Top Story
  • मोदी जी - एक हजार करोड़ के घोटालें का कब संज्ञान लेंगे ? - कांग्रेस का सवाल
    15 साल रमन सरकार का नारा रहा, खाओ और खाने दों जनता की आंखों में धूल झोंकने के लिये कहते थे, न खांउगा न खाने दूंगा भ्रष्टाचार घोटालें और कमीशनखोरी के 15 साल कभी नहीं भूलेगा छत्तीसगढ़ रायपुर/ 31 जनवरी 2020। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि 15 साल रमन सरकार का नारा रहा खाओ और खाने दो। जनता की आंखो में धूल झोंकने के लिये कहते थे न खाउंगा न खाने दूंगा। भ्रष्टाचार, घोटाले और कमीशनखोरी के रमन सिंह सरकार के 15 साल कभी नहीं भूलेगा छत्तीसगढ़। रमन सिंह सरकार में जो घोटाले हुये 1000 करोड़ का यह घोटाला उसी का एक नया अध्याय है। दरअसल रमन सिंह जी की सरकार घोटालों की ही सरकार थी। एनजीओ के माध्यम से प्रदेश के लाखों करोड़ रूपए सरकार ने बर्बाद कर दिए। अभी ऐसे कई मामले निकलेंगे। कांग्रेस की सरकार इन दोरंगी घोटालों को उजागर करने में लगी हुयी है। उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सरकार का एक और घोटाला इस फैसले से उजागर हुआ है और अब जांच संभव हो पायेगी। दरअसल भाजपा का नारा था “न खाउंगा, न खाने दूंगा” लेकिन इसका वास्तविक सिद्धांत था ’’खाओ और खाने दो।’’ भाजपा की सरकार 15 वर्ष तक घोटाले, भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी हकीकत तो ये है कि ये सारे घोटाले इनकी सरकार में हुये है और हाईकोर्ट का जो फैसला आया है। इस फैसले को रमन सिंह द्वारा रायगढ़ में भाजपा कार्य समिति की बैठक में कमीशखोरी एक साल के लिये बंद करने के आव्ह्ान से जोड़ा जाये तो उससे स्पष्ट होगा कि ये सारी कमीशनखोरी रमन सिंह के संज्ञान में थी। मुख्यमंत्री के रूप में उनको इसका संज्ञान था और उन्होंने जानबूझकर छत्तीसगढ़ में घोटालों, भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी को पनपने दिया। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि केन्द्रीय मंत्री रेणुका सिंह का बचाव करके रमन सिंह ने दरअसल अपना बचाव किया है। मोदी सरकार की मंत्री रेणुका सिंह के विभाग में छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार में मंत्री रहते हुये एक हजार करोड़ से अधिक का घोटाला हुआ है। 1000 करोड़ के घोटाले पर कांग्रेस के सवाल ऽ मंत्री मंडल के सामूहिक जिम्मेदारी के सिद्धांत के चलते सरकार के मुखिया होने के नाते रमन सिंह जी इन घोटालों से अपना दामन कैसे बचा सकते है? ऽ मोदी जी, इस घोटाले का कब संज्ञान लेंगे? ऽ संज्ञान लेकर क्या कार्यवाही करेंगे? यह भी मोदी जी छत्तीसगढ़ के लोगों को बतायें। ऽ मोदी जी यह भी बतायें कि न खाउंगा न खाने दूंगा का क्या हुआ? ऽ न खाउंगा न खाने दूंगा का नारा छत्तीसगढ़ के लिये नहीं था क्या?
  • ब्रेकिंग न्यूज़- अमन सिंह और यास्मीन सिंह को लगा झटका हाईकोर्ट के स्टे को सुप्रीम कोर्ट ने किया रद्द
    ब्रेकिंग न्यूज़- अमन सिंह और यास्मीन सिंह को लगा झटका हाईकोर्ट के स्टे को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द करते हुवे हाईकार्ट बिलासपुर को मामले की जल्द अंतिम सुनवाई के लिये किया आदेशित किया सुप्रीम कोर्ट ने रमन सरकार के प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह एवं उनकी धर्मपत्नी यासमीन सिंह की याचिका पर बिलासपुर हाईकोर्ट के स्टे पर छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा सुप्रीम कोर्ट में की गई अपील की सुनवाई करते हुए कहां की यह मामला 1 वर्ष से ज्यादा लंबित हो गया है और हाई कोर्ट बिलासपुर जल्द से जल्द इस पर अपना अंतिम निर्णय जारी करें | ज्ञात हो कि 1 वर्ष पूर्व छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी के द्वारा एक लिखित शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रेषित की गई थी जिसमें कि रमन सिंह के पूर्व मुख्य सचिव अमन सिंह की आय से अधिक संपत्ति एवं उनकी धर्मपत्नी यास्मीन सिंह की संविदा नियुक्ति की जांच के लिए पत्र लिखा गया था| मामले की जांच रोकने एवं जांच रिपोर्ट सार्वजनिक न किए जाने के विषय को लेकर अमन सिंह और यास्मीन सिंह द्वारा हाईकोर्ट बिलासपुर में याचिका प्रस्तुत की गई थी जिस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट बिलासपुर ने दोनों पक्षकारों को राहत देते हुए स्टे दे दिया था इस रिश्ते को छत्तीसगढ़ शासन द्वारा सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी जिस पर आज सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट बिलासपुर को निर्देशित किया है कि इस मामले में जल्द से जल्द अंतिम सुनवाई करते हुए आदेश जारी करें प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि उन्हें न्याय पर पूरा भरोसा है और वह माननीय सुप्रीमकोर्ट के इस निर्णय का स्वागत करते हैं उन्होंने कहा कि लगातार इस मामले को लेकर उन्हें मानहानि के मुकदमे की धमकी मिल रही थी लेकिन उसकी परवाह ना करते हुए वह लगातार यह लड़ाई जारी रखे हुए हैं उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भी आभार व्यक्त किया है |
  • भाजपा को कांग्रेस की चुनौती - जनता के बीच हो खुली चर्चा
    *रायपुर/28 जनवरी 2020।* केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा नेताओं को 15 साल की रमन सरकार की उपलब्धियों और भूपेश बघेल सरकार की कथित विफलताओं के साथ-साथ मोदी सरकार की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाने का निर्देश दिया है। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर तंज कसते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि देश में और प्रदेश में भाजपा के पास झूठे वादों और खोखलें इरादों के अलावा कुछ भी नहीं है। मगर इनको शर्म नहीं आती। भाजपा को खुली चुनौती देते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि 15 साल की भाजपा की उपलब्धियों और कांग्रेस की 13 माह की उपलब्धियों पर जनता के बीच चर्चा होनी चाहिये। हमारे घोषणा पत्र के वादे 5 साल के लिए हैं। छत्तीसगढ़ की जनता ने हमें 5 साल के लिए जनादेश दिया है और यदि 13 माह में आकर देश के गृहमंत्री अमित शाह कांग्रेस सरकार को विफल बताते हैं तो इससे भाजपा की बौखलाहट और छत्तीसगढ़ में खोखलापन उजागर हो जाता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि प्रधानमंत्री के रूप में विफल हो चुके नरेन्द्र मोदी की चाटुकारिता बंद कर भाजपा नेता सबसे पहले नरेन्द्र मोदी से उनकी विफलताओं का हिसाब मांगे। क्या हुआ सब के खातों में 15 लाख आने के वायदे का? क्यों नहीं आया विदेश से कालाधन? अच्छे दिन के सपने क्यों पूरे नहीं हुये? हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वायदा क्यों पूरा नही हुआ? नोटबंदी जैसा डरावना और देश के लोगों को परेशान करने वाले निर्णय की उपयोगिता देश को मोदी क्यों नही बता रहें? जीएसटी लगाकर व्यापार और रोजगार को क्यों बर्बाद कर दिया? क्यों किसानों को उनकी ऊपज का पूरा दाम नहीं मिल रहा? किसानों की आय दुगुनी करने के जो सपने भाजपा ने दिखायें थे, उसका क्या हुआ? छत्तीसगढ़ के किसानों को 2500 रू. धान का दाम देने में केन्द्र की भाजपा सरकार क्यों बाधा डाल रही है? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भूपेश बघेल की सरकार ने घोषणा पत्र में जिन वादों को पूरा किया गया है उनको तो भाजपा पहले गिन ले। गंगाजल हाथ में लेकर किये गये किसानों की कर्जमाफी के वायदे का न केवल कांग्रेस सरकार ने निभाया है, बल्कि घोषणा पत्र के अन्य वादों को भी पूरा किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के 13 माह के जन कल्याणकारी कार्यों में किसानों का कर्जमाफी, धान का वादा अनुसार 2500 रू. दाम, छोटे प्लाटो की रजिस्ट्री से प्रतिबंध हटाना, आदिवासियों की जमीन लौटाना, तेंदूपत्ता का मानक दर 2500 से बढ़ाकर 4000 रू. प्रति बोरा, 15 वनोपज को समर्थन मूल्य में खरीदने की नीति, बिजली बिल हाफ, युवाओं के लिए रोजगार, महिलाओं के लिए सुरक्षा, शासकीय कर्मचारियों को उनका अधिकार, जाति प्रमाण पत्र का सरलीकरण का ही नतीजा है, छत्तीसगढ़ के किसानों, मजदूरों, व्यापारियो, युवाओं, गृहणियों, आदिवासियों सहित सर्वहारा वर्ग के चेहरे में खुशियां लौटी है। किसानों की खुशहाली लाने में भूपेश बघेल सरकार की सफलता यदि अमित शाह को विफलता नजर आती है तो भाजपा को अपना नजरिया बदलने की जरूरत है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि उपलब्धियों के नाम पर देश और समाज को बांटने के अलावा क्या किया है? कमीशनखोरी करने, भ्रष्टाचार करने के अलावा भाजपा की केंद्र सरकार हो या राज्य सरकार भाजपा के पास उपलब्धियों के नाम पर और कुछ नहीं है। इसका सबूत रमन सिंह जी का वह बयान है जो उन्होंने रायगढ़ में भाजपा कार्यसमिति में दिया था और भाजपा के नेताओं से 1 साल के लिए कमीशनखोरी बंद करने का आव्हान किया था। भाजपा के पास झूठे वायदे और खोखले इरादों के अलावा और कुछ नहीं है। छत्तीसगढ़ में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोग 33 प्रतिशत से बढ़कर 40 प्रतिशत हो गए और आज भाजपा सरकार के 15 साल के शासन के बाद छत्तीसगढ़ के 18 प्रतिशत लोग झुग्गियों में रहते हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि 15 साल की किन उपलब्धियों की बात कर रहे हैं अमित शाह? अमित शाह बतायें कि 15 साल के रमन सिंह के शासनकाल के दौरान हुए झीरम घाटीकांड, नसबंदी कांड, गर्भाशय कांड, पेद्दागेल्लूर झलियामारी कांड, 36 हजार करोड़ का नान घोटाला, डीकेएस घोटाला, सारकेगुड़ा, बिलासपुर कांग्रेस भवन में घुसकर हुआ लाठीचार्ज क्या भाजपा की उपलब्धियां है? किन उपलब्धियों की बात अमित शाह कर रहे हैं? डॉ. रमन सिंह के 15 साल के कार्यकाल के दौरान हुये कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार की काली कमाई ही भाजपा की उपलब्धि है क्या? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा के 15 साल के शासनकाल में सिर्फ चंद ठेकेदार चंद चाटुकार अधिकारी ही खुशहाल थे और छत्तीसगढ़ के किसान, युवा, मजदूर, महिलाएं, व्यापारी, दुखी रहे हैं। अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के जनकल्याणकारी कार्यो से छत्तीसगढ़ का जन-जन खुशहाल हो रहा है।
  • Video -- प्रवीण सोमानी अपहरण कांड के तीन आरोपी पकड़ाए - एसएसपी आरिफ शेख

    Video -- राजधानी रायपुर के व्यवसायी प्रवीण सोमानी अपहरण कांड मे पुलिस ने सक्रियता का परिचय देते हुए 14 दिनों में अनेक प्रदेशों में छापेमारी के बाद आखिरकार अपहृत प्रवीण सोमानी को सही सलामत वापस लाकर लोगों के बीच पुलिस के प्रति विश्वास कायम किया था |

     

    एसएसपी आरिफ चेक ने उसी मामले में खुलासा करते हुए 3 आरोपियों की गिरफ्तारी की जानकारी दी | एसएसपी ने बताया कि पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश में लगी रही, अनेक जगह छापे मारे गए जिसमें गंजाम जिले से तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली| अपहरण कांड के बारे में पुलिस जिस सोच पर चल रही थी वह सही साबित हुई | आरोपियों द्वारा बताए गए अपहरण के तरीकों से यह पुष्टि भी हुई है| एसएसपी आरिफ शेख ने पत्रकारों को बताया कि जल्द ही बाकी बचे पांचों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा | 

    CG 24 News के लिए लविंदरपाल की रिपोर्ट

  • अमित शाह के दौरे को लेकर बीजेपी कर रही शक्ति प्रदर्शन की तैयारी
    रायपुर ब्रेकिंग केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का रायपुर दौरा कल.... अमित शाह के दौरे को लेकर बीजेपी कर रही शक्ति प्रदर्शन की तैयारी.... बीजेपी प्रदेश कार्यालय में नेताओं को करेंगे संबोधित.... नक्सलियों के मुद्दे पर रणनीति बनाने कल आ रहे है केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह.... पांच राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ करेंगे बैठक....
  • आज़ादी के बाद पहली बार फहरा तिरंगा इस गांव में
    दंतेवाड़ा 26 जनवरी 2020/सूरज की पहली किरण के साथ हुआ काले साये का खात्मा और उदियमान हुआ एक नया सवेरा, जहाँ ना कोई डर है ना कोई का भय, दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाना क्षेत्र के पोटाली गांव में आज़ादी के बाद पहली बार शान से तिरंगा लहराया, तिरंगा के आकाश में छाते ही सालों से चले आ रहे लाल झंडे का खौफ भी समाप्त हुआ, आपको बता दें कि जिले के कलेक्टर, एसपी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी अल सुबह पोटाली पहुंच कर ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी गयी, हर्ष फायर से आकाश गुंजायमान हुआ, सही मायनों में आज यहाँ की धरती ने गनतंत्र को त्याग गणतंत्र हासिल किया और ये सपना जिला प्रशासन और जिला पुलिस के हौसलों से पूरा हुआ है, गौरतलब है कि दंतेवाड़ा कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव, जिला पंचायत सीईओ एस आलोक, सयुंक्त कलेक्टर आभिषेक अग्रवाल, एसडीएम लिंगराज सिदार, डीएसपी देवांश सिंह राठौर, डीएसपी सुश्री दिनेश्वरी नन्द तथा अन्य अधिकारी कर्मचारी की उपस्थिति में पोटाली में ध्वजारोहण किया गया, ध्वजारोहण के बाद अधिकारियों ने जवानों संग लंबी बातचीत कर उनका हौसलाअफजाई किया, आज का दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज होने के साथ लोगों के मन में यह विचार घर कर गया कि अब वो दिन दूर नहीं जब पूरा बस्तर सुकून की सांसे ले पायेगा और शान से कहेगा भारत माता की जय, गणतंत्र दिवस अमर रहे..
  • ...गणतंत्र दिवस के अलसुबह कलेक्टर, एसपी ने पोटाली में फहराया तिरंगा...
    दंतेवाड़ा 26 जनवरी 2020-सूरज की पहली किरण के साथ हुआ काले साये का खात्मा और उदियमान हुआ एक नया सवेरा, जहाँ ना कोई डर है ना कोई का भय, दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाना क्षेत्र के पोटाली गांव में आज़ादी के बाद पहली बार शान से तिरंगा लहराया, तिरंगा के आकाश में छाते ही सालों से चले आ रहे लाल झंडे का खौफ भी समाप्त हुआ, आपको बता दें कि जिले के कलेक्टर, एसपी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी अल सुबह पोटाली पहुंच कर ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी गयी, हर्ष फायर से आकाश गुंजायमान हुआ, सही मायनों में आज यहाँ की धरती ने गनतंत्र को त्याग गणतंत्र हासिल किया और ये सपना जिला प्रशासन और जिला पुलिस के हौसलों से पूरा हुआ है, गौरतलब है कि दंतेवाड़ा कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव, जिला पंचायत सीईओ एस आलोक, सयुंक्त कलेक्टर अभिषेक अग्रवाल, एसडीएम लिंगराज सिदार, डीएसपी देवांश सिंह राठौर, डीएसपी सुश्री दिनेश्वरी नन्द तथा अन्य अधिकारी कर्मचारी की उपस्थिति में पोटाली में ध्वजारोहण किया गया, ध्वजारोहण के बाद अधिकारियों ने जवानों संग लंबी बातचीत कर उनका हौसलाअफजाई किया, आज का दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज होने के साथ लोगों के मन में यह विचार घर कर गया कि अब वो दिन दूर नहीं जब पूरा बस्तर सुकून की सांसे ले पायेगा और शान से कहेगा भारत माता की जय, गणतंत्र दिवस अमर रहे..
  • व्यापारी संघों ने एसएसपी आरिफ शेख सहित पुलिस प्रशासन का आभार माना
    छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र जग्गी के नेतृत्व में रायपुर पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख से मुलाकात कर उन्हें प्रवीण सोमानी के केस में मिली सफलता पर बधाई दी साथ ही प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस अधीक्षक एसएसपी आरिफ शेख, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस व्यापर प्रकोष्ट, छत्तीसगढ़ मिनी स्टील प्लांट एसोसिएशन, उरला इंडस्ट्रीज एसोसिएशन और अन्य औद्योगिक एवं व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों ने मुलाकात की | छत्तीसगढ़ को वापिस सुरक्षित माहौल देने व उद्योगपति एवं यहाँ की जनता के बीच में एक विश्वास पुर्नजीवित करने के लिए पुलिस प्रशासन एवं राज्य शासन की प्रसंशा की तथा आभार व्यक्त किया गया। इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेसी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र जग्गी महामंत्री प्रमोद जैन, मनीष धूप्पड , उपाध्यक्ष सुमीत गुप्ता उरला एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विनी गर्ग , योगेंद्र नारंग ,अजय अग्रवाल, उपस्थित थे |
  • बिजली कटौती की साजिश का हुआ बड़ा खुलासा -
    रायपुर/23 जनवरी 2020। बिजली कटौती की साजिश का हुआ खुलासा पर प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रिश्वतखोर अधिकारियों ने पैसे लेकर झूठा पावर कट करने के बावजूद कांग्रेस सरकार में रमन सरकार से कम पावर कट हुआ। राजनैतिक फायदे के लिये भी संघी अधिकारियों ने फर्जी पावर कट किया। छोटे से आर्थिक लाभ के लिये सारे बिजली उपभोक्ताओं को असुविधा के स्थिति में डालना और इंवटर कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिये पावर कट करना झूठा पावर कट करना, झूठा ब्लेकआउट करना ये निम्नतम स्तर की आपराधिक कार्यवाही है। ऐसे रिश्वतखोर अधिकारियों पर समुचित और कड़ी कार्यवाही विद्युत मंडल के द्वारा की गयी है। ऐसे अधिकारियों को तो एक क्षण भी नौकरी पर रहने का अधिकार नहीं है। पढ़ने वाले बच्चे, खाना बनाने वाली माताएं, गृहणियां, इन लोगों को असुविधा इन अधिकारियों ने चंद चांदी के टुकड़ों के लिये की है। बहुत सारे लोग बिजली पर अपने रोजी रोटी के लिये निर्भर करते है। वेल्डिंग दुकान लेथशॉप चलाने वाला बिजली पर अपनी रोजी रोटी के लिये निर्भर रहते है। ऐसे लोगो की रोजी रोटी से खिलवाड़ करना, बच्चों की पढ़ाई से खिलवाड़ करना ये कदापि स्वीकार नहीं है। ऐसे आचरण को माफ नहीं किया जा सकता है। पूर्व में भी कांग्रेस ने इस बात को पुरजोर तरीके से उठाया था कि जानबुझकर कई जगह पावर कट की स्थिति उत्पन्न करने में कुछ अधिकारी लगे हुये है। इस स्टिंग आपरेशन से कांग्रेस के आरोप भी सही साबित हुये है। रिश्वत लेकर पावर कट करने वाले अधिकारियों पर जो कड़ी कार्यवाही विद्युत मंडल के द्वारा की गयी है, इस कार्यवाही का कांग्रेस पार्टी स्वागत करती है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कड़े शब्दों में कहा है कि निश्चित रूप से अपने निहित राजनैतिक स्वार्थ के लिये और आर्थिक स्वार्थ के लिये भ्रष्ट अधिकारियों ने इंवटर कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिये की हो, किसी राजनैतिक दल को फायदा पहुंचाने के लिये बिजली होने के बावजूद ब्लेकआउट किया, इसे तो क्षमा नहीं किया जा सकता है। राजनांदगांव में जो प्रकरण हुआ था, वो भी एक इंवटर कंपनी से जुड़ा हुआ मामला था। ऐसे मामले अक्षम्य है, और कड़ी से कड़ी कार्यवाही ही इस मामले में उचित और आवश्यक है। इन लोगों के लिये पैसा महत्वपूर्ण होगा लेकिन पैसा इतना महत्वपूर्ण नहीं होता कि छात्रों की पढ़ाई के साथ खिलवाड़, गृहणियों के साथ खिलवाड़ किया जाये। ग्रामीण इलाकों में कई जगह सांप, बिच्छु निकलने की घटनायें होती है और ऐसे समय में बिजली के जाने से लोगों को बड़ी असुविधा होती है। यदि कोई भ्रष्ट अधिकारी आर्थिक लाभ के लिये कोई विद्युत उपभोक्ताओं को असुविधा में डाल रहा है तो ऐसे अधिकारी को क्षमा नहीं किया जा सकता। रमन सिंह सहित भाजपा नेताओं ने बिजली कटौती को लेकर जो आरोप लगाये थे, अंततः वे गलत साबित हुये। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 19 जुन 2019 को कांग्रेस ने कहा था कि आंकड़े बताते है रमन सरकार के समय ज्यादा बिजली कटती थी। परिस्थितियो को बिगाड़ने के लिये प्रीमानसून मेंटेंनेन्स, ओवरलोड ट्रिपिंग या घटिया क्वालिटी विद्युत के उपकरणों के बार-बार खराब होने के कारण बिजली चले जाने को रमन सिंह जी के 15 वर्षो के शासनकाल में विद्युत मंडल में उपकृत करने के उद्देश्य से घुसाये गये संघी अधिकारी झूठमूठ में पावर कट कहकर विद्युत मंडल ही के खिलाफ दुष्प्रचार में लगे हुये है। कांग्रेस सरकार ने तो प्रदेश में बिजली की मांग से ज्यादा उत्पादन के द्वारा कीर्तिमान स्थापित किया है जिससे बौखलाकर जनविरोधी रवैय्ये के उजागर होने से डूबती हुयी भाजपा द्वारा हर मामले में झूठ के तिनके को सहारा बनाया जा रहा है। विवरण जनवरी से मई 2018 तक भाजपा शासनकाल में जनवरी से मई 2019 तक कांग्रेस शासन काल में 33KVA फीडर ब्रेक डाउन और शटडाउन 8254 बार 6761 बार 33KVA बिजली बंद 16645.69 घंटे 13041.02 घंटे 11KVA फीडर, ब्रेक डाउन और शटडाउन 84421 बार 70449 बार, 11KVA फीडर बंद 104770 घंटे 85772 घंटे, दोनो फीडर ब्रेक डाउन और शटडाउन 92675 बार ब्रेक शटडाउन, 77510 बार ब्रेक शटडाउन, दोनो फीडर बिजली बंद 1 लाख 21 हजार 46 घंटे 98 हजार 813 घंटे
  • CAA के समर्थन में राजधानी रायपुर पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य

    CAA के समर्थन में राजधानी रायपुर पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी कुछ भी कहे कोई असर नहीं पड़ने वाला | हमने तो उनका नाम श्रीमती प्रियंका ट्विटर वाड्रा रखा है | वे सिर्फ ट्वीट करती हैं और कोई काम नहीं करती | कांग्रेसी हैं और सत्ता का सुख भोगने वाले लोग हैं |

     

     

  • भाजपा सत्ता में थी तब सरकारी शराब दुकान खोलकर कमीशनखोरी करती थी

    भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया पहले भाजपा के नेताओं द्वारा की जा रही शराब तस्करी तो बंद करवायें, भाजपा सत्ता में थी तब सरकारी शराब दुकान खोलकर कमीशनखोरी करती थी - अब बड़े पैमाने पर शराब तस्करी के मामले हो रहे हैं उजागर -  भाजपा और शराब की कमाई का चोली दामन का साथ --

     

    रायपुर/21 जनवरी 2020। भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने के बयान पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि शराब तस्करी में तो भाजपा के नेता पकड़े गये है ऐसे में किस मुहँ से भाजपा शराबबंदी की बात करती है? छत्तीसगढ़ भाजपा के पितृपुरुष माने जाने वाले नेता का भी तो मूल काम शराब बेचना ही था। भाजपा और शराब की कमाई का तो चोली दामन का साथ है। शराब की काली कमाई से ही कीचड़ फैलाकर छत्तीसगढ़ में भाजपा ने तो कमल खिलाया था जो अब मुरझा गया है। भाजपा सत्ता में थी तब शराब की सरकारी दुकान खोलकर शराबलॉबी से कमीशन लेती थी, अब विपक्ष में है तब शराब तस्करी कर काली कमाई में जुटी है। भाजपा वास्तविक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार द्वारा चलाये जा रहे शराबबंदी मुहिम को सफल बनाकर छत्तीसगढ़ को शराब मुक्त प्रदेश बनाने की सोच रखती है तो शराब तस्करी में जुड़े भाजपा के नेता शराब तस्करी बंद करे और भाजपा की बी टीम शराब तस्करों को संरक्षण देना बंद करे। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा की नीति मुँह में राम बगल में नाथूराम वाली है। शराबबन्दी अभियान को सफल होते देख भाजपा के नेता शराबबंदी के लिए बयानबाजी कर सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं, तो दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के बाहर से शराब तस्करी कर शराबबंदी अभियान को असफल करने का घृणित कार्य कर रहे हैं। बलौदाबाजार जिला के भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष और पूर्व सांसद प्रतिनिधि स्वयं की गाड़ी में और विद्युतमंडल का नाम लिखे दो गाड़ियों में अवैध शराब परिवहन करते पकड़े जाते है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नेतृत्व वाली सरकार ने शराबबंदी के लिए जो कमेटियां गठित किए हैं वह कमेटियां लगातार शराबबंदी अभियान को सफल बनाने में जुटी हुई है। सामाजिक चेतना के माध्यम से चलाये जा रहे शराबबंदी अभियान के बेहतर परिणाम मिलने शुरू हो गए है। शराब की बिक्री में 15 से 20 प्रतिशत की गिरावट भी आई है। कांग्रेस सरकार में लगातार अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। बड़े पैमाने पर अवैध शराब पकड़ी भी गयी है। शराबबंदी की दिशा में पहला मजबूत कदम कांग्रेस सरकार ने उठा ही दिया है।

  • जनसंपर्क विभाग की बड़ी खामी ---

    छत्तीसगढ़ प्रदेश के जनसंपर्क विभाग की बड़ी खामी | 
    जनसंपर्क विभाग की जिम्मेदारी है कि प्रदेश के हर विभाग की नियमित खबरें अर्थात प्रतिदिन की कार्यवाही छत्तीसगढ़ जनसंपर्क 
    dprcg.gov.in  की वेबसाइट पर नियमित रूप से अपडेट करें | 
    परंतु देखने में आ रहा है कि छत्तीसगढ़ जनसंपर्क की वेबसाइट में मुख्यमंत्री - राज्यपाल सहित कुछ विभागों को छोड़कर अनेक विभागों में अपडेट की प्रक्रिया बहुत पुरानी है |

    CG 24 न्यूज़ ने छत्तीसगढ़ जनसंपर्क की वेबसाइट को बारीकी से जांचा और पाया कि विभाग का रवैया ढीला ढाला है |
     हम आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ जनसंपर्क की वेबसाइट के जनसंपर्क की एक्टिविटीज 14 जनवरी के बाद नहीं हुई है - मछली पालन विभाग में 7 नवंबर 2019 के बाद कोई खबर नहीं डाली गईं है | उसी प्रकार ऊर्जा विभाग में 4 दिसंबर 2019,  विमानन विभाग और नापतोल विभाग में कोई न्यूज़ नहीं डली है , 
    श्रम विभाग 10 नवंबर 2019,  योजना आर्थिक सांख्यिकी विभाग 17 दिसंबर 2019, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग 30 नवंबर 2019, जन शिकायत विभाग कोई खबर नहीं आपदा प्रबंधन विभाग में 28 दिसंबर 2019 के बाद आज दिनांक तक कोई अपडेट नहीं है |

    प्रत्यक्ष प्रमाण के लिए Un Update विभागों के लिंक निचे दिए गए हैं 

    1.  Jansampark  Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=40

    14 Jan 20

     

    1. Fishary  Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=37

    7 Nov. 19

    1. Urjaa Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=10

    4 Dec. 19

     

    1. Vimanan Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=44

    No News

     

    1. Naap Taul Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=41

    No News

    1. Shram Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=23

    10 Dec. 19

    1. Yojna  Aarthik  Sankhyikiy  Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=43

    17 Dec. 19

     

    1. Suchanaa Praudyoki  Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=46

    30 nov. 19

     

    1. Jan shikayat  Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=39

    No News

    1. Aapda Prabandhan Vibhag

    http://dprcg.gov.in/samachar.jsp?c=49

    28 Dec. 19

    ----------------------

     अब ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि लाखों करोड़ों रुपए लगाकर हर विभाग अपने अपने विभागों की जानकारी जनमानस तक पहुंचाने के लिए वेबसाइटों का निर्माण तो करता है,परंतु उसे नियमित अपडेट करने में पीछे रहते हैं | 
    छत्तीसगढ़ जनसंपर्क विभाग जहां करोड़ों अरबों रुपए का विज्ञापन बांटा जाता है, ताकि शासन की योजनाओं  और  विकास कार्यों के बारे में  खबरें  हर व्यक्ति हर घर तक पहुंचे परंतु वहां के अधिकारी अपनी वेबसाइट को ही अपडेट नहीं रख रहे हैं | 
    लाखों रुपए तनख्वाह लेने के बाद अधिकारी कर्मचारी अपने कर्तव्यों का पालन पूरी तरह क्यों नहीं करते ? - गलती इंसान से होती है, परंतु कभी-कभार की गलती स्वीकार्य है, नियमित रूप से होने वाली गलती को जानबूझकर की गई लापरवाही माना जाना चाहिए  और इसके लिए विभागीय कार्यवाही के साथ-साथ आर्थिक दंड भी तय किया जाना चाहिए |