Top Story
  • सरकारी दफ्तरों और स्कूलों में महान विभूतियों की लगेंगी फोटो
    देश की महान विभूतियों स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं पूर्व प्रधानमंत्रियों की तस्वीर सरकारी दफ्तरों में लगाने का निर्देश का कांग्रेस ने किया स्वागत रायपुर/16 अगस्त 2019। राज्य सरकार के द्वारा सरकारी स्कूलों दफ्तरों एवं शासकीय संस्थानों में देश के महान विभूतियों के तस्वीर पुनः लगाने के निर्देश का कांग्रेस ने स्वागत किया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व की रमन सरकार ने दुर्भावनावश देश की महान विभूतियों स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और पूर्व प्रधानमंत्रियों की तस्वीरों को सरकारी दफ्तरों स्कूलों भवनों से हटवाकर अपने उन नेताओं की तस्वीरों को लगवाया था जिन नेताओं का आजादी की लड़ाई से लेकर देश के विकास और सामाजिक समरसता को बनाए रखने में किसी भी प्रकार का योगदान नहीं था। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व की रमन सरकार की गलतियों को सुधारने का काम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार कर रही है। आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले राष्ट्र प्रेमी नेताओं की तस्वीर के साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, सरदार वल्लभभाई पटेल, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद, संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर, पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल की फोटो को लगाने का निर्देश दिया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकारी दफ्तरों और स्कूलों में महान विभूतियों की फोटो लगाने का मकसद बच्चों के मन में राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों को जागृत करना है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अहिंसा के विचारधारा को समझ कर बच्चे अहिंसा के मार्ग पर चलकर राष्ट्र के विकास में भागीदार बनें। पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम के राष्ट्रप्रेम और उनकी वैज्ञानिकी सोच को समझे। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कैसे 1971 की लड़ाई में पाकिस्तान को उसके करतूतों की सजा दी और पाकिस्तान के दो टुकड़े किए, आधुनिक भारत के निर्माता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कैसे 21वीं सदी की नींव रखी और देश में संचार क्रांति लाये। इन महान विभूतियों के तस्वीरों को देखकर बच्चों को प्रेरणा मिलेगी। बच्चे देश के समग्र विकास में सहभागी बने। देश के प्रति अपने जिम्मेदारियों को निभायेंगे। इसी मूल मकसद से सरकारी स्कूलों बिल्डिंगों में देश के महान विभूतियों की तस्वीर लगाने का निर्णय लिया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व की रमन सरकार अपने संगठन के प्रति समर्पित नेताओं की तस्वीरों को लगाकर जनता के बीच में उन्हें राष्ट्रप्रेमी घोषित करने में लगे थे और जनता के द्वारा पूछे जाने पर दीनदयाल उपाध्याय के राष्ट्र के प्रति क्या योगदान है, तब रमन सरकार दीनदयाल उपाध्याय की देश के प्रति योगदान को बताने के बजाय सवाल पूछने वालों पर कार्यवाही करते थे। आज तक देश की जनता समझ नहीं पाई है आखिर दीनदयाल उपाध्याय का देश के प्रति क्या योगदान रहा है।
  • भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर राज्यपाल अनुसुईया उइके ने  दी श्रद्धांजलि...

    रायपुर। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने कहा है कि वाजपेयी बहुमुखी प्रतिभा के धनी और युग दृष्टा थे। उन्होंने ऐसे प्रतिमान स्थापित किये हैं, जिसके लिए वे सदैव याद किये जाएंगे। राज्यपाल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माता स्वर्गीय वाजपेयी की यादों को छत्तीसगढ़ की जनता हमेशा हृदय में संजोए रखेंगी। सुश्री उइके ने कहा है कि स्वर्गीय वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल में शुरू की गई प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से आज गांव-गांव पक्की सड़क मार्गों से जुड़ गए हैं, जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के द्वार खुले हैं।

  • दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर शत प्रतिशत समयबद्धता हासिल की
    रायपुर – 16 अगस्त,2019-दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल में ऐतिहासिक सफलता दर्ज करते हुए 73 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 100% समयबद्धता हासिल की जो कि रायपुर रेल मंडल के लिए गौरव की बात है यह उपलब्धि पिछले कुछ वर्षों के बाद हाल ही में गाड़ियों की सही रिपोर्टिंग के लिए लगाए गए डाटा लागर लगने के पश्चात मिली है । पहली बार रायपुर रेल मंडल ने 100% समयबद्धता हासिल करने में सफलता प्राप्त की है यह समयबद्धता और भी महत्वपूर्ण हो जाती है क्योंकि इस कि समयबद्धता के कारण दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन को भी 15 अगस्त को स्वतंत्र दिवस के अवसर पर पूरे देश में समयबद्धता के आंकलन में अव्वल नंबर पर रहा है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन की समयबद्धता पुरे 17 जोन में सर्वाधिक 97.47 रही है । संपूर्ण भारत में 69 रेल मंडल में मात्र 5 मंडलों को 100% समयबद्धता हासिल हुई है जिसमे रायपुर, जोधपुर, रांची, भावनगर, नागपुर(मध्य रेलवे) के मंडल शामिल है । हाल ही में रेलवे परिचालन की विधाओं में नए-नए अनुप्रयोग से गति बढ़ाने के चलते रायपुर मंडल ने भी निरंतर सफलता के नए आयामों को प्राप्त किया है जहां एक और मेल और एक्सप्रेस गाड़ियों की समयबद्धता बढ़ रही है वहीं माल गाड़ियों की भी स्पीड में वृद्धि हो रही है । ज्ञात हो कि भारतीय रेलवे मे रायपुर रेल मंडल लदान के क्षेत्र में संपूर्ण मंडलों में आठवां स्थान प्राप्त कर चुका है । इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक श्री कौशल किशोर ने वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक डॉ प्रकाश चंद्र त्रिपाठी सहित परिचालन विभाग की संपूर्ण टीम की हौसला अफजाई की एवं पुरस्कार की घोषणा भी की, रायपुर मंडल की इस उपलब्धि के लिऐ सभी अधिकारियों ने हर्ष व्यक्त किया ।
  • रायपुर : मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने मां दंतेश्वरी से प्रदेश की सुख-समृद्धि के लिए मांगा आर्शीवाद...

    रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा में मां दंतेश्वरी मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना की और प्रदेश की सुख-समृद्धि और खुशहाली के लिए आर्शिवाद मांगा। इस अवसर पर उद्योग मंत्री  कवासी लखमा, स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेम साय सिंह टेकाम, सांसद दीपक बैज, विधायक मोहन मरकाम भी उनके साथ थे।

     

     

  • जल शक्ति अभियान के तहत बालोद एवं रायपुर जिले ने देश में टाॅप फाइव में स्थान बनाया: अपर मुख्य सचिव ने की तारीफ
    रायपुर 16 अगस्त 2019/ पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल ने आज सुराजी ग्राम योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाडी की प्र्रगति और मनरेगा, वृक्षारोपण कार्य सहित विभिन्न बिंदुओं पर रायपुर एवं दुर्ग संभाग के कलेक्टरों, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और वन मण्डलाधिकारियों की संयुक्त बैठक ली। रायपुर के न्यू सर्किट हाऊस में आयोजित इस बैठक में प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राकेश चतुर्वेदी, रायपुर संभाग के कमिश्नर श्री जी.आर. चुरेन्द्र, दुर्ग संभाग के कमिश्नर श्री दिलीप वासनीकर सहित राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। बैठक में अपर मुख्य सचिव श्री मण्डल ने जल शक्ति अभियान के तहत देश में उत्कृष्ट कार्य करने और टाॅप फाइव में स्थान बनाने वाले बालोद एवं रायपुर जिले के कलेक्टरों, मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और वन मण्डलाधिकारियों की तारीफ की और रायपुर कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन, मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. गौरव कुमार सिंह, बालोद के कलेक्टर श्रीमती रानू साहू, वन मण्डलाधिकारी श्री सतोविषा मजुमदार को पुष्प गुच्छ भेंट कर सम्मानित किया। इस अभियान के तहत वर्षा जल संचयन, जल संरक्षण, सघन वनीकरण के साथ-साथ पारंपरिक और अन्य जल निकायों एवं तालाबों का नवीकरण और वाटरशेड विकास आदि शामिल किये गये हैं। श्री मण्डल ने कहा कि नरवा, गरवा, घुरवा, बाडी राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजना है। हाल ही में प्रदेश में 1900 गौठानों का लोकार्पण हुआ है। इनमें से अधिकांश गौठान काफी अच्छे बने है और आदर्श रूप से बनायें गये हैं। उन्होंने कहा कि इन गौठानों के बेहतर से बेहतर संचालन के लिए कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी और वन मण्डलाधिकारी साथ मिलकर पूरे समन्वय से कार्य करें और इसके लिए स्थानीय नागरिकों का भी पूरा सहयोग ले। उन्होंने इसके लिए फील्ड से नियमित रूप से फीडबैक प्राप्त करने तथा गौठानों से चारवाहों और महिला स्व-सहायता समूहों को जोड़ने और वर्मी कम्पोस्ट की उपयोग को बढावा देने को कहा। श्री मण्डल ने कहा कि चारा उत्पादन की दृष्टि से वर्षा ऋतु उपयुक्त है। ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित 1560 चारागाहों में फोडर लगाने का कार्य करें। बाडी योजना के तहत प्रदेश में 1 लाख 34 हजार बाड़ियों का चयन किया गया है। इसी तरह 1 लाख 28 हजार नालों का चयन वाॅटर रिर्चाजिंग के लिए किया गया है। उन्होंने कृषि एवं उद्यानिकी आदि विभाग के अधिकारियों के सहयोग से बाड़ियों के विकास करने तथा मनरेगा के माध्यम से नालों की रिर्चाजिंग का कार्य शुरू करने को कहा। अपर मुख्य सचिव ने आगामी तीन महिने में हर जिले में वनोपजों के प्रसंस्करण सेंटर के लिए वर्कशेड का निर्माण करने को कहा, जिससे जिले के वनोपजों और लघु वनोपजों का ज्यादा से ज्यादा दोहन हो सके और उनके मूल्य संवर्धन का कार्य हो सके। और इसके माध्यम से लोगों को आजीविका एवं आय के साधन बढायें जा सकें। प्रधान मुख्य वन संरक्षक ने बताया कि इसके लिए प्राथमिक समिति स्तर तक वनोपजों के संग्रहण के लिए स्टोरेंज बढानें पर भी जोर दिया जा रहा है। बैठक में श्री मण्डल ने जिलों में संचालित वृक्षारोपण कार्य और नदियों के किनारें सघन वृक्षारोपण कार्य के प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण का कार्य अगस्त माह तक पूरा कर लें। बैठक में कमिश्नर रायपुर श्री चुरेन्द्र ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे ग्रामीण क्षेत्रों में सुनिश्चित करें कि निस्तारी तालाब एवं वाॅटर बाॅडी आदि के कैचमेंट एरिया में किसी प्रकार का अतिक्रमण या व्यवधान तो नहीं है। उन्होंने स्कूल एवं अन्य कार्यालयों आदि के समीप सोख्ता गड्डा बनानें पर जोर दिया जिससे वर्षा आदि के पानी का रिचार्ज होता रहें। कमिश्नर दुर्ग श्री वासनीकर ने सड़क किनारे वृक्षारोपण पर जोर दिया।
  • राज्यपाल ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि
    रायपुर, 16 अगस्त 2019- भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने कहा है कि श्री वाजपेयी बहुमुखी प्रतिभा के धनी और युग दृष्टा थे। उन्होंने ऐसे प्रतिमान स्थापित किये हैं, जिसके लिए वे सदैव याद किये जाएंगे। राज्यपाल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माता स्वर्गीय श्री वाजपेयी की यादों को छत्तीसगढ़ की जनता हमेशा हृदय में संजोए रखेंगी। सुश्री उइके ने कहा है कि स्वर्गीय श्री वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल में शुरू की गई प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से आज गांव-गांव पक्की सड़क मार्गों से जुड़ गए हैं, जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के द्वार खुले हैं।
  • केवल 24 घंटे में बना जाति प्रमाण पत्र,घर पहुँचकर दिया प्रमाण पत्र-भूपेश बघेल
    रायपुर16अगस्त2019-मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पाने से मायूस क़ुदमुरा के भागवत उराँव की समस्या का समाधान कर दिया है ।मुख्यमंत्री श्री बघेल के निर्देश पर ज़िला प्रशासन ने त्वरित करवाई करते हुए पूरी प्रक्रिया कर 24 घंटे में ही जाती प्रमाण पत्र बनाकर उसे सौंप दिया है । मुख्यमंत्री श्री बघेल ने समाचार पत्र में प्रकाशित ख़बर पर संज्ञान लिया और दूरभाष पर कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल को भागवत का जाति प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश दिए थे। जिस पर कलेक्टर ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को तत्काल करवाई करने के लिए भेजा। कूदमूरा निवासी भागवत जाति प्रणाम पत्र नहीं होने के कारण पिछले 6 माह से परेशान था और किसी भी शासकीय योजना का लाभ भी नहीं ले पा रहा था ।दैनिक रोजी मजदूरी करके अपना जीवन चलाने वाले जाति प्रमाण पत्र के लिए पिछले 6 महीने से तहसीलदार और एसडीएम कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ रहे थे ।भागवत के पास अपनी जाति को सिद्ध करने के लिए शासकीय दस्तावेज मिसल,पूर्वजों का कोई शैक्षणिक दस्तावेज जैसा रिकॉर्ड नहीं था इस कारण से उसका जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा था। मुख्यमंत्री कार्यालय से मिले निर्देश पर कलेक्टर श्रीमती कौशल ने 2 दिनों में जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश एसडीएम श्री नेपाल सिंह नौरोजी को दिए थे ।एसडीएम ने भागवत को बुलाकर जाति प्रमाण पत्र बनने में आ रही परेशानी के बारे में पूछा ।भागवत ने बताया कि वह उराँव जनजाति का है और अपनी जाति सिद्ध करने का कोई सक्षम प्रमाण नहीं है । भागवत ने बताया की बहुत छोटी उम्र में ही उसके माता-पिता का देहांत हो गया था और अब वह अपनी दो बहनों के साथ कूदमूरा गांव में निवास कर दैनिक मजदूरी से अपना जीवन चला रहा है । माता पिता के अनपढ़ होने के कारण उसके पास जाति को प्रमाणित करने कोई दस्तावेज़- रिकार्ड नही है। गांव की ग्राम सभा से पारित प्रस्ताव पारित की प्रति भागवत के पास थी,जिसमें ग्राम सभा ने भागवत के उरांव जाति के होने की पुष्टि कर दी थी। इसी प्रस्ताव के आधार पर भागवत का जाति प्रमाण पत्र तैयार कर दिया गया।
  • कलेक्टोरेट में डॉ. भारतीदासन ने किया ध्वजारोहण,उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों का सम्मान
    रायपुर 15 अगस्त 2019/ स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कलेक्टर रायपुर ने कलेक्टोरेट में ध्वजारोहण किया। उन्होंने अधिकारी-कर्मचारियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मूर्ति पर माल्यार्पण किया। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गौरव कुमार सिंह, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री विनीत नंदनवार सहित कार्यालय के विभिन्न विभागों एवं शाखाओं के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुरस्कार प्रदान किया। जिन लोगों को पुरस्कृत किया गया उनमें श्रम निरीक्षक धनेन्द्र चन्द्राकर, उप निरीक्षक श्री आर. के. एस. चौहान, जेल शिक्षक श्री नेतराम नाकतोड़े, महिला बाल विकास विभाग पर्यवेक्षक सुश्री विजयाराव चौधरी, श्रीमती रजनी सिंह, प्रभारी अधीक्षिका श्रीमती रत्ना दुबे, महिला शिक्षिका श्रीमती जसबीर कौर अरोरा और आंगनबाड़ी कार्यकता श्रीमती कोकिला सिंह, चिकित्सा अधिकारी डॉ. विजयलक्ष्मी अनंत, सहायक ग्रेड-3 श्रीमती शोभा त्रिपाठी, रेडक्रास प्रभारी श्री रूपेन्द्र कुमार यदु, जिला नाजिर श्री के.आर. वर्मा, भू-अर्जन शाखा श्री सुनील कुमार चन्द्रवंशी, जिला निर्वाचन कार्यालय श्री अतुल कुमार दुबे, अभिलेख वरिष्ठ श्रीमती दीपाली राय, दफ्तरी श्री फिरंता राम ध्रुव, वाचक तहसीलदार रायपुर श्री सज्जन सिंह ठाकुर, माल जमादार श्री आंेकार साहू, सहायक ग्रेड-2 श्री रत्नाकर साहू, माल जमादार श्री बिरझु राम ध्रुव, भृत्य श्री राकेश साहू, माल जमादार श्री बृजलाल दीवान और छात्रावास अधीक्षक श्री विकास ठाकुर का नाम शामिल है। कलेक्टर ने इन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
  • ....राज्यपाल ‘सांस्कृतिक संध्या’ कार्यक्रम में शामिल हुई...
    रायपुर, 15 अगस्त 2019/ राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके आज शाम यहां स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर संस्कृति विभाग द्वारा मुक्ताकाशी मंच, महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय में आयोजित ‘सांस्कृतिक संध्या’ कार्यक्रम में शामिल हुई। राज्यपाल इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थी। उन्होंने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में कोपलवाणी के बच्चों, लोक कलाकार सुश्री गरिमा दिवाकर, श्री अनुज शर्मा और श्रीमती ममता चन्द्राकर, भारती बंधुओं ने अपनी प्रस्तुती दी। राज्यपाल ने कलाकारों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम को रूचि से देखा और सराहना की। इस अवसर पर सुश्री उइके ने महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय परिसर में स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मूर्ति का अनावरण किया। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शिलालेख पर पुष्पांजलि अर्पित भी की। राज्यपाल ने वहां पर दिव्यांग बच्चों द्वारा बनाए गए चित्रकला प्रदर्शनी का अवलोकन किया। कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और कलाकारों का सम्मान भी किया गया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष श्री धरमलाल कौशिक, लोकसभा सांसद श्री सुनील सोनी, पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री बृजमोहन अग्रवाल, संस्कृति विभाग के सचिव श्री अविनाश चंपावत सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
  • राजभवन के ‘स्वागत समारोह’ में शामिल हुए जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक
    रायपुर, 15 अगस्त 2019/ स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आज शाम यहां राजभवन में स्वागत समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियां शामिल हुईं। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके को मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी। समारोह में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता श्री धरमलाल कौशिक, सांसद श्री सुनील सोनी, राज्यसभा सदस्य श्री रामविचार नेताम, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, महापौर श्री प्रमोद दुबे, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पूर्व सांसद श्री श्रीगोपाल व्यास, श्री चन्द्रशेखर साहू, श्री विक्रम उसेंडी, पूर्व मंत्री श्री अमितेश शुक्ल, श्री बृजमोहन अग्रवाल, श्रीमती गंगा पोटाई सहित जनप्रतिनिधि और वरिष्ठ अधिकारियों ने राज्यपाल को पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर राज्यपाल ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री महादेव प्रसाद पाण्डे से भेंटकर उन्हें शुभकामनाएं दीं। स्वागत समारोह में विधायक श्री विकास उपाध्याय, श्री कुलदीप जुनेजा, मुख्य सचिव श्री सुनील कुमार कुजूर, पुलिस महानिदेशक श्री डी. एम. अवस्थी, अपर मुख्य सचिव गृह श्री सी. के. खेतान, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री के.डी.पी. राव, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री गौरव द्विवेदी, राज्यपाल के सचिव श्री सुरेन्द्र कुमार जायसवाल, राज्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव श्रीमती मनिन्दर कौर द्विवेदी, छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष श्री के. आर. पिस्दा, राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री ठाकुर राम सिंह, राज्य सूचना आयुक्त श्री अशोक अग्रवाल, विशेष पुलिस महानिदेशक श्री संजय पिल्ले, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री अशोक जुनेजा, श्री जी.पी. सिंह, रायपुर आयुक्त श्री जी. आर. चुरेन्द्र, पूर्व मुख्य सचिव श्री एस. के. मिश्रा, पूर्व अपर मुख्य सचिव श्रीमती इन्दिरा मिश्रा, पूर्व अपर मुख्य सचिव श्री बी.के. एस. रे, जलसंसाधन विभाग के सचिव श्री अविनाश चंपावत, श्रम विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस. के. पाटिल, पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति श्री केशरीलाल वर्मा, पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री पी. सी. दलेई, प्रशासन अकादमी के पूर्व संचालक श्री आलोक अवस्थी, पूर्व महापौर श्रीमती किरणमयी नायक, अपेक्स बैंक के पूर्व अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, पद्मश्री से सम्मानित श्री भारती बंधु एवं श्री अनुज शर्मा उपस्थित थे। साथ ही समारोह में सेना के वरिष्ठ अधिकारी, सराहनीय सेवाओं के लिए पुलिस पदक प्राप्त पुलिस अधिकारी, मीडिया प्रतिनिधि सहित गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।
  • तीज-त्यौहार, बोली और भाषा हमारी पहचान: श्री भूपेश बघेल
    रायपुर, 15 अगस्त 2019/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज यहां गोंडवाना भवन टिकरापारा में आयोजित राष्ट्रीय भोजली महोत्सव में शामिल हुए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत परम्परागत रूप से पगड़ी पहनाकर किया गया। कार्यक्रम का आयोजन गांेडी धर्म संस्कृति संरक्षण समिति और छत्तीसगढ़ गोंडवाना संघ के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। इस अवसर पर गोंड समाज प्रमुख श्री लाल तारकेश्वर प्रसाद खुसरो, गोड़ समाज के पदाधिकारी सहित ओडिशा, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से आए सामाजिक बंधु उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आदिवासी समाज को स्वतंत्रता दिवस ,रक्षाबंधन पर्व और भोजली पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति, बोली-भाषा, रहन-सहन और तीज-त्यौहार हमारी पहचान का अभिन्न हिस्सा है। हमें इन्हें बचाकर रखना होगा। उन्होंने कहा कि पहले भोजली का त्यौहार गांव-गांव में परम्परागत उत्साह के साथ मनाया जाता था। लोग भोजली बदते थे और भोजली का रिश्ता खून के रिश्ते से भी बड़ा होता था। हमारी यह परम्परा समाप्त हो रही थी। आदिवासी समाज ने इस परम्परा को न सिर्फ पुनर्जीवित किया है बल्कि जगह-जगह इसका बड़े स्तर पर आयोजन कर इसे एक बार फिर समाज की परम्परा का हिस्सा बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। अपनी परम्परा के संरक्षण के लिए राज्य सरकार ने हरेली, विश्व आदिवासी दिवस, तीज, छठ, माता कर्मा जयंती पर सामान्य अवकाश की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को उनकी मातृ भाषा में शिक्षा देने से यह दिल की गहराईयों तक पहुंचती है। अन्य भाषा में यह केवल दिमाग तक पहुंचती है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज की सबसे प्राचीन भाषाओं में शामिल गोंड़ी, हल्बी, और कुडुख में पढ़ाई होनी चाहिए। ये भाषाएं हमारी पहचान हैं। नई पीढ़ी तक इसकी जानकारी पहुंचनी चाहिए। प्रदेश में बच्चों को छत्तीसगढ़ी, सरगुजिया, हल्बी, कुड़ुख, गोंडी भाषा में शिक्षा के लिए डिजी दुनिया एप बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासियों के हित में सरकार लगातार काम कर रही है। सरकार में मंत्रीगणों के अलावा बस्तर, सरगुजा और मध्य क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष आदिवासी समाज से बनाए गए हैं। उन्होंने राज्य सरकार के द्वारा लिए गए फैसलों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने राजधानी में समाज के लिए जमीन आबंटित करने की मांग पर कहा कि नवा रायपुर अटल नगर में विभिन्न समाजों को सामाजिक कार्यों के लिए जब जमीन का आबंटन होगा तब आदिवासी समाज को भी जमीन आबंटित की जाएगी। इस अवसर पर समाज के अनेक पदाधिकारी और सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
  • छत्तीसगढ़ का नाम पूरे विश्व में रोशन करें: सुश्री उइके,राज्यपाल से मलखम के खिलाड़ियों ने की मुलाकात
    रायपुर, 15 अगस्त 2019/ राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में नारायणपुर जिले के मलखम खिलाड़ियों के प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात की। इन्होंने आज सुबह राजधानी के पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में अपना प्रदर्शन प्रस्तुत किया है। राज्यपाल ने उन्हें स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। इतने दूरस्थ क्षेत्र में रहने वाले खिलाड़ियों का इतना अच्छा प्रदर्शन वाकई सराहनीय है। मेरी कामना है कि आप छत्तीसगढ़ का नाम देश ही नहीं पूरे विश्व में रोशन करें। राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को खिलाड़ियों की आवश्यकताएं पूरे करने के निर्देश दिए। प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि उन्होंने विभिन्न प्रतिस्पर्धाओं में पदक जीता है और वर्ष 2017 में तमिलनाडु में हुए राष्ट्रीय प्रतियोगिता में चौथा स्थान प्राप्त किया है। इस अवसर पर उपस्थित समग्र शिक्षा के मिशन निदेशक श्री पी. दयानंद ने कहा कि बच्चों को सभी सुविधाएं मुहैया कराने का प्रयास किया जा रहा है। भविष्य में बच्चे ओलंपिक में जाने के लिए भारतीय टीम में चयनित होने की तैयारी कर रहे हैं। इस अवसर पर खिलाड़ियों के प्रशिक्षक भी उपस्थित थे।