Top Story
  • रामगढ़ की ख्याति देश विदेश तक पहुंचाने समन्वित प्रयास हो-श्री सिंहदेव
    रायपुर 18 जून 2019/ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा है कि श्रीराम के चरण स्पर्श से पवित्र भूमि, विश्व की प्राचीनतम नाट्यशाला तथा महाकवि कालीदास के मेघदूतम की रचना स्थली रामगढ़ की पहाड़ी के गौरव और ख्याति को देश विदेश तक पहुंचने के लिए समन्वित प्रयास करना होगा। श्री सिंहदेव आज सरगुजा जिले के उदयपुर जनपद की रामगढ़ की पहाड़ी में आयोजित रामगढ़ महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रामगढ़ सरगुजा अंचल के लोक संगीत, लोककला, पुरातात्विक धरोहर का अनूठा संगम स्थल है। इसके स्वरूप को वृहद करने के लिए आगामी वर्षो में दो दिवसीय आयोजन को तीन दिवसीय करने पर विचार किया जाना चाहिए। श्री सिंहदेव ने कहा कि रामगढ़ तथा इसके आस पास अनेक ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्व के स्थल है। रामगढ़ की पहाड़ी में अंकित शैलचित्र, गुफा में उत्कीर्ण शिला लेख, नाट्यशाला विद्यमान है।इन सभी धरोहरों को सहेजने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमारी कला संस्कृति की जड़े गहरी हैं। समय के साथ हमारे समाज मे तेजी से परिवर्तन आ रहा है, लेकिन हमें वर्तमान के साथ पुरातन के समन्वय के साथ आगे बढ़ना है। श्री सिंहदेव ने कहा कि रामगढ़ में पर्यटकों की सुविधा के लिए रेस्ट हाउस का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए जमीन चिन्हांकन के लिए वन विभाग एवं तहसील स्तर पर प्रस्ताव तैयार कर उचित स्थल का चयन करें। उन्होंने बताया कि रामगढ़ में पेयजल एवं मंदिर तक जाने के लिये सड़क निर्माण के लिय बजट में प्रावधान किया गया है जो आगामी वर्ष में बजट में शामिल किया जाएगा। श्री सिंहदेव ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में बैंकिंग सेवा के विस्तार के लिए बैंक सखी की अवधारणा को पूरे छत्तीसगढ़ में लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था पेंशन, मनरेगा, तेंदूपत्ता की राशि के लिए लोगो को बैंक के चक्कर काटने से मुक्ति दिलायेगी वहीं गांव के ही बहु-बेटी को रोजगार के साधन भी मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा की बेहतरी के लिए प्रतिबद्ध है। शिक्षा में 12 वी कक्षा तक शिक्षा का अधिकर अधिनियम को लागू कराया जाएगा। कालेज के क्षेत्रो को अब प्रथम वर्ष में ही छात्रों को लैपटॉप में लिए राशि उनके बैंक खातों में दी जाएगी। इससे वे अपनी सुविधानुसार लैपटॉप खरीद सकेंगे । कलेक्टर डॉ सारांश मित्तर ने कहा कि दो दिवसीय रामगढ़ महोत्सव के प्रथम दिवस में शोध संगोष्ठी का गौरवमयी आयोजन अम्बिकापुर में किया गया। आज रामगढ़ में ख्यातिलब्ध कलाकारों के साथ ही स्थानीय कलाकारों के द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि रामगढ़ की पहाड़ी भगवान राम की पावन भूमि, महाकवि कालिदास की रचना स्थली है। यहां सीता बेंगरा, जोगीमारा, हाथी पोल, छोटा तुर्रा, बड़ा तुर्रा विशेष दर्शनीय हैं। शोधार्थी एवम जनप्रतिनिधि सम्मानित - शोध संगोष्ठी में उत्कृष्ट शोध पत्र प्रस्तुति पर डाॅ निलिम्प त्रिपाठी, डाॅ ललित शर्मा, श्रीमती मीना वर्मा तथा उदयपुर के जनपद पंचायत के अध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह, उपाध्यक्ष श्री राजीव कुमार सिंह, सीतापुर के जनपद उपाध्यक्ष श्री शैलेष सिंह, सरपंच रामनगर, पुटा, रिखी, सलका एवं केशगवां को सम्मानित किया गया। मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति - कार्यक्रम के अतिथियों एवं बड़ी संख्या में कला प्रेमियों की उपस्थिति में महोत्सव के समापन अवसर पर देश के ख्यातिलब्ध कलाकारों द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई। इन कलाकारों में संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़, छत्तीसगढ़ी लोक संगीत, संस्कृति विभाग के कलाकार तथा अन्य कलाकार शामिल हैं।
  • छत्तीसगढ़ के कलाकारों ने ही छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति  को जीवित रखने का काम किया है: श्री ताम्रध्वज साहू
    रायपुर, 18 जून 2019/ संस्कृति मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ के कलाकारों ने ही छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति को जीवित रखने और संवारने का काम किया है। मैं इसके लिए सभी कलाकारों को बधाई देता हूं। श्री साहू ने आज छत्तीसगढ़ी लोककला के पुरोधा स्वर्गीय श्री खुमान साव के निवास राजनांदगांव जिले के ग्राम ठेकवा में आयोजित उनके दशगात्र कार्यक्रम में इस आशय के विचार व्यक्त किए। संस्कृति मंत्री श्री साहू ने इस अवसर पर स्वर्गीय श्री खुमान साव के संस्मरण से संबंधित विभिन्न आलेखों पर केन्द्रित पुस्तक ‘श्रद्धांजलि खुमान साव’ का विमोचन भी किया। श्री साहू ने कार्यक्रम की शुरूआत में स्वर्गीय श्री खुमान साव के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। संस्कृति मंत्री ने स्वर्गीय श्री साव के परिजनों से भेंट कर संवेदना प्रकट की। स्वर्गीय श्री खुमान साव के दशगात्र कार्यक्रम में पùश्री सम्मान प्राप्त छत्तीसगढ़ की सुप्रसिद्ध गायिका श्रीमती ममता चंद्राकर, गायिका श्रीमती कविता वासनिक, डोंगरगढ़ विधायक श्री भुनेश्वर बघेल, संचालक संस्कृति श्री अनिल साहू, उप संचालक श्री राहुल सिंह, श्री अशोक तिवारी, श्री वीरेन्द्र बहादुर सिंह सहित बड़ी संख्या में छत्तीसगढ़ी कलाकार, छत्तीसगढ़ी फिल्म निर्माता, निर्देशक, गीतकार और संगीतकार शामिल हुए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। संस्कृति मंत्री श्री साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ी संस्कृति हमारी विरासत है, हमारी शाश्वत पहचान है। इसे अपने-अपने तरीके से संरक्षित करने के लिए हम सबको कार्य करना चाहिए। छत्तीसगढ़ी संस्कृति से ही हमारी पहचान है। छत्तीसगढ़ की सहजता, सरलता, सदभाव और अपनेपन को सब जानते हैं। श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का साफ कहना है कि भौतिक विकास एक तरफ और छत्तीसगढ़ की बोली, रहन-सहन, खान-पान एक तरफ है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने रायपुर में स्वर्गीय श्री खुमान साव की प्रतिमा स्थापित करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय श्री साव के नाम से पुरस्कार शुरू करने और छत्तीसगढ़ी कला पर आधारित एक दिन का कार्यक्रम हर साल करने की घोषणा भी की है। संस्कृति मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार छत्तीसगढ़ की संस्कृति को संरक्षित करने का बीड़ा उठाया है। प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति का ध्वज वाहक है। सरकार बनते ही विधानसभा में सबसे पहला संशोधन राजिम कुंभ की जगह राजिम पुन्नी मेला आयोजित करने के लिए किया गया। पिछले राजिम पुन्नी मेले में छत्तीसगढ़ की संस्कृति की झलक देखने को मिली। राजिम पुन्नी मेले में जगह-जगह छत्तीसगढ़ की पारंपरिक लोक खेल देखने को मिले। छत्तीसगढ़ की कला की विभिन्न विधाओं का आनंद भी दर्शकों को मिला। सही मायने में राजिम पुन्नी मेले में छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति का संगम हो गया था। प्राचीन राजिम पुन्नी मेले के वैभव को पुनर्जीवन मिला। अगले साल राजिम पुन्नी मेले को छत्तीसगढ़ी संस्कृति से और अधिक संवारकर भव्य स्वरूप दिया जाएगा। संस्कृति मंत्री श्री साहू ने कहा है कि दशगात्र कार्यक्रम में कहा कि हम ऐसे महान व्यक्ति को श्रद्धासुमन अर्पित करने उपस्थित हुए हैं जिन्होंने अपना पूरा जीवन छत्तीसगढ़ की लोककला को आगे बढ़ाने में समर्पित किया है। छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति से प्यार करने वाले सभी लोगों को श्री खुमान साव के जाने से पीड़ा है। छत्तीसगढ़ के कलाकारों को स्वर्गीय श्री खुमान साव से प्रेरणा मिलती थी। श्री साहू ने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि श्री खुमान साव के निधन के बाद उन्हें स्वराजंलि के माध्यम से श्रद्धांजलि देने रायपुर, राजनांदगांव के साथ-साथ प्रदेश भर में लगातार कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। श्री साहू ने कहा कि विकास की प्रक्रिया में चाहे कितने भवन बना लो, लेकिन यह बात निश्चित है कि जब तक हमारी संस्कृति सुरक्षित है, तब तक हम भी सुरक्षित हैं। दशगात्र कार्यक्रम में पùश्री सम्मान प्राप्त छत्तीसगढ़ी गायिका श्रीमती ममता चंद्राकर, गायिका श्रीमती कविता वासनिक सहित अन्य कलाकारों ने स्वर्गीय श्री खुमान साव के संगीत से सजे बेहद लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी गाने गाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।
  • पुलिस लोगों से सम्मानजनक व्यवहार के साथ अपराधों  पर नियंत्रण रखे - श्री मोहम्मद अकबर
    रायपुर, 18 जून 2019/ वन, आवास, पर्यावरण, परिवहन एवं खाद्य मंत्री और कबीरधाम जिले के प्रभारी श्री मोहम्मद अकबर ने सोमवार को कवर्धा जिले के ग्राम बाजार चारभांठा में पुलिस चौकी का उद्घाटन किया। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बाजार चारभांठा में पुलिस चौकी की जरूरत थी। यहां पुलिस चौकी खोलने के लिए लोगों द्वारा लंबे समय से मांग की जा रही थी। यह चौकी आमजनों की सुरक्षा के लिए खोली गई है। इस चौकी से 38 गांवों के लोगों को सुविधा मिलेगी। खाद्य मंत्री ने पुलिस प्रशासन से कहा कि वे लोगों से सम्मानजनक व्यवहार के साथ अपराधों पर नियंत्रण रखे। इस अवसर पर मंत्री श्री अकबर ने राज्य सरकार की विगत छह माह की महत्वपूर्ण उपलब्धियों की जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 17 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही किसानों और आम जनता के हित में लिये गये वादों पर अमल शुरू किया और लगातार जनहित में कार्य कर रहे हैं। श्री अकबर ने कहा कि आज 17 जून को राज्य सरकार के छह माह पूरे हुए है। इस अवधि में किसानों का कर्जमाफी, 2500 रूपये में धान खरीदी, बिजली बिल आधा सहित अनेक वादे पूरे किये गये। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस महीने 12 तारीख को मंत्री परिषद की बैठक में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिये है, जिनमें वन टाइम सेंटलमेंट के तहत किसानों को अल्पकालीन, मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन ऋण से लाभ मिलेगा। इसके साथ ही सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 65 लाख परिवारों को पीडीएस का लाभ दिया जायेगा। अभी प्रदेश में राशन कार्डधारियों की संख्या 58 लाख है। उन्होंने कहा कि अब पीडीएस के तहत परिवार में सदस्यों की संख्या के आधार पर चावल वितरण का फार्मूला तय किया गया है। इस अवसर पर विधायक पंडरिया श्री ममता चंद्राकर ने भी जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि अब लोगों को कवर्धा एवं लोहारा थाना नहीं जाना पड़ेगा। यहां पुलिस चौकी खुलने से लोगों को आसानी होगी, महिलाओं की शिकायतों एवं समस्याओं का निदान होगा। जनसभा को दुर्ग रेंज के महानिदेशक श्री हिमांशु गुप्ता और जिले के पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेंद सिंह ने भी संबोधित किया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कवर्धा थाना के 28 और लोहारा थाना के 8 गांव को शामिल करते हुए यहां पुलिस चौकी खोली गई है, अब इन गांवों के लोगों को इस चौकी की सुविधा मिलेगी और जन सहयोग से चौकी के जरिये पुलिसिंग कार्रवाई बेहतर ढंग से संचालित होगी। इस अवसर पर वनमंडलाधिकारी श्री दिलराज प्रभाकर, जिला पंचायत के सीईओ श्री कुंदन कुमार, श्री रामकृष्ण साहू, श्री कन्हैया अग्रवाल सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीणजन उपस्थित थे।
  • मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल शामिल हुए स्वर्गीय श्री रतनलाल टिकरिया के दशगात्र कार्यक्रम में
    रायपुर, 18 जून 2019/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज भिलाई के सेक्टर-6 में राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा के पिता स्वर्गीय श्री रतन लाल टिकरिया के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने यहां पहुँच कर स्वर्गीय श्री टिकरिया के तैल चित्र में पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने परिवारजनों से भेंटकर उन्हें सांत्वना दी और स्वर्गीय श्री टिकरिया के साथ बिताए पलों को याद किया। स्वर्गीय श्री टिकरिया अविभाजित दुर्ग जिला वर्तमान में बेमेतरा जिला के बेरला ब्लॉक के सिलघट के रहने वाले थे। वे एक शासकीय शिक्षक थे। उन्होंने शिक्षा से वंचित लोगों तक शिक्षा पहुंचाने के उद्देश्य से ग्राम भिभोरी में जनता उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की स्थापना की। समाज के सहयोग से विद्यालय का संचालन किया। वे इस विद्यालय में प्रिंसिपल रहे। वे एक शिक्षाविद् होने के साथ-साथ अनेक सामाजिक कार्यों से जुड़े रहे। छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी समाज के उपाध्यक्ष व राजप्रधान पद भी उन्होंने सुशोभित किया। उनकी धर्मपत्नी श्रीमती गीता टिकरिया हैं। उनकी पुत्रियां श्रीमती छाया, श्रीमती माया तथा श्रीमती ममता है। श्री प्रदीप टिकरिया उनके पुत्र हैं। 82 वर्ष की उम्र में 9 जून को उनका निधन हो गया था। उनके दशगात्र कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सामाजिक बंधुओं ने उपस्थित होकर उन्हें स्मरण किया।
  • वन्यजीवों की लगातार मौत पर वनमंत्री की चुप्पी कई सवाल पैदा कर रही है: भाजपा
    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व विधायक श्रीचंद सुन्दरानी ने कानन पेंडारी जू में गर्भवती हिप्पोपोटॉमस की मौत को लेकर प्रदेश सरकार और वन मंत्रालय की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। श्री सुन्दरानी ने आरोप लगाया कि रविवार को हुई इस मौत के बाद वन विभाग के अफसर इस मामले की जांच में अब भी ढिलाई का परिचय दे रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता श्री सुन्दरानी ने कहा कि मौजूदा प्रदेश सरकार के कार्यकाल में वन्य प्राणियों की सुरक्षा के प्रति घोर लापरवाही नजर आ रही है। इससे पहले भी हाल में प्रदेश के अनेक हिस्सों में हिरणों के मरने व मारे जाने के मामले प्रकाश में आए हैं। उन्होंने कहा कि वन्य प्राणियों के संरक्षण व उनकी जरूरतों के प्रति प्रदेश सरकार व वन मंत्रालय की उदासीनता से स्पष्ट है कि सरकार और उसका जंगल अमला अपने कार्य को लेकर कतई संजीदा नहीं है। हाल ही कई हिरणों को पानी की तलाश में शहरी आबादी में भटकते देखा गया है, वहीं शिकारियों ने एक गड्डे में पानी में रासायनिक खाद मिलाकर 12 हिरणों को मौत के घाट उतार दिया। भाजपा प्रवक्ता श्री सुन्दरानी ने कहा कि इसी बीच कानन पेंडारी में गर्भवती हिप्पोपोटॉमस की मौत से वन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठना लाजिमी है। अब सरकारी अफसर इस मामले में महज खानापूर्ति करने का काम कर रहे हैं। प्रदेश में नई सरकार और नए वन मंत्री से यह उम्मीद थी कि वन और वन्य प्राणियों के संरक्षण की दिशा में प्रभावी कदम उठाए जाएंगे लेकिन पूरे मामलों में वन मंत्री की चुप्पी कई सवाल खड़े कर रही है। क्या प्रदेश में ‘वन मैन शो’ सरकार के चलते वन मंत्री का असर नजर नहीं आ रहा है? आखिर इतने संवेदनशील मसले पर वन मंत्री की चुप्पी और अमले के नौकरशाहों की खानापूर्ति से यही संदेश जा रहा है कि सरकार और वन विभाग की उदासीनता और जू-प्रबंधन की लापरवाही से दुर्लभ व विशेष हिप्पोपोटॉमस प्रजाति की सुरक्षा और संवर्धन के प्रयास नाकाम हो रहे हैं। श्री सुन्दरानी ने पिछले छह माह की अवधि में हुई वन्य प्राणियों की मौत के मद्देनजर कारगर कार्रवाई और दोषी गैर जिम्मेदार अफसरों को दंडित करने की मांग की है।
  • शोशल मीडिया, एडवर्टाईजिंग एण्ड इंटरनेट पर ट्रेनिंग आयोजित*  जेसीआई रायपुर फेमिना सिटी का प्रशिक्षण शिविर
    रायपुर18जून2019 जेसीआई रायपुर फेमिना सिटी की अध्यक्ष स्मिता जैन ने बताया कि यह कार्यक्रम कराने का उद्देश्य लोगों को इस बात से अवगत कराना है कि किस तरह से हम सोशल मीडिया, एडवर्टाइजिंग एंड इंटरनेट के माध्यम से हम अपने व्यापार को लोगों तक पहुँचा सकते हैं। कीर्ति वासवानी जो कि ट्रेनर के रूप में उपस्थित थी, ने बताया कि किस तरह इंटरनेट के द्वारा एडवर्टाइजिंग करके एक छोटे व्यवसाय को वैश्विक स्तर पर पहचान दी जा सकती है। उन्होंने इंटरनेट पर दिये जाने वाले विभिन्न प्रकार के विाापन के बारे में भी बताया जैसे : बैनर एड्स, सर्च इंजर एडवर्टाइजमेंट्स, ई-मेल मार्केटिंग, रेफरल मार्केटिंग, इन बाउंड मार्केटिंग आदि। संस्था में आगामी विशेष कार्यक्रमों पर चर्चा पर मुख्य रूप से 13 और 14 जुलाई को होने वाला बड़ा कार्यक्रम 'उड़ानÓÓ जो विशेष रूप से महिलाओं के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर होगा जिसमें छत्तीसगढ़ के अलावा, महाराष्ट्र व उड़ीसा की भी महिलाएँ भाग लेंगी। जिसकी तैयारियों के लिए कार्यकारिणी को जिम्मेदारियाँ भी दी गई। साथ ही महिलाओं को एक प्रश्न पत्र दिया गया जिसे हल करने के लिए 1.30 सेकण्ड का समय दिया गया जिस आधार पर जिनके सारे उत्तर सही व समय से पहले होंगे उसे स्मार्ट लेडी विनर चुना गया जिसकी विनर सविता मौर्या रही। कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित महेन्द्र जैन चेप्टर एडवाईजर, पिंकी अग्रवाल, अनामिका चौबे, मेडिको सिटी की अध्यक्ष डॉ. दिव्या सचदेव, मेरी फ्रांसीस, इंदु पटेल, रेशम अग्रवाल, निधि पांडे, कीर्ति देवांगन, सीमा, लक्की, निकिता व्यास, शालु केडिया आदि उपस्थित रहे|
  • श्रम मंत्री डॉ. शिव डहरिया के प्रयासों से  महाराष्ट्र के बाल संप्रेक्षण गृह में बंद दो बच्चे किए गए माँ-बाप के सुपुर्द
    रायपुर18 जून 2019/ नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया के प्रयासों से महाराष्ट्र के पुणे में 7 माह से बाल संप्रेक्षण गृह में बंद छत्तीसगढ़ के दो बच्चों को आज माँ-बाप के सुपुर्द किया गया। सात माह से अपनों बच्चों से दूर रहे माँ-बाप इस अवसर पर अत्यंत भावुक हो गए और बच्चों से मिलते ही आँखों से आंसू छलक पड़े। परिजनों ने बताया कि साक्षर नहीं होने की वजह से वे पुणे-महाराष्ट्र सरकार से सीधे सम्पर्क नहीं कर पा रहे थे। बालक मंजनू और शालिनी के माता-पिता ने अपने बच्चों को वापस छत्तीसगढ़ लाने और सुपुर्द करने के लिए श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया से निवेदन किया था। डॉ. डहरिया ने बच्चों के प्रति परिजनों के भावनात्मक लगाव को महसूस करते हुए तत्काल महिला एवं बाल विकास विभाग की सहयोग से बच्चों को छत्तीसगढ़ लाने की पहल की। डॉ. डहरिया की यह पहल सार्थक हुई और आज बच्चों के माता-पिता से मिलते ही सारे दुःख बिसर गए। उल्लेखनीय है कि बालक मंजनू नट और बालिका शालिनी ढीढी को नेशनल हाईवे में स्ट्रीट-शो करते हुए डेक्कन (महाराष्ट्र) पुलिस द्वारा पकड़ा गया था और उन्हें पुणे महाराष्ट्र के बाल संप्रेक्षण गृह में रखा गया था। इन बच्चों के माता-पिता की आग्रह पर डॉ. डहरिया ने महाराष्ट्र के अध्यक्ष बाल कल्याण समिति और जिला बाल संरक्षण अधिकारी को पत्र लिखकर बाल संप्रेक्षण गृह में बंद बच्चों को गृह जिले में पुनर्वासित करने का आग्रह किया गया था। उन्होंने पत्र के जरिए कहा था कि इन बच्चों के बेहतर शिक्षा एवं उज्जवल भविष्य के लिए इन्हें इनके अभिभावकों के संरक्षण में इनके गृह आवास में रखा जाना चाहिए। अभिभावकों ने शपथ पत्र में इन बच्चों से भविष्य में नाट्य कार्यक्रम (स्ट्रीट-शो) न कराने की स्वीकृति दी हैं। पुणे-महाराष्ट्र के बाल संप्रेक्षण गृह में बंद बालिका शालिनी ढीढी उम्र 8 वर्ष पिता श्री जीवन लाल ढीढी ग्राम पोस्ट रींवा थाना मंदिरहसौद जिला रायपुर और बालक मंजनू नट उम्र 11 वर्ष पिता श्री जीवराखन नट ग्राम बारगांव पोस्ट पामगढ़ थाना व जिला जांजगीर-चांपा के निवासी ने बच्चों को छत्तीसगढ़ लाने और उन्हें सौंपने का आग्रह मंत्री डॉ. शिव डहरिया से किया था।
  • छत्तीसगढ़ के कोयले और फिर लोहे को भी कैसे बेचा गया अडानी को?-शैलेश नितिन त्रिवेदी
    कोयले की कहानी लोहे में भी दोहराने में लगी थी भाजपा की सरकारों ने रायपुर/18 जून 2019। बैलाडीला के डिपाजिट नंबर 13 के साथ-साथ भाजपा की रमन सिंह सरकार में अडानी को दिये गये कोल ब्लाकों की सूची जारी करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि पहले छत्तीसगढ़ का कोयला और फिर लोहा अडानी को दिया जाता रहा। लोहे-कोयले की इस बंदरबांट में नियम कायदे कानून और प्रक्रिया की धज्जियां भाजपा की सरकार ने उड़ाई। अपनी बी टीम, अपने सहयोगी दल के माध्यम से अब भाजपा अपने ही द्वारा किये गये आयरन ओर डिपाजिट और कोल ब्लाक के आबंटन पर कांग्रेस सरकार पर झूठे निराधार आरोप मढ़ रही है। अडानी को बैलाडीला खदानों के तेरहवें निक्षेप दिये जाने की महत्वपूर्ण तिथियों से स्पष्ट है कि सब कुछ बीजेपी की रमन सिंह सरकार द्वारा योजनाबद्ध तरीके से किया गया है। बैलाडीला के 13वें निक्षेप का टेन्डर डाक्यूमेंट एनसीएल की बोर्ड की मीटिंग में 28.07.2018 को एप्रुव किया गया। लेटर आफ इंटेट एलओआई 20.09.2018 को जारी किया गया और 6.12.2018 को हैदराबाद में एनसीएल सीएमडी, एनएमडीडी के चेयरमैन और द्वारा अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर दिये गये। जबकि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार ने 17 दिसंबर 2018 को शपथ ग्रहण किया है। कोल ब्लॉक क्षमता प्रतिवर्ष किसे आवंटित है MDO परसा ईस्ट] केतेवासन 10mn ton राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन लिमिटेड अडानी परसा कोल ब्लाक 5mn ton राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन लिमिटेड अडानी केते एक्सटेंशन 16mn ton राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन लिमिटेड अडानी गारे पेलमा - 3 5mn ton छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर जेनेरेशन कंपनी लिमिटेड अडानी गारे पेलमा - 2 22mn ton महाराष्ट्र पॉवर जेनेरेशन कंपनी अडानी गारे पेलमा - 1 25mn ton गुजरात मिनरल डेवेलपमेट कॉपोरेशन अडानी प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह सरकार के समय भाजपा ने और भाजपा के सहयोगी दलों के छत्तीसगढ़ के हितों की चिंता की होती तो आज छत्तीसगढ़ के लोग आंदोलित नहीं होते। भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकारें मिलकर छत्तीसगढ़ की बहुमूल्य खनिज संपदा भारतीय जनता पार्टी के मित्र उद्योगपतियों को सौंपने का शुरू से षडयंत्र कर रही है। इसके पहले राज्य की कोल खदानों पर अडानी का नियंत्रण के कुछ वर्ष पहले गड़करी के मित्र संचेती बंधुओ को भटगांव एक्सेंटशन I और II की खदाने सौंपी गयी। जिसका कांग्रेस ने व्यापक विरोध किया था। भारतीय जनता पार्टी की सकरार में राज्य की संपदा की बंदरबांट मचा रखी थी। भाजपा सरकार अपने चुनावी मद्दगार का कर्ज उतारने छत्तीसगढ़ के लोगों की धरोहर छत्तीसगढ़ राज्य की खनिज संपदा उपहार में दे रही है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि अडानी को बैलाडीला की लोहा खदान देने में भाजपा की केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने एनएमडीसी और सीजीएमडीसी का दुरूपयोग किया है। अनुभवी खनन कॉन्ट्रैक्टर के रूप में अदानी की आवश्यकता क्यों पड़ी जबकि एनएमडीसी के पास पर्याप्त अनुभव है। इसके बावजूद अदानी को खनन कॉन्टेक्टर के रूप में लाना स्पष्ट रूप से अदानी को ठेकेदार बनाने वाली सरकारों की भाजपा की सरकारों की मंशा पर सवालिया निशान खड़े करता है। प्रदेश की कोयला खदानों को अडानी को सौंपने के बाद केन्द्र सरकार छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर जिला बैलाडीला की पहाड़ियों में स्थित उच्च क्वालिटी के लौह अयस्क भंडार को भी अडानी को सौपने की तैयारी की थी। कांग्रेस ने कहा कि अडानी को लौह अयस्क खदान सौंपने की कवायद में एनएमडीसी ने निजी क्षेत्रों की कंपनियों को माइन डेवलपर कम आपरेटर (डी.एम.ओ.) नियुक्त करने का निर्णय लिया था। इस निर्णय के बाद ही एन.एम.डी.सी में निजी कंपनियों के प्रवेश का रास्ता खुला है। एनसीएल ने पिछले दिनो टेंडर जारी कर निजी कंपनियों से खनन के लिये प्रस्ताव मंगाए थे। चार कंपनियों ने खनन में रूचि दिखाते हुये प्रस्ताव दिया था। जिनमें तीन को अंतिम सूची में चयनित किया गया। इनमें गुड़गांव की अडानी, सेलम की त्रिवेणी और कोलकाता की अंबे कंपनी शामिल है। खनन कास्ट कम करने के उद्देश्य से आऊटसोर्सिंग के जरिये खनन का काम निजी कंपनी के देने का निर्णय लेने की बात कही जरूर गयी है, लेकिन इसमें पीछे की कहानी ही कुछ और है।
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शक्ति में 24 जून को होगा रक्तदान शिविर
    रायपुर18जून2019-शक्ति सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शक्ति में आगामी 24 जून को सुबह 10:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक एक दिवसीय रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है, उक्तआशय की जानकारी देते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शक्ति के खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनिल कुमार चौधरी ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय जांजगीर- चांपा के निर्देशानुसार शक्ति विकासखंड में 24 जून को रक्तदान शिविर का आयोजन अस्पताल परिसर में होगा, जिसमें शक्ति विकासखंड स्तर पर अधिक से अधिक रक्तदाताओं को प्रोत्साहित करने हेतु विभिन्न स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं स्वयंसेवी/ सामाजिक संस्थाओं से आग्रह किया गया है कि वे अधिक से अधिक रक्तदान करें तथा वर्तमान समय में रक्तदान की महत्ता को देखते हुए लोगों को रक्तदान के प्रति जागरूकता लाने हेतु कार्यक्रम चलाया जा रहा है, तथा रक्तदान करने वाले लोगों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा एक प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया जाएगा, तथा जिला चिकित्सालय जांजगीर- चांपा में रक्तदान के माध्यम से एकत्रित होने वाले रक्त को सुरक्षित रखकर जरूरतमंदों को उपलब्ध करवाया जाएगा, खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनिल कुमार चौधरी ने समस्त बंधुओं को अधिक से अधिक 24 जून को आयोजित एक दिवसीय रक्तदान शिविर में उपस्थित होकर रक्तदान करने का आग्रह किया है
  • पूर्व की सरकार की गलत नीति की सजा भुगत रही जनता इस गलत नीति को ठीक कर जनता के हित मे किया जाएगा काम-विकास उपाध्याय
    रायपुर/18 जून 2019 शहर में पानी की समस्या को देखते हुए पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने नगर निगम कमिशनर शिव आनंद तायल,जोन एक ,जोन आठ के अधिकारी,जोन कमिशनर ओर पार्षदों के साथ साफ-सफाई और पानी की समस्या पर बैठक की गई बैठक में पानी टैंकर को बढ़ाने की बात रखी गई जिससे लोगो पानी की समस्या न हो और सबको बराबर व नियमित रूप से पानी मिलता रहे पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने बताया कि कुछ दिन में बारिश का आगमन होने वाला है ओर पूर्व की सरकार की गलत नीति की वजह से अधिकतर वार्डो में पानी भर जाता है पश्चिम विधानसभा में भी ऐसे कई वार्ड है जिसमे पानी भर जाता है पानी के जमाव से आमजन को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है बारिश में लोगो को किसी प्रकार की कोई परेशानी न उठानी पड़े बारिश के पूर्व बारिश के पानी के जमाव का समाधान निकालने के लिए इसके उपाय पर चर्चा की गई विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि गर्मी में पानी की समस्या से बचने के लिए वार्डो में टैंकर बढ़ाने की बात जोन कमिश्नर से कही गई साथ ही बारिश के मौसम को देखते हुए वार्डो के साफ - सफाई पर भी चर्चा की गई आज के इस बैठक में नगर निगम कमिशनर शिव आनंद तायल,जोन एक ओर जोन आठ के कमिशनर, निगम अधिकारी ओर निगम के पार्षद डॉ.अन्नूराम साहू,रामदास कुर्रे,हेमलता भागवत साहू,रेखा मोहित धृतलहरे,प्रीति तरुण श्रीवास,संदीप साहू,पंचु भारती एवं गायत्री सुनीलद चंद्राकर बैठक में विशेष रूप से उपस्थित हुए।
  • रेलवे बोर्ड वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जोनल रेलवे / उत्पादन इकाइयों, मंडल रेल प्रबंधकों ,महाप्रबंधकों (जीएम) के साथ एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक ली |
    रायपुर-18 जून, 2019श्री पीयूष गोयल, रेल और वाणिज्य और उद्योग मंत्री, श्री सुरेश सी. अंगदी, रेल राज्य मंत्री और श्री विनोद कुमार यादव, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष, वरिष्ठ रेलवे अधिकारियों के साथ ज़ोनल के सभी महाप्रबंधकों के साथ एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की । रेल भवन में आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से रेलवे / उत्पादन इकाइयाँ और मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) भी इस बैठक में उपस्थित थे | रेलवे और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने समीक्षा बैठक के उद्घाटन सत्र में बोलते हुए, जोनल रेलवे के अधिकारियों से रेलवे बोर्ड द्वारा निर्धारित महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एक टीम के रूप में काम करने का आह्वान किया। उन्होंने यह भी संकेत दिया कि बहुत कुछ हासिल करने की आवश्यकता है जिसमें सभी की सक्रिय भागीदारी की आवश्यकता है। उन्होंने भारतीय रेलवे को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ रेलवे में से एक में बदलने के लिए सभी अधिकारियों को पूर्ण गतिशीलता के साथ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। श्री सुरेश सी. अंगदी, रेल राज्य मंत्री ने रेलवे अधिकारियों से भारतीय रेलवे को विश्व परिवहन ट्रांसपोर्टर के रूप में बदलने की दिशा में काम करने का आग्रह किया। उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि भारतीय रेलवे गरीब से गरीब व्यक्ति तक पहुंचे ताकि वे भी रेल से यात्रा कर सकें। उन्होंने रेलवे में सुरक्षा, स्वच्छता और स्वच्छता प्रमुख फोकस क्षेत्र पर जोर दिया इस बैठक में भारतीय रेलवे में सुरक्षा प्रदर्शन, समय की पाबंदी, क्षमता वृद्धि और अन्य विभिन्न विकासात्मक परियोजनाएँ रहीं | वर्तमान वर्ष के दौरान जोनल रेलवे के अब तक के प्रदर्शन की समीक्षा करते हुए, अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड ने ट्रेन परिचालन में सुरक्षा से संबंधित परियोजनाओं की निकट निगरानी के लिए महाप्रबंधकों को निर्देश दिए। उन्होंने मानद स्तर क्रॉसिंग को खत्म करने और प्रत्येक क्षेत्र में तेज गति से रोड ओवर ब्रिज (आरओबी) / रोड अंडर ब्रिज (आरयूबी) के निर्माण पर जोर दिया। उन्होंने इस वित्तीय वर्ष के पहले दो महीनों में मानवयुक्त स्तर के क्रॉसिंग (MLC) को समाप्त करने की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया | अध्यक्ष श्री विनोद कुमार यादव ने देरी से आने वाली ट्रेनों के मामले में समय की कमी को कम करने और समय की कमी को कम करने के लिए अपने प्रयासों को बढ़ाने के लिए महाप्रबंधकों को निर्देशित किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि जोनल रेलवे को समन्वित तरीके से सुरक्षा और बुनियादी ढांचे के कार्यों की योजना बनानी चाहिए ताकि किसी विशेष तिथि / अवधि पर एक साथ सन्निहित कार्य किए जा सकें ताकि ट्रेनों के नियमन के कारण समय की पाबंदी पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभाव को कम किया जा सके। संपत्ति की विश्वसनीयता में सुधार के लिए भी कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने भारतीय रेलवे के उत्पादन इकाइयों के सभी महाप्रबंधकों से आग्रह किया कि वे समय पर रोलिंग स्टॉक की मांग को पूरा करने के लिए पूरी क्षमता से काम करें। अधोसंरचना निर्माण परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए, श्री यादव ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे चल रही परियोजनाओं को समय पर पूरा करें और निर्धारित समयसीमा में लक्ष्यों को पूरा करें। नई लाइन कमीशनिंग, गेज परिवर्तन, दोहरीकरण, विद्युतीकरण परियोजनाओं में तेजी लाई जानी है। श्री यादव ने दोहराया कि सुरक्षा, समय की पाबंदी, बुनियादी ढांचा निर्माण, स्वच्छता, सामान्य डिब्बों में स्वच्छता और यात्रियों के आराम पर ध्यान केंद्रित करना भारतीय रेलवे के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्र रहेंगे। बैठक के दौरान, अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड ने सभी अधिकारियों को ट्रेनों में यात्रा करने और यात्रियों के साथ बातचीत करने का निर्देश दिया है ताकि वास्तविक समय की प्रतिक्रिया प्राप्त हो।
  • समाज की प्रगति के लिए एकता, संगठन और  चरित्र जरूरी-श्री बघेल
    रायपुर 18 जून 2019/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि किसी भी समाज की प्रगति के लिए समाज में एकता, संगठन और चरित्र जरूरी है। श्री बघेल आज यहां महादेव घाट में आयोजित हरदिया साहू समाज के वार्षिक अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने समाज के लोगों की मांग पर सामाजिक भवन के लिए जगह चिन्हांकित होने पर भूमि आवंटित कराने के लिए आश्वस्त भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज में बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार पर भी जोर देना चाहिए। श्री बघेल ने कहा कि खर्चीली शादी जैसी समी सामाजिक बुराई से निजात पाने के लिए हरदिया साहू समाज में सबसे पहले सामूहिक विवाह का फैसला किया है, इसकी जितनी तारीफ की जाए वह कम है। समाज में सबकी सहमति और सबकी भागीदारी से सामूहिक विवाह का अभूतपूर्व फैसला लिया और छत्तीसगढ़ सहित देश को अच्छा रास्ता दिखाया। मुख्यमंत्री ने किसानों की ऋण माफी, 25 सौ रूपए प्रति किं्वटल के मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था जैसे निर्णयों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जब हमारे किसान मजबूत होंगे, छत्तीसगढ़ भी मजबूत होगा। श्री बघेल ने कहा कि हर परिवार को 35 किलो चावल देने का फैसला लिया गया है। इसी प्रकार अब शिक्षा को शिक्षा के अधिकार के दायरे में कक्षा 9 वीं से 12वीं तक विद्यार्थियों को भी लाभान्वित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने चिटफंड कम्पनियों के संबंध में कहा कि गरीब व्यक्ति की राशि नहीं डूबे इसके लिए पूरी ताकत से कार्रवाई करेंगे। कार्यक्रम हरदिहा साहू समाज के प्रदेश अध्यक्ष श्री सोमनाथ साहू, रायपुर परिक्षेत्र के अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक श्री नंदकुमार साहू सहित अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे।