Top Story
  • कु. प्रतिक्षा का नवोदय विद्यालय में चयन हुआ अब आसान तीन दिनों के भीतर हासिल हुआ जाति प्रमाण पत्र
    बेमेतरा 30 जून 2019ः- प्रतिक्षा को अब जाति प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए अब प्रतिक्षा नहीं करनी पड़ी। उनका काम आसान कर दिया है लोक सेवा गारंटी अधिनियम ने। इस अधिनियम का लाभ अब जनसामान्य को शासन प्रशासन की संवेदनशीलता के कारण सहजता से मिलने लगा है। प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप सभी शासकीय कार्यालयों में लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत अधिसूचित सेवाएं समय समय-सीमा में उपलब्ध होने से लोगों का शासन-प्रशासन के प्रति जन विश्वास भी बढ़ा है। जिसके परिणामस्वरूप आज आम नागरिकों के साथ-साथ स्कूली विद्यार्थियों एवं किसानों के मन भी एक नयी विश्वास एवं खुशी की एक नयी चमक खिल उठी है। आज इसी का परिणाम है कि बेमेतरा जिले के तहसील कार्यालयों में संचालित लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से कु. प्रतिक्षा घृतलहरे पिता दिग्विजय घृतलहरे निवासी ग्राम पिकरी बेमेतरा, कु. हिमांशी/लेखूदास बंजारे निवासी ग्राम खेड़ा तहसिल नवागढ़, कु. रोशनी/जगमोहन चतुर्वेदी निवासी ग्राम बेलदहरा नवागढ़, कु. सुहानी/सुरजीत बंजारे निवासी ग्राम पौंसरी तहसील बेमेतरा एवं रमेशचन्द्र ने बड़े ही सहजता से 03 दिनों के अंतर्गत जाति एवं निवास प्रमाण पत्र प्राप्त किया। जिससे उनका नवोदय विद्यालय में प्रवेश पाना आसान हो सका तथा अब आगे की पढ़ाई करने हेतु प्रतिक्षा की घड़ी समाप्त हो गयी है एवं विद्यार्थियों का नवोदय विद्यालय में प्रवेश से आगे बढ़ने का सपना साकार हुआ है, जिससे उनके चेहरे में खुशी की लहर एवं आगे बढ़ने की जिज्ञासा जाग उठी है। पिकरी निवासी प्रतीक्षा घृतलहरे के पिता दिग्विजय घृतलहरे ने बताया कि उन्हें नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु काउंसलिंग में शामिल होने के लिए उनके पुत्री को जाति एवं निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता थी, जाति और निवास प्रमाण पत्र हेतु उनके द्वारा तहसील कार्यालय में आवेदन देने के मात्र 03 दिन में उनका जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बन गया। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि उन्हें इस बात की उम्मीद नहीं थी कि उन्हें बिना किसी परेशानी के इतनी सहजता से जाति, निवास प्रमाण पत्र मिल जायेगा। आवेदन देने के तीसरे दिन मोबाईल पर प्रमाण पत्र जारी हो जाने की सूचना मिलने पर वह लोक सेवा केन्द्र गए और उन्हें जाति एवं निवास प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ। कु. प्रतीक्षा ने यह प्रमाण पत्र तहसीलदार एवं अनुविभागीय अधिकारी के हाथों लिया जिससे उनके मन में आगे बढ़ने की जिज्ञासा एवं हौसला बढ़ गया। उन्होंने बताया कि छ.ग. के मुखिया हमारे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आम लोगों को दी जाने वाली सेवाओं को निर्धारित अवधि में उपलब्ध कराने के लिए लोक सेवा गारंटी अधिनियम को न सिर्फ कड़ाई से लागू करना सुनिश्चित किया, बल्कि यह भी सुनिश्चित किया कि समय-सीमा के भीतर इस अधिनियम के अंतर्गत उपलब्ध सेवाओं का लाभ आवेदनकर्ता को मिल सके। इस दिशा में भी कड़ा कदम उठाया। इसी का परिणाम है कि आज बच्चों को आसानी से जाति एवं निवास प्रमाण पत्र प्राप्त हो रहा है।
  • लोकसेवा गारंटी के अंतर्गत बेमेतरा जिले में 88 हजार 124 आवेदनों का निराकरण
    बेमेतरा 30 जून 2019:- प्रदेश में अब सरकारी कर्मचारी, अधिकारियों को आम नागरिकों का काम निर्धारित समय सीमा में करना होगा। इसके लिए छ.ग. लोकसेवा गारंटी अधिनियम का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस अधिनियम के मुताबिक निर्धारित समय सीमा में कार्य नहीं करने पर संबंधित अधिकारी, कर्मचारी से 100 रूपए से 1000 रूपए तक अर्धदण्ड वसूला जाएगा। साथ ही इसमें अपील का भी प्रावधान किया गया है। इस अधिनियम में किये गये प्रावधानोें के मुताबिक यह अधिनियम छ.ग. शासन से संबंधित सिविल सेवाओं, स्थानीय निकायों शासन से नियंत्रण वाले अभिकरणों में लागू है। प्रत्येक व्यक्ति को राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित समय के भीतर लोक सेवा प्राप्त करने का अधिकार है। आमजनांे को शासन के विभिन्न विभागों के माध्यम से संचालित सेवाओं का लाभ तय समय-सीमा में मिल सके इसके लिए राज्य सरकार द्वारा लोक सेवा गारंटी अधिनियम को लागू किया गया है। कलेक्टर महादेव कावरे ने बताया कि इसके तहत बेमेतरा जिले में इस साल अब तक करीब 88 हजार 124 आवेदनांे का निर्धारित समय सीमा में निराकरण सुनिश्चित किया गया है। कलेक्टर श्री कावरे प्रत्येक मंगलवार को समय सीमा की बैठक के दौरान छ.ग. लोकसेवा गांरटी अधिनियम के तहत प्राप्त प्रकरणों की जानकारी लेकर इसके निदान के निर्देश विभागीय अधिकारियों को देते है। राज्य सरकार द्वारा लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से आमजनों को ऑनलाइन आवेदन की सुविधा उपलब्ध कराया जा रही है। नागरिकों को जनपयोगी सेवाओं की उपलब्धता के लिए जिले में 14 लोक सेवा केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इनमें बेमेतरा जिले के 08 नगरीय निकाय के मुख्यालय 05 तहसील कार्यालय एवं 01 संयुक्त जिला कार्यालय (कलेक्टोरेट) शामिल है। लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से विभिन्न विभागों द्वारा 42 से अधिक नागरिक सेवाएं निर्धारित समय सीमा में प्रदान की जा रही हैं। आवेदक च्वाईस केन्द्रों के अतिरिक्त घर से ऑनलाइन इस सुविधा का लाभ उठा रहे है। आम नागरिक ई-डिस्ट्रिक्ट वेबपोर्टल पर (मकपेजतपबज.बहेजंजम.हवअ.पद में भी आवेदन दर्ज करा सकते हैं। इस वेब पोर्टल के माध्यम से विभिन्न प्रमाण पत्र-आय, जाति, मूल निवास, जन्म मृत्यु, विवाह पंजीयन, गुमास्ता लाइसेंस, खाद्य विक्रेता, राशनकार्ड, पेंशन योजनाएं जैसे वृद्धावस्था, विधवा पेंशन आदि से संबंधित आवेदन दर्ज करा सकते हैं। नल कनेक्शन, संपत्ति नामांतरण, ड्राइविंग लाइसेंस, रोजगार पंजीयन, भवन निर्माण अनुमति, किसान किताब, संपत्ति कर, जल कर, सीमांकन, नामांकन सहित विभिन्न विभागों की चिन्हित नागरिक सेवाओं के लिए आवेदन दिए जा सकते हैं।
  • बिलासपुर के विकास में श्री यादव का योगदान अविस्मरणीयः श्री भूपेश बघेल
    बिलासपुर 30 जून 2019। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज बिलासपुर के बृहस्पति बाजार में स्थापित अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री स्व.श्री बी.आर.यादव की आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया और नगर निगम क्षेत्र में 3 करोड़ 59 लाख 67 हजार रूपये के कार्यों का लोकार्पण किया। उन्होंने विकास कार्यों के लिये बिलासपुर नगर निगम को 10 करोड़ रूपये देने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त नगर पालिका परिषद रतनपुर, तखतपुर और तिफरा को एक-एक करोड़ और नगर पंचायत कोटा, बोदरी, बिल्हा, सकरी, मल्हार, पेण्ड्रा, सिरगिट्टी, गौरेला को 50-50 लाख देने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य बनाने से लेकर सामाजिक आंदोलनों, विकास के कार्यों में स्व.श्री यादव का योगदान अविस्मरणीय है। उन्होंने बिलासपुर के बहतराई में नवनिर्मित अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम का नाम स्व.श्री यादव के नाम पर करने की जानकारी दी। कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद एवं अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद जिस तरह परिवार का विभाजन होने पर दुख होता है, वही दुख उन्होंने महसूस किया लेकिन प्रसन्नता है कि राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ में तेजी से प्रगति हुई। नैसर्गित संसाधनों से भरपूर इस राज्य ने प्रगति की ओर सतत् कदम बढ़ाए हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व से छत्तीसगढ़ में उत्तरोत्तर विकास होगा। उन्होंने प्रदेश के विकास में श्री यादव के योगदान को याद किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि स्व.श्री यादव सीधे, सहज, सरल व्यक्तित्व के मालिक थे। वे बिलासपुर के निर्माणकर्ता थे। श्री साहू ने कहा कि प्रभारी मंत्री होने के नाते वे यह प्रयास करेंगे कि बिलासपुर में विकास का एक अच्छा वातावरण निर्मित हो। कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष श्री चरणदास महंत ने अपने संबोधन में कहा कि बिलासपुर और छत्तीसगढ़ के विकास के लिये स्व. श्री यादव ने जो कार्य किया है, उनके कार्य को आगे बढ़ायें। उन्होंने प्रदेश में सभी धर्माें, समुदाय, वर्गाें के लिये सौहार्द्र का वातावरण निर्मित किया। उनका व्यक्तित्व और कृतित्व विशाल था। कार्यक्रम में बिलासपुर के विधायक श्री शैलेष पाण्डेय, स्व.यादव के पुत्र श्री कृष्ण कुमार यादव, श्री अटल श्रीवास्तव ने संबोधित किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत 27 हितग्राहियों को 15 लाख रूपये से ज्यादा की राशि प्रथम किश्त के रूप में प्रदान की साथ ही राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत 18 समूहों को 1 लाख 80 हजार रूपये का आवर्ती निधि एवं दो हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के स्वीकृति पत्र प्रदान किये। कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन कलेक्टर डाॅ.संजय अलंग ने दिया। कार्यक्रम में श्री दिग्विजय सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती अमृता सिंह, तखतपुर विधायक श्रीमती रश्मि सिंह ठाकुर, नगर निगम के महापौर श्री किशोर राय, विधायक श्री मोहित केरकेट्टा, श्री धरमजीत सिंह ठाकुर, श्री रामकुमार यादव, पूर्व सांसद श्रीमती कमला मनहर, श्री रामाधार कश्यप, श्री रामेश्वर निखरा, नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष श्री शेख नजरूद्दीन, पूर्व महापौर राजेश पाण्डेय, राउत नाचा महोत्सव समिति के अध्यक्ष श्री कालीचरण यादव, नगर निगम के पार्षद, गणमान्य नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे। क्रमांक 367/अग्रवाल --00-- समाचार मुख्यमंत्री ने दी नगर निगम क्षेत्र में फ्री वाई फाई की सौगात बिलासपुर 30 जून 2019। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने एक बटन क्लिक कर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत बिलासपुर शहरवासियांे को फ्री वाई-फाई की सौगात दी। स्व.श्री बी.आर.यादव प्रतिमा अनावरण समारोह में आज मुख्यमंत्री ने वाई-फाई सेवा लांच कर शहरवासियों को समर्पित की। इसके साथ ही उन्हांेने नगर-निगम बिलासपुर एवं स्मार्ट सिटी द्वारा तैयार किया गया बिलासपुर का अपना स्वच्छता गीत लांच किया। शहरवासियों को फ्री वाई-फाई सेवा नेहरू चैक, स्वामी विवेकानंद उद्यान, रीव्हर व्यू रोड, मैग्नेटो माॅल के पास श्रीकांत वर्मा मार्ग, स्मृति वन, गोल बाजार, राजीव प्लाजा, टैगोर चैक से गांधी चैक, पंडित दीनदयाल उद्यान और पुलिस ग्राउण्ड में मिलेगी।
  • शिक्षकों के लिए खुशखबरी, सरकार ने जारी किए 49.51 करोड़
    रायपुर। नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया के निर्देश पर नगरीय निकाय में कार्यरत शिक्षक संवर्ग के लिए लगभग 49.51 करोड़ रुपए का आबंटन जारी कर दिया गया है। नगरीय निकाय प्रशासन विकास विभाग द्वारा यह आबंटन माह अप्रैल से माह सितंबर तक के वेतन भुगतान के लिए जारी कर दिया गया है। डॉ. डहरिया ने शिक्षकों के नियमित वेतन भुगतान करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। निकायों द्वारा शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए आबंटन करने मांग की जा रही थी। आबंटन जारी हो जाने से अब शिक्षकों को नियमित रूप से वेतन मिलेगा।                       
  • कैरोसिन कटौती वापस लेने, सीएम ने पीएम को लिखा खत
    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर छत्तीसगढ़ के केरोसिन आबंटन में की गई कटौती को वापस लेते हुए प्रतिवर्ष 1.53 लाख किलोलीटर केरोसिन का आबंटन देने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि इससे छत्तीसगढ़ राज्य के सभी गरीब एवं जरूरतमंद परिवारों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से आवश्यकता अनुसार केरोसिन सुगमता से प्रदान किया जा सकेगा।     मुख्यमंत्री ने लिखा है कि पूर्व में भी मेरे द्वारा 26 मार्च 2019 को पत्र लिखकर आपसे आग्रह किया था कि छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के क्रियान्वयन के उपरांत पीडीएस केरोसिन के आबंटन में कटौती की गई। एलपीजी सिलेण्डर की अधिक दर होने एवं राज्य में एलपीजी की द्वारा प्रदाय की सुविधा सीमित होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में इसकी वार्षिक रिफिलिंग दर नगण्य है। इस कारण राज्य के वार्षिक केरोसिन आबंटन को 1.1 लाख किलोलीटर से बढ़ाकर 1.58 किलोलीटर करने का अनुरोध किया गया था।     मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य के पीडीएस केरोसिन के आबंटन में वृद्धि के बजाए वर्तमान वित्तीय वर्ष 2019-20 के द्वितीय तिमाही हेतु भारत सरकार द्वारा जारी आबंटन में प्रदेश के केरोसिन कोटा में 10 हजार 884 किलोलीटर अर्थात 38 प्रतिशत की कमी की गई है।     राज्य के 146 विकासखण्डों में से 85 अर्थात 58 प्रतिशत अनुसूचित विकासखण्ड हैं। यहां के परिवारों की आर्थिक स्थिति प्रतिमाह एलपीजी सिलेण्डर के रिफिल हेतु एकमुश्त राशि जमा कराए जाने योग्य नहीं है। इसी तरह गैर अनुसूचित क्षेत्रों में भी निवासरत अन्त्योदय एवं प्राथमिकता वाले परिवारों के लिए रिफिल हेतु एकमुश्त राशि की व्यवस्था सदैव संभव नहीं हो पाती है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत शामिल लाभार्थी को पीडीएस केरोसिन हेतु अपात्र मानकर राज्य के केरोसिन कोटा में बड़ी कमी किया जाना उचित नहीं है।     
  • सड़क हादसे में तीन युवकों की मौत
    कांकेर-कोंडागांव जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग में बस और स्कॉर्पियो की टक्कर से जगदलपुर के 3 युवाओं की मौत हो गयी फरसगांव के पास शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर सड़क हादसे में जगदलपुर के 3 युवाओं की मौत हो गई है। दुर्घटना देर रात करीब 2 बजे के लगभग हुई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी युवक एक स्कोर्पियो वाहन में अपने एक दोस्त की शादी में शामिल होने कोरबा जा रहे थे। इसी दौरान फरसगांव के पास उनकी स्कोर्पियो गाड़ी एक यात्री बस से टकरा गई। टक्कर इतनी भयंकर थी कि तीनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई* *गंभीर रूप से घायल अन्य दो स्कोर्पियो सवारों को ईलाज के लिए रायपुर रेफर कर दिया गया है वहीं हादसे में घायल एक व्यक्ति का इलाज फरसगांव में ही चल रहा है* *दुर्घटना के बारे में जानकारी देते हुए फरसगांव थाना प्रभारी विनोद साहू ने बताया कि महिंद्रा बस (सीजी 19 एफ 0288) यात्रियों को लेकर रायपुर से बीजापुर जा रही थी। देर रात 2 बजे के करीब यह बस फरसगांव में चिचारीनाला के पास, जगदलपुर से कोरबा की ओर जा रही स्कार्पियो वाहन से टकरा गई* *इस सड़क दुर्घटना में जगदलपुर के तीन युवक सतीश राव, पिंकू चौहान, मनोज कुमार की मौके पर ही मौत हो गई है। स्कोर्पियो में सवार अन्य 2 टीनू टेकाम, कुलमन की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें इलाज के लिए रायपुर रेफर किया गया है। इस दुर्घटना में एक अन्य घायल रितेश पटेल का उपचार फरसगांव में ही चल रहा*
  • रो पड़े सीएम भूपेश, बताई मरकाम के अध्‍यक्ष बनने के पीछे की कहानी

    रायपुर । प्रदेश के सीएम और अब तक कांग्रेस के अध्‍यक्ष रहे भूपेश बघेल ने संगठन की नई टीम को बधाई दी। राजीव भवन में आयोजित कार्यक्रम में उन्‍होंने विपक्ष में रहते हुए किए गए कामों और सरकार के खिलाफ चले आंदोलनों को याद किया। नए राजीव भवन को तैयार करने की कहानी भी उन्‍होंने बताई । उन पलों को याद करते हुए सीएम का गला भर आया और आंखों में आंसू भी नजर आए।


    सीएम ने कांग्रेस विपक्ष के दिनों को याद करते हुए कहने लगे कि सारे कार्यक्रम सफल करने में इतना कहकर उनका गला भर आया वो आंसुओं को रोक नहीं पाए । फिर आगे कहा कि एक एक कार्यक्रम को सफल बनाने की मेहनत की, ऐसे समय में रामगोपाल अग्रवाल जी का जिक्र न करना अन्‍याय होगा, 15 साल विपक्ष में रहकर सभी कांग्रेसजनों से मिलकर ये राजीव भवन बना, हमारा संकल्‍प था कि राजीव भवन बने और यहीं से चुनाव का संचालन हो, मुझे याद है पदयात्रा करने राहुल गांधी आए थे, हमने निवेदन किया इस भवन का शिलान्‍यास उन्‍हीं के करकमलों से हो, कुछ साथियों ने कहा पूस मास होता है मुहूर्त नहीं निकला, तब हमने कहा कि जो राहुल गांधी जी समय दें वही हमारे लिए मुहूर्त है, घुटनों तक यहां पानी भरा हुआ था तब राहुल जी ने कहा था शिलान्‍यास तो करवा रहे हैं हो लेकिन ये भवन बनना चाहिए। उन्‍होंने उपाध्‍यक्ष रहते हुए शिलान्‍यास किया और उन्‍होंने राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष रहते हुए इसका उद्घाटन किया  

    मोहन मरकाम कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष बनाए गए हैं। इस पर सीएम भूपेश ने कहा कि  भाई मोहन मरकाम हमारे हर कार्यक्रम में सबसे सामने होते थे तेज चलने वाले इंसान हैं। मैं दिल्‍ली में जब राहुल जी से मिला तो उन्‍होंने पूछा कि किसे बनाया जाए प्रदेश अध्‍यक्ष मैंने कहा कि किसी भी साथी को दे दे दीजिए, सर जब मुझे आपने बनाया था तो किसी से पूछा था क्‍या सीधा नियुक्‍त कर दिया था इसलिए मुझ से मत पूछिए सभी आपके जाने पहचाने हैं और कल निुयक्‍ती मोहन मरकाम जी की हुई उन्‍हें बधाई। 

  • बेरोजगार युवाओं के साथ क्रूरता है मंत्री का बयान: भाजपा*
    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने पुलिस आरक्षक भर्ती के परिणामों को लेकर चल रहे आंदोलन पर प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू के बयान को गैर-जिम्मेदाराना बताया है। श्री उपासने ने कहा कि महीनों बाद भी भर्ती परीक्षा के परिणाम घोषित नहीं कर पाने वाली प्रदेश सरकार के गृह मंत्री आंदोलनरत परीक्षार्थियों का समाधान करने के बजाय यह कहकर उनके मनोबल व आत्म-सम्मान को चोट पहुंचा रहे हैं कि पुलिस परीक्षार्थी इसलिए आंदोलन कर रहे हैं क्योंकि उनके पास कोई काम-धाम नहीं बचा है। भाजपा प्रवक्ता श्री उपासने ने कहा कि प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली ने महज छह महीनों में ही हर मोर्चे पर जन-असंतोष को जन्म दे दिया है। हर वर्ग के लोग कदम-कदम पर प्रदेश सरकार के राजनीतिक पाखंड का शिकार होकर छले जा रहे हैं और अब मंत्रियों का अपनी वाणी में संयम तक नहीं रह गया है। पूरी सरकार अपने सत्तावादी अहंकार के चलते वाचाल हो गई है और जिम्मेदार मंत्री बजाय समस्या का समाधान करने के गैर जिम्मेदाराना बातें कह रहे हैं। श्री उपासने ने राज्य सरकार से पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा के परिणाम शीघ्र घोषित कर इस आंदोलन के मद्देनजर समाधानकारक पहल करने की संजीदगी का परिचय देने की मांग की।
  • सफेद हाथी साबित हो रही प्रदेश शासन की योजनायें: भाजपा
    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चंद्राकर ने नरवा-गरुवा-घुरवा-बाड़ी योजना की विफलता के मद्देनजर प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। श्री चंद्राकर ने इसे गौ-धन पर अत्याचार बताते हुए प्रदेश सरकार द्वारा इस मामले में कार्रवाई नहीं किए जाने की दशा में भाजपा किसान मोर्चा द्वारा संज्ञान लेने की बात कही है। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री चंद्राकर ने बताया कि कवर्धा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों उद्घाटित गौठान और पूरी योजना की पोल एक ही बारिश में खुल गई। मुख्यमंत्री बघेल द्वारा उद्घाटन किए जाने के वक्त जो गौठान साफ-सुथरा और सुंदर नजर आ रहा था, वह पहली ही बारिश में तबाह हो गया। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि उक्त गौठान महज फोटो सेशन के लिए किसी फिल्मी सेट की मानिंद तैयार किया गया था। श्री चंद्राकर ने कहा कि जो गौठान वहां बनाया गया था उसमें गायों के लिए कोई शेड तक नहीं था जिसके कारण बारिश से परेशान गायें गौठान में पानी का जमाव होने से इधर-उधर भाग गईं। नरवा-गरुवा-घुरवा-बाड़ी के नारे की यह सच्चाई सरकार की विफलता की परिचायक है। किसान मोर्चा अध्यक्ष श्री चंद्राकर ने कहा कि भाजपा का यह मत इस घटना से प्रमाणित हुआ है कि इस योजना के नाम पर पूरे प्रदेश को केवल गुमराह किया जा रहा है। महज कुछ गौठान बनाकर अपने मुंह मियां मिठ्ठू बन रही सरकार को अपने तंत्र की कार्यप्रणाली पर लगे इस सवालिया निशान पर ध्यान देना चाहिए। श्री चंद्राकर ने कहा कि गौ-धन जन-आस्था का केन्द्र है और उसके नाम पर किसी योजना का ऐसा भद्दापन कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
  • राज्यपाल ने श्री अमरजीत भगत को मंत्री पद की शपथ दिलाई
    रायपुर, 29 जून 2019/ राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज यहां राजभवन के दरबार हॉल में मंत्रीमण्डल में मंत्री के रूप में विधायक श्री अमरजीत सिंह भगत को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष श्री धरमलाल कौशिक, मंत्रीगण सर्व श्री रविन्द्र चौबे, श्री ताम्रध्वज साहू, श्री मोहम्मद अकबर, डॉ. शिव डहरिया, डॉ. प्रेम साय सिंह, श्री जयसिंह अग्रवाल, श्रीमती अनिला भेड़िया, श्री पी. एल. पुनिया, श्री मोहन मरकाम, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल सहित विधायकगण एवं राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर ने किया। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव श्री सुरेन्द्र कुमार जायसवाल भी मंच पर उपस्थित थे।
  • संतोष को खून-पसीने से खरीदी जमीन का 6 साल बाद मिला मालिकाना हक
    रायपुर, 29 जून 2019/ संतोष कुमार साहू का परिवार अब किराए के मकान में नही रहेगा बल्कि वह अपने खुद के मकान में रह सकेगा। रायपुर के फाफाडीह शास्त्रीनगर निवासी संतोष कुमार साहू मेहनत मजदूरी कर अपने खून-पसीने की गाढ़ी कमाई से 6 साल पहले कृपाराम से रायपुर के बोरियाखुर्द में 1500 वर्गफीट जमीन खरीदी थी, परंतु 5 डिसमिल से कम जमीन की खरीदी-बिक्री पर लगी रोक के कारण जमीन का नामांतरण उसके नाम में नही हो पा रहा था। नामांतरण नही होने से संतोष साहू अपनी ही जमीन पर मकान नही बना पा रहे थे और उनका परिवार जमीन होने के बावजूद किराए के मकान में रहने को मजबूर था। संतोष साहू का कहना है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में बनी नई सरकार ने हम गरीबों की सुनी और छोटे भूखण्डों की खरीदी-बिक्री को फिर से चालू करवाया, मेरे द्वारा खरीदी जमीन अब मेरे नाम में हो गई है अब मैं उसमें अपना घर बना सकूंगा। मुख्यमंत्री के इस फैसले से मेरे जैसे हजारों गरीब परिवारों के स्वयं के आसियाना का सपना अब साकार हो सकेगा। इसके लिए हम सभी मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल के आभारी है। *खरीदने वाले ही नही बेचने वालों को भी मिली राहत* मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा राज्य में छोटे भू-खण्डों की खरीदी-बिक्री पर लगी रोक हटाने से न केवल खरीदने वालों को बल्कि उससे बेचने वालों को भी बड़ी राहत मिली है। रायपुर के छत्तीसगढ़नगर टिकरापारा निवासी श्री नवीन कुमार साहू बताते है कि उन्हांेने 2013 में अपने ही रिश्तेदारों को 1300-1300 वर्गफीट का भूखण्ड बेचा था परंतु नामांतरण नही होने के कारण उनके और उनके रिश्तेदारों के मध्य मनमुटाव उत्पन्न हो गया था। परिवार के सदस्यों के बीच जमीन को लेकर बातचीत तक बंद हो गई थी, रिश्तेदार हमेशा ताना मारते थे कैसी जमीन बेचे हो कि उसमें उनका नाम ही नही चढ़ रहा। श्री नवीन कुमार साहू अब बहुत खुश है कि उनके द्वारा बेची गई जमीन में उनके रिश्तेदारों का नाम चढ़ गया है और अब उनके रिश्तेदारों के बीच इसे लेकर जो मनमुटाव था वह भी खत्म हो गया है।
  • दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल के टिकट चेकिंग स्क्वाड की सजगता से बची 13 बच्चों की जान*
    रायपुर29 जून 2019 को शालीमार कुर्ला एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 18030 में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, रायपुर रेल मंडल कमर्शियल विभाग के टिकट चेकिंग स्क्वाड जो टी. नाग के नेतृत्व में टिकट चेकिंग कर रहे थे रायपुर से टिकट चेक करते हुए S1 से S8 कोच में पहुंचे वहां टिकट चेकिंग के दौरान सीट क्रमांक 27- 28 बर्थ पर लगभग 6 से 14 साल की उम्र के 13 बच्चे भी सफर कर रहे थे उन्हें एक अभियुक्त द्वारा मदरसे पढ़ाई के बहाने ले जाया जा रहा था। टिकट चेकिंग स्टाफ की सजगता के कारण उन्हें कुछ शंका हुई और उन्होंने उन्हों से बात की बातचीत के दौरान स्पष्ट सत्य सामने नहीं आने पर उन्होंने इसकी सूचना मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में कमर्शियल कंट्रोल ऑफिस, रायपुर रेल मंडल के उच्च अधिकारियों, रेलवे सुरक्षा बल को दी । सभी बच्चों को सकुशल दुर्ग स्टेशन पर अभियुक्त के साथ उतार लिया गया एवं अग्रिम कार्यवाही के लिए रेलवे सुरक्षा बल दुर्ग को सौंपा गया । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल सभी यात्रियों से अनुरोध करता है इस तरह से बड़ी संख्या में यदि बच्चों को कोई ले जा रहा है किसी भी प्रकार की शंका होने पर यात्री सुरक्षा हेल्पलाइन 182 चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर जानकारी देकर बेबस, बेसहारा बच्चों को बचाया जा सकता है। रायपुर दुर्ग स्टेशनों पर चाइल्ड हेल्प डैक्स की सुविधा भी प्रदान की गई है वहां भी व्यक्तिगत तौर पर बताया जा सकता है अथवा 1098 पर फोन किया जा सकता है।