State News
  • दूध के दाम पर छत्तीसगढ़ी गाय का गोमूत्र खरीदेगी ये कंपनी...किसान को दिया एडवांस

    बेमेतरा। छत्तीसगढ़( chhattisgarh) के किसानों को अब बड़ी उपलब्धि मिलेगी। जापान की एक जैविक खाद कीटनाशक कंपनी गौमूत्र खरीदने जा रही है।

    जापानी कंपनी ने 1 लाख लीटर गौमूत्र का एडवांस( advance) भी दे दिया है। इस व्यापार के लिए जापानी कंपनी ने किसान से एग्रीमेंट किया। पहले चरण मे कंपनी 20 हजार लीटर गौमूत्र ले जायेंगी। छत्तीसगढ़ सरकार भी 4 रु. लीटर में गौमूत्र ले रही है। नवागढ़ के एक किसान से 50 रु लीटर में गौमूत्र लेंगे।

    छत्तीसगढ़ की देशी प्रजाति की कोसली गाय का गोमूत्र

    छत्तीसगढ़ की देशी प्रजाति की कोसली गाय का गोमूत्र, दूध के दाम पर बिकेगा। जापान की जैविक खाद व कीटनाशक कंपनी टाऊ एग्रो ने बेमेतरा के नवागढ़ गांव के युवा किसान किशोर राजपूत से 50 रुपये लीटर की दर पर एक लाख लीटर गोमूत्र खरीदने का सौदा किया है।

  • Accident News : ट्रक ने बाइक सवार जीजा-साले को रौंदा, एक की मौत

    दंतेवाड़ा। जिले में दर्दनाक सड़क ( road accident)हादसा हुआ है। एक ट्रक ने बाइक सवार युवक को कुचल दिया है। जिससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई है। हादसा कतियाररास के रेलवे अंडर ब्रिज के नजदीक हुआ है। हादसे के बाद ट्रक चालक( truck driver) मौके से फरार हो गया है। वहीं एक अन्य युवक भी गंभीर रूप से घायल है। मामला सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

    जानकारी के मुताबिक, बीजापुर जिले के कुटरू कुम्हारपारा का रहने वाला युवक लच्छू मरकाम (25) अपने जीजा के साथ बाइक से दंतेवाड़ा आया हुआ था। जिला मुख्यालय से फिर किसी गांव जा रहा था। इस बीच कतियाररास में रेलवे अंडर ब्रिज के पास मोड़ में ट्रक से टक्कर हो गई। युवक का सिर ट्रक के पिछले टायर के नीचे आ गया। वहीं दूसरा युवक टक्कर के बाद दूर फेंका गया।

    ट्रक चालक मौके से फरार ( truck) 

    हादसे के बाद ट्रक चालक ट्रक को वहीं छोड़ मौके से फरार हो गया। वहीं इस मार्ग से गुजर रहे राहगीरों ने घायल को फौरन दंतेवाड़ा जिला अस्पताल पहुंचाया। फिर, इस मामले की सूचना दंतेवाड़ा पुलिस को दी गई मौके पर पहुंची पुलिस ने मृत युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाया है।

  • भिलाई इस्पात संयंत्र में ठेका श्रमिक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, घंटों बाद पहुंची पुलिस

    भिलाई। Bhilai News: छत्‍तीसगढ़ के भिलाई इस्पात संयंत्र के कोक ओवन क्रमांक 8 क्षेत्र में शुक्रवार को एक ठेका श्रमिक ने फांसी लगा ली। घटना की जानकारी लगने के बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई परंतु दोपहर 1:30 के करीब भट्टी पुलिस पहुंची और जांच के बाद शव को फंदे से उतारा गया। मृतक ने अपने ही कपड़े से फंदा बनाया था।

    भिलाई इस्पात संयंत्र के कोक ओवन बैटरी क्रमांक 8 के पास ही एक खंडहर नुमा भवन है, जिसका उपयोग कर्मचारी कपड़ा बदलने के लिए करते हैं। जानकारी के मुताबिक ठेका एजेंसी विनय इंडिया कंपनी का कर्मचारी मोहनलाल 37 वर्ष निवासी जोरातराई आज सामान्य पाली में सुबह 8 बजे के करीब ड्यूटी पर पहुंचा। वह सीधे कार्यस्थल जाने की बजाए इस खंडहर भवन में पहुंच गया।
    खबरों के अनुसार करीब 9 बजे इस खंडहर में उक्त ठेका श्रमिक का शव फंदे पर लटकता मिला। युवक ने खंडहर में लगे एक हुक में ही अपने कपड़े से फांसी लगा ली थी। इसकी जानकारी लगने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इसकी सूचना आला अधिकारियों को तथा ठेका एजेंसी के अधिकारियों को भी दी गई। मौके पर मौजूद लोगों ने भट्टी थाने में भी फोन कर इसकी सूचना दी।
    बताया जाता है कि सूचना के बावजूद भट्टी थाने से 1 बजे तक पुलिस घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाई थी। इसे लेकर कर्मचारियों में आक्रोश की स्थिति बन गई थी। कर्मचारियों का कहना था कि सूचना के बावजूद अब तक पुलिस नहीं पहुंची है जबकि शव सुबह से ही फंदे पर लटकी हुई है।
    कर्मचारियों के आक्रोश को देखते हुए मौके पर सीआइएसएफ के जवानों ने घेराबंदी कर दी और किसी को भी घटनास्थल पर जाने नहीं दिया जा रहा था। दोपहर 1:30 बजे के करीब भट्टी थाना से पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और इसके बाद वहां आवश्यक जांच कार्रवाई करते हुए शव को उतारा। आत्महत्या के कारण अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है वहीं मृत ठेका श्रमिक के परिजनों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। भट्टी पुलिस का कहना है कि मामले में जांच के बाद ही कुछ ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।
  • मंत्री सिंहदेव ने कहा- सीएम भूपेश बघेल ने हसदेव अरण्य में तीन कोल ब्लाक को अनुमति देने से कर दिया है इन्कार

    अंबिकापुर। हसदेव अरण्य में कोल ब्लाक के विरोध के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन प्रस्तावित कोयला खदानों पर रोक लगा दी है। जन भावनाओं को देखते हुए हसदेव अरण्य क्षेत्र के परसा कोल ब्लाक (हरिहरपुर - फतेहपुर), केते एक्सटेंशन तथा पेंडरखी कोल ब्लाक से कोयला खनन की अनुमति नहीं देने की सहमति मुख्यमंत्री ने दी है।

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा के बाद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने शुक्रवार को अंबिकापुर में पत्रकारों से चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने बताया कि परसा ईस्ट केते बासेन(पीईकेबी) कोल ब्लाक से द्वितीय चरण के कोयला उत्खनन के लिए ग्रामीणों में ही एक राय नहीं है। इसलिए वे तटस्थ है। किसी एक का समर्थन करना न्यायसंगत नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने बताया कि प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों ,जनप्रतिनिधियों से चर्चा के बाद शुक्रवार को ही उन्होंने प्रस्तावित नई कोयला खदानों को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा की। मुख्यमंत्री ने सहमति दे दी है कि हसदेव अरण्य के सरगुजा क्षेत्र की तीनों खदानों को नहीं खोला जाएगा। सिंहदेव ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री ने बातचीत के आधार पर लिए गए निर्णय से स्थानीय मीडिया को भी अवगत कराने की बात कही इसलिए वे इसे साझा कर रहे है।

    पेड़ों की हटाई नहीं होगी

    मुख्यमंत्री द्वारा तीन प्रस्तावित खदान को नहीं खोलने की सहमति देने के बाद उस क्षेत्र में पेड़ों की कटाई नहीं होगी। परसा कोल ब्लॉक(फतेहपुर,हरिहरपुर ) को लेकर ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए राजस्थान राज्य ताप विद्युत परियोजना को आबंटित परसा ईस्ट केते बासेन(पीईकेबी) के दूसरे चरण का कार्य आरंभ नहीं हो सका था। पहले चरण का कोयला उत्खनन के बाद काम बंद हो चुका है। इस खदान को लेकर भी ग्रामीण अब विरोध करने लगे थे। पूर्व में आरंभ हो चुके पीईकेबी कोयला खदान के द्वितीय चरण के काम को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस पर कोई चर्चा नहीं हुई है।

    कई लोगों की गई नौकरी

    पूर्व से संचालित खदान में काम बंद होने से कई लोगों की नौकरी चली गई है। इसके लिए प्रभावित परिवार उन्हें(टीएस सिंहदेव) को दोषी मानते हैं। इस खदान को लेकर ग्रामीणों की एक राय भी नहीं है। खदान के समर्थन और विरोध दोनों में लोग खड़े हैं। यहां 90 लोगों को मुआवजा मिलना है। इनमें से 30 लोगों ने मुआवजा ले लिया है। खदान का दायरा बढ़ेगा या नहीं इस पर उन्होंने कोई टिप्पणी नहीं की। सिंहदेव ने कहा कि गांव वाले ही जब एक साथ नहीं है तो किसी एक पक्ष के साथ मेरी उपस्थिति भी नहीं है लेकिन उक्त खदान से जो विस्थापित हुए,जिन्होंने मुआवजा लिया,जो पहले नौकरी करते थे ,वे तो चाहेंगे कि खदान का काम आरंभ हो।

    गांव वालों की एकजुटता से अमेरा खदान का नहीं हो सका विस्तार

    स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि एसईसीएल विश्रामपुर क्षेत्र के अमेरा खुली खदान का विस्तारीकरण सिर्फ इसलिए नहीं हो सका कि अमेरा से लगे कटकोना और परसोढ़ी के ग्रामीणों ने खदान न खुलने देने एक साथ रहे।सभी की एक राय थी इसलिए वहां खदान का विस्तार नहीं हो सका।

    यह है कोल ब्लाक की स्थिति

    परसा कोल ब्लाक: इसके दायरे में फतेहपुर और हरिहरपुर ग्राम आ रहे है। कोल ब्लाक आबंटन के विरुद्ध मार्च महीने से ग्रामीणों का धरना चल रहा है। गांव वालों द्वारा फर्जी ग्राम सभा से अनुमति का आरोप लगाया जाता है। मुख्यमंत्री ने इसी कोल ब्लाक के फारेस्ट क्लीयरेंस को रद करने सहमति दी है।

  • बिलासपुर के चर्चित विराट अपहरण मामले के दोषियों को आज कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई
    बालक विराट की बड़ी मां नीता सराफ ने अपहरण की साजिश परिचित अनिल सिंह के साथ मिलकर रची थी शुक्रवार को प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सुनील कुमार जायसवाल ने य़ह फैसला सुनाया मन्नू मानिकपुरी संवाददाता/ बिलासपुर के चर्चित विराट अपहरण मामले के दोषियों को आज कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई. अपहरण मामले के तीन साल बाद फैसला आया है। जिसमें 5 आरोपियों को सजा सुनाई गई है। अप्रैल 2019 में बिलासपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र के रहने वाले व्यापारी विवेक सराफ के 5 वर्षीय बेटे विराट सराफ का अज्ञात अपहरणकर्ताओं ने अपहरण कर लिया था. और 6 करोड़ की फिरौती मांगी। 5 दिन के अथक प्रयास के बाद मध्यरात्रि में रायपुर से टीम के आईजी प्रदीप गुप्ता, एसपी अभिषेक मीणा, एसएचओ कलीम खान, नसर सिद्दकी सहित अन्य पुलिसकर्मी सिविल लाइन क्षेत्र के मिनी बस्ती स्थित अपहर्ताओं के घर में घुसे. बरामद किया गया था। जिसके बाद अपहरण में शामिल 5 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया. जिसमें सबसे खास बात यह निकली कि विराट की बड़ी मां नीता सराफ ने अपहरणकर्ताओं के साथ मिलकर यह साजिश रची थी. उन्हें पता था कि विराट के पिता विवेक सराफ को जमीन की भारी भरकम रकम मिलने वाली है। अपहरण की गुत्थी सुलझाने के बाद अपहरणकर्ता पकड़े गए तो तत्कालीन डीजीपी डीएम अवस्थी खुद बिलासपुर पहुंचे और बिलासपुर पुलिस टीम के कप्तान और उनकी पूरी टीम को थपथपाया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी बिलासपुर पहुंचे और विराट से मुलाकात की और उनके हौसले की तारीफ करते हुए बिलासपुर पुलिस की तारीफ की थी मामले के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ये सभी जेल में बंद थे. तीन साल तक चले मुकदमे में 54 गवाहों के बयान अदालत के समक्ष दर्ज किए गए। मामले में सरकार की ओर से सरकारी वकील विनोद यादव मामले की पैरवी कर रहे थे. आज मामले का फैसला प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सुनील कुमार जायसवाल की अदालत में आना था. जिसके लिए चार आरोपियों को बिलासपुर सेंट्रल जेल से कोर्ट में पेश किया गया जबकि एक आरोपी राजकिशोर सिंह को जगदलपुर जेल में ट्रांसफर कर दिया गया. वहां से वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट से जुड़े। सुनवाई में नीता सराफ, राजकिशोर सिंह, हरेकृष्णा, अनिल सिंह राजपूत और सतीश शर्मा समेत पांच आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई. मामले की पैरवी कर रहे सरकारी वकील विनोद यादव ने कहा कि माननीय न्यायालय ने आर्म्स एक्ट की धारा 120बी और आपराधिक साजिश363,364(ए),366,506,25,27 के तहत उम्रकैद व 25 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई।
  • CHO की हत्या का खुलासा: दूसरा बॉयफ्रेंड बनाने पर की थी पहले प्रेमी ने हत्या, वॉट्सऐप हैक कर लगाया था पता

    जशपुर: जिले के श्रीनदी पुल खारीझरिया के पास मिली कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (CHO) की लाश का राज खुल गया है। युवती की हत्या उसके पहले प्रेमी ने की थी। बताया गया है कि, उसके पहले प्रेमी को शक था कि इसका किसी और के साथ चक्कर है, जिसके बाद उसने युवती का वॉट्सऐप हैक किया। जिसमें पता चल गया कि, युवती का किसी और के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है। इसके बाद आरोपी ने दिनदहाड़े युवती की कुल्हाड़ी मारकर जान ले ली थी। मामला कुनकुरी थाना क्षेत्र का है।

    स्वास्थ्य विभाग में CHO के पद पर पदस्थ थीं मृतिका
    दरअसल, गुरुवार दोपहर को श्रीनदी पुल खारीझरिया के पास युवती की खून से लथपथ लाश मिली थी। सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंचकर इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी। जांच में युवती की पहचान टांगरगांव निवासी देवकी चक्रेश (24) के रूप में हुई थी। देवकी कटंगखार में स्वास्थ्य विभाग में CHO के पद पर पदस्थ थीं। पुलिस को मौके से कुल्हाड़ी, युवती की स्कूटी और एक गमछा मिला था।

    परिजनों ने बताई प्रेम प्रसंग की बात
    इधर, पुलिस ने इस घटनाक्रम की जानकारी युवती के परिजनों को दी। तब परिजन मौके पर पहुंचे और उन्होंने बताया कि युवती का देवरी निवासी मनोज कुमार(23) से प्रेम प्रसंग था। इसके बाद पुलिस ने मनोज कुमार की तलाश शुरू की और उसे हिरासत में लिया था।

    4 साल का प्रेम संबंध, शक पर खत्म
    हिरासत में लेने के बाद मनोज ने अपना जुर्म कबूल कर लिया और बताया कि हम दोनों के बीच 4 साल से प्रेम संबंध था। जिसकी वजह से हम रायपुर में भी रह रहे थे। मगर कुछ समय पहले देवकी की यहां पोस्टिंग हो गई। तब वो वापस आ गई थी। इसके बाद मैं भी वापस आ गया। यहां हम बात करते थे, लेकिन देवकी पहले जैसे बात नहीं करती थी। इस पर मुझे शक हुआ।

    शॉपिंग के बहाने ले गया और मार डाला
    आरोपी ने बताया कि मैंने कंप्यूटर की पढ़ाई की है। इसलिए वॉट्सऐप हैक कैसे करते हैं, ये मुझे पता है। इसलिए मैंने देवकी का वॉट्सऐप हैक कर लिया। तब मुझे पता चला कि वो किसी और लड़के से बात करती है। इसके बाद ही मैंने उसे मारने का प्लान बनाया और जशपुर शॉपिंग कराने के बहाने ले जा रहा था। हम दोनों अपनी-अपनी स्कूटी से थे। इस बीच जब हम दोनों श्रीनदी पुल के पास पहुंचे, तब मैंने उसे रोक लिया। उससे पूछा कि तुम किससे बात करती हो। इसके बावजूद उसने कोई जवाब नहीं दिया। फिर मैंने अपने पास जो कुल्हाड़ी रखा था। वो बाहर निकाला और उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आज शुक्रवार को पूरे मामले का खुलासा किया है।

  • छत्तीसगढ़ के इस जिले में कल सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे तक बंद रहेगी बिजली

    सूरजपुर: छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड सूरजपुर संभाग के अन्तर्गत 220 के. व्ही. ईएचटी उपकेन्द्र विश्रामपुर के 132 के. व्ही. मेन बस बार में अतिआवश्यक सुधार कार्य किया जाना है अतः 220/132/33 के. व्ही. सब स्टेशन बिश्रामपुर से निकलने वाली 132 के व्ही उपकेन्द्र बिश्रामपुर एवं 132 के.व्ही. उपकेन्द्र प्रतापपुर 24 सितंबर 2022 (दिन शनिवार) को सुबह 08 बजे से शाम 04 बजे तक उपरोक्त सब स्टेशन अन्तर्गत आने वाले समस्त 33/11 के. व्ही. फीडर प्रभावित रहेंगी, जिससे जिला सूरजपुर अंतर्गत आने वाले समस्त ग्रामों व नगर पंचायतों तथा एसईसीएल क्षेत्रों सहित जिले के सम्पूर्ण क्षेत्रों में विद्युत प्रवाह बन्द रहेगा।

  • सड़कों पर उतने गड्ढे, जैसे नरवा गरवा योजना सड़कों पर उतर आई-बीजेपी

    दंतेवाड़ा: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल बस्तर के दौरे पर है। इस दौरान वे आज पहली बार दंतेवाड़ा पहुंचे। यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सड़कों में इतने गड्ढे हैं जैसे नरवा गरवा योजना सड़कों पर उतर आई है।

    बता दें कि बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष अरुण साव और नेता प्रतिपक्ष पांच दिवसीय बस्तर दौरे पर है। इस दौरान शुक्रवार को दंतेवाड़ा पहुंचे। जहां भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष साव, नेता प्रतिपक्ष चंदेल और महामंत्री केदार कश्यप का जोरदार स्वागत किया।

    इससे पहले वे सुकमा जिले के दौरे पर थे, जहां से रवाना होकर शाम को दंतेवाड़ा पहुंचे। दंतेवाड़ा शहर के हर चौक - चौराहों से काफिले के गुजरने पर बीजेपी के अलग-अलग मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। काफिले के साथ मोटरसाइकिल रैली में युवा मोर्चा के कार्यकर्ता भी दिखाई दिए।

  •  प्रमुख सचिव एवं सचिव स्कूल शिक्षा ने परखी स्कूलों की जमीनी वस्तुस्थिति

    राज्य में स्कूली शिक्षा में बच्चों के सीखने-सिखाने के स्तर एवं जमीनी वास्तविकताओं को परखने आज स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ल, स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. एस. भारतीदासन, संचालक लोक शिक्षण श्री सुनील जैन महासमुंद जिले के साराडीह गाँव के प्राथमिक स्कूल का अवलोकन करने पहुंचे। 

    उन्होंने स्कूल की प्रधानाध्यापिका के साथ सभी कक्षाओं में बच्चों के साथ विस्तार से बातचीत कर उनके स्तर के आकलन करने का प्रयास किया। 145 की दर्ज संख्या वाले स्कूल में लगभग 120 विद्यार्थी ही उपस्थित पाए गए। डॉ. आलोक शुक्ला ने अनियमित उपस्थिति वाले बच्चों की सूची बनाकर उन्हें नियमित करने के लिए बच्चों के पालकों और समुदाय के साथ मिलकर काम करने के निर्देश दिए।
    निरीक्षण के दौरान कक्षा शिक्षण में कक्षा के एक बच्चे को बोर्ड या चार्ट पर लिखे शब्दों या वाक्यों को पढ़कर अन्य बच्चों को दोहराने की बरसों पुरानी परंपरा भी यहाँ दिखाई दी। प्रमुख सचिव ने शिक्षकों को बच्चों को पढ़ाने के कौशल और इसे रोचक बनाने पर अधिक जोर दिया। उन्होंने इसके लिए शिक्षक प्रशिक्षण की नियमित व्यवस्था करने की आवश्यकता बताई।  
    स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. भारतीदासन ने कक्षा में एक बच्चे के साथ कितने देर शिक्षक व्यक्तिगत ध्यान दे पाते हैं आदि की जानकारी ली। उन्होंने शिक्षकों से बच्चों को सिखाने में व्यक्तिगत रूचि लेने का आग्रह किया। संचालक, लोक शिक्षण श्री सुनील जैन ने सभी संकुल समन्वयकों को शीघ्र प्रशिक्षित करते हुए उन्हें बच्चों में मूलभूत भाषाई एवं गणितीय कौशल विकास में फोकस होकर कार्य करने के निर्देश दिए। राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के श्री सोमशेखर ने बच्चों को निक्लर एप्प के प्रदर्शन के माध्यम से शिक्षण कौशल की जानकारी दी। 

    वरिष्ठ अधिकारियों के इस निरीक्षण दल द्वारा परिसर में संचालित बालवाड़ी, शौचालय एवं किचन शेड आदि का निरीक्षण करते हुए आवश्यक सुधार के निर्देश भी दिए। उन्होंने मध्यान्ह भोजन को चखकर भी देखा। इस अवसर पर महासमुंद जिले के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, जिला शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा एवं शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

  • नाबालिग से दुष्कर्म कर दी जान से मारने की धमकी, गर्भवती होने पर हुआ मामले का खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

    राजनांदगांव। जिले में 16 साल की नाबालिग लड़की से रेप का मामला सामने आया है। आरोपी ने नाबालिग के घर में घुस कर उसके साथ दुष्कर्म को अंजाम दिया और जान से मारने की धमकी भी दी। जब लड़की की तबियत बिगड़ी तब मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामला चिचोला चौकी क्षेत्र का है।

    मामला इसी साल जनवरी महीने का है। जब दोपहर के समय 12वीं में पढ़ने वाली छात्रा घर में अकेली थी। उसी दौरान उसी के गांव में ही रहने वाला सुरेश कुमार सवाई(33) लड़की के घर में घुस गया। इसके बाद उसने लड़की से रेप किया। आरोपी ने पीड़िता से कहा कि किसी को इस बारे में बताया तो जान से मार दूंगा। वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया था। लड़की ने भी इस घटना की जानकारी किसी को नहीं दी थी।

    इस बीच बीते 18 सितंबर को नाबालिग की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने उसके गर्भवती होने की बात बताई। गर्भवती होने की जानकारी मिलते ही परिजन पुलिस के पास पहुंचे और उन्होंने पूरे मामले की शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया है कि आरोपी शादीशुदा है।

  • नसबंदी के बाद महिला की मौत, परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप

    दुर्ग। जिले के उतई में आयोजित नसबंदी कैंप में नसबंदी कराने के बाद एक शादीशुदा युवती की तबीयत खराब हो गई। उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। युवती के पति ने आरोप लगाया है कि नसबंदी करते समय डॉक्टर की लापरवाही से उसकी पत्नी की मौत हुई है। कोतवाली पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

    कोलिहापुरी निवासी राजेश साहू की पत्नी 24 वर्षीय पत्नी दिलेश्वरी साहू गुरुवार को उतई में आयोजित नसबंदी कैंप में नसबंदी कराने के लिए गई थी। जब वह कैंप पहुंची तो पूरी तरह से ठीक थी। डॉक्टर ने उसकी नसबंदी भी कर दी। उसके बाद से उसकी तबीयत खराब होने लगी। कैंप में प्राथमिक उपचार के बाद जब तबीयत ज्यदा बिगड़ी तो उसे तुरंत इलाज के लिए दुर्ग जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के दौरान दिलेश्वरी की मौत हो गई।

    महिला की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया और डॉक्टर पर गलत तरीके से नसबंदी करने का आरोप लगाया और उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस जिला अस्पताल पहुंची। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

    खबर मिलने पर प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंची। जिला प्रशासन ने परिजनों को 50 हजार रुपए मुआवजा दिया और मामले की जांच करने का आश्वासन दिया है। इसके बाद परिजन शांत हुए। पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद यह पता चल जाएगा कि महिला की मौत किस वजह से हुई है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। वहीं दूसरी तरफ सीएमएचओ ने जांच के लिए एक टीम गठित की है।

  • छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 9 वी और 12वींकक्षाओं के.तिमाही परीक्षाओं के समय सारणी घोषित
    तिमाही परीक्षा की घोषणा छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 9 वी और 12वींकक्षाओं के.तिमाही परीक्षाओं के समय सारणी की घोषणा की | यह परीक्षाएं 26 सितंबर से 1 अक्टूबर तक आयोजित की गई है | समय सारणी के मुताबिक सुबह 11:00 बजे से 1:00 बजे तक परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी, कोरोना काल की वजह से 3 साल बाद अब स्कूलों में तिमाही परीक्षाएं आयोजित की गई... परीक्षाओं की समय सारणी को लेकर छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल सचिव वीके गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि एक बार माध्यमिक शिक्षा मंडल के द्वारा पूरे प्रदेश में एक साथ एक तिथि पर ही परीक्षाएं आयोजित की गई है, प्रदेश के सभी स्कूलों में इसी समय सारणी के आधार पर परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी और मेल के द्वारा स्कूलों में प्रश्न पत्र भेजे जाएंगे| परीक्षाओं में एकरूपता बनाए रखने और बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी के उद्देश्य से स्कूलों में तिमाही परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है ताकि छात्राएं अपने वार्षिक परीक्षाओं के लिए पहले से तैयार रहे....