Top Story
  • सिख नेता रिपुदमन सिंह मलिक की कनाडा में गोली मारकर हत्या

    कनाडा में मशहूर सिख नेता रिपुदमन सिंह मलि की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई है. उन्होंने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर उनकी खुलेआम तारीफ़ की थी. इसके अलावा रिपुदमन सिंह मलिक का विवादों से पुराना नाता रहा है. उन पर एयर इंडिया (Air India) के प्लेन (Plane) को बम धमाके ( से उड़ाने के मामले में 20 सालों तक मुकदमा भी चला था. जिसमें उन्हें साल 2005 में बरी कर दिया गया था.

    सिख नेता रिपुदमन सिंह मलिक कनाडा में रह रहे भारतीय मूल के सिखों और पंजाबियों को अलगावादी नेताओं से दूर रहने की नसीहत देने में जुटे हुए थे. हालांकि इससे पहले रिपुदमन सिंह खालिस्तान के हिमायती हुआ करते थे, वहीं वक्त के साथ उनकी विचारधारा खालिस्तान से अलग हो गई और अब यहीं उनकी मौत की वजह बनती दिख रही है.

    शुक्रवार सुबह साढ़े 9 बजे अज्ञात हमलावरों ने ब्रिटिश कोलंबिया के सर्रे शहर में रिपुदमन सिंह मलिक पर सरेआम गोली चलाई थी. जिस दौरान पुलिस अधिकारियों ने उन्हें बचाने की कोशिश की, वहीं पास से मारी गई गोली के कारण रिपुदमन सिंह मलिक गंभीर रूप से घायल हो गए और उनकी मौत हो गई.

    1985 में एयर इंडिया बम धमाकों में उनका नाम आया था. जिसके बाद भारतीय सरकार ने उन्हें ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था, वहीं सबूतों के अभाव में वह साल 2005 में बरी हो गए थे. इस विमान हादसे में चालक दल समेत प्लेन में सवार सभी 331 यात्रियों की मौत हो गई थी. इस प्लेन ने कनाडा से दिल्ली के लिए उड़ान भरी थी.

    हाल ही में की पीएम मोदी की तारीफ

    उन्हें साल 2020 में सिंगल एंट्री वीजा और 2022 में मल्टीपल एंट्री वीजा दिया गया. इस दौरान उन्होंने भारत में आंध्र प्रदेश, दिल्ली, पंजाब और महाराष्ट्र में कई तीर्थ यात्रा की थी. इस साल की शुरुआत में उन्होंने पीएम मोदी को एक खत लिख कर उनकी तारीफ भी की थी. उन्होंने भेजी गई अपनी चिट्ठी में लिखा था कि "आपकी सरकार ने सिख समुदाय के लिए ऐसे कई कदम उठाए हैं, जिनकी कोई मिसाल ही नहीं है. आपके ऐसे अभूतपूर्व और सकारात्मक कदमों के लिए मैं तहेदिल से आपका शुक्रगुजार हूं. आभार व्यक्त करने के लिए मेरे पास अल्फ़ाज़ ही नहीं हैं."

  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए रायपुर पहुंची मतदान सामग्री, मतपेटी सीलबंद स्ट्रांग-रूम में सशस्त्र बल के पहरे में

    भारत के 16वें राष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए 18 जुलाई को होने वाले मतदान के लिए नई दिल्ली से निर्वाचन सामग्री रायपुर पहुंच गई है। सहायक रिटर्निंग अधिकारी  दिनेश त्रिवेदी और उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  विनय कुमार अग्रवाल मतपेटी, मतपत्र एवं अन्य सामग्री लेकर 13 जुलाई को देर शाम नियमित विमान से रायपुर पहुंचे। माना स्थित स्वामी विवेकानंद विमानतल पर कड़ी सुरक्षा के बीच इन्हें विमान से उतारकर छत्तीसगढ़ विधानसभा स्थित स्ट्रांग-रूम पहुंचाया गया। राष्ट्रपति चुनाव के लिए उपयोग होने वाली मतपेटी को भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली से विमान में विशेष टिकट खरीदकर सीट पर रखकर रायपुर तक लाया गया। आयोग के निर्देशानुसार मतपेटी की सुरक्षा के लिए उसे चेक-इन बैगेज (Check-in Baggage) में रखने की मनाही थी।रायपुर विमानतल पहुंचने पर मतदान सामग्री को राज्य पुलिस के द्वारा एस्कॉर्ट (Escort) करते हुए विधानसभा भवन स्थित स्ट्रांग-रूम तक सुरक्षित पहुंचाया गया। विधानसभा के सचिव  दिनेश शर्मा और वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में स्ट्रांग-रूम को सीलबंद किया गया। मतपेटी को मतदान के लिए निर्धारित तिथि 18 जुलाई तक मतदान प्रारंभ होने के पहले तक सशस्त्र बल के पहरे में स्ट्रांग-रूम में सुरक्षित रखा जाएगा। अधिकारियों द्वारा नई दिल्ली में मतदान सामग्री प्राप्त करने से लेकर इसके रायपुर पहुंचने, स्ट्रांग-रूम में रखने और उसे सीलबंद करने तक की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई गई है।   

    राष्ट्रपति निर्वाचन के लिए ये नौ सामग्री लेकर आए हैं अधिकारी

    भारत निर्वाचन आयोग से राष्ट्रपति चुनाव के लिए सामग्री लेने नई दिल्ली गए सहायक रिटर्निंग अधिकारी  दिनेश त्रिवेदी और उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  विनय कुमार अग्रवाल नौ तरह की सामग्री लेकर आए हैं। इनमें लकड़ी के बक्से के अंदर रखा स्टील की मतपेटी, दोनों बक्सों की चाबी, मतपत्र, इलेक्टोरल कॉलेज के सदस्यों की अधिकृत सूची, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, सहायक रिटर्निंग अधिकारियों, मतदान के लिए ड्यूटी में तैनात कार्मिकों तथा उम्मीदवारों के पोलिंग एजेंटों के लिए बैज, वोट मार्क करने के लिए वायलेट इंक्ड पेन, पीठासीन अधिकारी के लिए रबर स्टैम्प्स तथा निर्वाचन निर्देशों एवं पेन के उपयोग के बारे में जानकारी देने वाले पोस्टर शामिल हैं।राष्ट्रपति निर्वाचन के लिए छत्तीसगढ़ में विधानसभा भवन परिसर में मतदान केन्द्र स्थापित किया गया है जहां राज्य के 90 विधानसभा सदस्यों के लिए मतदान की व्यवस्था की गई है। भारत निर्वाचन आयोग के विशेष अनुमोदन से अन्य राज्यों के निर्वाचक भी इस मतदान केन्द्र में अपना मत डाल सकते हैं। राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के लिए राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली एवं प्रत्येक राज्य की राजधानी में मतदान केन्द्र स्थापित किए जाते हैं। मतों की गिनती 21 जुलाई को नई दिल्ली में की जाएगी।

  • अपने बयान के लिए अजय चंद्राकर माफी मांगे अन्यथा उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी : मंत्री कवासी लखमा
    रायपुर - कांग्रेस के आदिवासी नेताओं का अजय चंद्राकर के खिलाफ हल्ला बोल, चंद्राकर के विवादित बयान से नाराज हैं कांग्रेस का अध्यक्ष विधायक, कवासी लखमा ने कहा - अजय चंद्राकर ने मेरे खिलाफ जो बयान दिया है उससे में आहत हुं कमजोर आदमी को दबाने का काम करती है बीजेपी, अजय चंद्राकर के बयान से ये साबित होता है, माफी मांगे अजय चंद्राकर, विधानसभा में भी इस बात को रखेंगे, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक से क्या सवाल - क्या वे अजय चंद्राकर के बयान का समर्थन करते हैं, मुझे ही नहीं पूरे आदिवासी समाज को उनके बयान से ठेस पहुंची है, अजय चंद्राकर जब तक माफी नहीं मांगेंगे उन्हें बस्तर में घुसने नहीं दिया जाएगा, अगर अजय चंद्राकर माफी नहीं मांगते तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे
  • एनर्जी सेविंग में CG पूरे देश में दूसरे नंबर पर कैसे ? - Creda

    *CG 24 News-Singhotra* छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण क्रेडा के सीईओ आलोक कटियार ने पत्रकार वार्ता के माध्यम से क्रेडा के कार्यक्रमों की जानकारी दी, उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ देश में एनर्जी सेविंग के मामले में दूसरे नंबर पर है | पर यह उपलब्धि छत्तीसगढ़ द्वारा टारगेट से 33% ज्यादा एनर्जी सेविंग के कारण प्राप्त हुई है | क्रीडा के प्रयास से छत्तीसगढ़ राज्य के औद्योगिक क्षेत्र में ऊर्जा संरक्षण के उद्देश्य को पूरा करने ब्यूरो आफ एनर्जी एफिशिएंसी बीईई के परफार्म अचीवमेंट ट्रेड परियोजना के अंतर्गत साइकिल 1.2 में कुल 44 औद्योगिक संस्थानों ने भाग लेकर संयुक्त रूप से राज्य में लगभग 2.198 मिलियन टन ऑफ आयल इक्विवेलेंट एमटीओई ऊर्जा की बचत की है| Pat परियोजना के साइकल 1 और 2 में कुल 6 सेक्टर जिनमें एलमुनियम आयरन एंड स्टील थर्मल पावर प्लांट सीमेंट डिस्कॉम एवं रेलवे के उद्योगों द्वारा ऊर्जा की बचत की गई उक्त परियोजना के अंतर्गत ऊर्जा की बचत में महाराष्ट्र राज्य ने प्रथम एवं छत्तीसगढ़ राज्य ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया है | छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण क्रेडा के सीईओ आलोक कटियार के नेतृत्व में राजधानी में सभी उद्योगों के प्रतिनिधियों का वर्कशॉप आयोजित किया गया | क्रेड़ा द्वारा आयोजित वर्कशॉप में उपस्थित आयरन एंड स्टील थर्मल पावर प्लांट एवं सीमेंट उद्योगों के प्रतिनिधियों द्वारा भी अपनी संस्थानों में ऊर्जा की बचत हेतु किए गए प्रयासों एवं अपनाए गए तरीकों के बारे में जानकारी दी गई | cg24news.in राज्य में हुई ऊर्जा की बचत से लगभग 1280 मेगा वाट के थर्मल पावर प्लांट की आवश्यकता को कम किया गया जिससे राज्य के कार्बन उत्सर्जन में लगभग 6.67 मिलियन टन की कमी आई है | परफार्म एक्टिव एंड ट्रेड पीएटी परियोजना अंतर्गत जिन औद्योगिक संस्थानों द्वारा अपने लक्ष्य से अधिक ऊर्जा की बचत की गई है उन औद्योगिक संस्थानों को एनर्जी सेविंग सर्टिफिकेट से पुरस्कृत किया गया | छत्तीसगढ़ राज्य में स्थापित औद्योगिक संस्थानों को कुल 10,10,699 एनर्जी सेविंग सर्टिफिकेट ईएससी ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी के माध्यम से प्राप्त हुए | क्रेड़ा सीईओ आलोक कटियार ने बताया कि इस पहल से भविष्य में और भी अन्य औद्योगिक संस्थानों को परफॉर्म अचीव एंड ट्रेड परियोजना में शामिल कर ऊर्जा की बचत में अपना योगदान दिए जाने हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा | आज की पत्रकार वार्ता में सीईओ आलोक कटियार,सी.ई. संजीव जैन, सी.ई. राजेश त्रिवेदी, सी.ई. दिनेश अवस्थी, एस.ई. बी.बी. तिवारी, एस.ई. राजीव ज्ञानी उपस्थित रहे |

  • मंत्री परिषद की बैठक में नागरिकों को छूट ही छूट , सीएम ने की तोहफों की बरसात
    *मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज यहां उनके निवास कार्यालय में आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में निम्नानुसार महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए:-* *#राज्य में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने छत्तीसगढ़ राज्य इलेक्ट्रिक वाहन पाॅलिसी 2022 का अनुमोदन किया गया।* छत्तीसगढ़ राज्य इलेक्ट्रिक वाहन नीति में कमर्शियल एवं नाॅन कमर्शियल दोनों प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहन के परिचालन को बढ़ावा देना शामिल है। इसके तहत राज्य में दो पहिया, तिपहिया, चार पहिया, माल वाहक, यात्री वाहन एवं अन्य श्रेणी के इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीदी पर विभिन्न छूट एवं सुविधाएं मिलेंगी। इस नीति के अनुसार इलेक्ट्रिक वाहनों की आसान चार्जिंग सुविधा उपलब्ध कराने हेतु चार्जिंग स्टेशनों का नेटवर्क स्थापित किया जाएगा। ईवी मालिकों को नेशनल और स्टेट हाइवे में एक निश्चित अंतराल पर चार्जिंग प्वाईंट उपलब्ध होंगे। *#राज्य सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने और राज्य में दलहन फसलों की पैदाबार बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया। जिसके तहत राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में अरहर, उड़द एवं मूंग फसलों का उपार्जन किया जाएगा। इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए।* *#राज्य सरकार द्वारा बिजली बिल हाॅफ योजना का विस्तार करते हुए इसमें नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी योजना के तहत स्थापित किए जा रहे गौठानों एवं ग्रामीण औद्योगिक पार्क को भी शामिल करने का निर्णय लिया गया। प्रदेश में घरेलु उपभोक्ताओं को 400 यूनिट तक विद्युत की खपत पर देय बिजली बिल की राशि को आधा किए जाने की योजना को विस्तार करते हुए नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी योजना के तहत स्थापित किए जा रहे गौठानों एवं ग्रामीण औद्योगिक पार्क में राज्य विद्युत वितरण कंपनी द्वारा प्रदाय किए गए विद्युत कनेक्शन हेतु विद्युत देयक में 50 प्रतिशत की रियायत देने का निर्णय लिया गया।* *#छत्तीसगढ़ के निवास प्रमाण पत्र की प्रक्रिया को और तर्कसंगत बनाने का निर्णय लिया गया ताकि राज्य के बाहर के लोग इसका अनावश्यक लाभ न उठा सके। इसके लिए पूर्व निर्धारित प्रावधानों में संशोधन का निर्णय लिया गया।* जिसके तहत किसी संस्था में प्रवेश के लिए अथवा शासन के अधीन सेवा के लिए निर्धारित योग्यता के साथ साथ छत्तीसगढ़ राज्य के किसी शैक्षणिक संस्थाएं से कक्षा 8वीं की परीक्षा के स्थान पर पहली, चैथी और पांचवी कक्षा की परीक्षा को शामिल किया गया है। अन्य मामलों में भी पहली, चैथी, पांचवी की परीक्षा शैक्षणिक योग्यता में जोड़ने का निर्णय लिया गया है। *#छत्तीसगढ़ राज्य में मेगा और अल्ट्रा मेगा प्रोजेक्ट्स की स्थापना को प्रोत्साहित करने हेतु राज्य की औद्योगिक नीति 2019-24 के अंतर्गत इस्पात (स्पंज आयरन एण्ड स्टील) उद्योगों में निवेश हेतु विशेष प्रोत्साहन पैकेज के निर्धारण का निर्णय लिया गया।* *#आवास एवं पर्यावरण विभाग अथवा अध्यक्ष छत्तीसगढ़ भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण द्वारा अनुमोदित रहवासी कालोनियों के प्रमोटर द्वारा आबंटियों के संघ /सोसायटी को कालोनी के सामान्य क्षेत्र अंतरित करने पर लगने वाले स्टाम्प ड्यूटी एवं पंजीयन शुल्क में छूट देते हुए स्टाॅप ड्यूटी 10 हजार एवं पंजीयन शुल्क 5 हजार रूपए अधिरोपित करने का निर्णय लिया गया। उक्त छूट संचालक नगर तथा ग्राम निवेश या उनके द्वारा प्राधिकृत अधिकारी द्वारा प्रमाणित काॅलोनी के सामान्य क्षेत्र के पंजीयन पर दी जाएगी।* *#नगरीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को शासकीय भूमि का आबंटन, अतिक्रमित भूमि के व्यवस्थापन तथा गैर रियायती एवं रियायती स्थाई पट्टो को भूमि स्वामी अधिकार में परिवर्तित करते समय देय राशि के आधार पर स्टाम्प शुल्क, पंजीयन शुल्क तथा नगरीय निकाय शुल्क में बड़ी राहत देते हुए छूट की अवधि को 31 मार्च 2022 से बढ़ाकर 31 मार्च 2023 तक करने का निर्णय लिया गया।* साथ ही नगरीय क्षेत्रों में शासकीय भूमि का आबंटन, व्यवस्थापन तथा भूमि स्वामी अधिकार में हस्तान्तरित किए जाने वाले विलेखों पर देय स्टाम्प शुल्क 5 प्रतिशत तथा उपकर में छूट प्रदान की जाकर अधिकतम 2 हजार रूपए निर्धारित किया गया। इसी तरह आबंटन, व्यवस्थापन तथा भूमि स्वामी अधिकार में हस्तान्तरित किए जाने वाले विलेखों पर देय पंजीयन शुल्क 4 प्रतिशत में छूट प्रदान की जाकर अधिकतम 2 हजार रूपए निर्धारित किया गया। आबंटन, व्यवस्थापन तथा भूमि स्वामी अधिकार में परिवर्तन पर देय स्टाम्प शुल्क पर एक प्रतिशत अतिरिक्त (नगरीय निकाय) शुल्क को पूर्णतः माफ करने का निर्णय लिया गया। *#गोधन न्याय योजना अंतर्गत प्रदेश के गौठानों में जनभागीदारिता हेतु गोठान प्रबंधन समितियों का चयनित एनजीआई और एनजीओ के माध्यम से केन्द्र प्रवर्तित एक्सटेंशन रिफाम्र्स (आत्मा) योजना के प्रावधान अनुसार प्रशिक्षण, प्रोत्साहन एवं पुरस्कार प्रदान करने एवं गोठान के विकास एवं रख-रखाव के लिए गोधन न्याय योजना अंतर्गत बजट प्रावधान में से 3 प्रतिशत राशि प्रशासकीय मद में निर्धारित करने का निर्णय लिया गया।* *गोठानों से संबद्ध स्व सहायता समूहों एवं प्राथमिक सहकारी समितियों को कम्पोस्ट विक्रय पर प्रोत्साहन राशि और वार्षिक कम्पोस्ट विक्रय पर बोनस राशि प्रदाय करने का निर्णय लिया गया।* *खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में राईस मिलों को प्रोत्साहन राशि प्रदाय करने के संबंध में निर्णय लिया गया कि प्रोत्साहन की 50 प्रतिशत राशि का भुगतान कस्टम मिलिंग शुल्क के साथ किया जाएगा तथा शेष 50 प्रतिशत राशि का भुगतान केन्द्रीय पुल में निर्धारित लक्ष्य की पूर्ण मात्रा के जमा होने के पश्चात किया जाएगा।* *छत्तीसगढ़ पंचायत उपबंध (अनुसूचित क्षेत्रों पर विस्तार) (पेसा) नियम-2022 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।* *मानवीय एवं संवेदनशील पहल करते हुए वरिष्ठ पायलट (हेली) स्वर्गीय कैप्टन गोपाल कृष्ण पंडा की पत्नी डाॅ. श्रीमती अलका पंडा को स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत व्याख्याता के पद पर विशेष अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने का निर्णय लिया गया।* *संविदा नियम 2012 में शिथिलता प्रदान करते हुए कर्नल रजनीश शर्मा तत्का. पुलिस उप महानिरीक्षक (एसटीएफ) बघेरा जिला दुर्ग की संविदा अवधि एक वर्ष बढ़ाए जाने का निर्णय लिया गया।* *छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग का बीसवां वार्षिक प्रतिवेदन ( 01 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक की अवधि का अनुमोदन किया गया।* *राज्य प्रशासनिक सेवा के वर्ष 2013 बैच के अधिकारियों को वरिष्ठ श्रेणी वेतनमान से प्रवर श्रेणी वेतनमान में क्रमोन्नति का निर्णय लिया गया।* *छत्तीसगढ़ में मोलासिस (शीरा) के उपयोग को विनियमित करने के लिए छत्तीसगढ़ मोलासिस (शीरा) नियंत्रण एवं विनियमन नियम 2022 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।* *छत्तीसगढ़ रोजगार मिशन तथा राजीव मितान क्लब योजना हेतु उपकर राशि लिए जाने हेतु छत्तीसगढ़ उपकर (संशोधन) विधेयक 2022 के प्रारूप अनुमोदन किया गया।* *लोक सेवा आयोग के माध्यम से खेल एवं युवा कल्याण विभाग अंतर्गत खेल अधिकारी, प्रशासक, सहायक संचालक एवं युवा कल्याण अधिकारी के कुल 5 पदों पर चयनित अभ्यर्थियों की चयन सूची को विशेष प्रकरण मानते हुए वैद्यता अवधि बढ़ाने का निर्णय लिया गया।* *छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय (स्थापना एवं संचालन)(संशोधन) विधेयक 2022 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।* *छत्तीसगढ़ कैडर के भारतीय वन सेवा के 30 वर्ष की अर्हकारी सेवा पूर्ण कर चुके 1988 से 1991 बैच तक के अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक के पद पर पदस्थ अधिकारियों को गैर कार्यात्मक आधार पर प्रधान मुख्य वन संरक्षक के समकक्ष स्केल प्रदाय करने का निर्णय लिया गया।*
  •  मुख्तार अब्बास नकवी हो सकते हैं अगले उपराष्ट्रपति उम्मीदवार
    *Breaking news* केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है और इसके पीछे कयास लगाए जा रहे हैं कि अगले उपराष्ट्रपति मुख्तार अब्बास नकवी हो सकते हैं|
  • मैं नसीब वाला हूं कि मेरा मुंबई में घर नहीं : देवेंद्र फडणवीस उपमुख्यमंत्री महाराष्ट्र
    मी नशीबवान आहे की माझे मुंबईत घर नाही. त्यामुळे माझे घर तुटले नाही आणि सरकारविरुद्ध आवाज उठवू शकलो : देवेंद्र फडणवीस @Dev_Fadnavis https://twitter.com/Devendra_Office/status/1543847948618199040?t=5W9G0bmuE1lE0vZ9h9iKlQ&s=08
  • सिंगल यूज प्लास्टिक पर 1 जुलाई से प्रतिबंध : शिव डहरिया नगरीय प्रशासन मंत्री
    Lavinder pal singhotra CG 24 News सिंगल यूज प्लास्टिक से पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा है इसी को देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने 1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन लगा दिया है | अगर कोई इस्तेमाल करता हुआ पकड़ा जाएगा तो उसे जबती बनाया जाएगा और उस पर कार्रवाई की जाएगी, हमने आदेश दिया है जो कंपनियां इन्हें बनाती है उसे भी बंद कर दिया जाएगा, इससे पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा है पर्यावरण के अधिकारियों से हमने चर्चा की है उन्हें आदेश दिया है की सिंगल यूज प्लास्टिक को बंद कर दिया जाए।
  • राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की तरफ से द्रोपति मुर्मू का नाम तय
    ब्रेकिंग न्यूज़ *एनडीए की तरफ से द्रोपति मुर्मू राष्ट्रपति की उम्मीदवार घोषित* उड़ीसा के रायरंगपुर से दो बार की विधायक, झारखंड की पहली महिला राज्यपाल, दो बार उड़ीसा सरकार में राज्य मंत्री, ओडिशा बीजेपी की आदिवासी नेता 20 जून 1958 का जन्म देश के इतिहास में पहली बार कोई आदिवासी महिला राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इसकी घोषणा की
  • सिंहदेव पहुंचे बासेन गांव, पीईकेबी के ग्रीमीणों ने सौपा ज्ञापन
    बासेन 06 जून 2022: परसा कोयला परियोजना के पास के करीब 1000 ग्रामीण आज छत्तीसगढ़ शासन के कैबिनेट मंत्री और सरगुजा विधायक श्री टी एस सिंहदेव से ग्राम बासेन के मिनी स्टेडियम में मुलाकात कर उनसे खदान जल्द-से-जल्द शुरू करने के लिए अनुरोध किया| ग्रामीणों ने अपने आवेदन में बताया की खदान परियोजना के शुरु होने से उन्हें रोजगार के अवसर मिलेंगे और क्षेत्र का विकास संभव होगा| ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से सिंहदेव को बताया की वे वर्ष 2012 -13 से पीईकेबी खदान में रोजगार प्राप्त कर जीवन यापन कर रहे हैं। गत दो वर्षों में जब लोग कोरोना महामारी की वजह से आर्थिक समस्या से परेशान थे तब भी इसी परियोजना के चलते किसी प्रकार की आर्थिक समस्या का सामना उन्हें नहीं करना पड़ा था| "साथ ही साथ शासन की स्वीकृति पश्चात और हम ग्रामीणों की सहमति से ही खदान के विस्तार का कार्य घाटबर्रा के जंगल की ओर किया जा रहा है। जिसमें बाधा डालने कुछ बाहरी लोग एकत्र होकर चल रहे कार्यों में व्यवधान उत्पन्न कर रहे हैं। जिसकी वजह से जमीन न होने से खदान बंद होने की कगार में आ गयी है,” ग्रामीणों ने अपने पत्र में लिखा| परियोजना के द्वारा उनके जीवन में आये सकारात्मक बदलाव का जिक्र करते हुए उन्होंने ये भी लिखा की कोयला खनन कार्य के चलते ही ग्राम के बच्चों और युवाओं को अच्छी शिक्षा और महिलाओं को आजीविका संवर्धन में भी कई तरह की सहायता मिल रही है। यही नहीं ग्राम विकास के लिए कई तरह के कार्य भी संचालित किये जा रहे हैं जिससे वहां के निवासियों का जीवन यापन काफी अच्छा और आधुनिक होने लगा है तथा प्रस्तावित १०० बिस्तरों के अस्पताल से बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध होगी। वहीं इसके बंद होने से सभी गावों के लगभग 5,000 से ज्यादा लोगों के सामने रोजगार की विकट समस्या खड़ी हो सकती है और पिछले दिनों की तरह जिले से लोगो को रोजीरोटी के लिए राज्य और देश के अन्य हिस्सों में पलायन करना पड़ेगा| इसके साथ ही इस परियोजना के कारण चल रहे CSR कार्यक्रम, जो की हज़ारों परिवारों का सशक्तिकरण कर रहे हैं, उन्हें भी धक्का लगेगा। कोयला खदान के समर्थन में आए हजारों की संख्या में ये ग्रामीण साल्हि, फत्तेहपुर, घाटबर्रा, जनार्दनपुर, परसा इत्यादि गावों से आये थे और अपने प्रार्थना प्रस्ताव में ये भी उल्लेखित किया की पीईकेबी कोयला खनन परियोजना में बाहरी लोगों के हस्तक्षेप पर रोक लगे और परियोजना का विस्तार किया जाये | उल्लेखनीय है कि उक्त सम्बन्ध में इन सभी ने गत दिनों सांसद और कांग्रेस के शीर्ष नेता राहुल गाँधी को पत्र लिखकर परियोजना के विस्तार और नई परियोजनाओं के परिचालन के लिए हस्तक्षेप के लिए गुहार लगाई थी। उन्होंने लिखा था की पीईकेबी परियोजना के लिए हमने अपनी जमीन स्वेच्छा से दी थी और खदान में नौकरी करते हुए अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे है लेकिन अब वनभूमि की अनुलब्धता की वजह से खदान बंद होने पर हम सभी के सामने एक बार फिर बेरोजगार होने का खतरा मंडराने लगा है। इस चिट्ठी की कापियां छत्तीसगढ़ और राजस्थान के मुख्यमंत्री क्रमशः भूपेश बघेल और अशोक गेहलोत , जिला कलेक्टर सरगुजा एवं सूरजपुर को प्रेषित की गयी थी| इसके पूर्व चार माह पहले कोयला परियोजना के ग्राम जनार्दनपुर, साल्हि, परसा, घाटबर्रा, फत्तेहपुर इत्यादि गाँव के हजारों प्रभावित ग्रामीणों द्वारा खदान जल्द से जल्द खोलने के पक्ष में सरगुजा जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया गया था।
  • सिक्खों के पांचवे गुरु श्री गुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व - शरबत का वितरण कर दी गई श्रद्धांजलि
    *गुरु अर्जनदेव जी के शहीदी दिवस पर मीठे शरबत का वितरण* सिक्ख धर्म के 5 वे गुरु श्री गुरु अर्जनदेव जी जो कि सिक्ख इतिहास में गुरुओं की शहादत में प्रथम माने जाते है ऐसे शहीद शिरोमणि गुरु अर्जनदेव जी के शहीदी दिवस पर छ्त्तीसगढ़ सिक्ख काउंसिल और आल इंडिया रामगढ़िया बोर्ड द्वारा संयुक्त रूप से शहर के प्रमुख स्थल जयस्तम्भ चौक पर मीठे शरबत की छबील लगाई गई श्री गुरु अर्जनदेव जी को मुगल बादशाह जाहँगीर द्वारा अमानवीय यातनाएं देकर शहीद किया गया था, गर्म तवे पर जिसके नीचे तेज आग जल रही थी उसके ऊपर गुरुजी को बैठाया गया फिर उनके ऊपर गर्म गर्म रेत डालकर प्रताड़ित किया गया, तेरा किया मीठा लागे का सिमरन कर समूची मानवता को प्रेम प्यार का संदेश दिया सिक्ख धर्म मे यह दिन महान शहीदी के रूप में मनाया जाता है, इस दिन जगह जगह मीठे शरबत की छबील लगाई जाती है, श्री गुरु अर्जन देव जी के शहीदी दिन पर जय स्तम्भ चौक में लगी छबील में राहगीरों को तपती धुप उमस में प्यास बुझाने शीतल जल मीठे शरबत का वितरण कर कठिन से कठिन समय मे भी प्रेम प्यार की मिठास से जीवन जीने का संदेश दिया, साथ ही मेरा रायपुर सुंदर रायपुर और प्लास्टिक मुक्त रायपुर का संदेश देते हुए पेपर बोर्ड से बने ग्लास में शरबत का वितरण किया गया, स्वच्छता का विशेष ध्यान रखते हुए सड़क पर एक भी पेपर ग्लास नही रहने दिया, शहीदी दिवस पर छबील शरबत वितरण में छत्तीसगढ़ सिक्ख काउंसिल के अध्यक्ष अमरजीत सिंह छाबड़ा, सुखबीर सिंह सिंघोत्रा, आल इंडिया रामगढ़िया बोर्ड के अध्यक्ष त्रिलोचन सिंह अज्जी, युवा विंग के अध्यक्ष गगनदीप सिंह सहित सतपाल सिंह, अमरीक सिंह, गुरप्रीत सिंह, दलमित सिंह, रसमित सिंह खुराना, मनजीत सिंह सैनी, बंटी गुरदत्ता , अमरजीत सिंह संधू, सुरजीत सिंह छाबड़ा, दलजीत सिंह, लवली अरोरा सहित सिक्ख समाज के वरिष्ठ उत्तर विधानसभा के विधायक कुलदीप जुनेजा, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष महेंद्र सिंह छाबड़ा, सहकारी बैंक के अध्यक्ष पंकज शर्मा, भाजपा के वरिष्ठ नेता सच्चिदानन्द उपासने, पूर्व विधायक और भाजपा जिला अध्यक्ष श्री श्रीचंद सुंदरानी, योगेश अग्रवाल सहित नगर के वरिष्ठजन इस दौरान सेवा कार्य मे उपस्थित थे
  • सिक्खों के पांचवें गुरु का शहीदी पर्व - गुरु अर्जुन देव ने कहा था कि मेरे शरीर में जितने छाले पड़ेंगे, उतरे हजारो-करोड़ों सदके वाले सिखों का जन्म होगा।

    गुरु अर्जुन देव की शहीदी दिवस पर विशेष सिखों के पांचवे गुरु अर्जुन देव जी महाराज को मुगल बादशाह जहांगीर ने 1606 को लाहौर में शहीद कर दिया गया था।  सिखों के पांचवे गुरु अर्जुन देव जी महाराज को मुगल बादशाह जहांगीर ने 1606 को लाहौर में शहीद कर दिया गया था। शहीदी के समय मिंया मीर ने गुरु अर्जुन देव जी से पूछा कि आपके शरीर पर छाले पड़ रहे हैं। इसके बावजूद आप शांत हैं। तब गुरु अर्जुन देव ने कहा था कि जितने जिस्म पर पड़ेंगे छाले, उतने सिख होंगे सिदक वाले। यानि मेरे शरीर में जितने छाले पड़ेंगे, उतरे हजारो-करोड़ों सदके वाले सिखों का जन्म होगा।गुरु अर्जुन देव जी का जन्म दो मई 1563 में पंजाब के गोइदवाल में गुरु राम दास व माता भानी जी के घर पर हुआ था। उन्हें गुरमत की शिक्षा वर्ष 1581 में अपने नाना गुरु अमर दास जी से मिली। जो सिखों के तीसरे गुरु थे। इसके बाद गुरु जी ने अपने जीवन काल में बहुत सारे काम किए। इसमें गरीबाें की सेवा के लिए गुरुद्वारों में दवाखाने खुलवाने, गुरु घर की गोलक (दान पेटी) का उपयोग परोपकार में खर्च करने में लगाए। वर्ष 1597 में जब लाहौर में अकाल पड़ा, कई लोग बीमार हुए तो गुरु जी ने अपने हाथों से लोगों की सेवा की। साथ ही लाहौर से वापस आते समय उन्होंने सिखी धर्म का प्रचार-प्रसार किया। उनकी पहल पर ही वर्ष 1601 में लोगों को एक अकाल पुरख से जोड़ा गया। आद ग्रंथ साहिब की लिखाई भी इन्होंने ही शुरू कराई थी जिसकी जिम्मेदारी भाई गुरुदास जी को सौपी गई थी।