Top Story
  • रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडु से सौजन्य मुलाकात की...

    छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज नई दिल्ली में उपराष्ट्रपति  एम. वेंकैया नायडु से सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने उपराष्ट्रपति को छत्तीसगढ़ के कोसे से बनी शाल और बेलमेटल का नंदी भेंट किया। मुख्यमंत्री  बघेल ने छत्तीसगढ़ में संचालित हो रहे विकास कार्योंं पर उपराष्ट्रपति के साथ विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि आगामी 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर प्रदेश के प्रत्येक ग्राम पंचायत में प्रतिदिन पौष्टिक भोजन निशुल्क देने की योजना की शुरूआत की जा रही है। यह कदम प्रदेश को कुपोषण एवं एनीमिया के पीड़ा से मुक्ति दिलाने की दिशा में निर्णायक कदम होगा।  बघेल ने प्रदेश में संचालित हो रहे विभिन्न विकास कार्योंं पर विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य में नरवा, गरवा, घुरवा, बारी के माध्यम से अर्थव्यवस्था और पर्यावरण को नया जीवन देने की पहल की जा रही है, जिसकी उपराष्ट्रपति ने प्रशंसा भी की।

  • रायपुर : स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव ने की नेत्रदान की घोषणा...

     

    रायपुर:स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज नेत्रदान की घोषणा की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि नेत्रदान की घोषणा कर वे सुकून और संतोष का अनुभव कर रहे हैं। मृत्यु के बाद भी यदि हमारा शरीर किसी के काम आ सके तो यह संतोष की बात है। सभी लोगों को आगे आकर नेत्रदान करना चाहिए और इसे बढ़ावा देना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने आज अपने निवास राजकुमार कॉलेज परिसर में अंधत्व निवारण समिति के समक्ष नेत्रदान से संबंधित औपचारिकताओं को पूरा कर घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए। 

     सिंहदेव ने कहा कि नेत्रदान के प्रति भ्रांतियों को दूर करने की जरूरत है। इसमें एक छोटा सा कट लगाकर केवल आंख का कार्निया निकाला जाता है। इसमें किसी भी तरीके से आंख या शरीर क्षत-विक्षत नहीं होता। नेत्रदान के बाद आपकी आंखें किसी और की भी जिंदगी रोशन कर सकती हैं। 

    स्वास्थ्य मंत्री के साथ उनके विशेष सहायक आनंद सागर सिंह और आदित्येश्वर शरण सिंहदेव ने भी नेत्रदान की घोषणा की। इस दौरान रायपुर की पूर्व महापौरकिरणमयी नायक और स्वास्थ्य विभाग के अंधत्व निवारण समिति के राज्य नोडल अधिकारी डॉ. सुभाष मिश्रा भी मौजूद थे।

  • बस्तर अंचल में इसी साल हासिल किया जाएगा शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य - स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव
    रायपुर 12 सितम्बर 2019-लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा है कि बस्तर अंचल में शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को इसी वर्ष हासिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और हजारों मितानिनों के हौसले के बल पर हम इस लक्ष्य को हासिल करेंगे। श्री सिंहदेव आज जगदलपुर के कृषि महाविद्यालय स्थित प्रेक्षागृह में ’आदिवासी अंचलों में टीकाकरण के सुदृढ़ीकरण हेतु’ आयोजित एक दिवसीय राज्य स्तरीय कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे। कार्यशाला में बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष और विधायक बस्तर श्री लखेश्वर बघेल, सांसद बस्तर श्री दीपक बैज, विधायक भानुप्रतापपुर श्री मनोज मंडावी और महापौर श्री जतीन जायसवाल भी विशेष रूप से मौजूद थे। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मैदानी क्षेत्रों की तुलना में बस्तर अंचल की भौगोलिक, सामाजिक और पारम्परिक परिस्थितियां भिन्न हैं। निश्चित रूप से ये परिस्थितियां कठिन हैं, लेकिन अंसभव नहीं है। जब हमने इन क्षेत्रों के गांवों में राशन पहुंचा दिया है, सुकमा जैसे जिले में जैपनीज इनफ्लाईटिस के 70 हजार टीके लगा सकते हैं और जब हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ता और मितानिन कठिन परिस्थितियों में काम कर 70 प्रतिशत टीकाकरण कर सकते हैं, तो मुझे दृढ़ विश्वास है कि शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को भी हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किस गांव या इलाके के बच्चे टीकाकरण से छूट रहे हैं यह स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पता है। इन बच्चों और माताओं तक कैसे पहुंचा जाए, इसके लिए सही और ठोस रणनीति बनाने की जरूरत है। जहां सबसे कम टीकाकरण होगा, वहां वे खुद जाएंगे। कार्यशाला में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने भी अपने विचार रखे। उन्होंने बस्तर अंचल में काम कर रहे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को विशेष प्रोत्साहन देने की मांग की। स्वास्थ्य मंत्री ने उनकी मांग पर विचार करने की बात कही। आदिम जाति कल्याण, स्कूल शिक्षा तथा बस्तर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण अंचलों में टीकाकरण को लेकर अनेक भ्रांतियां है। टीकाकरण के कारण यदि कभी किसी बच्चे को बुखार आ जाए अथवा दर्द हो जाए तो लोग टीकाकरण से बचना चाहते हैं। ऐसी परिस्थितियों में लोगों को जागरूक करने की जरूरत है। इसमें गांव के ऐसे व्यक्ति का सहयोग लिया जा सकता है जो गांव के लोगों को यह समझा सके कि टीकाकरण उनके बच्चे के लिए कितना जरूरी है। स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने कार्यशाला में बताया कि हर साल छत्तीसगढ़ में 6 लाख 22 हजार बच्चे पैदा होते हैं। इन सभी बच्चों तक पहुंचना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले वर्ष 91 प्रतिशत टीकाकरण हुआ था और देश के पांच अग्रणी राज्यों में छत्तीसगढ़ शामिल था। लेकिन जब हम बस्तर अंचल में देखते हैं तो यहां टीकाकरण का प्रतिशत 69 है। नेशनल ट्राइबल हेल्थ रिपोर्ट के अनुसार सामान्य क्षेत्रों की तुलना में आदिवासी क्षेत्रों में टीकाकरण 10 प्रतिशत कम है। इसलिए बस्तर अंचल पर फोकस किया गया है। यहां शत-प्रतिशत बच्चों तक पहुंचने के लिए माईक्रो-प्लानिंग की जरूरत है। उन्होंनें इस कार्य में जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग की अपील की। कार्यशाला को भानुप्रतापपुर के विधायक श्री मंनोज मंडावी और भारत में यूनिसेफ के प्रतिनिधि श्री भृगु कपूरिया ने भी सम्बोधित किया। कलेक्टर कोण्डागांव श्री नीलकंठ टेकाम, कलेक्टर कांकेर श्री के.एल. चैहान, सुकमा कलेक्टर श्री चंदन कुमार ने भी शत-प्रतिशत टीकाकरण को लेकर अपने विचार रखे। कार्यशाला में कमिश्नर बस्तर श्री अमृत कुमार खलखो, संचालक स्वास्थ्य श्री नीरज बंसोड़, संचालक राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन डॉ. प्रियंका शुक्ला, कलेक्टर बस्तर डॉ. अय्याज तम्बोली, कलेक्टर नारायणपुर श्री पी.एस. एल्मा, कलेक्टर बीजापुर श्री के.डी. कुजांम, डॉ. टी.आर. चटर्जी, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक के जनजातीय विशेषज्ञ तथा राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर सहित स्वास्थ्य विभाग का मैदानी अमला, चिकित्सक, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और मितानिन उपस्थित थे।
  • अबूझमाड़ में महिला सहित दो बच्चों की आत्महत्या का मामला,मामले की हो न्यायिक जांच: कौशिक
    रायपुर12सितम्बर2019- नेताप्रतिपक्षि धरमलाल कौशिक ने अबूझमाड़ के घुरबेड़ा पंचायत के निवासी एक महिला सहित दो बच्चों की आत्महत्या की घटना की न्यायिक जांच की मांग की है। यह घटना दुखदायी है । शोकाकुल परिवार को हम सबकी सहानुभूति है । उन्होंने कहा कि जिन परिस्थितियों मे ंमहिला ने अपने दो बच्चों सहित आत्महत्या की है इस पूरे मामले की स्वतंत्र रूप से न्यायिक जांच होनी चाहिए । इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को न्यायिक जांच कमेटी की शीघ्र गठन करना चााहिए । नेताप्रतिपक्ष कौशिक ने कहा महिला ने अपने दो बच्चों के साथ आत्महत्या के लिए विवश हुई है यह निंदनीय है । वहीं परिजनों का दावा है कि उसके पति को पुलिस ले गई और एक पुलिस मुठभेड़ में मारा गया। इस घटना के बाद अपने पति के मौत को लेकर महिला दुखी थी और आत्महत्या करने को विवश हो गई । उन्होंने कहा कि इस कथित मुठभेड़ के बाद आदिवासी समाज ने भी पूरे मामले की जांच की मांग की है । जब तक मामले की उच्च स्तरीय जांच नहीं होगी, तब तक न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती है ।
  • प्लास्टिक मुक्त रायपुर के लिए नगर निगम ने शुरू किया अपना अभियान,दो बड़े बाज़ारो में निकली रैली जिसमे शामिल हुए सैकड़ो नगरवासी,बांटी कपड़े की थैलियां...
    रायपुर12सितंबर20189-नगर पालिक निगम रायपुर एवं सुलभ इंटरनेशनल के द्वारा प्लास्टिक के खिलाफ संयुक्त कार्यवाही करते हुए रायपुर क्षेत्र के 2 सबसे बड़े बाजार शास्त्री बाजार एवं पंडरी क्लॉथ मार्केट में प्लास्टिक के खिलाफ जन जागरूकता अभियान शुरू किया गया।इस संबंध में 13 सितंबर को कलेक्टर डा एस.भारतीदासन सभी जोन अधिकारियों सहित स्वयंसेवी संगठनों की निगम मुख्यालय में बैठक होगी। महापौर श्री प्रमोद दुबे के मार्ग दर्शन में और आयुक्त श्री शिव अनंत तायल के निर्देश पर दोनों ही बाज़ारो में दुकानदारों और ग्राहकों को प्लास्टिक थैलियों का उपयोग न करने के लिए प्रेरित किया गया।इस रैली का नेतृत्व निगम के ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के प्रभारी अधिकारी एव कार्य पालन अभियंता हरेन्द्र साहू तथा सुलभ इंटरनेशनल के नियंत्रक संजीव चौधरी ने किया। पोस्टर बैनर के साथ पहले यह टीम शास्त्री बाजार पहुची और ग्राहकों को कपड़े के थैले का वितरण किया गया, दुकानदारों को प्लास्टिक ना इस्तेमाल करने की समझाइश दी गई एवं जगह-जगह पर प्लास्टिक बैन का स्टिकर लगाया गया। पंडरी में भी पूरी टीम ने कपड़ा मार्केट में घूम-घूम कर प्लास्टिक बैन के स्टिकर चस्पा करने के साथ ही दुकानदारो एव ग्राहकों को जागरूक किया। साथ ही रायपुर के विभिन्न क्षेत्रों में भी जगह जगह पर रैली निकाली गई और नागरिकों से प्लास्टिक ना इस्तेमाल करने के लिए आग्रह किया गया । इस कार्यक्रम में जोन 4 के कार्यपालन अभियंता सुभास चंद्राकर, ZHO, सुलभ के कर्मचारी एव NGO उपस्थित थे।इसी तरह.जोन 8के कमिश्नर प्रवीण गहलोत के साथ नगर निगम कर्मचारियों ने महोबा बाजार से निगम मुख्यालय तक बाईक रैली निकालकर प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से सभी को अवगत कराया गया। कमिश्नर श्री तायल के निर्देश पर नगर निगम व स्मार्ट सिटी की पूरी टीम अब प्लास्टिक के उपयोग को पूरी तरह रोकने सड़को पर उतरेगी।नुक्कड़ नाटकों, विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से आम लोगों को इस अभियान से जोडा़ जा रहा है।इस काम में सामाजिक, व्यापारिक, स्वयंसेवी संस्थाओं सहित विभिन्न स्कूल, कालेज, शासकीय व गैर शासकीय संस्थानो का भी सहयोग लिया जा रहा है।
  • पत्रकारों को अधिमान्यता प्रदान करने नई अधिमान्यता समितियां गठित
    रायपुर, 12 सितम्बर 2019/समाचार मीडिया प्रतिनिधियों को अधिमान्यता प्रदान करने के लिए राज्य शासन ने नये अधिमान्यता नियमों के तहत नई राज्य स्तरीय और संभाग स्तरीय समितियों का गठन कर दिया है। नई अधिमान्यता समितियों के गठन की अधिसूचना 3 सितम्बर 2019 के शासकीय गजट में प्रकाशित हो गई है। नई अधिमान्यता समितियों में प्रिंट मीडिया के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों को शामिल किया गया है। राज्य अधिमान्यता समिति में 10 पत्रकार सदस्य और आयुक्त/संचालक जनसम्पर्क के अलावा उनके द्वारा नामांकित अधिकारी समिति के सदस्य होंगे। इसी तरह संभाग स्तरीय अधिमान्यता समिति में 9 पत्रकार सदस्य और संभागीय मुख्यालय स्थित जनसम्पर्क कार्यालय प्रमुख समिति के सदस्य होंगे। राज्य स्तरीय अधिमान्यता समिति के एक पत्रकार सदस्य और राज्य स्तरीय अधिमान्यता समिति के सदस्य सचिव संभागीय अधिमान्यता समितियों में विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे। राज्य स्तरीय अधिमान्यता समिति द्वारा राज्य स्तरीय अधिमान्यता और संभागीय अधिमान्यता समितियां द्वारा जिला एवं विकासखंड स्तरीय अधिमान्यता प्रदान की जाएगी। राज्य स्तरीय अधिमान्यता समिति में प्रिंट मीडिया से श्री शिव दुबे संपादक दैनिक भास्कर रायपुर, श्री संजीव वर्मा स्थानीय संपादक अमृत संदेश रायपुर, श्री राजेश जोशी संपादक नवभारत रायपुर, श्री आलोक मिश्रा संपादक नई दुनिया रायपुर, श्री राजेश लाहोटी संपादक पत्रिका रायपुर, श्री नथमल शर्मा संपादक ईवनिंग टाईम्स बिलासपुर, श्री सुरेश महापात्र प्रधान संपादक दैनिक बस्तर इम्पैक्ट दंतेवाड़ा, श्री प्रकाश जैन ब्यूरो प्रमुख देशबंधु दुर्ग तथा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से श्री प्रकाशचन्द्र होता सीनियर एडिटर ईटीव्ही म.प्र.-छ.ग रायपुर और श्री ब्रम्हवीर सिंह संपादक आईएनएच रायपुर समिति के सदस्य मनोनीत किए गए हैं। इसी तरह रायपुर संभागीय अधिमान्यता समिति में श्री नवाब फाजिल उप संपादक दैनिक भास्कर रायपुर, सुश्री रश्मि ड्रोलिया विशेष संवाददाता टाईम्स ऑफ इंडिया रायपुर, श्री राजकुमार सोनी संपादक अपना मोर्चा डॉट काम वेब पोर्टल रायपुर, श्री गोकुल सोनी फोटोग्राफर नवभारत रायपुर, श्री विजय मिश्रा संवाददाता अग्रदूत रायपुर, श्री आनंद साहू ब्यूरो प्रमुख नई दुनिया महासमुन्द, श्री अब्दुल रज्जाक ब्यूरोचीफ पत्रिका धमतरी, श्री मनोज सिंह संपादक स्वराज एक्सप्रेस रायपुर और श्री फारूख मेमन संवाददाता आईबीसी-24 गरियाबंद सदस्य बनाए गए हैं। बिलासपुर संभागीय अधिमान्यता समिति में श्री अशोक शर्मा संपादक देशबंधु बिलासपुर, डॉ. सुनील गुप्ता समाचार संपादक नई दुनिया बिलासपुर, श्री विपुल गुप्ता संपादक दैनिक भास्कर बिलासपुर, श्री हर्ष पाण्डेय संपादक नवभारत बिलासपुर, श्री अरूण श्रीवास्तव स्थानीय संपादक पत्रिका बिलासपुर, श्री विजय केडिया संवाददाता पीटीआई रायगढ़, श्री प्रेमचन्द्र जैन संवाददाता कोरबा-बाल्को टाईम्स कोरबा, श्री प्रशान्त सिंह संवाददाता सहारा समय म.प्र.-छ.ग. जांजगीर-चांपा और श्री मनोज सिंह वरिष्ठ संवाददाता आईबीसी-24 बिलासपुर सदस्य होंगे। दुर्ग संभागीय अधिमान्यता समिति में श्री टी.सूर्याराव उप संपादक नई दुनिया भिलाई, श्री नितिन त्रिपाठी स्थानीय संपादक पत्रिका दुर्ग, श्री अतुल अग्रवाल ब्यूरो प्रमुख दैनिक भास्कर दुर्ग, श्री हरबंसलाल अरोरा ब्यूरो प्रमुख नवभारत बालोद, श्री आलोक तिवारी ब्यूरोचीफ, हरिभूमि दुर्ग, श्री शशांक तिवारी सह-संपादक सबेरा संकेत राजनांदगांव, श्री अविनाश ठाकुर ब्यूरो प्रमुख अमृत संदेश कवर्धा, श्री मिथलेश ठाकुर संवाददाता ईटीव्ही म.प्र.-छ.ग. दुर्ग, श्री हितेश शर्मा संवाददाता जी न्यूज म.प्र.-छ.ग. दुर्ग सदस्य मनोनीत किए गए हैं। सरगुजा संभागीय अधिमान्यता समिति में श्री उपेन्द्र दुबे ब्यूरो प्रमुख अम्बिकावाणी सूरजपुर, श्री अरूण सिहं ब्यूरो प्रमुख हरिभूमि अम्बिकापुर, श्री योगेश मिश्रा ब्यूरो प्रमुख दैनिक भास्कर अंबिकापुर, श्री सुधीर पाण्डेय ब्यूरो प्रमुख नवभारत अम्बिकापुर, श्री विजय त्रिपाठी प्रधान संपादक दैनिक जशपुरांचल जशपुर, श्री अशोक सिंह ब्यूरो प्रमुख नई दुनिया बैकुण्ठपुर कोरिया, श्री रमेश शर्मा संवाददाता यूएनआई पत्थलगांव, श्री अमितेष पाण्डेय संवाददाता न्यूज 18 अम्बिकापुर और श्री अभिषेक सोनी संवाददाता आईबीसी-24 अम्बिकापुर सदस्य होंगे। बस्तर संभागीय अधिमान्यता समिति में श्री पवन दुबे प्रधान संपादक चैनल इंडिया जगदलपुर, श्री वीरेन्द्र मिश्रा स्थानीय संपादक पत्रिका जगदलपुर, श्री मनीष गुप्ता ब्यूरोचीफ नवभारत जगदलपुर, श्री सुरेश रावल ब्यूरो प्रमुख हरिभूमि जगदलपुर, श्री शैलेन्द्र ठाकुर ब्यूरो प्रमुख दैनिक भास्कर दंतेवाड़ा, श्री टिंकेश्वर तिवारी ब्यूरो प्रमुख दण्डकारण्य समाचार कांकेर, श्री राजेन्द्र तिवारी संपादक हाईवे चैनल जगदलपुर, श्री नरेश मिश्रा विशेष संवाददाता आईबीसी-24 जगदलपुर और श्री बप्पी राव संवाददाता जी. म.प्र.-छ.ग. दंतेवाड़ा सदस्य होंगे। ज्ञातव्य है कि गत जुलाई माह में छत्तीसगढ़ समाचार मीडिया प्रतिनिधि अधिमान्यता नियम 2019 लागू किया गया है। नये अधिमान्यता नियमों में प्रिंट मीडिया के साथ-साथ टी.व्ही. न्यूज चैनल्स, न्यूज वेबपोर्टल, न्यूज एजंेसी आदि के समाचार प्रतिनिधियों को अधिमान्यता प्रदान करने का प्रावधान किया गया है। नये अधिमान्यता नियमों को और विस्तृत करते हुए अब विकासखंड स्तर पर ही अधिमान्यता प्रदान की जाएगी। राज्य स्तरीय अधिमान्यता समिति, राज्य स्तरीय अधिमान्यता प्रदान करने के अलावा मीडिया प्रतिनिधियों के कल्याण एवं हितों से जुड़े अन्य विषयों पर राज्य शासन को अपनी अनुशंसा कर सकेगी।
  • मंतूराम पवार और राजेश मूणत की मुश्किलें बढ़ी, आयकर विभाग दोनों के खिलाफ करेगी जांच
    रायपुर12सितंबर2019-रायपुर अंतागढ़ टेपकांड में मंतूराम पवार द्वारा 7 करोड़ डील के खुलासे के बाढ़ उनकी मुश्किलें कम नहीं हो रही है। आयकर विभाग सिर्फ राजेश मूणत के खिलाफ ही नहीं मंतूराम पवार के खिलाफ भी जांच करेगी। राजेश मूणत के साथ सभी पक्षों के खिलाफ जांच होगी। प्रधान आयकर आयुक्त एसके सिंह ने कहा कि सिर्फ राजेश मूणत नहीं मंतूराम की भी जांच होगी। प्रारम्भिक जांच-पड़ताल के बाद मामला दर्ज किया जाएगा। विधायक विकास उपाध्याय,कुलदीप जुनेजा ने अंतागढ टेपकांड मामले में 7 करोड़ की डील होने के खुलासे के बाद आज विधायक विकास उपाध्याय,कुलदीप जुनेजा आयकर विभाग पहुंचकर इसकी शिकायत की। कांग्रेस नेताओं ने मंतूराम पवार के बयान के आधार पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और पूर्व मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ शिकायत कर जांच की मांग की। 7 करोड़ की राशि कहां से आई जांच करने की कांग्रेसियो ने मांग की। आपको बता दें कि कांग्रेस नेताओं ने कुछ दिन पहले ईडी से भी शिकायत कर जांच की मांग की थी।
  • रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के ऑडिटोरियम में ’गांधी और आधुनिक भारत’ विषय पर आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ किया...

    रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायपुर के पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के ऑडिटोरियम में ’गांधी और आधुनिक भारत’ विषय पर आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ किया। उन्होंने इस अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के व्यक्तित्त्व, कृतित्व और उनकी छत्तीसगढ़ यात्रा पर केंद्रित छायाचित्र प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। सेमिनार का आयोजन पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव शरदचंद्र बेहार ने की। इस अवसर पर विधायक विकास उपाध्याय उपस्थित थे। 

  •  रायपुर : मुख्यमंत्री ने ओणम पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी...

    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओणम पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओणम केरल का प्रसिद्ध त्यौहार है,जिसे छत्तीसगढ़ में भी मलयाली भाई-बहनों द्वारा उत्साह से मनाया जाता है। यह त्यौहार किसानों का महत्वपूर्ण त्यौहार जो केरल राज्य के समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा है।  बघेल ने ओणम के अवसर पर प्रदेश की खुशहाली और समृद्धि की कामना की है।

  • रायपुर : राज्यपाल से पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने सौजन्य मुलाकात की...

    रायपुर : राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने सुश्री उइके को पुष्पगुच्छ भेंटकर छत्तीसगढ़ का राज्यपाल बनने पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी।

  • मंडल रेल प्रबंधक कौशल किशोर ने स्टेशन पर कचरा उठाकर लोगों को स्वच्छता ही सेवा का संदेश दिया
    रायपुर11सितंबर2019-दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल 11 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता ही सेवा अभियान चला रहा है जिसमें 50 माइक्रोन से कम मोटाई वाली प्लास्टिक को पूर्णता प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया गया है सिंगल यूज़ प्लास्टिक रेलवे परिसर में पूर्णतया प्रतिबंधित करने हेतु लोगों को जागरूक किया जा रहा है इसी कड़ी में 11 सितंबर को प्रात 8:00 बजे मंडल रेल प्रबंधक कौशल किशोर ने अपने अधिकारियों के साथ रायपुर स्टेशन पर सिंगल यूज़ प्लास्टिक को पूर्णत्या बंद करने के लिए जन जागरूकता अभियान के साथ ही स्वयं श्रमदान कर स्टेशन परिसर की साफ सफाई की स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम चलाया। रायपुर रेल मंडल के अन्य स्टेशनों में भी स्वच्छता ही सेवा अभियान चलाया जा रहा है
  • भूपेश बघेल गलत नही थे तो निडर होकर कानून का सामना किया : कांग्रेस
    रायपुर/10 सितंबर 2019। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि अंतागढ़ में जिस प्रकार से पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह, पूर्व पीडब्लूडी मंत्री राजेश मूणत, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, अमित जोगी ने सात करोड़ देकर लोकतंत्र की हत्या की और अब भाजपा के कार्यकारिणी सदस्य मंगतूराम ने कोर्ट में धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाया तो भाजपा और उनके बी-टीम में खलबली मच गयी और अग्रिम जमानत के लिये न्यायालय में दौड़ लगा रहे है।  प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि तात्कालीन कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल पर जब जमीन आंबटन मामले में रमन सरकार ने आरोप लगाया तो उन्होंने बिना देरी किये दस्तावेजो सहित ईओडब्लू ऑफिस परिवार सहित पहुंचकर अपने और परिवारजनों पर लगे झूठे एवं बेबुनियाद आरोपो का बिन्दुवार जवाब भी प्रस्तुत किया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके परिजनों को झूठे जमीन आंबटन मामले में फसाने वाले षडयंत्रकारी उस समय भूपेश बघेल को गिरफ्तार करने की हिम्मत नहीं जुटा पाये थे क्योंकि वो पाक साफ और बेदाग थे। प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूछा कि क्या कारण है कि अब जब अंतागढ़ कांड में भाजपा के नेता मंगतूराम ने अपना बयान कोर्ट में दर्ज करवाया तो भाजपा और जोगी कांग्रेस के आला नेताओ में हायतौबा मचा हुआ है और पुलिस जब पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, अमित जोगी से वाइस सैंपल मांग रही है तो वे पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे है और न्यायालय की शरण में अग्रिम जमानत के लिये गुहार लगा रहे है। स्पष्ट है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिस प्रकार बिना डरे कानून का सामना किया और ईओडब्लू ऑफिस में प्रस्तुत भी हुवे, उनके द्वारा कभी भी न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिये गुहार भी नहीं लगाया गया था तो पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, अजित जोगी, अमित जोगी और राजेश मूणत क्यों भयभीत है कुछ ने अग्रिम जमानत ली हुई है और कुछ अग्रिम जमानत के लिये आवेदन प्रस्तुत किये हुये है। क्यों नहीं वह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तरह नीडर होकर कानून का सामना नहीं कर पा रहे और न ही अपना वाईस सैंपल दे रहे है। इससे छत्तीसगढ़ की जनता समझ चुकी है कि भाजपा और उनकी बी-टीम ने ही अंतागढ़ चुनाव में लोकतंत्र की खरीद-फरोख्त करके छत्तीसगढ़ को पूरे विश्वपटल में शर्मशार किया था।