Top Story
  • जशपुर का काजू अब जापान खरीदेगा,नाशपाती भी अंर्तराष्ट्रीय बाजार में बिकेगी
    रायपुर22सितम्बर2019-बागवानी की खेती में अग्रणी छत्तीसगढ़ राज्य के जशपुर जिले की पहचान अब देश की सीमा के पार जा पहुंची है। जशपुर जिले में पैदा होने वाले काजू का अब जापान की एक कम्पनी सरताज ने खरीदने का विधिवत एमओयू किया है। रायपुर में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रता प्रदर्शनी में जशपुर जिले में काजू के उत्पादन एवं प्रोसेसिंग के लिए गठित सहयोग ग्रीन प्लस आदिवासी सहकारी समिति दुलदुला से जापान की सरताज कम्पनी ने प्रतिवर्ष 60 क्विंटल काजू क्रय करने का अनुबंध किया है।  इसी तरह जशपुर के बगीचा विकासखंड के पाठ इलाके में और मनोरा में बहुतायत रूप से पैदा होने वाली नाशपाती भी अब अंर्तराष्ट्रीय बाजार में धूम मचाएगी। किसान नेटर्वक गुरूग्राम ने जशपुर में होन वाली नाशपाती को क्रय करने के लिए हरित क्राति आदिवासी सहकारी समिति बगीचा से एमओयू किया है। यह कम्पनी जशपुर से हर साल दस हजार क्विंटल नाशपाती खरीदेगी और अंर्तराष्ट्रीय बाजार में  बेचेगी। यहां यह उल्लेखनीय है कि जशपुर जिले में लिची, स्ट्राबेरी, मिर्च, आलू, आम और चाय की खेती बढ़ेपैमाने  पर होती है अनुकूल मौसम और उपजाऊ मिट्टी की वजह से दिनों-दिन इसकी खेती का रकबा और उत्पादन बढ़ते ही जा रहा है। जिले के उत्पादक किसानों को बेहतर मूल्य मिले और उनकी आर्थिक स्थिति सुधरे इसको लेकर शासन प्रशासन की ओर से लगातार कोशिस की जा रही है। यही वजह है कि राज्य सरकार द्वारा रायपुर में आयोजित अंर्तराष्ट्रीय क्रेता विक्रता प्रदर्शनी में जशपुर जिले के काजू और नाशपाती की मिठास ने अपनी अमिठ छाप छोड़ी है। जशपुर की चाय की खूशबू भी धीरे-धीरे फैलती जा रही है वह दिन दूर नहीं जब यहां की चाय भी अंर्तराष्ट्रीय बाजार में धूम मचाईगी। ज्ञातव्य है कि जशपुर जिले के दुलदुला, कुनकुरी, फरसाबहार, कांसा बेल  और पत्थलगांव में 7800 किसान नाबार्ड की बाड़ी विकास योजना से तथा उतने ही किसान स्वप्रेरणा लगभग 5000 एकड़ में काजू की खेती कर रहे है। नाबार्ड ने जिन 7800 किसानों को लाभांवित किया था। वह सभी लगभग 3400 एकड़ में काजू और 3400 एकड़ में दशहरी आम का रोपण कर अब बढ़े पैमाने पर काजू और आम का उत्पादन करने लगे है। राज्य शासन की मदद से दुलदुला ब्लाॅक के ग्राम रायटोली में काजू प्रोसेसिंग प्लांट भी लगा है। जिसकी उत्पादन क्षमता  रोजाना 1 क्ंिवटल काजू की है। आज से लगभग 5-6 साल पहले लगाए गऐ काजू के पेडो से धीरे धीरे का उत्पादन बढ़ने लगा है। किसानों को अच्छा मार्केट और दाम मिले। इसलिए छत्तीसगढ़ शासन की यह मंशा एमओयू होने से पूरी होती नजर आ रही है। कलेक्टर श्री निलशकुमार महादेव क्षीरसागर ने काजू की प्रोसेसिंग के बाद बचने वाले छिलके से वूडन प्राईमर (लकड़ी का प्राईमर) भी तैयार करने की क्वाईयद में जूट गए है। कलेक्टर ने बताया कि 4 किलो काजू की प्रोसेसिंग से 1 किलो काजू निकलता है। शेष तीन किलो छिलका अभी किसानों के लिए अनुपयोगी है। इससे वूडन फर्नीचर, दरवाजे, खिड़की आदि के लिए प्राईमर का निर्माण किए जाने की तकनीकी के लिए भोपाल की सीआईएआर और त्रिवेन्द्रम की कम्पनी आईसीआईआर से अनुबंध किए जाने की पहल शुरू कर दी गई है। इसका प्लांट भी जशपुर में लगाएगे। उससे किसानों को और फायदा मिलेगा।  जशपुर जिले में नाशपाती के बहुतायत उत्पादन को देखते हुए हर साल 10 हजार क्विंटल नाशपाती किसान नेटवर्क गुरूग्राम को देने का अनुबंध किया गया है। काजू और नाशपती क्रय करने का अनुबंध करने वाली कम्पनियों को अनुबंध मात्रा से ज्यादा भी खरीदने के लिए तैयार है। कलेक्टर ने जिले के किसानों से अपील की है कि वह काजू और नाशपाती की खेती को अधिक पैमाने पर अपनाएं। वर्तमान में लगे काजू और नाशपाती के पेड़ो की बेहतर देखभाल करें ताकि उत्पादन और अधिक हो सके। रायपुर के अंर्तराष्ट्रीय क्रेता’विक्रेता प्रर्दशनी में काजू और नाशपाती को क्रय करने के ओएमयू के दौरान राज्य के कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चैबे तथा पीएचई एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्रीरूद्र गुरू भी मौजूद थे। उन्होंने इसके लिए जिला प्रशासन जशपुर और किसानों को बधाई दी है। जापान की सरताज कम्पनी से अनुबंध के लिए सहयोग ग्रीन प्लस आदिवासी सहकारी समिति दुलदुला के प्रतिनिधि श्री राजेश गुप्ता, सहायक कलेक्टर श्री रवि मित्तल, सहायक संचालक श्री भदौरिया एवं अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे। 
  • छत्तीसगढ़: आज अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस के अवसर पर सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

    रायपुर |आज अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस के अवसर पर सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं! जिस प्रकार से हमारे मन की शांति हमारे मष्तिस्क और शरीर को स्फूर्तिवान बनाती है, ठीक उसी प्रकार हमारे समाज में व्याप्त शांति देश एवं प्रदेश के विकास में मुख्य भूमिका निभाती है। गाँधीमार्ग ही शांतिमार्ग है।

  • मंतूराम के नये खुलासों के बाद रमन में जरा भी नैतिकता बची हो तो राजनीति से सन्यास ले लें - कांग्रेस
    भाजपा रमन सिंह को पार्टी से बर्खास्त करें रायपुर/19 सितंबर 2019। मंतूराम जैसे-जैसे मुंह खोल रहे है भाजपा, रमन सिंह और उनके सहयोगियों के अंतागढ़ षड़यंत्र के नये-नये खुलासे सामने आ रहे है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अंतागढ़ उपचुनाव में नामांकन दाखिल किये 6 निर्दलीय प्रत्योशियों द्वारा किये गये खुलासे कि उन्हें नाम वापसी के लिये 1 करोड़ देने का वायदा किया गया था। इस खुलासे के बाद रमन सिंह और राजेश मूणत में जरा भी नैतिकता बची हो तो वे राजनीति से सन्यास लेकर प्रदेश की जनता से माफी मांगे। अंतागढ़ मामले में भाजपा रमन सिंह के कारनामों से सहमत है या नहीं? यदि भाजपा राजनैतिक दल के रूप में खुद को पाक साफ मानती है तो रमन सिंह को भाजपा से बर्खास्त करें। किसी भी व्यक्ति को चुनाव लड़ने से रोकना चुनावी कदाचरण और प्रजातंत्र के मूल भावना के खिलाफ है। अंतागढ़ उपचुनाव में भाजपा रमन सिंह और उनके सहयोगी अजीत जोगी ने तो तत्कालीन विपक्षी दल के प्रत्याशी को मैदान से हटाने का षड़यंत्र रचा था। मंतूराम के नाम वापसी के बाद से ही सारा देश और प्रदेश यह समझ चुका था यह भाजपा की अलोकतांत्रिक साजिश है और इससे भाजपा को ही फायदा भी होने वाला था और हुआ भी। मंतूराम के बयान और निर्दलीय प्रत्याशियों के खुलासे से यह साबित हो गया अंतागढ़ में लोकतंत्र की हत्या में धन बल के साथ सत्ता बल का भी जमकर दुरूपयोग किया गया। गैर भाजपाई प्रत्याशियों को डराने धमकाने के लिये पुलिस का दुरूपयोग किया गया, उम्मीदवारों को खरीदा गया। अंतागढ़ में नाम वापसी के बाद बाजे गाजे के साथ मंतूराम का भाजपा प्रवेश करवाना, बड़े-बड़े बेनर पोस्टर, स्वागत द्वार बनवाना तथा अनेकों बार मंतूराम का तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह तथा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक के साथ मंच साझा करना इस बात का पुख्ता प्रमाण था कि समूची भाजपा का मंतूराम को संरक्षण था। जब तक मंतूराम सच्चाई नहीं बोल रहा था ठीक था, जैसे उन्होने सच बोला वे गलत हो गये। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अंतागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम के नाम वापसी की घटना सिर्फ एक विधानसभा क्षेत्र या एक उपचुनाव में एक राजनैतिक दल के प्रत्याशी के नाम वापसी की घटना मात्र नहीं थी। यह उस घातक प्रवृत्ति की शुरूआत थी जो देश के प्रजातांत्रिक और चुनाव प्रणाली को नष्ट करने वाला है। धन बल और सत्ता बल के सहारे यदि विपक्ष को चुनाव लड़ने से ही रोक दिया जाने की परंपरा शुरू हो गयी तो देश का लोकतंत्र समाप्त हो जायेगा। अंतागढ़ के दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही होनी चाहिये।
  • अंतागढ़ टेपकांड : मंतूराम पवार का दूसरा खुलासा... रमन सिंह और अजीत जोगी पर लगाए गंभीर आरोप...

    रायपुर। अंतागढ़ टेप कांड मामले में केंद्र बिंदु मंतूराम पवार ने एक बार फिर मीडिया में खुलासा किया है। मंतूराम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर कहा कि इस चुनाव में न सिर्फ मुझ पर बैठने का दबाव बनाया गया था, बल्कि मुझे एनकाउंटर में मार देने की खुली धमकी भी दी गई थी। मंतूराम ने कहा कि मैं अकेला नहीं मेरे अलावा छह प्रत्याशियों पर भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेने का दबाव पिछली सरकार ने बनाया था। पवार ने कहा कि मेरे ही साथ साथ इन छह प्रत्याशियों को भी प्रलोभन और धमकी दोनों देखकर विधायक चुनाव से नाम वापस लेने कहा गया था जिसमें इन 6 प्रत्याशियों को 1 करोड़ रुपए देने की बात कही गई थी, लेकिन इन्हें 50 हज़ार देकर रफा दफा कर दिया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंतूराम ने पूर्व सरकार के मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री के अलावा सूबे के दो अफसरों को भी निशाने में लिया है। मंतूराम ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, अजीत जोगी, पूर्व विधायक अमित जोगी, राजेश मूणत, मुख्यमंत्री सचिवालय से अमन सिंह, ओपी गुप्ता और डॉ पुनीत गुप्ता के नाम से कई खुलासे किए है। इनके साथ ही इस मामले में मंतूराम ने फिरोज सिद्धकी को इस पूरी डील का सबसे अहम क़िरदार बताया है। मंतूराम के साथ पहुंचे प्रत्याशी भीम सिंह उसेंडी, देवनाथ, महादेव उसेंडी, समंदर नेताम, भोजराज नाग और वीरेंद्र कुमार ने कोर्ट में धारा 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराया है। इस बयान में उन्होंने पूरे मामले का जिक्र किया है। इसके अलावा धमतरी में इन सभी 6 प्रत्याशियों ने उक्त लिखित व्यक्तियों के नाम पर अपराध भी दर्ज कराया है।

  • रायपुर : मुख्यमंत्री ने शिक्षक बन सुनाई भौंरा चलाने की कहानी, बच्चों से पूछा दो भौंरा और बच्चे तीन तो कैसे खेेलोगे

    मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज भिलाई में स्कूल शिक्षा विभाग और लैग्वेज लर्निंग फांउडेशन द्वारा आयोजित ‘नींव और भाषा पिटारा’ कार्यक्रम में शिक्षक बनकर बच्चों को ’चलब भौंरा चलाबो’ कहानी सुनाई। उनके कहानी सुनाने का अंदाज बिल्कुल नये लर्निंग आउटकम के तरीकों पर आधारित था। उन्होंने बच्चों से पहले भौंरा के बारे में बताया, फिर कहा कि अगर भौंरा दो और बच्चे तीन हों तो कैसे खेलोगे। ऐसी ही दिक्कत हेमा, भोला और केशव के साथ थी। मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा, बताओं आप होते तो कैसे खेलते, फिर बताया कि पहले दो बच्चे खेलेंगे, जिसका भौंरा पहले गिरेगा वो तीसरे को दे देगा। मुख्यमंत्री ने जब स्वयं भौंरा चलाया तो सभी बच्चे खुशी से झूम उठे।  मुख्यमंत्री आज वैशाली नगर भिलाई के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में नींव और भाषा पिटारा कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने यहां अटल टिंकरिंग लैब के लोकार्पण के साथ ही सोया मिल्क का वितरण शुरू किया। इसके साथ ही नींव कार्यक्रम संबंधित सामग्री और भाषा पिटारा का विमोचन करते हुए नींव कार्यक्रम की कक्षा का अवलोकन किया।

     मुख्यमंत्री श्री बघेल कार्यक्रम के दौरान प्राथमिक शाला के बच्चों को छत्तीसगढ़ी में भौंरा नामक पाठ पढ़ाया और बच्चों के साथ भोंरा चलाने की गतिविधि और किसका भौंरा ज्यादा देर तक टिक पाता है यह सब करते हुए भाषा और गणित को एक साथ कैसे पढ़ाया जाता है इसका एक आदर्श पाठ बच्चों के साथ रोचक तरीके से प्रस्तुत किया। मुख्यमंत्री ने अटल टिंकरिंग लैब का उद्घाटन कर वहां बच्चों से विज्ञान शिक्षण के बारे में बात की और उन्हें विभिन्न प्रयोग करते हुए देखा। इस दौरान राज्य स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी में चयनित बच्चों के साथ चर्चा भी की। इस मौके पर राज्य में विज्ञान शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कबाड़ से जुगाड़ मॉडल का प्रदर्शन और जिले में गणित लैब के लिए तैयार विभिन्न सामग्री का प्रदर्शन भी किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सुरेन्द्र पाण्डेय द्वारा लिखित सचित्र पुस्तक ’चलव भौंरा चलाबो’ का विमोचन भी किया।
    भाषा पिटारा:- भाषा एवं साक्षरता संबंधित चुनौतियों के समाधान और गुणवत्तापरक विकास हेतु एल. एल. एफ द्वारा ‘भाषा पिटारा’ तैयार किया गया है। इस संग्रह में प्रारंभिक भाषा शिक्षण से जुड़े कुल 10 मुख्य विषयों (मौखिक भाषा विकास, ध्वनि जागरुकता, उभरती साक्षरता, शब्द भंडार, डिकोडिंग, पठन और उसकी रणनीतियाँ, पढ़ कर समझना, लेखन सीखना और अकादमिक सहयोग) पर 48 हैण्ड आउट और 4 गतिविधि संग्रह (मौखिक भाषा विकास की गतिविधियां, ध्वनि जागरुकता की गतिविधियां, शब्द भंडार के विकास की गतिविधियाँ, डिकोडिंग सिखाने की गतिविधियां) हैं।
        ‘नींव’ :- अधिगम संवर्धन कार्यक्रम :- यह कार्यक्रम राजीव गाँधी शिक्षा मिशन एवं राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् रायपुर द्वारा लैंग्वेज एंड लर्निंग फाउंडेशन के साथ मिलकर दुर्ग जिले के दो ब्लॉक (पाटन और दुर्ग) के 200 स्कूलों में शुरू किया है, जिससे इस वर्ष के अंत तक 4 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। यह कार्यक्रम वर्ष 2021 तक दुर्ग जिले के लगभग सभी स्कूलों में संचालित किया जाना है, जिससे लगभग 20 हजार बच्चों को लाभ मिलेेगा। कार्यक्रम से बच्चों के हिंदी भाषा विकास और साक्षरता कौशलों में विशेष सुधार होगा। कक्षा 2 के अंत तक बच्चे उभरते हुए ऐसे पाठक के तौर पर आएँगे जो अपने स्तर के पाठ प्रवाहपूर्वक पढ़ सकेंगे और अपने अनुभव के आधार पर उससे अर्थ निर्माण कर पाएंगे। साथ ही अपने अनुभव, विचार, कल्पना, और भाव को वाक्यों में लिखने में सक्षम होंगे।

     
  • रायपुर : मुख्यमंत्री आज 19 सितंबर को भिलाई में नीव और भाषा पिटारा कार्यक्रम का करेंगे शुभारंभ...
    रायपुर । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज 19 सितंबर को सुबह 11.30 बजे रायपुर से कार द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 12 बजे वैशाली नगर भिलाई पहुंचेंगे और वहां शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में नीव और भाषा पिटारा कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे।
  • भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुन्दरनी ने काँग्रेस सरकार पर लगाये दबाव की राजनीति के आरोप
    भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने भाजपा कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कांग्रेस पर बदलापुर की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज हम मीडिया के सामने प्रमाण लेकर आएं हैं - उन्होंने कहा कि कांग्रेस दंतेवाड़ा उपचुनाव को जीतने के लिए भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को परेशान करना डॉ रमन सिंह को टारगेट बनाकर उनसे भयभीत होकर उन्हें कटघरे में खड़ा करना चाहती है - जिसे भारतीय जनता पार्टी और छत्तीसगढ़ की जनता सफल नहीं होने देगी - भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि जिस प्रकार से दो हलफनामे दो अलग-अलग मामलों में आए अंतागढ़ और नान के मामले को लेकर - उन्होंने कहा कि यह मामला खुद डॉक्टर रमन सिंह ने उजागर किया था - डॉ रमन सिंह की सरकार के समय एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा इस मामले को उजागर किया गया था उसी मामले के अभियुक्तों से हलफनामा दिलवाकर कांग्रेस की सरकार भारतीय जनता पार्टी को बदनाम करने की बात कर रही है श्रीचंद सुंदरानी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि कांग्रेस 20 लाख फर्जी राशन कार्ड बनाने की बात कर रही है जबकि विधानसभा में कांग्रेस पार्टी लगातार यह बात करते रहिए की 12 लाख गरीबों के राशन कार्ड भाजपा सरकार ने निरस्त कर दिए और अब अभियुक्त से एफिडेविट करवा कर 20 लाख फर्जी राशन कार्ड अतिरिक्त बनाकर 3000 करोड़ का घोटाला करने की बात की जा रही है जो 4 साल जेल के शिकंजे में रहा और आज भी वह आरोपी है भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने उपरोक्त आरोपों के जवाब में मीडिया के सामने चिंतामणि चंद्राकर के शपथ पत्र का हवाला देते हुए कहां कि सुप्रीम कोर्ट के द्वारा चिंतामणि चंद्राकर की गिरफ्तारी पर रोक के बावजूद उनको गिरफ्तार करके जिस प्रकार से प्रताड़ित करने की बात हलफनामे के माध्यम से सामने आई है किस प्रकार डॉ रमन सिंह के खिलाफ चिंतामणि चंद्राकर से दबाव पूर्वक बयान दिलवाने की कोशिश से यह साबित होता है कि छत्तीसगढ़ में बदले की भावना से कार्य किया जा रहा है , एक परिवार को परेशान करना, दंतेवाड़ा का इलेक्शन जीतना कांग्रेस का एकमात्र उद्देश्य है - क्या भारतीय जनता पार्टी डॉक्टर रमन सिंह को क्लीन चिट दे रही है ? के जवाब में श्रीचंद सुंदरानी ने स्पष्ट किया कि निश्चित रूप से डॉ रमन सिंह पूरी तरह से पाक साफ हैं , उन्हीं के शासनकाल में नान घोटाले का पर्दाफाश हुआ था - कांग्रेस उन तथ्यों को मिटाकर उन आरोपियों से ऐसे बयान दिलवाए जा रहे हैं जिससे डॉ रमन सिंह के ऊपर आंच आए - प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने शंका जाहिर करते हुए कहा कि जिस प्रकार चिंतामणि चंद्राकर से दबाव पूर्वक बयान देने की कोशिश की गई हो सकता है उसी प्रकार अंतागढ़ और नान घोटाले के मामले में वह भी इसी प्रकार से दबाव डालकर दिलवाए गए होंगे - श्रीचंद सुंदरानी से जब पूछा गया कि क्या आप मानते हैं कि सरकार दबाव बनाती है अधिकारियों पर तो उन्होंने कहा की हम क्या मानते हैं एक अधिकारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की रोक लगी है - गिरफ्तारी के लिए उसे बुलाया जाता है एसीबी ऑफिस में, पहले राजनांदगांव ले जाया जाता है - उन्होंने कहा कि चिंतामणि चंद्राकर के शपथ पत्र में इस बात का उल्लेख है कि जिस प्रकार शिव शंकर भट्ट ने हमारी बात मानी है उसी प्रकार आप भी मान जाओ तो कहीं ना कहीं , - उस हलफनामे से यह साबित होता है कि सरकार दबाव डाल रही है - इस सवाल के जवाब के बाद जब भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी से पूछा गया की भारतीय जनता पार्टी के 15 साल के शासनकाल में भी अधिकारियों पर इसी तरह सरकार द्वारा दबाव बनाया जाता रहा होगा तो उन्होंने इसका जवाब नहीं दिया - प्रदेश प्रवक्ता ने मीडिया के सामने कहा कि इस तरह सर कांग्रेस सरकार द्वारा की गई कार्रवाई इस बात को प्रमाणित करती है की पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की गिरफ्तारी का बदला यहां पर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से लिया जा रहा है - जब उनसे पूछा गया कि भारतीय जनता पार्टी ऐसे अधिकारियों के खिलाफ जिन्होंने चिंतामणि चंद्राकर पर दबाव बनाया और धमकी दी कोई कार्यवाही करने की मांग शासन से करेगी तो उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मांग करती है कि ऐसे अधिकारियों को हटाया जाना चाहिए और जांच कराई जानी चाहिए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से छत्तीसगढ़ में बदलापुर की राजनीति चल रही है उसके अनुसार कुछ भी किया जा सकता है कुछ भी संभव है - एक सवाल के जवाब में श्रीचंद सुंदरानी ने स्पष्ट किया कि भारतीय जनता पार्टी के शासन के दौरान किसी भी अधिकारी पर कोई भी दबाव की कार्रवाई नहीं की गई थी - अब देखने वाली बात यह है शपथ पत्रों के इस खेल में कौन सी पार्टी किस पर हावी होती है - सीजी 24 न्यूज़
  • पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री सिंहदेव ने निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के दिए निर्देश
    रायपुर. 17 सितम्बर 2019. पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस सिंहदेव ने आज विभागीय कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करते हुए सभी कार्यों को समय-सीमा के भीतर पूर्ण करें। श्री सिंहदेव ने आज जगदलपुर में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने इन योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को जरूरी निर्देश भी दिए। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री सिंहदेव ने बैठक में नरवा, गरवा, घुरवा, बारी योजना की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का ड्रीम-प्रोजेक्ट है। यह योजना वास्तव में ग्रामीण अर्थव्यवस्था का मजबूत आधार है। यदि इस योजना को पूरी लगन और ईमानदारी से लागू किया जाता है, तो यह पूरे देश के लिए आदर्श उदाहरण हो सकता है। उन्होंने बस्तर जिले में नरवा, गरवा, घुरवा, बारी पर किए जा रहे कार्यों पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने गौठानों में पशुओं के लिए पर्याप्त चारे की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। श्री सिंहदेव ने कहा कि नैपियर घास को तैयार होने में लगभग तीन महीने का समय लगता है। इसलिए जब तक यह घास तैयार नहीं होती, तब तक वैकल्पिक चारे की व्यवस्था हर गौठान में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गौठानों में चरवाहे की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। चरवाहों को मानदेय के साथ गौठानों की अन्य आर्थिक गतिविधियों से भी जोड़ा जाए। श्री सिंहदेव ने बैठक में कहा कि सभी पात्र परिवारों को वनाधिकार मान्यता पत्र मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि वनाधिकार मान्यता पत्र प्राप्त परिवारों को मनरेगा से जोड़कर रोजगार उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत गठित महिला स्वसहायता समूहों की महिलाओं को आर्थिक गतिविधियों से जोड़ने के निर्देश दिए। उन्होंने जिले में चल रहे निर्माण कार्यों, आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा मुख्यमंत्री सड़क योजना के तहत स्वीकृत कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में कलेक्टर डॉ. अय्याज तम्बोली और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री इन्द्रजीत चन्द्रवाल सहित बस्तर जिले के सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
  • राज्यपाल अनुसुईया उइके ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जन्मदिन की दी बधाई…

    रायपुर। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन है इस अवसर पर छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने उनके जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है.राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारा देश सभी क्षेत्रों में उत्तरोत्तर प्रगति कर रहा है. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवन की कामना की है.

  • रायपुर : मुख्यमंत्री ने जयंती पर स्वर्गीय वामनराव लाखे के योगदान को याद किया...

    रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वर्गीय पंडित वामनराव लाखे की आज जयंती पर उनके अमूल्य योगदान को याद करते हुए नमन किया।  बघेल ने कहा कि  लाखे के सहकारिता के क्षेत्र में किये गये प्रयासों का परिणाम है कि आज प्रदेश में लाखों किसान सहकारिता के माध्यम से लाभान्वित हो रहे हैं।  लाखे के प्रयासों से ही रायपुर में प्रथम सहकारी बैंक की स्थापना हुई। किसानों की आर्थिक सुद्ढ़ता के लिए  लाखे जीवन पर्यन्त सहकारी संगठनों की मजबूती के लिए कार्य करते रहे।  बघेल ने कहा कि  लाखे ने छत्तीसगढ़ में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान जनजागरण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और कई आंदोलनों का नेतृत्व किया।  लाखे की निस्वार्थ सेवा भावना और कर्मठ व्यक्तित्व सदा प्रेरणादायी रहेगा।  

     
  • रायपुर : मुख्यमंत्री ने पुण्यतिथि पर बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल को किया नमन...

     रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल की 18 सितम्बर को पुण्यतिथि पर नमन कर श्रद्धांजलि अर्पित की । बघेल ने कहा कि बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वे सिद्धहस्त लेखक,पत्रकार,संगीतज्ञ,कर्मठ नेता और स्वाधीनता संग्राम के सच्चे सेनानी थे। छत्तीसगढ़ में स्वाधीनता आंदोलन के समय बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल ने ‘सेवा समिति‘ के माध्यम से युवकों को संगठित किया। युवाओं में राष्ट्रीयता की भावना जागृत कर स्वतंत्रता आंदोलनों से जोड़ने में बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कानून की उच्च शिक्षा प्राप्त की लेकिन महात्मा गांधी के आह्वान पर वकालत छोड़कर असहयोग आंदोलन को मजबूत करने में लग गए। बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल ने सविनय अवज्ञा आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और संविधान सभा के सदस्य भी रहे।

  • सीएम भूपेश बघेल ने विश्वकर्मा जयंती पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं...

    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज मंगलवार को भगवान विश्वकर्मा जयंती पर प्रदेशवासियों एवं श्रमवीरों को शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट कर अपने शुभकामना संदेश में लिखा कि सृजन के देवता एवं वास्तुकला के अद्वितीय आचार्य भगवान विश्वकर्मा की जयंती पर प्रदेशवासियों एवं श्रमवीरों को हार्दिक शुभकामनाएं। आज समाज का सुव्यवस्थित, सुरक्षित स्वरूप भगवान विश्वकर्मा की ही देन है। श्रमवीरों की सक्रिय भूमिका से ही नवा छत्तीसगढ़ का निर्माण होगा।