National News
Previous123456789...884885Next
  • DG जेल लोहिया की हत्या का आरोपी गिरफ्तार, गला काटकर बेरहमी से किया था कत्ल

    जम्मू कश्मीर। पुलिस ने DG जेल हेमंत लोहिया की हत्या के आरोपी नौकर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने लोहिया की गला रेतकर हत्या की थी। उनका शव जम्मू के उदयवाला में उनके दोस्त के घर पर मिला था। उनके शरीर पर चोट और जलने के निशान भी मिले थे।

    पुलिस के मुताबिक, नौकर हत्या को अंजाम देकर फरार हो गया था। पुलिस ने उसकी तलाश में सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। जिसके बाद उसे कनाचक क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह खेतों में छिपा था। पुलिस ने आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि नौकर यासिर अहमद ही मुख्य आरोपी है। वह अपने व्यवहार में काफी आक्रामक था और सूत्रों के अनुसार अवसाद में भी था।

    पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल हथियार जब्त कर लिए हैं। पुलिस ने आसपास से कुछ सीसीटीवी फुटेज भी इकट्ठे किए हैं। इसमें आरोपी वारदात के बाद भागता दिख रहा है। वह पिछले 6 महीने से DG जेल हेमंत के लोहिया के घर पर काम कर रहा था। पुलिस ने आरोपी की फोटो भी जारी कर दी हैं।

  • पड़ोसी से प्यार कर बैठी पत्नी, विरोध करने पर प्रेमी के साथ मिलकर पति की गला रेतकर की हत्या

    मुजफ्फरपुर। पड़ोसी से मोहब्बत कर बैठी पत्नी को पति का विरोध करना नागवार गुजरा। प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने अपने पति को खौफनाक सजा देकर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी है। दरअसल, दिल दहला देने वाली यह घटना बिहार के मुजफ्फरपुर की है। जहां पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर चाकू से पति की गला रेतकर हत्या कर दी। यह हत्या की घटना कुढ़नी थाना क्षेत्र के अख्तियारपुर परिया गांव में हुई है।

    जानकारी के मुताबिक, परिया गांव निवासी संजय झा की शादी जुली देवी के साथ हुई थी। शादी के कुछ दिनों तक सब कुछ तक ठीक चल रहा था। इसी बीच जुली देवी को अपने गांव के ही रहने वाला पड़ोसी युवक से प्यार हो गया। फिर वो दोनों एक दूसरे से छिप-छिपकर मिलने लगे।

    दोनों की प्रेम कहानी एक दिन जुली देवी के पति संजय झा को पता चल गई और उसने इसका विरोध किया। लेकिन पति के बार-बार विरोध करने पर भी पत्नी अपने प्रेमी के साथ मिलना बंद नहीं किया। इसको लेकर पति-पत्नी के बीच अक्सर लड़ाई होती थी। जिसके बाद इस झगड़े तंग आकर पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की साजिश रची। पति संजय झा घर के दरवाजे पर अकेला सोता था। इसी का फायदा उठाकर सोमवार की रात पत्नी ने प्रेमी को मिलने घर बुलाया। फिर दोनों ने दरवाजे पर सो रहे पति का चाकू से गला रेत दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। फिर दोनों आरोपी अपने-अपने घर सोने चले गए। जब सुबह ग्रामीणों ने दरवाजे पर संजय झा का शव देखा तो इसकी सूचना कुढ़नी पुलिस को दी। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर थाना प्रभारी अरविंद पासवान दल बल के साथ पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

    इस मामले में कुढ़नी थाना के SHO अरविंद पासवान ने बताया कि परिया गांव निवासी संजय झा की निर्मम हत्या कर दी गई है। हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी और पड़ोसी प्रेमी को हिरासत में लिया गया है। फिलहाल मामले की छानबीन की जा रही है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

  • दिवाली से पहले कर्मचारियों को मिलेगा बड़ा तोहफा! पेंशन की राशि और रिटायरमेंट की उम्र सीमा बढ़ाएगी सरकार

    केंद्र सरकार जल्द ही कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दे सकती है। केंद्र सरकार कर्मचारियों के काम करने की उम्र सीमा और पेंशन की राशि बढ़ाने पर विचार कर रही है। प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार समिति की ओर से एक सुझाव जारी किया गया है जिसमें ये बताया गया है कि देश में लोगों के काम करने की उम्र सीमा बढ़ाई जानी चाहिए।इसके साथ ही पीएम की आर्थिक सलाहकार समिति ने कहा है कि देश में रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने के साथ ही यूनिवर्सल पेंशन सिस्टम भी शुरू किया जाना चाहिए।

    रिपोर्ट के अनुसार, इस सुझाव के तहत कर्मचारियों को हर महीने कम से कम 2000 रुपये का पेंशन दिया जाना चाहिए। आपको बता दें कि आर्थिक सलाहकार समिति ने देश में सीनियर सिटीजन की सुरक्षा के लिए बेहतर व्यवस्था करने की सिफारिश की है।इस रिपोर्ट के अनुसार, अगर कामकाजी उम्र की आबादी को बढ़ाना है तो इसके लिए सेवानिवृत्ति की उम्र को बढ़ाने की सख्त जरूरत है। सामाजिक सुरक्षा प्रणाली पर दबाव को कम करने के लिए ऐसा किया जा सकता है। रिपोर्ट में 50 साल से ऊपर के व्यक्तियों के लिए भी स्किल डेवलपमेंट की बात भी कही गई है।

    रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्र और राज्य सरकारों को ऐसी नीतियां बनानी चाहिए जिससे कौशल विकास किया जा सके। इस प्रयास में असंगठित क्षेत्र, दूरदराज के इलाकों में रहने वाले, रिफ्यूजी, प्रवासियों को भी शामिल किया जाना चाहिए जिनके पास ट्रेनिंग हासिल करने के साधन नहीं होते हैं, लेकिन उनका ट्रेंड होना जरूरी है।

    गौरतलब है कि वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रोस्पेक्टस 2019 के अनुसार, साल 2050 तक भारत में करीब 32 करोड़ सीनियर सिटीजन हो जाएंगे। यानी देश की आबादी का करीब 19.5 फीसदी व्यक्ति सेवानिवृत्त की कैटेगरी में या जाएंगे। साल 2019 में भारत की आबादी का करीब 10 फीसदी या 14 करोड़ लोग सीनियर सिटीजन की कैटेगरी में हैं।

  • गौठान में 1 माह में 90 से अधिक गायों की मौत… नेता प्रतिपक्ष ने उच्चस्तरीय जांच और दोषियों के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांग

    रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ग्राम भैसों (पामगढ़) जिला जांजगीर-चाम्पा का अचानक दौरा किया तथा ग्राम के गौठान का निरीक्षण किया। गौठान में 12 से अधिक गौ माताओं के कंकाल मिले इस अवसर पर भारी संख्या में उपस्थित ग्रामीणजनों ने बताया कि पिछले 1 माह से ग्राम भैसों के इस गौठान में 90 से अधिक गायों की मृत्यु हुई है, अभी भी बड़ी संख्या में गाय बीमार है।

    नेता प्रतिपक्ष चंदेल ने जब गौठान के संदर्भ में जानकारी ली तो पता चला कि इस गौठान में गायों के लिये चारा, पानी व छाया की व्यवस्था नहीं है जिसके कारण गौमाताएं असमय काल के गाल में समा रही हैं तथा गंभीर रूप से बीमार पड़ रहीं हैं। उन्होंने कहा कि छ.ग. में कांग्रेस की यह भूपेश सरकार गौठानों को लेकर बड़े-बड़े विज्ञापन व बड़ी-बड़ी चर्चाएं करती है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है। ग्रामभैसों सहित पूरे प्रदेश के गौठानों का यही हाल है। उन्होंने कहा कि गौठानों के बदहाली के लिए व गौमाताओं की मृत्यु के लिए जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष चंदेल ने आरोप लगाया कि अभी तक शासन व प्रशासन का जिम्मेदार अधिकारी वहां नहीं पहुंचा है। उन्होंने कहा कि गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष नजदीक में रहते है, लेकिन उन्हें जाने की फुर्सत नहीं मिली। उन्होंने कहा कि उसी गांव में शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष भी निवास करते है, लेकिन वह भी इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जानकारी लेने का महसूस तक नहीं किया है।

    नेता प्रतिपक्ष चंदेल ने ग्रामभैसों में 90 से अधिक हुई गायों के मौत का उच्चस्तरीय जांच की मांग की तथा दोषियों के खिलाफ शीघ्र सख्त कार्यवाही करने की मांग की है ताकि कहीं भी ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति प्रदेश के किसी भी गौठानों में न हो। इस दौरान नारायण चंदेल के साथ भाजपा जिला उपाध्यक्ष विवेका गोपाल, कृष्ण कुमार सिंग सार्वा, पामगढ़ मण्डल अध्यक्ष चंद्रकांत तिवारी, शेश शंकर तिवारी, किसान मोर्चा अध्यक्ष धनंजय सिंह, भाजपा जिला उपाध्यक्ष संतोषी सिंह, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष संतोष लहरे, आकाश सिंह, विश्वनाथ यादव, रामलाल कश्यप, उदालिक साहू, शिवरीनारायण मण्डल अध्यक्ष संजीव बंजारे, सहित बड़ी संख्या में भाजपा के पदाधिकारी, निर्वाचित जनप्रतिनिधि एवं ग्रामभैसों के नागरिकगण उपस्थित थे।

  • DG जेल की गला रेतकर हत्या, आतंकी संगठन TRF ने ली हत्या की जिम्मेदारी

    जम्मू-कश्मीर के DG जेल (डायरेक्टर जनरल ऑफ प्रिजन्स), हेमंत लोहिया की सोमवार देर रात उनके ही घर में गला रेतकर हत्या कर दी गई। हत्या( murder) के बाद उनका शव जलाने की भी कोशिश की।

    घटना के बाद से उनका नौकर ( servant)फरार है, इसलिए पुलिस उस पर हत्या का शक जता रही है। नौकर की तलाश शुरू कर दी गई है। DG जेल हेमंत लोहिया जम्मू के बाहरी इलाके उदयवाड़ा में रहते थे। वे 1992 बैच के IPS अधिकारी थे। इसी साल अगस्त महीने में उन्हें DG जेल के तौर पर तैनात किया गया था।

    आतंकी संगठन TRF (द रेजिस्टेंस फ्रंट) ने लोहिया की हत्या की जिम्मेदारी

    हत्या के करीब 10 घंटे बाद मंगलवार सुबह आतंकी संगठन TRF (द रेजिस्टेंस फ्रंट) ने लोहिया की हत्या की जिम्मेदारी ली है। TRF ने सोशल मीडिया ( social media)के जरिए इस बात की जानकारी दी है। यह लश्कर से जुड़ा एक संगठन है।

  • आज का पंचांग, 04 अक्टूबर 2022: शारदीय नवरात्रि की महानवमी आज, जानें शुभ-अशुभ समय और रा​हुकाल

    आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 04 अक्टूबर दिन मंगलवार है. आज आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि है. आज शारदीय नवरात्रि का नौवां दिन है, जिसे महा नवमी या दुर्गा नवमी भी कहते हैं. इस दिन मां दुर्गा के सिद्धिदात्री स्वरूप की आराधना की जाती है. माता रानी का विशेष आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए दुर्गा सप्तशती, कवच व खास मंत्रों का पाठ किया जाता है.

    नवरात्रि में देवी दुर्गा के शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री स्वरूप का पूजन किया जाता है. नवमी पर सिद्धिदात्री माता की उपासना की जाती है. मान्यता है कि सिद्धिदात्री की पूजा करने से पापों का नाश होता है. कहा जाता है कि माता रानी के इस स्वरूप की पूजा-उपासना करने से सभी प्रकार की सिद्धियां प्राप्त होती हैं. माता के पूजन से रोग-दोष नष्ट होते हैं और मोक्ष भी मिलता है. कहा जाता है कि महाकाल खुद भी देवी के सिद्धिदात्री स्वरूप की उपासना करते हैं. आज माता रानी के भक्त कन्या पूजन कर नवरात्रि के व्रत का समापन भी करते हैं.

    आज मंगलवार भी है. इस दिन राम भक्त हनुमान की पूजा की जाती है. कहा जाता है कि हनुमान जी कलयुग में किसी न किसी रूप में धरती आप मौजूद हैं. आज के दिन हनुमान मंदिर जा कर सिंदूर-चोला, अक्षत्, फल-फूल और मिठाई आदि बजरंगबली को अर्पित करते हैं. आज के दिन बजरंगी के भक्त व्रत भी रखते हैं, चालीसा-आरती व बजरंग बाण का पाठ भी करते हैं. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की स्थिति.

    04 अक्टूबर 2022 का पंचांग
    आज की तिथि – आश्विन शुक्ल नवमी
    आज का करण – कौलव
    आज का नक्षत्र – उत्तराषाढ़ा
    आज का योग – अंतिगड
    आज का पक्ष – शुक्ल
    आज का वार – मंगलवार

    सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय
    सूर्योदय – 06:15:18 AM
    सूर्यास्त – 06:04:12 PM
    चन्द्रोदय – 14:39:59
    चन्द्रास्त – 25:06:00
    चन्द्र राशि– मकर

    हिन्दू मास एवं वर्ष
    शक सम्वत – 1944 शुभकृत
    विक्रम सम्वत – 2079
    काली सम्वत – 5123
    दिन काल – 11:48:53
    मास अमांत – आश्विन
    मास पूर्णिमांत – आश्विन
    शुभ समय – 11:46:07 से 12:33:23 तक

    अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)
    दुष्टमुहूर्त– 14:55:52 से 15:43:15 तक
    कुलिक– 16:31:32 से 17:19:01 तक
    कंटक– 10:11:40 से 10:59:09 तक
    राहु काल– 16:57 से 18:26 तक
    कालवेला/अर्द्धयाम– 11:46:38 से 12:34:07 तक
    यमघण्ट– 13:21:36 से 14:09:05 तक
    यमगण्ड– 12:10:22 से 13:39:24 तक
    गुलिक काल– 15:27 से 16:57 तक

  • राशिफल 4 अक्टूबर: महानवमी के दिन इन 5 राशियों पर रहेगी मां दुर्गा की विशेष कृपा...पढ़ें आज का राशिफल

    राशिफल-

    मेष-
    स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। सीने में विकार की आशंका है। व्‍यवसायिक नुकसान भी हो सकता है। प्रेम और संतान की स्थिति भी मध्‍यम है। कुल मिलाकर मध्‍यम समय कहा जाएगा। शनिदेव की अराधना करें। उन्‍हें कोई नीली वस्‍तु भेंट करें। शुभ होगा।

    वृषभ-मानहानि, सम्‍मान पर ठेस पहुंचना, यात्रा में कष्‍ट, स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम-संतान पहले से बेहतर लेकिन व्‍यापार बहुत अच्‍छा नहीं है। शनिदेव की अराधना करते रहें।

    मिथुन-चोट लग सकती है। किसी परेशानी में पड़ सकते हैं। परिस्थितियां प्रतिकूल हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम और संतान की स्थिति पहले से बेहतर है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से मध्‍यम समय कहा जाएगा। मां काली की अराधना करते रहें।

    कर्क-जीवनसाथी के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। आपका भी स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित दिख रहा है। प्रेम और संतान की स्थिति अच्‍छी है। व्‍यापार भी सही दिख रहा है लेकिन नए व्‍यापार की शुरुआत न करें। नीली वस्‍तु का दान करें।

    सिंह-शत्रुओं पर भारी पड़ेंगे। रुका हुआ काम चल पड़ेगा। स्‍वास्‍थ्‍य पहले से बेहतर है। प्रेम और संतान की स्थिति थोड़ी मध्‍यम है। व्‍यापार आपका रुक-रुक कर चलेगा। लाल वस्‍तु पास रखें।

    कन्‍या-स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार होगा। प्रेम और संतान की स्थिति मध्‍यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से शुभ समय है। शनिदेव की अराधना करते रहें।

    तुला-घरेलू सुख बाधित रहेगा। सीने में विकार की आशंका है। प्रेम और संतान मध्‍यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से रुक-रुक कर आप आगे बढ़ेंगे। नीली वस्‍तु पास रखें।

    वृश्चिक-घोर पराक्रमी आप बने रहेंगे। आप द्वारा किया गया पराक्रम आपको सफलता की ओर ले जाएगा। स्‍वास्‍थ्‍य में नाक, कान, गला की समस्‍या हो सकती है। प्रेम और संतान अभी भी मध्‍यम बना हुआ है। पीली वस्‍तु पास रखें।

    धनु-वाणी अनियंत्रित न होने पाए। जुआ, सट्टा, लॉटरी में पैसे न लगाएं। कुटुम्‍बीजनों से न उलझें। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम और संतान की स्थिति अच्‍छी है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से शुभ समय नहीं है। नीली वस्‍तु का दान करें।

    मकर-स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित दिख रहा है। नरम-गरम बने रहेंगे। प्रेम और संतान की स्थिति अभी मध्‍यम है। व्‍यापार भी लगभग मध्‍यम है। मां काली की अराधना करते रहें।

    कुंभ-खर्च की अधिकता मन को परेशान करेगी। स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित दिख रहा है। सिरदर्द की परेशानी या नेत्र पीड़ा हो सकती है। प्रेम, संतान मध्‍यम है। व्‍यापार भी लगभग मध्‍यम है। बचकर पार करें। शनिदेव की अराधना करते रहें।

    मीन-स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम, संतान की स्थिति भी मध्‍यम है। आर्थिक मामले सुलझेंगे। कुछ नए समाचार की प्राप्ति होगी लेकिन संदिग्‍ध होगा समाचार। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से शुभ है लेकिन व्‍यापार और आय के मार्ग का ठीक-ठीक पता जरूर लगा लें। नीली वस्‍तु का दान करें।

  • बड़ी खबरः कर्नाटक कांग्रेस के चीफ डीके शिवकुमार और उनके भाई को ED का सम्मन, 7 को है पेशी

    प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कर्नाटक कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार और उनके भाई सांसद डीके सुरेश नया सम्मन जारी किया है। दोनों भाइयों को यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में आर्थिक योगदान के लिए ईडी की तरफ से यह सम्मन जारी हुआ है। डीके शिवकुमार और डीके सुरेश को सात अक्टूबर तक ईडी के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।

  • 30 साल पुरानी रंजिश का बदला, बुजुर्ग दंपति पर हथौड़े से किया हमला, फिर कर दिया आग के हवाले

    केरल। केरल के तिरुवनंतपुरम में खौफनाक हत्या का मामला सामने आया है। यहां पूर्व सैनिक ने बुजुर्ग दंपति के सिर पर हथौड़े से वार कर पेट्रोल छिड़का और आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि आरोपी ने 30 साल पुरानी रंजिश के चलते बुजुर्ग दंपति की हत्या कर दी।


    जानकारी के अनुसार, जब आरोपी ने दोनों के सिर पर हथौड़े से हमला करके उन्हें आग के हवाले किया तो इस घटना में बुजुर्ग दंपति 60 प्रतिशत झुलस गया। इस घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पलिक्कल पुलिस पहुंची और दोनों को तिरुवनंतपुरम के अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन दंपति ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मृतकों की पहचान प्रभाकर कुरुप और उनकी पत्नी विमला कुमारी के रूप में हुई है।

    पुलिस ने बताया कि आरोपी शशिधरन नायर के बेटे ने 30 साल पहले बहराइन में खुदकुशी कर ली थी। दरअसल, नायर का बेटे को प्रभाकर कुरुप ने ही ने बहराइन में नौकरी दिलवाई थी। लेकिन जो नौकरी उसे बताई गई थी, उसे वहां जाकर वह नौकरी नहीं मिली। बल्कि, उसे कोई दूसरी ही नौकरी दी गई। इसी बात से नायर का बेटा डिप्रेशन में आ गया और उसने सुसाइड कर लिया। इसे लेकर नायर ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया। जिसमें प्रभाकर भी आरोपी था। तब से यह मामला कोर्ट में चल रहा था। लेकिन इस मामले में शुक्रवार को कोर्ट ने प्रभाकर को बरी कर दिया।

    इसी बात से नायर को गुस्सा आ गया और शनिवार को वह प्रभाकर के घर पहुंचा। वहां उसकी प्रभाकर से बहस शुरू हो गई और बहस मारपीट में तब्दील हो गई। इस दौरान विमला कुमारी बीचबचाव के लिए जैसे ही आई, तो नायर ने दोनों के सिर पर हथौड़े से हमला कर दिया। फिर दोनों के ऊपर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। दंपति की चीख पुकार सुनकर पड़ोसी भी वहां पहुंचे और तुरंत इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई। जहां दंपति को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन वहां दोनों की मौत हो गई। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच की जा रही है।

  • सिद्धू मूसेवाला के बाद अब एक और पंजाबी सिंगर पर हुआ हमला, हनी सिंह बोले- छोड़ूंगा नहीं

    पंजाब। सिंगर सिद्धू मूसेवाला की मौत से उनके फैंस अभी उबर भी नहीं पाए थे कि एक और गायक पर हमले की खबर सामने आ गई। सिद्धू मूसेवाला के बाद अब मशहूर सिंगर अल्फाज को निशाना बनाया गया है। हनी सिंह ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट करके इस सिंगर पर हुए हमले की खबर शेयर की है।

    हनी सिंह ने अल्फाज की फोटो शेयर की, जिसमें उन्हें हॉस्पिटल के बेड पर देखा जा सकता है। हनी सिंह ने अपनी पोस्ट में लिखा कि जिसने भी यह किया है मैं उसे छोड़ूंगा नहीं। अल्फाज के सिर पर गहरी चोटें आई हैं और उनकी हालत नाजुक बताई। रविवार को उन्हें इलाज के लिए मोहाली के फोर्टिस हॉस्पिटल में लाया गया।

    शनिवार की रात जब अल्फाज अपने कुछ दोस्तों के साथ खाना खाने के लिए एक ढाबे पर पहुंचे हुए थे तब वहां कस्टमर और ढाबे के मालिक के बीच पैसों को लेकर बहस चल रही थी। कस्टमर जब वहां से भागने की कोशिश करने लगा तो अल्फाज ने उसे रोकने की कोशिश की और गुस्से में उन लोगों ने सिंगर पर अटैक कर दिया।

    हमला करने वाले शख्स का नाम विशाल बताया जा रहा है और मोहाली पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ FIR दर्ज करवा दी गई है। अल्फाज की टीम की तरफ से जारी किए गए आधिकारिक बयान में बताया गया है कि पुलिस ने विक्की के खिलाफ आईपीसी की धारा 279, 337, 338 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। सोहाना पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज हुआ है।

    कुछ ही घंटे पहले हनी सिंह ने एक और पोस्ट करके बताया कि अटैकर्स को पुलिस ने पकड़ लिया है। हनी सिंह ने अपनी पोस्ट में लिखा- पिछली रात अल्फाज पर टैंपो ट्रैवलर के साथ अटैक करने वाले आरोपियों को मोहाली पुलिस ने पकड़ लिया है। उनका बहुत-बहुत शुक्रिया। अल्फाज भी अब खतरे से बाहर है। ढेरों लोगों ने कमेंट सेक्शन में अल्फाज के जल्दी ठीक होने की दुआ की है।

  • दुर्गा पूजा पंडाल में लगी भीषण आग, 3 की मौत, 50 से ज्यादा लोग झुलसे

    उत्तर प्रदेश के भदोही में रविवार ( sunday)शाम को भीषण हादसा हो गया। यहां एक दुर्गा पंडाल में आग लगने से 3 लोगों की मौत हो गई। इनमें दो बच्चे और एक महिला शामिल है। वहीं, 52 लोग झुलस गए। 33 की हालत गंभीर है। इन्हें वाराणसी के BHU रेफर किया गया है। हादसा औराई क्षेत्र के नरथुआ में हुआ है।पुलिस के मुताबिक, आग उस समय लगी जब आरती की जा रही थी। इससे अफरा-तफरी मच गई। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। भीड़ ज्यादा होने की वजह से लोग जब तक बाहर निकलते, उससे पहले आग की चपेट में आ गए। आसपास के लोगों ने किसी तरह से लोगों को बाहर निकाला।​​​

  • Aaj Ka Panchang 03 October 2022 in Hindi: जानिए राहु काल, शुभ, अशुभ मुहूर्त और चौघड़िया...पढ़ें सोमवार का पंचांग

    03 अक्तूबर 2022 का दैनिक पंचांग / Aaj Ka Panchang: हिंदू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से जाना जाता है। पंचांग के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है। पंचांग मुख्य रूप से पांच अंगों से मिलकर बना होता है। ये पांच अंग तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण है। यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, तिथि, करण, नक्षत्र, सूर्य और चंद्र ग्रह की स्थिति, हिंदूमास एवं पक्ष आदि की जानकारी देते हैं। आइए जानते हैं आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय। 

    तिथि   

    अष्टमी

    16:36 तक
    नक्षत्र   पूर्वाषाढ़ा 24:16 तक
    करण 

    बावा
    बालवा

    16:36 तक
    27:29 तक

    पक्ष शुक्ल  
    वार    सोमवार  
    योग   सौभाग्य 17:10 तक
    सूर्योदय 06:18  
    सूर्यास्त 18:01  
    चंद्रमा    धनु  
    राहुकाल 

    16:34 − 18:02

     
    विक्रमी संवत्   2079  
    शक सम्वत 1944   
    मास आश्विन  
    शुभ मुहूर्त अभिजीत 07:46 − 09:14


    पंचांग के पांच अंग तिथि
    हिन्दू काल गणना के अनुसार 'चन्द्र रेखांक' को 'सूर्य रेखांक' से 12 अंश ऊपर जाने के लिए जो समय लगता है, वह तिथि कहलाती है। एक माह में तीस तिथियां होती हैं और ये तिथियां दो पक्षों में विभाजित होती हैं। शुक्ल पक्ष की आखिरी तिथि को पूर्णिमा और कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि अमावस्या कहलाती है। तिथि के नाम - प्रतिपदा, द्वितीया, तृतीया, चतुर्थी, पंचमी, षष्ठी, सप्तमी, अष्टमी, नवमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी, त्रयोदशी, चतुर्दशी, अमावस्या/पूर्णिमा।

    नक्षत्र: आकाश मंडल में एक तारा समूह को नक्षत्र कहा जाता है। इसमें 27 नक्षत्र होते हैं और नौ ग्रहों को इन नक्षत्रों का स्वामित्व प्राप्त है। 27 नक्षत्रों के नाम- अश्विन नक्षत्र, भरणी नक्षत्र, कृत्तिका नक्षत्र, रोहिणी नक्षत्र, मृगशिरा नक्षत्र, आर्द्रा नक्षत्र, पुनर्वसु नक्षत्र, पुष्य नक्षत्र, आश्लेषा नक्षत्र, मघा नक्षत्र, पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र, हस्त नक्षत्र, चित्रा नक्षत्र, स्वाति नक्षत्र, विशाखा नक्षत्र, अनुराधा नक्षत्र, ज्येष्ठा नक्षत्र, मूल नक्षत्र, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र, श्रवण नक्षत्र, घनिष्ठा नक्षत्र, शतभिषा नक्षत्र, पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र, उत्तराभाद्रपद नक्षत्र, रेवती नक्षत्र।

    वार: वार का आशय दिन से है। एक सप्ताह में सात वार होते हैं। ये सात वार ग्रहों के नाम से रखे गए हैं - सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार। 

    योग: नक्षत्र की भांति योग भी 27 प्रकार के होते हैं। सूर्य-चंद्र की विशेष दूरियों की स्थितियों को योग कहा जाता है। दूरियों के आधार पर बनने वाले 27 योगों के नाम - विष्कुम्भ, प्रीति, आयुष्मान, सौभाग्य, शोभन, अतिगण्ड, सुकर्मा, धृति, शूल, गण्ड, वृद्धि, ध्रुव, व्याघात, हर्षण, वज्र, सिद्धि, व्यातीपात, वरीयान, परिघ, शिव, सिद्ध, साध्य, शुभ, शुक्ल, ब्रह्म, इन्द्र और वैधृति।

    करण: एक तिथि में दो करण होते हैं। एक तिथि के पूर्वार्ध में और एक तिथि के उत्तरार्ध में। ऐसे कुल 11 करण होते हैं जिनके नाम इस प्रकार हैं - बव, बालव, कौलव, तैतिल, गर, वणिज, विष्टि, शकुनि, चतुष्पाद, नाग और किस्तुघ्न। विष्टि करण को भद्रा कहते हैं और भद्रा में शुभ कार्य वर्जित माने गए हैं।

Previous123456789...884885Next