Rajdhani
भाजपा के बागी प्रत्याशी हरपाल सिंह भामरा चुनाव प्रचार में सबसे आगे 13-Dec-2019

बरसों तक अपने राजनीतिक दल के लिए निष्ठा से दिन रात मेहनत कर पार्टी को शिखर तक पहुंचाने में हर पार्टी का कार्यकर्ता प्रयासरत रहता है हर कार्यकर्ता का सपना होता है कि जिस पार्टी के लिए वह मेहनत कर रहा है एक न एक दिन पार्टी के वरिष्ठ नेता भी उस पर ध्यान देंगे और उसे मान सम्मान देंगे

 

 

परंतु जब बरसों की मेहनत बेकार होती नजर आती है तो कई कार्यकर्ता मायूस होकर घर में बैठ जाते हैं और कई ऐसे भी कार्यकर्ता होते हैं जो अपना आक्रोश व्यक्त कर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करने का प्रयास करते हैं परंतु इन सब के बीच कई ऐसे कार्यकर्ता जो अपने को ठगा सा महसूस करते हैं और हर तरह के प्रयासों के बावजूद उन्हें पार्टी संगठन इज्जत नहीं देता तो वह मजबूरी में पार्टी से बगावत कर अपना वजूद दिखाने के लिए मैदान में कूद जाते हैं और ऐसे कार्यकर्ताओं को पार्षद चुनाव में ही अपनी ताकत दिखाने का मौका मिलता है और जब यह जीत जाते हैं तब वहीं राजनीतिक पार्टियां उनके नेता उन्हें वापस बुलाकर उसकी जीत को अपनी पार्टी की जीत ने निरूपित करने की कोशिश करते हैं बरहाल मुद्दे की बात यह है कि हर बार की तरह इस बार भी सभी राजनीतिक पार्टियों में अनेक लोग अपनी अवहेलना से नाराज होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने चुनाव मैदान में कूद गए हैं इनमें अनेक ऐसे भी हैं जो बीजेपी कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय पार्टियों के प्रत्याशियों को कड़ी टक्कर देकर हराने का माद्दा रखते हैं |

ऐसे ही भाजपा से बागी प्रत्याशी हैं वार्ड नंबर 25 संत रामदास वार्ड से भारतीय जनता पार्टी द्वारा टिकट न दिए जाने एवं अपनी उपेक्षा किए जाने से नाराज हरपाल सिंह भामरा निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं | सीढ़ी छाप चुनाव चिन्ह को लेकर वह अपने वार्ड की जनता के बीच पहुंच रहे हैं , उनके साथ चल रही भीड़ इस बात का प्रतीक है कि वह वार्ड के हित में कार्य करने वाले कार्यकर्ता हैं | लोगों के सुख दुख में हर समय हाजिर रहने वाले भाजपा के बागी प्रत्याशी हरपाल सिंह भामरा के पीछे महिलाओं युवाओं का हुजूम उन्हें जीत दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है |

भारतीय जनता पार्टी के साथ-साथ कांग्रेस के प्रत्याशी के लिए भी हरपाल सिंह भामरा चुनौती साबित हो रहे हैं | उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनकी जीत सुनिश्चित करने के लिए राजू हियाल, राजकुमार, वरुण, मनोज साहू, दिनेश नागरानी, शंकर नागरानी, बेरुबारी, रोहित सिंह, अशोक साहू, देवा साहू, जय और संजू वर्मा जैसे युवाओं के साथ-साथ वार्ड की महिलाएं एवं बुजुर्ग भी हरपाल भामरा की जीत के लिए प्रयास कर रहे हैं | भारतीय जनता पार्टी द्वारा राजधानी के 70 वार्डों में सिख समाज का एक प्रत्याशी घोषित नहीं किया गया है -

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.