Top Story
  • पीएम मोदी अचानक श्री शीशगंज साहिब गुरुद्वारे पहुंचे, मत्था टेका

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व पर आज सुबह गुरुद्वारा शीश गंज साहिब में पूजा की.

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह अचानक गुरुद्वारा शीश गंज साहिब पहुंच गए. गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व पर पीएम मोदी ने गुरुद्वारा शीश गंज साहिब में पूजा अर्चना की और मत्था टेककर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. प्रधानमंत्री ने सुरक्षा मार्ग और विशेष सुरक्षा व्यवस्था के बिना गुरुद्वारे का दौरा किया.

     

    प्रधानमंत्री कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक, मोदी जिस समय गुरुद्वारा गए, उस समय सड़कों पर किसी तरह का पुलिस बंदोबस्त नहीं किया गया था और आम लोगों की सुविधा को देखते हुए ना ही अवरोधक लगाए गए थे. गुरुद्वारा जाने से पहले पीएम मोदी ने गुरु तेग बहादुर को नमन किया. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, "श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के विशेष अवसर पर मैं उन्हें नमन करता हूं. पिछड़ों की सेवा करने के प्रयासों और अपने साहस के लिए दुनिया भर में उनका सम्मान है. उन्होंने अन्याय और अत्याचार के खिलाफ झुकने से इंकार कर दिया था. उनका सर्वोच्च बलिदान कई लोगों को मजबूती और प्रेरणा देता है."

  • कोरोना के टूटे तमाम ग्लोबल रिकॉर्ड, देश में एक दिन में आए 4 लाख नए केस, 24 घंटे में 3523 की मौत

    भारत में पहली बार एक दिन में चार लाख से ज्यादा कोरोना केस दर्ज किए गए हैं. बीते दिन 19.45 लाख कोरोना सैंपल टेस्ट किए गए, जिसका पॉजिटिविटी रेट 20 फीसदी से ज्यादा है. अबतक कुल 28 करोड़ 83 लाख से ज्यादा टेस्ट किए जा चुके हैं.

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना की सुनामी का खौफनाक मंजर सामने आ चुका है. रोजाना कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब चार लाख के पहुंच चुका है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 401,993 नए कोरोना केस आए और 3523 संक्रमितों की जान चली गई है. हालांकि 2,99,988 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. इससे पहले गुरुवार को देश में 386,452 नए केस आए थे. दुनियाभर के करीब 40 फीसदी केस हर दिन भारत में ही दर्ज किए जा रहे हैं. 

     

    देश में आज कोरोना की ताजा स्थिति-

    • कुल कोरोना केस- एक करोड़ 91 लाख 64 हजार 969
    • कुल डिस्चार्ज- एक करोड़ 56 लाख 84 हजार 406
    • कुल एक्टिव केस- 32 लाख 68 हजार 710
    • कुल मौत- 2 लाख 11 हजार 853
    • कुल टीकाकरण- 15 करोड़ 49 लाख 89 हजार 635 डोज दी गई

    दिल्ली में 16 हजार कोरोना मरीजों की मौत
    दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 27,047 नए मामले आए हैं. इसके साथ ही दिल्ली में 375 कोरोना मरीजों की मौत हुई है. इन्हीं 24 घंटों में 25,288 कोरोना रोगी स्वस्थ हुए हैं. अब तक कोरोना से 16147 मरीजों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में अभी तक कुल 11 लाख 49 हजार 333 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं. दिल्ली में एक दिन में 20 अप्रैल को सबसे ज्यादा 28,395 लोग संक्रमित हुए थे. वहीं गुरुवार को एक दिन में सबसे अधिक 395 कोरोना मरीजों की मौत हुई थी.

     

    महाराष्ट्र में 62,919 नए मामले सामने आए
    महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड के 62,919 नए मामले सामने आए और 828 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई. संक्रमण के नए मामले गुरुवार की तुलना में कम रहे, लेकिन मृतकों की संख्या बढ़ गई. राज्य में गुरुवार को संक्रमण के जहां 66,159 मामले आए थे वहीं मृतकों की संख्या 771 रही थी. इसी के साथ शुक्रवार को कुल संक्रमितों की संख्या 46 लाख 2 हजार 472 हो गई जबकि मृतकों की कुल संख्या 68,813 रही.

     

    देश में अबतक 15 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीके लगाए गए
    देश में 16 जनवरी से कोरोना का टीका लगाए जाने के अभियान की शुरुआत हुई थी. 30 अप्रैल तक देशभर में 15 करोड़ 49 लाख 89 हजार 635 कोरोना डोज दिए जा चुके हैं. बीते दिन 27 लाख 44 हजार 485 टीके लगे. 1 अप्रैल से 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीका लगाने के दूसरे चरण का अभियान शुरू हुआ था. अब 1 मई से 18 से ऊपर के लोगों को भी टीका लगाया जा रहा है.

     

    देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.10 फीसदी है जबकि रिकवरी रेट 82 फीसदी है. एक्टिव केस बढ़कर 17 फीसदी से ज्यादा हो गए. कोरोना एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है. कुल संक्रमितों की संख्या के मामले में भी भारत का दूसरा स्थान है. जबकि दुनिया में अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको के बाद सबसे ज्यादा मौत भारत में हुई है.

  • मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना का हार्ट अटैक से निधन, कोरोना वायरस से भी थे संक्रमित

    मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना की कोरोना से मौत हो गई है। लंबे समय तक जी न्यूज में एंकर रहे रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे। सुधीर चौधरी ने ट्वीट किया, 'अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है...। ॐ शान्ति।' 

    लंबे समय से टीवी मीडिया का चेहरा रहे रोहित सरदाना इन दिनों 'आज तक' न्यूज चैनल प्रसारित होने वाले शो 'दंगल' की एंकरिंग करते थे। 2018 में ही रोहित सरदाना को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया था। वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी रोहित सरदाना की मौत की जानकारी दी है। उन्होंने ट्विटर पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा, 'दोस्तों बेहद दुखद खबर है। मशहूर टीवी न्यूज एंकर रोहित सरदाना का निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह ही हार्ट अटैक आया है। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना।'

    अब से थोड़ी पहले @capt_ivane का फ़ोन आया।उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे।हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी।ये वाइरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी।इसके लिए मैं तैयार नहीं था।ये भगवान की नाइंसाफ़ी है..मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना की कोरोना से मौत हो गई है। लंबे समय तक जी न्यूज में एंकर रहे रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे। सुधीर चौधरी ने ट्वीट किया, 'अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है...। ॐ शान्ति।' 

    लंबे समय से टीवी मीडिया का चेहरा रहे रोहित सरदाना इन दिनों 'आज तक' न्यूज चैनल प्रसारित होने वाले शो 'दंगल' की एंकरिंग करते थे। 2018 में ही रोहित सरदाना को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया था। वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी रोहित सरदाना की मौत की जानकारी दी है। उन्होंने ट्विटर पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा, 'दोस्तों बेहद दुखद खबर है। मशहूर टीवी न्यूज एंकर रोहित सरदाना का निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह ही हार्ट अटैक आया है। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना।'

    span>

    .

  • दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा- मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन क्यों? दिल्ली में कम ऑक्सीजन क्यों?

    हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार ने केंद्र को जमकर घेरा. केंद्र पर ऑक्सीजन सप्लाई न करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार केवल आदेश ही जारी कर रही है.

    राजधानी में ऑक्सीजन की किल्लत के मुद्दे पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. इस दौरान हाईकोर्ट ने मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की ज्यादा मात्रा का भी जिक्र किया है. हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा, 'मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन क्यों मिल रही है जबकि दिल्ली ने जितनी मांगी है उससे कम ऑक्सीजन मिल रही है.'

     

    सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार ने केंद्र को जमकर घेरा. केंद्र पर ऑक्सीजन सप्लाई न करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार केवल आदेश ही जारी कर रही है. दिल्ली सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता राहुल मेहरा ने हाईकोर्ट से कहा, "हम (दिल्ली सरकार) को इस समय डॉक पर रखा गया है जब केंद्र बुरी तरह से फेल हो चुका है. केंद्र की कुछ जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए. केंद्र केवल कागज पर आदेश जारी कर रही है. हमें दिल्ली के नागरिक के प्रति पूरी तरह से सहानुभूति है.

     

    ऑक्सीजन किल्लत पर हाईकोर्ट ने कहा, "हमारा पास लोगों की कई कॉल आ रही हैं, यहां तक कि आप (सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता) से भी लोग कॉल करके बेड के लिए अनुरोध कर रहे हैं. दिल्ली में लोग पीड़ित हैं और कई लोग ऑक्सीजन की कमी के कारण जान गंवा चुके हैं, केंद्र से इन समस्याओं का समाधान निकालें."

  • दिल्ली: एक मई से 18-44 साल वालों को वैक्सीन लगना मुश्किल, सरकार ने कहा- हमारे पास स्टॉक नहीं

    वैक्सिनेशन के तीसरे चरण को लेकर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि हमारे पास दवाओं का स्टॉक नहीं है.

    एक मई से तीसरे चरण के वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बड़ा बयान दिया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमारे पास वैक्सीनेशन के लिए दवाओं को स्टॉक नहीं है. 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन अभियान को लेकर उन्होंने बताया कि हमें वैक्सीनेशन के लिए अब तक कोई शिड्यूल नहीं मिला है. इस दौरान सत्येंद्र जैन ने दिल्ली में कोरोना की हालात को लेकर भी जानकारी दी.

     

    सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में बुधवार को कोरोना के 25,986 पॉजिटिव मामले सामने आए थे. उन्होंने कहा कि इस वक्त दिल्ली में पॉजिटिविटी मरीजों की संख्या 31.76 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है.

     

    मीडिया से बातचीत के दौरान सत्येंद्र जैन ने यह भी कहा कि पिछले 10-12 दिन से दिल्ली में 20,000 से ज्यादा केस आ रहे हैं. चार दिन पहले पॉजिटिविटी दर 35 प्रतिशत पर पहुंच गई थी, जो थोड़ा कम हुई है. टेस्टिंग  को लेकर उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना संभावित मरीजों की टेस्टिंग कम नहीं हुई है, टेस्टिंग में कोई भी कमी नहीं आई है.

  • वरिष्ठ अधिकारी द्वारा करोना गाइडलाइन का उल्लंघन - घूम घूम कर फैला रहे करोना
    कोविड 19 के नियमों का उल्लंघन कर रायपुर जेल प्रभारी व डीआईजी जेल के के गुप्ता कर रहे पॉजिटिव आने पर भी ड्यूटी उच्च पद पर आसीन अधिकारी फैला रहा कोरोना कौन देगा सजा ? कोरोना गाइड लाइन का प्रदेश में हो रहा खुला उल्लंघन सीजी 24 न्यूज़ ने 2 दिन पहले जेल अधिकारियों के पॉजिटिव होने की खबर चलाई थी कि रायपुर बिलासपुर रायगढ़ व कवर्धा के जेल अधिकारी हुए कोरोना पॉजिटिव रायपुर-कोविड 19 वैसे तो एक संक्रमित बीमारी है जो एक इंसान से दूसरे इंसान तक आसानी से पहुंच जाती है और संक्रमण फैला रही है । कोविड 19 को लेकर केंद्र व राज्य सरकारों ने कई नियम व प्रोटोकॉल जारी किए है और प्रशासन द्वारा उसे लागू करवाने हेतु कड़े निर्देश दिए है। लेकिन क्या ऐसा हो रहा है ? शायद नही क्योंकि अभी हाल ही में छत्तीसगढ़ के लगभग सभी जेल के प्रभारी कोरोना की चपेट में आ चुके है | मात्र 2 से 3 दिन पहले ही संक्रमित हुए हैं। ताजा मामला रायपुर जेल प्रभारी व डीआईजी जेल मुख्यालय के के गुप्ता के करोना संक्रमण का है । नियमो की माने तो उन्हें इस समय होम आइसोलेशन में होना चाहिये , परंतु डीआईजी जेल केके गुप्ता जेल मुख्यालय व रायपुर जेल में उपस्थित होकर सेवा दे रहे। अब इसे सेवा कहे या अपराध ये तय करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। यदि सरकार कोई नियम या प्रोटोकॉल बनाती है तो सर्वप्रथम उसे से लागू करवाने की जिम्मेदारी प्रशासन के अधिकारियों की होती है, लेकिन जब अधिकारी ही नियमो की धज्जियां उड़ाने लगे तो आम आदमी से क्या उम्मीद करना। जब कोई आम इंसान कोरोना से पॉजिटिव होता है तो उस पर इतने नियमो की बौछार हो जाती है मानो उसने पॉजिटिव आकर कोई गलती कर दी हो और यदि कही गलती से कोई नियम का उल्लंघन कर देता है तो प्रशासन की नजर में अपराध की श्रेणी में आ जाता है। लेकिन प्रशासन के उच्च गद्दी में आसीन व्यक्ति ऐसा करे तो इन पर कौन कार्यवाही करेगा ? *क्या है होम आइसोलेशन के नियम* केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के बेहद हल्के या बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन के नए नियम जारी किए हैं। इनके मुताबिक, मरीज 17 दिन बाद आइसोलेशन खत्म कर सकेंगे। सैंपल लिए जाने के दिन से 17 दिन गिने जाएंगे। होम आइसोलेशन खत्म करने के लिए शर्त होगी कि मरीज को दस दिनों से बुखार न आया हो। मरीज को अपने ही कमरे के अंदर रहना होगा। मरीज को फोन में आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल करना होगा। जिन मरीजों का कोविड टेस्ट पाटिव आता है और उन्हे कोई गंभीर बीमारी नहीं है तो उन्हे कम से कम 14 दिन होम आइसोलेशन में रहने को कहा जाता है। इसके लिए मरीजों को एक शपथ पत्र भी देना होता है। होम आइसोलेशन के लिए मरीजों के पास पृथक शौचालय, पल्स ऑक्सीमटर, और थर्मामीटर होना चाहिए। इन मरीजों की मॉनिटरिंग जिला होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम द्वारा की जाती है। संवेदनशील मरीजों को डॉक्टर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रोज कॉल करते हैं। होम आइसोलेशन के नियमों का पालन नहीं करने पर कंट्रोल रूम उन मरीजों को हॉस्पिटल भेज देता है। *कैसे और कौन कर रहा नियमों का उलंघन?* उपरोक्त सरकारी गाइडलाइन के नियमों की धज्जियाँ उड़ाते हुए डीजीपी व रायपुर जेल प्रभारी के के गुप्ता अपनी नौकरी कर रहे है। कोरोना पॉजिटिव आने के बाद होम आइसोलेशन में रहने का नियम है लेकिन इसका पालन इनके द्वारा नही किया जा रहा है अपनी जान की परवाह भले इन्हें न हो लेकिन कम से कम दूसरों की जान की परवाह तो होनी चाहिए। मामले की जानकारी जब CG 24 News को हुई तो हमने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और जेल डीजी संजय पिल्ले से संपर्क करने का प्रयास किया तो उन्होंने न तो हमारा फ़ोन उठाया और ना ही मैसेज कोई जवाब दिया ? *क्या कहना था के के गुप्ता का* - जब हमने मामले को लेकर के के गुप्ता से बात की तो उन्होंने बताया कि मैं 4 दिन से होम आइसोलेशन में हूँ। जबकि ऐसा है नही। मुख्यमंत्री को मामले में संज्ञान में लेना चाहिए और कड़ी से कड़ी कार्यवाही करना चाहिए लेकिन क्या ऐसा होगा ? CG 24 News -Singhotra 9301094242
  • *स्वास्थ्य मंत्री टीएस बाबा संज्ञान ले - बड़ी करोना प्रताड़ना खबर*
    *बड़ी करोना प्रताड़ना खबर* *स्वास्थ्य मंत्री टीएस बाबा संज्ञान ले* राजधानी रायपुर के एक निजी अस्पताल संचालक द्वारा एक करोना पीड़ित महिला का इलाज तय कीमत से ज्यादा लेने के बाद भी किसी तरह की कोई रसीद नहीं दी गई और ना ही इलाज से संबंधित कोई दस्तावेज रिलीज के समय दिए गए | तय कीमत से ₹40000 ज्यादा लेने के बावजूद डिस्चार्ज के समय बिना वजह ₹35000 की मांग की गई और रुपया नहीं होने पर उस गरीब महिला के घर के रजिस्ट्री के पेपर गिरवी रख लिया जाए जिसकी भी कोई रसीद नीचे अस्पताल संचालक द्वारा नहीं दी गई अति शीघ्र प्रमाण सहित इसका खुलासा किया जाएगा *CG 24 News -Singhotra*
  • कौन संभालेगा छत्तीसगढ़ की जेलों को, लगभग सभी अधिकारी करोना संक्रमित
    मन्नु मानिकपुरी की रिपोर्ट एक के बाद एक जेल अधिकारी कोरोना की चपेट में जेल अब चलेगा भगवान भरोसे मुख्यालय ने नही की कोई ठोस व्यवस्था रायपुर बिलासपुर रायगढ़ कवर्धा में जेल अधिकारी हुए पॉजिटिव कोरोना के बढ़ते मामले और डराने वाले आंकड़े सामने आने से लोग डरे सहमे हुए है और जेल की ही तरह लॉक डाउन में लोगो का जीवन यापन हो रहा और लॉक डाउन भी किस लिए ताकि लोगो एक दूसरे के संपर्क से दूर रहे कोविड 19 की चैन को तोड़ा जा सके लेकिन कोविड 19 जेल की चार दीवारों के अंदर भी बंदियों और स्टाफ को संक्रमित कर रहा है। अब कोई जेल भी कोरोना से अछूता नही बचा है। बीते दिनों डीजीपी कोरोना की चपेट में आने पर होम आइसोलेशन में चले गए और फिर आज के के गुप्ता डीआईजी जेल मुख्यालय व रायपुर जेल प्रभारी व बिलासपुर जेल प्रभारी आर आर राय कोरोना पॉजिटिव बात यहीं खत्म नही होती एक के बाद एक जेल अधिकारी कोरोना की चपेट में आ गए है अभी अभी कवर्धा जेल प्रभारी व रायगढ़ जेल प्रभारी कोरोना पॉजिटिव हो गए है अब यदि यही हाल रहेगा तो छत्तीसगढ़ की जेल किन के भरोसे चलेगी एक तो पहले से ही छत्तीसगढ़ जेल प्रशासन भगवान व मनमाने तरीके से चल रही थी तो वही अब लगातार अधिकारियों के कोरोना पॉजिटिव होने से जेल की हालत और खस्ता हो जाएगी। पहले ही मुख्यालय बिलासपुर जेल अधीक्षक के सेवा निवृत्त होने से लेकर अभी तक किसी जेल अधीक्षक की नियुक्ति नही कर सका है।
  • छत्तीसगढ़ और ओडिशा में हर रोज 50 से 100 टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करेगी जेएसपीएल
    छत्तीसगढ़ और ओडिशा में हर रोज 50 से 100 टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करेगी जेएसपीएल रायपुर और जबलपुर के लिए रायगढ़ से रवाना हुई ऑक्सीजन की खेप चेयरमैन नवीन जिंदल ने कहा- ‘पीपल फर्स्ट‘, स्टील उत्पादन पर असर भी पड़े तो मंजूर मेडिकल काॅलेज में भी लगातार की जा रही आपूर्ति रायपुर 18/04/21 रविवार. देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के प्रकोप से अस्पतालोें में ऑक्सीजन की कमी हो गई है। ऐसे कठिन समय में जिंदल स्टील एंड पाॅवर लिमिटेड ने एक बार फिर आगे बढ़कर जिम्मेदारी ली है। चेयरमैन श्री नवीन जिंदल ने छत्तीसगढ़ और ओडिशा में समूह के संयंत्रों से 50 से 100 टन मेडिकल ऑक्सीजन की रोजाना आपूर्ति करने की घोषणा की है। कंपनी महामारी की शुरूआत से ही अपने रायगढ़ संयंत्र से मेडिकल काॅलेज को ऑक्सीजन की नियमित आपूर्ति कर रही है। कोविड-19 महामारी के कहर के साथ ही देश में इसके मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इससे मेडिकल आॅक्सीजन की कमी हो गई है। संकट के इस समय में जेएसपीएल समूह ने मदद का हाथ बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ और ओडिशा में जरूरत पड़ने पर प्रतिदिन 50 से 100 टन मेडिकल आॅक्सीजन की आपूर्ति की घोषणा की हैै। शनिवार रात ही आपातकालीन स्थिति को देखते हुए रायगढ़ से 16-16 टन मेडिकल आॅक्सीजन की दो खेप रायपुर के लिए रवाना की गई। साथ ही जबलपुर के लिए भी 16-16 टन मेडिकल आॅक्सीजन के साथ दो वाहन रवाना किए गए। संयंत्र पहले से ही रायगढ़ मेडिकल काॅलेज को आॅक्सीजन की नियमित आपूर्ति कर रहा है। कोरोना वायरस की पहली लहर के समय से ही यहां लगातार आॅक्सीजन सिलेंडर भेजे जा रहे हैं। समूह के चेयरमैन श्री नवीन जिंदल ने आॅक्सीजन की आपूर्ति की घोषणा करते हुए कहा कि संकट के समय समूह अपनी परंपरा के अनुसार देश के साथ खड़ा हुआ है। समूह की सोच हमेशा ‘पीपल फर्स्ट‘ की रही है और इस समय पहली प्राथमिकता आपातकालीन स्थिति में मरीजों तक आॅक्सीजन पहुंचाने की है। जेएसपीएल के सीओओ-छत्तीसगढ़ श्री दिनेश कुमार सरावगी ने बताया कि महामारी को देखते हुए केंद्र एवं राज्य सरकार तथा जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पूरी तरह पालन करते हुए संयंत्र में कोरोना वायरस से बचाव के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। संयंत्र और काॅलोनी परिसर में कोविड प्रोटोकाॅल का पूरी तरह पालन सुनिश्चित किया जा रहा है।
  • करोना पीड़ितों की जान बचाने के लिए सिख समाज की अनुकरणीय पर
    करोना के बढ़ते संक्रमण और मरीजों की बढ़ती संख्या, अस्पतालों में बैड की कमी, ऑक्सीजन की कमी, दवाइयों की कमी को ध्यान में रखते हुए सिख समाज ने लोगों की जान बचाने के लिए, लोगों को उचित इलाज की व्यवस्था के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर किट सहित की व्यवस्था की है, जिसके तहत गुरुद्वारा गोविंद नगर - गुरुद्वारा स्टेशन रोड रायपुर में करोना पीड़ित मरीजों के लिए जिन्हें ऑक्सीजन की अति आवश्यकता है, जिनका ऑक्सीजन लेवल कम हो गया है उन्हें इमरजेंसी के रूप में ऑक्सीजन मिल सके जज इधर-उधर भटकना ना पड़े ऐसे मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर पूरी किट सहित व्यवस्था की है, जरूरतमंद मरीज के परिजन मरीज की डॉक्टरी रिपोर्ट , कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट, ऑक्सीजन लेवल की रिपोर्ट के साथ मरीज एवं परिजन का आधार, डॉक्टरी सर्टिफिकेट सहित संपूर्ण दस्तावेज अपने पते सहित जमा करने पर तुरंत इस सहायता का लाभ ले सकते हैं | गुरुद्वारा स्टेशन रोड एवं गुरुद्वारा गोविंद नगर में ऐसे मजबूर करुणा पीड़ित परिजनों के लिए यह व्यवस्थाएं कुछ नियम शर्तों के साथ उपलब्ध हैं| गुरुद्वारा गोविंद नगर के जसपाल सिंह सलूजा, कुलविंदर सिंह उर्फ किंदी तथा लवली अरोरा के निम्नलिखित नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं - 911196 9789 9926122278 9300492290
  • स्ट्रीट वेन्डर्स को कालोनियों और मोहल्लों में डोर-टू-डोर सब्जी बेचने की होगी अनुमति
    प्रदेश सरकार का फैसला, कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए रिटायर्ड और निजी चिकित्सकों, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ की ली जा सकेंगी संविदा दर पर सेवाएं *मुख्यमंत्री भूपेश ने लॉकडाउन के मद्देनजर जनसुविधा की दृष्टि सेे कलेक्टरों को दिए निर्देश-* पीडीएस दुकानें खुलेंगी, टोकन सिस्टम से बंटेगा खाद्यान्न स्ट्रीट वेन्डर्स को कालोनियों और मोहल्लों में डोर-टू-डोर सब्जी बेचने की होगी अनुमति गांव से कोई किसान सब्जी लाकर शहर की कॉलोनियों और मुहल्लों में बेचना चाहे तो उसे अनुमति होगी दूध की हो सकेगी होम डिलिवरी बैंक खोलने की अनुमति शर्तों पर मिलेगी, शर्त ये कि बैंक के अधिकारी-कर्मचारी सिर्फ बैंकिंग सेवा से संबंधित कार्याें का निष्पादन कर सकेंगे, यहां बैंक पब्लिक डिलिंग की अनुमति नहीं होगी, एटीएम को चौबीसों घंटे क्रियाशील रखने के लिए बैंक से राशि निकालकर एटीएम में फीड की जा सकेगी.....
  • निजी अस्पताल संचालक होटलों को किराए पर लेकर कर रहे हैं अवैध कमाई
    *मरीजों की मजबूरी का फायदा उठाकर उनसे नाजायज उगाही करने वाले डाक्टरों और अस्पताल मालिकों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करके उन्हें जेल भेजा जाये और उनके लाईसेंस निरस्त किये जायें।* आज पूरा विश्व जहां कोरोना महामारी से ग्रसित है, और रोजाना लोग सैकड़ों की संख्या में मौत के मुंह में समा रहे है, पिछले वर्ष कोरोना के कारण कई लोगों के रोजगार खत्म हो गये और अब कोरोना की दूसरी वेव शुरू हो गई है, और बाजार मे दवाओं की कमी है, लोगों को ईलाज नही मिल रहा और मध्यमवर्गीय पैसों की कमी से जूझ रहा है, वही प्राईवेट अस्पताल के मालिकों और डाॅक्टरों ने इस आपदा मे लोगों का नाजायज फायदा उठाना शुरू कर दिया है, लोग डाॅक्टर को भगवान मानते है, वही आज डाॅक्टर लोगों से अवैध उगाही और इलाज के नाम पर बेवजह बिल बढ़ाकर उगाही कर रहे है। शिवसेना के पास ऐसे अस्पतालों के मालिक और डाॅक्टरों की शिकायतें लगातार पहुंच रही है, जिसको लेकर शिवसेना ने ऐसे डाॅक्टरों को सूचि तैयार की है, और जल्द ही यह सूचि स्वास्थ्य मंत्री , कलेक्टर, मुख्यमंत्रि , मेडिकल कार्पोरेशन को सौंपकर ऐसे डाॅक्टरों के लिये कार्यवाही करने हेतु ज्ञापन देगी, और सरकार से मांग करेगी की इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाये, इनके ऊपर जुर्म दर्ज कर इनके लाईसेंस निरस्त किये जाये। इस कठिन परिस्थिति को देखते हुये शिवसेना प्रदेश महासचिव सुनिल कुकरेजा ने चेतावनी दी है, कि ऐसे डाॅक्टरों का खिलाफ सख्त कार्रवाई करवाई जायेगी और किसी को बख्शा नही जायेगा, इन डाक्टरों ने अवैध उगाही करने के लिये बिना सुविधा के प्राईवेट होटलों को किराये पर ले लिया है और मरीजों से रोजाना 60,000 रूपये के हिसाब से उगाही कर रहे है, आपदा मे जहां लोग एक दूसरे की मदद कर रहे है, वहीं ये लोग ऐसे कृत्य को अंजाम देकर इंसानियत को शर्मसार कर रहे है।