार पर तीखा तंज कसा है। भाजपा का कहना है कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार प्रदेश में शराबबंदी का वादा करके सत्ता में आई थी लेकिन अब वही नैतिकता को भरे बाजार बेच दूसरे प्रदेश से आए विधायको के लिए शराब की व्यवस्था कर रहे है।
  • भ्रष्टाचार के Tween Tower की इस इमारत के दोषी अधिकारीयों पर सख्त कार्यवाही क्यों नहीं ?

    800 करोड़ से ज्यादा की लागत से बने इन टावर्स को गिराने में करीब 20 करोड़ का खर्च 

     

    नोएडा की सेक्टर-93 में बनी सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट के 32 मंजिला ट्विन टावर रविवार को ध्वस्त कर दिए जाएंगे।

     32 मंजिल की इमारत खड़ी कैसे हो गई ?

    बिल्डर ने नियमों को कैसे ताक पर रखा?

    नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी क्या कर रहे थे ? - दोषी अधिकारीयों पर सख्त कार्यवाही क्यों नहीं ? 

     नोएडा अथॉरिटी ने सेक्टर-93ए स्थित प्लॉट नंबर-4 को एमराल्ड कोर्ट के लिए आवंटित किया। आवंटन के साथ ग्राउंड फ्लोर समेत 9 मंजिल तक मकान बनाने की अनुमति मिली। दो साल बाद 29 दिसंबर 2006 को अनुमति में संसोधन कर दिया गया। नोएडा अथॉरिटी ने संसोधन करके सुपरटेक को नौ की जगह 11 मंजिल तक फ्लैट बनाने की अनुमति दे दी। इसके बाद अथॉरिटी ने टावर बनने की संख्या में भी इजाफा कर दिया। पहले 14 टावर बनने थे, जिन्हें बढ़ाकर पहले 15 फिर इन्हें 16 कर दिया गया। 2009 में इसमें फिर से इजाफा किया गया। 26 नवंबर 2009 को नोएडा अथॉरिटी ने फिर से 17 टावर बनाने का नक्शा पास कर दिया। 

    दो मार्च 2012 को टावर 16 और 17 के लिए एफआर में फिर बदलाव किया। इस संशोधन के बाद इन दोनों टावर को 40 मंजिल तक करने की अनुमति मिल गई। इसकी ऊंचाई 121 मीटर तय की गई। दोनों टावर के बीच की दूरी महज नौ मीटर रखी गई। जबकि, नियम के मुताबिक दो टावरों के बीच की ये दूरी कम से कम 16 मीटर होनी चाहिए। 

    अनुमति मिलने के बाद सुपरटेक समूह ने एक टावर में 32 मंजिल तक जबकि, दूसरे में 29 मंजिल तक का निर्माण भी पूरा कर दिया। इसके बाद मामला कोर्ट पहुंचा और ऐसा पहुंचा कि टावर बनाने में हुए भ्रष्टाचार की परतें एक के बाद एक खुलती गईं। ऐसी खुलीं की आज इन टावरों को जमींदोज करने की नौबत आ गई। 

     

     

    आखिर कैसे कोर्ट पहुंचा मामला?

    फ्लैट बायर्स ने 2009 में आरडब्ल्यू बनाया। इसी आरडब्ल्यू ने सुपरटेक के खिलाफ कानूनी लड़ाई की शुरुआत की। ट्विन टावर के अवैध निर्माण को लेकर आरडब्ल्यू ने पहले नोएडा अथॉरिटी मे गुहार लगाई। अथॉरिटी में कोई सुनवाई नहीं होने पर आरडब्ल्यू इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंचा। 

    2014 में हाईकोर्ट ने ट्विन टावर तोड़ने का आदेश जारी किया। शुरुआती जांच में नोएडा अथॉरिटी के करीब 15 अधिकारी और कर्मचारी दोषी माने गए। इसके बाद एक हाई लेवल जांच कमेटी ने मामले की पूरी जांच की। इसकी जांच रिपोर्ट के बाद अथॉरिटी के 24 अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।  

     

     

     

    जब हाई कोर्ट ने 2014 में टावर गिराने का आदेश दे दिया था तो इसे गिराने में आठ साल क्यों लग गए?

    इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुपरटेक सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट में सात साल चली लड़ाई के बाद 31 अगस्त 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को बरकार रखा। सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने के अंदर ट्विन टावर को गिराने का आदेश दिया। इसके बाद इस तारीख को आगे बढ़ाकर 22 मई 2022 कर दिया गया। हालांकि, समय सीमा में तैयारी पूरी नहीं हो पाने के कारण तारीख को फिर बढ़ा दी गई। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत 28 अगस्त को दोपहर ढाई बजे ट्विन टावर को गिरा दिया जाएगा।  न्यूज डेस्क, अमर उजाला से साभार 

     

     

     

  • *नक्सल समस्या पर गृह मंत्री अमित शाह का बयान गैरजिम्मेदाराना और भाजपा की स्वार्थी मानसिकता -कांग्रेस*
    *गृह मंत्री अमित शाह का बयान गैरजिम्मेदाराना और भाजपा की स्वार्थी मानसिकता -कांग्रेस* अमित शाह देश के गृह मंत्री है क्या उन्हें केंद्र की ताकत पर भरोसा नहीं अमित शाह के पास उपाय है हल नही किया तो हजारों हत्यायो की जिम्मेदार भी उन्ही पर शाह का बयान राज्य के लोगो को मुंह चिढ़ाने वाला रायपुर 28 अगस्त 2022/केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का बयान सरकार बदल दो चुटकियों में नक्सलवाद का खात्मा कर दूंगा छत्तीसगढ़ की जनता को मुंह चिढ़ाने वाला है।प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अमित शाह की चुटकियों में इतना ही दम है तो सरकार बदलने का इंतजार क्यो कर रहे देश की सरकार उनके हाथ मे है खात्मा क्यो नहीं करते नक्सलवाद का किसने रोका है उन्हें ? गृह मंत्री अमित शाह का बयान गैर जिम्मेदाराना और आपत्तिजनक है उनका बयान उन जवानों का जो दिन रात घने जंगलों में अपने जान की बाजी लगा कर नक्सलियों से लोहा ले रहे उन सुरक्षा बलों का मनोबल तोड़ने वाला भी है ।भारत का गृह मंत्री देश की सबसे बड़ी आंतरिक आतंकवादी समस्या का निदान चुटकियों में कर सकता है और उसे अंजाम इसलिए नहीं दे रहा कि उसे एक राज्य में अपने दल की सरकार बनने का इंतजार है ।अमित शाह के पास नक्सलवाद से निपटने का इतना कोई अचूक उपाय है कि वे उसे चुटकियों में खत्म कर सकते हैं और उसका छुपा कर रखे है उपयोग नहीं कर रहे तो यह देश के साथ और केंद्रीय मंत्री के रूप में उन्होंने सत्य निष्ठा की जो शपथ ली है उसके साथ भी धोखा है। कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि यदि छग और देश मे नक्सल समस्या के समाधान के लिए भाजपा की सरकार होना अनिवार्य शर्त है तो छत्तीसगढ़ में 2003 से 2018 तक भाजपा की सरकार थी ।2014 से 2018 तक केंद्र और राज्य दोनों ही जगह भाजपा की ही सरकार थी ।क्यो नक्सलवाद को अमित शाह ने चुटकियों में खत्म नही किया।इन वर्षों में हुई हजारों हत्यायो की जिम्मेदारी अमित शाह लेंगे उनके पास उपाय था और उपयोग क्यो नहीं किया ।छग में तो भाजपा के 15 साल के सरकार में नक्सलवाद 3 ब्लाकों से निकल कर 14 जिलों तक पहुच गया था ।राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद नक्सली घटनाओं और नक्सल के विस्तार में 80 फीसदी तक कमी आई है ।यह कमी कांग्रेस की सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नक्सल समस्या के समाधान की दृढ़ इच्छा शक्ति के कारण आई है ।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विश्वास विकास और सुरक्षा के अपने मूल मंत्र से नक्सल क्षेत्र के निवासियों का विश्वास जीत कर वहाँ विकास कार्य पहुँच मार्ग विकसित किया उनमें सुरक्षा का भाव और सरकार के प्रति भरोसा पैदा किया जिसके कारण आज प्रदेश में नक्सलवाद बैकफुट पर है।
  • आजाद होकर अब किसके गुलाम बनेंगे ?
    आजाद होकर अब किसके गुलाम बनेंगे ? कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस से अपने आप को आजाद कर लिया है| अब सवाल ये उठता है कि गुलाम नबी आजाद कांग्रेस से आजाद होने के बाद किस के गुलाम बनेंगे ? यह स्पष्ट नहीं हो पाया है| अब यह तो गुलाम नबी आजाद ही जानते हैं कि एक पार्टी से आजादी के बाद दूसरी किस पार्टी की गुलामी पसंद करते हैं ? या फिर यूं ही आजाद ही घूमेंगे कहा नहीं जा सकता | राजनीतिक गलियारे में चर्चा है कि गुलाम नबी आजाद भारतीय जनता पार्टी में जा सकते हैं !
  • *निःशुल्क स्वास्थ्य सेवा शिविर में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल*

    *निःशुल्क स्वास्थ्य सेवा शिविर में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल*

    *मरीजों की सेवा ही सच्चा मानव धर्म- मुख्यमंत्री*

     

    रायपुर:- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज सरदार बलबीर सिंह जुनेजा, इंडोर स्टेडियम में आयोजित तीन दिवसीय निःशुल्क स्वास्थ्य सेवा शिविर में सम्मिलित होकर सेवा दे रहे चिकित्सकों और सामाजिक संगठनों को सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चिकित्सा सेवा में जुटे डॉक्टरों और उनकी टीम का कार्य सच्ची मानव सेवा है और कोरोना जैसी विषम परिस्थितियों में हम सभी ने एकजुट होकर लोगों को जीवन सुरक्षा देने में अपनी जिम्मेदारी निभाई है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस शिविर में सेवा दे रहे हैदराबाद एवं रायपुर के ख्यातिलब्ध 53 डॉक्टर, उनकी टीम एवं स्वयंसेवी संगठनों को मंच से सम्मानित भी किया।

     

    स्थानीय इंडोर स्टेडियम में तीन दिवसीय निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन 21 अगस्त से किया जा रहा है। इस शिविर में हैदराबाद व रायपुर के प्रतिष्ठित अस्पताल के सु-प्रसिद्ध चिकित्सक अपनी सेवा दे रहे हैं, ढाई हजार से भी अधिक मरीजों ने इस शिविर का लाभ प्राप्त किया है। शिविर के अंतर्गत 26 ओ.पी.डी. संचालित है, जिसके अंतर्गत हर कैंसर, हृदय रोग, अस्थि, किडनी रोग सहित हर तरह की बीमारी का उपचार-परामर्श देते हुए निःशुल्क दवाएं भी उपलब्ध कराई जा रही है। इस अवसर आयोजित कार्यक्रम में छ.ग. गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, महापौर एजाज़ ढेबर, विधायक सत्यनारायण शर्मा, नगर निगम सभापति प्रमोद दुबे, एमआईसी सदस्य आकाश तिवारी, अजित कुकरेजा, सुंदर जोगी, श्रीमती नीलम जगत, पूर्व पार्षद राधेश्याम विभार सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य सेवा शिविरों को मानव सेवा का आधार बताते हुए सेवा दे रहे सभी चिकित्सकों, उनके पैरामेडिकल स्टाफ व स्वयंसेवी संगठनों की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी विषम परिस्थिति में डॉक्टरों और उनकी टीम ने अभूतपूर्व सहयोग प्रदान कर इस बीमारी से जनसामान्य को बचाने में बड़ी भूमिका निभाई है। इस अवसर पर महापौर श्री एजाज़ ढेबर ने कहा कि हर जरूरतमंद, निःशक्त व बेसहारा लोगों को संबल देने रायपुर में निरंतर इस तरह के सेवा कार्य किए जा रहे है, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के जन्मदिन पर निःशक्त परिवारों को जरूरी स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने यह तीन दिवसीय शिविर आयोजित किया गया है। इस अवसर पर रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के चेयरमेन डॉ. संदीप दवे, डॉ. देवेन्द्र नायक, डॉ. सुनील कालडा ने भी संबोधित करते हुए जनसेवा के ऐसे कार्यक्रमों में पूर्ण सहयोग के संकल्प को दोहराया। शिविर का समापन 23 अगस्त को होगा।

  • कांग्रेस विधायिका की साड़ी में श्री कृष्ण का प्रिंट उनके पैरों पर :
    सारंगढ़ से कांग्रेसी विधायक उत्तरी जांगड़े की साड़ी में कृष्ण प्रिंट पैरों पर - साड़ी पहनी सोशल मीडिया पर हो रही ट्रोल, जन्माष्टमी के दिन सारंगढ़ में कृष्ण कुंज के सरकारी कार्यक्रम में हुई थी शामिल | सारंगढ़ से कांग्रेसी विधायक उत्तरी जांगड़े कृष्ण कुंज के कार्यक्रम में कृष्ण प्रिंट वाली साड़ी पहनकर पहुंची, उन्होंने अपनी तरफ से यह सोचकर साड़ी पहनी होगी कि कृष्ण भगवान के प्रति अपनी भक्ति भावना प्रदर्शित कर रही है, परंतु हुआ उल्टा ही उन्होंने जो साड़ी पहनी थी उसमें कृष्ण भगवान का प्रिंट उनके पैरों में आ गया और वह उनके चप्पल तक टच कर रहा था, जो कि एक प्रकार से श्री कृष्ण भगवान का अपमान हुआ | विधायक उत्तरी जांगड़े द्वारा श्री कृष्ण भगवान के प्रिंट वाली साड़ी पहनने की फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो रही है और लोग उन्हें ट्रोल कर रहे हैं, परंतु विधायक उत्तरी जांगड़े ने अभी तक इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है | अब देखने वाली बात यह है कि इस मामले पर कांग्रेस कमेटी क्या स्टैंड लेती हैं | CG 24 news
Previous123456789...169170Next