Top Story
कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर केंद्र सरकार को सामने आना पड़ेगा ? 17-Nov-2021
अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा भारत की आजादी 1947 में नई 2014 में हुई है के बयान पर केंद्र सरकार को संज्ञान लेना चाहिए | केंद्र सरकार कंगना रनौत के बयान को मद्देनजर रखते हुए स्पष्ट करें कि क्या भारत की आजादी 1947 में नहीं हुई ? *क्या भारत की आजादी के लिए भगत सिंह, राजगुरु सुखदेव ने अपना बलिदान नहीं दिया ?* *भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी किसी मर्डर,लूट, बैंक डकैती या रेप के लिए हुई थी ?* *शहीद भगत सिंह, राजगुरु सुखदेव के बलिदान दिवस को हिंदुस्तान क्यों मनाता है ?* *जलियांवाला बाग में खून खराबा क्यों हुआ* अपने शरीर का प्रदर्शन करके नग्न प्रदर्शन करके फिल्मों के माध्यम से अनेक लोगों के साथ अवैध संबंध बनाकर ग्लैमरस दुनिया में अपना स्थान बनाने वाली एक अभिनेत्री कंगना रनौत देश के लिए बलिदान होने वाले देशभक्तों के खिलाफ इस तरह के अव्यवहारिक, देश के नागरिकों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने, अपनी प्रसिद्धि में बढ़ोतरी करने के उद्देश्य से मीडिया के सामने बनी रहने के प्रयासों के तहत बेवकूफी वाले बयान देती हैं, देशद्रोही वाले बयान देती हैं, लोगों की भावनाओं को भड़काने वाले बयान देती हैं तो ऐसी अभिनेत्री को तुरंत देश के संविधान के तहत सबसे सख्त धारा के अंतर्गत गिरफ्तार कर जेल में डाल देना चाहिए अन्यथा देश के नागरिकों में, महिलाओं में, पुरुषों में और समझदार युवकों में तूफान आ जाएगा| हम कंगना रनौत के बयान की निंदा करते हैं, घोर निंदा करते हैं, ऐसी अभिनेत्री जो मीडिया के सामने स्पष्ट तौर पर बयान देती है कि मैं फैशनेबल कपड़े पहनने, दोस्त बनाने, लिव इन रिलेशन बनाने, मनमानी बोलने की खुली स्वतंत्रता को त्यागना नही चाहती | कंगना रनौत के राष्ट्र विरोधी बयान पर केंद्र सरकार स्पष्ट करे कि 1947 में भारत आजाद नहीं हुआ ? आजाद हुआ भी तो क्या भीख में मिला भारत ? जलियांवाला बाग का नरसंहार क्या देश की आजादी के लिए नहीं था ? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश की आजादी के बारे में कंगना रनौत द्वारा पैदा किए गए विवाद पर सामने आकर स्पष्ट करना चाहिए कि क्या भारत 1947 में आजाद हुआ या आप जब प्रधानमंत्री बने तब 1914 में आजाद हुआ ?
More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.