National News
  • केंद्रीय विद्युत मंत्री ने बिहार के मुज़फ्फरपुर (महत्वाकांक्षी जिले) में 24.38 करोड़ रूपये की लागत वाली आरईसी सीएसआर परियोजना का शिलान्यास किया

    विद्युत,नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (आईसी)श्री आर के सिंह ने आज (19 सितंबर, 2020)  वीडियो कॉफ्रेंसिंग के ज़रिए बिहार के (महत्वाकांक्षी जिले) मुजफ्फरपुर में 24.38 करोड़ रुपये की लागत वाली एक सीएसआर परियोजना का शिलान्यास किया। इस परियोजना का परिचालन आरईसी लिमिटेड (पूर्व ग्रामीण विद्युतिकरण निगम) करेगी।परियोजनाओं में निम्नलिखित हस्तक्षेप शामिल हैं:

    1. सदर अस्पताल में रोगियों के सहायकों के लिए 100बिस्‍तरों वाले प्रतीक्षा हॉल,बहुउद्देश्यीय हॉल और उष्मायन केंद्र(इन्क्यूबेटशन सेंटर) का निर्माण कराया जाएगा और जिला अस्पताल तथा पीएचसी के लिए 25 इन्क्यूबेटरों की खरीद की जाएगी और उन्हें स्थापित किया जाएगा।
    2. पचास आंगनवाड़ी केंद्रों (एडब्‍ल्‍यूसी) की मरम्मत का काम कराया जाएगा और 1125 आंगनवाड़ियों में खाद्यान्न रखने के लिए कंटेनर और एलपीजी गैस कनैक्शन प्रदान किए जाएंगे और प्रसव बाद देखभाल केंद्र उपलब्ध कराए जाएंगे।
    3. मुज़फ्फरपुर के श्रीकृष्ण चिकित्सा महाविद्यालय में रोगियों के सहायकों के लिए 200बिस्‍तरों वाले विश्राम सदन का निर्माण।

         इस परियोजना का उद्देश्य बिहार के महत्वाकांक्षी मुजफ्फरपुर जिले के भीतर और आसपास निवास करने वाले लोगों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं का उन्नयन करना और उन्हें उपलब्ध कराना है। इस अवसर पर आरईसी लिमिटेड के सीएमडी  एस के गुप्ताआरईसी लिमिटेड के निदेशक (वित्त)  अजय चौधरी और आरईसी लिमिटेड के ईडीआईएएस  आर लक्ष्मणन ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर मुजफ्फरपुर के जिला मजिस्ट्रेट डॉ. चंद्रशेखर सिंह एवं जिले के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। बिहार सरकार के शहरी विकास एवं आवास विभाग के माननीय मंत्री सुरेश कुमार शर्मा,जिला परिषद की अध्यक्ष श्रीमती इंद्रा देवी और पार्षद  दिनेश प्रसाद सिंह ने भी इस अवसर की शोभा बढ़ाई। 

  • राज्यसभा के 8 सांसदों को सभापति ने एक सप्ताह के लिए किया सस्पेंड...उपसभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी खारिज
    नई दिल्ली। राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू ने सोमवार को 8 विपक्षी सांसदों को एक हफ्ते के लिए सदन की कार्यवाही से निलंबित कर दिया। रविवार को कृषि से जुड़े दो विधेयक सदन में पास हुए थे। चर्चा के दौरान विपक्षी सांसदों ने वेल में आकर नारेबाजी की, उपसभापति हरिवंश का माइक निकालने की कोशिश की थी। तृणमूल सांसद डेरेक ओह्णब्रायन ने सदन की रूल बुक फाड़ दी थी। लोकसभा में रिकॉर्ड बना लोकसभा में जनहित से जुड़े जरूरी मामलों पर बहस (मैटर्स आॅफ अर्जेंट पब्लिक इंपोर्टेंस) या जीरो आवर पहली बार आधी रात तक चला। कई सांसदों और लोकसभा सचिवालय से अधिकारियों ने बताया कि 17 अप्रैल 1952 में लोकसभा के गठन के बाद पहली बार ऐसा हुआ है। उधर, राज्यसभा में हंगामा करने वाले सांसदों पर कार्रवाई की जा सकती है। लोकसभा की कार्यवाही रविवार को दोपहर बाद 3 बजे शुरू हुई थी। प्रश्नकाल (क्वेश्चन आवर) के बाद रात 10.30 बजे जीरो आवर शुरू हुआ, जो रात 12.34 बजे तक चला। जीरो आवर में बहस के लिए सांसदों को पहले से प्रश्न बताने की जरूरत नहीं होती। बिल पास…मगर संसद फेल किसान बिलों के विरोध में रविवार को राज्यसभा में विपक्ष ने सभी हदें पार कर दीं। पहले सभापति के सदन का समय बढ़ाने पर हंगामा शुरू हुआ। विपक्षी सदस्य वेल में हंगामा करने लगे। इसके बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का जवाब पूरा होने के बाद जब बिल पास करने की प्रक्रिया शुरू हुई तो विपक्षी मत विभाजन (वोटिंग) की मांग करने लगे। हंगामे की वजह से मार्शल बुलाने पड़े उपसभापति हरिवंश मत विभाजन के लिए तैयार नहीं हुए तो तृणमूल सांसद डेरेक ओह्णब्रायन ने सदन की रूलबुक फाड़ दी और उपसभापति का माइक तोड़ने की कोशिश की। कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा, आप सांसद संजय सिंह और डीएमके सांसद तिरुचि शिवा भी माइक तोड़ने की कोशिश करते नजर आए। इस वजह से मार्शल बुलाने पड़े और सदन की कार्यवाही 15 मिनट रुकी रही। दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर भी हंगामा दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर भी हंगामा हुआ तो स्पीकर ने ध्वनिमत से विधेयक पास कर दिया। राज्यसभा में हंगामे को लेकर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के आवास पर बैठक भी हुई। उधर, उपसभापति के खिलाफ 12 विपक्षी दलों ने अविश्वास प्रस्ताव दिया है, जिस पर 100 लोगों के साइन हैं। शाम को रक्षा मंत्री राजनाथ समेत छह बड़े मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि राज्यसभा में जो हुआ, वह शर्मनाक था।
  • बिहार के लिए आज से शुरू होंगी 20 से ज्यादा नई स्पेशल ट्रेन...जानें आने-जानें की टाइमिंग
    बिहार। कोरोना वायरस संकट के बीच आज 21 सितंबर से देश में कई बदलाव होने जा रहे है. जहां एक तरफ आज से स्कूल खुलेंगे तो वहीं रेलवे के परिचालन में भी कई बदलाव होंगे. आज से भारतीय रेलवे 40 नई ट्रेन शुरू करेगा. इन नई ट्रेनों में 20 से ज्यादा ट्रेन बिहार राज्य से होकर गुजरेंगी. जो यात्री रिजर्वेशन न मिलने की वजह से परेशान थे और यात्रा नहीं कर पा रहे थे वे में कंफर्म टिकट पा सकते हैं. इन ट्रेनों से यात्रा करने के लिए यात्रियों को इस बात का खास ध्यान रखना होगा कि इनमें 10 दिन पहले रिजर्वेशन कराना होगा. इतना ही नहीं यात्रियों को इन स्पेशल ट्रेन में सफर करने के लिए थोड़े ज्यााद पैसे खर्च करने पड़ेंगे. इस नई स्पेशल ट्रेन का किराया हमसफर ट्रेन के बराबर होगा. बता दें कि इन ट्रेनों में फ्लैक्सी फेयर सिस्टम लागू होगा. इसका मतलब यह है कि सीटे घटने के साथ साथ किराए में बढ़ोतरी होती जाएगी. बता दें कि भारतीय रेलवे ने कोरोना काल में ज्यादा भीड़ की वजह से 40 नई रेलगाड़ी चलाने का फैसला लिया है. रेलवे की तरफ से कहा गया है कि यात्री आराम से यात्रा कर सकें और यात्रा के दौरान संक्रमण का डर न हो इसलिए रेलवे आज से 40 नई ट्रेन शुरू करेगा. आज से शुरू हो रही‘क्लोन ट्रेनों’ में से 19 जोड़े हमसफर एक्सप्रेस की रैक चलाएंगे, जिसमें प्रत्येक में 18 कोच होंगे, जबकि एक जोड़ी 22 कोचों के साथ यह दिल्ली-लखनऊ रूट पर चलेगी. अधिकारी ने कहा कि यात्रियों को इन ट्रेनों में आरक्षण 10 दिनों के भीतर करना होगा.
  • Unlock 4 Guidelines : आज से मिलेंगी कई रियायतें...जानें क्या खुलेगा और क्या अब भी रहेगा बंद...
    दिल्ली। देश में जारी कोरोना संकट के बीच 1 सितंबर से अनलॉक 4.0 (Unlock 4.0) की शुरुआत हो चुकी है. कोरोना वायरस महमारी के प्रसार को कम करने के लिए बीते मार्च महीने में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी. इसके बाद चरणबद्ध तरीके से Unlock के माध्यम से देश को एक बार फिर पटरी पर लाने की कवायद जारी है. केंद्र सरकार की तरफ से 29 अगस्त को Unlock 4 को लेकर जारी गाइडलाइंस के अनुसार 21 सितंबर यानी आज से लोगों को कई और रियायतें मिल जाएंगी. अनलॉक-4 के दिशानिर्देशों (Unlock 4 Guidelines) के तहत 21 सितंबर यानी आज से कोरोना संबंधित गाइडलाइंस और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करके धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक, खेल और मनोरंजन से जुड़े तमात तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा सकेंगे. हालांकि इस दौरान 100 से ज्यादा लोगों की इजाजत नहीं होगी. शादी समारोह में अब 100 लोग हो सकेंगे शामिल केंद्र सरकार की नई गाइडलाइंस में शादी समारोह और अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ाई गई है. पहले शादी से सिर्फ 20 लोगों को ही शामिल होने की इजाजत थी, लेकिन अब 100 लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कर समारोह में शामिल हो सकते हैं. इस तरह के कार्यक्रमों में मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना, थर्मल स्कैनिंग और हाथ धोना या सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना जरूरी होगा. ओपन एयर थियेटर खोले जा सकेंगे इसके अलावा आज से ओपन एयर थियेटर भी खोले जा सकेंगे. लेकिन मॉल में स्थित सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर और इसी तरह के स्थान बंद रखे जाएंगे. साथ ही अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा, गृह मंत्रालय द्वारा मंजूर यात्रा को छोड़कर, स्थगित रहेगी. शर्तों के साथ स्कूलों को खोलने की इजाजत! वहीं, आज से 9वीं से 12वीं क्लास तक के छात्रों के लिए स्कूल खोल दिये गए हैं. कई राज्यों ने स्कूल खोले हैं तो वहीं कइयों ने इसे इस महीने के अंतिम तक बंद रखने का फैसला किया है. हालांकि स्कूल जाने के लिए अभिभावकों से लिखित में इजाजत लेने की जरूरत होगी. कंटेन्मेंट जोन में जारी रहेगी सख्ती सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार कंटेन्मेंट ज़ोन्स में नियमों में सख्ती रहेगी. कंटेन्मेंट जोन्स में पहले की तरह ही लॉकडाउन जारी रहेगा. 30 सितंबर तक कंटेनमेंट जोन में किसी तरह की कोई रियायत नहीं दी गई है. वहीं दिशा निर्देशों में अहम यह भी है कि केंद्र ने कहा है कि राज्य सरकारें कंटेनमेंट ज़ोन्स के बाहर अपनी मर्जी से लॉकडाउन नहीं लगा सकती हैं.
  • भिवंडी में तीन मंजिला इमारत ढही...10 की मौत...रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
    ठाणे। महाराष्ट्र के ठाणे जिला के भिवंडी (Bhiwandi) में तीन मंजिला इमारत ढह (Three-storey building collapsed) गई। जिसमें 10 लोगों की मौत (10 People Died) हो गई। जानकारी के मुताबिक अभी भी मलबे में 20 से 25 लोग दबे हुए हैं। मौके पर एनडीआरएफ (NDRF) की टीम पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue operation) चला रही है। स्थानीय लोगों द्वारा 20 लोगों को बचाया गया है। प्रारंभिक सूचना के अनुसार कम से कम 20-25 लोगों के फंसे होने की आशंका है।NDRF की टीम घटनास्थल पर राहत और बचाव अभियान चला रही है। मलबे में दबे लोगों को जिंदा बाहर निकालने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।
  • आज से दौड़ेंगी रेलवे की 40 नई स्पेशल क्लोन ट्रेनें...रूट से लेकर समय तक-जानें सब कुछ
    नई दिल्लीः एक तरफ जहां 10 राज्यों में आज से स्कूल खुल रहे हैं तो वहीं आज से ही रेलवे 40 नई स्पेशल क्लोन ट्रेनें चलाने जा रहा है. ये क्लोन ट्रेनें पहले से चल रही स्पेशल ट्रेनों के अलावा हैं. कुछ ख़ास रूटों पर यात्री टिकटों की ज्यादा मांग को देखते हुए ऐसा किया जा रहा है. ट्रेनें पूरी तरह से रिजर्व-स्टॉपेज सीमित इन रूटों पर रेलवे आज से 20 जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनें चला रहा है. ये क्लोन ट्रेनें पूरी तरह रिज़र्व ट्रेनें हैं और इनके स्टॉपेज भी सीमित हैं यानी जिन स्टेशनों के बीच की ज़्यादा मांग को देखते हुए ये ट्रेनें चलाई जा रही हैं, सिर्फ उन्हीं के बीच ये ट्रेन चलेंगी. क्लोन ट्रेनों का टाइम टेबल 02563 सहरसा-नई दिल्ली 5:15 बजे 02564 नई दिल्ली-सहरसा 17:50 बजे 03391 राजगीर-नई दिल्ली 7:00 बजे 03392 नई दिल्ली-राजगीर 11:00 बजे 02569 दरभंगा-नई दिल्ली 7:00 बजे 02570 नई दिल्ली-दरभंगा 12:15 बजे 02573 मुजफ्फरपुर-दिल्ली 9:40 बजे 02574 दिल्ली-मुजफ्फरपुर 12:50 बजे 03293 राजेंद्र नगर-नई दिल्ली 16:25 बजे 03294 नई दिल्ली-राजेंद्र नगर 13:30 बजे 05485 कटिहार-दिल्ली 16:50 बजे 05486 दिल्ली-कटिहार 5:35 बजे 04651 जयनगर-अमृतसर 6:15 बजे 04652 अमृतसर-जयनगर 10:55 बजे 04059 वाराणसी-नई दिल्ली 17:55 बजे 04060 नई दिल्ली-वाराणसी 17:45 बजे 04055 बलिया-दिल्ली 14:10 बजे 04056 दिल्ली-बलिया 18:00 बजे 04251 लखनऊ-नई दिल्ली 05:30 बजे 04252 नई दिल्ली-लखनऊ 11:25 बजे 02787 सिकंदराबाद-दानापुर 7:30 बजे 02788 दानापुर-सिकंदराबाद 9:00 बजे 06509 बेंगलुरू-दानापुर 8:00 बजे 06510 दानापुर-बेंगलुरु 18:10 बजे 09465 अहमदाबाद-दरभंगा 8:40 बजे 09466 दरभंगा-अहमदाबाद 4:00 बजे 09065 सूरत-छपरा 8:30 बजे 09066 छपरा-सूरत 8:30 बजे 09447 अहमदाबाद-पटना 19:45 बजे 09448 पटना-अहमदाबाद 22:30 बजे क्लोन ट्रेनों में से 19 जोड़े हमसफर एक्सप्रेस की रैक चलाएंगे, जिसमें हर एक में 18 कोच होंगे, जबकि एक जोड़ी 22 कोचों के साथ यह दिल्ली-लखनऊ रूट पर चलेगी. यात्रियों को इन ट्रेनों में रिजर्वेशन 10 दिनों के भीतर करना होगा.
  • राजस्थानः जयपुर समेत 11 जिलों में धारा 144 लगी...बढ़ते कोरोना केस के चलते सीएम गहलोत ने लिया फैसला
    जयपुरः राजस्थान में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए गहलोत सरकार ने जयपुर समेत 11 जिलों में धारा 144 लगा दी हैं. इसके बाद अब किसी भी तरह के धार्मिक या सामाजिक आयोजन पर पाबंदी होगी और पांच से ज़्यादा लोग एक जगह पर जमा नहीं हो सकेंग. ये पाबंदी 31 अक्टूबर तक लागू रहेगी. गहलोत सरकार के नए आदेश के मुताबिक शादी समारोह में ज्यादा से ज्यादा पचास और अंतिम संस्कार में अधिकतम बीस लोग ही शामिल हो सकेंगे. सीएम अशोक गहलोत ने किए सिलसिलेवार ट्वीट सीएम अशोक गहलोत ने आज इस बात की जानकारी देते हुए सिलसिलेवार ट्वीट किए और लोगों को कहा कि जनहित में ये कार्य किया जा रहा है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 'कल से प्रदेश के कई जिलों में धारा-144 लागू हो रही है, यह पब्लिक इंटरेस्ट में किया गया है। मेरी सभी से अपील है कि इसे फॉलो करें। बल प्रदर्शन के बजाय सरकार चाहती है कि इसे मेंटेन करने में पब्लिक आगे बढ़कर कॉपरेट करे। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर यह जनहित के लिए है.शेष प्रदेशवासियों से अपील है वे भी इसे गंभीरता से लें और सतर्क रहें हम बार-बार कह रहे हैं, वरना यह महामारी बहुत तेज गति से फैलती है, इसीलिए 11 जिलों में धारा-144 लगानी पड़ी है। पहले से चल रही अनलॉक गाइडलाइन और प्रतिबंध तो कायम रहेंगे ही, इन्हें 31 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया है। 11 जिले जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, बीकानेर, उदयपुर, सीकर, पाली और नागौर जहाँ पर कोरोना के ज्यादा केसेज़ आने लग गए हैं वहां धारा-144 लगाई गयी है।' आज से शुरू हुआ अनलॉक-5 आज से देश में अनलॉक-5 शुरू हो गया है और 10 राज्यों में स्कूल-कॉलेज खुल रहे हैं. इसी के साथ राजस्थान में भी आज से स्कूल खुल गए हैं. जैसा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के आधार पर राज्य सरकार ने भी दिशा-निर्देश जारी किए हैं और 9वीं से 12वीं कक्षा के स्टूडेंट अभिभावकों की आज्ञा से स्कूल में अध्यापकों के पास जा सकते हैं. हालांकि स्कूलों में नियमित तौर पर कक्षाएं नहीं चलाई जाएंगी.
  • राशिफल 21 सितंबर: वृष राशि और कुंभ राशि वाले गलत आदतों से रहें दूर....सभी राशियों का जानें आज का राशिफल
    Aaj Ka Rashifal: मेष राशि वाले आज हर कार्य को सलीके से करेंगे. जिस कारण आज आपको सफलता प्राप्त होगी. धैर्य के साथ आज कार्यों को करें, परिणाम की चिंता अधिक न करें. वृष राशि वाले आज ऑफिस में सर्तकता से कार्य करें. लापरवाही भारी पड़ सकती है. मिथुन राशि के जातक आज मन पर काबू रखें, दिल और दिमाग का सही संतुलन बनाने का प्रयास करें. मेष- आज के दिन भाग्य पूरी तरह से आपका साथ देगा. कार्य में आ रही अड़चनों से निकलने में सफल रहेंगें. अपनी आवश्यकता अनुसार किसी ज़रूरतमंद की मदद करना चाहिए, किसी व्यक्ति को मीठें का दान करें. ऑफिस के कार्यों को करने के लिए नयी तकनीकों को अपनाना लाभकारी रहेगा. व्यापारिक वर्ग ईवॉलेट का अधिक से अधिक प्रयोग करें, जिससे की लेन-देन की सूची भी बनी रहेगी, जिससे वह नियमों का पालन कर सकेंगे. स्वास्थ्य की दृष्टि से देखें तो सिर में दर्द और आंखों में जलन जैसी समस्या रहने वाली है. परिवार में सुखद वातावरण रहेगा साथ ही मित्रों से बात कर आपको अच्छा लगेगा. वृष- आज के दिन नये सम्बन्धों को लेकर चिंतित रहेंगे. कर्मक्षेत्र में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए अपना पूरा फोकस कार्य पर रखना ही बेहतर होगा. सॉफ्टवेयर कंपनियों में नौकरी करने वालों को प्रोमोशन मिलने की संभावना है. बड़े कारोबारियों को लाभ होता दिखाई दे रहा है, तो वहीं दूसरी ओर आर्थिक मामलों में सजग रहने की आवश्यकता है. विद्यार्थी वर्ग अनावश्यक बातों के लिये अपना समय बर्बाद न करें. पढ़ाई में ज्यादा से ज्यादा ध्यान लगाएं. स्वास्थ्य को लेकर किसी भी तरह से लापरवाही न करें. परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य को लेकर सजग रहते हुए, महामारी को लेकर अलर्ट रहने की सलाह दें. मिथुन- आज के दिन स्वभाव में चंचलता रहेगी लेकिन एक बात का ध्यान रखें, की आपका हल्कापन किसी दूसरों के दिल न दुख पहुंचाएं. सोशल मीडिया में गलत मैसेज से भ्रमित न हो नहीं तो यह मैसेज आपको मानसिक तौर पर परेशान कर सकता है. ऑफिशियल कार्य में आपका परफेक्शन अहंकार का रूप न लेने पाए इस पर ध्यान दें. सहयोगियों पर बेवजह का हुक्म न दिखाएं. छोटा कारोबार करने वालों को लाभ मिलने की संभावना दिखाई दे रही है. जिन लोगों को हृदय से संबंधित दिक्कत है उनको आज सचेत रहने की आवश्यकता है. घर में कोई आपसे कार्य कहें तो उसे करने में आलस्य न करें. कर्क- आज के दिन आपकी बातों में कर्कशता आ सकती है इसलिए अपनी बातों को सौम्यता से कहने की कोशिश करें. नौकरी पेशा से जुड़े लोग काम के सिलसिले में लोगों से चर्चा भी कर सकते हैं. साथ ही वरिष्ठ अधिकारी आपके कार्यों की प्रशंसा करेंगे. जो लोग घर से ही व्यापार करते हैं उनके लिए समय उपयुक्त है, ऑनलाइन व्यापार की योजना बनानी चाहिए. विद्यार्थियों को विद्यालय की ओर से ऑनलाइन शिक्षा लेते समय सजग रहना होगा. स्वास्थ्य में पुराने रोगों के प्रति अलर्ट रहें. नियमित रूप से दवा का सेवन करते रहें. परिवार के सदस्यों पर तीखी वाणी का प्रयोग न करें, अन्यथा विवाद हो सकता है. सिहं- आज के दिन आप मानसिक रूप से मजबूत होंगे. अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए सदैव बुद्धि का प्रयोग करें. जैसा की आपका मूल स्वभाव है. अधिक पैसा कमाने के चक्कर में बड़े निवेशों से बचें. ऑफिशियल कार्य सतर्क होकर करें. कुछ नया काम करने की कोशिश में गलती हो सकती है. कारोबार बढ़ाने के लिए धन की कमी रहेगी इसलिए कारोबार बढ़ाने के लिए कुछ दिन रूक जाना ही बेहतर है. हेल्थ में गिर कर चोट लग सकती है, उम्रदराज महिलाएं को अधिक सचेत रहने की आवश्यकता है. घर का माहौल अनुकूल रहेगा. संतान यदि आपसे दूर रहती है तो उसको लेकर आप चिंतित हो सकते हैं. कन्या- आज के दिन ज्ञान को लेकर विशेष तौर पर सजग रहें. जिनकी शिक्षा अधूरी रह गयी है उनको इसे पूरा करने की प्लानिंग करना चाहिए. मन में भटकाव की स्थिति रह सकती है. लोगों से जिस भाव की अपेक्षा रहेगी वो भी प्राप्त नहीं होगा. आजीविका के क्षेत्र में कार्यों को पूर्ण करने में कई तरह की बाधा उत्पन्न हो सकती है. व्यापारियों को बेवजह के विवादों से बचना हितकर साबित होगा. शारीरिक थकान रह सकती है, जिसके कारण खुद को बीमार सा महसूस करेगें, इसलिए रात को जल्दी सोने की व्यवस्था करनी चाहिए. घर की वस्तुओं में अनावश्यक खर्चे हो सकते हैं, इस ओर सचेत रहें. तुला- आज का दिन आपकी सरलता बिगड़े हुए कार्यों को तुरन्त बना देगी. ऑफिस के कार्य हेतु बॉस से कॉल पर संपर्क बनाए रखें. कारोबार में कुछ अच्छे लाभ मिल सकते हैं, साथ ही आर्थिक पक्ष में लिए गए निर्णय सफल होगें. विद्यार्थियों को यह समय पढ़ाई में विशेष ध्यान देना चाहिए. हेल्थ के देखते हुए आपको सलाह दी जाती है कि वर्तमान समय में हल्का और सुपाच्चय भोजन ही करें, अन्यथा एसिडीटी की प्रॉब्लम आपको परेशान कर सकती है. जीवनसाथी से विवाद करने से बचना होगा, तो वहीं दूसरी ओर पारिवारिक उलझनों को सुलझाने की कोशिश करें. घर के छोटों के साथ समय व्यतीत करना उत्तम रहेगा. वृश्चिक- आज के दिन स्वयं में प्रसन्न को महसूस करेंगे. सरकार के नियमों का पालन करते हुए बेवजह घर से बाहर न निकले. ऑफिशियल स्थितियों की बात करें तो कार्यों में टेक्नॉलजी का प्रयोग करना लाभकारी रहेगा, साथ ही नेटवर्किंग से जुड़े लोगों के लिये दिन नये अवसर लेकर आएगा. जो लोग फाइनेंस कंपनियों में काम करते हैं उनके टारगेट पूरे होंगे. यदि आप पेशे से डॉक्टर है तो दूसरों के साथ-साथ अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें. जितना हो सकें लोगों की मदद करें. सेहत में छोटी सी भी गिरावट को गंभीरता से लें. परिवार से दूर रहने वालों को घर की चिंता परेशान कर सकती है. धनु- आज के दिन आध्यात्म के प्रति मन में अधिक झुकाव रहने वाला है संभव हो तो महादेव की मूर्ति का श्रृंगार करें. ऑफिशियल कार्य में अनुकूलता रहने के योग बन रहे हैं साथ ही अपनी बातों व कार्य दोनों पर आज अडिग रहना होगा. कार्यों को लेकर कुछ महत्वपूर्ण फैसले लेने पड़ सकते हैं. कारोबार के सिलसिले में नयी कंपनी से संपर्क बनाना होगा जिससे की आपको आर्थिक लाभ मिल सके. स्वास्थ्य सामान्य रहने वाला है. मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखना आवश्यक है. परिवार में सभी लोगों के प्रति आपका सौम्य व्यवहार सबके मन को जीत लेगा, खासकर पिता के साथ ताल-मेल नहीं बिगड़ना चाहिए. मकर- आज के दिन अहम के टकराव से बचना चाहिए, ग्रहों की चाल विवाद करने वाली हो सकती है. मन में सामाजिक कार्य को लेकर भावना रहेगी. दूसरों की मदद करने में सफल रहेंगें, साथ ही लोग भी आपके कार्यों की प्रशंसा भी करेंगे. यदि आप सहयोगियों को लीड करते हैं तो उनके कार्यों को रिचेक करें, उन्हें कार्य करने की टेक्निक को समझाएं. व्यापारियों को अपने कार्य के दायरे को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए जिससे वह व्यवसाय में आ रही आर्थिक परेशानियों से लड़ पाने में सक्षम हो सकें. आलस्य को दूर भगाना है तभी रोगों भी दूर भगा सकेंगे. जीवनसाथी की सहायता करें. कुम्भ- आज के दिन मानसिक रूप से सकारात्मक रूख को अपनाने का प्रयास करना होगा, तो वहीं दूसरी ओर बेवजह के खर्चों से बचकर रहना है. चल रही मुश्किल की घड़ी में समाजिक तौर पर ज़रूरतमंदों और अपनों का साथ दें, तभी इस मुश्किल समय से निजात पा सकते है. जो लोग जनरल स्टोर का व्यापार करते हैं उनको लाभ मिलने के आसार दिखाई दे रहे है. गर्भवती महिलाओं को सचेत रहना होगा, यदि स्वास्थ्य ठीक न चल रहा हो तो डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें. दांपत्य जीवन में चल रहें तनाव में कमी आएगी. भाई-बहन से जुड़ी कोई अच्छी खबर मिलने की संभावना बनी हुई है. मीन- आज के दिन आत्मविश्वास की अधिकता रहेगी जिससे की आपके रुके हुये सभी कार्य पूरे होते नजर आएंगे. ऑफिशिल स्थितियों की बात करें तो स्वयं पर भरोसा रखें और धैर्यवान होकर कार्य करते रहें, तो वहीं दूसरी ओर कार्यक्षेत्र में आपके पुराने रिलेशन आज काम आने वाले है. कारोबार को सुधारने के लिए महत्वपूर्ण फैसले लेने पड़ सकते हैं. व्यापारी सरकार के बताए नियमों का पालन करना होगा. हेल्थ में पेट के प्रति भी आपको अलर्ट रहना होगा. कमर दर्द और खिचाव के चलते परेशान हो सकते हैं. परिवार का माहौल काफी अच्छा रहने वाला है. परिवार के सभी लोगों के साथ स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेंगे.
  • UPSC ने IES और ISS 2020 परीक्षाओं का शेड्यूल किया जारी… इस तारीख से होगी परीक्षा… देखे पूरा शेड्यूल….
    नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने इंडियन इकोनॉमिक सर्विसेज एग्जामिनेशन 2020 और इंडियन स्टैटिस्टिकल सर्विसेज एग्जामिनेशन 2020 का टाइम टेबल जारी कर दिया है। परीक्षाएं 16 अक्टूबर, 17 अक्टूबर और 18 अक्टूबर को कई शिफ्टों में होंगी। परीक्षार्थी पूरा टाइम टेबल upsc.gov.in पर जाकर चेक कर सकते हैं। परीक्षा शेड्यूल 16 अक्टूबर – जनरल इंग्लिश (डिस्क्रिप्टिव) – सुबह नौ से बारह जनरल स्टडीज (डिस्क्रिप्टिव) – दोपहर दो से पांच 17 अक्टूबर – जनरल इकोनॉमिक्स – I (डिस्क्रिप्टिव) – सुबह नौ से बारह स्टैटिस्टिक्स – I (ऑब्जेक्टिव) – सुबह नौ से बारह जनरल इकोनॉमिक्स – II (डिस्क्रिप्टिव) – दोपहर दो से पांच स्टैटिस्टिक्स – II (ऑब्जेक्टिव) – दोपहर दो से चार 18 अक्टूबर – जनरल इकोनॉमिक्स – III (डिस्क्रिप्टिव) – सुबह नौ से बारह स्टैटिस्टिक्स – III (डिस्क्रिप्टिव) – सुबह नौ से बारह इंडियन इकोनॉमिक्स – (डिस्क्रिप्टिव) – दोपहर दो से पांच स्टैटिस्टिक्स – II (डिस्क्रिप्टिव) – दोपहर दो से पांच इंडियन इकोनॉमिक सर्विस के अंतर्गत तकरीबन 15 वैकेंसीज भरी जानी है और इंडियन स्टैटिस्टिकल सर्विस के अंतर्गत करीब 47. यूपीएससी आईईएस परीक्षा पैटर्न – सामान्य अंग्रेजी – 100 अंक सामान्य अध्ययन – 100 अंक सामान्य अर्थशास्त्र- I – 200 अंक सामान्य अर्थशास्त्र- II – 200 अंक सामान्य अर्थशास्त्र- III – 200 अंक भारतीय अर्थशास्त्र – 200 अंक यूपीएससी आईएसएस परीक्षा क प्रारूप – सामान्य अंग्रेजी – 100 अंक सामान्य अध्ययन – 100 अंक सांख्यिकी- I (ऑब्जेक्टिव) – 200 अंक सांख्यिकी- II (ऑब्जेक्टिव) – 200 अंक सांख्यिकी- III (डिस्क्रिप्टिव) – 200 अंक सांख्यिकी- IV (डिस्क्रिप्टिव) – 200 अंक
  • इस मूर्तिकार ने बनाई सुशांत सिंह राजपूत की ऐसी प्रतिमा...जिसे देख हर कोई हो रहा हैरान
    कोलकाता। सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई में बांद्रा स्थित अपने घर पर फांसी पर लटकते मिले थे। अचानक हुई इस घटना से पूरा देश स्तब्ध था। कहा जा रहा था कि सुशांत ने आत्महत्या कर ली। लेकिन कुछ दिनों बाद ही उनकी मौत को लेकर विवाद हो गया। घरवालों ने सुशांद की हत्या का आरोप लगाया। सुशांत की मौत के मामले में अब सीबीआई जांच कर रही है कि उन्होंने आत्महत्या की, उन्हें आत्महत्या के लिए उकसाया गया या उनकी हत्या हुई। पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रहने वाले मूर्तिकार सुकांतो रॉय ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की एक प्रतिमा बनाई है। यह प्रतिमा खूब चर्चा में है। मोम की बनी यह प्रतिमा देखने में हूबहू सुशांत जैसी ही है। इतना ही नहीं। इसे देखने पर लगता है मानों सुशांत खुद खड़े हैं। सुशांत की प्रतिमा बनाकर दी श्रद्धांजलि मूर्तिकार सुकांतो रे ने बताया कि उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत की यह मूर्ति बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने बताया कि वह सुशांत को बहुत पसंद करते थे। उनकी अचानक मौत से सुकांतों बहुत दुखी हुए। वह सुशांत को श्रद्धांजलि देना चाहते थे इसलिए कला को जरिया बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि देने का प्रयास किया है। घरवाले चाहेंगे तो उनके लिए भी बनाएंगे मूर्ति सुकांतों ने बताया, ‘यह प्रतिमा मैंने अपने संग्रहालय के लिए बनाई है। हालांकि, अगर उनके परिवार ने सुशांत की प्रतिमा के लिए अनुरोध किया है तो मैं एक नई प्रतिमा बनाऊंगा।’ लंदन के मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम की तर्ज पर बनाया म्यूजियम सुकांतों ने गुरुवार को सुशांत की मोम वाली प्रतिमा का अनावरण किया। सुकांतों ने बताया कि लंदन के मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम की तर्ज पर ही उन्होंने अपने घर में म्यूजियम बना रखा है, जहां पर वह मोम का प्रतिमाएं बनाकर रखते हैं। इसी म्यूजियम में वह सुशांत की प्रतिमा रखेगें। कोई भी देख सकता है सुशांत की मूर्ति मूर्तिकार ने बताया कि उन्होंने गुरुवार को मूर्ति का अनावरण करके उसे म्यूजियम में रख दिया है। आम जनता के लिए म्यूजियम खुला रहेगा। कोई भी आकर सुशांत की प्रतिमा को देख सकता है और उसके साथ तस्वीर खिंचवा सकता है। म्यूजियम में सुशांत के अलावा हैं इनकी भी मूर्तियां सुकांतों के घर पर बने म्यूजियम में इससे पहले वह कई और प्रसिद्ध व्यक्तियों की प्रतिमाएं बना चुके हैं। उन्होंने बताया कि उनके म्यूजियम में अमिताभ बच्चन, भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, रविंद्र नाथ टैगोर की प्रतिमाएं भी हैं।
  • रामविलास पासवान ICU में भर्ती...बेटे चिराग ने दी जानकारी...कहा-बिहार में सीटों का बंटवारा अभी नहीं
    दिल्ली। चिराग पासवान ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी के संभावित प्रत्याशियों के नाम एक भावुक पत्र लिखा है. पत्र में चिराग पासवान ने फिलहाल बिहार नहीं आ पाने की अपनी विवशता की जानकारी दी है. चिराग पासवान ने लिखा है कि उनके पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान दिल्ली के एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं और उनका ज्यादा समय उन्हीं की देखभाल में बीत रहा है. चिराग का कहना है कि उनके पिता ने उन्हें कई बार बिहार जाने की सलाह दी है लेकिन उनकी तबीयत को देखते हुए ऐसा कर पाना मुमकिन नहीं हो रहा है. रामविलास पासवान 24 अगस्त से दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं शुरुआत में वह रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल में भर्ती हुए थे लेकिन उनकी तबीयत बिगड़ गई है और अब वो आईसीयू में भर्ती हैं. चिराग पासवान के मुताबिक़ राम विलास पासवान बीमारी से लड़ रहे हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि रामविलास पासवान जल्द स्वस्थ होकर सबके बीच आएंगे. सीटों के बंटवारे पर अबतक कोई चर्चा नहीं हुई अपने खुले पत्र में चिराग पासवान ने बिहार में राजनीति को लेकर भी बात रखी है. लोजपा अध्यक्ष ने यह साफ किया है कि अब तक बिहार में एनडीए के साथियों से सीटों के तालमेल और बिहार के भविष्य को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है. एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. सात निश्चय एनडीए का एजेंडा नहीं चिराग पासवान के पत्र से यह भी साफ हो रहा है कि अब तक नीतीश कुमार को लेकर उनकी तल्खी में कोई कमी नहीं आई है. अपने खुले पत्र में चिराग ने लिखा है कि फिलहाल बिहार सरकार जिस सात निश्चय कार्यक्रम पर काम कर रही है वह एनडीए का एजेंडा नहीं है. चिराग का कहना है कि 2015 चुनाव में सात निश्चय कार्यक्रम महागठबंधन का एजेंडा था ना कि बीजेपी और एलजेपी का . उस वक्त महागठबंधन में जेडीयू के साथ आरजेडी और कांग्रेस थी.
  • कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में विपक्ष का हंगामा...उप-सभापति का तोड़ा माइक
    नई दिल्ली। राज्यसभा में कृषि बिल पर चर्चा के दौरान सदन में विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया गया। इतना ही नहीं विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने वेल पर आकर नारेबाजी की और उप-सभापति के पास कागज के पुर्जे उछाले। इस दौरान उप-सभापति के पास मौजूद मार्शलों ने उनको रोका तो हल्की झड़प हो गई। झड़प के दौरान ही उपसभापति के सामने वाला माइक भी टूट गया।टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन (TMC MP Derek O’Brien) ने उपसभापति के सामने रूल बुक फाड़ दी। डेरेक ओ ब्रायन और तृणमूल कांग्रेस के बाकी सांसदों ने आसन के पास जाकर रूल बुक दिखाने की कोशिश की और उसको फाड़ा। Rajya Sabha राज्यसभा में कांग्रेस सांसद अहमद पटेल ने कहां, (भाजपा) वैसे तो पढ़ने लिखने में थोड़ा कम ही ये लोग जानते हैं लेकिन पहली बार घोषणापत्र में दिन और रात एक करके उसमें से कुछ चीज निकाली और अपने अध्यादेश से तुलना की कोशिश की। हमारा घोषणापत्र घोड़ा है लेकिन गधे के साथ इन्होंने तुलना करने की कोशिश की।