National News
  • रमन सिंह कर्नाटक और उप्र से भी ट्रेनों की अनुमति दिलवा दें: कांग्रेस

    रमन सिंह कर्नाटक और उप्र से भी ट्रेनों की अनुमति दिलवा दें -  रेलमंत्री से कहकर श्रमिकों से पैसा लेना बंद करने को भी कहें - वित्तमंत्री से कहकर श्रमिकों को आर्थिक पैकेज में नक़द राशि दिलवा दें - नरेंद्र मोदी जी से कहकर पैदल चल रहे लोगों को घर पहुंचवा दें -  : कांग्रेस  

     

    रायपुर। 17 मार्च,2020। जम्मू कश्मीर से श्रमिकों के लिए ट्रेन की अनुमति दिलवाने के कथित प्रयासों को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने डॉ रमन सिंह का राजनीतिक हथकंडा बताते हुए कहा है कि अगर उनकी इतनी सुनवाई हो रही है तो दो और भाजपा शासित राज्य छत्तीसगढ़ के लिए ट्रेनों की अनुमति देने में आनाकानी कर रहे हैं वे उन राज्यों से भी अनुमति दिलवा दें.   उन्होंने कहा है कि केंद्र की ओर से पहले तो रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ग़लत बयान जारी करके राजनीति की. अब जबकि इस झूठ की कलई खुल गई है तो डैमेज कंट्रोल के लिए डॉ रमन सिंह ट्रेनों की अनुमति दिलवाने की बात कर रहे हैं. अगर वे सच में छत्तीसगढ़ के श्रमिकों के हितैषी हैं तो वे कर्नाटक और उत्तर प्रदेश से भी ट्रेनों की लंबित अनुमति दिलवाने की पहल करें.   शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा उपाध्यक्ष होने के नाते डॉ रमन सिंह को वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन से भी बात कर लेनी चाहिए और कहना चाहिए कि आर्थिक पैकेज के तहत जो उपाय किए गए हैं उससे न उद्योगपतियों का भला होने वाला है और न किसानों-मज़दूरों का. उन्हें चाहिए कि वे वित्तमंत्री से कहें कि वे कर्ज़ देने की जगह उद्योगपतियों को राहत दें और किसानों-श्रमिकों की जेब में नक़द रकम डालने के उपाय करें.   रमन सिंह जी से अनुरोध करते हुए संचार विभाग प्रमुख ने कहा है कि यदि उन्हें श्रमिकों का दर्द महसूस हो रहा है तो वे हिम्मत जुटाएं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जी कहें कि वे मीलों मील पैदल चल रहे मज़दूरों के लिए केंद्र सरकार की ओर से घर पहुंचने का इंतज़ाम कर दें. उन्होंने कहा है कि जब वे बात करें तो रेलमंत्री, वित्तमंत्री और प्रधानमंत्री से यह भी कह दें कि ग़रीब मज़दूरों से ट्रेन यात्रा का पैसा वसूल करना बंद कर दें. वैसे भी मज़दूर पिछले दो महीनों में अपना सबकुछ गंवा चुके हैं, उनके पास यात्रा के पैसे भी नहीं हैं.   उन्होंने कहा है कि रमन सिंह के मन में छत्तीसगढ़ के मज़दूरों के लिए उपजा दर्द यदि नकली नहीं है तो वे छत्तीसगढ़ से चुनकर गए अपनी पार्टी के सांसदों से कहें कि उन्होंने जितना पैसा पीएम केयर्स में भी दिया है उतना ही कम से कम मुख्यमंत्री राहत कोष में भी दे दें, जिससे राज्य में मज़दूरों के हित में और बेहतर काम हो सकें. शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि यदि भाजपा और उनके सहयोगी दलों द्वारा शासित राज्य श्रमिकों को लेकर राजनीति न करें और अपने अपने मज़दूरों को बुलाने के लिए पर्याप्त इंतज़ाम कर दें तो छत्तीसगढ़ का भला हो जाएगा. उन्होंने कहा है कि आज छत्तीसगढ़ सरकार अपने संसाधनों से जिन मज़दूरों को उनके घर तक पहुंचाने में मदद कर रही है, उनमें से 75 प्रतिशत से अधिक मज़दूर दूसरे राज्यों के हैं.   शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि जिस तरह से नोटबंदी ने आमजनों का हाल बेहाल किया था उसी तरह से अचानक किए गए लॉक-डाउन ने किया है. केंद्र की भाजपा सरकार ने बिना सोचविचार किए, बिना राज्यों को विश्वास में लिए जिस तरह के निर्णय किए हैं उसी की वजह से करोंड़ों मज़दूर दूसरे राज्यों में फंसे हैं. उन्होंने कहा है कि बेहतर है कि भाजपा इस समय अपनी ग़लती का दोष दूसरे राज्यों पर मढ़ने की जगह देश से माफ़ी मांगे.

  • राहत पैकेज की पांचवीं किस्त जारी...जानें किसे क्‍या मिला

    नई दिल्ली: कोरोना संकट के आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने 12 मई को 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की थी। पीएम मोदी ने साथ ही कहा था कि इस पैकेज पर जानकारी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देंगी। इस पैकेज पर जानकारी देने के लिए आज वित्त मंत्री ने लगातार पांचवें दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

    यह लगातार पांचवां दिन है जब निर्मला सीतारमण ने राहत पैकेज पर प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की है। निर्मला सीतारमण शुरुआती 4 दिनों तक शाम चार बजे मीडिया से मुखातिब हो रही थीं लेकिन आखिरी प्रेस कॉन्‍फ्रेंस सुबह 11 बजे के लिए रखा गया था। निर्मला सीतारमण ने बताया कि प्रेस कॉन्‍फ्रेंस लैंड, लेबर, लिक्विडिटी और लॉ पर फोकस होगा।

    वित्त मंत्री र्मला सीतारमण MSME (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम) को राहत देते हुए कहा कि कोरोना संकट काल में अगले एक साल तक किसी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू नहीं की जाएगी। दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने के लिए कर्ज की सीमा 1 लाख रुपए से बढ़ाकर 1 करोड़ कर दी गई है।

    साथ ही वित्त मंत्री ने बताया कि जरूरतमंद छात्र जिनपर इंटरनेट नहीं है वे स्वंय प्रभा डीटीएच सेवा से पढ़ सकते हैं। फिलहाल ऐसे तीन चैनल, इसमें 12 नए चैनल जुड़ेगे। इसके अलावा दीक्षा के जरिए ई-कॉन्टेंट मुहैया करवाया जाएगा। मनोदर्पण नाम से एक कार्यक्रम चलाया जाएगा। वहीं वन क्लास, वन चैनल के तहत पहली से 12वीं कक्षा के छात्रों को पढ़ने का नया तरीका दिया जाएगा। रेडियो, कम्यूनिटी रेडियो से भी पढ़ाई में मदद ली जाएगी। दिव्यांगों के लिए विशेष शिक्षा सामग्री तैयार की जाएगी। 100 टॉप यूनवर्सिटीज को ऑनलाइन पढ़ाई की इजाजत दी गई है।

    साथ ही वित्त मंत्री निर्माला सीतारमण ने कहा कि हेल्‍थ सेक्‍टर में बदलाव करते हुए पब्‍लिक हेल्‍थ के निवेश को बढ़ाया जाएगा। ऐसी क्षमता तैयार की जाएगी जिससे आपात स्थिति में भी हम लड़ने को तैयार होंगे। जिला स्तर के अस्‍पताल में इंफेक्शन से होनेवाली बीमारी से लड़ने की तैयारी होंगी। देशभर में लैब नेटवर्क मजबूत किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में हर ब्लॉक में पब्लिक हेल्थ लैब बनाई जाएंगी।

  • बड़ी खबर : कक्षा 1 से 12 तक हर क्लास के लिए एक शिक्षा चैनल किया जाएगा लॉन्च : वित्त मंत्री

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस जारी है। प्रेस से बात करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि आज देश संकट के दौर से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि संकट का दौरन नए अवसर भी खोलता है। आपदा को अवसर में बदलने की जरूरत है। वित्त मंत्री ने कहा कि जमीन, मजदूर और नगदी पर पैकेज में जोर दिया गया है।

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, “पिछले दो दिनों की घोषणाओं में कई सुधार रहे हैं जिसमें जमीन, मज़दूर, लिक्विडिटी और कानून को संबोधित किया गया है। आज हम उसी श्रृंखला में आगे बढ़ेंगे।”

    वित्त मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें:

    • स्वास्थ्य विभाग के लिए 15 हजार करोड़ रुपये का ऐलान
    • टेस्टिंग और लैब किट के लिए 550 करोड़ रुपये
    • स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 50 लाख रुपये की बीमा योजना
    • सरकार 'कारोबार करने में आसानी' के अगले चरण में एक मिशन मोड पर काम कर रही
    • मनरेगा के लिए अतिरिक्त 40 हजार करोड़ रुपये का ऐलान
    • प्रवासी मजदूर मनरेगा में अपना नाम पंजीकृत करा सकते हैं
    • लैब नेटवर्क को मजबूत किया जाएगा
    • कक्षा 1 से 12 तक के लिए वन क्लास वन चैनल लॉन्च किया जाएगा
    • पीएम ई विद्या कार्यक्रम लॉन्च किया जाएगा
    • दिव्यांग बच्चों के लिए भी ऑनलाइन कोर्स चलाया जाएगा
    • 100 विद्यालयों को ऑनलाइन कोर्स की मंजूरी दी गई
    • बच्चों को मनोवैज्ञानिक रूप से स्वस्थ्य रखने के लिए मनोदर्पण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा
    • दिव्यांग बच्चों के लिए विशेष ई कंटेट लाया जाएगा
    • एक साल तक दिवालिया घोषित करने की प्रक्रिया पर रोक का ऐलान
    • कंपनी ऐक्ट के कई नियम आपराधिक श्रेणी से हटेंगे
    • छोटे उद्योंगो के दिवालिया होने की सीमा को 1 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ किया गया
  • बदलाव व सुधार की ताजा घोषणाओं से आत्मनिर्भर भारत के लिए ऊर्जा का संचार होगा : भाजपा

    कोयला और खनिज क्षेत्रों में निजी कंपनियों की सहभागिता से उत्पादन बढ़ाने का निर्णय दूरदर्शी सोच : उसेंडी 

    0 रक्षा व नागरिक उड्डयन क्षेत्रों को लेकर किए फैसले क्रांतिकारी व केंद्र सरकार की सुलझी सोच का परिचायक : डॉ. सिंह 


    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज के चौथे चरण में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सभी क्षेत्रों में बदलाव व सुधार की जो घोषणाएँ की हैं, वे देश को आत्मनिर्भरता की ओर तेजी से आगे बढ़ने के लिए ऊर्जा का संचार करेंगीं। भाजपा ने इन घोषणाओं का स्वागत करते हुए आत्मनिर्भर भारत विश्व के साथ कदम मिलाकर चलकर विश्व के सामने उत्पन्न चुनौतियों का सामना करने की सामर्थ्य रखता है।
    भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि केंद्र सरकार भारतीय उत्पादों को विश्वस्तरीय पहचान दिलाकर स्वस्थ व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा के लिए देश को तैयार कर रही है। कोयला क्षेत्र में उत्पादन को बढ़ावा देने सरकार का एकाधिकार खत्म करने और 50 कोल ब्लॉक्स की नीलामी तथा निजी कंपनियों की भागीदारी के दूरदर्शी सोच से युक्त फैसले से देश कोयला के आयात के अनावश्यक व्यय से बचेगा। इसके लिए 50 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान केंद्र सरकार की गंभीर सोच का प्रतीक है। इसी तरह खनिज क्षेत्र में 500 माइनिंग ब्लॉक्स की नीलामी का फैसला लेकर भी केंद्र सरकार ने निजी क्षेत्रों के लिए नए मौके मुहैया कराए हैं। 18 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान इसके लिए करके केंद्र सरकार ने ऊर्जा संवर्धन व पर्यावरण संरक्षण की चिंता भी की है। सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 8,100 करोड़ रुपए की घोषणा करके केंद्र सरकार ने इसमें केंद्र व राज्यों की भागीदारी सुनिश्चित कर संघीय ढांचे को मजबूत करने की दिशा में ऐतिहासिक निर्णय लिया है।
    भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि देश की सुरक्षा हमारी पहली और सर्वोच्च प्राथमिकता है और इस लिहाज से रक्षा क्षेत्र में किए गए बदलाव नि:संदेह क्रांतिकारी हैं। रक्षा क्षेत्र के उत्पादन में मेक इन इंडिया पर जोर देकर केंद्र सरकार ने देश में हथियारों के उत्पादन को बढ़ावा देने और आयात पर निर्भरता को घटाने की दिशा में काम कर रही है। एफडीआई के तहत विदेशी निवेश को 49 फीसदी से बढ़ाकर 74 फीसदी करना, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के निगमीकरण का फैसला लेना केंद्र सरकार की सुलझी सोच का परिचय देते हैं।इसी तरह नागरिक उड्डयन क्षेत्र में एयर स्पेस को बढ़ाने और छह हवाई अड्डों के पीपीपी मोड में सुधार के फैसले से निजी क्षेत्रों की ओर से 13 हजार करोड़ रुपए के निवेश तथा एयर स्पेस बढ़ने से 01 हजार करोड़ की बचत होगी। अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी क्षेत्रों की सहभागिता बढ़ाने और मेडिकल आइसेटोप के लिए पीपीपी मोड में उत्पादन का प्रावधान भी स्गतेय है। युवा उद्यमियों को न्युक्लियर सिस्टम से जोड़कर युवा प्रतिभा के निखार का एक नया द्वार भी केंद्र सरकार ने खोलने का काम किया है।

  • BREAKING NEWS : राहुल गांधी के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें...पढ़े पूरी खबर
    • राहुल ने कहा कि कोरोना वायरस की स्थिति के बारे में आज जानते हैं। आज जरूरत है किसानों, प्रवासियों की जेब में पैसे डालने की।
    • मैं सरकार से विनती करता हूं कि आप कर्ज जरूर दीजिए लेकिन भारत के बच्चों के लिए साहूकार मत बनिए। सड़क पर चलने वाले प्रवासियों की जेब में पैसे दीजिए।
    • सड़क पर चलने वाले लोग भारत का भविष्य हैं। ये बाते मैं एक राजनीतिक दृष्टिकोण से नहीं बोल रहा है। सरकार को आर्थिक पैकेज पर दोबारा विचार करने की जरूरत है।
    • हमारी रेटिंग को किसान, छोटे उद्यमी, मजदूर बनाते हैं। आप विदेश के बारे में मत सोचिए आप इन लोगों के बारे में सोचिए। विदेश के बारे में , रेटिंग के बारे में मत सोचिए। कहा जा रहा है कि पैसा दिया तो हमारी रेटिंग कम हो जाएगी लेकिन  हमें हिन्दुस्तान के दिल की बात सुननी होगी ना कि विदेश की।
    • मैं बहुत प्यार से प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि वे भारत के लोगों के बारे में सोचें, विदेश के बारे में नहीं।
    • हमें लॉकडाउन को बहुत समझदारी, ध्यान से और होशियारी से हटाना है।
    • सरकार को आर्थिक पैकेज पर दोबारा विचार करना चाहिए। डिमांड को चालू करने की जरूरत है। यदि ऐसा नहीं होता तो इससे देश को बहुत ज्यादा नुकसान होगा।
    • आप न्याय जैसी योजना लागू कर सकते हैं। आप इसे कोई और नाम दे सकते हैं। मेरा कहना है कि बहुत जरूरी है कि गरीब लोगों की जेब में पैसा होना चाहिए।
    • कांग्रेस नेता ने कहा कि इस वक्‍त सबसे बड़ी जरूरत डिमांड-सप्‍लाई को शुरू करने की है। उन्‍होंने कहा कि "आपको गाड़ी चलाने के लिए तेल की जरूरत होती है। जबतक आप कार्बोरेटर में तेल नहीं डालेंगे, गाड़ी स्‍टार्ट नहीं होगी। मुझे डर है कि जब इंजन शुरू होगा तो तेल ना होने की वजह से गाड़ी चलेगी ही नहीं।"
    • राहुल गांधी ने केरल में कोरोना वायरस पर कंट्रोल की तारीफ की और कहा कि वह एक मॉडल स्‍टेट है और बाकी राज्‍य उससे सबक ले सकते हैं।
  • BREAKING NEWS : शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान…CBSE की 10वीँ और 12वीँ की बची हुई परीक्षाओं की नई तारीखों का एलान आज

    नई दिल्ली :  सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं को लेकर बड़ा ऐलान हो गया है. 1 से लेकर 15 जुलाई तक होने वाली दसवीं और बारहवीं की बची परीक्षाओं के लिए डेटशीट का ऐलान आज शाम तक कर दिया जाएगा. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोशल मीडिया पर ये ऐलान किया है. उन्होंने कहा, #COVID19 संकट के चलते #CBSE की बची हुई परीक्षाओं की अनिश्चितता बनी हुई थी. मगर आज यह अनिश्चितता को दूर करते हुए और विद्यार्थियों की उत्सुकता को देखते हुए हम कक्षा 10 और 12 वीं परीक्षा की डेट शीट शाम 5 बजे जारी कर रहें हैं. मेरे साथ ट्विटर और फेसबुक पर बने रहिए.

     
  • आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त आज...शाम चार बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी प्रेस कॉन्फ्रेंस

    कोरोना संकटकाल में मंदी से जूझ रही अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान का आगाज किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की तीन किस्तों का ऐलान कर चुकी हैं। आज इसी क्रम में चौथी किस्त की घोषणा करेंगी। शाम चार बजे वित्त मंत्री की इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस होगी।

  • सागर : अलग-अलग सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत...12 गंभीर

    सागर: सागर-छतरपुर सीमा पर एक बड़े सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत हो गई है. जबकि 8 की हालत गंभीर है. ये दुर्घटना सागर से छतरपुर की ओर जा रहे ट्रक के पलटने से हुई है. इसमें कुल 18 लोग घायल बताए जा रहे हैं. सागर और छतरपुर दोनों जिलों का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया है.बता दें कि ये सभी मजदूर महाराष्ट्र से यूपी के सिद्धार्थनगर जा रहे थे. अभी भी कुछ लोगों के ट्रक के नीचे दबे होने की आशंका जताई जा रही है.

  • आज दोपहर 12 बजे राहुल गांधी करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस

    नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी आज दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। माना जा रहा है कि कांग्रेस नेता आत्मनिर्भर अभियान और केंद्र सरकार द्वारा की गई आर्थिक घोषणाओं पर बड़ा बयान दे सकते हैं।

  • औरैया सड़क दुर्घटना पर पीएम मोदी ने जताया दुख

    उत्तर प्रदेश:  के औरैया में सड़क दुर्घटना पर पीएम मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने कहा किबेहद ही दुखद है। सरकार राहत कार्य में तत्परता से जुटी है।उन्होंने कहा कि इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

  • BIG BREAKING : औरेया में भीषण सड़क हादसा...DCM को ट्रक ने मारी टक्कर...23 मजदूरों की मौत

    उत्तर प्रदेश:  के औरैया जिले में प्रवासी मजदूरों से भरी डीसीएम में ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे 23 मजदूरों की मौत हो गई. इस घटना में 20 से ज्यादा लोग घायल हैं. घायलों को जिला अस्पताल व सैफ़ई पीजीआई भेजा गया है. जिला प्रशासन मौके पर मौके पर मौजूद है.

    शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक, मजदूरों को लेकर आ रही डीसीएम में ट्रक ने टक्कर मार दी जिसमें 23 लोगों की मौत हो गई जबकि 20 से ज्यादा लोग लोग घायल हैं. सभी घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है. डीसीएम सड़क पर खड़ी थी तभी ट्रक ने उसमें टक्कर मार दी. औरेया की एसपी सुनीति सिंह और कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है. पुलिस राहत और बचाव कार्य में जुटी है. जो लोग गंभीर रूप से घायल हैं उनको कानपुर के हैलट अस्पताल में रेफर किया गया है. घटना को देखते हुए मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका जताई जा रही है.

    घटना शनिवार तड़के 3.30 तीन बजे की है. 23 मजदूरों की मौत घटनास्थल पर हो गई जबकि कई लोग घायल हो गए. घटना के वक्त अंधेरा था, इसलिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में काफी दिक्कत आई. प्रशासन के साथ आसपास के लोगों ने मदद की और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया.

    औरेया के डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि सड़क हादसा सुबह 3.30 बजे हुआ. इस घटना में 23 लोगों की मौत हुई है और 15-20 लोग घायल हैं. घायलों में ज्यादातर लोग बिहार, झारखंड और बंगाल के हैं.

     

    प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जाहिर की है. मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को फौरन उचित इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने कानपुर के कमिश्नर और आईजी को निर्देश दिया के वे घटनास्थल का दौरा करें और जल्द से जल्द घटना के कारणों की रिपोर्ट दें.

    हाल के दिनों में पैदल घर के लिए निकले मजदूरों के साथ कई घटनाएं हुई हैं. दो दिन पहले यूपी के मुजफ्फरनगर और मध्य प्रदेश के गुना में ऐसी ही घटनाएं हुईं जिसमें कई मजदूर मौत के शिकार हुए और कई घायल हुए.

  • BREAKING NEWS: दिल्ली-NCR में महसूस किए गए भूकंप के झटके...कोरोना काल में ये चौथी बार

    नई दिल्ली: दिल्ली में 5 दिन के भीतर दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए. शुक्रवार को सुबह 11:28 पर दिल्ली में भूकंप के झटके महसूस किए गए जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.2 मापी गई है. भूकंप का केंद्र दिल्ली के पीतमपुरा में पाया गया और इसकी गहराई 8 किमी बताई जा रही है.

    हालांकि भूकंप की तीव्रता बेहद कम है जिसकी वजह से ज्यादा नुकसान होने की संभावना नहीं है. लेकिन महज 5 दिनों में ही दूसरी बार भूकंप के झटके चिंता बढ़ाने वाले हैं. इससे पहले 10 मई को भी दिल्ली-एनसीआर में 3.4 की तीव्रता के साथ भूकंप के झटके महसूस किए गए थे.

    लॉकडाउन के बीच बीते 1 महीने में ये चौथी बार है जब दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. इससे पहले 12 और 13 अप्रैल को भी दिल्ली एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे.

    स्काईमेट के वाइस प्रेसिडेंट और मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत के मुताबिक जब किसी रीजन में भारी तीव्रता का भूकंप आता है तो उसके कुछ दिनों के अंदर कम तीव्रता का भूकंप आने की संभावना होती है इसे आफ्टर शॉक भी कहा जाता है. ऑफ्टर शॉक में होने वाले भूकंप की तीव्रता कई बार आधी होती है और इस से ज्यादा नुकसान नहीं होता.