Top Story
  • Budget 2021 Highlights वित्त मंत्री के बजट भाषण की बड़ी बातें

    शुरुआती आधे घंटे में वित्त मंत्री के भाषण की Highlights

     

    - कोरोना महामारी ने चुौतियां बढ़ाईं
    - आर्थिक मंदी के बारे में सोचा भी नहीं था
    - कोरोना से वैश्विक अर्थव्यवस्था पर असर
    - लॉक डाउन ना करते तो ज्यादा लोगों की जान जाती
    - कोरोना काल में 80 करोड़ लोगों को राशन बांटा
    - किसानों के खाते में पैसा भेजा गया
    - कोरोना काल में घर तक दूध और राशन की डिलीवरी हुई
    - कोरोना योद्धाओं को नमन, कोरोना काल में जो ड्यूटी करते रहे उन्हें सलाम
    - सांसदों और विधायकों ने भी कोरोना काल में अपना वेतन दाल किया
    - कोरोना काल में भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज का एलान किया
    - कोरोना काल में पांच मिनी बजट पेश किए
    - कोरोना काल में आरबीआई ने 27 लाख करोड़ के पैकेज का एलान किय़ा
    - सरकार ने जो आत्मनिर्भर पैकेज दिया वो जीडीपी का 13% है
    - पीएम गरीब कल्याण योजना कोरोना काल में लाई गई
    - अभी भारत में दो वैक्सीन उपलब्ध हैं, दो और वैक्सीन आने की उम्मीद है
    - ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया के कमाल की तरह इकॉनमी में जान डालने की कोशिश
    - यह बजट आपदा में अवसर की तरह है, अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए हमें आपदा में अवसर ढूंढना होगा
    - कोरोना संकट की वजह से अर्थव्यवस्था में मौजूदा परेशानी आयी
    - बीमारियों की रोकथाम बजट का सबसे बड़ा लक्ष्य है
    - हमारा बजट छह स्तंभों पर टिका है, आत्मनिर्भर भारत का मतलब खुद पर भरोसा करना है.
    - आत्म निर्भर भारत योजना 130 करोड़ भारतीयों की उम्मीद का प्रतीक है

  • देश के सभी लोगों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएंगी.वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फिर दोहराया- किसानों की आय को बढ़ाकर दोगुना करेंगे

    BUDGET 2021: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का केंद्रीय बजट संसद में पेश कर दिया है और इसमें शुरुआती मिनटों में ही कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ा एलान कर दिया है. उन्होंने कहा कि कोरोना का असर दुनियाभर पर पड़ा है और भारत ने इस महामारी से निपटने के लिए बड़े कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन के लिए इस बजट में 35,000 करोड़ रुपये रखे गए हैं.

     

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार ने स्वाथ्य और हेल्थकेयर सेक्टर के लिए बजट 94 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2.38 लाख करोड़ रुपये का किया है और इसके जरिए देश के सभी लोगों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएंगी. किसानों की आय को दोगुना करने को लेकर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फिर अपने बजट भाषण में ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि हमारी सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर कायम है.

    किसानों की आय को दोगुना करने को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में बड़ा ऐलान किया है. वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर कायम है. बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ''पीएम ने 80 मिलियन परिवारों को कई महीनों तक मुफ्त गैस मुहैया कराया, 40 मिलियन से अधिक किसानों, महिलाओं, गरीबों के लिए सीधे नकद राशि मुहैया कराई.''

     

    कोरोना काल की चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ''यह बजट ऐसी परिस्थितियों में तैयार किया गया है जो पहले कभी नहीं था. 2020 में हमने कोविड-19 के साथ क्या-क्या सहन किया उसका कोई उदाहरण नहीं.''

     

    केंद्र सरकार की ओर से आम जनता को दिए गए मददो को गिनाते हुए वित्त मंत्री ने कहा, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2.76 लाख करोड़ रूपये की पीएम गरीब कल्याण योजना घोषित की, इसके साथ ही 800 मिलियन लोगों के लिए मुफ्त खाद्यान उपलब्ध कराया.''

  • आज का बजट 6 स्तंभ पर टिका हुआ है.वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- यह बजट ऐसी परिस्थितियों में तैयार किया गया है जो पूर्व में कभी नहीं थी, 2020 में हमने कोविड-19 के साथ क्या-क्या सहन किया उसका कोई उदाहरण नहीं

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए लोकसभा में बजट पेश कर रही हैं. इस बजट से उम्मीद की जा रही है कि इसमें महामारी से पीड़ित आम आदमी को राहत दी जायेगी. यह बजट ऐसे समय पेश हो रहा है, जब देश कोविड-19 संकट से बाहर निकल रहा है. संसद में बजट पेश होने के बाद निर्मला सीतारमण एक प्रेस कांफ्रेंस भी करेंगीवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- बीमारियों पर रोकथाम सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य है. देश में 15 हेल्थ इमरजेंसी सेंटर्स का गठन किया जाएगा. सरकार ने कोरोना टीकाकरण के लिए सरकार ने 35 हजार करोड़ रुपए दिए हैं. ये बजट आपदा में अवसर की तरह है.वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- पीएम ने 80 मिलियन परिवारों को कई महीनों तक मुफ्त गैस मुहैया कराया, 40 मिलियन से अधिक किसानों, महिलाओं, गरीबों के लिए सीधे नकद राशि मुहैया कराई. इस बार हेल्थ सेक्टर का बजट बढ़ाया गया है. आज का बजट 6 स्तंभ पर टिका हुआ है.वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- यह बजट ऐसी परिस्थितियों में तैयार किया गया है जो पूर्व में कभी नहीं थी, 2020 में हमने कोविड-19 के साथ क्या-क्या सहन किया उसका कोई उदाहरण नहीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2.76 लाख करोड़ रूपये की पीएम गरीब कल्याण योजना घोषित की, इसके साथ ही 800 मिलियन लोगों के लिए मुफ्त खाद्यान उपलब्ध कराया.

  • इस बार अलग अंदाज में मनेगा गणतंत्र दिवस, राफेल की रवानी होगी, लेकिन नहीं होगा परेड की धड़कन बाइक स्टंट

    गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम की तैयारी में लगे लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है जिसके बाद उन्हें काम में लगाया गया है. परेड के अंदर घुसने वाले दरवाजे पर तैनात जवान लोगों का थर्मल स्कैनिंग करेंगे और टेम्प्रेचर सामान्य होने पर ही अंदर जाने की अनुमति होगी.

     इस बार गणतंत्र दिवस के परेड में बहुत कुछ बदलाव देखने को मिलेगा. कोरोना के कारण इस बार नियमों में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है. कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने निर्णय लिया है कि इस बार परेड देखने वालों की संख्या काफी कम कर दी गई है. सरकार के मुताबिक पहले करीब सवा लाख लोग परेड में शामिल होते थे लेकिन इस बार ये संख्या मात्र 25 हजार ही है. इस बार परेड देखने वाले सभी लोगों का टेम्प्रेचर चेक किया जाएगा. प्रशासन की ओर से सबके लिए मास्क लगाना जरूरी कर दिया गया है.

     

    परेड की धड़कन बाइक स्टंट नहीं होगा

     

    इस बार के परेड में मोटरसाइकिल स्टंट को रद्द कर दिया गया है. इस परेड में सेना के जवान और पार्लियामेंट में तैनात होने वाले जवान हिस्सा लेते थे. कोरोना को ध्यान में रखते हुए इस बार के परेड में पूर्व सैनिकों के परेड को जगह नहीं मिली है साथ ही वीरता पुरस्कार से सम्मानित होने वाले लोगों को भी इस बार की परेड शामिल नहीं किया जाएगा.

     

    इस साल के परेड में 15 साल से छोटे बच्चे और बुजुर्गों को शामिल होने की इजाजत नहीं दी जाएगी. इस बार गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम की तैयारी में लगे लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है जिसके बाद उन्हें काम में लगाया गया है. परेड के अंदर घुसने वाले दरवाजे पर तैनात जवान लोगों का थर्मल स्कैनिंग करेंगे और टेम्प्रेचर सामान्य होने पर ही अंदर जाने की अनुमति होगी.

     

    क्या होगा नया?

     

    इस साल दर्शकों को पंक्तियों में व्यवस्थित और बनाए गए प्लेटफार्मों पर बैठने के बजाय रक्षा मंत्रालय की ओर से कुर्सियों की व्यवस्था की गई है. रक्षा मंत्रालय की ओर से यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि उन्हें लॉन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए छह फीट की दूरी पर बैठाया जाए.

     

    इस साल के परेड में दर्शक राफेल की उड़ान देखेंगे. महिला फाइटर पायलट भावना कंठ इस साल गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होंगी. भावना कंठ पहली बार राजपथ के ऊपर फाइटर जेट रफाल से उड़ान भरेंगी और देश के लोगों को राफेल की ताकत दिखाएंगी. इस साल के समारोह में कुल 42 एयरक्राफ्ट फ्लाईपास्ट करेंगे, जिसमें दो रफाल विमान शामिल हैं. साल 2018 में एयरफोर्स की पहली महिला फाइटर पायलट्स के रूप में तैनात हुईं थी.

     

    इंडिया गेट के पास होगा परेड का समापन

     

    एक अधिकारी ने बताया कि इस बार परेड में शामिल केवल झांकी ही लाल किले तक जाएगी. उन्होंने बताया कि परेड का समापन इंडिया गेट के सी-हेक्सागॉन में होगा. इस बार के परेड में बांग्लादेश के 122 सैनिक भी शामिल होंगे. आजादी के बाद यह तीसरी बार होगा जब विदेशी सेना को भी परेड में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी.

  • हिंद की चादर श्री गुरु तेगबहादुर जी का 400 वां प्रकाश पर्व 24,25 अप्रेल को साइंस कॉलेज मैदान में होगा आयोजित
    *श्री गुरु तेगबहादुर जी के 400 साला प्रकाश पर्व की खुशी में आज पूरे प्रदेश के गुरुद्वारों में श्री सहज पाठ आरंभ* रायपुर/सिक्ख समाज छत्तीसगढ़ और गुरुद्वारा स्टेशन रोड रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में नवमीं पातसाही हिंद की चादर धन धन श्री गुरु तेगबहादुर जी का 400 वां प्रकाश पर्व 24,25 अप्रेल 2021 को साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित किया जा रहा है जिसके उपलक्ष्य में आज गुरुद्वारा स्टेशन रोड में श्री गुरु गोबिंद सिंघ जी के गुरुपुरब अवसर पर तकरीबन 200 सहज पाठ रखे गए हैं जिसमे बड़ी संख्या में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया वही पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने सहज पाठ आरंभ किया है इन सभी सहज पाठ साहेब का समापन 24 अप्रेल को साइंस कॉलेज मैदान में किया जाएगा सिक्ख समाज छत्तीसगढ़ के संयोजक द्वय सुरेंद्र सिंह छाबड़ा,महेंद्र सिंह छाबड़ा व गुरुद्वारा स्टेशन रोड के प्रधान निरंजन सिह खनूजा ने एक संयुक्त वक्तव्य में बताया कि हिन्दू धर्म और मानवता की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले सिक्ख धर्म के नवमे गुरु श्री गुरु तेगबहादुर सिंघ जी का 400वां प्रकाश पर्व 24 व 25 अप्रेल 2021 को साइंस कॉलेज मैदान में बड़ी ही श्रद्धा और उत्साह के साथ मनाया जा रहा है चूंकि यह शताब्दी प्रकाश पर्व है इसलिए इस गुरु पर्व को भव्य और विशाल स्वरूप देने हेतु छत्तीसगढ़ प्रदेश स्तरीय सभी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों और वहां की संगत को सादर आमंत्रित किया जाएगा गुरु पर्व में हिस्सा लेने विश्व प्रसिद्ध कीर्तनकार, कथा वाचक,धर्म प्रचारकों को बुलाया जा रहा है साथ ही पंजाब की पावन धरा अमृतसर से पंज प्यारों को बुलाकर बड़ी संख्या में सँगत को अमृत पान कराया जाएगा इसी परिप्रेक्ष्य में 10 दिवसीय एक संदेश यात्रा भी निकाली जाएगी जो समूचे छत्तीसगढ़ के सभी शहरों में जाकर सिक्ख धर्म के सभी गुरूओं के त्याग और बलिदान का संदेश जन जन तक पहुंचाएगी जिसकी विस्तृत तैयारियों का ब्लूप्रिंट तैयार किया जा रहा है जिसके मद्देनजर पूरे प्रदेश में प्रभारियों की नियुक्ति की जा चुकी हैं सिक्ख समाज छत्तीसगढ़ व गुरुद्वारा स्टेशन रोड के सयुंक्त प्रयास से आयोजित श्री गुरु तेगबहादुर जी के 400वां प्रकाश पर्व की तैयारियों में जुटे महेंद्र सिंह छाबड़ा, सुरेंद्र सिंह छाबड़ा, निरंजन सिह खनूजा, इंदरजीत सिह छाबड़ा (सीनियर), इंदरजीत सिह छाबड़ा (जूनियर), तेजिंदर सिह होरा,मंजीत सिंह सलूजा, गुरमीत सिंह गुरदत्ता, सतपाल सिंह खनूजा, भगत सिंह छाबड़ा, बलबीर सिंह छाबड़ा, शील सिह माखीजा,कल्याण सिंह पसरीजा,इंदरजीत सिह सलूजा, परमजीत सिंह जुनेजा,महेन्दर पाल सिंह छाबड़ा, गुरजीत सिह गुलाटी,रजिंदर सिह सलूजा,कुलवंत सिंह अरोरा,कुलजीत सिह मक्कड़,कुलदीप सिंह चावला, परमजीत सिंह छाबड़ा, भूपेन्द्र सिंह मक्कड़,अविन्दर सिह सलूजा, हरजीत सिंह अजमानी सहित सभी नियुक्त प्रभारियों ने कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की है,,,! यह जानकारी गुरुद्वारा स्टेशन रोड के मिडिया प्रभारी गुरमीत सिंह गुरदत्ता ने दी
  •  गुरु गोबिंद सिंह जयंती आज, उनकी ये 10 बातें तरक्की की राह कर देंगी आसान

    आज सिखों के 10वें और अंतिम धर्म गुरु गोबिंद सिंह जी की 354वीं जयंती मनाई जा रही है. इस दिन को प्रकाश पर्व या गुरु पर्व भी कहा जाता है. आज के दिन देश-दुनिया में सिख समुदाय के लोग प्रभात फेरी निकालते हैं. गुरुद्वारों में शबद कीर्तन का आयोजन किया जाता है और गुरबानी का पाठ किया जाता है. गुरु गोबिंद को ज्ञान, सैन्य क्षमता और दूरदृष्टि का सम्मिश्रण माना जाता है. गुरु गोबिंद सिंह जी का पूरा जीवन लोगों की सेवा और सच्चाई के लिए था. उनके विचार और शिक्षाएं आज भी लोगों के लिए प्रेरणा हैं. गुरु गोबिंद सिंह की ये 10 खास बातें यदि आप अपने जीवन में उतार लें तो निश्चित ही 

    आपको सफलता मिलेगी. 

    1.धरम दी किरत करनी: अपनी जीविका ईमानदारी पूर्वक काम करते हुए चलाएं.

    2. दसवंड देना: अपनी कमाई का दसवां हिस्सा दान में दे दें.

    3. गुरुबानी कंठ करनी: गुरुबानी को कंठस्थ कर लें.

    4. कम करन विच दरीदार नहीं करना: काम में खूब मेहनत करें और काम को लेकर कोताही न बरतें.

    5. धन, जवानी, तै कुल जात दा अभिमान नै करना: अपनी जवानी, जाति और कुल धर्म को लेकर घमंडी होने से बचें.

    6. दुश्मन नाल साम, दाम, भेद, आदिक उपाय वर्तने अते उपरांत युद्ध करना: दुश्मन से भिड़ने पर पहले साम, दाम, दंड और भेद का सहारा लें, और अंत में ही आमने-सामने के युद्ध में पड़ें. 

    7. किसी दि निंदा, चुगली, अतै इर्खा नै करना: किसी की चुगली-निंदा से बचें और किसी से ईर्ष्या करने के बजाय मेहनत करें.

    8. परदेसी, लोरवान, दुखी, अपंग, मानुख दि यथाशक्त सेवा करनी: किसी भी विदेशी नागरिक, दुखी व्यक्ति, विकलांग व जरूरतमंद शख्स की मदद जरूर करें.

    9. बचन करकै पालना: अपने सारे वादों पर खरा उतरने की कोशिश करें.

    10. शस्त्र विद्या अतै घोड़े दी सवारी दा अभ्यास करना: खुद को सुरक्षित रखने के लिए शारीरिक सौष्ठव, हथियार चलाने और घुड़सवारी की प्रैक्टिस जरूर करें. आज के संदर्भ में नियमित व्यायाम जरूर करें. 

  • *सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश उत्सव 20 जनवरी को*
    *सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश उत्सव 20 जनवरी को* सिख समाज बड़े धूमधाम से अपने दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश पर्व जयंती समारोह 20 जनवरी को मनाने जा रहा है | इस अवसर पर भारत सहित पुरे विश्व के गुरुद्वारों में शबद कीर्तन अरदास के बाद लंगर का कार्यक्रम होगा | श्री गुरु गोविंद सिंह जी के जन्म स्थान श्री पटना साहिब में विशेष आयोजन हर साल होता है, जिसमें पूरे विश्व से बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं | परंतु इस बार करोना महामारी के कारण सीमित संख्या में बड़े आदर सत्कार एवं श्रद्धा के साथ उनका जयंती उत्सव कार्यक्रम ( प्रकाश पर्व ) मनाने की तैयारी की गई है | छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी श्री गुरु गोविंद सिंह जी के जन्म उत्सव को लेकर सिख समाज में खासा उत्साह है | गुरुद्वारा गोविंद नगर पंडरी में कई दिनों से प्रभात फेरी निकाली जाती रही , इसके अलावा अखंड पाठ एवं विशेष दीवान का आयोजन हो रहा है | श्री गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती के अवसर पर 20 जनवरी को सुबह 5:00 बजे से रात 12:00 बजे तक शब्द कीर्तन, गुरबाणी बाहर से आए मशहूर रागी जत्थों द्वारा किया जाएगा | *20 जनवरी दोपहर 2 बजे संगत की उपस्थिति में समाज सहित सरबत अर्थात सब के भले सहित देश प्रदेश की खुशहाली एवम करोना महामारी से मुक्ति की अरदास की जाएगी |* रात 9:00 बजे से 12:00 बजे तक शब्द कीर्तन गुरबाणी एवम अरदास के बाद श्री गुरु गोविंद सिंह जी के जन्मोत्सव पर आतिशबाजी कर खुशियां मनाई जाएगी | *CG 24 News - Singhotra*
  • ब्रेकिंग न्यूज़  छत्तीसगढ़ में 4985 लोगों ने लगवाया करोना का टीका
    ब्रेकिंग न्यूज़ छत्तीसगढ़ में 4985 लोगों ने लगवाया करोना का टीका पूरे देश में 165714 लोगों को टीकाकरण के पहले दिन टीका लगा यह अभियान पूरे देश में 3351 केंद्रों के माध्यम से शुरू किया गया कोविड 19 महामारी को समाप्त करने पूरी दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान
  •  एम्स के सफाई कर्मचारी को लगा देश का पहला कोरोना का टीका, डॉ. गुलेरिया ने भी ली वैक्सीन

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश में पहले चरण के कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. आज तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी जाएगी. कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब वैक्सीन आ गई है और बहुत कम समय में आ गई है /h2>

  • कोरोना के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू, पीएम मोदी बोले- इस दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतेजार रहा

    भारत में आज से दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण ड्राइव की शुरुआत हो गई है. पीएम मोदी ने वर्चुअल संबोधन के जरिए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि देश में आज  में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है. मैं सभी देशवासियों को इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं.

     

    देश में दो कोरोना वैक्सीन हुई तैयार

     

    आज वो वैज्ञानिक, वैक्सीन रिसर्च से जुड़े अनेकों लोग विशेष प्रशंसा के हकदार हैं, जो बीते कई महीनों से कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने में जुटे थे. आमतौर पर एक वैक्सीन बनाने में बरसों लग जाते हैं. लेकिन इतने कम समय में एक नहीं, दो मेड इन इंडिया वैक्सीन तैयार हुई हैं

     

    वैक्सीनेशन का खर्चा उठाएगी भारत सरकार

     

    भारत का टीकाकरण अभियान बहुत ही मानवीय और महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर आधारित है. जिसे सबसे ज्यादा जरूरत है, उसे सबसे पहले कोरोना का टीका लगेगा. पीएम मोदी ने कहा कि सभी के वैक्सीनेशन का खर्च भारत सरकार द्वारा उठाया जाएगा. टीकाकरण अभियान की पुख्ता तैयारियों के लिए राज्य सरकार के सहयोग से देश के कोने-कोने में ट्रायल किए गए हैं. विशेष तौर पर बनाए गए डिजिटल कोविन में ट्रैकिंग तक की व्यवस्था है.

     

    कोरोन की दो डोज जरूर लगवाएं

     

    पीएम मोदी ने कहा कि पहला टीका लगने के बाद दूसरी डोज कब लगेगी इसकी जानकारी भी दी जाएगी. सभी देशवासियों को ये बात दिलाना चाहता हूं कि कोरोना वैक्सीन की दो डोज लगवानी बेहद जरूरी है. एक डोज के बाद दूसरी डोज लगवाना न भूलें. पहली डोज और दूसरी डोज के बीच एक महीने  का अंतराल रखें. दूसरी डोज़ लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी.

     

    इतिहास में इतना बड़ा टीकाकरण अभियान कभी नहीं चला है

     

    जिस तरह धैर्य के साथ कोरोना का मुकाबला किया वैसे ही धैर्य वैक्सीनेशन के समय भी दिखाना है. पीएम मोदी ने कहा कि इतिहास में इतने बड़े स्तर का टीकाकरण कभी नहीं चला .ये अभियान इतना बड़ा है कि इसका अंदाजा पहले चरण से ही लगाया जा सकता है. दुनिया के 100 से भी ज्यादा ऐसे देश हैं जिनकी जनसंख्या 3 करोड़ से भी कम है और भारत पहले चरण में ही तीन करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है. दूसरे चरण में इस अभियान को 30 करोड़ तक ले जाना है. बुजुर्ग और गंभीर बीमारियों वालों को अगले चरण में टीकाकरण किया जाएगा.

     

    ये अभियान भारत के सामर्थ्य को दिखाता है

     

    ये अभियान भारत के सामर्थ्य को दिखाता है. मैं देशवासियों को एक बात कहना चाहता हूं कि हमारे वैज्ञानिक जब वैक्सीन को लेकर आश्वस्त हुए तभी इसकी इमरजेंसी यूज की अनुमति दी गई. इसलिए देशवासियों को किसी भी तरह के प्रोपेगेंडा, अफवाहें और दुष्प्रचार से बचकर रहना है. भारत के वैक्सीन वैज्ञानिक, हमारा मेडिकल सिस्टम, भारत की प्रक्रिया की पूरे विश्व में बहुत विश्वसनीयता है. हमने ये विश्वास अपने ट्रैक रिकॉर्ड से हासिल किया है.

     

    दुनिया के करीब 60% बच्चों को भारत में बने जीवन रक्षक टीके लगते हैं

     

    पीएम मोदी ने कहा कि हर हिंदुस्तानी इस बात का गर्व करेगा की दुनिया भर के करीब 60% बच्चों को जो जीवन रक्षक टीके लगते हैं, वो भारत में ही बनते हैं. भारत की सख्त वैज्ञानिक प्रक्रियाओं से होकर ही गुजरते हैं. भारतीय वैक्सीन विदेशी वैक्सीन की तुलना में बहुत सस्ती हैं और इनका उपयोग भी उतना ही आसान है. विदेश में तो कुछ वैक्सीन ऐसी हैं जिसकी एक डोज 5,000 हजार रुपये तक में हैं और जिसे -70 डिग्री तापमान में फ्रीज में रखना होता है.

  • *बर्ड-फ्लू की छत्तीसगढ में पुष्टि - हाई अलर्ट जारी*
    *बालोद जिले में बर्ड-फ्लू की पुष्टि के बाद हाई अलर्ट जारी* *सभी प्रोटोकाल पालन एवं सावधानी बरतने के निर्देश* बालोद जिले से जांच के लिए भेजे गए कुक्कुट (चिकन) सेम्पल की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान भोपाल से आज शाम प्राप्त रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हुई है। राज्य में बर्ड-फ्लू का यह पहला मामला है जो बालोद जिले में मिला है। संचालक पशु चिकित्सक ने बताया कि भारत सरकार द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार संक्रमित फार्म से एक किलोमीटर परिधि क्षेत्र को संक्रमित क्षेत्र घोषित कर रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। संक्रमित क्षेत्र में कुक्कुट पक्षियों का आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जा रहा है। इसके साथ ही मनुष्यों एवं वाहनों के आवागमन को भी सीमित करने की कार्रवाई की जा रही है। बालोद के जीएस पोल्ट्री फार्म गिधाली के एक किलोमीटर से 10 किलोमीटर परिधि क्षेत्र को निगरानी क्षेत्र घोषित किया जा रहा है।
  • भाजपा सांसद के बयान से नाराज सिख समाज ने थाने में करवाई एफ आई आर
    भारतीय जनता पार्टी के सांसद संतोष पांडे द्वारा विगत दिनों किसान आंदोलन के विरुद्ध दिए गए बयान से सिख समाज नाराज है - सिख समाज का एक प्रतिनिधिमंडल ने आज थाना सिविल लाइन में भाजपा सांसद संतोष पांडे के खिलाफ किसानों को नक्सली एवं आतंकवादी बताने के विरुद्ध जुर्म दर्ज करने की मांग से संबंधित लिखित शिकायत की- वहीं दूसरी तरफ प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने अपने सांसद संतोष पांडे के बयान पर कोई प्रतिक्रिया जारी ना कर एक प्रकार से समर्थन किया है - भारतीय जनता पार्टी के सांसद द्वारा किसानों को आतंकवादी एवं नक्सली कहे जाने से सिख समाज में रोष व्याप्त है - राजधानी रायपुर के सिख समाज के सभी प्रतिनिधि आज शाम बूढ़ा तालाब धरना स्थल में सांसद संतोष पांडे का पुतला दहन कर विरोध प्रकट करेंगे और अल्पसंख्यक आयोग में भी शिकायत करेंगे - अब देखने वाली बात यह है जिस समाज के विरोध को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी क्या रुख अख्तियार करती है - *CG 24 news - Singhotra*