Top Story
Previous123456789...103104Next
  • राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने आज राजभवन के कांफ्रेंस हॉल में समस्त विश्वविद्यालयों की समीक्षा बैठक ली

    राज्यपाल अनुसुइया उइके ने 8 यूनिवर्सिटी के कुलपतियों की बैठक ली. राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों के कार्यक्रमों की भी समीक्षा की. बैठक में विश्वविद्यालयों के अतिरिक्त सचिवों को बुलाया गया था. राज्य के सभी विश्वविद्यालयों को 5-5 गांव गोद लेने के लिए कहा गया है -- विश्वविद्यालय गोद लिए गए गांवों में स्वच्छता के कार्यों, रेनवाटर, टूरिज्म समेत कई योजनाओं का इम्प्लीमेंट करेंगे. इसकी मॉनिटरिंग के लिए एक-एक नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है. राज्यपाल ने कहा कि राज्य में विश्वविद्यालयों की ग्रेडिंग ख़राब है --

    रूसा के अंतर्गत जो बिल्डिंग 2015 में बनाने का काम दिया गया था, जिसका काम 2019 में शुरू हुआ. राज्यपाल अनुसुइया उइके ने इसे विडम्बना करार दिया है - बैठक में कहा गया कि समय पर परीक्षा और परिणाम के लिए कैलेण्डर बनाया जाये. प्लास्टिक से मुक्ति के लिए विश्वविद्यालयों में कांच के बोतलों में पानी दिया जाये. विश्वविद्यालयों में 1384 पद खाली है, इसके लिए विश्वविद्यालय विज्ञापन जारी करे.

    विश्वविद्यालयों में अतिथि शिक्षक को ख़त्म कर प्रोफेसरों की भर्ती किया जाये. बैठक में आगे कहा गया कि कौशल विकास कार्यक्रम के तहत परीक्षण कर नौकरी दिया जाये. बैठक में कहा गया कि कि St/sc के कई प्रोफेसरों को अब तक प्रमोशन नही मिला है. राज्यपाल ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करने निर्देश दिए हैं.

    रविशंकर शुक्ल का ढाई करोड़ रुपये पीडब्ल्यूडी में अब तक बकाया है. जो अब तक वापस नही हुआ है. राज्यपाल ने कहा इन मुद्दों को लेकर सीएम और शिक्षामंत्री से मिलकर दिशानिर्देश दिया जाएगा. कुलपतियों ने राज्यपाल को बताई परेशानी बताते हुए कहा कि इससे पहले इतने बड़े पैमाने पर कभी समीक्षा बैठक नही हुई थी. छत्तीसगढ़ में विश्वविद्यालय महाविद्यालय में अच्छी गुणवत्ता आये, अच्छे विषय पर शोध हो इसके  लिए  नोडल एजेंसी बनाया जाए.

    राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने आज राजभवन के कांफ्रेंस हॉल में समस्त विश्वविद्यालयों की समीक्षा बैठक ली। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव सोनमणि बोरा, उच्च शिक्षा विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेलमंगई डी., विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अतिरिक्त सचिव डॉ. देवस्वरूप, विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतिगगण, उपस्थित हुए।

  • रायपुर : विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 27 करोड़ रूपए से अधिक की राशि स्वीकृत...लगभग 24 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में मिलेगी सिंचाई सुविधा

    रायपुर : राज्य शासन ने छत्तीसगढ़ में दस सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण और जीर्णोद्धार कार्य के लिए 27 करोड़ 77 लाख 44 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की है। इन सिंचाई परियोजनाओं के पूरा होने के उपरांत 2385.77 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। रायपुर जिले के विकासखण्ड आरंग की महानदी पर ग्राम-बनचरौदा में बाढ़ नियंत्रण-तटबंध के निर्माण के लिए सात करोड़ 11 लाख 23 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। विकासखण्ड अभनपुर की चंडी उद्वहन सिंचाई योजना और उसके निरीक्षण कुटीर के मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 57 लाख 34 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। कार्य के पूरा होने के बाद 215.40 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। आरंग के महानदी परियोजना के वितरक शाखा नहरों के जीर्णोद्धार कार्य के लिए एक करोड़ 86 लाख 59 हजार रूपए की स्वीकृति जारी की गई है। कार्य के पूरा होने से 755.37 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी।दंतेवाड़ा जिले के विकासखण्ड कुंआकोण्डा स्थित तुरोली व्यपवर्तन के जीर्णोद्धार कार्य के लिए एक करोड़ 60 लाख 74 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 162 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड दंतेवाड़ा की गोदरे व्यपवर्तन योजना के जीर्णोद्धार के लिए दो करोड़ 99 लाख 69 हजार रूपए की स्वीकृति जारी की गई है। कार्य के पूरा होने के उपरांत 532 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड दंतेवाड़ा की गंजेनार तालाब के जीर्णोद्धार कार्य के लिए कोंडागांव जिले के विकासखण्ड केशकाल के लिहागांव तालाब के जीर्णोद्धार कार्य के लिए दो करोड़ 39 लाख 82 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 200 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। उत्तर बस्तर कांकेर जिले के विकासखण्ड कोयलीबेड़ा के घोड़ागांव स्टापडेम निर्माण के लिए दो करोड़ 88 लाख 43 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। कार्य के पूरा होने के बाद 118 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड कोयलीबेड़ा की बड़े कापसी एनीकट निर्माण के लिए दो करोड़ 91 लाख 13 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। योजना से 120 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। कोरबा जिले के विकासखण्ड कटघोरा स्थित लक्ष्मण नाला एनीकट के निर्माण के लिए दो करोड़ तीन लाख 69 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। इस योजना का क्रियान्वयन जल संवर्धन, निस्तारी, पेयजल एवं मेसर्स आयरन कोल बेनिफिकेशन (इंडिया) लिमिटेड बिलासपुर को औद्योगिक जल प्रदाय करने हेतु किया जाना प्रस्तावित है।

  •  राज्यपाल को नगरीय निकाय निर्वाचन प्रक्रिया संबंधी ज्ञापन सौंपा

    राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में पूर्व नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के नेतृत्व में प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात की और नगरीय निकाय के निर्वाचन प्रक्रिया के संबंध में ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल, श्रीचंद सुंदरानी, सच्चिदानंद उपासने, रायपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव और प्रतिनिधिमण्डल के अन्य सदस्य उपस्थित थे। अब देखने वाली बात है कि 15 वर्षों तक लगातार शासन करने वालों कि राजयपाल के दरबार में कितनी सुनवाई होती है ? समय समय कि बात है वक्त है - बदलाव का नारा देने वालों ने वक्त बदलकर दिखा दिया 

  • रायपुर : अबूझमाड़ की जनता को दिलाएं शासकीय योजनाओं का बेहतर लाभ : राज्यपाल सुश्री उईके

    नक्सल हिंसा पीडि़त परिवारों और समर्पित नक्सलियों की बेहतरी के कार्य पर दिया बल 

    रायपुर राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने कहा है कि अबूझमाड़ जैसे दुर्गम क्षेत्रों में शासन द्वारा संचालित सभी योजनाओं का बेहतर लाभ वहां की जनता को दिलाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने आदिवासियों खास तौर पर अबूझमाडि़या लोगों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, कौशल विकास और आधारभूत अधोसरंचना के लिए और बेहतर कार्य करने पर बल दिया। राज्यपाल सुश्री उईके ने आज नारायणपुर के कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला प्रमुखों की समीक्षा बैठक में उक्त निर्देश दिए। उन्होंने खुशी जताई की नक्सल प्रभावित इलाके होने के बावजूद और कठिन परिस्थितियों में सड़कों और पुल-पुलियों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। राज्यपाल ने कहा कि नक्सल हिंसा ग्रस्त पीडि़त परिवारों, उनके बच्चों तथा समर्पित नक्सलियों के लिए राज्य और केन्द्र सरकार की योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन करें । इसके साथ ही उनकी बेहतरी के लिए और क्या किया जा सकता है, इस बात पर जोर दिया। उन्होंने नक्सल घटना या स्कूली बच्चों की कमी के कारण बंद हुए स्कूलों के बारे में जानकारी ली। राज्यपाल ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली पीडीएस के साथ ही राशन कार्ड और उज्ज्वला गैस वितरण तथा रिफिलिंग के संबंध में पूछताछ की। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों और मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता व्यक्त की। कार्ययोजना बनाकर जिला खनिज निधि राशि का उपयोग करने की सलाह दी। कलेक्टर  पी.एस. एल्मा ने जिले में चल रहे विभिन्न विकास एवं निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी दी। बैठक में राज्यपाल के सचिव सोनमणि बोरा, संभागायुक्त बस्तर,  अमृत कुमार खलखो, पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज,  विवेकानंद सिन्हा, अधीक्षक नारायणपुर मोहित गर्ग सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

  • लोकतांत्रिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप का विरोध करेगी भाजपा भास्कर में छपी खबर का भाजपा ने किया खंडन, कल ही धरना प्रदर्शन

    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने अपने हवाले से दैनिक भास्कर समाचार पत्र में छपी उस खबर का कड़ा प्रतिवाद किया है, जिसमें भाजपा द्वारा सरकार के खिलाफ एक साल तक आंदोलन नहीं करने की बात कही गई है। श्री उसेंडी ने साफ किया कि उन्होंने न तो कहीं किसी चर्चा में यह बात कही है और न ही कहीं इस आशय का वक्तव्य दिया है। कांग्रेस की प्रदेश में लगातार गिरती साख और भाजपा से जुड़ रहे जन-विश्वास से विचलित होकर भाजपा के खिलाफ इस तरह का दुष्प्रचार किया जा रहा है। अखबार में छपी इस खबर से जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं में गलत संदेश गया है, इस कारण इस खबर का हम कड़ा प्रतिवाद करते हैं।
    प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री उसेंडी ने कहा कि भाजपा को प्रदेश की जनता ने सजग, संजीदा और आक्रामक विपक्ष की भूमिका दी है। भाजपा अपनी इस भूमिका में खरी उतर रही है और नए जनादेश तक भाजपा अपने तीखे विपक्षी तेवर की धारदार भूमिका निभाकर प्रदेश के लोगों के हक और कल्याण के साथ-साथ लोकतांत्रिक मूल्यों को बचाए रखने की जिम्मेदारी का निर्वहन करती रहेगी। पार्टी हर वह आंदोलनात्मक कदम उठाएगी जो लोकतांत्रिक दायरे में सरकार की विफलता को उजागर करने का काम करेगा। श्री उसेंडी ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश सरकार की विफलताओं और गलत नीतियों के खिलाफ हाल के महीनों में ही आंदोलन किया है और कल 16 अक्टूबर को भाजपा कार्यकर्ता जन-जागरण करने के लिए विरोध का स्वर बुलंद करते हुए राज्य भर में फिर धरना प्रदर्शन करने जा रहे हैं। प्रदेश सरकार के जनविरोधी कृत्यों, बदलापुर की राजनीति, प्रदेश के हर वर्ग के लोगों के साथ किए गए छलावों के खिलाफ चुप बैठकर भाजपा प्रदेश के कांग्रेसी कुशासन को कतई अभयदान नहीं दे सकती।
    भाजपा अध्यक्ष श्री उसेंडी ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी और बोनस भुगतान, बिजली बिल हाफ, रोजगार, नरवा-गरुवा-घुरवा-बाड़ी, बढ़ते अपराध जैसे हर मोर्चों पर प्रदेश की सरकार का राजनीतिक पाखंड बेनकाब हो गया है। शराबबंदी जैसे संवेदनशील मुद्दे को लटकाए रखकर प्रदेश सरकार ने जिस शर्मनाक राजनीतिक चरित्र का परिचय दिया है, उसकी तो मिसाल ही कहीं नहीं मिलेगी। प्रदेश का खजाना कंगाल करके प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ को बदहाली के मुहाने पर ला खड़ा किया है। लोक-कल्याण और विकास के काम करने की नीयत ही प्रदेश की कांग्रेस सरकार में नहीं है और ओछे राजनीतिक नजरिए से ग्रस्त सत्तारूढ़ प्रदेश कांग्रेस सरकार केन्द्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपानीत राजग सरकार द्वारा जारी अनेक जनहितकारी योजनाओं व कार्यक्रमों को छत्तीसगढ़ में रोक दिया है। ऐसी जनविरोधी नीति वाले प्रदेश के पाखंडी कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ भाजपा कभी चुप बैठी रहकर तमाशा नहीं देख सकती। प्रदेश की जनता ने जब भाजपा को शासन-संचालन का जिम्मा सौंपा तब हमने विकास के कीर्तिमानों से छत्तीसगढ़ को सजाया था और अब विपक्ष की भूमिका सौंपने वाली जनता की अपेक्षाओं पर भी हम खरा उतरेंगे।
    भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री उसेंडी ने कहा कि दरअसल कांग्रेस अपने खिसकते जनाधार, लगातार गिरती राजनीतिक साख और अंतर्कलह के चलते सरकार में मची आपसी रार के चलते भाजपा के प्रति लोगों के पुनः बढ़ते रूझान से बेचैन हो रही है, बौखला रही है। सरकारी मशीनरी का खुला दुरुपयोग करके धनबल-बाहुबल और छल-कपट करके दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद अब कांग्रेस को अपनी वास्तविकता पता चल गई है और इसलिए चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव तथा आगामी नगरीय निकाय चुनावों में अपना सूपड़ा साफ होने की साफ तस्वीर देखकर कांग्रेस नेतृत्व भयभीत हो गया है, और इसलिए ऐसा मिथ्याप्रलाप करने का काम कांग्रेस कर रही है। नगरीय निकायों में महापौर और अध्यक्षों का अप्रत्यक्ष प्रणाली से चुनाव कराने की कवायद भी इस भय के चलते कांग्रेसी मुख्यमंत्री कर रहे हैं। श्री उसेंडी ने दावा किया कि कांग्रेस के लोग चाहे जितनी ऐसी झूठी खबरें प्लान करके मीडिया को परोस दें, लेकिन भाजपा और प्रदेश की जनता के परस्पर दृढ़ विश्वासपूर्ण रिश्तों में भ्रम और दरार पैदा करने की ये कांग्रेसी कोशिशें अंततः कांग्रेस के ही राजनीतिक पतन के ताबूत की कीलें ही साबित होंगीं।

  • नगरी निकाय चुनाव ईवीएम से नहीं मतपत्रों से होगा मतदान
    मतपत्रों से ही मतदान होगा पार्षद ही महापौर चुनेगे युवा नेता को भी मौका दिया जाएगा : दलबदल कानून में कोई विचार नहीं हुआ है महापौर के लिए जो आरक्षण होगा उसी के तर्ज में महापौर बनेगा
  • प्रदेश में क्रिकेट का सबसे बड़ा और भव्य आयोजन
    रायपुर 15 अक्टूबर2019-छत्तीसगढ़ प्रदेश में क्रिकेट खिलाड़ियों में प्रतिभाओं की कमी नही है, किंतु उचित अवसर ना मिल पाने के कारण हमारा प्रदेश क्रिकेट जैसे लोकप्रिय खेल में भी काफी पिछड़ा है, छत्तीसगढ़ का दुर्भाग्य है कि प्रदेश की रणजी टीम में काफी संख्या में अन्य प्रदेशों के खिलाड़ियों को शामिल किया जाता है, इसी तरह IPL में भी प्रदेश के खिलाड़ियों की भूमिका नगण्य है। छत्तीसगढ़ प्रदेश के क्रिकेट खिलाड़ियों को बड़े मंच व अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से वीर स्पोर्ट्स क्लब द्वारा 15 दिसम्बर 2019 से 20 जनवरी 2020 तक FESTIVAL OF CRICKET का आयोजन कराये जाने का निर्णय लिया गया है, जिसके अंतर्गत संभाग स्तर पर क्रिकेट टेलेंट हंट प्रतियोगिता कराकर, प्रत्येक संभाग से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के आधार पर 30-30 खिलाड़ियों का चयन किया जायेगा, तत्पश्चात प्रदेश स्तर पर मार्च में प्रतियोगिता चयनित 150 खिलाड़ियों को विभाजित कर प्रदेश के आठ प्रमुख शहरों की टीमों में समाहित कर, IPL- इंडियन प्रीमियर लीग की तर्ज पर CPL- छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग प्रतियोगिता कराई जायेगी। प्रदेश कांग्रेस कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल एवं वीर स्पोर्ट्स क्लब के अध्यक्ष प्रवीण जैन ने जानकारी देते हुए बतलाया कि प्रदेश के उद्योग व व्यापार जगत को साथ जोड़ने कॉरपोरेट क्रिकेट टूर्नामेंट, प्रदेश में दिव्यांग महिला व पुरुष खिलाड़ियो को आगे बढ़ाने व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट के साथ जनप्रतिनिधि, नागरिक, डॉक्टर्स, चार्टर्ड एकाउंटेंट, अधिकारी व पत्रकारों के मैत्री मैच भी आयोजित कराये जाएंगे। वहीं संस्था द्वारा सामाजिक स्तर पर युवाओं को एकजुट करने वाले आयोजन JPL- सीजन 4 टूर्नामेंट 22 दिसम्बर से प्रस्तावित की गई है, जिसमें प्रदेश के 16 से ज्यादा जिलों के युवा खिलाडियों की 32 टीमों के साथ समाज की महिला वर्ग व 15 वर्ष आयु के नवोदित खिलाड़ी काफी संख्या में FESTIVAL OF CRICKET के अंतर्गत हिस्सा लेंगे।
  • मंडल रेल प्रबंधक रायपुर कौशल किशोर एवं अध्यक्षा सेक्रो श्रीमती रेखा कौशल ने अंतर रेलवे मंडल सांस्कृतिक स्पर्धा के प्रतिभागियो को किया पुरस्कृत
    रायपुर 14 अक्टूबर 2019रेलवे प्रशासन द्वारा प्रत्येक वर्ष रेलवे कर्मचारियों एवं उनके परिजनों की सांस्कृतिक प्रतिभा को निखारने के लिए विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है । इसी क्रम में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल द्वारा अंतर मंडल सांस्कृतिक प्रतियोगिता नाटक 2019 मंचन का आयोजन दिनांक 14 अक्टूबर 2019 को उल्लास, रेलवे क्लब डब्ल्यू. आर. एस. कॉलोनी रायपुर में किया गया जिसमें नाटक के अतिरिक्त मिमिक्री एवं एकल अभिनय प्रतियोगिता भी आयोजित की गई प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि के रुप में मंडल रेल प्रबंधक रायपुर श्री कौशल किशोर उपस्थित थे साथ ही अध्यक्षा सेक्रो श्रीमती रेखा कौशल ने कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति देकर कलाकारों का उत्साह बढ़ाया । प्रतियोगिता का शुभारंभ मंडल रेल प्रबंधक श्री कौशल किशोर द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया । सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी श्री प्रदीप मिश्रा के निर्देशन में किया गया । मंडल कार्मिक अधिकारी श्री संग्राम सोरेन ने स्वागत भाषण में मुख्य अतिथि एवं अध्यक्षा सेक्रो सभी प्रतियोगी कलाकारों एवं आमंत्रित अतिथियों का स्वागत किया। इस प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन के अंतर्गत आने वाले विभिन्न मंडल एवं प्रोडक्शन यूनिट के कुल 3 टीमों ने हिस्सा लिया । जिसमें रायपुर, नागपुर, बिलासपुर मंडल की टीमें शामिल थी | रायपुर मंडल द्वारा एक और नाटक निर्देशक- एस. अरुण मुदलियार, डिप्टी सीटीआई, रायपुर नागपुर मंडल द्वारा पंचायत निर्देशक उमेश त्रिपाठी सीसी डोंगरगढ़ तथा बिलासपुर मंडल द्वारा उजाला की और निर्देशक कृष्ण कुमार नामक नंद. मुख्य कार्यालय अधीक्षक बिलासपुर का मंचन किया गया | इसके पश्चात प्रस्तुत किए गए एकल अभिनय में कुल 08 एवं मिमिक्री में 05 प्रतिभागियों ने अपनी प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता में निर्णायक के रूप में ख्याति प्राप्त रंगमंच कलाकार श्री योग मिश्रा रायपुर एवं श्री राकेश बम्बारडे, दुर्ग उपस्थित थे । कार्यक्रम में अपर मंडल रेल प्रबंधक डॉ. दर्शनिता बी. आहलूवालिया एवं अमिताव चौधरी सहित रायपुर रेल मंडल एवं वैगन रिपेयर शॉप के रेल अधिकारी एवं संबंधित कर्मचारी उपस्थित रहे कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन श्री आर एस बुंदेला सहायक कार्मिक अधिकारी रायपुर तथा मंच का संचालन श्री फरीदी निसार अहमद मुख्य कर्मचारी कल्याण निरीक्षक एवं श्रीमती प्रीति राजवैद्य कार्यालय अधीक्षक द्वारा किया गया । प्रतियोगिता के परिणाम निम्नानुसार हैं नाटक मे प्रथम रायपुर मंडल नाटक द्वितीय बिलासपुर मंडल तृतीय नागपुर मंडल सर्वश्रेष्ठ निर्देशक -एस अरुण मुदलियार डिप्टी सीटीआई रायपुर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री -पूजा जगने ट्रैक मेंटेनर नागपुर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता- एलव्हीएसपी रेड्डी लोको पायलट रायपुर सर्वश्रेष्ठ रूप सज्जा एवं वेशभूषा -रमाकांत खरे बिलासपुर सर्वश्रेष्ठ प्रकाश व्यवस्था -राजकुमार पाल हेल्पर रायपुर सर्वश्रेष्ठ संगीत -मनोज हेडकेश्वर बिलासपुर एकल अभिनय में प्रथम -कृष्ण कुमार मिश्रा आरक्षक रायपुर, द्वितीय -प्रज्ञा खांडेकर एसएसई नागपुर, तृतीय -अवनीश त्रिपाठी क्रू कंट्रोलर नागपुर, मिमिक्री में प्रथम -एस अरुण मुदलियार डिप्टी सीटीआई रायपुर, द्वितीय -विवेक टांक कार्यालय अधीक्षक रायपुर तृतीय – जी. एस. राज सीनियर गुड्स गार्ड बिलासपुर|
  • मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर का  ऐसे घटिया बयान देना उनकी मानसिकता और महिलाओं के प्रति उनके घृणित विचारों को जाहिर करता है- फूलों देवी नेताम
    रायपुर 14 अक्टूबर 2019 राष्ट्रीय महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुश्री सुष्मिता देव जी के निर्देशानुसार महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती फूलों देवी नेताम के नेतृत्व मे गांधी मैदान मे हरियाणा मुख्यमंत्री म‌नोहर खट्टर जी का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती फूलों देवी नेताम ने कहा कि एक महिला के लिये ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करना उचित नहिं है। मनोहर खट्टर जी ने अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी के लिये अशोभनीय बयान दिया . एक गरिमापूर्ण पद पर रहते हुए मनोहर खट्टर जी का ऐसे घटिया बयान देना उनकी मानसिकता और महिलाओं के प्रति उनके घृणित विचारों को जाहिर करता है। ऐसे घटिया बयान का हमारे महिला कांग्रेस द्वारा पुरजोर विरोध कर हरियाणा मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया गया। मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर जी के ऐसे अशोभनीय बयान से भारतीय जनता पार्टी का चेहरा एवम चरित्र उजागर होता हैl मनोहर खट्टर स्वयं तो अपने हरियाणा प्रदेश में कानून व्यवस्था पर नियंत्रण खो चुके है । हरियाणा प्रदेश बलात्कार एवं आपराधिक घटना मे देश मे चौथा स्थान रखता है । हरियाणा बलात्कारी एवम अपराधियों का गढ़ बन चुका है । मनोहर खट्टर के कार्यकाल में महिलाओं की सुरक्षा खतरे में है। महिलाओं के प्रति बीजेपी नेताओं की संकीर्ण संघी सोच है। समस्त जिला महिला कांग्रेस द्वारा इस बयान का निंदा करते हुए हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर जी का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसमें मुख्य रूप से वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीमती उषारज्जन, श्रीवास्तव शहर अध्यक्ष आशा चौहान प्रदेश सचिव कल्पना सागर, अपर्णा फ्रांसिस, बिंदुरानी प्रसाद ,पार्वती साहू, गंगा यादव , सायरा खान, हजरून बानो, खुशबू निखद ,सरिता शर्मा , लख्मी, देवकी लोहा, सुषमा मेहरा, निककी खान , वैदेही देवदास, नंदा मानिकपुरी, मिताली सिकदर , शम्मी बेगम, ईश्वरी पटेल, बुधियारिन मरकाम, इत्यादि महिलाएं उपस्थित थी।
  • रायपुर : मुख्यमंत्री श्री बघेल ने राष्ट्रीय व्यापार एवं कृषि खाद्य मेला के पोस्टर का किया विमोचन

    रायपुर : मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में आज राजधानी रायपुर में 8 से 12 नवम्बर तक आयोजित होने वाले राष्ट्रीय व्यापार एवं कृषि खाद्य मेला के पोस्टर का विमोचन किया। मेला का आयोजन रायपुर के शंकर नगर स्थित बी.टी.आई. ग्राउण्ड में किया जाएगा। इस अवसर पर  राजेन्द्र जग्गी तथा  चन्द्रशेखर शुक्ला आदि उपस्थित थे।    

  • दुर्ग-भोपाल अमरकंटक एक्सप्रेस का ठहराव उसलापुर स्टेशन में 13 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक
    रायपुर मंडल के हथबंध स्टेशन में लॉन्ग लूप कमीशनिंग हेतु NI कार्य के कारण कुछ गाड़ियों को उसलापुर स्टेशन में समाप्त तथा यहीं से गंतव्य के लिए रवाना की जा रही है। इन गाड़ियों के यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए 13 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक 12853 दुर्ग-भोपाल अमरकंटक एक्सप्रेस का 02 मिनट का अस्थायी ठहराव उसलापुर स्टेशन में दिया गया है। रायपुर दुर्ग स्टेशनों पर यात्रियों को प्रभावित गाड़ियों एवं बिलासपुर एवं उसलापुर से ट्रेनों को पकड़ने की जानकारी दी जा रही है। यात्रियों को अनाउंसमेंट के द्वारा लगातार बताया जा रहा है। जिन यात्रियों ने हथबंद में प्रभावित ट्रेनों में रायपुर से टिकट ले लिया था वह उपलब्ध कनेक्टिंग ट्रेनों में बिलासपुर -उसलापुर जा सकते है।
  • निगमों में नलों की टोंटी लगाने का पैसा तक भूपेश सरकार ने नही छोड़ा: सांसद सुनील सोनी

    रायपुर। भाजपा सांसद सुनील सोनी ने नगरीय निकाय चुनावों में महापौर के सीधे चुनाव की लोकतांत्रिक प्रक्रिया को समाप्त करने के कांग्रेस सरकार के फैसले को नितांत अलोकतांत्रिक कदम बताया है। श्री सोनी ने कहा कि ऐसा करके प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने नगरीय निकाय के चुनाव में अप्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली की आड़ लेकर जनादेश को धनबल-बाहुबल और छल-कपट से पलटने के षड्यंत्र की पटकथा लिखने का काम करना चाह रही है लेकिन कांग्रेस असफल रहेगी।
    सांसद सुनील सोनी ने कहा कि भाजपा की पूर्ववर्ती राज्य सरकार ने जिस लोकतांत्रिक प्रक्रिया को पारदर्शी, समन्वयकारी और विकेन्द्रीकृत करके एक स्वस्थ-स्वच्छ राजनीतिक वातावरण निर्मित किया था, प्रदेश की मौजूदा कांग्रेस सरकार ने उसे प्रदूषित कर अकल्पनीय गहरी अंधेरी खाई में धकेलने का काम किया है। भाजपा जनादेश की पवित्रता और लोक-आराधन की सांस्कृतिक अवधारणा के सम्मान की रक्षा के लिए जी-जान लड़ाएगी। श्री सोनी ने कहा कि कांग्रेस सरकार का यह फैसला साफ करता है कि अपने महज नौ माह के कार्यकाल में वह छत्तीसगढ़ में रचे गए पाखंड, झूठ, छलावे और धोखाधड़ी के ‘राजनीतिक कीर्तिमानों, के बोझ से छटपटा रही है, और नगरीय निकायों में उसे अपनी शर्मनाक हार का स्पष्ट संकेत मिल चुका है, इसलिए ही नगरीय निकाय चुनावों की प्रणाली को बदलने का अलोकतांत्रिक कदम कांग्रेस सरकार उठाने जा रही है। भूपेश सरकार ने निकायों में नलों की टोंटी लगाने तक का पैसा नहीं छोड़ा है। अपनी विफलता छुपाने के लिए सीधे तौर पर महापौर का चुनाव लड़ने से भाग रही है। कांग्रेस के नेताओं और सत्ताधीशों से ऐसे ही फैसलों की उम्मीद की जा सकती है क्योंकि धनबल-बाहुबल और छल-कपट की राजनीति करके लोकतांत्रिक परम्पराओं को पलीता लगाना और जनादेश को पलटकर अपमानित करना कांग्रेस की शुरू से ही सियासी फितरत रही है।

Previous123456789...103104Next