State News
  • छत्तीसगढ़: राज्य प्रशासनिक सेवा के तीन अफसरों का तबादला
    रायपुर। राज्य प्रशासनिक सेवा के तीन अफसरों को इधर से उधर किया गया है। इस कड़ी में संयुक्त कलेक्टर राजनांदगांव सीपी बघेल को लोक सेवा आयोग का अपर परीक्षा नियंत्रक बनाया गया है। इस आशय के आदेश जारी कर दिए गए है। बलौदाबाजार-भाटापारा की संयुक्त कलेक्टर इंदिरा देहारी की पोस्टिंग राजनांदगांव की गई है। इसी तरह बेमेतरा में पदस्थ डिप्टी कलेक्टर जगन्नाथ वर्मा की रायपुर में पदस्थापना की गई है।
  • पुरखौती मुक्तांगन में दर्शकों के भ्रमण-अवलोकन के लिए बैटरी चलित वाहन की सुविधा

    पर्यटकों की सुरक्षा के लिए वायरलेस सिस्टम का उपयोग

    पुरखौती मुक्तांगन में शुरू होगा गढ़कलेवा और संजीवनी विक्रय केन्द्र

    संस्कृति मंत्री की अध्यक्षता में पुरखौती मुक्तांगन निर्माण एवं संचालन समिति की बैठक में कई अहम निर्णय 

    संस्कृति मंत्रीअमरजीत भगत  की अध्यक्षता में आज नवा रायपुर के उपरवारा स्थित पुरखौती मुक्तांगन में पुरखौती मुक्तांगन निर्माण एवं संचालन समिति की बैठक हुई। बैठक में पर्यटकों की सुविधा के लिए कई अहम निर्णय लिए गए। संस्कृति मंत्री श्री भगत ने कहा कि पुरखौती मुक्तांगन के पेड़-पौधों में सिंचाई के लिए समुचित पानी की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने पर्यटकों के लिए शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने यहां आने वाले पर्यटकों के लिए सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था के साथ शांतिपूर्ण वातावरण के लिए विशेष ध्यान रखने के भी निर्देश दिए है। बैठक में बताया गया कि पुरखौती मुक्तांगन में प्रतिदिन लगभग दो हजार दर्शक आते है। एक जनवरी को नववर्ष के अवसर पर करीब 15 हजार लोगों ने पुरखौती मुक्तांगन भ्रमण-अवलोकन का आनंद उठाया।
        
        पुरखौती मुक्तांगन में आने वाले पर्यटकों खासकर वरिष्ठ नागरिकों की सुविधा के लिए यहां बैटरी चलित वाहन की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। पुरखौती मुक्तांगन के प्रवेश शुल्क से प्राप्त आय से आने वाले दर्शकों के भ्रमण के लिए 6 वाहन 36 लाख रूपए से क्रय किए जाने का निर्णय लिया गया। बैटरी चलित वाहन 6 सीटर होगा। संस्कृति मंत्री ने सौर बैटरी चलित वाहन खरीदने के साथ ही मुक्तांगन के भीतरी हिस्से की सड़कों का चौड़ीकरण कराने के भी निर्देश दिए है। पुरखौती मुक्तांगन में सुरक्षा के दृष्टिकोण से यहां वायरलेस धारी (वाकीटॉकी) सुरक्षा कर्मी तैनात करने का भी निर्णय लिया गया। मुक्तांगन परिसर में गढ़कलेवा एवं लघु वनोपज संघ द्वारा संचालित संजीवनी विक्रय केन्द्र शीघ्र शुरू करने के संबंध में भी चर्चा की गई।

         पुरखौती मुक्तांगन के मुख्य द्वार पर दर्शकों की सुविधा के लिए मैप-बोर्ड लगाने और मुख्य द्वार दोनों साइट में 9 दुकानों का निर्माण कराने, वाहन पार्किंग शेड का निर्माण, टिकट कांउटर की संख्या बढ़ाने सहित पूरे परिसर एवं आसपास के क्षेत्र में प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में संस्कृति विभाग के सचिव अन्बलगन पी., संचालक  विवेक आचार्य सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। संस्कृति मंत्री श्री भगत ने बैठक पश्चात् पुरखौती मुक्तांगन का भ्रमण किया और यहां की वर्तमान व्यवस्था को बेहतर बनाने के साथ ही अन्य सुविधाओं के विस्तार के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 

     
  • CG BREAKING : रेलवे ट्रैक पर पड़ी मिली मां-बेटी की लाश, पारिवारिक विवाद और आत्महत्या में उलझी पुलिस
    जांजगीर-चांपा : जिले के नहला थाना क्षेत्र में रेलवे ट्रेक पर बुधवार सुबह 2 लाशें पड़ी मिली है. बताया जा रहा है कि दोनों शव मां-बेटी के हैं. आशंका जताई जा रही है कि दोनों ने ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली होगी, लेकिन पुलिसिया पूछताछ में पारिवारिक विवाद भी उभरकर सामने आया है. पुलिस ने रेलवे ट्रैक से दोनों शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने शवों की शिनाख्ती अंजू सिंह (35) और ऐश्वर्या सिंह (19) के रूप में की है. तहकीकात में पता चला कि दोनों रिश्ते में मां-बेटी हैं जो नवागढ़ के भैसदा के रहने वाले थे. बेटी फर्स्ट ईयर की छात्रा थी. पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली कि शारदा मंगलम के पीछे गोपाल सिंह अपनी पत्नी और एक बेटी और दो बेटों के साथ किराए के मकान में रहता है. मंगलवार देर रात करीब 3 बजे गोपाल की पत्नी व बेटी स्कुटी से घर से निकल गई थी.
  •  मुख्यमंत्री श्री बघेल ने किया भिलाई सेक्टर-1 में  उद्यान का लोकार्पण और प्रदर्शनी का शुभारंभ

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज शाम भिलाई के सेक्टर-1 में पावर हॉउस रेलवे स्टेशन के सामने नवनिर्मित उद्यान का लोकार्पण किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने नगर पालिक निगम भिलाई द्वारा आयोजित छायाचित्र प्रदर्शनी का भी फीता काटकर शुभारंभ किया। भिलाई के सेक्टर-1 स्थित उद्यान में ‘‘पांच बछर भिलाई के लोगन के भलाई के‘‘, जनकल्याणकारी योजनाओं एवं विकास कार्यों की फोटो प्रदर्शनी लगाई गई है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आम नागरिकों से मुलाकात की। इस अवसर पर गृहमंत्री  ताम्रध्वज साहू, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री  मोहम्मद अकबर, खाद्यमंत्री  अमरजीत सिंह भगत, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री  शिव डहरिया, विधायक  अरुण वोरा, भिलाई महापौर और विधायक  देवेंद्र यादव, दुर्ग महापौर  धीरज बाकलीवाल, पूर्व विधायक  भजन सिंह निरंकारी, पूर्व महापौर सुश्री नीता लोधी सहित नगर निगम के पार्षदगण एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

  •  मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने जामुल में जल आवर्धन योजना का शुभारंभ किया

                                                           

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज जामुल में जलप्रदाय आवर्धन योजना का शुभारंभ किया इस अवसर पर उन्होंने क्षेत्र वासियों को बधाई दी। 23 करोड़ 46 लाख 30 हजार की लागत से बनी इस योजना से क्षेत्र के 60 हजार ज्यादा लोगों को फायदा पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवासियों को लंबे समय से इसकी प्रतीक्षा थी। उन्होंने कहा कि मै उम्मीद करता हूं कि क्षेत्र की माताएं एवं बहनें आज इस जलप्रदाय योजना की शुरूआत से काफी खुश होंगी, क्योंकि पानी से  महिलाओं का सीधा जुड़ाव होता है। अब हर घर में पानी की सुविधा हो जाने से महिलाओं को सहूलियत हो जाएगी। उन्होंने जामुल में महाविद्यालय भवन की स्थापना के लिए शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अहिवारा को तहसील बनाने की घोषणा की। उन्होंने 49 करोड़ रूपए की लागत से जामुल से अहिवारा रोड तथा 14 करोड़ रुपए की लागत से जामुल-सुरडुंग रोड के जल्द निर्माण की भी बात कही। उन्होंने कहा कि बजट के लिए इसकी स्वीकृति मिल चुकी है, जल्द ही निर्माण शुरू हो जाएगा। उन्होंने सुरडुंग जलाशय के जीर्णोद्धार के लिए एक करोड़ रुपए की राशि देने की घोषणा की। जनसमुदाय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की प्राथमिकता है हर व्यक्ति का विकास और इस उददेश्य की प्राप्ति के लिए हम लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक परंपरा को बढ़ावा देने के साथ-साथ हमने प्रदेश में कुपोषण को दूर करने के लिए कारगर कदम उठाए हैं। पिछले एक साल में 77000 बच्चे सुपोषित हुए हैं। हमारा मानना है कि माताओं और बच्चों की सेहत अच्छी होगी, तब ही राज्य का विकास होगा। उन्होंने पंडित नेहरू के कथन को दोहराते हुए कहा कि जिस प्रकार भारत देश केवल उसकी भूमि से नहीं बना, बल्कि उसमें रहने वाले लोगों से बना है। इसी प्रकार छत्तीसगढ़ प्रदेश केवल 28 जिलों की सीमा रेखाओं को जोड़ने से नहीं बना, बल्कि छत्तीसगढ़वासियों से बना है। इसलिए छत्तीसगढ़ के एक-एक नागरिक का विकास हो यही हमारी प्राथमिकता है। 
        मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने अस्पताल को जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया है। वन अंचलों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि साप्ताहिक हाट बाजार वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसलिए हमने मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना की शुरूआत की। उन्होंने महिलाओं को स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए शुरू किए गए दाई-दीदी क्लिनिक का जिक्र करते हुए कहा कि महिलाएं अक्सर अपने स्वास्थ्य के बारे में अपने घर वालों से चर्चा नहीं कर पाती लेकिन दाई दीदी क्लिनिक में बड़ी संख्या में महिलाएं स्वास्थ्य जांच के लिए पहुंच रही हैं। प्रायोगिक तौर पर हमने रायपुर, बिलासपुर और भिलाई में इस योजना की शुरूआत की थी। हमारी योजना है कि हर नगर पालिका में दाई-दीदी क्लिनिक की शुरूआत करें। इस अवसर पर पी.एच.ई. मंत्री गुरु रूद्रकुमार ने अपने उद्बोधन में कहा कि जामुल में शुरू हुई इस योजना से बड़ी आबादी को पेयजल की सुविधा मिलेगी। 
        नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने नगरीय विकास  विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों की विकास की जितनी योजनाएं छत्तीसगढ़ में संचालित की जा रही हैं उनकी देश भर में चर्चा होने लगी है। उन्होंने कहा कि विकास के कार्यो के लिए राशि की कमी नहीं है। प्रदेश में महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए अच्छी सब्सिडी दी जा रही है। छोटे व्यापारियों को फायदा पहुंचाने के लिए विशेष कदम उठाए गए हैं। अब गुमाश्ता लाइसेंस के लिए बार-बार सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ंेगें क्योंकि हमारी सरकार ने नवीनीकरण को समाप्त कर दिया है। इसका मतलब यदि आपने अपने व्यापार के लिए एक बार गुमाता/लाइसेंस लिया तो बार-बार नवनीकरण कराने की आवश्यकता नहीं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने श्रम कानूनों में श्रमिकों की भलाई के लिए बहुत से परिवर्तन किए हैं। उन्होंने बताया कि अब औद्योगिक संस्थाओं में श्रमिकों की सेवानिवृत्ति की आयु 58 से बढ़ाकर 60 वर्ष कर दी गई है। उन्होंने कहा कि श्रम कानूनों के माध्यम से श्रमिकों के उत्थान का कार्य लगातार किया जा रहा है। लाकडाउन में सरकार की ओर से विशेष प्रयास किए गए कि श्रमिकों के पारिश्रमिक में कटौती न हो। इसके अलावा दूसरे प्रदेशों से छत्तीसगढ़ लौटे 7 लाख से अधिक श्रमिकों को रोजगार दिलाने के प्रयास सरकार द्वारा किए गए। 
        गृह मंत्री  ताम्रध्वज साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के तर्ज पर छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ की संस्कृति एवं परंपरा को पुनर्जीवित करने के प्रयासों के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व छत्तीसगढ़ ने लगातार बेहतर काम किए जा रहे हैं। दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री एवं वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों का 9000 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया। उन्होंने कहा कि आज राज्य के शतप्रतिशत नागरिकों के पास राशन कार्ड की सुविधा है। उन्होंने कहा कि राजीव किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों को अब तक तीन किस्तों में 4500 करोड़ रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जा चुकी है। 31 मार्च के पहले किसानों को इस योजना से चौथी किस्त भी हस्तांरित कर दी जाएगी।
     


     

  • भिलाई व रिसाली के हर घर को मिलेगा भरपूर शुद्ध पेयजल

      मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज भिलाई नगर निगम के साथ ही रिसाली निगम के लिए बड़ी सौगातें दी। मुख्यमंत्री ने नगरीय निकाय क्षेत्र की बड़ी आबादी को ध्यान में रखते हुए घर-घर शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए खुर्सीपार में आयोजित कार्यक्रम में अमृत मिशन योजना अंतर्गत फेस-वन का शुभारंभ किया। इसका शुभारंभ हो जाने से इन दोनो निकायों के लगभग सवा लाख परिवारों कोे भरपूर शुद्ध पेयजल मुहैया हो सकेगा। इस बहुप्रतीक्षित योजना को आगामी 2050 तक नगरीय जनसंख्या एवं शहरी विस्तारीकरण को ध्यान में रखते हुए लागू किया गया है। अमृत मिशन योजना अंतर्गत फेस-वन योजना का शुभारंभ हो जाने से नगरीय निकाय के लोगों में हर्ष है। पहले इन क्षेत्रों मे पीने की पानी के साथ ही निस्तारी जल के लिए काफी दिक्कतों का सामाना करना पड़ता था। अब यह समस्या मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दूरगामी सोच ओर राज्य के विकास के लिए किये जा रहे प्रयासों से पूरा हो सका है। 

        मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने यहां अमृत मिशन योजना के तहत फेस-वन का शुभारंभ होने पर नगरवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार राज्य और जनता की वास्तविक जरूरत और आवश्यकता के कामों को पूर्ण प्राथमिकता के साथ कर रही है। सरकार गठन के साथ ही लोगों की वास्तविक जरूरत के कार्य दो साल से किये जा रहे है। जहां ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है, वहीं शहरी विकास के लिए भी अनेकों योजनाएं लाई गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार राज्य के विकास के लिए संकल्पित है और इस दिशा में कार्य कर रही है। उन्होनें कहा कि सरकार किसानों से धान खरीदी के वादे को पूरा कर रही है। 

        मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने किये गए वादे के मुताबिक प्रत्येक परिवार का राशन कार्ड बनाने का संकल्प पूरा किया है। अब यह राशन कार्ड केवल राशन दुकानों में जाकर राशन लेने का ही कार्ड नही हैं, राशन कार्ड के जरिए कोई भी व्यक्ति स्वास्थ्य योजना अंतर्गत स्वास्थ्य सेवा का लाभ भी ले सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीमारी किसी व्यक्ति को बताकर नहीं आती है। निर्धन एवं कम आय वर्ग के लोगों के परिवार के किसी सदस्य को किसी प्रकार के बीमारी से ग्रसित हो जाने पर पहले उपचार कराना एक बहुत बड़ी चुनौती होती थी। इसे ध्यान में रखकर सरकार ने राशन कार्ड के आधार पर ही मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना का लाभ मुहैया करा रही हैं। इससे प्रदेश के हजारों लोगों को उपचार कराने की सुविधा का लाभ मिला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने छोटे भू-खण्डों पर पूर्व सरकार द्वारा लगी रोक को हटाने का कार्य किया है। मोेर-जमीन-मोर मकान के तहत शहरी निर्धन लोगों को आवास योजना का लाभ मिल रहा है। सरकार ने राज्य के युवाओं को सरकारी नौकरी का अवसर भी दिया हैं। 15 हजार शिक्षकों की भर्ती की जा रही हैं। सहायक प्रध्यापक सहित अनेक विभागों में शासकीय भर्ती की जा रही है। पुलिस के रिक्त पदों पर भी भर्ती की  प्रक्रिया जारी है। 

        मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि भिलाई स्टील प्लांट पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की देन हैं। भिलाई स्टील प्लांट सहित नेहरू द्वारा स्थापित उद्योगों ने देश को मजबूत व आगे बढ़ाने का काम किया है। भिलाई स्टील प्लांट केवल इस्पात उत्पादन ही नहीं बल्कि सभी लोगों को आपसी भाईचारा और सामाजिक समरसता को भी मजबूत करनेे का काम किया है। भिलाई मंे अनेक जाति और अनेक प्रातों और भाषा के लोग एक साथ निवास करते है। भिलाई ऐसा नगर है जहां अनेक जाति, धर्म, भाषा के लोग सामाजिक-समरसता, सामाजिक-सदभाव से रहकर देश को एक संदेश देते है।  

        गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि सरकार के दो साल के कार्यकाल में विकास के अनेक आयाम गढ़े गए हैं। जनता से किए गए 36 वादों में से 24 वादों को पूरा कर लिया गया है। सरकार बनते ही किसानों की कर्ज माफी, धान खरीदी का वादा पूरा किया गया है। सिंचाई कर माफ और बिजली बिल हाफ किया गया है। उन्हांेने कहा कि सरकार द्वारा विकास के साथ ही मानवीय दृष्टिकोण के कार्य भी किये जा रहे है। सरकार छत्तीसगढ़ संस्कृति को बढ़ावा दे रही हैं। शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराने के लिए ई-श्रेणी पंजीयन की व्यवस्था लागू की है। इससे अनेक युवाओं को रोजगार के अवसर मिले हैं। इस अवसर पर भिलाई नगर विधायक एवं महापौर श्री देवेन्द्र यादव ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया और नगर के विकास के लिए मुख्यमंत्री द्वारा दी गई सौगातों के लिए आभार व्यक्त किया। 

        कार्यक्रम में मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना अंतर्गत हितग्राहियों को दुकान के आबंटन का प्रमाण-पत्र वितरित किया गया। आंगनबाड़ी केन्द्रों में वितरित किये जाने वाले समाग्री का वितरण भी हुआ। महिला समूहों को ऋण स्वीकृत का चेक भी दिया गया। इस अवसर पर गृहमंत्री  ताम्रध्वज साहू, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया, विधायक  अरुण वोरा, भिलाई महापौर और विधायक  देवेंद्र यादव, दुर्ग महापौर श्री धीरज बाकलीवाल, पूर्व विधायक  भजन सिंह निरंकारी, पूर्व महापौर सुश्री नीता लोधी सहित नगर निगम के पार्षदगण एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

     
  • बेघर लोगों को बसाना है हमारी प्राथमिकता :  भूपेश बघेल

    मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी आश्रय योजना के अंतर्गत 
    443 हितग्राहियों को सौंपे भू-अधिकार पत्र

    12 करोड़ 60 लाख के विकास कार्यों का किया भूमिपूजन-शिलान्यास
    मुख्यमंत्री कला मन्दिर सिविक सेंटर में नगर पालिक निगम भिलाई के कार्यक्रम में हुए शामिल

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा है कि बेघर लोगों को बसाना हमारी प्राथमिकता है। हमारी सरकार द्वारा राजीव गांधी आश्रम योजना के तहत गरीब भूमिहीन परिवारों को जमीन का मालिकाना हक दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने इस आशय के विचार आज सिविक सेन्टर भिलाई स्थित महात्मा गांधी कला मन्दिर में विभिन्न विकासकार्यों के भूमिपूजन तथा राजीव गांधी आश्रय योजना के अंतर्गत पट्टा वितरण कार्यक्रम में व्यक्त किए। उन्होंने कार्यक्रम में भिलाई नगर निगम क्षेत्र के 434 हितग्राहियों सहित कुल 443 हितग्राहियों को राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत भू-अधिकार पत्र सौंपे और 12 करोड़ 60 लाख के विकास कार्यों का भूमिपूजन-शिलान्यास किया।
        मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत कालातीत हो चुके पट्टों का भी नवीनीकरण किया जा रहा है। इसका सीधा लाभ आम जनता को मिल रहा है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बताया कि राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत अब तक 2768 लोग लाभान्वित हुए हैं। वर्ष 1984 के 6700 पट्टों का नवीनीकरण किया गया है, 6336 नगरीय आबादी पट्टे और 115 भू-स्वामी हक दिए गए हैं। सिर्फ भिलाई में ही आज 443 भू अधिकार पत्र दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पट्टा वितरण कार्य में जुटे जिला प्रशासन और नगरपालिक निगम, भिलाई के अधिकारियों-कर्मचारियों सहित अन्य लोगों को बधाई देते हुए कहा कि पट्टा वितरण के लिए भूमि सीमांकन-चिन्हांकन आदि की प्रक्रिया बहुत कठिन और मेहनत भरी है, जिसके सफलतापूर्वक निष्पादन के लिए वे बधाई के पात्र हैं। 
        मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में प्रतीकात्मक रूप से 10 हितग्राहियों को भू-अधिकार पत्र सौंपे जिनमें श्रीमती कलावती साहू, श्रीमती सन्तोषी यादव,  कचरू राम साहू,  दुर्गा यादव, श्रीमती चन्दा बाई,  रतन बेहरा और  रोहन बेहरा शामिल रहे। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने सभी हितग्राहियों को भी बधाई एवं शुभकामनाएं दीं और उनके साथ समूह फोटोग्राफ भी खिंचवाई। 
        नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने हितग्राहियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा किये जा रहे सर्व जनकल्याण के कार्यों की प्रशंसा पूरे देश मे हो रही है। राजीव गांधी आश्रय योजना द्वारा पट्टा वितरण से नगरीय क्षेत्र में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सीधा लाभ मिलेगा। विधायक तथा भिलाई नगर निगम के महापौर  देवेंद्र यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के नेतृत्व में ही पहली बार ऐसा हो पा रहा है कि भू-अधिकार पत्र वितरण का असल में क्रियान्वयन कर लोगों को उनकी जमीन का हक दिलवाया जा रहा है।
        इस अवसर पर गृह मंत्री  ताम्रध्वज साहू, वन मंत्री  मोहम्मद अकबर, भिलाई विधायक  देवेंद्र यादव, विधायक  अरुण वोरा सहित अन्य गणमान्य नागरिक और आमजन उपस्थित रहे।
     

  •  सरदार भगत सिंह का जैसा विशाल व्यक्तित्व, वैसी विशाल प्रतिमा

    सरदार भगत सिंह का जैसा विशाल व्यक्तित्व था वैसी विशाल प्रतिमा यहाँ बनाई गई है। आज यहाँ आकर शहीदों की प्रतिमा देखकर, उनके बलिदान का स्मरण कर मन गौरव से भर गया। यह बात मुख्यमंत्री ने सरदार भगत सिंह की सबसे ऊंची प्रतिमा के अनावरण के अवसर पर कही। सरदार भगत सिंह की यह प्रतिमा देश में सबसे ऊंची और गन मेटल से बनी हुई है। 

        मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित लाइट एंड साउंट शो भी देखा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पूरी आजादी की लड़ाई इस शो में दिखाया गया, जो बहुत अच्छा प्रयास है। इससे युवाओं को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि भगत सिंह वैचारिक रूप से बहुत मजबूत थे, उन्होंने साम्राज्यवादी ताकतों से माफी नहीं माँगी। हंसते-हंसते फांसी में झूल गए। उन्होंने युवाओं को कहा कि भगत सिंह ने 16 साल की उम्र में लेख लिखने शुरू किये। इस आयु के उनके लेखों में इतनी परिपक्वता दिखती है कि आश्चर्य होता है कि इतनी कम उम्र में इतनी वैचारिक प्रखरता कैसे हासिल हुई। केवल 23 साल की उम्र में शहीद हुए और फांसी के फंदे की ओर जाते हुए भी उनके चेहरे में मुस्कान थी। उन्होंने साम्राज्यवादी ताकतों के विरुद्ध लड़ाई की थीं। ऐसी ताकतें जिनके साम्राज्य में सूरज अस्त नहीं होता था और उन्होंने अपनी वैचारिक प्रखरता से पूरे साम्राज्य की नींव हिला दी। 
         भूपेश बघेल ने इस सुंदर संकल्पना पर मुहर लगाई और इस कार्य के लिए मार्गदर्शन दिया। जिसकी वजह से यह अद्भुत कार्य पूरा हो पाया। उन्होंने कहा कि नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया का भी इसमें बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि पूर्व में हम ‘‘मुझ में है भगत सिंह‘‘ कार्यक्रम करते थे, आज यह बड़ा कार्यक्रम संपन्न हुआ। विधायक  देवेंद्र यादव ने कहा कि जब हमने सरदार भगत सिंह के नाम पर शहीद पार्क बनाने का विचार किया तो मुख्यमंत्री ने इस पर न सिर्फ तत्काल सहमति दी बल्कि इस काम को तेजी से आगे बढ़ाने को कहा। इस अवसर पर दिल्ली से  नीरज कुंदन ने भी सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भगत सिंह वैचारिक रूप से बहुत प्रखर थे और अपने विचार से इन्होंने साम्राज्यवाद की जड़ें मिटा दीं। सभा को एमआईसी सदस्य  नीरज पाल ने भी संबोधित किया।

        इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री  मोहम्मद अकबर एवं गृह मंत्री म्रध्वज साहू भी उपस्थित थे। उन्होंने इस उल्लेखनीय कार्य के लिए निगम टीम को बधाई दी। गौरतलब है कि इस पार्क में 1270 शहीदों के नाम भी अंकित किए गए हैं, जो छत्तीसगढ़ के है। जिन्होंने प्रदेश में और देश भर में शहादत दी है। यहां झीरम में शहीद जनप्रतिनिधियों के नाम भी अंकित किये गये हैं।

  • मेडिकल बुलेटिन: प्रदेश में आज 729 कोरोना पॉजिटिव की पहचान, 10 की मौत
    रायपुर। राज्य में आज रात 08.00 बजे तक 729 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सबसे अधिक 121 रायपुर जिले से हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के इन आंकड़ों के मुताबिक आज रात तक दो जिलों में सौ-सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। आज कुल 10 कोरोना मौतें हुई हैं। राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक दुर्ग 102, राजनांदगांव 46, बालोद 29, बेमेतरा 11, कबीरधाम 1, रायपुर 121 धमतरी 21, बलौदाबाजार 27, महासमुंद 40, गरियाबंद 9, बिलासपुर 85, रायगढ़ 47, कोरबा 17, जांजगीर-चांपा 31, मुंगेली 2, जीपीएम 12, सरगुजा 28, कोरिया 20, सूरजपुर 29, बलरामपुर 6, जशपुर 22, बस्तर 6, कोंडागांव 6, दंतेवाड़ा 0, सुकमा 2, कांकेर 4, नारायणपुर 3, बीजापुर 0 अन्य राज्य 2 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
  • छत्तीसगढ़ में दर्दनाक हादसा : तेज रफ्तार पिकअप खड़े ट्रक से जा भिड़ा, मौके पर ही 3 की मौत
    कांकेर। नेशनल हाईवे-30 में दर्दनाक हादसा हुआ है। तड़के 4 बजे के आसपास एक तेज रफ्तार पिकअप वाहन खड़े ट्रक से जा भिड़ा। हादसे में तीन लोगों की मौके पर मौत हो गई। जानकारी के अनुसार यह हादसा चारामा के जैसा कर्रा गांव के पास हुआ है। हाईवे पर हुई हादसे की सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं सभी को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां रास्ते में ही तीन की मौत हो गई। जबकि एक का उपचार चल रहा है। अभी तक मृतकों के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। पुलिस ने शवों को बरामद कर पीएम के लिए भेज दिया है। इधर नेशनल हाईवे में हादसे के बाद गाड़ियों का जाम लग गया। जिसे पुलिस ने सड़क किनारे कर यातायात को दूरस्त किया। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।
  • छत्तीसगढ़: पुलिस ने मुठभेड़ में 5 लाख रुपए के इनामी नक्सली को मार गिराया...हिट लिस्ट में था शामिल
    दंतेवाड़ा।छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में बुधवार सुबह पुलिस ने 45 मिनट चली मुठभेड़ के दौरान एक नक्सली को मार गिराया। मारा गया नक्सली कटेकल्याण समिति का सदस्य था। पुलिस ने उसका शव बरामद कर लिया है। मौके से एक 9 MM की पिस्टल भी बरामद हुई है। मारे गए नक्सली पर 5 लाख रुपए का इनाम था और पुलिस की हिट लिस्ट में शामिल था। CAF और DRG जवानों ने चिकपाल और मार्जुम के बीच जंगल में नक्सलियों का डंप बरामद किया था। CAF और DRG जवानों ने चिकपाल और मार्जुम के बीच जंगल में नक्सलियों का डंप बरामद किया था। जानकारी के मुताबिक, नक्सल विरोधी अभियान के तहत सूचना मिलने पर मंगलवार देर रात दंतेवाड़ा DRG और (छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स) CAF 17वीं बटालियन के जवानों को सर्चिंग पर भेजा गया था। इस दौरान चिकपाल और मारजुम के बीच जंगलों में नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई। इसमें एक नक्सली मारा गया। उसकी पहचान हिडमा मुचाकी के रूप में हुई है। डंप मिलने के बाद लॉन्च किया गया था ऑपरेशन दरअसल, पुलिस ने मंगलवार शाम CAF और DRG जवानों ने चिकपाल और मार्जुम के बीच जंगल में नक्सलियों का डंप बरामद किया था। नक्सलियों ने सड़क किनारे गड्‌ढा कर उसमें विस्फोटक, तार और अन्य सामान छिपाकर रखा था। बताया गया था कि नक्सली किसी बड़ी वारदात को अंजाम देना चाहते थे। वहां से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने ऑपरेशन लॉन्च किया था। नक्सलियों ने कुछ दिन पहले एक ग्रामीण को अगवा कर लिया था। DRG जवानों ने उसे सुरक्षित बचाया। वहां से मिली सूचना और फिर कल मिले डंप के आधार पर जानकारी जुटाई गई। जिसके बाद रात को CAF और DRG का संयुक्त ऑपरेशन लॉन्च किया गया। मुठभेड़ के बाद सर्चिंग में शव बरामद हुआ है। अन्य नक्सलियों के भी घायल होने की संभावना है।
  • पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने विधायक पर साधा निशाना...लगाए कमीशनखोरी के आरोप
    बीजापुर : पूर्व वनमंत्री व पूर्व विधायक महेश गागड़ा ने प्रदेश सरकर समेत क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी पर जमकर निशाना साधा है। प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए महेश गागड़ा ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी के कमीशन खोरी के चलते आवापल्ली से उसूर सड़क,आवापल्ली से इल्मीड़ी सड़क पर जमकर भ्रष्टाचार किया गया है आवापल्ली से उसूर सड़क आजादी के बाद पहली बार बन रही थी , यह सड़क करोड़ो रूपये की लागत से बन रही थी। लेकिन यह सड़क बनने के एक महीने बाद ही सड़क पूरी तरह उखड़ गई और अब चलने लायक भी नहीं बची है। इसमें विक्रम मंडावी ने जमकर कमीशनखोरी की है और जिले के हर काम मे विधायक मंडावी का कमीशन बंधा हुआ है , कांग्रेस की सरकार में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रवास के दौरान भी जीले के पिनकोंडा में मनरेगा के तहत बनने वाला तालाब ट्रेक्टर से बन रहा था जिसका वीडियो पूर्व वनमंत्री ने मीडिया के सामने पेश किया।