State News
  • जिले में कोरोना वैक्सिन की पहली खेप का हुआ भव्य स्वागत  प्रथम खेप में जिले को प्राप्त हुई 3 हजार 750 डोज प्रारंभ में कोरोना वारियरो का होगा टीकाकरण

    कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के निर्देशनुसार एवं जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0टी0आर0कुंवर के मार्गदर्शन में 14 जनवरी को सफलता पूर्वक कोरोना वैक्सीन रायपुर से आने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा  रहे वाहन का बैंड बाजा के साथ रायपुर नाका पर स्वागत किया गया। स्वागत के बाद वैक्सीन वाहन को वैक्सीन रूम तक पहुंचाया गया। तत्पश्चात सीएमएचओ डॉ0 टी0आर0कुवंर द्वारा वैक्सीन को कोल्ड चैन बाॅक्स से वैक्सीन निकाल कर सुरक्षा पूर्वक रेंफिजरेटर में वैक्सीन शाखा में रखा गया है। टीकाकरण का कार्य 16 जनवरी प्रारंभ किया जायेगा। सर्वप्रथम कोरोना से जंग में कोरोना वारियर्स के रूप में प्रथम पंक्ति में खड़े स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों, मितानिनों, आगंनबाड़ी कार्यकर्ताओं को उक्त वैक्सीन लगाया जायेगा टीकाकरण हेतु जिले में 20 टीकाकरण सत्र बनाया गया है। टीकाकरण का कार्य सर्वप्रथम 16 जनवरी को जिला अस्पताल कोण्डागांव, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र केशकाल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फरसगांव में किया जायेगा। इस क्रम में विकासखंड कोण्डागांव में कोण्डागांव, दहिकोंगा, मर्दापाल, बयानार, चिपावण्ड, विकासखण्ड केशकाल अतंर्गत केशकाल, बहीगांव, अड़ंेगा, धनोरा, विकासखण्ड बड़ेराजपुर अंतर्गत विश्रामपुरी, बांसकोट, विकासखण्ड माकड़ी अंतर्गत माकड़ी, अनतपुर, शामपुर, रांधना, विकासखण्ड फरसगांव अंतर्गत फरसगांव, लंजोड़ा, बड़ेडोंगर, कोनगुड़ में 16 जनवरी के पश्चात केंप लगाकर टीकाकरण किया जायेगा।  कोविड-9 वैक्सीन के स्वागत अवसर पर नगर के गणमान्य जनप्रतिनिधि मनीष श्रीवास्तव, तरूण गोलछा, शिल्पा देवांगन, विकल माने एवं अन्य प्रतिनिधि उपस्थित रहे साथ ही स्वास्थ्य विभाग से जिला परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 एस0 टोप्पो, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सोनल ध्रुव, एवं अन्य स्वास्थ्य विनग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। 
    इस संबंध में सीएचएमओ ने बताया कि वर्तमान में मात्र 3750 डोज प्राप्त हुए हैं, इन्हें राज्य शासन के निर्देशानुसार कोरोना से लड़ाई में प्रथम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को लगाया जायेगा। हमारे जिले में वैक्सिन बैंक में 1 लाख डोज रखने की क्षमता है। जो आगे जाकर बढ़ाई भी जा सकती है। 
     

  • BREAKING : सुकमा में फिर जवान ने… खुद को मारी गोली… गश्त के दौरान वारदात
    सुकमा। कोबरा बटालियन 206 के जवान ने खुद को गोली मार ली है। खुदकुशी के कारण का पता नहीं चल पाया है। फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक जवानों की एक टुकड़ी रात्रि गश्त पर सुकमा के कोयलमेटा पहाड़ी पर गई थी। इस टुकड़ी में हवलदार हरजीत सिंह भी शामिल था। मूलतः पंजाब का रहनेवाला यह जवान कोबरा बटालियन का था। बताया जा रहा है कि बीती रात सूचना पर एम्बुश हटाने के लिए एक टुकड़ी को रवाना किया गया था। रात में गश्त के दौरान अचानक हवलदार हरजीत सिंह ने अपने सर्विस रायफल एके-47 को गले पर लगााया और गोली दाग दी। इस वारदात में जवान की मौके पर मौत हो गई।
  • सड़क हादसा : तेज रफ़्तार ट्रक ने कार को मारी टक्कर...दो लोग बुरी तरह घायल
    रायपुर। शहर के तेलीबंधा चौक में भीषण सड़क हादसा हो गया। जगदलपुर से आ रहे स्कार्पियो को तेज रफ़्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। हादसे में कार सवार दो लोग बुरी तरह से घायल हो गये। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया है। वही ट्रक ड्राइवर मौके से फरार है जिसकी तलाश जारी है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँच गई है। दुर्घटना छत्तीसगढ़ होटल के सामने की है। पुलिस ने बताया कि स्कॉर्पियो जगदलपुर से आ रही थी जिसमें दो लोग सवार थे। हादसे के बाद उपचार के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया है। घटना के बाद यातायात थोड़ी बाधित हुई थी जिसे दुरुस्त कर लिया गया है। टक्कर इतना भयानक था कि कार पलट कर डिवाइडर में घुस गई है। इस हादसे में और किसी को चोट नहीं
  • बालोद जिले में बर्ड-फ्लू की पुष्टि के बाद हाई अलर्ट जारी...सभी प्रोटोकाल पालन एवं सावधानी बरतने के निर्देश
    बालोद । जिले से जांच के लिए भेजे गए कुक्कुट (चिकन) सेम्पल की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान भोपाल से आज शाम प्राप्त रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हुई है। राज्य में बर्ड-फ्लू का यह पहला मामला है जो बालोद जिले में मिला है। संचालक पशु चिकित्सक ने बताया कि भारत सरकार द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार संक्रमित फार्म से एक किलोमीटर परिधि क्षेत्र को संक्रमित क्षेत्र घोषित कर रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। संक्रमित क्षेत्र में कुक्कुट पक्षियों का आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जा रहा है। इसके साथ ही मनुष्यों एवं वाहनों के आवागमन को भी सीमित करने की कार्रवाई की जा रही है। बालोद के जीएस पोल्ट्री फार्म गिधाली के एक किलोमीटर से 10 किलोमीटर परिधि क्षेत्र को निगरानी क्षेत्र घोषित किया जा रहा है।
  • छत्तीसगढ़: 607 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की हुई आज पहचान, 10 की मौत
    रायपुर। राज्य में आज रात 08.00 बजे तक 607 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सबसे अधिक 127 रायपुर जिले से हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के इन आंकड़ों के मुताबिक आज रात तक एक जिले में सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। आज कुल 10 कोरोना मौतें हुई हैं। राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक दुर्ग 81, राजनांदगांव 36, बालोद 27, बेमेतरा 15, कबीरधाम 7, रायपुर 127 धमतरी 23, बलौदाबाजार 10, महासमुंद 29, गरियाबंद 3, बिलासपुर 73, रायगढ़ 15, कोरबा 9, जांजगीर-चांपा 37, मुंगेली 4, जीपीएम 5, सरगुजा 17, कोरिया 19, सूरजपुर 16, बलरामपुर 3, जशपुर 17, बस्तर 2, कोंडागांव 10, दंतेवाड़ा 7, सुकमा 6, कांकेर 5, नारायणपुर 0, बीजापुर 3 अन्य राज्य 1 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
  • सीट बढ़ाने को लेकर  धरना प्रदर्शन
    सारंगढ लोचन प्रासाद पांडेय महाविद्यालय के मुख्य द्वार में NSUI के प्रदेश सचिव शुभम वाजपेयी के नेतृत्व में अपने NSUI के छत्रों के साथ सारंगढ डिग्री कॉलेज में सीट बढ़ाने को लेकर किया धरना प्रदर्शन छात्रों की हित के लिए NSUI के प्रदेश सचिव शुभम वाजपाई ने कहा अगर ऐसे छत्रों को परेशानियों का सामना कारना पड़ेगा तो NSUI का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा एवं NSUI के सारंगढ़ शहर अध्यक्ष योगेश सोनवानी अभिषेक शर्मा विधानसभा उपाध्यक्ष सागर दीवान ब्लॉक महासचिव एव NSUI के पदाधिकारि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे
  • कुपोषण मुक्ति की अभिनव पहल: ‘दू पईडील सुपोषण बर‘ :  कुपोषण के दानव को हराने के लिए लोगों ने कसी कमर बस्तर में कुपोषण के प्रति जागरूकता का संदेश देंगे देश-विदेश के कई साइकलिस्ट

    कुपोषण के दानव को हराने और जन-जन को जागरूक करने के लिए ‘दू पईडील सुपोषण बर‘ के नाम से अभिनव पहल की गई है। बस्तर जिले में विभिन्न स्तरों पर संचालित इस कार्यक्रम में ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवकों को जोड़ते हुए जिले में कुपोषण के स्तर में कमी लाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके तहत जिले के रमणीय स्थानों में सायकल रैली के आयोजन के साथ ही एंडवेंचर स्पोर्टस के तहत् राॅक क्लाईबिंग, वाॅटर वेप्लिंग, घने जंगलों के बीच ऑफरोडिंग, ट्रैकिंग, कैम्पींग के साथ बोनफायर का भी आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान आदिवासी संस्कृति, स्थानीय व्यंजन का प्रदर्शन किया जाएगा। जिसका आंगतुक और सायकलिस्ट लुफ्त उठा सकेंगे। ’’दू पईडील सुपोषण बर’’ कार्यक्रम में प्रदेश एवं देश-विदेश से कई सायकल सवार सम्मिलित होगें। इस अभियान का उद्देश्य जिले को कुपोषण से शत-प्रतिशत मुक्त कराने के लिए कुपोषण अभियान को जनआंदोलन में बदलना है। अभियान के तहत 10 जनवरी से शुरू हुए विभिन्न आयोजन 17 जनवरी तक चलेंगे। सप्ताह भर चलने वाले इस कार्यक्रम को सभी वर्गों का व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। यह कार्यक्रम युवोदय के स्वयं सेवक, मितानिन, आंगनबाडी कार्यकर्ता, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। अभियान के अंतिम दिन 17 जनवरी  को कुपोषित बच्चों के अभिभावक समेत ग्रामवासियों द्वारा भी अपने-अपने ग्राम में सायकल चालन का कार्य किया जाएगा तथा ग्राम स्तरीय खेल प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

        कलेक्टर श्री रजत बंसल के मार्गदर्शन में कोलेंग से लेकर ककनार तक चल रहे कार्यक्रम की तस्वीरें कुपोषण को हराने का सपना संजोने वालों के मन में उत्साह भर रही हैं। कार्यक्रम के तहत स्वैच्छिक अनुदान को बढ़ावा देते हुए कुपोषित बच्चों को चिन्हांकित कर पोषण पुनर्वास केंद्रों के माध्यम से भी लाभान्वित किया जाएगा। सायकल रैली 17 जनवरी को सुबह 6 बजे से प्रारंभ होगी जो चित्रकोट से मेंद्री घुमर-तामड़ा घुमर होते हुए मिचनार तक 45 किमी. तक की दूरी तय करेगी। बच्चों और बिगिनर सायकलिस्ट के लिए चित्रकोट से मेंद्री घुमर-तामड़ा घुमर 20 किमी. की दूरी रखी गई है। प्रोफेशनल सायकलिस्टो के लिए चित्रकोट, मेंद्री घुमर-तामड़ा घुमर मिचनार होते हुए ऑफरोडिंग सायकलिंग का भी आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम के तहत कुपोषण से मुक्ति में जन भागीदारी हेतु जिले के समस्त लोगों से स्वैच्छिक दान करने का आग्रह किया गया है। 

        कार्यक्रम का मूल भाव अभिभावकों के मध्य कुपोषण से हानि और सुपोषण से होने वाले लाभ का संदेश पहुंचाना है तथा उनमें जागरूकता उत्पन्न करना है। इसमें कुपोषित बच्चों के अभिभावकों द्वारा शपथ ग्रहण किया जायेगा कि वे अपने बच्चों को सुपोषित करने हेतु आवश्यक सभी कदम उठायेंगे तथा निश्चित अवधि में अपने बच्चों को सुपोषित करेंगे। इसमें प्रमुख रूप से बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्र में भर्ती कराना उनके खान-पान में परिवर्तन लाया जाना आदि सम्मिलित है। सुपोषण के इस अभियान को गति देने के लिए जनप्रतिनिधि, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं और मितानिनें अभिभावकों से भेंट कर उन्हें उनके बच्चों से कुपोषण से मुक्ति के संदर्भ में उचित परामर्श देने के साथ जनसहभागिता बढ़ा रही हैं।

  • मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत जरूरत मंद लोगों का घर

    छत्तीसगढ़  शासन की  मुख्यमंत्री  शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से अब अपनी रोजी-रोटी के लिए दिनभर जूझने वाले श्रमिकों को अपनी सेहत की भी चिंता नहीं रहती।  योजना के तहत अपने घर के आस-पास ही मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधा उन्हें किसी वरदान से कम नहीं लगती। मजदूर आमतौर पर बीमार पड़ने पर भी अस्पताल में लगने वाली लंबी लाईनों से कतराने के कारण बीमारी के साथ जीने को बाध्य होते हैं।  परन्तु अब  लोगों को शासन उनके घर पर ही इलाज  मुहैया कराने के लिए शुरु की गई मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना उनके लिए वरदान साबित हो रही है। जगदलपुर नगर निगम में भी इस योजना के तहत चार चलित इकाईयां संचालित की जा रही हैं। मजदूर पृष्ठभूमि के इन नागरिकों को श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए उपचार के लिए पहुंचने पर श्रम पंजीयन भी किया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चलित इकाइयों के माध्यम से अब तक 158 शिविर आयोजित किए जा चुके हैं, जिसमें 7 हजार से अधिक मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण और उपचार किया जा चुका है। यहां विभिन्न रोगों के जांच की सुविधा भी दी जा रही है। निगम के द्वारा वार्डों में लॉउस्पीकर के माध्यम से मुनादि भी कराई जा रही है। मोबाईल यूनिट के निर्धारित रूट चार्ट के अनुसार स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा 

  • मंदिर हसौद पीएचसी ने लगातार पांचवी बार कायाकल्प अवार्ड में मारी बा

     राजधानी से करीब 20 किमी की दूरी पर मंदिर हसौद में संचालित हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर ( पीएचसी) ने कायाकल्प अवार्ड में लगातार पांचवी बार बाजी मारी है। मंदिरहसौद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत 6 उपस्वास्थ्य केंद्रों पर आश्रित 26 ग्राम पंचायतों की कुल 56,790 ग्रामीण जनसंख्या को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं दे रहा है। आयुष्मान भारत योजना के तहत हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर के रुप में विकसित होने पर सुरक्षित प्रसव, मरीजों के लिए बेहतर इलाज, निशुल्क दवाईयां, जांच,साफ-सफाई एवं चिकित्सा सुविधाओं को मुहैया कराने में एक मिसाल कायम किया है। इस स्वास्थ्य केंद्र  में हर महीने लगभग 100 गर्भवती महिलाओं की  नार्मल डिलवरी कारवाई जा रही  है।   

    प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की प्रभारी चिकित्सक डॉ. विजय लक्ष्मी अनंत ने बताया, कायाकल्प अवार्ड शुरु होने के बाद ही वर्ष-2015 से 2020 तक लगातार 5 वर्षों से जिला स्तर पर पीएचसी की श्रेणी में आरंग ब्लॉक के मंदिर हसौद स्वास्थ्य केंद्र अव्वल रहा है। उन्होंने बताया, पीएचसी में पदस्थ स्वास्थ्य कर्मियों  द्वारा मरीजों को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने में सराहनीय कार्यों के लिए पुरस्कृत हो रहे हैं। इन सब में स्टॉफ का नम्र व्यवहार, बेहतर लैब सुविधा, और अच्छी देखभाल इस तरह की विशेषताएं शामिल है।  यह पुरस्कार अस्पतालों के बीच प्रतिस्पर्धा के आधार पर नहीं बल्कि साफ सफाई, परिसर के अंदर एवं बाहर स्वच्छता, बिल्डिंग के रखरखाब, स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता आदि 7 मानकों में किए गए सुधार कार्य के आधार पर दिए जा रहे हैं। यह स्वास्थ्य केंद्र राष्ट्रीय स्तर पर मिलने वाले नेशनल क्वालिटी इंश्यारेंस सर्टीफिकेशन (एनक्यूएएस ) अवार्ड वर्ष-2020-21 के लिए भी प्रतिस्पर्धा में शामिल होकर नामित हुए हैं जिसका परिणाम भी जल्द घोषित होने की संभावना है।

    इसलिये मिला पुरस्कारः

    कायाकल्प अवार्ड स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत दिया जाता है जिसमें सरकारी अस्पताल की साफ-सफाई एवं उन्नयन कार्य पर जोर दिया जाता है। सरकारी अस्पताल में इलाज की व्यवस्था, साफ सफाई एवं हेल्थ पैरामीटर पर खरा उतरने वाले अस्पतालों को यह पुरस्कार दिया जाता है। स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी चिकित्सक डॉ. श्रीमती अनंत का कहना है, हॉस्पिटल रखरखाव, संक्रमण नियंत्रण, बायोवेस्ट निपटान आदि में अस्पताल का बेहतर प्रदर्शन रहा है। इसके लिए कायाकल्प अवार्ड का 2 लाख रुपये पुरस्कार स्वरूप प्राप्त होंगे। पुरस्कार की राशि का 80 फीसदी जीवनदीप समिति में और 20 फीसदी राशि स्टॉफ को प्रोत्साहन के रुप में प्रदान किया जाता है। राशि का उपयोग मरीजों को बेहतर सेवाएं देने, सफाई कर्मी व गार्डन के रख रखाव के लिए व्यय किया जाता है। स्वास्थ्य केंद्र में संक्रमण नियंत्रण आदि मूलभूत सुविधाओं में बहुत विस्तार लगातार हुआ है, जिससे संतुष्ट होने के कारण मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है। वर्ष 2017-18 में ओपीडी 23278, आईपीडी 1734, नार्मल डिलवरी 875, वर्ष- 2018-19 में ओपीडी 24208, आईपीडी 1581, नार्मल डिलवरी 1052 जबकि वर्ष 2019-20 में ओपीडी 26742, आईपीडी 1628, डिलवरी 911 हो रही है।

    हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर में आकर्षक गार्डन -

    हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर के रुप में अपनी पहचान बनाने वाले स्वास्थ्य केंद्र के परिसर में सुंदर मनमोहक और आकर्षक गार्डन के साथ बच्चों के लिए कीड्स प्लेइंग जोन यानी नोनी लईका डेरा बनाया गया है जो स्वास्थ्य केंद्र  में आने वाले मरीजों के बच्चों के लिए सुंदरता व विशेष आकर्षण का केंद्र है। साफ सुथरा भवन व अस्पताल परिसर के गार्ड तनाव भरी जीवन में सुकुन के पल देता है। तनाव, अनिंद्रा, उच्च रक्तचाप, शुगर में सुधार के लिए सेहतमंद बनाने का नया प्रयोग कर संगीत चिकित्सा की शुरुआत भी हो चुकी है। योगा ट्रेनर द्वारा प्रति दिन फिटनेस का डोज देने एक घंटे रोज योगा क्लास एवं जुम्बा डांस कराते हैं जिसमें ग्रामीण बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। चिकित्सा क्षेत्र में वृद्व,वरिष्ठ जन क्लिनिक, मेंटल हेल्थ क्लिनिक, विवाह पूर्व परामर्श, टीकाकरण, किशोरी बालिका क्लिनिक, एनक्यूएएस मापदं

  • ब्रेकिंग : प्रदेश में यहाँ दिनदहाड़े युवक पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला… बच्ची के लिए दवाइयां लेकर जा रहा था घर… आरोपी गिरफ्तार
    दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले की लौहनगरी बछेली में दिन दहाड़े नृशंस हत्या के खूनी खेल से पूरी नगरी दहल गयी। बताया जा रहा है कि 35 वर्षीय युवक अपनी बीमार बच्ची के लिए दवाइयां लेकर जा रहा था तभी हमलावर ने उस पर ताबड़तोड़ चाकू से वार कर हत्या कर दी। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। घटना बछेली थाना क्षेत्र की है, जहां 35 वर्षीय युवक हरि तांडी अपनी बीमार बच्ची की दवाइयां लेकर एनएमडीसी बछेली ओपोलो अस्पताल से अपने घर मुंडरापारा की तरफ जा रहे थे। बीच रास्ते में अचानक उन पर किसी अज्ञात हमलावर ने ताबड़तोड़ चाकू से वार कर मौके से फरार हो गया। जिससे घटना स्थल पर ही युवक की मौत हो गई। इधर घटना के बाद से आरोपी युवक के मौके से फरार होने की खबर लगते ही बछेली पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई थी। घटना के 3 घण्टे बाद ही आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया और उससे आगे की पूछताछ कर पुलिस हत्या के कारणों का पता लगा रही है। इधर घटना के बाद से मृतक के परिजनों में शोक और आसपास के इलाके सन्नाटा पसर गया है। मृतक के भाई ने हत्या के पीछे किसी किशोर नाम के युवक का हाथ होना बताया है। साथ ही यह भी बताया कि मृतक हरि तांडी के 2 बच्चे हैं। एक बच्ची कि उम्र महज 2 साल और दूसरी की 10 साल है। घटना के बाद से पूरा परिवार सदमे में है।
  • धमतरी : चित्रकला में अंकिता, देवांशु तो स्लोगन प्रतियोगिता में पूर्वा, ईशकुमार अव्वल रहे : ऊर्जा संरक्षण पर आधारित चित्रकला एवं स्लोगन प्रतियोगिता के विजयी छात्र पुरस्कृत किए गए

     क्रेडा द्वारा ऊर्जा संरक्षण पर आधारित चित्रकारी एवं स्लोगन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर रहे छात्रों को पुरस्कार तथा प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया। प्रभारी अधिकारी क्रेडा ने बताया कि भारत सरकार के ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बी.ई.ई.) एवं विद्युत मंत्रालय एवं क्रेडा रायपुर के निर्देश पर जिला स्तरीय ’’ऊर्जा संरक्षण एवं ऊर्जा दक्षता‘‘ विषय पर आॅनलाइन चित्रकारी एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें श्रेष्ठ चित्रकारी एवं स्लोगन लिखने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कार के तौर पर नकद राशि एवं प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया।
    उन्होंने बताया कि चित्रकला एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन दो ग्रुप में किया गया। ग्रुप ‘ए‘ में कक्षा 5वीं से 8वीं एवं ग्रुप ‘बी‘ में कक्षा 9वीं, से 12वीं तक के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। विद्यार्थियों को क्रमशः प्रथम पांच हजार रूपए, द्वितीय को तीन हजार एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले को दो हजार रूपए प्रोत्साहन स्वरूप प्रदान किए गए तथा प्रमाण पत्र वितरित किए गए। इसी प्रकार स्लोगन में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को तीन हजार रूपए, द्वितीय को दो हजार तथा तृतीय विजेता को एक हजार रूपए के साथ-साथ प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। प्रभारी अधिकारी क्रेडा ने बताया कि चित्रकला प्रतियोगिता ग्रुप ए में दिल्ली पब्लिक स्कूल की कक्षा सातवीं की छात्रा कु. अंकिता जैन प्रथम स्थान पर रहीं, जबकि कु. अहर्निश सौम्य, केन्द्रीय विद्यालय कुरूद कक्षा-7वीं द्वितीय तथा श्री इशवीर सिंह, दिल्ली पब्लिक स्कूल कक्षा-7वीं ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। चित्रकला प्रतियोगिता ग्रुप बी में श्री देवांशु गुप्ता, मेनोनाइट अंग्रेजी स्कूल धमतरी कक्षा-12वीं ने प्रथम, श्री अंजनेय पवार, दिल्ली पब्लिक स्कूल धमतरी, कक्षा-10वीं ने द्वितीय तथा कु. डाॅली सोनकर शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला, गोकुलपुर वार्ड धमतरी, कक्षा-12वीं ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
    इसी प्रकार स्लोगन प्रतियोगिता ग्रुप ए में कु. पूर्वा साहू, जवाहर नवोदय विद्यालय कुरूद, कक्षा-8वीं ने प्रथम, श्री हर्षित मंडावी, सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल कक्षा-6वीं ने द्वितीय व कु. नरगिस कोसले केन्द्रीय विद्यालय, कक्षा-6वीं ने तृतीय स्थान अर्जित किया, जबकि स्लोगन प्रतियोगिता ग्रुप बी में श्री ईशकुमार, शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला, गोकुलपुर वार्ड धमतरी, कक्षा-12वीं ने प्रथम, श्री देवांशु गुप्ता मेनोनाइट अंग्रेजी स्कूल धमतरी कक्षा-12वीं ने द्वितीय और कु. द्रौपती देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चरमुड़िया, कक्षा-11वीं ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इन विद्यार्थियों को पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रजनी नेल्सन एवं क्रेडा जिला प्रभारी श्री कमलनारायण पुरेना के द्वारा प्रदान किया गया।

  • कोण्डागांव : विभिन्न पदों पर भर्ती हेतु वाक्-इन-इंटरव्यु 28 जनवरी से 01 फरवरी तक

    कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार जिला खनिज न्यास निधि के अंतर्गत डी.एम.एफ से स्वीकृर्ति उपरांत चिकित्सा विशेषज्ञ, चिकित्सा अधिकारी डेंटीस्ट/सर्जन, एनआरसी अटेण्डेट, डाटा इंट्री आॅपरेटर, स्टाॅप नर्स, ए.एन.एम. और डेली टेक्निशियन के रिक्त पदों हेतु वाक्-इन-इंटरव्यु 28 जनवरी से 01 फरवरी 2021 तक आयोजित किया जाना है। इन पदों हेतु इच्छुक अभ्यर्थी संबंधित दस्तावेज के मूल एवं छायाप्रति तथा निर्धारित शुल्क के साथ कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव में विज्ञापन में निर्धारित समय-सारणी अनुसार प्रातः 11 बजे उपस्थित हो कर वाक्-इन-इंटरव्यु दे सकेगें। अभ्यर्थी विज्ञापन एवं भर्ती संबंधी सेवा शर्तों हेतु कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव के सूचना पटल एवं जिले की वेबसाइट www.kondagaon.gov.in द्वारा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।