State News
  • पंच की हत्या मामले में कोर्ट ने दो अभियुक्तों को दी फांसी की सजा

    रायपुर। जांजगीर चांपा में एक साल पहले हुई जघन्य हत्याकांड मामले में दो आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई है। दोनों आरोपियों ने गांव के पांच की हत्या कर इसका वीडियो सोशल मीडिया में अपलोड़ किया था। इस मामले में प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश ने फैसला सुनते हुए फांसी की सजा दोनों आरोपियों को सुनाई है।

    ये पूरा मामला जांजगीर के शिवरीनारायण थाना क्षेत्र का है। 20 नवम्बर 2021 को तुस्मा गांव के पंच भागवत साहू की गांव के ही सोहित कुमार केवट और सुनील कुमार केवट ने गंडासे से काट कर निर्ममता से हत्या कर दी थी। हत्या के बाद आरोपियों ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में अपलोड भी किया था। साथ ही गांव में बनी पानी की टंकी में हथियार लेकर चढ़ गए थे और मीडिया को बुलाने की जिद कर रहे थे। मीडिया पहुंची तो दोनों आरोपियों ने बताया कि पंच ने उनकी जमीन बेच दी थी और रुपये भी नहीं दिए थे। इस बात से परेशान दोनों युवकों ने पंच की हत्या कर दी।

    इस मामले में पूरे 10 महीने चली सुनवाई के बाद जांजगीर जिला प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश ने फैसला सुनाया। जज ने हत्याकांड को रेयर ऑफ रेयरेस्ट बताते हुये दोनों आरोपियों को फांसी देने की सजा सुनाई। बता दें, इस पूरे मामले को तत्कालीन थाना प्रभारी शिवरीनारायण रविन्द्र अनंत देख रहे थे। साथ ही इस केस के सरकरी अधिवक्ता राजेश पांडे थे।

  • आरक्षण मामले में हाईकोर्ट के फैसले को राज्य सरकार अब सुप्रीम कोर्ट में देगी चुनौती

    रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार आरक्षण मामले में हाईकोर्ट के फैसले को अब सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी। दरअसल, सोमवार को छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट द्वारा 50 प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण मामले में फैसला सुनाया गया। जिसके बाद हाईकोर्ट के फैसले से सरकार असंतुष्ट है। अब हाईकोर्ट के फैसले को राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी। राज्य सरकार की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है कि अनुसूचित जाति और जनजाति के हितों की रक्षा के लिए कानून की अंतिम सीढ़ी तक लड़ाई लड़ी जाएगी। जो भी आवश्यक हो कदम होंगे, वे उठाए जाएंगे।

    उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ ने आज यानी 19 सितंबर को,वर्ष 2012 में,राज्य शासन के द्वारा आरक्षण के प्रतिशत में वृद्धि के मामले में अपना निर्णय सुनाया है,राज्य शासन ने इस निर्णय से असहमत होते हुए यह निर्णय लिया है कि इस मामले को माननीय सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष अपील के माध्यम से प्रस्तुत किया जावेगा। राज्य शासन का यह मानना है कि यद्यपि वर्ष 2012 में समुचित रूप से इस मामले में तथ्य तत्कालीन सरकार में पेश नहीं किए थे परन्तु फिर भी, छत्तीसगढ़ राज्य में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के आरक्षण प्रतिशत को देखते हुए, राज्य सरकार उपरोक्त फैसले से पूरी तरह असहमत हैं।
    राज्य सरकार यह मानती है कि उपरोक्त निर्णय से राज्य के आरक्षित वर्ग में समुचित विकास के मार्ग में बाधित होगा, उक्त निर्णय से राज्य सरकार सहमत नहीं है एवं राज्य सरकार निर्णय को चुनौती देते हुए आरक्षित वर्ग को न्याय दिलाने में साथ खड़ी है।

    यह अत्यंत ही दुर्भाग्य का विषय है कि तत्कालीन राज्य सरकार ने इस मामले को बिना किसी तथ्य के जानबूझकर अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की आबादी के विकास एवं आवश्यकताओं को नज़रअंदाज़ करते हुए माननीय न्यायालय के समक्ष अधूरे तथ्य प्रस्तुत किए, जो दस्तावेज़ एवं रिकॉर्ड भी तत्कालीन राज्य सरकार के पास उपलब्ध थे, उन्हें भी तत्कालीन राज्य सरकार ने जानबूझकर माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया था, परंतु वर्तमान सरकार ने उक्त संबंध में समस्त तथ्यों को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करने की अनुमति भी माँगी थी, जिसे इस आधार पर मना किया गया कि चूंकि पूर्व में राज्य सरकार को समय देने के बावजूद भी वह मौक़ा होने के बावजूद भी तत्कालीन सरकार ने जवाब में सभी तथ्यों का उल्लेख नहीं किया, इसलिए अब उसकी अनुमति नहीं दी जा सकती है। परन्तु किसी भी सूरत में समझ के अनुसूचित जाति एवं जनजाति के हितों की रक्षा के लिए क़ानून की अंतिम सीढ़ी तक लड़ाई लड़ी जाएगी एवं जो भी आवश्यक हो क़दम उठाए जाएंगे

  • 14 घंटे बाद मिला नहर में बहे अधिकारी का शव, विसर्जन के दौरान हुआ था हादसा

    कोरबा: रविवार को नहर में बहे बिजली विभाग के अधिकारी का शव मिल गया है। करीब 14 घंटे के रेस्क्यू के बाद घटनास्थल से 40 से 45 किलोमीटर दूर नगरदा में नगर सेना की टीम को शव मिला। मामला उरगा थाना क्षेत्र के ग्राम बरपाली का है।

    जानकारी के मुताबिक शनिवार को विश्वकर्मा जयंती के मौके पर बरपाली विद्युत वितरण केंद्र में भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति स्थापित की गई थी। रविवार देर शाम प्रतिमा विसर्जन के लिए लोग निकले थे। बिजली विभाग की गाड़ी में सवार होकर नाचते-गाते अधिकारी और कर्मचारी ग्राम बरपाली से होकर नहर तक पहुंचे। इनमें कनिष्ठ अभियंता हनेंद्र सिंह कंवर भी थे, जो नहर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान बह गए।

    हादसा रविवार रात 9 से 10 बजे के बीच हुआ था। गोताखोर की टीम को नहर में उतारकर जूनियर इंजीनियर हनेंद्र की तलाश लगातार की जा रही थी, उरगा थाना प्रभारी सनत सोनवानी के मुताबिक देर रात के बाद सोमवार सुबह से ही रेस्क्यू ऑपरेशन जारी था, आखिरकार कनिष्ठ अभियंता हनेंद्र सिंह कंवर का शव सक्ति के नगरदा में मिला है।

  • छत्तीसगढ़ का एकनाथ शिंदे बनना चाहते थे धर्मजीत चाचा - अमित जोगी
    रायपुर। चाचा-भतीजे का सियासी आरोप प्रत्यारोप एक दूसरे का पोल खोल अभियान की तरह चल रहा है। निष्कासित विधायक धर्मजीत सिंह के आरोपों का जवाब देते हुए अब अमित जोगी ने काफी संयमित भाषा के साथ एक बयान जारी किया है जिसमें उन्होने अपने को संस्कारित बताया है और धर्मजीत चाचा को कहा कि वे छत्तीसगढ़ का एकनाथ शिंदे बनना चाहते थे लेकिन ऐसा हो नहीं पाया इसलिए बौखलाकर उल्टा - पुल्टा आरोप लगा रहे हैं। अमित जोगी ने अपने बयान में क्या कहा है.. आदरणीय श्री ठाकुर धर्मजीत सिंह जी मेरे लिए सदैव आत्मीय और सम्मानीय थे, हैं और रहेंगे। मेरे संस्कार मुझे यह अनुमति नही देते कि मैं अपने वरिष्ठजनों विशेषकर वो जो मेरे पिता की राजनीतिक छाया में पले बढ़े, उनकी किसी भी बात पर उनके विरुद्ध कुछ कहूँ। माननीय अजीत जोगी ने छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़े वर्गों तथा समाज के गरीब और दबे कुचले लोगों के उत्थान के लिये जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का गठन किया था। लेकिन पार्टी के अस्तित्व को मिटाने और छत्तीसगढ़ की अस्मिता को कुचलने के लिए जो षड्यंत्र रचा गया, उसको देखते हुए पार्टी के पास आदरणीय ठाकुर धरमजीत सिंह जी पर कार्यवाही करने के अलावा कोई विकल्प नही बचा था। दुख केवल इस बात का है कि आदरणीय धरमजीत चाचा को क्षेत्रीय स्वाभिमान छोड़कर, छत्तीसगढ़ का एकनाथ शिंदे बनना ज्यादा रास आया। रही बात मेरे विरुद्ध अनाप-शनाप बातें करने की तो मैं केवल इतना ही कहूँगा कि ये बातें आदरणीय ठाकुर धरमजीत सिंह जी नही बल्कि उनके अंदर का एकनाथ शिंदे बोल रहा है।
  • रमदहा वाटरफॉल में डूबने से 6 लोगों की हुई थी मौत, दुर्घटना रोकने जिला प्रशासन करेगा पुख्ता प्रबंध

    मनेंद्रगढ़-चिरमिरी/ रमदहा वाटरफॉल में पर्यटकों की डूबकर मृत्यु होने की घटना की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर शीघ्र ही पुख्ता प्रबंध करने जा रहा है। इस वाटरफॉल के एकदम नजदीक जाकर नहाने, तैरने और सेल्फी लेने की रोकथाम के लिए 500 मीटर के दायरे में रेलिंग लगाई जाएगी। कलेक्टर पी.एस. ध्रुव ने 17 सितंबर को अधिकारियों की टीम के साथ दो किलोमीटर पैदल चलकर रमदहा वाटरफॉल पहुंचे और वहां की स्थिति का जायजा लिया।

    पर्यटकों की सुरक्षा के मद्देनजर उन्होंने वाटरफॉल के एकदम नजदीक जाने के रास्ते को फिलहाल पत्थरों से तत्काल बंद करवाने के निर्देश दिए। दरअसल रमदहा जलप्रपात जाने के मार्ग में पर्यटकों का एक वाहन फंस जाने की वजह से रास्ता बाधित हो गया था, जिसकी वजह से कलेक्टर ध्रुव अधिकारियों की टीम के साथ यहां पैदल चलकर पहुंचना पड़ा।

    गौरतलब है कि रमदहा फॉल मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिला मुख्यालय से लगभग 140 किलोमीटर दूर भरतपुर जनपद में स्थित है। यह झरना एक छोटी सी पहाड़ी से निकलता है, इसकी ऊंचाई लगभग 120 फीट है। जंगलों के बीच स्थित रमदहा वाटरफॉल प्राकृतिक और बेहद मनोरम है। यह वाटरफॉल बनास नदी के किनारे स्थित है। इस वाटरफॉल से प्रवाहित जल बनास नदी में जाता है। इस वाटरफॉल को देखने के लिए हमेशा पर्यटक बड़ी संख्या आते रहते हैं। रमदहा जलप्रपात बहुत ही गहरा है, यहां जाने पर सावधानी का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।

    बता दें कि बीते दिनों मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के 6 पर्यटकों की मृत्यु रमदहा वाटरफॉल में डूबने की वजह से हो गई थी। इस वाटरफॉल के नजदीक जाकर नहाना, तैरना अथवा सेल्फी लेना बेहद खतरनाक है, क्योंकि यहां की बारीक रेत कब पैरों के नीचे से फिसल जाए और आप गहरे पानी में चले जाए पता ही नहीं चल पाता। ग्रामीणों के मुताबिक रमदहा वाटरफॉल में डूबने की वजह से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है।

    कलेक्टर पी.एस. ध्रुव ने पर्यटकों की सुरक्षा के मद्देनजर वाटरफॉल से 500 मीटर को रेलिंग से घिरवाने के साथ ही रमदहा जलप्रपात को देखने के लिए पाथवे बनवाने के साथ ही सुरक्षित जगह सेल्फी प्वाइंट की व्यवस्था कराने के साथ ही इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कार्ययोजना तैयार करने की निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने रमदहा जलप्रपात स्थल पर पर्यटकों के लिए सुरक्षा संबंधी चेतावनी का बोर्ड लगाए जाने के भी निर्देश दिए। इस दौरान तहसीलदार अशोक सिंह, जनपद सीईओ अनिल अग्निहोत्री, मनरेगा पीओ के.पी. सिंह एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।

  • बस्तर में माओवादियों ने मचाया उत्पात: मालगाड़ी को बनाया निशाना, लोको पायलट को लूटा, डिब्बे में बांधे बैनर

    दंतेवाड़ा: बस्तर में माओवदियों ने एक बार फिर उत्पात मचाया है। इस बार माओवदियों ने मालगाड़ी को अपना निशाना बनाया। रविवार देर रात झिरका-बासनपुर के जंगल में मालगाड़ी को रुकवाकर लोको पायलट से वॉकी-टॉकी लूट लिए और ट्रेन में बैनर बांध दिया। हालांकि किसी भी कर्मचारी को नुकसान नहीं पहुंचाया है। यह पूरा मामला भांसी थाना क्षेत्र का है।

    जानकारी के अनुसार, देर रात लाल बैनर लेकर माओवादी किरंदुल-विशाखापट्टनम रेलवे लाइन में ट्रैक के बीच खड़े थे। 20 से 30 माओवादियों ने इस वारदात को अंजाम दिया है। वहीं जब ट्रेन आई तो माओवादियों ने ट्रेन को रुकवाया। माओवादियों को देख पायलेट ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया। संवेदनशील इलाका होने की वजह से ट्रेन की रफ्तार पहले से ही कम थी।

    मालगाड़ी को रुकवाने के बाद माओवादियों ने लोको पायलट समेत अन्य कर्मचारियों को नीचे उतारा और एक डिब्बे में बैनर-पोस्टर लगा दिए। मालगाड़ी के एक डिब्बे में बैनर बांधने के बाद माओवादी जंगल की तरफ चले गए। वारदात होने के बाद रेलवे कर्मचारियों ने इसकी जानकारी फौरन रेलवे के उच्चाधिकारियों को दी। पुलिस को इसकी खबर मिलते ही इलाके में सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया गया है।

    दरअसल इस रुट पर नक्सल दहशत की वजह रेलवे को पहले ही अंदेशा था इस वजह से पैसेंजर ट्रेनों को कुछ दिनों से दंतेवाड़ा स्टेशन में ही रोका जा रहा है। लेकिन मालगाड़ियों की आवाजाही बरकरार थी। इसके पहले बीजापुर जिले में माओवादियों ने सीआरपीएफ की सब्जी वाहन को आग के हवाले कर दिया था।

  • रेलवे ट्रैक पर मिली सिर कटी लाश, नशे के लिए माना करने पर उठाया खौफनाक कदम

    कोरबा।जिले में शनिवार रात रेलवे ट्रैक पर एक सिर कटी लाश मिली। मानिकपुर चौकी क्षेत्र अंतर्गत रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक किनारे मिली लाश की सूचना स्टेशन मास्टर ने पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची। शुरुआती जांच में खुदकुशी की बात सामने आ रही है। ट्रेन से कटकर व्यक्ति का सिर बॉडी से अलग हो गया है।

    मृतक की शिनाख्त 50 वर्षीय अजय गुप्ता के रूप में हुई है। परिजनों को उसकी मौत की सूचना दे दी गई। पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज किए हैं। परिजनों ने बताया कि अजय को शराब पीने की लत थी, जिसे लेकर उसे बार-बार मना किया जाता था। दबाव बनाने पर उसने कुछ दिनों के लिए शराब जरूर छोड़ा था, लेकिन फिर दोबारा पीने लगा। कल फिर से जब उससे शराब पीने को लेकर मना किया गया, तो वो गुस्से से घर से बाहर चला गया था। इसी गुस्से में उसने ट्रेन से कटकर अपनी जान दी होगी।

    मानिकपुर चौकी प्रभारी ललन पटेल ने बताया कि पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है, हालांकि शुरुआती जांच में आत्महत्या का केस लग रहा है। ललन पटेल ने कहा कि उरगा-कोरबा सेक्शन अप लाइन किमी संख्या 701/सी 17-19 के पास शव मिला है। मालगाड़ी से कटकर व्यक्ति की मौत हुई है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया गया है।

  • *रंगारंग एवं भव्य शुभारंभ यातायात जागरूकता सप्ताह एवं रूबरू मेला*
    *रंगारंग एवं भव्य शुभारंभ यातायात जागरूकता सप्ताह एवं रूबरू मेला* *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर द्वारा बिलासपुर की जनता को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने एवं सामुदायिक पुलिस के तहत पुलिस की कार्यप्रणाली के अतिरिक्त अन्य गतिविधियों की जानकारी आम जनता को दिए जाने हेतु "पुलिस मेला रूबरू" (एक दिवसीय) एवं यातायात जागरूकता सप्ताह दोनों की कार्यक्रम का रंगारंग एवं भव्य शुभारंभ स्थानीय पुलिस मैदान बिलासपुर में किया गया।* *इस अवसर पर प्रातः 10:00 बजे से पुलिस सीआरपीएफ नगर सेना , एफ ए एफ, आर पी एफ , सामाजिक संस्थाओं के सदस्य महाविद्यालय के छात्र-छात्राएं एवं कार्यक्रम अधिकारी सहित एनसीसी के सीनियर डिविजन केडेडसतथा कार्यक्रम आयोजन समिति के सदस्यों की एक विशाल जन जागरूकता "हेलमेट रैली" स्थानीय अरपा रिवर व्यू से प्रारंभ किया गया।* *जिसे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर, श्रीमती पारुल माथुर द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया जो कि नगर भ्रमण कर दुपहिया चालकों के लिए "हेलमेट की अनिवार्यता का संदेश" हेतु पुलिस परेड मैदान में पहुंचकर समाप्त हुआ।* *इस प्रकार दिनांक 18 सितंबर 2022 को यातायात "जागरूकता सप्ताह" एवं "पुलिस मेला रूबरू" का विधिवत शुभारंभ हुआ।* *आज के इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय डॉ0 संजय अलंग, संभागायुक्त बिलासपुर संभाग बिलासपुर एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय श्री रतनलाल डांगी पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज बिलासपुर तथा विशिष्ट अतिथि आई0जी0पी0, श्री आनंद सिन्हा , केंद्रीय जेल के अधीक्षक एस.एस. तिग्गा, डी0आई0जी0, सी0आर0पी0एफ श्री लक्ष्मी नारायण मिश्रा जी उपस्थित हुए।* *कार्यक्रम के प्रारंभ में यातायात पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री रोहित बघेल रही यातायात जागरूकता सप्ताह के दैनिक कार्यक्रमों प्रतियोगिताओं जनहित में लगाए जा रहे विभिन्न केम्प की जानकारी दी।* *इसके उपरांत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर जी ने अपने उद्बोधन में सभी अतिथियों एवं कार्यक्रम में शामिल हुए सभी लोगों की उपस्थिति पर अपनी प्रशंसा व्यक्त करते हुए कहा कि- इतने अलग-अलग विभागों के अधिकारी एवं आगंतुक आज के इस कार्यक्रम में शामिल हुए जिसमें सीआरपीएफ, आरपीएफ एएसएफ, फॉरेंसिक, जेल विभाग आईयूसीएडब्ल्यू , नगर सेना एनसीसी,यातायात पुलिस, जिला पुलिस बल जो अपने आपसी समन्वय को दर्शाता है, उन्होंने रूबरू मेले के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि इस आयोजन से आम जनता को हमारे पुलिस की विभिन्न शाखाओं को जानने का अवसर प्राप्त होगा उनसे हम सीधे संवाद कर सकते हैं "पुलिस का कार्य सज्जनों की सुरक्षा एवं दुर्जननों का विनाश करना है" समाज में शांति तभी होगी जब हम सब पुलिस से कदम से कदम मिलाकर चलें।* *इसी प्रकार सम्मानीय अतिथियों द्वारा भी अपने उद्बोधन भाषण में इस कार्यक्रम आयोजन के महत्व को दर्शाते हुए अपने विचार व्यक्त किए।* *"सामुदायिक पुलिसिंग" के तहत रूबरू पुलिस मेला में बिलासपुर पुलिस सहित, यातायात पुलिस, पुलिस विभाग से जुड़ी हुई विभिन्न जानकारी दिए जाने के साथ-साथ, अर्धसैनिक बल सी0आई0एस0एफ0, सी0आर0पी0एफ0,सी0ए0 एफ़,आर0पी0एफ0, साइबर जागरूकता, साइबर सुरक्षा, महिला सुरक्षा, महिलाओं के अधिकारियों की जानकारी के साथ यातायात जागरूकता, हथियारों की जानकारी, फॉरेंसिक एक्सपर्ट द्वारा साक्ष्य संकलन की विधि की जानकारी । इसी प्रकार जेल विभाग तथा नगर सेना द्वारा अग्निशमन एवं आपदा प्रबंधन की जानकारी दिए जाने तथा लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस वाहनों के जनरल इंश्योरेंस का महत्व एवं वाहनों से धुंआ उत्सर्जन के मानको की जानकारी रूबरू मेले के माध्यम से बिलासपुर शहर वासियों को विभिन्न स्टालों के माध्यम से दी गई।* साथ ही रूबरू मेले में बच्चों के आकर्षण हेतु विभिन्न मनोरंजक खेल एवं स्वादिष्ट व्यंजन भी स्टाल के माध्यम से उपलब्ध कराए गए। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम नृत्य एवं गायन का आयोजन भी किया गया। रूबरू पुलिस मेला में बनाए गए पुलिस एवं अर्धसैनिक बल के अलग-अलग स्टाल के माध्यम से लोगों को प्रत्यक्ष रूप से जानकारी दी गई, रूबरू के stalls-CRPF- की जानकारी- बल संरचना, गठन केंद्र, प्रशिक्षण कार्यप्रणाली कोबरा बटालियन तथा अन्य पुलिसिंग एवं अन्य सामुदायिक पुलिसिंग व हथियारों की जानकारी। RPF- संरचना, इस्तेमाल में लायी जाने वाली नयी तकनीकें, बम डिस्पोज़ल व बैगेज सकेनर,डॉग स्कॉड,रेल सम्पति की सुरक्षा विधिक सेवा जनता को प्राप्त विधिक सेवा व अधिकारोएवं कानूनों की जानकारी नगर सेना- अग्नि शमन के प्रकारों की प्रदर्शिनी व उनका डेमो।sdrf द्वारा आपदा प्रबंधन की जानकारी 2nd सकरी बटालीयन- संगठन प्रशिक्षण नक्सल गतिविधि में भूमिका हथियारों की जानकारी व उनके कार्यक्षेत्र ACCU- साइबर जागरूकता, नक़ली व असली नोट की जानकारी, साइबर सुरक्षा, ज़िला पुलिस बल- पुलिस बल इकाइ के उपलब्ध हथियार, रखरखाव प्रशिक्षण तथा कानून व्यवस्था की स्थिति में उपयोग महिला सुरक्षा- महिलाओं के अधिकारो की जानकारी, अभिव्यक्ति ऐप की जानकारी, महिला सम्बन्धी अपराधों से अवगत कराना, पंप्लेट बाँटना यातायात पुलिस- ट्राफ़िक के आधुनिक उपकरण प्रयोग विधि एवं ड्यूटी दौरान में उपयोग तथा स्कूलों द्वारा सुगम सुरक्षित यातायात मॉडल के माध्यम से ट्राफ़िक जागरूकता एवं नयी तकनीकों का प्रदर्शन एफ़॰एस॰एल॰- कार्यवाहियों का विवरण, ब्राउन शुगर, गंजा, नशीले पदार्थों का विवरण एवं विश्लेषण, fingerprint की तकनीक व unka प्रदर्शन , क्राइम सीन से साक्ष्यों संकलन NSS की इकाई का विवरण व उनके कार्यों प्रदर्शन केंद्रीय जेल-जेल क़ैदियों द्वारा बनाई गयी सामग्रियों प्रदर्शन, furniture, कपड़े, pottery आइटम सम्बंधित विभाग द्वारा दी गई। खान-पान ,केंद्रीय जेल की ashtha मुंगोड़ी सेंटर गढकलेवा दिव्यंगो का पकोड़ा व मटर चाट, गुलगुला भजियावृद्धाश्रम का पकोड़ा, बड़ा, pinkline ऑटो- पकोड़ा, गुपचुप, चाट, ख़्वाब वेल्फ़ेयर फ़ाउंडेशन- सलोनी, चकली, सैंड्विच, पास्ता, मैगी, नूडल पुलिस परिवार- केक, पेस्ट्री, मोमोस, अंकुरित चाट खेल-bandook निशाना रिंग फेंकनिशाना लगाना झूला कार राइड सेल्फ़ी point, पुलिस वर्दी me cut out आज के मेले का मुख्य आकर्षण पुलिस का स्टाल खानपान एवं बच्चों का मनोरंजन रहा व सांस्कृतिक कार्यक्रम रहा,जहां लोगों ने स्वस्थ मनोरंजन, खानपान के साथ पुलिस के विभिन्न शाखाओं की जानकारी प्राप्त की बच्चों में मनोरंजन वह मेले को लेकर काफी हर्ष होने से नगर वासियों में इस आयोजन की काफी प्रशंसा की। इसी कड़ी में 19 सितंबर को ट्रक ट्रेलर भारी वाहनों का चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण सीपत रोड में मित्तल पेट्रोल पंप पर यातायात पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के समंदर से किया जाएगा। मन्नू मानिकपुरी की रिपोर्ट बिलासपुर
  • रंगारंग एवं भव्य शुभारंभ यातायात जागरूकता सप्ताह एवं रूबरू मेला

    मन्नू मानिकपुरी की रिपोर्ट/  बिलासपुर / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर द्वारा बिलासपुर की जनता को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने एवं सामुदायिक पुलिस के तहत पुलिस की कार्यप्रणाली के अतिरिक्त अन्य गतिविधियों की जानकारी आम जनता को दिए जाने हेतु "पुलिस मेला रूबरू" (एक दिवसीय) एवं यातायात जागरूकता सप्ताह दोनों की कार्यक्रम का रंगारंग एवं भव्य शुभारंभ स्थानीय पुलिस मैदान बिलासपुर में किया गया।

    इस अवसर पर प्रातः 10:00 बजे से पुलिस सीआरपीएफ नगर सेना , एफ ए एफ, आर पी एफ , सामाजिक संस्थाओं के सदस्य महाविद्यालय के छात्र-छात्राएं एवं कार्यक्रम अधिकारी सहित एनसीसी के सीनियर डिविजन केडेडसतथा कार्यक्रम आयोजन समिति के सदस्यों की एक विशाल जन जागरूकता "हेलमेट रैली" स्थानीय अरपा रिवर व्यू से प्रारंभ किया गया।* *जिसे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर, पारुल माथुर द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया जो कि नगर भ्रमण कर दुपहिया चालकों के लिए "हेलमेट की अनिवार्यता का संदेश" हेतु पुलिस परेड मैदान में पहुंचकर समाप्त हुआ।* *इस प्रकार दिनांक 18 सितंबर 2022 को यातायात "जागरूकता सप्ताह" एवं "पुलिस मेला रूबरू" का विधिवत शुभारंभ हुआ।* *आज के इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय डॉ0 संजय अलंग, संभागायुक्त बिलासपुर संभाग बिलासपुर एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय  रतनलाल डांगी पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज बिलासपुर तथा विशिष्ट अतिथि आई0जी0पी0, श्री आनंद सिन्हा , केंद्रीय जेल के अधीक्षक एस.एस. तिग्गा, डी0आई0जी0, सी0आर0पी0एफ लक्ष्मी नारायण मिश्रा जी उपस्थित हुए।* *कार्यक्रम के प्रारंभ में यातायात पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रोहित बघेल रही यातायात जागरूकता सप्ताह के दैनिक कार्यक्रमों प्रतियोगिताओं जनहित में लगाए जा रहे विभिन्न केम्प की जानकारी दी।* *इसके उपरांत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  पारुल माथुर जी ने अपने उद्बोधन में सभी अतिथियों एवं कार्यक्रम में शामिल हुए सभी लोगों की उपस्थिति पर अपनी प्रशंसा व्यक्त करते हुए कहा कि- इतने अलग-अलग विभागों के अधिकारी एवं आगंतुक आज के इस कार्यक्रम में शामिल हुए जिसमें सीआरपीएफ, आरपीएफ एएसएफ, फॉरेंसिक, जेल विभाग आईयूसीएडब्ल्यू , नगर सेना एनसीसी,यातायात पुलिस, जिला पुलिस बल जो अपने आपसी समन्वय को दर्शाता है, उन्होंने रूबरू मेले के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि इस आयोजन से आम जनता को हमारे पुलिस की विभिन्न शाखाओं को जानने का अवसर प्राप्त होगा उनसे हम सीधे संवाद कर सकते हैं "पुलिस का कार्य सज्जनों की सुरक्षा एवं दुर्जननों का विनाश करना है" समाज में शांति तभी होगी जब हम सब पुलिस से कदम से कदम मिलाकर चलें।* *इसी प्रकार सम्मानीय अतिथियों द्वारा भी अपने उद्बोधन भाषण में इस कार्यक्रम आयोजन के महत्व को दर्शाते हुए अपने विचार व्यक्त किए।* *"सामुदायिक पुलिसिंग" के तहत रूबरू पुलिस मेला में बिलासपुर पुलिस सहित, यातायात पुलिस, पुलिस विभाग से जुड़ी हुई विभिन्न जानकारी दिए जाने के साथ-साथ, अर्धसैनिक बल सी0आई0एस0एफ0, सी0आर0पी0एफ0,सी0ए0 एफ़,आर0पी0एफ0, साइबर जागरूकता, साइबर सुरक्षा, महिला सुरक्षा, महिलाओं के अधिकारियों की जानकारी के साथ यातायात जागरूकता, हथियारों की जानकारी, फॉरेंसिक एक्सपर्ट द्वारा साक्ष्य संकलन की विधि की जानकारी । इसी प्रकार जेल विभाग तथा नगर सेना द्वारा अग्निशमन एवं आपदा प्रबंधन की जानकारी दिए जाने तथा लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस वाहनों के जनरल इंश्योरेंस का महत्व एवं वाहनों से धुंआ उत्सर्जन के मानको की जानकारी रूबरू मेले के माध्यम से बिलासपुर शहर वासियों को विभिन्न स्टालों के माध्यम से दी गई।* साथ ही रूबरू मेले में बच्चों के आकर्षण हेतु विभिन्न मनोरंजक खेल एवं स्वादिष्ट व्यंजन भी स्टाल के माध्यम से उपलब्ध कराए गए। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम नृत्य एवं गायन का आयोजन भी किया गया। रूबरू पुलिस मेला में बनाए गए पुलिस एवं अर्धसैनिक बल के अलग-अलग स्टाल के माध्यम से लोगों को प्रत्यक्ष रूप से जानकारी दी गई, रूबरू के stalls-CRPF- की जानकारी- बल संरचना, गठन केंद्र, प्रशिक्षण कार्यप्रणाली कोबरा बटालियन तथा अन्य पुलिसिंग एवं अन्य सामुदायिक पुलिसिंग व हथियारों की जानकारी। RPF- संरचना, इस्तेमाल में लायी जाने वाली नयी तकनीकें, बम डिस्पोज़ल व बैगेज सकेनर,डॉग स्कॉड,रेल सम्पति की सुरक्षा विधिक सेवा जनता को प्राप्त विधिक सेवा व अधिकारोएवं कानूनों की जानकारी नगर सेना- अग्नि शमन के प्रकारों की प्रदर्शिनी व उनका डेमो।sdrf द्वारा आपदा प्रबंधन की जानकारी 2nd सकरी बटालीयन- संगठन प्रशिक्षण नक्सल गतिविधि में भूमिका हथियारों की जानकारी व उनके कार्यक्षेत्र ACCU- साइबर जागरूकता, नक़ली व असली नोट की जानकारी, साइबर सुरक्षा, ज़िला पुलिस बल- पुलिस बल इकाइ के उपलब्ध हथियार, रखरखाव प्रशिक्षण तथा कानून व्यवस्था की स्थिति में उपयोग महिला सुरक्षा- महिलाओं के अधिकारो की जानकारी, अभिव्यक्ति ऐप की जानकारी, महिला सम्बन्धी अपराधों से अवगत कराना, पंप्लेट बाँटना यातायात पुलिस- ट्राफ़िक के आधुनिक उपकरण प्रयोग विधि एवं ड्यूटी दौरान में उपयोग तथा स्कूलों द्वारा सुगम सुरक्षित यातायात मॉडल के माध्यम से ट्राफ़िक जागरूकता एवं नयी तकनीकों का प्रदर्शन एफ़॰एस॰एल॰- कार्यवाहियों का विवरण, ब्राउन शुगर, गंजा, नशीले पदार्थों का विवरण एवं विश्लेषण, fingerprint की तकनीक व unka प्रदर्शन , क्राइम सीन से साक्ष्यों संकलन NSS की इकाई का विवरण व उनके कार्यों प्रदर्शन केंद्रीय जेल-जेल क़ैदियों द्वारा बनाई गयी सामग्रियों प्रदर्शन, furniture, कपड़े, pottery आइटम सम्बंधित विभाग द्वारा दी गई। खान-पान ,केंद्रीय जेल की ashtha मुंगोड़ी सेंटर गढकलेवा दिव्यंगो का पकोड़ा व मटर चाट, गुलगुला भजियावृद्धाश्रम का पकोड़ा, बड़ा, pinkline ऑटो- पकोड़ा, गुपचुप, चाट, ख़्वाब वेल्फ़ेयर फ़ाउंडेशन- सलोनी, चकली, सैंड्विच, पास्ता, मैगी, नूडल पुलिस परिवार- केक, पेस्ट्री, मोमोस, अंकुरित चाट खेल-bandook निशाना रिंग फेंकनिशाना लगाना झूला कार राइड सेल्फ़ी point, पुलिस वर्दी me cut out आज के मेले का मुख्य आकर्षण पुलिस का स्टाल खानपान एवं बच्चों का मनोरंजन रहा व सांस्कृतिक कार्यक्रम रहा,जहां लोगों ने स्वस्थ मनोरंजन, खानपान के साथ पुलिस के विभिन्न शाखाओं की जानकारी प्राप्त की बच्चों में मनोरंजन वह मेले को लेकर काफी हर्ष होने से नगर वासियों में इस आयोजन की काफी प्रशंसा की। इसी कड़ी में 19 सितंबर को ट्रक ट्रेलर भारी वाहनों का चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण सीपत रोड में मित्तल पेट्रोल पंप पर यातायात पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के समंदर से किया जाएगा।  

  • हाथियों का कहर, घर में सो रही बुजुर्ग महिला सहित दो लोगों की ले ली जान…

    सूरजपुर। सूरजपुर जिले में हाथियों का कहर बरपाना जारी है. रविवार को फिर 10 हाथियों के दल ने एक महिला सहित दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया. घटना की जानकारी मिलने के बाद वन अमले ने मौके पर पहुंचकर मृतक के परिजनों को 25,000-25,000 रुपए की सहायता राशि देकर जांच शुरू कर दी हैबता दें कि पिछले 5 दिनों से 10 हाथियों का दल प्रेम नगर इलाके में उत्पात मचा रहा है. कल देर रात लगभग 12 बजे यह हाथियों का अभयपुर पहुंचा और घर में सो रहे मनबोध पर हमला कर दिया. हालांकि, ग्रामीण ने भागने की कोशिश जरूर की लेकिन वह हाथी के चपेट में आ गया और मौके पर ही हाथियों के कुचले जाने से उसकी मौत हो गई. वहीं दूसरे मामले में सुबह लगभग 5 बजे जनार्दनपुर गांव में पहुंचे हाथियों के दल ने घर में सो रही एक वृद्ध महिला को मौत के घाट उतार दिया. यह दोनों घटनाएं जंगल से लगे घरों में हुई है.बता दें कि कोरिया जिले से आए हाथियों के इस दल ने अभी तक प्रेमनगर इलाके में दर्जनों मकान तोड़ दिए हैं, और बड़ी संख्या में खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचाया है. वन विभाग का दावा है कि वे लगातार ग्रामीणों को जागरूक कर रहे हैं, और हाथियों के नजदीक न जाने की सलाह दे रहे हैं. वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वे लगातार ग्रामीणों को समझाइश दे रहे थे कि जंगल से लगे घरों में ना रहे.

  •  *सांसद सुनील सोनी बताएं जब अंर्तराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दाम में कमी हुई तो देश मे पेट्रोल डीजल के दाम कम क्यो नही हुये?*
    *सांसद सुनील सोनी बताएं जब अंर्तराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दाम में कमी हुई तो देश मे पेट्रोल डीजल के दाम कम क्यो नही हुये?* **पूर्व की रमन सरकार और मध्यप्रदेश से कम है छत्तीसगढ़ में पेट्रोल डीजल में वैट टैक्स* * *मनमोहन सरकार पेट्रोल डीजल पर 9.48 रु और 3.54 रु. एक्साइज ड्यूटी लेती थी मोदी सरकार 33रु. और 32रु. वसूल रही थी* रायपुर /17 सितंबर 2022/ सांसद सुनील सोनी के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सांसद सुनील सोनी झूठ बोलकर मोदी सरकार के पेट्रोल डीजल पर मुनाफाखोरी को पर्दा नहीं कर सकते।बीते 8 साल में मोदी भाजपा की सरकार ने पेट्रोल डीजल के माध्यम से लगभग 28लाख करोड रुपए गरीब जनता की जेब से निकाल लिया है। छत्तीसगढ़ में वर्तमान में पेट्रोल डीजल लगने वाला वैट की दरें पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश और पूर्व के रमन सरकार के समय से कम है। मध्यप्रदेश में 33 प्रतिशत वैट टैक्स था जिसे घटाकर 29 प्रतिशत किया गया है और पूर्व रमन सरकार के समय 25 प्रतिशत से ऊपर में वैट टैक्स था आज लगभग 23 प्रतिशत वैट टैक्स लिया जा रहा है। छत्तीसगढ़ 7 राज्यो से घिरा है और 5 राज्यों में पेट्रोल डीजल की कीमत छत्तीसगढ़ से ज्यादा है। कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सांसद सुनील सोनी को प्रदेश की जनता को बताना चाहिए वर्तमान समय में अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत में 27 प्रतिशत की कमी आई है देश में पेट्रोल डीजल के दामों में कमी क्यों नहीं की गई? रसोई गैस के दाम मे प्रति टन 750 डॉलर प्रति टन से घटकर 650 डॉलर प्रति टन हो गया है यानी 100 डॉलर की कमी आई है जिस हिसाब से पेट्रोल डीजल में 20रु प्रति लीटर और रसोई गैस में कम से कम 200 रु प्रति सिलेंडर की कमी करनी चाहिए।क्रूड ऑयल 2014 में 116 डॉलर था तब पेट्रोल 71 रू लीटर और डीजल 55 रु लीटर था उस दौरान मनमोहन सिंह की सरकार पेट्रोल पर 9 रुपए 48 पैसा और डीजल पर 3 रु 54 पैसा एक्साइज ड्यूटी लेती थी आज क्रूड ऑयल 88 डॉलर प्रति बैरल में तक पहुँच गया है उसके बावजूद देश में पेट्रोल डीजल के दाम 105 रु लीटर और डीजल लगभग 98 रु लीटर के करीब क्यो है? कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोल पर 9.48 रू और डीजल पर 3.54 रू एक्साइज ड्यूटी लिया जाता रहा है जिसे बढ़ाकर मोदी सरकार ने पेट्रोल पर 33 रू और डीजल पर 32 रू एक्साइज ड्यूटी के साथ अलग से शेष लेने का काम किया है डीजल पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर 15 रू कम कर मोदी भाजपा की सरकार एक्साइज ड्यूटी घटाने का दम भर रही है जबकि एक्साइज ड्यूटी बढ़ाया भी मोदी भाजपा की सरकार नहीं था आज भी मनमोहन सरकार के दौरान लिए जाने वाले एक्साइज ड्यूटी से मोदी सरकार की एक्साइज ड्यूटी 3 गुना ज्यादा है और अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल के कीमत में 27 प्रतिशत की गिरावट आई है ऐसे में स्पष्ट समझ में आता है कि मोदी सरकार के मुनाफाखोरी का दुष्परिणाम गरीब जनता को उठाना पड़ा है भाजपा नेता राज्य सरकार पर झूठे आरोप लगाकर मोदी की मुनाफाखोरी और नाकामी को पर्दा नहीं कर सकते।
  • *भ्रष्टाचार में भगवान को भी नहीं बख्श रही कांग्रेस सरकार- केदार*
    *भ्रष्टाचार में भगवान को भी नहीं बख्श रही कांग्रेस सरकार- केदार* रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने बस्तर के ऐतिहासिक जगन्नाथ मंदिर के जीर्णोद्धार में भारी भ्रष्टाचार की परतें उधड़ने का हवाला देते हुए कहा है कि जिस मंदिर से लाखों भक्तों की आस्था जुड़ी है, वहां भी कांग्रेस भ्रष्टाचार करने से बाज नहीं आई। कांग्रेस की भ्रष्टतम सरकार ने भगवान को भी नहीं बख्शा। इनके चापलूस दरबारी मंत्री भूपेश बघेल को भगवान का ही दर्जा दे रहे हैं और ये जगत के स्वामी भगवान जगन्नाथ के मंदिर के काम में भी कारनामे दिखा रहे हैं। प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि यदि इस भ्रष्टाचार को सरकार का संरक्षण प्राप्त नहीं है तो भगवान के घर में डाका डालने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। लोक निर्माण मंत्री और विभाग प्रमुख पर कार्यवाही की जाये। लोक निर्माण विभाग में भ्रष्टाचार के लिए सीधे तौर पर विभागीय मंत्री व विभाग के नौकरशाह जिम्मेदार हैंऔर सरकार के मुखिया होने के कारण मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नैतिक जिम्मेदारी है कि वे भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दें लेकिन उनकी सरकार तो भ्रष्टाचार के नरवा में लोट रही है। हर काम में कमीशन बंधा है। भूपेश बघेल कमीशन सरकार चला रहे हैं। उनकी सरकार में किसी भी लोक निर्माण में इतना कमीशन डकारा जा रहा है कि निर्माण कार्य की गुणवत्ता सम्भव ही नहीं है। जब लागत राशि का बड़ा हिस्सा भूपेश बघेल की कमीशन मंडली हड़प लेगी तो ठेकेदार क्या पुण्य कमाने फोकट में काम करेगा? यही कारण है कि इस सरकार के जो थोड़े निर्माण कार्य हो रहे है वो भी दुर्दशा ग्रस्त हैं। हर काम में भ्रष्टाचार की दुर्गंध आ रही है। बाकी जगह तो भ्रष्टाचार चरम पर है ही, अब तो फर्जी भगवान कांग्रेस सरकार की कृपा से भगवान के घर में भी सेंधमारी हो गई। CG 24 News - Singhotra