Top Story
  • *बड़ी खबर-*  पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के मुख्य सचिव रहे अमन सिंह के द्वारा किये गये भ्रष्टाचार की शिकायत के सम्बंध में बुलावा -
    छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी को रेणु पिल्ले,प्रमुख सचिव, कौशल विकास,तकनिकी शिक्षा एवं रोजगार विकास ने पत्र भेजकर दिनांक 7 अगस्त को 12:00 बजे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के मुख्य सचिव रहे अमन सिंह के द्वारा किये गये भ्रष्टाचार के शिकायत सम्बंध में जानकारी देने हेतु बुलाया गया है।ज्ञात हो कि प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह के विरुद्ध करोड़ो की संपत्ति अर्जित करने की शिकायत मुख्य सचिव सुनील कुजूर से की थी जिसके बाद शासन ने पत्र जारी कर कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी को मंत्रालय बुलवाया है।शासन के पत्र प्राप्ति के बाद प्रवक्ता विकास तिवारी ने बताया है कि आने वाले समय मे इस प्रकार में बेहद चौकाने वाले खुलासे होंगे।
  •  मुख्यमंत्री आज बिलासपुर और दुर्ग जिले के दौरे पर रहेंगे...स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होंगे...

    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एक अगस्त को बिलासपुर और दुर्ग जिले के भ्रमण पर रहेंगे। निर्धारित दौरा कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री सवेरे 11.30 बजे रायपुर से हेलीकॉप्टर द्वारा रवाना होकर दोपहर 12 बजे बिलासपुर जिले के तहसील तखतपुर के ग्राम गनियारी पहुचेंगे । वे गनियारी में ग्रामीण औद्योगिक संस्थान और मल्टी स्किल सेन्टर का लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री बघेल ग्राम गनियारी से कार से रवाना होकर दोपहर 1 बजे ग्राम नेवरा पहुचेंगे और वहां गौठान का लोकार्पण कर हरेली त्यौहार कार्यक्रम में शामिल होंगे। कार्यक्रम के बाद वे वापस ग्राम गनियारी जाएंगे और वहां से हेलीकॉप्टर से रवाना होकर दोपहर 3 बजे दुर्ग जिले के पाटन तहसील के ग्राम पाहंदा पहुचेंगे । मुख्यमंत्री ग्राम पाहंदा में गौठान का लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होने के बाद शाम 4.40 बजे रायपुर लौट आएंगे। इसके बाद वे शाम 6 बजे तेलीबांधा तालाब पहुचेंगे और स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होंगे। 

  • हरेली पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने परंपरागत रूप से मनाया हरेली त्यौहार
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा छत्तीसगढ़ में हरेली तीजा पोला जैसे त्योहारों पर छुट्टी की घोषणा के बाद पहले हरेली त्यौहार के अवसर पर आज गेड़ी चढ़कर छत्तीसगढ़िया ताज पहनकर हरेली त्यौहार मनाया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस नए अंदाज को ने बहुत पसंद किया लोगों में इस बात को लेकर हर्ष है कि प्रदेश में पहली बार छत्तीसगढ़िया मुख्यमंत्री बना है और छत्तीसगढ़िया परंपरा को आगे बढ़ाया जा रहा है
  • यह मात्र तस्वीरें नहीं सच्चाई है जो अधिकारियों की कार्यप्रणाली दर्शाती हैं
    छत्तीसगढ़ की राजधानी होने के बावजूद रायपुर स्मार्ट सिटी इन नहीं बन पाया - केंद्र सरकार ने स्मार्ट सिटी के अनेक प्रोजेक्ट बनाकर छत्तीसगढ़ सरकार को उसे अमल में लाकर रायपुर को शानदार सुंदर और स्मार्ट बनाने की कोशिशें की - परंतु सभी योजनाएं कागजों तक ही सीमित रह गई या यूं कहें कि अधिकारियों की लापरवाही की भेंट चढ़कर परवान नहीं चढ़ सकी - हम समय-समय पर अनेकों बार स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, विद्युत विभाग सहित संबंधित अन्य सभी विभागों को प्रमाण उपलब्ध कराकर जागरूक करने की कोशिश करते रहते हैं, परंतु हर विभाग के अधिकारी सिर्फ और सिर्फ खानापूर्ति करके इतिश्री करते रहे हैं - यह तस्वीरें यह बताने के लिए प्रमाणित हैं कि शहर, राजधानी और रायपुर स्मार्ट नहीं बन पाया है - स्मार्ट बन पाए हैं तो सिर्फ अधिकारी और अधिकारियों के बंगले और उनका रहन-सहन - हम समय-समय पर इस तरह की तस्वीरें लगातार उपलब्ध कराकर अधिकारियों को जगाने का प्रयास करते रहेंगे - आम नागरिकों से हमारा आग्रह है कि आप के आस पास किसी भी विभाग की कोई भी गलती - भ्रष्टाचार - गुणवत्ता में कमी का कार्य नजर आए तो उसकी तस्वीरें खींचकर हमें हमारे व्हाट्सएप नंबर 93010 94242 में भेजें एवं कॉल करें -
  • रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मध्य क्षेत्रीय परिषद के उपाध्यक्ष बने,1 साल का होगा कार्यकाल,गृह मंत्रालय ने जारी की सूचना...

    रायपुर।  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मध्य क्षेत्रीय परिषद के उपाध्यक्ष बनाए गए है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अन्तर्राज्य परिषद सचिवालय द्वारा जारी सूचना के अनुसार श्री बघेल का उपाध्यक्ष का उनका यह कार्यकाल आगामी एक साल के लिए होगा। उल्लेखनीय हैं कि राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 के तहत उत्तर, मध्य, दक्षिण, पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्रीय परिषदों का गठन किया गया है। वर्तमान में मध्य क्षेत्रीय परिषद में छत्तीसगढ़ के अलावा उत्तप्रदेश, उत्तराखण्ड और मध्यप्रदेश राज्य शामिल है। केन्द्रीय गृह मंत्री सभी क्षेत्रीय परिषद के अध्यक्ष होते है। प्रत्येक क्षेत्रीय परिषद में शामिल राज्य के मुख्यमंत्री को रोटेशन में परिषद का उपाध्यक्ष बनाया जाता है। जिनका कार्यकाल एक वर्ष का होता है। 
     

  • भूत भगाने बैगा ने उतरवाए महिला के कपड़े,1500 रुपए का जुर्माना,13 साल की सजा..

    दुर्ग। प्रेत बाधा का झांसा देकर तंत्र क्रिया की आड़ में महिला की आबरू लूटने वाले बैगा को न्यायालय ने 13 साल कठोर कैद की सजा सुनाई है। दोषी बैगा दीपचंद्र (58) ने तंत्र क्रिया के नाम पर अपने गलत इरादे को अंजाम देने का पूरा प्लान बनाया। सिर दर्द से परेशान महिला व उसके परिजन उसकी बातों में आ गए। बैगा ने महिला के सिर दर्द को प्रेत बाधा बताया। तांत्रिक क्रिया के बहाने महिला को गांव से बाहर ले गया। वहां पूजा कर महिला को खाने के लिए प्रसाद दिया। जिसे खाने के बाद महिला बेहोश हो गई और बैगा ने उसकी इज्जत लूट ली। इस मामले में फैसला न्यायाधीश मधु तिवारी के न्यायालय में सुनाया गया। न्यायालय ने दुष्कर्म की धारा के तहत 10 साल कठोर कैद और जान से मारने की धमकी देने पर 3 साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। दोषी बैगा पर 1500 रुपए का जुर्माना भी लगाया। जुर्माना अदा न करने पर 4 माह अतिरिक्त सश्रम कारावास भुगतना पड़ेगी।

  • मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ गंभीर धाराओं के अंतर्गत दिल्ली में जुर्म दर्ज !
    मध्य प्रदेश सरकार की फेसबुक वॉल बदलता मध्यप्रदेश में विगत दिनों मुख्यमंत्री कमलनाथ की फोटो के साथ गुरु गोविंद सिंह जी की वाणी के शब्दों को लिखने से सिख समाज आक्रोशित है - इसके विरोध में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके एवं पूर्व उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह भोगल ने नई दिल्ली के थाना नार्थ एवन्यू लिखित शिकायत कर FIR करवाई थी -जिसके उपरांत प्रदेश की राजनीति में उथल पुथल मच गई है , - सिख धर्म के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी की पवित्र वाणी के साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ का फोटो लगाकर और उसमें मुख्यमंत्री का नाम जोड़ कर प्रचारित करने से सिख धर्म की भावनाएं आहत हुई हैं - मामले की गंभीरता को समझते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल की आईटी सेल द्वारा एसपी को पत्र लिखकर इस पर कार्रवाई करने की मांग की गई - वहीं दूसरी तरफ एक जानकारी के अनुसार दिल्ली के थाना में मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत जुर्म दर्ज कर लिया गया है , क्योंकि उसकी कॉपी अभी हमें उपलब्ध नहीं है इसलिए हम इसे प्रमाणिकता के साथ नहीं कह सकते - सिखों के दसवें गुरु के साथ बराबरी करने का आरोप लगाते हुए जबलपुर सिक्ख समाज के विभिन्न संगठनों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की है - इस मामले में अन्य प्रदेशों में भी सिख समाज आक्रोशित होकर धरना प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहा है - मामले की गंभीरता को समझते हुए मध्य प्रदेश पुलिस ने उज्जैन निवासी शरद शर्मा को इस मामले में गिरफ्तार कर मामले को ठंडा करने का प्रयास किया है , परंतु उसके खिलाफ कोई गंभीर धाराएं ना लगने से सिखों का गुस्सा शांत नहीं हुआ है - यहां विचार करने वाली बात यह भी है कि जब मध्य प्रदेश सरकार की आईटी सेल ने स्पष्ट कर दिया है कि फेसबुक वॉल पर डाली गई फोटो और मैटर किसी अधिकृत व्यक्ति ने नहीं डाली है तो इस अनजान व्यक्ति ने मध्य प्रदेश सरकार की *बदलता मध्य प्रदेश* नाम से बनी फेसबुक वालों का आईडी पासवर्ड कैसे हासिल कर लिया - अगर शरद शर्मा नामक व्यक्ति ने मध्य प्रदेश सरकार की वह भी मुख्यमंत्री के लिए बने फेसबुक पेज में इस तरह के पोस्ट डाले हैं तो मध्य प्रदेश सरकार का आईटी सेल क्या कर रहा था ? क्यों उसने पहले ही उस पर एक्शन नहीं लिया ? - अब देखने वाली बात यह है की मध्य प्रदेश प्रदेश सरकार के मुखिया कमलनाथ और सिख समाज के बीच यह लड़ाई किस रूप में समाप्त होती है |
  • मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ गंभीर धाराओं के अंतर्गत दिल्ली में जुर्म दर्ज !
    मध्य प्रदेश सरकार की फेसबुक वॉल बदलता मध्यप्रदेश में विगत दिनों मुख्यमंत्री कमलनाथ की फोटो के साथ गुरु गोविंद सिंह जी की वाणी के शब्दों को लिखने से सिख समाज आक्रोशित है - इसके विरोध में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके एवं ने लिखित शिकायत कर FIR करवाई थी -जिसके उपरांत प्रदेश की राजनीति में उथल पुथल मच गई है , - सिख धर्म के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी की पवित्र वाणी के साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ का फोटो लगाकर और उसमें मुख्यमंत्री का नाम जोड़ कर प्रचारित करने से सिख धर्म की भावनाएं आहत हुई हैं - मामले की गंभीरता को समझते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल की आईटी सेल द्वारा एसपी को पत्र लिखकर इस पर कार्रवाई करने की मांग की गई - वहीं दूसरी तरफ एक जानकारी के अनुसार दिल्ली के थाना में मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत जुर्म दर्ज कर लिया गया है , क्योंकि उसकी कॉपी अभी हमें उपलब्ध नहीं है इसलिए हम इसे प्रमाणिकता के साथ नहीं कह सकते - सिखों के दसवें गुरु के साथ बराबरी करने का आरोप लगाते हुए जबलपुर सिक्ख समाज के विभिन्न संगठनों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की है - इस मामले में अन्य प्रदेशों में भी सिख समाज आक्रोशित होकर धरना प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहा है - मामले की गंभीरता को समझते हुए मध्य प्रदेश पुलिस ने उज्जैन निवासी शरद शर्मा को इस मामले में गिरफ्तार कर मामले को ठंडा करने का प्रयास किया है , परंतु उसके खिलाफ कोई गंभीर धाराएं ना लगने से सिखों का गुस्सा शांत नहीं हुआ है - यहां विचार करने वाली बात यह भी है कि जब मध्य प्रदेश सरकार की आईटी सेल ने स्पष्ट कर दिया है कि फेसबुक वॉल पर डाली गई फोटो और मैटर किसी अधिकृत व्यक्ति ने नहीं डाली है तो इस अनजान व्यक्ति ने मध्य प्रदेश सरकार की *बदलता मध्य प्रदेश* नाम से बनी फेसबुक वालों का आईडी पासवर्ड कैसे हासिल कर लिया - अगर शरद शर्मा नामक व्यक्ति ने मध्य प्रदेश सरकार की वह भी मुख्यमंत्री के लिए बने फेसबुक पेज में इस तरह के पोस्ट डाले हैं तो मध्य प्रदेश सरकार का आईटी सेल क्या कर रहा था ? क्यों उसने पहले ही उस पर एक्शन नहीं लिया ? - अब देखने वाली बात यह है की मध्य प्रदेश प्रदेश सरकार के मुखिया कमलनाथ और सिख समाज के बीच यह लड़ाई किस रूप में समाप्त होती है |
  • मशहूर कवि माखनलाल चतुर्वेदी के बिलासपुर जेल में बने स्मारक मामले ने तूल पकड़ा
    प्रख्यात लेखक, कवि, साहित्यकार, पत्रकार एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी माखनलाल चतुर्वेदी के बिलासपुर जेल में बने स्मारक मामले ने तूल पकड़ लिया है न्याय धानी बिलासपुर के महापौर किशोर राय ने मुख्यमंत्री को दिए पत्र में उनके स्मारक को तोड़कर उसकी जगह भवन बनाए जाने का विरोध करते हुए पुनः पुराने स्वरूप को स्थापित करने की मांग की है सीजी 24 न्यूज़ चैनल की टीम से चर्चा में उन्होंने बताया कि अखबारों में छपी खबर के आधार पर उन्होंने मुख्यमंत्री से शिकायत की है , जब हमने यह जानना चाहा कि क्या आपने स्थल निरीक्षण किया है ? तो उन्होंने स्पष्ट कहा कि नहीं मैंने स्थल निरीक्षण नहीं किया है परंतु अखबार में छपी खबर और फोटो से यह लगता है कि स्मारक को तोड़ा गया है - वहीं दूसरी तरफ जब हमारी टीम ने जेल अधीक्षक से इस बारे में उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि माखनलाल चतुर्वेदी जी के शिलालेख के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है और ना ही उसे तोड़ा गया है - उन्होंने महापौर किशोर राय के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया - अब ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है किस शहर के प्रथम नागरिक भारतीय जनता पार्टी के महापौर किशोर राय ने बिना स्थल निरीक्षण के मुख्यमंत्री के नाम पत्र कैसे लिख दिया - CG 24 News - Mannu Manikpuri
  • मशहूर कवि माखनलाल चतुर्वेदी के बिलासपुर जेल में बने स्मारक मामले ने तूल पकड़ा
    प्रख्यात लेखक, कवि, साहित्यकार, पत्रकार एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी माखनलाल चतुर्वेदी के बिलासपुर जेल में बने स्मारक मामले ने तूल पकड़ लिया है न्याय धानी बिलासपुर के महापौर किशोर राय ने मुख्यमंत्री को दिए पत्र में उनके स्मारक को तोड़कर उसकी जगह भवन बनाए जाने का विरोध करते हुए पुनः पुराने स्वरूप को स्थापित करने की मांग की है सीजी 24 न्यूज़ चैनल की टीम से चर्चा में उन्होंने बताया कि अखबारों में छपी खबर के आधार पर उन्होंने मुख्यमंत्री से शिकायत की है , जब हमने यह जानना चाहा कि क्या आपने स्थल निरीक्षण किया है ? तो उन्होंने स्पष्ट कहा कि नहीं मैंने स्थल निरीक्षण नहीं किया है परंतु अखबार में छपी खबर और फोटो से यह लगता है कि स्मारक को तोड़ा गया है - वहीं दूसरी तरफ जब हमारी टीम ने जेल अधीक्षक से इस बारे में उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि माखनलाल चतुर्वेदी जी के शिलालेख के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है और ना ही उसे तोड़ा गया है - उन्होंने महापौर किशोर राय के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया - अब ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है किस शहर के प्रथम नागरिक भारतीय जनता पार्टी के महापौर किशोर राय ने बिना स्थल निरीक्षण के मुख्यमंत्री के नाम पत्र कैसे लिख दिया - CG 24 News - Mannu Manikpuri
  • हाईकोर्ट के नए अतिरिक्त महाधिवक्ता होंगे विवेक रंजन तिवारी, राज्य शासन ने जारी किया आदेश...

    बिलासपुर। विवेक रंजन को राज्य सरकार ने अतिरिक्त महाधिवक्ता नियुक्त किया है। विवेक रंजन वर्तमान में हाईकोर्ट बिलासपुर के अधिवक्ता है। बता दें कि सतीश चंद्र वर्मा को अतिरिक्त महाधिवक्ता से महाधिवक्ता के पद पर नियुक्त किया गया था जिसके बाद से ही अतिरिक्त महाधिवक्ता का पद रिक्त था। राज्य सरकार  ने विवके रंजन तिवारी को अतिरिक्त महाधिवक्ता पद के रूप में नियुक्त किया गया।  

  • राहुल गांधी से मुलाकात की प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने
    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आज दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की - इस दौरान उनके साथ प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया भी रहे - एक जानकारी के अनुसार मोहन मरकाम प्रदेश के ताजा हालातों सहित पार्टी की गतिविधियों की जानकारी राहुल गांधी को देंगे, साथ ही वे प्रदेश में होने वाले उपचुनाव के बारे में चर्चा कर सकते हैं, इसके साथ ही प्रदेश में सरकार बनाने के बाद निगम, मंडलों एवं आयोगों में नियुक्ति के लिए नामों पर घोषणा के बारे में चर्चा कर सकते हैं - प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम की राहुल गांधी से यह अहम बैठक है , जिसके बाद राजधानी आने पर उनके द्वारा अनेक बड़ी घोषणाएं हो सकती हैं जिसका सभी को इंतजार है -