Top Story
  • पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि और मंहगाई के खिलाफ काँग्रेस का धरना प्रदर्शन
    29 जून सोमवार को पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि और इसी वृद्धि के कारण बढ़ती मंहगाई के खिलाफ राजधानी रायपुर सहित सभी जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन 29 जून को ही सोशल मीडिया में लाइव स्पीक अप आन पेट्रालियम प्राईजेस होगा 29 जून को ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के सफल कार्यकाल का पूरा होगा 1 साल रायपुर/28 जून 2020। सोमवार 29 जून को सभी जिला मुख्यालयों में 10 बजे से 12 बजे तक पेट्रोज-डीजल के दामों में वृद्धि के खिलाफ राजधानी रायपुर और सभी जिला मुख्यालयों में धरना होगा और धरने के बाद राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा जायेगा। “स्पीक अप आन पेट्रोलियम प्राइजेस” का कार्यक्रम जिला कांग्रेस कमेटी, ब्लाक कमेटी, विधानसभा कमेटियों के द्वारा व्यापक रूप से चलाया जायेगा। सोशल मीडिया में पेट्रोज-डीजल की मूल्य वृद्धि से उबेर ओला ड्राइवर, ट्रक ड्राइवर आम आदमी के विडियो पोस्ट किये जायेंगे। पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्य वृद्धि की कारण बढ़ती मंहगाई से आम आदमी को हो रही तकलीफ को इस कार्यक्रम में पुरजोर तरीके से उठाया जायेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के सफल कार्यकाल का 29 जून को 1 साल पूरा होने जा रहा है। केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ देश में बढ़ती महंगाई एवं पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में हो रही अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी के विरोध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में कोविड-19 के संदर्भ में जारी प्रशासनिक दिशा-निर्देश व सामाजिक दूरी के नियमों को कड़ाई से पालन करते हुये 29 जून 2020 को प्रातः 11 बजे धरना स्थल बूढ़ा तालाब रायपुर में एक दिवसीय धरना, प्रदर्शन का आयोजन किया गया है। धरना, प्रदर्शन के बाद उपस्थित कांग्रेसजन प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोध स्वरूप राजीव गांधी चौक से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निवास तक सायकल यात्रा करेंगे तथा भेंट स्वरूप सायकल प्रदान करेंगे। धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश, जिला, शहर, नगर एवं ब्लाक कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, निर्वाचित जनप्रतिनिधी सांसद, विधायकों सहित समस्त कांग्रेसजन अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होने के लिये कहा गया है।
  • अजय चंद्राकर के गोबर वाले ट्वीट पर भाजपा ने लगाई मोहर -

    प्रदेश के पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर द्वारा गोबर को राजकीय निशान बनाने वाले ट्वीट पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने मुहर लगा दी - एकात्म परिसर में पत्रकार वार्ता के दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने स्पष्ट किया कि जब माननीय अजय जी ने अपनी प्रतिक्रिया दे दी है तो उसमें पार्टी की अलग से प्रतिक्रिया देने की जरूरत नहीं है - उन्होंने यह भी कहा कि गोबर खरीदने का कोई विरोध नहीं है | पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के इस बयान से यह स्पष्ट हो गया है की भारतीय जनता पार्टी पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के उक्त ट्वीट वाले मामले को सही मानती है -

  • छाया वर्मा को सांसद महारत्न अवार्ड
    छाया वर्मा को सांसद महारत्न अवार्ड अवॉर्ड जीतने वाली छत्तीसगढ़ की पहली सांसद रायपुर/26 जून 2020। कांग्रेस की राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा सहित तीन सांसदों को सांसद महारत्न अवार्ड देने की धोषणा की गई है। यह अवार्ड पांच साल में एक बार दिया जाता है। चेन्नई के एक एनजीओ प्राइम पोइन्ट फाउंडेशन व एक ई-मैगजीन की ओर से यह अवार्ड दिए जाएंगे। छत्तीसगढ़ के किसी सांसद को पहली बार यह अवॉर्ड दिया गया है. संसद रत्न अवार्ड की जूरी कमेटी के चेयरमैन संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेधवाल व जूरी के सदस्य सांसद एन.के.प्रेमचन्द्रन. व सांसद श्रीरंग अप्पा बारने ने अवार्ड विजेताओं का चयन किया। लोकसभा में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर तीन सांसदों को सांसद महारत्न अवार्ड देने की घोषणा की गई है। राज्यसभा के दो सांसदों को इस अवॉर्ड के लिए चुना गया है। लोकसभा से से एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले, ओडिशा के कटक से बीजेडी सांसद भर्तहरि महताब व महाराष्ट्र के मावल से शिवसेना सांसद श्रीरंग अप्पा बारने शामिल हैं। राज्यसभा से छाया वर्मा इस साल से राज्यसभा सांसदों के लिए शुरू किए अवार्ड में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सांसद छाया वर्मा और उत्तरप्रदेश से समाजवादी पार्टी विश्व भर प्रसाद निषाद का चयन किया गया है। इससे पहले छाया वर्मा को राज्यसभा के सर्वश्रेष्ठ सांसद का भी अवॉर्ड मिल चुका है। राज्यसभा में प्रदर्शन के आधार पर चयन किया जाता है।
  • छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना हरेली से

    मुख्यमंत्री ब्रेकिंग न्यूज़ 

    गोधन न्याय योजना का शुभारंभ होगा हरेली से -
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की घोषणा -*

    *सरकार खरीदेगी गोबर 
    *किसान होंगे लाभान्वित 
    *ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार 
    *पशुधन की होगी देखभाल
    *सरकार अभी गोबर खरीदने का प्लान बना रही है भविष्य में गोमूत्र खरीदने पर भी विचार किया जाएगा

  • पेट्रोल डीजल पर टैक्स बढ़ाकर मोदी जी जनता की जेब काट रहे हैं - कांग्रेस
    बहुत हुई पेट्रोल डीजल की मार बस करो मोदी सरकार: कांग्रेस · पेट्रोल डीजल पर टैक्स बढ़ाकर मोदी जी जनता की जेब काट रहे हैं · जनहित की जगह मुनाफ़ाखोरों की तरह काम कर रही है सरकार रायपुर/24 जून 2020। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि ‘बहुत हुई जनता पर पेट्रोल डीजल की मार’ और ‘बहुत हुई महंगाई की मार’ जैसे नारे लगाकर सत्ता में आए नरेंद्र मोदी जी अब पेट्रोल डीजल के दामों को लेकर जनता पर लगातार बोझ डालने पर तुले हुए हैं. उन्होंने कहा है कि मोदी जी जानते हैं कि इससे महंगाई बढ़ेगी लेकिन वे अभूतपूर्व मौन साधे हुए हैं और उनकी सरकार लगातार 17 दिनों से पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाती जा रही है. पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ाए जाने पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेश शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि एक ओर देश की जनता कोरोना के संकट काल में अपनी आजीविका और दो वक़्त की रोटी को लेकर चिंतित है, ऐसे समय में पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाना जनविरोधी कदम ही दिखता है. उन्होंने कहा है कि ऐसे कठिन समय में जनता को राहत देने की जगह उस पर और बोझ लादना भाजपा सरकार की निष्ठुरता ही दिखाती है. सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाकर लोगों के घाव पर नमक छिड़क रही है। उन्होंने कहा है कि 6 साल में 12 बार से अधिक पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर मोदी सरकार अब तक 18 लाख करोड़ रुपए अतिरिक्त प्राप्त कर चुकी है। इन 18 लाख करोड़ रुपयों का आज संकट की इस घड़ी में देश की जनता को राहत पहुंचाने के लिए क्यों नहीं इस्तेमाल किया जा रहा है? 17 दिन लगातार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने, 5 मई को पेट्रोल और डीजल पर 10 रुपए और 13 रुपए प्रति लीटर क्रमशः एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने और 5 मार्च, 2020 को 3 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने के पीछे इस महामारी के दौर में सरकार की जनता के प्रति दुर्भावना क्या है? संचार विभाग प्रमुख ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के कारण मालभाड़ा बढ़ रहा है और महंगाई बढ़ रही है। ट्रांसपोर्टर परिवहन की दरें बढ़ा रहे हैं। डीजल का व्यापक उपयोग कृषि कार्यो में होता है। डीजल महंगा होने से किसानों की उत्पादन लागत भी बढ़ रही है। आवश्यक वस्तुओं किराना, सब्जी, अनाज सबके दाम बढ़ रहे हैं। इस तरह की बढ़ोत्तरी से पहले से परेशान जनता की परेशानी और बढ़ने वाली है. उन्होंने कहा है कि जब दुनिया में कच्चे तेल के दाम गिर रहे हैं तो भारत मे लगातार वृद्धि क्यों की जा रही है? मई 2014 में क्रूड ऑयल की कीमत 106.85 डॉलर प्रति बैरल थी और आज विश्व बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत 38 डॉलर प्रति बैरल है. उन्होंने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार जनहित में फ़ैसले लेने की जगह मुनाफ़ाखोर की तरह काम कर रही है और आम आदमी के ऊपर बोझ बढ़ा कर खुद कमाने में लगी है। बढ़ता जा रहा है टैक्स क्रूड ऑयल की कीमतों में 64 प्रतिशत की गिरावट आई है। पहली मई 2014 को पेट्रोल में सेंट्रल एक्साइज 9.20 रुपए प्रति लीटर था जबकि आज पेट्रोल में सेंट्रल एक्साइज बढ़कर 32.98 रुपए प्रति लीटर हो चुका है। 258 प्रतिशत की बढ़ोतरी पेट्रोल में सेंट्रल एक्साइज में की गई है। डीजल पर पहली मई 2014 को सेंट्रल एक्साइज 3.46 रुपए प्रति लीटर था जो मोदी सरकार द्वारा बढ़ाकर अब 31.8 रू. प्रति लीटर किया जा चुका है। डीजल में सेंट्रल एक्साइज में 819.9 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। सरकार को जनहित में काम करना चाहिए लेकिन ये सरकार जनता की जेब काटने में लगी हुई है।
  • मोदी जी के प्रति अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति पापा ने अपनी जल्द ही प्रकाशित होने वाली आत्मकथा में इन शब्दों में की है - Amit jogi

     मोदी जी के प्रति अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति पापा ने अपनी जल्द ही प्रकाशित होने वाली आत्मकथा में इन शब्दों में की है - 

     

     

    भारत के प्रधान मंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी के मेरे पिता जी श्री अजीत जोगी जी के निधन पर मेरी माँ डॉक्टर रेनु जोगी जी को लिखे इस मार्मिक पत्र को आपके साथ साझा कर रहा हूँ। आदरणीय मोदी जी के प्रति मेरे पिता जी की क्या भावनाएँ थीं, उसकी अभिव्यक्ति पापा की कोरोनाकाल में लिखी और जल्द ही प्रकाशित होने वाली आत्मकथा से मैं उन्हीं के ही शब्दों में कर रहा हूँ: 
     
    मैं इसे भी अपना सौभाग्य मानता हूं कि जब मैं कांग्रेस का मुख्य प्रवक्ता था तो मेरे साथ ही भाजपा के दो अत्यन्त वरिष्ठ नेता वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज भाजपा के मेरे समकालीन प्रवक्ता थे। उन दिनों टेलीविजन के चारों चैनलों में हमारी जोरदार बहस हुआ करती थी पर कई बार एक साथ टेलीविजन स्टूडियो द्वारा भेजी गई कार में हम लोगों को एक साथ आना पड़ता था और डिबेट के पहले और बाद हम लोगों में बड़े अंतरंग पारिवारिक संबंध बन गये थे। मैं इसे श्री नरेन्द्र मोदी जी का बड़प्पन मानता हूं कि उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद भी कभी मुझसे यह प्रेम संबंध नहीं तोड़े। वे बड़े सफल और विश्वस्तरीय नेता बन गये हैं और एक ही उदाहरण उनकी उदारता को प्रमाणित करने के लिये पर्याप्त होगा। 
     
    जब 2014 में वो प्रधानमंत्री बने तो कांग्रेस पार्टी के बहुत से नेताओं को शासकीय आवास किसी न किसी बहाने से आवंटित किया गया था। स्वाभाविक कारणों से वे सभी शासकीय आवास के आवंटन निरस्त किये गये और सभी को अपनी अलग से व्यवस्था करनी पड़ी। कांग्रेस संगठन की जवाबदारियों के कारण मुझे दिल्ली में रहना अनिवार्य था और स्थिति ऐसी नहीं थी कि मैं दिल्ली में मंहगे किराये के मकान में रह सकूं। 
     
    मेरे सौभाग्य और संयोग से उन्हीं दिनों संसद भवन की आउटर गैलरी में मैं अपनी व्हील चयेर चलाता हुआ जा रहा था कि दूसरी ओर से तमाम सुरक्षा कवच से भरे हुये प्रधानमंत्री जी आ रहे थे। दूर से उन्हें देखकर सम्मान देने की दृष्टि से मैंने अपनी व्हील चेयर अत्यन्त किनारे कर ली और उनके निकलने का इंतजार करने लगा। उनकी पैनी नजर दूर से ही मेरे पर पड़ गई और सीधे सुरक्षा कवच को चीरते हुये मेरे पास तक आये और मेरी व्हील चेयर पर अपने हाथों से पकड़कर भरे प्रेम से मेरा और मेरे परिवार का हालचाल पूछा। हम दोनों प्रवक्ताकाल में एक-दूसरे को भाई साहब कहा करते थे। मुझे सुखद आश्चर्य हुआ कि उन्होंने मुझे भाई साहब कहकर मुझसे बातचीत की। 
     
    न जाने क्यों मुझे लगा कि मैं आवास के बारे में अपनी कठिनाई उन्हें बताऊं और मेरे मुंह से निकल पड़ा कि भाई साहब, आप प्रधानमंत्री बन गये हैं और मेरे जैसा व्यक्ति आवास के लिये आपके रहते हुये भी दर-दर भटक रहा है। उनके बड़प्पन की पराकाष्ठा थी कि उन्होंने इस संबंध में मुझे कोई आश्वासन नहीं दिया। मुझे लगा कि वे टालकर चले गये। देर शाम मुझे उनके प्रमुख सचिव और सीनियर आई.ए.एस. श्री नृपेन्द्र मिश्रा का फोन आया और मुझसे कहा कि प्रधानमंत्री जी ने उन्हें आदेशित किया है कि तत्काल नार्थ या साऊथ ऐवेन्यू में मेरी सुविधानुसार आवास आवंटित किया जाय। स्वाभाविक रूप से दूसरे ही दिन मनचाहा आवास मिल गया और उसे खाली करने के लिये कोई नोटिस नहीं मिला
  •  पतंजलि ने लॉन्च की कोरोना किट

    कोरोना संकट के बीच पतंजलि ने मंगलवार को कोरोना किट लॉन्च की. इस किट में प्रतिरक्षा क्षमता को मजबूत करने वाली दवाएं हैं. एप के जरिये कोरोना किट की बिक्री की जाएगी. पतंजलि का दावा है कि क्लीनिकल ट्रायल के दौरान 100 प्रतिशत नतीजे दिखाए पड़े.

  • Covid-19:पुरानी पगड़ियों से 1० लाख मास्क बनाकर बच्चों को बांटने में जुटा सिख समाज

    सिखों के सिर की शान पगड़ियां, अब जरूरतमंद बच्चों को कोरोना वायरस से बचाएंगी। घर-घर से पुरानी पगड़ियां लेकर उनसे मास्क बनाकर बच्चों को बांटा जा रहा है। सिख समाज ने पूरे देश में 'टरबन  फॉर मास्क' अभियान चलाकर दस लाख मास्क बच्चों को बांटने की तैयारी की है। भारतीय जनता पार्टी के नेशनल सेक्रेटरी सरदार आरपी सिंह और उत्तरी दिल्ली के महापौर अवतार सिंह ने सोमवार को दिल्ली में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता को 5० हजार मास्क उपलब्ध कराकर अभियान की शुरूआत की।

    भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भाजपा कार्यकतार् घर-घर जाकर स्कूली बच्चों के अभिभावकों को पगड़ियों से बने मास्क देंगे। बच्चों को कोरोना से बचाने के इस अभियान में भाजपा, शिरोमणि अकाली दल जैसे राजनीतिक संगठनों के अलावा यूनाइटेड सिंह सभा फाउंडेशन आदि समाजसेवी संगठन जुड़े हैं।

    भाजपा के नेशनल सेक्रेटरी सरदार आरपी सिंह ने आईएएनएस को बताया, “ जम्मू-कश्मीर से लेकर दिल्ली, लखनऊ, हैदराबाद आदि शहरों में पुरानी पगड़ियों से बने मास्क का वितरण शुरू हो गया है। दस लाख मास्क बांटने का लक्ष्य है। फिलहाल ढाई लाख मास्क तैयार हो गए हैं। सिख समाज के लोगों को जब से पता चला कि पुरानी पगड़ियों से बच्चों के लिए मास्क बनाए जा रहे हैं तो हजारों लोग फोन कर अपनी पगड़ियां दे रहे हैं। एक पगड़ी से 25 से 3० मास्क तैयार होते हैं। कपड़े को ठीक से सैनिटाइज करने के बाद ही मास्क तैयार होता है, सिलाई के बाद फिर से सैनिटाइज कर पैक कर उपलब्ध कराते हैं।”

    सरदार आरपी सिंह ने कहा कि पगड़ी के लिए सिखों ने कई शहादतें दी है और अब जरूरत के समय इसे मास्क बनाने के लिए प्रयोग किया जा रहा है। उत्तरी दिल्ली के महापौर अवतार सिंह ने कहा कि पगड़ियां सिखों की शान होती हैं। यह मास्क सूती और मलमल की पगड़ियों से तैयार किए गए हैं जिसे धोया भी जा सकता है। मास्क को सिलने में हर धर्म के लोगों ने अपना योगदान दिया और इसे सिलते वक्त साफ-सफाई और सैनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रखा गया।

  • हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 78.59 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण*  *बालिकाओं का प्रतिशत 82.02 तथा बालकों का प्रतिशत 74.70

    *स्कूल शिक्षा मंत्री ने घोषित किया 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम: सफल विद्यार्थियों को दी* *शुभकामनाएं* *हाई स्कूल परीक्षा में 73.62 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण* *बालिकाओं का प्रतिशत 76.28 तथा बालकों का प्रतिशत 70.53* *हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 78.59 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण* *बालिकाओं का प्रतिशत 82.02 तथा बालकों का प्रतिशत 74.70* *पिछले वर्ष की तुलना में हाई स्कूल के परीक्षा परिणाम में 5.42 प्रतिशत और हायर स्कूल परीक्षा परिणाम में 0.16* *प्रतिशत की वृद्धि* रायपुर, 23 जून 2020/स्कूल शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज चिप्स कार्यालय से छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा वर्ष 2020 के परिणाम घोषित किए। हाई स्कूल परीक्षा में 73.62 एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 78.59 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। इस अवसर पर माध्यमिक शिक्षा मण्डल के अध्यक्ष डाॅ. आलोक शुक्ला, सचिव प्रोफेसर व्ही.के.गोयल, माध्यमिक शिक्षा मण्डल के सदस्यगण उपस्थित थे। डाॅ. टेकाम ने परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि असफलसता की सफलता की कुंजी है इसे मद्देनजर रखते हुए, जो परीक्षार्थी असफल हो गए हैं, वे निराश न हो। पुनः मेहनत करे सफलता अवश्य मिलेगी। डाॅ. टेकाम ने बताया कि हाई स्कूल के परीक्षा परिणाम में गतवर्ष की तुलना में 5.42 प्रतिशत और हायर स्कूल परीक्षा परिणाम में भी गतवर्ष की तुलना में 0.16 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। स्कूल शिक्षा मंत्री ने बताया कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित हाई स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा वर्ष 2020 में कुल 3 लाख 92 हजार 153 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। इनमें से 3 लाख 84 हजार 761 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए, जिनमें से एक लाख 78 हजार 079 बालक तथा 2 लाख 06 हजार 682 बालिकाएं सम्मिलित हुई, जिसमें से 3 लाख 84 हजार 599 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। घोषित परीक्षा परिणाम में से उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की कुल संख्या 2 लाख 83 हजार 157 है अर्थात कुल 73.62 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। उत्तीर्ण बालिकाओं का प्रतिशत 76.28 तथा बालकों का प्रतिशत 70.53 है। सम्मिलित परीक्षार्थियों में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या एक लाख 26 हजार 384 (32.86 प्रतिशत) है, द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या एक लाख 42 हजार 983 (37.18 प्रतिशत) है, तथा तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 13 हजार 788 (3.59 प्रतिशत) है। 25 हजार 487 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता है। कुल 162 परीक्षार्थियों के परिणाम विभिन्न कारणों से रोके गए हैं, जिसमें 39 परीक्षार्थियों के परिणाम नकल प्रकरण के कारण 117 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम पात्रता के अभाव में निरस्त किए गए है। इसके अतिरिक्त 06 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम बाद में घोषित किए जाएंगे। डाॅ. टेकाम ने बताया कि गतवर्ष हाई स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा में कुल 3 लाख 84 हजार 664 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए थे, जिनमें से एक लाख 79 हजार 705 बालक तथा 2 लाख 4 हजार 959 बालिकाएं सम्मिलित हुई थीं। सम्मिलित परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण का प्रतिशत 68.20 था। इस प्रकार गतवर्ष से इस वर्ष परीक्षा परिणाम में लगभग 5.42 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि हायर सेकेण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा वर्ष 2020 में कुल 2 लाख 77 हजार 563 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। इनमेें से 2 लाख 75 हजार 736 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। जिनमें से एक लाख 29 हजार 315 बालक तथा एक लाख 46 हजार 421 बालिकाएं सम्मिलित हुई, जिनमें से दो लाख 75 हजार 495 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। घोषित परीक्षा परिणाम में से उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की कुल संख्या 2 लाख 16 हजार 526 है अर्थात कुल 78.59 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। उत्तीर्ण बालिकाओं का प्रतिशत 82.02 तथा बालकों का प्रतिशत 74.70 है। सम्मिलित परीक्षार्थियों में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 72 हजार 385 (26.27 प्रतिशत) है, द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या एक लाख 34 हजार 631 (48.87 प्रतिशत) है तथा तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 9 हजार 493 (3.45 प्रतिशत) है। 17 परीक्षार्थियों को पास की श्रेणी में उत्तीर्ण किया गया है। 34 हजार 880 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता है। कुल 241 परीक्षार्थियों के परिणाम विभिन्न कारणों से रोके गए, जिसमें 70 परीक्षार्थियों के परिणाम नकल प्रकरण के कारण, 168 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम पात्रता के अभाव में निरस्त किए गए हैं तथा 01 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम जांच की श्रेणी में रोका गया है। इसके अतिरिक्त 02 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम बाद में घोषित किए जाएंगे। डाॅ. टेकाम ने बताया कि गतवर्ष हायर स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा में कुल 2 लाख 60 हजार 521 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए थे, जिनमें से एक लाख 24 हजार 370 बालक तथा एक लाख 36 हजार 151 बालिकाएं सम्मिलित हुई थीं। सम्मिलित परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण का प्रतिशत 78.43 था। इस प्रकार गतवर्ष से इस वर्ष परीक्षा परिणाम में 0.16 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि मण्डल द्वारा आयोजित हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक में परीक्षा वर्ष 2020 में कुल 1677 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए, इनमें से 1660 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए, जिनमें से 1037 बालक तथा 623 बालिकाएं हैं। उत्तीर्ण परीक्षार्थी की संख्या 1520 है, जो सम्मिलित परीक्षार्थियों की संख्या 91.63 प्रतिशत है। कुल 02 परीक्षार्थियों के परिणाम पात्रता के अभाव में निरस्त किए गए हैं। डाॅ. टेकाम ने बताया कि गतवर्ष हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम मुख्य परीक्षा में कुल 1931 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए थे, जिनमें से 1206 बालक 725 बालिकाएं थीं। सम्मिलित परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण का प्रतिशत 98.80 था। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हाईस्कूल परीक्षा के 2304, हायर सेकेण्डरी परीक्षा के 2212 एवं हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक परीक्षा के 65 परीक्षा केन्द्र तथा 28 समन्वय केन्द्र बनाए गए थे। डाॅ. टेकाम ने कहा कि शैक्षणेत्तर गतिविधियों में प्रावीण्य परीक्षाओं को परीक्षा में बोनस अंक दिए जाने के छत्तीसगढ़ शासन, स्कूल शिक्षा विभाग के आदेशानुसार वर्ष 2020 में हाईस्कूल परीक्षा के 1777 हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 1721 एवं हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक परीक्षा के 09, कुल 3507 परीक्षार्थियों को बोनस अंक प्रदान किया गया। गतवर्ष हाईस्कूल के 1859, हायर सेकेण्डरी के 1487 एवं हायर व्यावसायिक परीक्षा के 14, कुल 3360 परीक्षार्थियों को बोनस अंक प्रदान किया गया था। परीक्षा परीणाम छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल की वेबसाइट www.cgbse.nic.in वेबसाइट पर उपलब्ध है तथा वेबसाइट http://results.gov.in/cgresults, www.results.cg.nic.in पर उपलब्ध है। इसके अलावा www.jagranjosh.com, www.hindi.news18.com पर भी परीक्षा परिणाम देखे जा सकते हैं।

  • प्रदेश में 10वीं 12वीं के रिजल्ट घोषित

    प्रदेश में 10वीं 12वीं के रिजल्ट घोषित स्कूली शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने परिणाम घोषित किए - मुंगेली की छात्रा प्रज्ञा कश्यप 10 वीं बोर्ड परीक्षा में 600 में से 600 नंबर पाकर टॉपर रही - रायपुर की प्रिया अग्रवाल 97 प्रतिशत अंकों के साथ मेरिट में द्वितीय रही - वही दसवीं की बात करें मेरिट में प्रथम प्रज्ञा कश्यप, द्वितीय प्रसन्नता राजपूत तीसरे नंबर पर भारतीय यादव बालोद रहीं इस प्रकार 10वीं और 12वीं के परीक्षा परिणामों में छात्राएं आगे रही दसवीं बोर्ड में पास होने वालों में छात्राओं का प्रतिशत 76.28 वहीं छात्रों का 70.53 रहा

    दसवीं बोर्ड में मुंगेली की प्रज्ञा कश्यप क्षेत्रों में 600 अंक प्राप्त कर प्रथम रही प्रसन्नता राजपूत बेमेतरा की 99.33% के साथ दूसरे नंबर पर रही बालोत की भारती यादव 98.67 अंकों के साथ तीसरे नंबर पर रही चौथे नंबर पर जशपुर के निखिल साहू 98.67% के साथ तीसरे नंबर पर रहे जांजगीर के बिजेंद्र कुमार देवांगन चौथे नंबर पर बालोद की ममता सिंह पांचवी पोजीशन पर रायपुर की प्रतिभा सीखेरिया वीरेंद्र लकेश्वर गुलाम रब्बानी पांचवें नंबर पर रहे इसी प्रकार छठ में नंबर पर बालोद के रितेश कुमार सिन्हा जांजगीर की छाया निर्मलकर सूरजपुर के असद इकबाल रहे सातवें नंबर पर बेमेतरा के वरुण कुमार साहू जांजगीर के अवनी प्रजापति जांजगीर की ही निशा साहू रेणुका चंद्रा मुंगेली के नीरज कुमार वर्मा रायगढ़ के महेश गुप्ता रायगढ़ की ही कुंती साहू जसपुर के चिराग़दीप योगेश कुमार सिदार सूरजपुर के कुलदीप सिंह रहे आठवें नंबर पर दुर्ग की महक यादव रायगढ़ की पीयू मैती रायगढ़ के मानस रंजन उमेश्वरी पटेल सरगुजा के उमेश्वरी राजवाड़े टॉप नाइन में बेमेतरा की पूनम साहू दुर्ग के आदर्श गिरी जांजगीर के हर्ष कुमार देवांगन शिवानी यादव भास्कर पटेल कोरबा की अंजली शर्मा वर्षा डे बलरामपुर के प्रशांत तिवारी जसपुर के ईश्वर चंद चौहान ने अपना स्थान बनाया वही दसवें नंबर पर दुर्ग की संजना मंदसौर राजनांदगांव की प्रीति जांजगीर के धर्मेंद्र पटेल रायगढ़ की खुशी पांडे नारायणपुर के ओजस श्रीवास्तव कोरिया की सुष्मिता पाल ने अपना स्थान बनाया
  • प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के दौरे पर भाजपा के बयानों पर कांग्रेस की तीखी प्रतिक्रिया
    भाजपा वाले पहले नियम कानून पढ़ ले और फिर बयान बाजी किया करें प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के दौरे पर भाजपा के बयानों पर कांग्रेस की तीखी प्रतिक्रिया रायपुर/21 जून 2020। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के दौरे पर भाजपा के बयानों पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुये प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा वाले नियम कानून पढ़कर और तथ्यों की जानकारी लेकर बयान बाजी किया करें। एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ने रायपुर प्रवास के लिए ईपास बनवाया था और सारे नियमों का पालन किया है। भाजपा के द्वारा की गई बयानबाजी को स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपराओं का अपमान निरूपित करते हुए कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा नेता पहले अपने गिरेबान में झांक कर देखें। ओमप्रकाश सकलेचा नामक भाजपा के विधायक ने मध्य प्रदेश में जिस प्रकार से सारे विधायकों की सुरक्षा को और स्वास्थ्य को खतरे में डाला है वह भाजपा के गर्हित आचरण का जीता जागता सबूत है। कांग्रेस संचार विभाग प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा की केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों में समय रहते करोना की जांच और रोकथाम के उपाय न करके महामारी को इतना बढ़ने दिया। घंटा बजाना थाली पीटना अंधेरा करना जैसे उपायों से देश की जनता को गुमराह किया। अहमदाबाद में नमस्ते ट्रंप जैसे आयोजन किए जिसका दुष्परिणाम गुजरात की जनता और गुजरात से आए प्रवासी मजदूर अभी तक भुगत रहे हैं। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की निर्वाचित सरकार गिराने तक करोना निरोधक उपायों पर राष्ट्रीय स्तर पर अमल रोक कर रखा वह भाजपा बड़ी-बड़ी बातें करें और ऐसे स्तरहीन आरोप लगाए यह राजनीतिक मर्यादाओं और गरिमा के अनुरूप नहीं है।
  • राज्यसभा चुनावों के नतीजे घोषित,
    *राज्यसभा चुनाव के नतीजे घोषित, ज्योतिराज सिंधिया दिग्विजय सिंह बने राज्यसभा सदस्य* *देश के 8 राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों पर हुए चुनाव के नतीजे आ गए हैं। जारी नतीजों के अनुसार आंध्र प्रदेश की सभी चार राज्यसभा सीटों पर वाईएसआरसीपी नेताओं ने कब्जा किया है। वहीं मध्यप्रदेश की तीन सीटों में दो पर भाजपा और एक सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। वहीं राजस्थान में कांग्रेस ने दो और भाजपा ने 1 सीट पर कब्जा किया है। बता दें कि राज्यसभा की 19 सीटों में आंध्रप्रदेश की चार, गुजरात की चार, मध्यप्रदेश में तीन, राजस्थान में तीन, झारखंड में दो और मणिपुर, मिजोरम और मेघालय में एक-एक सीट पर आज मतदान हुआ है। मध्यप्रदेश में भाजपा ने दो सीटें जीती है, जबकि कांग्रेस को सिर्फ एक सीट ही मिली है। भाजपा की तरफ से ज्योतिरादित्य सिंधिया राज्यसभा का चुनाव जीते हैं, जबकि वहीं सुमेर सिंह सोलंकी ने भी भाजपा से जीत दर्ज की है। वहीं कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह चुनाव जीत गये हैं। मध्यप्रदेश में राज्यसभा चुनाव को लेकर जोड़-तोड़ लगातार चल रही थी, आखिरी वक्त तक क्रास वोटिंग की संभावना थी, लेकिन कांग्रेस को इसमें कामयाबी नहीं मिली, वहीं कांग्रेस के खाते में मध्य प्रदेश से एक राज्यसभा सीट गई है. कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा चुनाव में जीत दर्ज की है. मध्य प्रदेश में तीन राज्यसभा सीटों के लिए वोट डाले गए. यहां कुल चार उम्मीदवार मैदान में थे. बीजेपी और कांग्रेस ने दो-दो उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा था। वहीं राजस्थान में भी 3 सीटों के लिए वोट डाले गए. तीन में दो सीटों पर राज्य की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को जीत मिली है जबकि बीजेपी के खाते में एक सीट गई है. शुक्रवार को राज्य से कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल व नीरज डांगी तथा भाजपा के राजेंद्र गहलोत जीते हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कांग्रेस के विजेता उम्मीदवारों को बधाई दी है।