Top Story
  • मस्जिद गेट के पास चल रही तोड़फोड़, गुस्साए लोगों ने उठाए सवाल--

    सुप्रीम कोर्ट की तरफ से जहांगीरपुरी में अतिक्रमण पर रोक लगाने के आदेश के बावजूद भी नगर निगम की तरफ से तोड़फोड़ की कार्रवाई जारी है. मस्जिद के पास अतिक्रमण को तोड़ने का काम जारी है. गुस्साए लोगों की तरफ से ये सवाल किए जा रहे हैं कि जब  कोर्ट ने रोक लगाने के आदेश दिए हैं तो फिर क्यों ये कार्रवाई की जा रही है. 

     

     

     

    <div class="card_content" style="margin: 0px; padding: 0px; box-sizing: border-box; color: rgb(102, 102, 102); font-family: Cambay, " noto="" sans",="" "hind="" siliguri",="" vadodara",="" "baloo="" paaji="" 2",="" sans-serif;="" font-size:="" 20px;="" background-color:="" rgb(255,="" 255,="" 255);"="">

     

     

     

    बेशक सुप्रीम कोर्ट ने नॉर्थ एमसीडी को जहांगीरपुरी में अवैध निर्माण के खिलाफ चल रही कार्रवाई को रोकने को कहा है और इसके बाद मेयर और निगम के आयुक्त ने कार्रवाई रोकने का दावा किया हो, लेकिन जहांगीरपुरी में अब भी बुलडोजर चल रहा है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एमसीडी के बुलडोजर अब भी कई अवैध निर्माण को गिरा रहे हैं.: सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद भी कार्रवाई जारी बेशक सुप्रीम कोर्ट ने नॉर्थ एमसीडी को जहांगीरपुरी में अवैध निर्माण के खिलाफ चल रही कार्रवाई को रोकने को कहा है और इसके बाद मेयर और निगम के आयुक्त ने कार्रवाई रोकने का दावा किया हो, लेकिन जहांगीरपुरी में अब भी बुलडोजर चल रहा है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एमसीडी के बुलडोजर अब भी कई अवैध निर्माण को गिरा रहे हैं.

    #WATCH | Anti-encroachment drive still underway at Jahangirpuri by North Delhi Municipal Corporation despite Supreme Court order to maintain status-quo pic.twitter.com/cAG4FhdpMT

    — ANI (@ANI) April 20, 2022

     

  • खुशहाली और समृद्धि का पर्व बैसाखी  यह पर्व किसानों को समर्पित है.

    हर साल अप्रैल माह में बैसाखी का पर्व मनाया जाता है. हर साल अप्रैल की 14 तारीख को ये पर्व उत्तर भारत के कई हिस्सों में मनाया जाता है. खुशहाली और समृद्धि का पर्व बैसाखी इस बार गुरुवार के दिन पड़ रही है. बैसाखी का त्योहार पंजाब और हरियाणा में मुख्य रूप से मनाया जाता है. यह पर्व किसानों को समर्पित है. बैसाखी के दिन शाम के समय भांगड़ा नृत्य करते हैं. एक-दूसरे को बैसाखी की बधाइयां देते हैं. ऐसे में अगर आप भी अपने दोस्तों और प्रियजनों को बैसाखी की शुभकामनाएं देना चाहते हैं तो भेजें उन्हें ये संदेश. 

  • *श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के चौथे शताब्दी वर्ष के अवसर पर संदेश यात्रा का आयोजन*
    *सिखों के 9 वें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के चौथे शताब्दी वर्ष के अवसर पर संदेश यात्रा का आयोजन* *संदेश यात्रा का 9 अप्रैल से 19 अप्रैल तक पूरे छत्तीसगढ़ में होगा भ्रमण* *23-24 अप्रैल को विशाल कीर्तन समागम* सिख समाज छत्तीसगढ़ द्वारा नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के चार सौ साला जयंती वर्ष के अवसर पर विशाल कीर्तन समागम का आयोजन किया गया है उनके शताब्दी वर्ष पर संदेश यात्रा के माध्यम से गुरु जी की जीवनी उनके संदेश उनके विचार हिंदू धर्म की रक्षा के लिए उनका त्याग बलिदान आदि से संबंधित किताबों पंपलेट ओं को बांट कर जन-जन तक पहुंचाया जाएगा ताकि सिख समाज के बच्चों सहित अन्य सभी धर्म के लोगों को मालूम हो सके कि श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी को हिंद की चादर क्यों कहा जाता है ? सिख समाज छत्तीसगढ़ द्वारा पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए संयोजक महेंद्र छाबड़ा ने बताया की संदेश यात्रा में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की हजूरी में श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी की निशानियां के दर्शन समूह संगत को करवाए जाएंगे एक सवाल के जवाब में संस्था के संयोजक सुरेंद्र छाबड़ा ने कहा कि इस संदेश यात्रा में भाग लेने सिख समाज सहित अन्य सभी धर्मों के लोगों को आमंत्रित किया गया है हिंदू धर्म एवं कश्मीरी पंडितों की रक्षा के लिए अपना शीश न्योछावर करने वाले श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी का चांदनी चौक दिल्ली में शीश गंज गुरुद्वारा उनके हिंद की चादर होने का प्रतीक है | CG 24 News-Singhotra
  • भूपेश हैं तो भरोसा है - विष्णुदेव साय

     


    भूपेश हैं तो भरोसा है, ये चमत्कारी बाबा हैं - 
    एक्टिवा में 24 टन धान का परिवहन कर राइस मिल भेजे जाने का फर्जीवाड़ाविष्णुदेव साय
     
    भ्रष्टाचार करने चिंदरम ने गमले में गोभी उगाई,भूपेश एक्टिवा से घान ढुलवा रहे :भाजपा

    रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने महासमुंद जिले के परसवानी धान खरीदी केंद्र से एक्टिवा में 24 टन धान का परिवहन कर राइस मिल भेजे जाने का फर्जीवाड़ा सामने आने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि भूपेश बघेल कांग्रेस के भ्रष्टाचारी नेताओं में नंबर वन बन गए हैं। वे कांग्रेस के बड़े नेता पी. चिदंबरम से आगे निकल गए हैं। चिदंबरम गमले में करोड़ों रुपए की गोभी उगाने के चमत्कार दिखाते थे अब खुद को किसान कहने वाले भूपेश बघेल ने राज्य के किसानों का धान खरीदने में आनाकानी करने के साथ ही ऐसा अनोखा हुनर दिखाया है कि सारी दुनिया हैरत में पड़ जाए लेकिन कांग्रेस के लिए यह एकदम आसान है। कांग्रेस में काले कारनामे करने वाले एक से बढ़कर एक कलाकार हैं। निर्माता निर्देशक की मांग पूरी करने के लिए ये चांद सितारे भी धरती पर उतार सकते हैं। भूपेश हैं तो कांग्रेस के परिवार को भरोसा है। ये ऐसे चमत्कारी बाबा हैं जो दुपहिया सवारी वाहन में 24 टन धान ढुलवा सकते हैं। यह अचंभा भूपेश बघेल की सरकार में ही संभव है। जो कहा, वो किया। क्या दिल्ली दरबार में माताजी, भैया और दीदी को यही वचन देकर छत्तीसगढ़ को लूटने का संकल्प लिया था?

    प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि भूपेश बघेल के राज में छत्तीसगढ़ को कांग्रेस का वसूली केंद्र बना दिया गया है। भूपेश बघेल ने उत्तर प्रदेश के चुनाव के लिए खजांची का रोल अदा किया है। वे यहां ऐसे ही गुल खिलाकर वहां कांग्रेस की झोली भरने जाते थे। राज्य के तमाम संसाधन दीदी के इशारे पर झोंक दिये। कांग्रेस नेतृत्व ने भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार करके दिल्ली दरबार का पेट भरने के लिए ही कुर्सी पर चिपकाए रखा है। अन्यथा ढाई ढाई साल की आस में बैठे सिंहदेव के साथ कब का न्याय हो चुका होता। श्री साय ने कहा कि धान खरीदी के लिए केंद्र सरकार रकम देती है। राष्ट्रीय धन से जुड़े भ्रष्टाचार के इस मामले सहित तमाम घोटालेबाजी की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से कराई जाए।
  • खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में यशोदा वर्मा कांग्रेस की प्रत्याशी घोषित

    खैरागढ़ में होने वाले उपचुनाव के प्रत्याशी घोषणा मामले में कांग्रेसी आगे निकल गई है सबसे पहले कांग्रेस ने प्रत्याशी की घोषणा कर सबको चौंका दिया सब एक दूसरे का रास्ता देख रहे थे कि कौन पहले प्रत्याशी की घोषणा करें तब हम उसके अनुसार सोच समझकर प्रत्याशी तय करें इन सब संभावनाओं को दरकिनार करते हुए कांग्रेस ने सबसे पहले प्रत्याशी की घोषणा की है कांग्रेश द्वारा यशोदा वर्मा को खैरागढ़ विधानसभा से उपचुनाव के लिए प्रत्याशी घोषित किया है |

     

    खैरागढ़ से महिला प्रत्याशी घोषित होने के बाद अन्य दोनों पार्टी से भी महिला प्रत्याशी बनाए जाने की संभावनाएं नजर आती हैं अब देखने वाली बात यह है कि भारतीय जनता पार्टी और जनता कांग्रेस जोगी द्वारा प्रत्याशियों की घोषणा कब तक की जाती है |

  • भाजपा आत्म मंथन करे हर विध्वंसक गतिविधि में भाजपाई ही क्यो शामिल रहता है
    भाजपा आत्म मंथन करे हर विध्वंसक गतिविधि में भाजपाई ही क्यो शामिल रहता है भाजपा छत्तीसगढ़ की कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का षड्यंत्र कर रही है हर बार असफल हो रही है रायपुर/20 मार्च 2022/ भाजपा के प्रेस वार्ता पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा आत्म मंथन करे हर विध्वंसक गतिविधि में भाजपाई ही क्यो शामिल रहता है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के अब तक के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ में भाजपा जनसमर्थन खो चुकी है मुद्दाविहीनहो चुकी है। ऐसे में भाजपा अपने वैमनस्यता फैलने वाली दंगा फसाद करने वाली धर्म से धर्म को जात से जात को लड़ाकर राजनीति रोटी सेकने की हिडन एजेंडा पर काम कर रही है छत्तीसगढ़ की शांत धरती को अशांत करने का बार-बार षड्यंत्र रच रही है।छत्तीसगढ़ में कानून विरोधी कृत्यों में भाजपा के नेता पकड़े जा रहे है। छेरीखेड़ी के सीधे साधे प्रदर्शनकारीयो को जो कलेक्ट्रेट जा रहे थे उन्हें भड़का कर भाजपा ने सीएम हाउस ले जाकर अपनी राजनीतिक रोटी सेकने का प्रयास की है और सीएम हाउस की सुरक्षा में सेंध लगाने की कोशिश की है।काननू को तोड़ा है। भाजपा के पूर्व मंत्री और प्रवक्ता राजेश मूणत चन्द भाजपाई गुंडो के साथ मिलकर खुलेआम पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों के साथ गाली गलौज किया पुलिस कर्मियों के साथ धक्का मुक्की की अभद्रता की। भिलाई में भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने पुलिस कर्मी पर चाकू से प्राणघातक हमला किया। कवर्धा की शांत धरा को अशांत करने के पीछे कौन कौन लोग थे भाजपा के सांसद पूर्व सांसद और भाजपा के नेता पर साक्ष्यों के आधार पर अपराध पंजीबद्ध हुआ है।पूर्व मंत्री राजेश मूणत के खास समर्थक शुभांकर द्विवेदी अभी अपने साथियों के साथ मिलकर एक यार्ड में घुसकर तोड़फोड़ लूटपाट की। इसके पहले ड्रग तस्करी,मानव तस्करी गांजा तस्करी शराब तस्करी सागौन लकड़ी की चोरी तस्करी में भाजपा से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी होती है नक्सलियों के सहयोगी के रुप में भाजपा के नेता पकड़े जाते हैंऐसे में भाजपा को आत्म चिंतन करना चाहिए कानून बिना भेदभाव के अपना काम कर रहे हैं और अपराधी अगर पकड़े जा रहे हैं और उनका संबंध भाजपा से है तो भाजपा बैठकर इस पर विचार करें। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार में छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था मजबूत हुआ है।नक्सली गतिविधियों में कमी आई है तस्कर पकड़े जा रहे हैं ।आम जनता बेखौफ होकर अपना जीवन यापन कर रही हैं। महिलाओं को सुरक्षा देने एवं आम जनता को कानूनी सहायता प्रदान करने में छत्तीसगढ़ पुलिस देश में अव्वल नंबर पर हैं। ऐसे में अपराधियों के शरणार्थी स्थल बन चुकी भाजपा को अब जब अपराधी पकड़े जा रहे हैं तब पीड़ा हो रही है।
  • सिखों के पवित्र तीर्थ श्री हजूर साहिब अकाल तख्त जत्था रवाना
    सिखों के पवित्र तीर्थ श्री हजूर साहिब अकाल तख्त जो नांदेड़ महाराष्ट्र में है यहां प्रतिवर्ष होली के दिन होला मोहल्ला के नाम से बड़ा त्यौहार मनाया जाता है जिसमें पूरे हिंदुस्तान सहित विदेशों से संगत त्यौहार मनाने पहुंचती है | छत्तीसगढ़ सिख संगठन के द्वारा आज नांदेड़ साहिब एवं बीदर साहब यात्रा के लिए स्टेशन रोड गुरुद्वारा से 10 बसे रवाना हुई जो कि बिल्कुल निशुल्क है जिसमें छत्तीसगढ़ की सिख एवं हिंदू , सिंधी संगत जा रही है तकरीबन यह 800 संगत का जत्था है जो नांदेड साहिब शहर में सचखंड साहिब के गुरुद्वारों के दर्शन करेगी एवं समस्त ऐतिहासिक गुरुद्वारों के दर्शन करने के बाद में बीदर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन के लिए नानक जीरा कर्नाटक में जाकर 22 तारीख को रायपुर वापसी करेगी, इस यात्रा को रवाना करने के लिए उत्तर के विधायक सरदार कुलदीप सिंह जुनेजा, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सरदार महेंद्र सिंह छाबड़ा, पूर्व अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष दिलीप सिंह होरा, गुरुद्वारा स्टेशन रोड के प्रधान निरंजन सिंह खनूजा, मीत प्रधान सुरेंद्र सिंह छाबड़ा, तेजेंद्र सिंह होरा, छत्तीसगढ़ सिख संगठन के प्रदेशअध्यक्ष दलजीत चावला, संस्थापक हरपाल सिंह भामरा, कार्यकारी अध्यक्ष लवली अरोरा, महासचिव रोमी भल्ला , उपाध्यक्ष टोनी गुरमीत सिंह, गुरभेज सिंह, गुरु चरण सिंह, मनमीत सिंह, मनोज छाबड़ा, जसविंदर सिंह जस्सी , मनप्रीत सिंह , जीतू आदि उपस्थित थे
  • हाईकोर्ट ने मंंगलवार को बड़ा फैसला सुनाया है. - हिजाब इस्लाम धर्म का अनिवार्य हिस्सा नहीं है और स्कूल छात्रा यूनिफॉर्म पहनने से इनकार नहीं कर सकते हैं.

    हिजाब को लेकर जारी विवाद के बीच कर्नाटक हाईकोर्ट ने मंंगलवार को बड़ा फैसला सुनाया है. मामले की सुनवाई करते हुए कर्नाटक हाईकोर्ट ने कहा कि हिजाब इस्लाम धर्म का अनिवार्य हिस्सा नहीं है और स्कूल छात्रा यूनिफॉर्म पहनने से इनकार नहीं कर सकते हैं. इसके साथ ही, हाइकोर्ट ने मुस्लिम छात्राओं की तरफ से कॉलेजों में हिजाब पहनने को लेकर इजाजत मांगने वाली याचिका को खारिज कर दिया. कर्नाटक हाईकोर्ट की तरफ से कई याचिकाओं को खारिज किया गया है, जो शैक्षिक संस्थाओं में इजाजत को लेकर दायर की गई थी.

    इससे पहले, कर्नाटक के कई जिले में धारा 144 लगाई गई थी ताकि कहीं कोई अप्रिय घटना न हो. गौरतलब है कि हिजाब विवाद के बीच एक बजरंग दल हर्ष कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी. इस मामले ने ऐसा तूल पकड़ा की पूरे देश में प्रदर्शन देखने को मिल रहा था. 

    हिजाब विवाद पर फैसले से पहले बेंगलुरु में कुछ चीजों पर प्रतिबंध लगा दिया गया. बेंगुलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने कहा कि 15 मार्च से 21 मार्च तक एक सप्ताह के लिए बेंगलुरु में सार्वजनिक स्थानों पर सभी प्रकार की सभा, आंदोलन, विरोध या समारोह पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. हिजाब विवाद पर कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले से पहले दक्षिण कन्नड़ डीसी ने कल (15 मार्च) को सभी स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी का आदेश दिया. आदेश के मुताबिक बाहरी परीक्षाएं निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होंगी, लेकिन सभी स्कूलों और कॉलेजों की आंतरिक परीक्षाएं स्थगित कर दी जाएंगी.

    कलबुर्कगी के डीसी यशवंत वी गुरुकर ने कहा है कि कल हिजाब पंक्ति के फैसले के मद्देनजर जिला प्रशासन ने आज शाम 8 बजे से 19 मार्च की सुबह 6 बजे तक धारा 144 लागू कर दी है. जिले के सभी शैक्षणिक संस्थान कल बंद रहेंगे. कर्नाटक उडुपी के कुछ स्टूडेंट्स के ग्रुप ने अदालत में हिजाब पर प्रतिबंध के फैसले को लेकर चुनौती दी थी. स्टूडेंट्स ने तर्क दिया था कि हिजाब संविधान के द्वारा दी गई धार्मिक स्वतंत्रता के तहत आता है. ऐसे में कोई कॉलेज इस संबंध में प्रतिबंध को लेकर कोई फैसला नहीं दे सकता है.

    कर्नाटक सरकार ने मामले में कोर्ट से कहा है कि सिर्फ संस्थागत अनुशासन से संबंधित लगाए गए प्रतिबंधों के अलावा देश में हिजाब पर कोई प्रतिबंध नहीं है. दरअसल विवाद उस वक्त शुरू हुआ था, जब उडुपी के कुछ छात्रों ने शिक्षकों के उस अनुरोध को दरकिनार करते हुए हिजाब का इस्तेमाल बंद करने से इनकार कर दिया था. इसके बाद छात्र कोर्ट पहुंच गए थे.

    क्या है पूरा विवाद?

    गौरतलब है कि स्टूडेंट्स ने तर्क दिया था कि हिजाब संविधान के द्वारा दी गई धार्मिक स्वतंत्रता के तहत आता है. ऐसे में कोई कॉलेज इस संबंध में प्रतिबंध को लेकर कोई फैसला नहीं दे सकता है. कर्नाटक सरकार ने मामले में कोर्ट से कहा है कि सिर्फ संस्थागत अनुशासन से संबंधित लगाए गए प्रतिबंधों के अलावा देश में हिजाब पर कोई प्रतिबंध नहीं है. दरअसल विवाद उस वक्त शुरू हुआ था, जब उडुपी के कुछ छात्रों ने शिक्षकों के उस अनुरोध को दरकिनार करते हुए हिजाब का इस्तेमाल बंद करने से इनकार कर दिया था. इसके बाद छात्र कोर्ट पहुंच गए थे.

  • चुनाव आयोग का केंद्र के सामने झुकना ठीक नहीं : अरविंद केजरीवाल
    आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग पर उंगली उठाते हुए आरोप लगाया कि चुनाव आयोग केंद्र सरकार के सामने झुक गया है | उन्होंने यह बात दिल्ली में चुनाव टालने के निर्णय के बाद कहीं उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग ने एमसीडी के चुनाव टाल दिए हैं | चुनाव टालने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव टालने से देश कमजोर होता है ऐसे चुनाव टालने से जनतंत्र नहीं बचेगा चुनाव आयोग केंद्र सरकार के सामने झुक गया है चुनाव आयोग को बताना चाहिए कि उनको किस बात का डर है परंतु झुकना नहीं चाहिए साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र चुनाव आयोग को झुका रहा है |
  • *प्रदेश के किसी भी सरकारी कार्यालय में मुख्यमंत्री की फोटो नहीं लगेगी*
    *प्रदेश के किसी भी सरकारी कार्यालय में मुख्यमंत्री की फोटो नहीं लगेगी* *शपथ से पहले मुख्यमंत्री का ऐलान* पंजाब में भारी बहुमत से जीतने वाले आम आदमी पार्टी के सीएम प्रत्याशी भगवंत मान ने भारी बहुमत प्राप्त करने के बाद अपने पहले संबोधन में घोषणा की है कि पंजाब के किसी भी सरकारी कार्यालय में मुख्यमंत्री की फोटो नहीं लगेगी, सभी सरकारी कार्यालयों में शहीदे आजम सरदार भगत सिंह और संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर की फोटो ही लगेगी | पूरे देश में, किसी भी प्रदेश में यह अपने आप का पहला फैसला होगा कि मुख्यमंत्री ने शपथ से पहले ही घोषणा कर दी हो कि सरकारी दफ्तरों में उनकी फोटो नहीं लगेगी अर्थात मुख्यमंत्री की फोटो कहीं नहीं लगेगी |
  • Punjab में चला ‘झाड़ू’ का जादू, सीएम चन्नी, नवजोत, कैप्टन अमरिंदर समेत कई दिग्गज पिछड़े

    पंजाब। आम आदमी पार्टी को बंपर बहुमत मिल रहा है. वहीं कांग्रेस दूसरे नंबर पर है. इतना ही नहीं सीएम चन्नी, नवजोत सिंह सिद्धू, कैप्टन अमरिंदर सिंह, प्रकाश सिंह बादल जैसे दिग्गज पीछे चल रहे हैं. चरणजीत सिंह चन्नी (Chamkaur Sahib) पीछे चरणजीत सिंह चन्नी (Bhadaur) पीछे नवजोत सिंह सिद्धू (Amritsar East) पीछे अमरिंदर सिंह (Patiala) पीछे सुखबीर सिंह बादल (Jalalabad) पीछे प्रकाश सिंह बादल (Lambi) पीछे अश्विनी कुमार शर्मा (Pathankot) आगे सिद्धू मूस वाला (Mansa) पीछे मालविका सूद (Moga) पीछे पंजाब में जीत का फायदा AAP को राज्यसभा चुनाव में भी मिलेगा पंजाब में आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत मिलने का फायदा अप्रैल में होने वाले पंजाब की पांच राज्यसभा सीटों के चुनाव में भी मिलेगा. राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा, शमशेर सिंह दूलो, सुखदेव सिंह ढींडसा, नरेश गुजराल और अंबिका सोनी का कार्यकाल अप्रैल में खत्म हो रहा है. जिसके बाद पंजाब से इन 5 राज्यसभा सीटों पर अप्रैल में चुनाव होने हैं. ऐसे में आम आदमी पार्टी अपने पांच राज्यसभा सदस्यों को आसानी के साथ राज्यसभा में भेज सकती है.

  • कका तै तो कमाल कर देस..,गोबर से बने ब्रीफकेस में बजट लेकर पहुंचे सदन

     सूबे के ठेठ छत्तीसगढिय़ा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तो आज कमाल ही कर दिया।

    गोबर से बने ब्रीफकेस में बजट लेकर सदन पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 

    गोबर से बने ब्रीफकेस में बजट लेकर सदन पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तो मौजूद लोग चौंक गए जब उन्हे पता चला कि ब्रीफकेस गोबर से बना हुआ है। आमतौर पर बजट पेश करने वाले वित्त मंत्री सूट-बूट में लक्जरी व कीमती ब्रीफकेस में बजट लेकर सदन पहुंचते रहे हैं|

     गोमय वसते लक्ष्मी..वाकई मां लक्ष्मी के प्रतीक के तौर पर विशेष रूप से तैयार गोधनमय ब्रीफकेस का बजट राज्य के लिए फलदायी होगा। लेकिन लोगों का चौकना इसलिए लाजमी था कि आखिर गोबर इतना कीमती हो गया कि गोबर बेंचने से पैसा मिल रहा,बिजली बन रही है,खाद व पेंट बन रहा और न जाने कितना गुणी है गोबर ..? अब तो ब्रीफकेस भी बन गया। जैसे कि मालूम हो छत्तीसगढ़ की गोधन न्याय योजना ने पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान बनायी है। पहले किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि गोबर से कोई सामग्री भी तैयार की जा सकती है। जैसे कि बताया गया मुख्यमंत्री ने बजट पेश करने के लिए जिस ब्रीफकेस का इस्तेमाल किया वो चमड़े या जूट का नहीं होकर गोबर के बाई प्रोडक्ट से निर्मित है। इसे गोबर के पाउडर से तैयार किया गया है जिसे महिला स्वसहायता समूह की दीदी नोमिन पाल द्वारा बनाया गया है। छत्तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जिसने मां लक्ष्मी के प्रतीक के रूप में गो-धन से निर्मित ब्रीफकेस का इस्तेमाल किया है। नगर निगम रायपुर के गोकुल धाम गोठान में काम करने वाली एक पहल महिला स्वसहायता समूह की दीदियों ने गोबर एवं अन्य उत्पादों के इस्तेमाल से इस ब्रीफकेस का निर्माण किया है । इस ब्रीफकेस की खासियत ये है कि इसे गोबर पाउडर, चूना पाउडर, मैदा,लकड़ी एवं ग्वार गम के मिश्रण को परत दर परत लगाकर 10 दिनों की कड़ी मेहनत से तैयार किया गया है । बजट के लिए विशेष तौर पर तैयार किए गए इस ब्रीफकेस के हैंडल और कार्नर कोंडागांव शहर के समूह द्वारा बस्तर आर्ट कारीगर से तैयार करवाया गया है। सोशल मीडिया में जैसे ही यह खबर वायरल हुआ एक बार फिर छत्तीसगढ़ की गोधन योजना चर्चा में आ गया,लोग कमेंट्स भी करने लगे कका तै तो कमाल कर देस..।