National News
  • आज से बदल गए कॉलिंग के नियम, अब फोन घुमाने के लिए ये करना होगा जरूरी
    नई दिल्ली । आज से कॉलिंग को लेकर एक नया बदलाव होने जा रहा है। अब से लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए शून्य याने ‘ 0’ लगाना होगा। आपको बता दें कि इसके लिए भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण ने इसके लिए सिफारिश की थी। जिसके बाद इसे अब जाकर दूरसंचार विभाग ने इसे स्वीकार किया है। ‘0 ‘ लगाने से यह फायदा होगा कि टेलिकॉम कंपनियों को अधिक बार नंबर बनाने की सुविधा मिल जाएगी। दूरसंचार विभाग ने दिया यह निर्देश जानकारी अनुसार 15 जनवरी 2021 से दूरसंचार विभाग ने एक निर्देश के तहत किसी भी लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए पहले 0 डायल करना पड़ेगा। आपको बता दें कि रिलायंस जिओ ने भी अपने फिक्स्ड लाइन उपभोक्ताओं को इस बात की जानकारी दे दी है। साथ ही दूरसंचार ने नवंबर में कहा था कि ग्राहकों को 15 जनवरी 2021 से लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए पहले शून्य डायल करना पड़ेगा।
  • 1 फरवरी को सुबह 11 बजे पेश होगा बजट, जानिए इस बार के बजट में क्या-क्या बदल गया
    नई दिल्ली। 2021 1 फरवरी को पेश होगा। राष्ट्रपति शुक्रवार यानी 29 जनवरी को सुबह 11.00 बजे संसद के दोनों सदनों को संबोधित करेंगे। केंद्रीय बजट सोमवार सुबह 11:00 बजे पेश किया जाएगा। पिछले कुछ वर्षों से सरकार अलग से रेल बजट पेश नहीं कर रही है। अब रेल बजट भी आम बजट के साथ पेश किया जा रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और उनकी टीम के सामने इस बार का बजट पेश करना एक चुनौती भरा काम है, क्योंकि ऐसे समय में जब कोरोना काल चल रहा हो और इसने अर्थव्यवस्था को सुस्त कर दिया हो तो लोगों को ध्यान में रखते हुए एक बेहतरीन बजट पेश करना होगा। कोरोना महामारी की वजह से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की इकोनॉमी में 23.9 फीसद का जबरदस्त संकुचन दर्ज किया गया। मालूम हो कि 26 नवंबर, 1947 के बाद पहली बार बजट प्रतियां नहीं छापी जाएंगी। नॉर्थ ब्लॉक में बजट दस्तावेजों के प्रिंटिंग के लिए प्रेस है, जहां 100 से अधिक ऐसे अधिकारी हैं जो बजट पर काम करते हैं और ये सभी वहां तब तक रहते हैं जब तक बजट दस्तावेजों को सील नहीं किया जाता और उन्हें जब तक भेजा न जाये, तब तक रहते हैं। लेकिन कोविड -19 को देखते हुए सरकार ने इस बार बजट प्रतियां नहीं छापने का फैसला किया है। पहले ऐसी खबरें आईं थी कि इस बार पारंपरिक हलवा समारोह जो बजट की आधिकारिक छपाई से जुड़ा है वह भी नहीं होगा। हालांकि, वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि पारंपरिक हलवा समारोह संसद में बजट की प्रस्तुति से 10 दिन पहले परंपरा के अनुसार किया जाएगा। ANI ने अपने ट्वीट में कहा, ‘वित्त मंत्रालय ने उन रिपोर्टों का खंडन किया है कि जिसमें कहा जा रहा था कि इस साल पारंपरिक हलवा समारोह नहीं किया जाएगा। संसद में बजट की प्रस्तुति से 10 दिन पहले परंपरा के साथ यह कार्यक्रम होगा।
  • खत्म नहीं हो रही ममता की मुश्किलें, TMC के एक और सांसद ने पकड़ी बगावत की राह...16 जनवरी को लेंगी बड़ा फैसला
    नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल (West Bengal Elections) में इस साल चुनाव होने हैं। बंगाल में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख करीब आ रही है, वैसे-वैसे सियासी पारा भी तेजी से बढ़ती जा रहा है। एक तरफ जहां बंगाल में ममता बनर्जी की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कई नेता उनका साथ छोड़ रहे है, साथ ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थम रहे है। ऐसे में सूबे में भाजपा के बढ़ते जनाधार ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। इसी बीच बंगाल से एक और बड़ी खबर सामने आ रही है। जिससे ममता बनर्जी को बड़ा झटका लग सकता है। दरअसल तृणमूल कांग्रेस (TMC) की एक और सांसद पार्टी को अलविदा कह सकती है। बता दें कि ममता के करीबी रहे शुभेंदु अधिकारी समेत कई तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेताओं उनका साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए है। दरअसल टीएमसी सांसद और अभिनेत्री शताब्‍दी रॉय (TMC MP Satabdi Roy) ने एक फेसबुक पोस्‍ट के जरिए संकेत दिया है कि ‘पार्टी में कुछ लोग उन्‍हें नीचा दिखाने में लगे हैं’। अपने राजनीतिक करियर के बारे में शताब्‍दी बड़ा फैसला ले सकती हैं, इसके लिए उन्‍होंने 16 जनवरी दोपहर 2 बजे का समय भी तय किया है। इतना ही नहीं शताब्दी रॉय के भाजपा में जाने की अटकलें भी तेज हो गई हैं। बता दें कि शताब्‍दी रॉय साल 2009 से बीरभूमि से सांसद है।
  • किसान आंदोलन 51वें दिन भी जारी, आज सरकार संग होगी नौवें दौर की बातचीत
    नई दिल्ली। कृषि कानूनों (Farmers Law) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmer Protests) शुक्रवार को भी जारी है। इस प्रदर्शन को आज 51 दिन हो गए हैं। किसानों के प्रदर्शन को 50 दिन से ज्यादा हो गए हैं। फिर भी मामला सुलझता नजर नहीं आ रहा हैं। किसान दिल्ली-यूपी-हरियाणा के बॉर्डर पर अभी डटे हुए हैं। जहां पूरा उत्तर भारत सर्दी का सितम झेल रहा है। ऐसे में किसान कड़ाके की ठंड के बीच खुले में अपनी मांगों को लेकर दिल्ली से सटी सीमाओं पर जमे हुए हैं। farmer protest2 वही, आज किसानों और सरकार की आज नौवें दौर की बातचीत होगी। जिसमें सभी को हल निकलने की उम्मीद नज आ रही है। बता दें कि आज दोपहर 12 बजे किसानों और सरकार के बीच 9वें राउंड की बातचीत होगी। सबकी निगाहें विज्ञान भवन पर होंगी। बड़ी बात ये है कि ये बातचीत किसान कानूनों पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पहली बार हो रही है। बता दें कि अब तक सरकार और किसानों में हुई 8वें दौर की बातचीत बेनतीजा रही है। आपको बता दें कि किसान आंदोलन को लेकर बनाई गई सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यीय कमेटी से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व राज्यसभा सांसद भूपिंदर सिंह मान ने खुद को अलग कर लिया है। केंद्र सरकार के साथ होने वाली 9वें दौर की वार्ता के लिए किसान नेता सिंघु बॉर्डर से विज्ञान भवन के लिए रवाना हुए।
  • क्या यूपी में सपा-बसपा मिलकर लड़ेंगे चुनाव, अपने जन्मदिन पर मायावती ने किया बड़ा ऐलान
    नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में साल 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे देखते हुए सभी राजनीतिक दलों ने अपनी चुनावी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने अपने जन्मदिन के मौके पर यूपी-उत्‍तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है। गौरतलब है कि साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में यूपी में समाजवादी पार्टी और बसपा ने एक साथ मिलकर चुनाव लड़ा था लेकिन दोनों ही दलों को एक होने के बाद भी करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए मायावती ने यूपी-उत्‍तराखंड में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया। मायावती ने कहा है कि अगले विधानसभा चुनाव में बीएसपी किसी से अलायंस नहीं करेगी। मायावती का कहना है कि हमें गठबंधन से नुकसान होता है। मायावती ने मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी अकेले अपने बलबूते पर चुनाव लड़ेगी और अपनी सरकार बनाएगी।
  • Army Day 2021: सेना दिवस पर राष्ट्रपति-पीएम मोदी ने जवानों को किया सलाम, लिखा ये खास मैसेज
    नई दिल्ली। 15 जनवरी का दिन इंडियन आर्मी के लिए बेहद ही खास है। दरअसल इस दिन भारतीय थल सेना आर्मी डे (Army Day 2021) के रूप में मनाती है। भारतीय सेना शुक्रवार को अपना 73वां स्थापना दिवस मना रही है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi), रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh), केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने देश के पराक्रमी सैनिकों और उनके परिजनों को हार्दिक बधाई दी। बता दें कि साल 1949 में आज ही के दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल केएम करियप्पा (KM Cariappa) भारतीय सेना के कमांडर इन चीफ बने थे। इसीलिए हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • आज से नए संसद का निर्माणकार्य शुरू, पुराना संसद भवन बनेगा… पढ़ें पूरी खबर
    नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी में आज से नए संसद भवन (New Parliament Building) का काम शुरू हो रहा है. इसके निर्माण में 865 करोड़ रुपए की लगात आएगी. अहमदाबाद के आर्किटेक्ट बिमल पटेल ने इसका मैप तैयार किया है. वहीं नई संसद बनने के बाद पुराने भवन को म्यूजियम में तब्दील किया जाएगा. करीब 100 साल बाद नया संसद भवन बनने जा रहा है. संसद की नई इमारत बनाने का कॉन्ट्रैक्ट टाटा (Tata Projects Ltd) को मिला है. नई संसद पार्लियामेंट हाउस स्टेट के प्लॉट नंबर 118 पर बनाई जाएगी. प्रोजेक्ट के तहत नई संसद के अलावा इंडिया गेट के आसपास 10 इमारतें और बनेंगी, जिनमें 51 मंत्रालयों के दफ्तर होंगे.
  • Budget 2021: 1 फरवरी को पेश होगा आम बजट, संसद का बजट सत्र 29 जनवरी से प्रारंभ
    नई दिल्ली। देशभर में कोरोनावायरस ने जिस तरह का कोहराम मचाया उसकी वजह से कई संस्थाओं को अभी तक शुरू नहीं किया जा सका है। इसी बीच संसद का शीतकालीन सत्र भी टाल दिया गया था। लेकिन अब संसद का बजट सत्र जनवरी के महीने में ही शुरू होनेवाला है और इसके लिए आधिकारिक घोषणा कर दी गई है। मिल रही सूचना के अनुसार संसद का बजट सत्र अब 29 जनवरी से शुरू होगा और इस बार भी आम बजट 1 फरवरी को पेश किया जाएगा। तय कार्यक्रम के अनुसार 29 जनवरी 2021 को सुबह 11.00 बजे संसद के दोनों सदनों को संबोधित करने के साथ इस बजट सत्र का शुभारंभ हो जाएगा। हर बार की तरह इस बार भी संसद में रेल बजट आम बजट का ही हिस्सा होगा।
  • किसान आंदोलन पर आई बड़ी खबर, SC की कमेटी से अलग हुए भूपिंदर सिंह मान, बताया ये कारण
    नई दिल्ली। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों का आंदोलन आज 50वें दिन में प्रवेश कर गया है। कड़ाके की सर्दी में हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं। बता दें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मसले पर सुनवाई करते हुए कृषि कानूनों को अपने अगले आदेश तक लागू करने पर रोक लगा दी। इसके अलावा कोर्ट ने इस मसले को सुलझाने के लिए एक चार सदस्यीय समिति का गठन किया था। इस बीच किसान आंदोलन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है दरअसल किसान आंदोलन को लेकर बनाई गई सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यीय कमेटी से भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व राज्यसभा सांसद भूपिंदर सिंह मान (Bhupinder Singh Mann) ने खुद को अलग कर लिया है। इसकी जानकारी उन्होंने ट्विटर के जरिए दी है।
  • कनाडा: पति के गले में पट्टा डालकर सड़क पर घूमने निकली महिला, लगा 3000 डॉलर का जुर्माना, वजह जानकार हो जाएंगे हैरान

    कनाडा के क्यूबेक शहर में अभी लॉकडाउन लागू है. गाइडलाइन्स के अनुसार, अपने पालतू कुत्ते को घुमाने या किसी ज़रूरी काम से बाहर जाने की परमिशन है. इसी का फायदा उठाते हुए महिला अपने पति के गले में कुत्ते का पट्टा बंधाकर सड़क पर निकल गई.

    दुनियाभर में कोरोना का कहर जारी है. वहीं कई देशों में अब भी लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. लोगों का अपने घरों से बाहर निकलना मना है लेकिन फिर भी कुछ अलग अलग जुगाड़ करने में जुटे हैं. ऐसा ही एक मामला कनाडा के क्यूबेक शहर का है. क्यूबेक में एक महिला अपने पति के गले में कुत्ते का पट्टा डालकर बाहर घूमने निकल गई. इस मामले को सुनकर लोग हैरान हो रहे हैं

     

    दरअसल, कनाडा के क्यूबेक शहर में अभी लॉकडाउन लागू है. गाइडलाइन्स के अनुसार, अपने पालतू कुत्ते को घुमाने या किसी ज़रूरी काम से बाहर जाने की परमिशन है. इसी का फायदा उठाते हुए महिला अपने पति के गले में कुत्ते का पट्टा बंधाकर सड़क पर निकल गई. वहीं, इस दृश्य को देखने वाले लोग भी यकीन नहीं कर पा रहे थे कि ऐसा कुछ हो सकता है.

     

    पुलिस ने लगाया जुर्माना 

     

    महिला से जब पूछा गया कि वो ऐसा क्यों कर रही हैं, तो उसने कहा, "पालतू जानवरों को घुमाने पर पाबंदी नहीं लगाई गई है." महिला ने आगे कहा, "मैं गाइडलाइन्स को फॉलो कर रही हूं और अपने पालतू कुत्ते को सड़क पर घुमाने लाई हूं." खबरों के अनुसार, लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने पर पुलिस ने महिला और उसके पति पर 3000 डॉलर का जुर्माना लगाया है.

     

    सोशल मीडिया पर बना चर्चा का विषय 

     

    महिला द्वारा किए गए इस काम को लेकर सोशल मीडिया पर लोग जमकर बातें कर रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, "पति हो तो ऐसा हो, जो अपनी पत्नी की हर बात मानता हो, जो अपनी पत्नी के लिए कुछ भी कर सकता हो. एक और यूजर ने लिखा, "कमाल की तरकीब है. इसमें नियम तोड़ने जैसा कुछ भी नहीं." वहीं, एक और यूजर ने मज़ाकिया अंदाज में लिखा, "वाह! क्या जोड़ी है."

     

    ये भी पढ़ें :-

     

    Republic Day: बांग्लादेश सेना की 122 सदस्य की टुकड़ी दिल्ली पहुंची, गणतंत्र दिवस परेड में लेगी हिस्सा

     

    ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने चीन को ठहराया कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार

     
  • Delhi Weather : दिल्ली में सर्दी का सितम जारी, आज दर्ज किया गया 2 डिग्री तामपान, कोहरे से विजिबिलिटी कम
    नई दिल्ली। दिल्ली में कड़ाके की ठंड (Cold) पड़ रही है। सर्दी का सितम अपने जोरो पर है। कड़ाके की ठंड के साथ देश की राजधानी में घना कोहरा (Fogg) छाया रहा। पूरे उत्तर भारत सर्दी का सितम जारी है। दिल्ली में कोहरे की वजह से विजिबिलिटी भी कम रही। जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। गुरुवार को सुबह दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई पालम इलाके में सुबह 6.2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया, इसके अलावा सफदरजंग में 2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। 1 जनवरी के बाद ये पहली बार है जब दिल्ली में तापमान इतना नीचे गया। बता दें कि 1 जनवरी 2021 को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग की माने अगले दो से तीन दिन तक इसी तरह का मौसम बना रहेगा।वहीं, तापमान में गिरावट भी आ सकती है।
  • BJP में शामिल हुए सेवानिवृत्त IAS अधिकारी अरविंद शर्मा, कई सालों तक PM मोदी के साथ कर चुके हैं काम
    नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी अरविंद शर्मा (Arvind Sharma) ने गुरुवार को लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सदस्यता ग्रहण कर ली। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें सदस्यता ग्रहण कराई। इस दौरान उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर, गोविंद शुक्ला, कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान भी मौजूद रहे। आपको बता दें कि अरविंद शर्मा गुजरात कैडर के 1988 बैच के आईएएस अधिकारी रहे हैं। उन्होंने करीब 20 सालों तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम किया है। अरविंद शर्मा, गुजरात में नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री रहते 2001 से 2013 के बीच सीएम कार्यालय में भी रहे। इसके बाद नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने तो अरविंद शर्मा भी PMO आ गए थे। पार्टी में शामिल होने के बाद अरविंद शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने की खुशी है। हमारे देश में राजनीतिक दल बहुत हैं लेकिन भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है। मैं पिछड़े जिले और गांव का हूं। मुझ जैसे साधारण व्यक्ति को जिसकी कोई राजनीतिक पृष्ठभूमि नहीं है उसे भाजपा ही इतना बड़ा मुकाम दे सकती है। उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। मैं प्रधानमंत्री और भाजपा की उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा।