State News
  • कोरबा: प्रेमी जोड़े ने बिजली के टावर पर चढ़कर लगाई छलांग, दोनों की मौत
    कोरबा। करतला थाना क्षेत्र के बरकोन्हा गांव में एक अप्रत्याशित घटना में प्रेमी जोड़े ने खुदकुशी कर ली है। प्रेमी जोड़े ने बरकोन्हा गांव में स्थापित एक बिजली टावर पर चढ़कर छलांग लगा दी।हादसे में प्रेमी जोड़े की मौत हो गई है। युवक- युवती मंगलवार देर रात से लापता थे। सुबह दोनों की लाश बिजली टावर के पास मिली है। दोनों ने टावर से कूदकर अपनी जान दी है। प्रेमी जोड़े ने साथ जीने मरने की कसमें खाईं थीं। हालांकि किस वजह से दोनों ने खुदकुशी की है, इस बात का खुलासा फिलहाल नहीं हुआ है। पुलिस ने मर्ग कायम करके जांच शुरु कर दी है।
  • CORONA BREAKING : प्रदेश में आज 263 नए मरीज मिले, 2 लोगों की हुई मौत, देखें जिलेवार आंकड़े
    रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज 263 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार बीते 24 घंटे में 143 मरीज स्वस्थ हुए हैं। वहीं इलाज के दौरान 2 मरीजों की मौत हो गई। प्रदेश में अब तक 3795 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो चुकी है। आज 263 नए कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है. जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 लाख 10 हजार 732 संक्रमित हो गई है। वहीं ​अब तक 3 लाख 3 हजार 835 मरीज स्वस्थ हुए हैं। नए मरीज मिलने और डिस्चार्ज होने के बाद अब सक्रिय मरीजों की संख्या 3102 हो गई है।
  • BIG BREAKING : सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, दो जवान शहीद, एक घायल
    नारायणपुर : जिले में जंगलों में आज रक बार फिर नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ की खबर सामने आई है। इस घटना में दो जवान शहीद हो गए है। वहीं एक जवान की घायल हो गया है। घायल जवान को उपचार के लिए रायपुर रेफर किया गया है। ये घटनाएं तीन अलग अलग जगहों पर हुई है। इस घटना की पुष्टि एएसपी नीरज चंद्राकर ने की है। मिली जानकारी के अनुसार जिला बल, डीआरजी और आईटीबीपी के जवानों की टीम सर्चिंग के लिए सुबह अबूझमाड़ के काकुर इलाके में निकली हुई थी। इसी दौरान जंगल में घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग कर दी, जिसमें एक जवान शहीद हो गया। वहीं, सोनपुर मार्ग पर हुए आईईडी ब्लास्ट में एक अन्य जवान शहीद हो गए।
  • BREAKING NEWS : तेज रफ़्तार में आ रही दो मोटरसाइकिल आपस में टकराई, मौके पर दो लोगों की मौत
    सूरजपुर। सूरजपुर जिले में हुआ सड़क हादसा। रोड में दो मोटरसाइकिल की आपस में टक्कर हुई। टक्कर इतना जोरदार था की मौके पर ही दो लोगों की मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक सड़क दुर्घटना में मृत व्यक्ति में से एक व्यक्ति कांग्रेस नेता है. यह घटना रामानुजनगर के हनुमानगढ़ की है।
  • कोरोना काल में भी नहीं थमी पीडियाट्रिक एकेडमी की गतिविधि, अच्छा कार्य करने वालों का हुआ सम्मान

    कोरोना काल के दौरान बहुत से रिसर्च पेपर दुर्ग भिलाई एकेडमी के चिकित्सकों द्वारा तैयार किये गए

     शिशु रोगों के निदान की दिशा में काम करने में बड़ी मदद मिलेगी

    कोरोना काल में भी नहीं थमी पीडियाट्रिक एकेडमी की गतिविधि, अच्छा कार्य करने वालों का हुआ सम्मान
    दुर्ग 23 फरवरी 2021/ दुर्ग भिलाई एकेडमी आफ पीडियाट्रिशियन की अहम बैठक दुर्ग में संपन्न हुई। बैठक में बीते साल कोरोना काल के दौरान शिशुरोग के क्षेत्र में उत्तम कार्य करने वाले चिकित्सकों का सम्मान दुर्ग भिलाई एकेडमी ने किया। कार्यक्रम में इंडियन एकेडमी आफ पीडियाट्रिक एसोसिएशन द्वारा सम्मानित होने वाले चिकित्सकों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में पेडीकान छत्तीसगढ़ में भी दुर्ग भिलाई एकेडमी की ओर से भाग लेने वाले और यहाँ बेहतर प्रदर्शन करने वाले चिकित्सकों का सम्मान किया गया। एकेडमी की प्रेसीडेंट डाॅ. संबिता पंडा, सचिव डाॅ. सीमा जैन एवं साइंटिफिक कन्वीनर डाॅ. माला चैधरी तथा वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ. अरविंद सावंत एवं डाॅ. रेखा साकेतकर इस दौरान उपस्थित रहे। कोरोना काल के दौरान न केवल एकेडमी के डाॅक्टर वर्चुअल रूप से सक्रिय रहे अपितु इनके परिवारजनों एवं बच्चों के लिए भी विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन एकेडमी द्वारा किया गया था, इसके विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया। उल्लेखनीय है कि कोरोना काल के दौरान बहुत से रिसर्च पेपर दुर्ग भिलाई एकेडमी के चिकित्सकों द्वारा तैयार किये गए जिनसे शिशु रोगों के निदान की दिशा में काम करने में बड़ी मदद मिलेगी। पंडित जवाहरलाल नेहरू रिसर्च सेंटर एवं हास्पिटल सेक्टर 9 की चिकित्सक डाॅ. माला चैधरी ने नवजात शिशुओं की मृत्यु रोकने की दिशा मे सिक्वेंशियल आर्गन फेल्योर एसेसमेंट पर अपना पेपर प्रस्तुत किया। इसमें उन सूचकांकों पर स्टडी की थी जिनका आकलन कर भविष्य के कुछ घंटों के खतरों के संबंध में आगाह हुआ जा सकता है और सुरक्षात्मक उपाय किये जा सकते हैं। डाॅ. चैधरी को इस पेपर के लिए इंडियन एकेडमी आफ पीडियाट्रिक एसोसिएशन की ओर से गोल्ड मेडल दिया गया। जिला अस्पताल की शिशु रोग विशेषज्ञ डाॅ. सीमा जैन ने नेफ्रोटिक सिंड्रोम पर अपना पेपर प्रस्तुत किया। डाॅ. ओमेश खुराना को बेस्ट एकेडमीशियन तथा डाॅ. गणवीर को बेस्ट कम्युनिटी सर्विस के लिए पुरस्कृत किया गया।
                कार्यक्रम में वरिष्ठ शिशुरोग विशेषज्ञ डाॅ. अरविंद सावंत एवं डाॅ. रेखा साकेतकर ने अपने अनुभव साझा किये और शिशुरोग के संबंध में किये जा रहे नये रिसर्चों के लिए एकेडमी के सदस्यों की प्रशंसा की। कोरोना काल में चिकित्सकों के बच्चों के लिए वर्चुअल माध्यम से भाषण, निबंध, पेंटिंग, पोस्टर, म्यूजिक आदि प्रतियोगिता कराई गईं थीं। इन्हें भी पुरस्कृत किया गया।

  • जिला अस्पताल में नये मेजर ओटी का शुभारंभ, तुरंत बाद हुए 4 आपरेशन भी

    जिला अस्पताल में नये मेजर ओटी का शुभारंभ, तुरंत बाद हुए 4 आपरेशन भी


    दुर्ग 23 फरवरी 2021  - जिला अस्पताल में नये मेजर ओटी का आज शुभारंभ हुआ। शुभारंभ के तुरंत पश्चात 4 आपरेशन भी इस ओटी में परफार्म किया गया। पहली सर्जरी 19 वर्षीय युवती की हुई, इसके बाद 3 केस सफलतापूर्वक हुए। यह सर्जरी डाॅ. सरिता मिंज ने की। उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने जिला अस्पताल में नये मेजर ओटी को आरंभ किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये थे जिसके परिपालन में आज इसका शुभारंभ किया गया। ओटी सर्जरी की सभी जरूरतों के मुताबिक तैयार किया गया है तथा सर्जरी के प्रोटोकाल के मुताबिक सभी सुविधाएं इस मेजर ओटी में उपलब्ध है। ओटी का उद्घाटन सिविल सर्जन डाॅ. पी. बालकिशोर ने किया। इस मेजर ओटी में जनरल सर्जरी के साथ ही आर्थोपैडिक से जुड़ी सर्जरी भी होगी। इस अवसर पर डाॅ. अखिलेश यादव आर.एम.ओ, डाॅ. संजय बालवान्द्रे निश्चेतना विशेषज्ञ, डाॅ. बी आर साहू , डाॅ. ममता पाण्डेय स्त्री रोग विशेषज्ञ, डाॅ. आर के नायक, डाॅ. स्वामीदेव भूपेन्द्र अस्थि रोग विशेषज्ञ, दिलिप ठाकुर जे.डी.एस सदस्य, अरूण पवार हाॅस्पिटल कंसलटेंट, जीपी उपाध्याय, मेट्रन श्रीमती एल खान, श्रीमती शोभना कुमार ओटी इंचार्ज, सिस्टर शाईनी चेरियन स्टाफ नर्स, प्रहलाद नायक एवं अन्य सदस्य उपस्थित थे।

     

  • व्यापक पौधरोपण होगा - कलेक्टर

    व्यापक पौधरोपण होगा -

    कोरोना का खतरा बना हुआ, रोकथाम के लिए सजग रहें -

    कलेक्टर ने जिले में व्यापक पौधरोपण के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिये। इसके लिए उन्होंने सभी एसडीएम को भूमि चिन्हांकित करने निर्देशित किया। डीएफओ धम्मशील गणवीर ने कहा कि विभाग पौधों की अपनी जरूरतों की जानकारी दे दें, इसके मुताबिक उन्हें पौधे उपलब्ध करा दिये जाएंगे। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों से जल्द ही इस संबंध में कार्य पूरा कर लेने के निर्देश दिये।
    कोरोना का खतरा बना हुआ, रोकथाम के लिए सजग रहें -

    कलेक्टर ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी बना हुआ है। इसके रोकथाम के संबंध में पूर्ववत सजगता से कार्य करते रहें। उन्होंने टीकाकरण का लक्ष्य समय पर पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीका अहम है। यह पूरी तरह से सुरक्षित है। इसके लिए शेड्यूल निर्धारित किये गए हैं। शेड्यूल के मुताबिक फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स को टीका समय पर लगाना सुनिश्चित करें।
    सप्ताह में न्यूनतम दो दिन करें फील्ड विजिट- कलेक्टर ने सभी जिलास्तरीय अधिकारियों को सप्ताह में दो दिन फील्ड विजिट करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन पर मैदानी स्तर पर बारीक नजर रखना जरूरी है ताकि इस संबंध में शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किये जा सकें।

  •  प्रवासी पक्षियों के डेरे के रूप में चर्चित बेलौदी में बर्ड वाचिंग जोन -डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे कलेक्टर

      बेलौदी बर्ड वाचिंग जोन की जरूरतों की दृष्टि से होगा विकास -सांकरा, चींचा और अचानकपुर तालाबों का
    -कलेक्टर ने बैठक में दिये अधिकारियों को निर्देश, जिले में पौधरोपण अभियान चलाने के लिए भूमि चिन्हांकित करने भी सभी एसडीएम को दिये निर्देश
    दुर्ग 23 फरवरी 2021/ प्रवासी पक्षियों के डेरे के रूप में चर्चित बेलौदी में बर्ड वाचिंग जोन प्रस्तावित है। इस बर्ड वाचिंग जोन में अधिकाधिक पक्षियों को आकर्षित करने बेलौदी के आसपास के गाँवों के वेटलैंड वाले सरोवरों का भी पक्षियों के रहवास के दृष्टिकोण से विकास किया जाएगा। इसके लिए सांकरा, चींचा और अचानकपुर जैसे गाँवों के सरोवरों में पक्षियों की जरूरतों के मुताबिक सरोवर की स्थिति बनाये रखने एवं विकास के लिए अधिकारियों को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये गए। उल्लेखनीय है कि पक्षियों का बसेरा वेटलैंड वाली जगहों पर होता है और ऐसी जगहों पर उपयुक्त वनस्पतियों की उपस्थिति से इन्हें बसाहट में सुविधा होती है। बेलौदी की बसाहट को अधिक उपयोगी बनाने के लिए तथा अधिकाधिक स्पीशीज को आकर्षित करने नजदीकी गाँवों के प्रवासी पक्षियों की दृष्टि से उपयोगी वेटलैंड के विकास पर भी ध्यान दिया जाएगा। इसके लिए जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों को आज कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बैठक में निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि वन विभाग बेलौदी में बर्ड वाचिंग जोन की जरूरतों के अनुरूप कार्ययोजना तैयार कर रहा है। पक्षियों के लिए जितना अनुकूल माहौल होगा, उनकी बसाहट की संभावनाएं उतनी ही बढ़ेंगी। बैठक में डीएफओ  धम्मशील गणवीर ने प्रस्तावित पौधरोपण के कार्यों के बारे में विस्तार से अधिकारियों को बताया तथा अपनी जरूरत भेजने कहा। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ  सच्चिदानंद आलोक, अपर कलेक्टर  प्रकाश सर्वे,  बीबी पंचभाई सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
     

     

  •  बिलासपुर जिले को पीएम किसान सम्मान निधि के श्रेष्ठ क्रियान्वयन के लिए मिला राष्ट्रीय अवार्ड : किसानों का कल्याण हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता : मुख्यमंत्री

    किसानों के आधार प्रमाणीकरण एवं सम्मान निधि का लाभ सुनिश्चित करने में बिलासपुर देश का अव्वल जिला

    केन्द्रीय कृषि मंत्री ने आज नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में बिलासपुर जिला को किया पुरस्कृत

    मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री ने किसानों और बिलासपुर जिला प्रशासन को दी बधाई

    छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के क्रियान्वयन में देश में सर्वोच्च स्थान हासिल किया है। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर ने आज इस योजना के दो वर्ष पूरे होने के मौके पर नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में बिलासपुर जिले को इस गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए पुरस्कृत किया। बिलासपुर के कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के राज्य नोडल अधिकारी  जी.के. निर्माम ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री  कैलाश चौधरी भी पुरस्कार समारोह में उपस्थित थे।  

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल और कृषि मंत्री  रविन्द्र चौबे ने इस उपलब्धि के लिए किसानों और बिलासपुर जिला प्रशासन को बधाई और शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण के लिए पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ काम कर रही है। राज्य की खेती-किसानी और किसानों को समृद्ध बनाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। राष्ट्रीय स्तर पर मिला यह सम्मान इस बात का प्रतीक है कि छत्तीसगढ़ राज्य कृषक कल्याण के क्षेत्र में देश का रोल मॉडल बनने की ओर अग्रसर है।

    भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के दो वर्ष पूर्ण होने पर इसके क्रियान्वयन में देश में श्रेष्ठ प्रदर्शन वाले वाले राज्यों एवं जिलों को पुरस्कृत किया गया। बिलासपुर किसानों के आधार प्रमाणीकरण एवं उन्हें लाभान्वित करने के मामले में देश का अव्वल जिला है। जिले में 9310 किसानों का आधार प्रमाणीकरण कर उन्हें योजना का लाभ दिलाया गया है। उल्लेखनीय है कि बिलासपुर जिले को जल संरक्षण के लिए भी राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान मिल चुका है। नदियों के संरक्षण एवं पुनरूद्धार के लिए वर्ष 2019 में बिलासपुर जिले को नेशनल वॉटर अवार्ड प्रदान किया गया था।         

  • सम्पूर्ण जिले में कोरोनाकाल में स्कूली बच्चों को वितरण किये गये सूखे राशन की जांच जारी तीन दिनों में जांच समिति रिपोर्ट करेगी प्रस्तुत

    /जिले में कोरोनाकाल के दौरान स्कूली बच्चों को बांटे गये सूखे राशन एवं सामाग्री वितरण के संबंध में जनदर्शन में स्व सहायता समूहों द्वारा प्राप्त शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने जिम्मेदारों को कड़ी फटकार लगाते हुए इस प्रकरण की एक सप्ताह के भीतर जांच कर रिपोर्ट तैयार करने के लिए जांच समिति का गठन किया। इस समिति में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के संरक्षण में तहसीलदार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी सम्मिलित होंगे। यह समिति सूखा राशन किनके द्वारा, किनके आदेश पर, कब कब बांटा गया? क्या सही मात्रा में बांटा गया? क्या वितरित सामग्री का भुगतान मूल्य बाजार मूल्य के अनुसार था? क्या वितरित सामग्रियों से पालक बच्चे संतुष्ट थे? क्या पर्याप्त मात्रा में बांटा गया? क्या सामग्रियों की गुणवत्ता मूल्यानुसार थी? कितना राशि भुगतान किनके द्वारा किया गया? आदि बिन्दुओं पर जांच करेगी। यह जांच समिति प्रत्येक विकासखण्डवार रिपोर्ट बनायेगी। इसके लिये दो दिनों से अलग-अलग टीमें जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जा कर जांच के साथ बयान एवं दस्तावेज एकत्रित करने का कार्य कर रही है। 
    इसके तहत 23 फरवरी को डिप्टी कलेक्टर सह तहसीलदार गौतम चंद पाटिल, खाद्य सुरक्षा अधिकारी डोमेन्द्र ध्रुव द्वारा कोण्डागांव तहसील के अन्तर्गत आने वाले विभिन्न स्कूलों में जा कर सूखे राशन की जांच की गयी। इसके अतिरिक्त किबईबालेगा, बनियागांव, चिलपुटी एवं 24 फरवरी को केशकाल तहसील अन्तर्गत अड़ेगा, बटराली, डोहलापारा, कोहकामेटा तथा फरसगांव अन्तर्गत पासंगी प्राथमिक शाला एवं फरसगांव माध्यमिक शाला में स्वसहायता समूह एवं अभिभावकों से जानकारी ली गई। 
    उल्लेखनीय है कि कलेक्टर के आदेशानुसार आगामी दिनों में वितरण के पूर्व सामग्रियों का जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी, तहसीलदार एवं फूड इंस्पेक्टर तथा संबंधित ब्लॉक के मैदानी अमले आदि से सत्यापन के बाद ही वितरण के निर्देश दिये गये है।

  • ‘‘प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना’’ से ऋण लेकर भावेश बना आत्मनिर्भर क्षेत्र के बेरोजगारों के लिए बना प्रेरणा स्त्रोत

    जिले के ग्राम हाराडुला निवासी भावेश अब आत्मनिर्भर बन चुका है, साथ ही 10 बेरोजगार युवकों को अपनी दुकान में रोजगार प्रदान कर उनके जीवन यापन में भी मदद कर रहा है। बेरोजगार युवक-युवतियों को स्वयं का रोजगार स्थापित कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए शासन द्वारा अनेक योजनाएॅ संचालित की जा रही है। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र द्वारा संचालित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत बेरोजगारों को ऋण दिया जाता है, जिससे वे अपना स्वरोजगार स्थापित कर सकें। 
    चारामा तहसील के ग्राम हाराडुला निवासी भावेश बघेल कक्षा 10वीं तक की पढ़ाई कर बेरोजगार था, उनके पिता शिक्षक हंै, जिससे घर का खर्च चलता है, किन्तु पिता के कार्य का बोझ कम करने के लिए माता-पिता एवं परिवार के जिम्मेदारी उठाने और आत्मनिर्भर बनने के लिए स्वरोजगार की तलाश में इधर उधर भटक रहा था। भावेश ने जब बैंक आॅफ बड़ोदा शाखा-चारामा में ऋण के लिए गया तब वहां उसे शाखा प्रबंधक द्वारा जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र में संचालित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना की जानकारी दी गई। भावेश ने देर न करते हुए प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत ऋण लेने के लिए आवेदन प्रस्तुत किया। संपूर्ण प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात् बैंक आॅफ बड़ोदा शाखा-चारामा के माध्यम से 8 लाख रूपये का ऋण स्वीकृत किया गया। ऋण प्राप्त कर वह स्वयं का उद्योग गुरूकृपा ट्रेडर्स फेंसिंग जाली इण्डस्ट्रीज के नाम से स्थापित किया। उसके पश्चात् ग्राम-हाराडुला एवं आसपास के गांव की आवश्यकता अनुसार उसने जाली तार से संबंधित उद्योग खोलने का निर्णय लिया। स्वावलम्बी बनने की इच्छा रखने वाले भावेश ने अपने पिता के आमदनी का सहारा न लेते हुए स्वयं ही अपने दम पर कुछ करने की चाह में अपने परिवार के लिए स्वयं कुछ करने के सपने देख रखे थे और पढ़ाई के बाद रोजगार से जुड़ने का उसका यह फैसला अटल था। स्वयं के उद्योग में भावेश तार जाली मशीन स्थापित कर विभिन्न प्रकार के फंेसिंग जाली, तार इत्यादि का निर्माण कर आस-पास के गांव के साथ-साथ जिले में भी मार्केटिंग का कार्य कर रहा है। वे प्रतिमाह लगभग 50 हजार रूपये कमाता है एवं अपने दुकान में 10 बेरोजगारों को रोजगार प्रदान कर उनके जीवन यापन में भी मदद कर रहा है।   
    भावेश ने स्वयं का रोजगार मिलने के बाद अपने आय के कुछ हिस्से से परिवार को भी आर्थिक मदद करने लगा है, जिससे उसके परिवार की आर्थिक स्थिति में बढ़ोत्तरी भी हुई है। भावेश की स्वावलम्बी बनने की इस इच्छा ने उसे नया रास्ता दिखाया और आर्थिक रूप से सशक्त होकर जीवन में आगे बढ़ने के लिए उसके अन्दर आत्मविश्वास भी जगाया। वे क्षेत्र के बेरोजगार युवकों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बन गये हैं। 

  • लाईवलीहुड कॉलेज धमतरी में दिया जाएगा विभिन्न पाठ्यक्रमों में निःशुल्क प्रशिक्षण : आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 03 मार्च

    लाईवलीहुड कॉलेज धमतरी में प्रधानमंत्री कौशल विकास एवं मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमांें निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए 18 से 45 वर्ष तक की आयु वर्ग के इच्छुकों आवेदकों से आगामी 03 मार्च तक आवेदन मंगाए गए हैं। सहायक परियोजना अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक शैक्षणिक योग्यता, निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, राशन कार्ड एवं पासपोर्ट साईज के फोटो के साथ सिविल कोर्ट के पास स्थित लाईवलीहुड कॉलेज में सुबह साढ़े दस से शाम साढ़े पांच बजे तक आवेदन जमा किया जा सकता है।
        बताया गया है कि असिस्टेंट इलेक्ट्रिशियन एवं रिटेल सेल्स एसोसिएट के प्रशिक्षण के लिए दसवीं पास, फील्ड टेक्नीशियन-ए.सी. के लिए आठवीं पास आवेदक पात्र होंगे। सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण के लिए आठवीं पास ऐसे पुरूष जिनकी ऊंचाई पांच फीट सात इंच हो आवेदन कर सकते हैं। इसी तरह सिलाई और प्लम्बर (जनरल) पाठ्यक्रम में प्रशिक्षण के लिए पांचवीं पास आवेदक पात्र होंगे।लाईवलीहुड कॉलेज धमतरी में प्रधानमंत्री कौशल विकास एवं मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमांें निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए 18 से 45 वर्ष तक की आयु वर्ग के इच्छुकों आवेदकों से आगामी 03 मार्च तक आवेदन मंगाए गए हैं। सहायक परियोजना अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक शैक्षणिक योग्यता, निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, राशन कार्ड एवं पासपोर्ट साईज के फोटो के साथ सिविल कोर्ट के पास स्थित लाईवलीहुड कॉलेज में सुबह साढ़े दस से शाम साढ़े पांच बजे तक आवेदन जमा किया जा सकता है।
        बताया गया है कि असिस्टेंट इलेक्ट्रिशियन एवं रिटेल सेल्स एसोसिएट के प्रशिक्षण के लिए दसवीं पास, फील्ड टेक्नीशियन-ए.सी. के लिए आठवीं पास आवेदक पात्र होंगे। सुरक्षा गार्ड के प्रशिक्षण के लिए आठवीं पास ऐसे पुरूष जिनकी ऊंचाई पांच फीट सात इंच हो आवेदन कर सकते हैं। इसी तरह सिलाई और प्लम्बर (जनरल) पाठ्यक्रम में प्रशिक्षण के लिए पांचवीं पास आवेदक पात्र होंगे।