State News
  • रायपुर: ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने छत्तीसगढ़ में जल्द बनेगी ग्रामीण उद्योग नीति: मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में आरंग विधानसभा के ग्राम भानसोज पहुंचे

    क्षेत्र के विकास के लिए की अनेक घोषणाएं

    चंदखुरी में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का होगा निर्माण
    भानसोज में खुलेगी बैंक की शाखा
    मंदिर हसौद के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का होगा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नयन

    भानसोज नहर से सण्डी-कुकरा मार्ग का होगा निर्माण
    शासकीय हाई स्कूल भानसोज में बनेंगे अतिरिक्त कक्ष
    ग्राम घुमराभाठा से आरंग पहुंच मार्ग का होगा चौड़ीकरण
    गोंडी में हाईस्कूल भवन निर्माण और ग्राम परसकोल माध्यमिक शाला के हाईस्कूल में उन्नयन की घोषणा

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि गौठानों में बन रहे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में आय मूलक गतिविधियों का अधिक से अधिक संचालन किया जाएगा। जिससे सभी को रोजगार मिलेगा। इसके लिए राज्य की नई औद्योगिक नीति की तर्ज पर जल्द ही ग्रामीण उद्योग नीति बनाई जाएगी। इससे गांव की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। मुख्यमंत्री आज रायपुर जिले के आरंग विधानसभा के ग्राम भानसोज में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात के दौरान ग्रामीणों से रू-ब-रू चर्चा करते हुए ऋण माफी, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, गौठानों में संचालित आयमूलक गतिविधियों, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, हाट बाजार क्लीनिक योजना और सार्वजनिक वितरण प्रणाली की मैदानी स्थिति की जानकारी ली।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठानों में विकसित किए जा रहे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में युवाओं को छोटे-छोटे ग्रामोद्योग प्रारंभ करने के लिए जमीन, बिजली, पानी, सड़क जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। जिससे युवा स्वावलंबन की राह पर आगे बढ़ सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़िया संस्कृति को आगे बढ़ाने और रोजगार के अधिक से अधिक अवसर पैदा करने के लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है, सभी को रोजगार मिले हमारा यही प्रयास है। सभी जगह किसान बहुत खुश हैं। हम धान से एथेनॉल बनाने की अनुमति मांग रहे हैं, जिसकी अनुमति केंद्र से नहीं मिल रही है। भेंट-मुलाकात में नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ शिव कुमार डहरिया भी उपस्थित थे।

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने रायपुर जिले के आरंग विधानसभा के ग्राम भानसोज में भेंट-मुलाकात के दौरान जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों की मांग पर अनेक घोषणाएं की। उन्होंने चंदखुरी में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का निर्माण कराने, भानसोज में बैंक की शाखा प्रारंभ कराने, नगर पंचायत मंदिर हसौद में शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के उन्नयन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नयन, भानसोज नहर से सण्डी-कुकरा मार्ग निर्माण, शासकीय हाई स्कूल भानसोज में अतिरिक्त कक्षों के निर्माण, शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भानसोज भवन में अहाता एवं स्टाफ क्वार्टर के निर्माण, ग्राम भानसोज एवं नारा में आंतरिक सीसी रोड व नाली का निर्माण कराने, सण्डी से नारा तक सड़क निर्माण, ग्राम उमरिया में उमरिया मोड़ से परसदा तक पहुंच मार्ग को विकसित करने, ग्राम घुमराभाठा से आरंग पहुंच मार्ग के चौड़ीकरण, गोंडी में हाईस्कूल भवन निर्माण और ग्राम परसकोल में माध्यमिक शाला के हाईस्कूल में उन्नयन की घोषणा की।

  • *छत्तीसगढ़ में पहली बार - आधी रात को महिला आयोग में हुई सुनवाई :
    *आधी रात को आयोग की बैठक में महिला को दिलाया उसका बच्चा* *पुलिस अधीक्षक रायपुर और पूरी टीम को आयोग ने दी बधाई* रायपुर 7 फरवरी 2023/आवेदिका ने आयोग में प्रकरण प्रस्तुत किया था कि विभिन्न न्यायालयों में बच्चे की कस्टडी पाने के आवेदन में बच्चे का पिता कभी भी किसी भी न्यायालय में नहीं पहुंचा था और लगातार न्यायालयों की अवहेलना कर रहा था। जिस पर माननीय उच्च न्यायालय ने उसे प्रकरण पुनः लगाने का निर्देश दिया था जिस पर आवेदिका ने महिला आयोग में आवेदन प्रस्तुत किया था। यहां भी अनावेदक लगातार 2 बार सुनवाई में अनुपस्थित रहा, फिर पुलिस अधीक्षक धमतरी के विशेष सहयोग से अनावेदक और उसके बच्चे को आयोग के समक्ष उपस्थित कराया था। जहां बाल संरक्षण आयोग की उपस्थिति में 8 वर्षीय नाबालिग बच्चे की काउंसलिंग किया गया जिसमें पता चला कि बच्चे के अंदर आपराधिक भावनाएं जागृत किया गया है और उसके बात व्यवहार में ऐसा ही लक्षण पिता के द्वारा भरे गये थे जिस पर नाबालिग बालक को बाल कल्याण समिति माना में भेजा गया था ताकि उसके मन, मस्तिष्क से सारी नाकारात्मक बातें समाप्त किया जा सकें पर अनावेदक ने यहां भी बाल कल्याण समिति के समक्ष एक आवेदन प्रस्तुत कर पुनः अस्थायी अभिरक्षा प्राप्त कर लिया और दिनांक 06.02.2023 को आयोग की बैठक में बच्चे को अनुपस्थित रखकर अलग-अलग तरह से बहाने बनाता रहा। बाल कल्याण समिति के माननीय अध्यक्ष और सदस्यों के समक्ष बच्चे की कस्टडी में अपना अड़ियल रवैया बनाया रखा जबकि वह बाल कल्याण समिति में शपथ पत्र देकर आया था कि बच्चे को आयोग की सुनवाई में उपस्थित रखेगा। लेकिन लगातार 6 घण्टे तक इंतजार करने के बावजूद बच्चे को उपस्थित नहीं करने पर अंततः महिला आयोग की ओर से पुलिस अधीक्षक रायपुर से टैलीफोनिक चर्चा किया गया और अनावेदक से बच्चे के बचाव करने के लिये पुलिस विभाग के द्वारा कार्यवाही किये जाने का समिति का आदेश भी दिया गया। जिस पर पुलिस अधीक्षक रायपुर और उनकी टीम ने रात 10ः30 बजे बच्चे को प्राप्त किया और आयोग की अध्यक्ष से टैलीफोन पर चर्चा किया। मामला नाजुक और संवेदनशील होने पर आयोग की अध्यक्ष ने तत्काल अपने कार्यालय में इस प्रकरण की सुनवाई किया और चूंकि अनावेदक लगातार लापरवाही और न्यायालय के आदेशो की अवहेलना करता आ रहा था। अतः आधी रात तक चली कार्यवाही के अंत में यह निर्णय लिया गया कि नाबालिग बच्चे की अभिरक्षा अनावेदक के हाथ में देना उचित नहीं है। इसलिए नाबालिग बच्चे को आवेदिका बच्चे की मां को दिया जाना चाहिये। यह पहला मौका था जब ऐसी आपात स्थिति में संवेदनशील मामले में महिला आयोग ने आधी रात को कार्यवाही किया गया। इस कार्य को त्वरित रूप से पूर्ण करने में पुलिस प्रशासन एवं उनकी पूरी टीम को आयोग की अध्यक्ष द्वारा धन्यवाद पत्र प्रेषित किया गया। CG 24 News-Singhotra
  • केंद्रीय जेल बिलासपुर हेतु 50 एकड़ जमीन : सीमांकन हेतु पहुंचे अधिकारी
    केंद्रीय जेल बिलासपुर हेतु 50 एकड़ जमीन सीमांकन हेतु पहुंचे अधिकारी बिलासपुर- तहसील बेलतरा अंतर्गत ग्राम बैमा में केंद्रीय जेल हेतु 50 एकड़ जमीन प्रस्तावित है जिसकी चौहद्दी और चिन्हांकन हेतु अनुविभागीय अधिकारी द्वारा टीम बनाई गई थी जिसके परिचालन में आज शासकीय भूमि चिन्हांकन हेतु तहसीलदार समेत लोकनिर्माण व जेल विभाग के जेल अधीक्षक खुमेश मंडावी उप जेल अधीक्षक आर आर राय मौके पर उपस्थित रहे बेलतरा तहसीलदार सशीभूषण सोनी ने उक्त जानकारी देते हुए बताया की केंद्रीय जेल हेतु प्रस्तावित भूमि का चिन्हाकित कर उक्त भूमि अंतर्गत बसे बेजाकब्जा धरियो को स्थानांतरित करना है। मन्नू मानिकपुरी संवाददाता बिलासपुर
  • CG BREAKING : विधायक की देर रात बिगड़ी तबियत, ICU में भर्ती

    भिलाई। दुर्ग जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां वैशाली नगर विधायक विद्यारतन भसीन की देर रात तबियत बिगड़ने के कारण आनन फानन में उन्हें राजधानी रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

    जानकारी के अनुसार उनका इलाज ICU में चल रहा है। यूरिन इन्फेक्शन और न्यूरो सम्बन्धी समस्या के चलते विधायक को भर्ती किया गया।

  • Accident News : तेज़ रफ्तार का कहर, कैप्सूल वाहन ने बाइक सवार को मारी ठोकर, एक की मौत

    बिलासपुर।  तेज़ रफ्तार का कहर और मौत, सड़क हादसे थमने का नहीं ले रहे  वहीं बिलासपुर में तेज रफ्तार कैप्सूल वाहन की टक्कर से महिला की मौत हो गई। वह अपने भाई के साथ बाइक में सवार होकर गांव लौट रही थी। तभी कैप्सूल ने उनकी बाइक को पीछे से टक्कर मार दी। इस हादसे में महिला का भाई भी गंभीर रूप से घायल है। घटना पचपेड़ी थाना क्षेत्र की है।

    मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कुकुर्दीकला निवासी शकुंतला बाई कंवर (40) को लेकर सोमवार की सुबह उसका भाई मोरध्वज कंवर इलाज कराने के लिए मस्तूरी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गया था। दोनों बाइक में सवार होकर इलाज कराने के बाद वापस गांव लौट रहे थे। घटना दोपहर करीब 3.30 बजे की है। अभी उनकी बाइक चिस्दा और चिल्हाटी स्थित पेट्रोल पंप के पास पहुंची थी। उसी समय पीछे से आ रहे कैप्सूल वाहन ने उनकी बाइक को ठोकर मार दिया। इस हादसे में महिला बाइक से गिरकर कैप्सूल वाहन की चपेट में आ गई। वहीं, मोरध्वज भी गंभीर रूप से घायल हो गया।

    घटना की जानकारी पुलिस के डायल 112 को दी

    घटना की जानकारी पुलिस के डायल 112 को दी। खबर मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस की टीम उन्हें इलाज कराने के लिए अस्पताल लेकर जा रही थी।

  • हुक्का कारोबार पर सख्ती, पुलिस ने हुक्का सामान बेचते व्यापारी को किया गिरफ्तार, NDPS एक्ट के तहत केस दर्ज

     

    बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के जिला बिलासपुर में हुक्का कारोबार पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई हुई है। हुक्का सामान बेचते एक व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

    पुलिस ने 15 हुक्का सेट, 130 हुक्का पॉट, 40 चिलम, 260 नग तंबाखू फ्लेवर बेस जब्त किए। यह सब सामान करीब 2 लाख का बताया जा रहा है। NDPS एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। तारबाहर पुलिस की कार्रवाई हुई।

    निजात अभियान के तहत पुलिस नशे के खिलाफ सतत निगरानी

    दरअसल निजात अभियान के तहत पुलिस नशे के खिलाफ सतत निगरानी कर रही थी।तभी तारबाहर पुलिस को सूचना मिली कि व्यापार विहार स्थित गोवर्धन पान दुकान में हुक्का का समान विक्रय किया जा रहा है। जिसपर पुलिस ने मौके पर दबिश दी।

  • आरक्षण पर राज्यपाल सचिवालय को नोटिस: छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई, 2 सप्ताह में मांगा जवाब
    मन्नू मानिकपुरी संवाददाता बिलासपुर राज्य सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल और महाअधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा ने पैरवी की है। छत्तीसगढ़ में आरक्षण का मुद्दा थमने का नाम नहीं ले रहा है, इससे पहले बढ़ाए गए आरक्षण को चुनौती देने वाली याचिकाओं को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। जिसके बाद 58% से घटकर 50% आरक्षण हो गया है। जैसे ही सितंबर में हाईकोर्ट का आरक्षण को लेकर आदेश पारित हुआ था, उसके बाद से प्रदेश भर में आरक्षण को लेकर धरना प्रदर्शन और विरोध लगातार चल रहा है। छत्तीसगढ़ में आरक्षण का मुद्दा एक बार फिर से हाईकोर्ट में पहुंच गया है। राज्य सरकार की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सोमवार को राज्यपाल सचिवालय को नोटिस जारी कर दो सप्ताह में जवाब मांगा गया है। मामले की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने तर्क दिया। उन्होंने कहा कि, राज्यपाल को विधेयक रोकने का अधिकार नहीं है। मामले की सुनवाई जस्टिस रजनी दुबे की सिंगल बेंच में हुई है। याचिका में कहा- अनुच्छेद 200 का उल्लंघन दरअसल, विधानसभा में आरक्षण विधेयक पारित होने के बाद से ही राज्यपाल ने रोक रखा है। इसे न तो सरकार को लौटाया गया और न ही इस पर राज्यपाल ने अब तक हस्ताक्षर ही किए हैं। इसे लेकर राज्य सरकार अब हाईकोर्ट पहुंच गई है। सरकार की ओर से कहा गया कि राज्यपाल की ओर से इस पर हस्ताक्षर नहीं किया जा रहा है, जो अनुच्छेद 200 का उलंघन है। राज्य सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल और महाअधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा ने पैरवी की है। राज्यपाल अनुमति दें या न दें, या राष्ट्रपति को भेजें कोर्ट से बाहर आने के बाद अधिवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि, बिल दिसंबर में पास हुआ था, अब फरवरी हो गया है। अब तक राज्यपाल ने कोई कदम नहीं उठाया है। संविधान के मुताबिक, इस पर अनुमति दें या न दें या फिर राष्ट्रपति को भेजें। राज्यपाल ने कोई कदम नहीं उठाया, इसलिए हम यहां आए हैं। यह असंवैधानिक है या नहीं, से कोर्ट तय करेगी। इसमें राज्यपाल को देर नहीं करनी चाहिए। यह छत्तीसगढ़ की जनता खासकर आदिवासियों के लिए महत्वपूर्ण कदम है। राज्य सरकार ने आरक्षण 76 फीसदी किया राज्य सरकार ने दो दिसंबर को विधानसभा में विधेयक पारित कर आरक्षण 50 से बढ़ाकर 76% कर दिया। इस बिल को राज्यपाल के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा था, लेकिन अब तक सरकार को वापस नहीं मिला है। इसे लेकर राजनीतिक गलियारे में भी आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता रहा। पोस्टर वॉर भी चली। अब मामला राज्य सरकार हाईकोर्ट में ले गई है। याचिकाकर्ता ने कहा है कि राज्यपाल बिल पास करें या वापस करें। फिलहाल इस मामले में अब अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी। राज्य के 76 फीसदी आरक्षण को कोर्ट ने किया था खरिज दरअसल, अधिवक्ता हिमांग सलूजा की ओर से दायर याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार ने 18 जनवरी 2012 को आरक्षण एससी वर्ग के लिए 12, एसटी के लिए 32 और ओबीसी के लिए 14 प्रतिशत किया था। जिसे हाईकोर्ट ने असंवैधानिक बताते हुए खारिज कर दिया। इसके बाद सरकार ने जनसंख्या के आधार पर आरक्षण का प्रतिशत 76 फीसदी कर दिया। इसमें आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लिए चार फीसदी व्यवस्था दी गई।
  • ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग के लिए अनुमति आवश्यक

    कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ. प्रियंका शुक्ला द्वारा जिले में हायर सेकेण्डरी, हाईस्कूल, शारीरिक प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षा को दृष्टिगत रखते हुए ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग के लिए प्राधिकृत अधिकारियों से अनुमति आवश्यक किया गया है। छत्तीसगढ़ कोलाहल प्रदूशण नियंत्रण अधिनियम 1985 की धारा-4 एवं धारा-6 के अंतर्गत तीव्र संगीत, हार्नटाइप, ध्वनि विस्तारक का उपयोग अनुज्ञा के बिना तत्काल प्रभाव से सम्पूर्ण जिला कांकेर में राजस्व सीमा के अन्दर प्रतिशेध किया गया है।
                अधिनियम की धारा-7 के अंतर्गत ध्वनि विस्तारक चलाये जाने के लिए अनुमति हेतु कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला द्वारा प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया गया है, जिसमें तहसील कांकेर के लिए प्राधिकृत अधिकारी अनुविभागीय दण्डाधिकारी कांकेर होंगे। तहसील चारामा के लिए अनुविभागीय दण्डाधिकारी चारामा, तहसील नरहरपुर के लिए तहसीलदार एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी नरहरपुर, तहसील सरोना के लिए तहसीलदार एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी सरोना, तहसील भानुप्रतापपुर के लिए अनुविभागीय दण्डाधिकारी भानुप्रतापपुर, तहसील दुर्गूकोंदल के लिए तहसीलदार एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी दुर्गूकोंदल, तहसील अंतागढ़ के लिए अनुविभागीय दण्डाधिकारी अंतागढ़ तथा तहसील पखांजूर हेतु अनुविभागीय दण्डाधिकारी पखांजूर को प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया गया है।
                  कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला द्वारा प्राधिकृत अधिकारियों को परीक्षा के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्र चलाये जाने की अनुमति हेतु प्राप्त आवेदन पत्रों की पंजी रखने तथा प्रत्येक प्राप्त आवेदन पत्रों की तिथि एवं समय दर्ज करने के निर्देश दिए गये हैं। उन्होंने कहा कि प्राप्त आवेदन पत्र का परीक्षण कर पृथक से अनुमति आदेश जारी किया जावे, जिसमें अनुमति की तिथि एवं समय का भी स्पश्ट उल्लेख किया जावे। प्रदान की गई अनुमति की सूचना संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस एवं थाना प्रभारी को तथा कलेक्टर कार्यालय को भेजना सुनिश्चित किया जावे। यदि एक ही तिथि एवं समय में एक ही स्थान पर एक से अधिक व्यक्तियों के द्वारा आवेदन किया जाता है तो प्रथम प्राप्त आवेदन के आधार पर आवेदक को ध्वनि विस्तार की अनुमति दिया जावे तथा उसके बाद ही अवधि में दूसरे आवेदक को अनुमति दिए जाने पर विचार किया जावेगा। अनुमति देते समय अधिनियम में निर्देशित अनुदेशों का पूर्णतः पालन करने के लिए निर्देशित किया गया है। इस  आदेश का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिये गये हैं। यह आदेश 31 मार्च 2023 तक प्रभावशील रहेगा।

  • गौरेला-पेंड्रा-मरवाही :रीपा के तहत बूंदी-मिक्चर निर्माण एवं व्यवसाय से मालामाल हो रही हैं समूह की महिलाएं

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप ग्रामीण अर्थव्यवस्था को और अधिक समृद्ध बनाने के उद्देश्य से स्थापित हो रहे महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क (रीपा) के तहत बूंदी-मिक्चर निर्माण एवं व्यवसाय से मां संतोषी स्व-सहायता समूह की महिलाएं मालामाल हो रही हैं। जनपद पंचायत गौरेला के ग्राम पंचायत पतरकोनी में रीपा के तहत मिक्चर एवं बूंदी निर्माण इकाई 26 जनवरी 2023 से शुरू हो गया है। लगभग एक सप्ताह में समूह की महिलाओं द्वारा 7 क्विंटल बूंदी और 5 क्विंटल मिक्चर का उत्पादन किया जाकर 150 रूपए प्रति किलो बूंदी और 170 रूपए प्रति किलो मिक्चर के हिसाब से कुल एक लाख 90 हजार रूपए की बिक्री कर चुके हैं। समूह की अध्यक्ष श्रीमती शिशुवती मरपची और सचिव श्रीमती बेला कोर्राम अपने कार्य से खुश हैं और समूह की आमदनी से उत्साहित हैं। चूंकि पतरकोनी मुख्य मार्ग पर स्थित होने के साथ ही साप्ताहिक हाट-बाजार की परिधि से लगा है। यहां व्यावसायिक वातावरण की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए रीपा के तहत स्टोरेज, दुकान, शौचालय, आदि आवश्यक अधोसंरचना के कार्य किए जा रहे हैं।

  • sbi और lic के निवेशकों को हुए नुकसान के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन
    मोदी सरकार की अडानी परस्ती नीति के कारण sbi और lic के निवेशकों को हुए नुकसान के विरोध में कांग्रेस का आज प्रदर्शन | जय स्तम्भ चौक में sbi के सामने 11 बजे होगा कांग्रेसी करेंगे विरोध प्रदर्शन| पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम करेंगे नेतृत्व CG 24 News
  • मेरे बारे में भाजपा सोच रही है उसका आभार, सोचना तो कांग्रेसजनों को चाहिए- मंत्री टीएस सिंहदेव

    सूरजपुर। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के एक बयान ने फिर से एक बार राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ा दी है। दरअसल, भाजपा लगातार मंत्री टीएस सिंहदेव के साथ अन्याय होने को लेकर सरगुजा की जनता से इसका बदला लेने को कहती है। वहीं भाजपा द्वारा चिंता जाहिर करने को लेकर मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि यह तो कांग्रेसजनों को सोचना चाहिए। भाजपा इसमें चिंता क्यों कर रही है और आम लोगों को सोचना चाहिए। लोग जैसा सोचेंगे वैसा करेंगे। भाजपा को इसमें चिंता नहीं करनी चाहिए इसके साथ ही उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा को इस सद्भावना के लिए मैं आभार ही कह सकता हूं।

    आज स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव सूरजपुर में कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं की समस्या पर भी अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि आज के समय में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को अधिकारी उतना महत्व नहीं दे रहे हैं, जो महत्व भाजपा के कार्यकाल में उनके कार्यकर्ताओं को मिलता था। मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि प्रशासन को जनप्रतिनिधियों के प्रति और विशेष कर सत्ताधारी दल के प्रतिनिधि के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। मैं यह कभी नहीं कहता कि जो वो कहे वह करो… कार्यकर्ताओं को ऐसा महसूस नहीं होना चाहिए कि हमारी सुनवाई नहीं हो रही है…

  • आदिवासी हिंदू नहीं वाले कवासी लखमा के बयान के विरोध में सामने आई भाजपा
    *कवासी लखमा कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के दबाव में हैं- केदार* *भूपेश के मंत्री ईसाई विरोध के बारे में बोल कर दिखाएं: भाजपा* रायपुर। प्रदेश भाजपा महामंत्री तथा छत्तीसगढ़ के पूर्व शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा द्वारा आदिवासियों के हिंदुओं से अलग होने के संदर्भ में दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी के नेता लगातार हिंदू सनातन धर्म के खिलाफ वातावरण बना रहे हैं।यह साजिश उनके शीर्ष नेतृत्व द्वारा कराई जा रही है। इसके मूल में आदिवासी संस्कृति को खत्म कर धर्मांतरण कराकर आदिवासियों को ईसाई बनाने की सुनियोजित साजिश है। प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि बारसूर में गणेश जी की प्राचीनतम प्रतिमा है। हम आदिवासी गणेश जी की पूजा करते हैं। इसी तरह दंतेवाड़ा में दंतेश्वरी माई की हम आदिवासी पूजा करते हैं। हजारों वर्षों से दंतेश्वरी माई बस्तर की आराध्य देवी हैं। कवासी लखमा जिस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं वहां इंजरम में भगवान राम आए थे। प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि सोनिया गांधी ईसाई हैं और सनातन संस्कृति के खिलाफ कांग्रेस नेताओं से अपनी बात कहलवा रही हैं। उन्होंने कहा कि कवासी लखमा आदिवासियों को हिंदुओं के विरोध में बताते हैं। उन्हें ईसाइयों के विरोध में क्यों नहीं बताते? धर्मांतरण कराने वालों के खिलाफ क्यों नहीं बोलते। प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व के दबाव में छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के संरक्षण में धर्मांतरण हो रहा है। आदिवासी समाज को अपनी ही धरती पर अपनी संस्कृति से बेदखल करने का कुचक्र चल रहा है। धर्मांतरण का विरोध करने वाले आदिवासी का दमन किया जा रहा है तब कवासी आदिवासी संस्कृति के पक्ष में खड़े क्यों नहीं होते। CG 24 News-Singhotra