Top Story
नोट गिनने के लिए मंगाई गईं 5 मशीनें टॉयलेट में भी छिपा था खजाना 28-Jul-2022

पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले (SSC Scam) की जांच में जुटी प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम नोटों का एक और जखीरा बरामद हुआ है. नए खजाने से ईडी ने 28 करोड़ 90 लाख रुपये और लगभग 5 किलो सोना जब्त किया है. पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी की काली कमाई के रहस्यलोक का दूसरा दरवाजा खुल गया है. पहले टॉलीगंज और अब बेलघरिया. यह अर्पिता मुखर्जी का दूसरा फ्लैट है जहां से गुलाबी नोटों का अंबार बरामद हुआ है. नोटों को प्लास्टिक की थैली में भरकर रखा गया था.

इस कैश को गिनने के लिए कई मशीनों को मंगवाया गया. यहां से ईडी को 28 करोड़ 90 लाख रुपये कैश मिला था, जिसकी गिनती की गई. लगभग 5 किलो गोल्ड भी बरामद हुआ है. अर्पिता मुखर्जी के नाम पर ऐसे दो फ्लैट हैं इसमें एक है ब्लाक-5 और रहस्य लोक से मिले नए खजाने का नया पता बेलघरिया के रथाला इलाके का ब्लॉक नंबर-5 है. पश्चिम बंगाल शिक्षक घोटाले के मास्टर माइंड माने कहे जाने वाले मंत्री पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी ईडी कस्टडी में हैं. 

नोट गिनने के लिए मंगाई गईं 5 मशीनें

प्रवर्तन निदेशालय की टीम के लिए पार्थ चटर्जी का मुंह खुलवाना मुश्किल हो रहा है, लेकिन अर्पिता मुखर्जी काली कमाई का राज लगातार खोल रही है. मिली जानकारी के मुताबिक मुखर्जी ने ही ईडी को कोलकाता के आसपास की अपनी संपत्ति की जानकारी दी है. ED को अर्पिता के एक और फ्लैट से बेशुमार कैश मिला, जिसके बाद ED के अफसरों ने बैंक के अधिकारियों को फ्लैट पर बुलाया. नोटो का जखीरा इतना बड़ा था कि इसके लिए नोट गिनने की पांच मशीने मंगाई गईं.

More Photo
More Video
RELATED NEWS
Leave a Comment.