National News
  • Black Fungus Infection: कोरोना मरीजों में घातक ब्लैक फंगस इंफेक्शन के मामले दिखे, जानिए क्या हैं लक्षण और इलाज

    Black Fungus Infection in Delhi: कोरोना से संक्रमित या कोरोना से सही हुए मरीजों में ब्लैक फंगस इंफेक्शन का मामला सामने आया है. पिछले साल दिसंबर इस तरह के कुछ मामले सामने आए थे. अब दिल्ली में कुछ मामले देखे गए हैं. 

    Black fungus infections- कोरोना के कारण कई अनदेखी, अनजानी चीजें हो रही हैं. पिछले कुछ दिनों में Covid-19 patient में Black fungus infections के मामले देखे गए हैं. पिछले साल दिसंबर में इस तरह के कुछ मामले देखे गए थे जिसमें मरीजों की आंख की रोशनी चली गई थी. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के मुताबिक यह बीमारी दुर्लभ और जोखिमपूर्ण है. यह फफूंद यानी फंगस के समूह द्वारा होती है जिसे mucormycetes कहा जाता है. आमतौर हमारे वातावरण में फफूंद का यह समूह पाया जाता है. 

     

    क्या है Black fungus infections 
    कोरोना से संक्रमित मरीज या कोरोना से स्वस्थ्य हुए मरीज में Black fungus infections देखा गया है. Black fungus infections आमतौर पर उन लोगों में होता है जिनका शरीर किसी बीमारी से लड़ने में कमजोर होता है. वह आदमी अक्सर दवाई लेता है और उसमें कई तरह की हेल्थ प्रोब्लम होती है. 

     

    क्या है इसके लक्षण
    इस बीमारी के बाद चेहरे में सून्नापन आने लगता है. इसके अलावा एक तरफ की नाक भी बंद होने लगती है. आंखों में दर्द और सूजन की शिकायतें आने लगती है.

     

    कौन Black fungus से संक्रमित हो सकता है
    सर गंगाराम अस्पताल के ENT विभाग में सर्जन डॉ मनीष मुंजाल ने बताया कि हमने इस घातक बीमारी को फिर से होते हुए देखा है. यह कोविड-19 के कारण होती है. पिछले दो दिनों में mucormycisis के 6 केसेज आए हैं. पिछले साल इस बीमारी के कारण कई लोगों की जान गई थी और कई की आंखों की रोशनी चली गई थी. इसके अलावा कुछ लोगों को नाक और जबड़े को हटाना पड़ा. ENT विभाग के ही डॉ अजय स्वरूप ने बताया कि डायबीटिज से पीड़ित कोरोना के मरीजों को स्टेरॉयड दिया जाता है. ऐसे मरीजों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन का जोखिम रहता है. इसके अलावा कोविड से संक्रमित वीक इम्यूनिटी वाले मरीजों में भी इस बीमारी का जोखिम है. 

     

    क्या यह बीमारी घातक है
    अगर लंबे समय तक इसका इलाज नहीं कराया जाए तो यह घातक हो सकता है. पिछले साल अहमदाबाद में इस तरह के 5 मरीज मिले थे. इनमें से या तो ये कोरोना संक्रमित थे या कोरोना से ठीक हो गए थे. इनमें से दो लोगों की मौत हो गई जबकि दो लोगों की आंखों की रोशनी चली गई.

     

    इसका इलाज क्या है
    माना जाता है कि इस बीमारी से आधे लोगों की मौत हो जाती है. हालांकि अगर शुरुआती दौर में बीमारी की पहचान कर ली जाए तो रिजल्ट बेहतर आता है. डॉ मुंजाल बताते हैं कि नाक में बाधा, आंख और गाल में सूजन और काली पपड़ी जैसे लक्षण दिखे तो बायोप्सी से इंफेक्शन के बारे में पता लगाया जा सकता है. अगर शुरुआती दौर में एंटीफंगल थेरेपी शुरू कर दी जाए तो मरीज की जान बच सकती है.  

  • पीएम मोदी के क्षेत्र वाराणसी में सड़कों पर दम तोड़ रहे मरीज, योगी के जिले में दिन-रात जल रही चिताएं, लखनऊ में 10 दिनों में 1500 ज्यादा अंतिम संस्कार
    नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में स्थिति भयावह हो चुकी है। खासकर उत्तर प्रदेश में कोरोना से मरने वालों का आकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। यहां दिन रात चिताएं जलाई जा रही है। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में लोग सड़कों पर दम तोड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक के जिलों में हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं। मरीजों को अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे। जिन्हें मिल रहे हैं वे ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ रहे हैं। राज्य के लगभग हर अस्पताल में बड़ी संख्या में वेंटिलेटर का संकट है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी है। यहां हालात ये हैं कि सभी अस्पताल कोरोना मरीजों से भर गए हैं। अब नए मरीजों को आसानी से बेड मिलना मुश्किल हो गया है। अस्पतालों में बेड के साथ वेंटिलेटर और ऑक्सीजन का संकट भी गहराता जा रहा है। लोग दवाइयों के लिए भी भटक रहे हैं। सरकारी आंकड़ों में यहां कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या हर दिन 10 से 20 होती है, लेकिन इससे उलट श्मशान घाटों और कब्रिस्तानों में लाशों की लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं। घाट पर अंतिम संस्कार कराने के लिए वेटिंग लिस्ट तैयार हो रही है। शहर के अंदर के कब्रिस्तान भी फुल हो चुके हैं। अब लोग शहर के बाहरी इलाकों में शवों को दफन कर रहे हैं।
  • Noida Coronavirus: नोएडा 16 मार्च से अबतक 230 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित, दो की मौत

    गौतमबुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय में तैनात 230 पुलिसकर्मी 16 मार्च से अबतक कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जिनमें से 48 ठीक हो चुके हैं.

    गौतमबुद्ध नगर जिला पुलिस आयुक्तालय से संबद्ध 230 पुलिसकर्मी 16 मार्च से सात मई के बीच संक्रमित हुए हैं जिनमें अधिकारी से लेकर आरक्षी तक शामिल हैं. वहीं एक उपनिरीक्षक और आरक्षी की संक्रमण की वजह से मौत हुई है. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय/ लाइन मीनाक्षी कात्यायन ने शुक्रवार को बताया कि गौतमबुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय में तैनात 230 पुलिसकर्मी 16 मार्च से अबतक कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जिनमें से 48 ठीक हो चुके हैं.

     

    मीनाक्षी कात्यायन ने बताया कि संक्रमितों में कई थानाध्यक्ष, निरीक्षक, उप-निरीक्षक, कांस्टेबल व हेड कांस्टेबल, अधिकारी और उनके परिजन शामिल हैं. मीनाक्षी कात्यायन ने बताया कि संक्रमितों के संपर्क में आए कुछ पुलिसकर्मियों को क्वारंटीन में भेजा गया है. पुलिस उपायुक्त ने बताया कि कोविड-19 से संक्रमित सभी पुलिसकर्मियों की स्थिति ठीक है.

     

    'हार्ट अटैक' से हुई कोरोना संक्रमित 78 प्रतिशत मरीजों की मौत

     

    वहीं दूसरी तरफ नोएडा के डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना वायरस की दूसरी लहर में शहर में संक्रमित 78 प्रतिशत मरीजों की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई. सेक्टर-39 स्थित कोविड-19 अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रेणु अग्रवाल ने बताया कि नोएडा में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से हुई मौतों का विश्लेषण किया गया और पाया गया कि ज्यादातर मरीजों को दिल का दौरा पड़ा.

     

    डॉ. रेणु अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से मरीजों के खून में थक्के बन जाते हैं. इससे 'हार्ट अटैक' की आशंका बढ़ जाती है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि गौतम बुद्ध नगर जिले में कोविड-19 के संक्रमण की वजह से गुरुवार तक 285 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से 78 प्रतिशत मरीजों की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई.

     

    पिछले तीन हफ्ते में करीब 175 लोगों की मौत

     

    नोएडा में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है. पिछले तीन हफ्ते में करीब 175 लोगों की मौत हो चुकी है. अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 की चपेट में आए सभी मरीजों को सांस लेने में गंभीर परेशानी हुई और उन्हें निमोनिया भी हुआ. सांस लेने में परेशानी होने और ह्रदय पर जोर पड़ने से संक्रमित मरीजों को दिल का दौरा पड़ने की आशंका रहती है.

  • शारिरिक संबंध बनाते पति को आया ​नींद, पत्नी की हो गई मौत, रोमांस के लिए किया था ये कांड
    ब्रिटेन: दुनियाभर में अलग-अलग तरह के लोग रहते हैं और उनकी पसंद भी अजीबोगरीब होती है। ऐसा ही कुछ सेक्स के मामले में भी देखने को मिलता है। लोग सेक्स में ज्यादा आनंद पाने के लिए कुछ ऐसा कर जाते हैं, जिससे उनकी जान तक चली जाती है। ऐसा ही एक मामला ब्रिटेन से सामने आया है, जहां रोमांटिक एडवेंचर करने के चलते महिला की जान चली गई। मामले में युवक को दोषी मानते हुए कोर्ट ने 6 साल की सजा सुनाई है। नॉर्थ वेल्स लाइव की रिपोर्ट के अनुसार मार्टिन और उनकी पत्नी क्लेयर व्हाइट के साथ एक लक्जरी लॉज में गए थे। दोनों अपने इस ट्रीप को यादगार बनाने के साथ ही एडवेंचर करने के इरादे से आए थे। एडवेंचर करने के इरादे से दोनों पति-पत्नी ने शराब और ड्रग्स भी लिए। वहीं, वाइल्ड सेक्स करने के लिए उन्होंने अपने साथ ग्ल्वज, रेड टेप, व्हाइट टेप जैसी चीजें भी रखा था। बताया गया कि एडवेंचर सेक्स करने के लिए मार्टिन ने अपनी पत्नी को बांध दिया और मुंह पर मोजे ठूस दिए। लेकिन मार्टिन ने बहुत ज्यादा शराब पी रखी थी, जिसके चलते सेक्स करने के दौरान उसे निंद आ गई और वह सो गया। वहीं, उसकी पत्नी क्लेयर बंधी ही रह गई। साथ ही मुंह में मोजा ठूसे जाने के चलते दम घूटने से उसकी मौत हो गई। हालांकि ये साफ नहीं है कि मार्टिन ने क्लेयर के मुंह पर टेप भी बांधा हुआ था या नहीं। वहीं, जब सुबह मार्टिन की निंद खुली तो उसने अपनी पत्नी को मृत अवस्था में पाया। इसके बाद मार्टिन पुलिस को सूचना देने के बजाए वहां से फरार हो गया। द सन की रिपोर्ट के अनुसार, इस घटना के बाद महिला का परिवार काफी शॉक में चले गए थे। क्लेयर की मां जूली डेविस ने कहा कि वे अपनी बेटी के जाने के बाद पिछले कई दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रही हैं और वे इस बात को लेकर काफी ज्यादा परेशान हैं कि अब वे अपनी बेटी की आवाज कभी नहीं सुन पाएंगी।
  • ऑक्सीजन सप्लाई पर SC ने केंद्र को फटकारा, कहा- दिल्ली को रोज 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दें, हमें कड़े फैसले लेने के लिए मजबूर न करें

    दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाई है. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि आप हमें कड़े फैसले के लिए मजबूर न करें.

    दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई के मुद्दे पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को जमकर फटकार लगाई. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आप हमें कड़े फैसले के लिए मजबूर न करें. ऑक्सीजन के मुद्दे पर दिल्ली सरकार ने कोर्ट को बताया था कि आदेश के बावजूद केंद्र सरकार हर दिन हमें 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं कर पा रही है.

     

    इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को 700 मिट्रिक टन ऑक्सीजन स्पालाई करने का आदेश दिया था. अपने आदेश में कोर्ट ने यह भी कहा था कि उसे यह सप्लाई तब तक देना होगा जबतक कि आदेश में कोई बदलाव नहीं होता है.

     

    सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ''केंद्र को दिल्ली को हर दिन 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन देना होगा.'' जजों ने कहा, ''मामले में आदेश लिखवाया जा चुका है. इसे वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा. पहले जब आदेश दिया गया था, वह सिर्फ 1 दिन के लिए नहीं था. केंद्र ऐसी स्थिति न बनाए कि हमें सख्त रुख अपनाना पड़े.''

  • Covid Vaccine का टीका लगवाने वाले लोगों को इतने दिन तक नहीं पीनी चाहिए शराब! जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ
    नई दिल्ली : देश में कोरोना का कहर जारी है. आए दिन यहां 3 लाख से ज्यादा नए केस सामने आ रहे है. इसी सबके बीच कई तरह के अफवाहें सुनने को मिलती है. ऐसा ही एक और मामला सामने आया है. जहां शराब पीने वालों के मन में इस बात की भी जिज्ञासा है कि कोरोना वैक्सीन लेने से पहले या बाद में कब तक शराब नहीं पीनी चाहिए? कोविड पर पंजाब की विशेषज्ञ समिति के प्रमुख डॉ. केके तलवार ने इसे लेकर जानकारी दी. डॉक्टर तलवार ने कहा कि वैज्ञानिक पर्यवेक्षण के आधार पर यह अनुशंसा की जाती है कि लोगों को कोविड रोधी टीका (Covid Vaccine) लगवाने से 2 दिन पहले और 2 दिन बाद तक शराब के सेवन से बचना चाहिए. इस दौरान डॉक्टर तलवार ने शराब और कोरोना से जुड़ी अफवाहों पर भी बात की. डॉ. केके तलवार ने बुधवार को लोगों से सोशल मीडिया पर चल रही उन अफवाहों पर ध्यान न देने को कहा जिनके मुताबिक शराब कोरोना वायरस (Does alcohol protect against coronavirus?) से सुरक्षा प्रदान कर सकती है. उन्होंने कहा कि ज्यादा शराब पीने से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है और इससे उनके संक्रमित होने का खतरा बढ़ सकता है. तलवार ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया पर पढ़ा कि शराब का सेवन वायरस के खिलाफ सुरक्षा प्रदान कर सकता है. उन्होंने कहा, ‘इस तरह की गलत धारणा से गंभीर समस्या पैदा हो सकती है.’ उन्होंने कहा, ‘अगर लोग ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करेंगे तो उनके संक्रमित होने का खतरा ज्यादा रहता है.’ तलवार ने बताया कि यह सुझाव गलत है कि शराब के सेवन से कोरोना वायरस मर सकता है. उन्होंने हालांकि कहा कि बहुत कम मात्रा में शराब के सेवन से कोई नुकसान नहीं है. उधर, देश में गुरुवार यानी 6 मई को कोरोना के अब तक के सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए. देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 4,12262 नए मामले सामने हैं और इस दौरान 3980 लोगों की जान चली गई. मौतों की संख्या भी अबतक की सबसे ज्यादा है. इसके साथ देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,10,77,410 हो गई है. वहीं जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 2,30,168 हो गया है.
  • BIG BREAKING : प्रदेश में 24 मई तक लगा संपूर्ण लॉकडाउन, सीएम ने किया ऐलान, जानें क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद
    नईदिल्ली: अथक प्रयासों के बाद भी देश में कोरोना संक्रमण काबू में नहीं हो रहा है। आए दिन रिकॉर्ड तोड़ मरीजों की पहचान हो रही है। वहीं मौतों के आंकड़ों ने रोजाना नया रिकॉर्ड बना रहा है। बिगड़ते हालातों को देखते हुए देश के कई राज्यों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। वहीं सीमाएं को भी सील कर दिया गया है। इसी बीच खबर आ रही है कि राजस्थान में भी अब संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। सीएम अशोक गहलोत ने 10 मई सुबह 5 बजे से 24 मई की सुबह तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। इस दौरान सभी प्रकार के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। विवाह से संबंधित किसी भी प्रकार के समारोह, डीजे, बारात एवं निकासी तथा प्रीतिभोज आदि की अनुमति 31 मई तक नहीं होगी। विवाह घर पर ही अथवा कोर्ट मैरिज के रूप में ही करने की अनुमति होगी, जिसमें केवल 11 व्यक्ति ही अनुमत होंगे। इसकी सूचना वेब पोर्टल पर देनी होगी। राजस्थान में संपूर्ण लॉकडाउन घोषित दरअसल, राजस्थान में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए गहलोत सरकार ने राज्य में गुरुवार को जन अनुशासन पखवाड़ा (लॉकडाउन) बढ़ाने का ऐलान किया। ये 10 मई सुबह 5 से 24 मई सुबह 5 बजे तक रहेगा। इस दौरान राजस्थान में शादियों पर रोक लगाने साथ ही इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों पर पूरी तरह रोक रहेगी। सीएम अशोक गहलोत ने कैबिनेट बैठक के बाद संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की। जानें क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद? जन अनुशासन पखवारा के नियमों के तहत, राज्य में विवाह से संबंधित किसी भी प्रकार के समारोह, डीजे, बारात एवं निकासी तथा प्रीतिभोज आदि की अनुमति 31 मई तक नहीं होगी। विवाह घर पर ही अथवा कोर्ट मैरिज के रूप में ही करने की अनुमति होगी, जिसमें केवल 11 व्यक्ति ही शामिल होंगे, जिसकी सूचना वेब पोर्टल Covidinfo. rajasthan.gov.in पर देनी होगी। एडवांस बुकिंग राशि लौटानी होगी इसके अलावा मैरिज गार्डन, मैरिज हॉल एवं होटल परिसर शादी समारोह के लिए बंद रहेंगे. विवाह स्थल मालिकों, टेंट व्यवसायियों, कैटरिंग संचालकों और बैंड-बाजा वालों आदि को एडवांस बुकिंग राशि आयोजनकर्ता को लौटानी होगी या बाद में आयोजन करने पर एडजस्ट करनी होगी। साथ ही किसी भी प्रकार के सामूहिक भोज की अनुमति नहीं होगी। ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों के संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं, इसे देखते हुए मनरेगा के कार्य स्थगित रहेंगे। इस संबंध में ग्रामीण विकास विभाग विस्तृत दिशा-निर्देश जारी करेगा। सभी प्रकार के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे जन अनुशासन पखवाड़ा में सभी प्रकार के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। लोगों से अपील की गई है कि पूजा-अर्चना, इबादत, प्रार्थना घर पर रहकर ही करें। उधर, अस्पताल में भर्ती कोविड पॉजिटिव रोगी की देखभाल के लिए अटेन्डेन्ट के संबंध में चिकित्सा विभाग अलग से गाइडलाइन जारी करेगा। मेडिकल सेवाओं के अतिरिक्त सभी प्रकार के निजी एवं सरकारी परिवहन के साधन जैसे- बस, जीप आदि पूरी तरह बंद रहेंगे। बारात के आवागमन के लिए बस, ऑटो, टैम्पो, ट्रेक्टर, जीप आदि की अनुमति नहीं होगी।उधर, राजस्थान में ऑक्सीजन की किल्लत हो रही है। जयपुर के कई निजी अस्पतालों ने अब कोरोना मरीज़ों को भर्ती नहीं करने का नोटिस चस्पा कर दिया है। हालांकि, ऑक्सीजन की किल्लत से कोटा को राहत मिली है। क्योंकि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने राजस्थान को आवंटित ऑक्सीजन कोटा के अतिरिक्त 28 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के टैंकर मंगवाकर कोटा में हालात को संभाला है। कोटा के लिए कल जामनगर से ऑक्सीजन ट्रेन भी पहुंचेगी। वहीं, कोरोना महामारी की रोकथाम में वित्तीय सहभागिता निभाने के लिए ‘फ्रंटलाइन वॉरियर’ के रूप में राजस्थान के आईपीएस एवं आरपीएस एसोशिएशन की ओर से 3 दिन के वेतन दान करने का फैसला लिया गया। अखिल भारतीय पुलिस सेवा तथा राजस्थान पुलिस सेवा के सभी अधिकारियों द्वारा अपने 3 दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करवाने का निर्णय लिया है।
  • Coronavirus: इन दो राज्यों से दिल्ली आने वाले लोगों को 14 दिन रहना होगा क्वारंटीन, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन
    नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus in Delhi) का कहर जारी है। इस बीच दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और तेलंगाना (Telangana) से दिल्ली आ रहे लोगों के लिए 14 दिन के लिए क्वारंटीन रहना जरूरी होगा। दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) ने इसे लेकर आदेश जारी किया है।दरअसल आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कोरोनावायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है। इन दोनों राज्यों में कोविड 19 का नया स्ट्रेन N440K मिला है जो ज्यादा तेजी से फैलता है।
  • Horoscope Today 07 May 2021: वृष, कर्क, सिंह और मकर राशि वाले भूलकर भी न करें ये काम,12 राशियों का जानें, आज का राशिफल
    Aaj Ka Rashifal, Horoscope Today 07 May 2021:पंचांग के अनुसार 07 मई 2021 शुक्रवार को वैशाख मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि है. इस एकादशी की तिथि को वरुथिनी एकादशी भी कहा जाता है. आज पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र है. चंद्रमा कुंभ राशि में विराजमान रहेगा. राशिफल Horoscope Today-राशिफल मेष- आज के दिन आलस्य कम होगा, तो वहीं आप काफी एक्टिव नजर आएंगे. कलात्मक और सरल बोली से दिल जीत सकेंगे. नकारात्मक चीजों को खुद से दूर रखें. ऑफिस में काम का भार बढ़ेगा, जिसे पूरा करने के लिए ऊर्जा के साथ ईमानदारी भी दिखानी होगी. व्यापारी वर्ग को मानसिक रूप से तनाव भारी पड़ेगा. निःसंदेह स्थितियां विषम है, लेकिन धैर्य के साथ उनका सामना करेंगे तो नकारात्मकता को पीछे धकेलने में सफल होंगे. जो युवा प्रतियोगिता की तैयारी कर रहें, घर में ही अभ्यास जारी रखें. अच्छे प्राणायाम और योग अभ्यास की आदत बनाएं. जीवनसाथी से विवाद चल रहा है तो इसे ठीक कर लें. वृष- आज अपनी क्षमता और योग्यता के बल पर बिगड़ी स्थितियों को संभालने में सफल रहेंगे. मन अशांत महसूस कर रहा है तो भजन कीर्तन और पाठ-पूजा अवश्य करें. प्रयास हो कि कुछ मीठा बनाकर देवी को भोग लगाएं. मां व मां तुल्य महिला के सम्मान में कोई कमी न आने दें. चुनौतियां थोड़ा उत्साह कम कर सकती हैं, लेकिन आत्मबल में कमी न आने दें. वर्तमान में कुछ स्थितियां विषम है, जिसमें धैर्य की परीक्षा भी होगी. व्यापार को लेकर चिंताएं बढ़ सकती हैं, धैर्य रखें, जल्द लाभ मिलना शुरू होगा. सेहत को लेकर मुंह में चोट लगने की आशंका है. पारिवारिक संबंधों को धैर्य रखें. मिथुन- आज के दिन निवेश के लिए ठोस प्लानिंग करनी होगी. आपका खर्च बढ़ सकता है. मगर भविष्य की जरूरत को देखते हुए निवेश पर फोकस करना होगा. करियर में कार्यकुशलता साबित करने के लिए कड़ी मेहनत पर फोकस करें. उच्चाधिकारियों की फेवरेट बुक में आना जरूरी है. पारम्परिक परिधान के व्यापारियों के लिए दिन लाभप्रद होगा. स्वास्थ्य को लेकर पैरों का दर्द और गिरकर चोटिल होने की आशंका है. वैश्विक महामारी देखते हुए, बेवजह यात्रा से बचें. माता-पिता के साथ समय व्यतीत करें और स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें. मित्रों और अपने आस-पास के लोगों पर क्रोधित न हों, अन्य पारिवारिक स्थितियां ऊर्जावान रहेगी. कर्क - आज का दिन व्यस्तता से भरा रहेगा. लेकिन जो भी कार्य करेंगे, उसमें सफलता मिल सकती है. नई योजनाओं की जरूरत पड़ सकती है. हो सकता है कि बॉस के निर्देशन में अधिक परिश्रम करना पड़े. वर्तमान में आर्थिक गिरावट को देखकर व्यापार से शिफ्ट होने के विचार को त्याग दें. युवा जिन्हें रोल मॉडल मानते हैं, उनके अच्छे व्यक्तित्व को आत्मसात करें. प्रतियोगिता की तैयारी करने वाले रणनीति पर पुनः विचार करें. सांस फूलना जैसी दिक्कतों का सामना करते हैं तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें और बताएं जा रहे नियमों का पालन करें. संतान का मार्गदर्शन करना इस दौरान सर्वोत्तम रहेगा. सिंह- आज के दिन सजगता से बिताने की जरूरत है, लापरवाही नुकसानदेह हो सकती है. जो भी नियम बताए जा रहे हैं उनका कठोरता के साथ पालन करें. जो लोग फील्ड वर्क पर हैं वह स्वास्थ्य संबंधित मामलों को लेकर सजग रहें. ऑफिशियल काम में अधिक मेहनत करनी पड़ेगी. महिला बॉस या सहकर्मी से अच्छा बर्ताव करें. बिजनेस से जुड़े लोगों को शुभ समाचार प्राप्त होने की संभावनाएं बन रही हैं. घर में यदि कोई सदस्य बीमार है तो आपको विशेष सजगता बरतनी होगी, मास्क का प्रयोग करें, अन्याथ चपेट में आ सकते हैं. परिवार में बिगड़े संबंध अब मधुर होंगे, बड़े भाई के सहयोग से लाभ होगा. कन्या- आज के दिन आलस्य में आकर निश्चित होकर नहीं बैठना है, जो कार्य पहले आसानी से जाते थे उन्हें अब करने के लिए बेहतर प्रबंधन जरूरी होगा. ऑफिस में कोई सहयोगी या अधीनस्थ नहीं आता है तो बढ़-चढ़कर कार्यों को पूरा करें. अचानक वर्क लोड बढ़ेगा, इसलिए मानसिक तौर पर तैयार रहें. व्यापार करने वालों को बहुत संभलकर स्टॉक डंप करना चाहिए, क्योंकि आर्थिक नुकसान होने की आशंका है. युवा वर्ग पेंडिंग कार्यों पर फोकस बढ़ाएं. हेल्थ में अनावश्यक भय शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में गिरावट लाएगा, मेडिटेशन करना लाभकारी रहेगा. किसी वृद्ध व्यक्ति की सेवा करने का अवसर मिले तो उसे हाथ से न जाने दें. तुला- आज के दिन हो सकता है आप ऐसे वचनों का प्रयोग कर दें, जिससे सामने वाले को आघात चोट पहुंचे. वर्तमान में पुराने निवेश संभलकर खर्च करें. सहयोगी से विवाद की आशंका है, इसके अतिरिक्त उच्चाधिकारियों के साथ भी उच्च स्वर से बात करना नुकसानदायक हो सकता है. खाद्य-पदार्थ का व्यापार करने वालों को पिछले दिनों के मुताबिक इस बार आर्थिक लाभ की उम्मीद है. सेहत में ठंडी चीजों के सेवन से बचें. गला खराब व जुकाम की चपेट में आ सकते हैं. परिवार से कोई खुशखबरी प्राप्त हो सकती है. कुल में वृद्धि की भी संभावना है. जिससे दिल और दिमाग में आनंद का संचार होगा. वृश्चिक- आज के दिन घर पर रह कर आराम को महत्व दें, क्योंकि मानसिक रूप से खुद को फ्री रखना है, ऐसा करने से आत्मबल मजबूत होगा. कर्मक्षेत्र की बात करें तो उच्चाधिकारियों के साथ गलत बिहेवियर न करें, जिससे वह नाराज हो जाए. वहीं जो भी काम आपको सौंपे जाएं, उनको धीरे-धीरे पूरा करते चलें. जनरल और कॉस्मेटिक का व्यापार करने वालों को अच्छा मुनाफा प्राप्त होने की उम्मीद है. सेहत को लेकर सजग रहना होगा. दिनचर्या में प्राणायाम योग को नियमित रखें. जो लोग बीमार हैं उनको उपचार में लापरवाही नहीं करनी चाहिए. घर में सभी सदस्यों को स्वास्थ्य संबंधित मामलों में सजग रहने की सलाह दें. धनु- आज के दिन मदद के लिए पूर्ण रूप से सजग रहना है, क्योंकि जरूरतमंद लोग मदद के लिए आ सकते हैं. वर्तमान में कठिन समय देखते हुए बहुत जरूरत पड़ने पर ही कर्ज लें. कर्ज के माध्यम से तनाव बढ़ा सकता है. कार्य टीम के साथ मिलकर करेंगे तो जरूर पूरा होगा. दूसरों के प्रति समर्पण की भावना रखनी होगी. प्रतिफल में दूसरों से भी पूरा सपोर्ट मिलेगा. व्यापारिक राजनीति में भी सक्रिय रहें. व्यापार में स्थितियां लगभग कल जैसी रहेंगी. मोटापे को कम करने के लिए घर पर ही शारीरिक एक्टिविटी करते रहें और गुनगुने पानी का सेवन करें. परिवार में शोक समाचार मिलने की आशंका है. मकर- आज के दिन आलस्य भारी पड़ सकता है. सुख-सुविधाओं के प्रति रुझान अधिक हो. कर्मठता को महत्व देना उत्तम रहेगा, ऑफिशियल कार्य समय पर पूरा करने पर फोकस करें. कार्यों के प्रति लेट-लतीफी नौकरी में कठिनाई पैदा कर सकता है. वरिष्ठ और उच्चाधिकारियों के बताए गए कार्य को पहले करना होगा. सरकारी नियम-कानून का कठोरता से पालन करना चाहिए. व्यापारी टैक्स को समय समय से जमा कर दें, नहीं तो बड़ी पेनाल्टी भरनी पड़ सकती है. स्वास्थ्य की दृष्टि से पेट का ध्यान रखते हुए बहुत गरिष्ठ भोजन से बचें, तो वहीं गैस्ट्रिक समस्या भी रहेगी. परिवार के अच्छे स्वास्थ्य के लिए घर पर हवन करें. कुम्भ- आज के दिन जितनी अच्छी तरह समय का सदुपयोग करेंगे, उतना ही पेंडिंग कार्यों को कम कर पाएंगे. बड़ा सामान खरीदने के लिए समय उत्तम रहेगा. जिनकी नौकरी संबंधी समस्याएं चल रही हैं, उन्हें नए संस्थान के लिए आवेदन करना सार्थक रहेगा. बदलाव का समय है. ट्रांसपोर्ट के व्यापार में शुभ समाचार प्राप्त होंगे. उच्च रक्तचाप के रोगी तनाव से दूर रहें. शारीरिक भारीपन सा महसूस होगा. ऐसी स्थिति में हल्का व्यायाम और भरपूर आराम करना लाभप्रद होगा. गर्भवती महिलाओं को तनाव लेने से बचना चाहिए साथ ही खान-पान भी अच्छा रखें. सदस्यों के साथ तालमेल बनाने की जरूरत है. घर में बाथरूम बेहद साफ-सुथरा रखना चाहिए. मीन- आज के दिन बहुप्रतीक्षित काम नहीं बनने की सूरत तनाव नहीं लेना चाहिए. भविष्य की कार्य योजनाओं को अच्छी तरह अंजाम दें और धैर्य रखना सीखें. सामाजिक क्षेत्र से जुड़े लोग विवादों में न फंसे, नेटवर्क पर असर पड़ेगा. वर्क फ्रॉम होम पर रहने वाले काम-काज में लापरवाही न करें, टीमवर्क के साथ व्यवस्था बनाएं. बिजनेस में थोड़ा तेजी रहेगी. ऑनलाइन विकल्पों पर फोकस बढ़ाएं. खुदरा व्यापारी थोड़ा सावधानी रखें, अनावश्यक स्टॉक जुटाना नुकसानदायक हो सकता है. विषाक्त ग्रह रोग दे सकते हैं, ऐसे में हाइजेनिक रहें और अनावश्यक यात्रा न करें. घर में हर्षित भाव के साथ एक दूसरे का मनोबल बढ़ाएं. रिश्तेदारों और मित्रों से कॉल कर हालचाल लें.
  • राशिफल 7 मई: कैसा रहेगा आज का दिन? जानें क्या कहती है आपकी राशि
    मेष 1/12 मेष- स्वास्थ्य और मन का ध्यान रखें, धन के खर्चे बढ़ सकते हैं, शिव जी को जल अर्पित करें. वृषभ 2/12 वृषभ- सेहत में सुधार होगा, पारिवारिक प्रेम बढ़ जाएगा, संतान की समस्याएं कम होंगी. मिथुन 3/12 मिथुन- करियर में बड़ी सफलता के संकेत हैं, पारिवारिक जिम्मेदारियां बढ़ सकती हैं, रुके हुए काम पूरे होंगे. कर्क 4/12 कर्क- मानसिक चिंताएं समाप्त होंगी, प्रेम संबंधों की शुरुआत हो सकती है, स्वास्थ्य अच्छा हो जाएगा. सिंह 5/12 सिंह- घर की जिम्मेदारियां बढ़ेंगी, धन का खर्च परेशान करेगा, चोट चपेट से बचाव करें. कन्या 6/12 कन्या- जिम्मेदारियां बढ़ सकती हैं, धन की स्थिति अच्छी रहेगी, सेहत में सुधार होगा. तुला 7/12 तुला- करियर की स्थिति में सुधार होगा, स्वास्थ्य पर ध्यान दें, बेवजह के धन खर्च से बचें. वृश्चिक 8/12 वृश्चिक- धन की समस्या दूर होंगी, शांति और धैर्य बनाए रखें, व्यर्थ की चिंता न करें. धनु 9/12 धनु- स्वास्थ्य का ध्यान रखें, वाद विवाद से बचाव करें, यात्रा से बचें. मकर 10/12 मकर- परिवार की स्थितियों में सुधार होगा, जिम्मेदारियां बढ़ेंगी, यात्रा में सावधानी रखें. कुंभ 11/12 कुंभ- स्वास्थ्य और मन अच्छा रहेगा, आर्थिक रूप से मजबूती आएगी, पूजा उपासना में लापरवाही न करें. मीन 12/12 मीन- करियर की समस्याएं दूर होंगी, धन लाभ के योग हैं, रुके हुए काम पूरा होंगे.
  • Aaj Ka Panchang: पंचांग 7 मई 2021, जानें शुभ मुहूर्त, राहु काल और ग्रह-नक्षत्र की चाल
    पंचांग 7 मई 2021 ,शुक्रवार विक्रम संवत - 2078, आनन्द शक सम्वत - 1943, प्लव पूर्णिमांत - बैशाख अमांत - चैत्र हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, बैशाख कृष्ण पक्ष एकादशी तिथि दिन है. सूर्य मेष राशि में रहेंगे और चन्द्रमा मई 07, 05:55 AM तक कुंभ राशि उपरांत मीन राशि में संचरण करेंगे. आज का पंचांग बैशाख कृष्ण पक्ष एकादशी वरूथिनी एकादशी वल्लभाचार्य जयंती नक्षत्र: पूर्वभाद्रपदा आज का दिशाशूल: पश्चिम दिशा । आज का राहुकाल: 10:46 AM – 12:23 PM सूर्य और चंद्रमा का समय सूर्योदय - 5:53 AM सूर्यास्त - 6:53 PM चन्द्रोदय - May 07 3:22 AM चन्द्रास्त - May 07 3:20 PM शुभ काल अभिजीत मुहूर्त - 11:57 AM – 12:49 PM अमृत काल - कोई नहीं ब्रह्म मुहूर्त - 04:17 AM – 05:05 AM योग वैधृति - मई 06 07:21 PM – 07 मई 07:30 PM विष्कुम्भ - 07 मई 07:30 PM – 08 मई 07:59 PM
  • बड़ी खबर : राज्य सरकार का बड़ा फैसला, अब होम आइसोलेशन वाले मरीजों को घर पर ऑक्सीजन पहुंचाएगी सरकार, करना होगा ये काम
    नई दिल्ली : कोरोना (CORONA) के कोहराम के बीच दिल्ली सरकार एक्शन मोड में है। होम आइसोलेशन (Home isolation) में रह रहो कोरोना मरीजों को लेकर केजरीवाल सरकार (Kejriwal government) ने बड़ा कमद उठाया है। कोरोना मरीजों के लिए दिल्ली सरकार आपात स्थिति में घर पर ही ऑक्सीजन पहुंचाएगी। होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर सुचारू रूप से मिल सके इसके लिए दिल्ली सरकार ने एक सिस्टम विकसित किया है। सरकार के इस कदम से अस्तपतालों (HOSPITAL) में भीड़ कम हो सकती है। होम आइसोलेशन में रह रहे जिन मरीजों के लिए ऑक्सीजन चाहिए, वो दिल्ली सरकार के पोर्टल (https://delhi.gov.in) पर आवेदन दे सकते हैं. आवेदन के साथ फोटो, आधार कार्ड और कोरोना संक्रमित रिपोर्ट भी अपलोड करना पड़ेगा. अगर मरीज ने सीटी स्कैन करवाया है तो उसकी रिपोर्ट भी पोर्टल पर अपलोड करें.