State News
Previous123456789...449450Next
  • दर्दनाक हादसा-ट्रैक्टर और मोटरसाइकिल के बीच हुई जबरदस्त भिड़ंत, 7 वर्षीय बच्ची की मौत.. 3 घायल
    बड़ी खबर गरियाबंद से है, जहां ट्रैक्टर और मोटरसाइकिल के बीच जबरदस्त भिड़ंत हो गई जिससे एक 7 वर्षीय बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई वही 3 लोग घायल हो गए हैं, घटना कांडेकेला की है, जहां तेज रफ्तार ट्रैक्टर ने बाइक को अपनी चपेट में ले लिया । मिली जानकारी के अनुसार घटना के तुरंत बाद आसपास के लोगों द्वारा देवभोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाकर उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। मामले की सूचना मिलते ही मौके पर थाना प्रभारी नवीन राजपूत पहुंचे है, और मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए। बता दे, घटना से आक्रोशित परिवार वालों ने ट्रैक्टर को जप्त कर लिया है, और अपने कब्जे में रखा है। मिली जानकारी के मुताबिक दुर्बन यादव डाबरीगुड़ा, मकूद यादव कंडेकेला, शिवरात्रि यादव इस घटना में घायल हुए हैं।
  • छत्तीसगढ़ में आज शाम तक 366 कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की हुई पहचान
    रायपुर, 19 जनवरी। राज्य में आज शाम 5.00 तक 366 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सर्वाधिक 68 अकेले रायपुर जिले के हैं। आईसीएमआर के मुताबिक आज बालोद 16, बलौदाबाजार 5, बलरामपुर 4, बस्तर 5, बेमेतरा 3, बीजापुर 0, बिलासपुर 37, दंतेवाड़ा 1, धमतरी 6, दुर्ग 49, गरियाबंद 9, जीपीएम 5, जांजगीर-चांपा 13, जशपुर 7, कबीरधाम 8, कांकेर 13, कोंडागांव 14, कोरबा 8, कोरिया 14, महासमुंद 6, मुंगेली 4, नारायणपुर 0, रायगढ़ 23, रायपुर 68, राजनांदगांव 27, सुकमा 1, सूरजपुर 3, और सरगुजा 17 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। केन्द्र सरकार के संगठन आईसीएमआर के इन आंकड़ों में रात तक राज्य शासन के जारी किए जाने वाले आंकड़ों से कुछ फेरबदल हो सकता है क्योंकि ये आंकड़े कोरोना पॉजिटिव जांच के हैं, और राज्य शासन इनमें से कोई पुराने मरीज का रिपीट टेस्ट हो, तो उसे हटा देता है। लेकिन हर दिन यह देखने में आ रहा है कि राज्य शासन के आंकड़े रात तक खासे बढ़ते हैं, और इन आंकड़ों के आसपास पहुंच जाते हैं, कभी-कभी इनसे पीछे भी रह जाते हैं।
  • नरहरपुर विकासखण्ड में सीसी सड़क निर्माण  के लिए आठ लाख रूपये स्वीकृत

    जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रूद्र कुमार के अनुशंसा पर कलेक्टर  चन्दन कुमार ने विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र विकास योजना के मार्गदर्शिका में निहित निर्देशों एवं प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए कांकेर विधानसभा क्षेत्र के नरहरपुर विकासखण्ड के ग्राम पंचायत बाबूसाल्हेटोला के ग्राम बागोड में तुकेश साहू घर से परम नेताम घर तक सीसी सड़क निर्माण के लिए 03 लाख रूपये और ग्राम रावस में सिदलाल घर से सामुदायिक भवन तक 215 मीटर सीसी सड़क निर्माण के लिए 05 लाख रूपये स्वीकृत किये हैं। स्वीकृत निर्माण कार्यों के लिए इसके लिए जनपद पंचायत नरहरपुर के सीईओ को क्रियान्वयन एजेंसी बनाया गया है। 

  •  बच्चों के विरूद्ध घटनाओं से निपटने के लिए रणनीति बनाकर काम करें- श्रीमती प्रभा दुबे

                                                                    राज्य बाल अधिकार आयोग की अध्यक्ष ने बाल संरक्षण इकाई के कार्यों की समीक्षा की 

    राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे ने आज रायपुर के रेडक्रॉस सभागार में प्रदेश में बच्चों के विरुद्ध होने वाली घटनाओं से निपटने के लिए बाल संरक्षण इकाई के अधिकारियों को रणनीति बनाकर मुहिम चलाए जाने हेतु मार्गदर्शन व दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समाज में बच्चों के विरुद्ध घटनाओं का बढ़नां काफी चिंताजनक है, इसके लिए समेकित बाल संरक्षण इकाई, बाल कल्याण समिति,पुलिस प्रशासन, चाइल्ड हेल्प लाइन, महिला एवं बाल विकास विभाग को मिलकर बेहतर कार्य योजना बनानी होगी। इसी के साथ बच्चों के पुनर्वास की व्यवस्था करते हुए उन्हें शिक्षा की मुख्य धारा में लाना होगा। 
        श्रीमती दुबे ने कहा कि बच्चों से संबंधित मामलों में अधिक संवेदनशीलता से कार्यवाही की जरूरत है। इस बात पर ध्यान दिया जाए कि फीस के अभाव में किसी भी बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं किया जाये। अगर ऐसा कोई मामला सामने आता है तो जिला शिक्षा अधिकारी स्कूलों पर सख्त कार्यवाही करें। उन्होंने कार्यवाही को प्रमुखता से प्रचारित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बाल अधिकार संरक्षण आयोग हर प्रकार से सहायता के लिए उपस्थित रहेगा। इसके साथ उन्होंने पाॅक्सो एक्ट के तहत प्रकरणों में की गई कार्यवाही और राहत, चिकित्सकीय सहायता व मुआवजा राशि देने तथा अन्य बिंदुओं पर भी समीक्षा की। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री अशोक पांडेय, जिला बाल संरक्षण अधिकारी श्री नवनीत स्वर्णकार एवं बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष, सदस्यों सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

  • कैम्पा की संचालन समिति की बैठक संपन्न :  वार्षिक कार्ययोजना 2021-22 में 1534 करोड़ रूपए के कार्य अनुमोदित

    वन क्षेत्रों की उत्पादकता तथा भू-जल संरक्षण को बढ़ाने संबंधी कार्य प्राथमिकता से शामिल

    छत्तीसगढ़ प्रतिकरात्मक वनरोपण निधि प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण (कैम्पा) की संचालन समिति की बैठक आज राजधानी स्थित चिप्स कार्यालय में प्रभारी मुख्य सचिव  सुब्रत साहू की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में कैम्पा की वार्षिक कार्ययोजना वर्ष 2021-22 के अंतर्गत एक हजार 534 करोड़ रूपए के प्रस्तावों का अनुमोदन किया गया। इसमें वन क्षेत्रों की उत्पादकता बढ़ाने, क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण, बांस वनों की पुर्नस्थापना, वन्य प्राणी प्रबंधन और वन क्षेत्र में भूजल संरक्षण को बढ़ाने संबंधी कार्य को प्राथमिकता से शामिल किया गया है। 
        बैठक में चर्चा करते हुए अवगत कराया गया कि वर्तमान में कैम्पा मद से क्षतिपूर्ति वनीकरण के साथ-साथ वन क्षेत्र में उत्पादकता बढ़ाने के लिए विभिन्न वन विकास कार्य, वनों की सुरक्षा, वन्य प्राणियों के रहवास सुधार एवं संरक्षण तथा विशेष रूप से वन क्षेत्रों में भूजल स्तर को बढ़ाने हेतु नरवा योजना के अंतर्गत भूजल संरक्षण का कार्य जारी है। कैम्पा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्ही. श्रीनिवास राव ने बताया कि राज्य शासन द्वारा लागू नवाचार की योजनाओं में से नरवा विकास योजना के अंतर्गत वन क्षेत्रों में स्थित सभी छोटे-बड़े नालों को उनके उद्गम स्थल से समापन स्थल तक उपचारित करने का कार्य किया जा रहा है। वर्ष 2019-20 की कार्ययोजना में स्वीकृत वन क्षेत्र के लगभग 863 नालों के 4.58 लाख हेक्टेयर जलग्रहण क्षेत्रों में 10 लाख 60 हजार भू-जल संरक्षण की संरचनाओं का निर्माण किया जा रहा है। इसी तरह वर्ष 2020-21 में 01 हजार 92 नालों के 3.11 लाख हेक्टेयर जल ग्रहण क्षेत्र में 210 करोड़ रूपए की लागत से 12 लाख 70 हजार जल संरचनाओं के निर्माण कार्य प्रारंभ किए गए हैं। 
        राज्य में कोरोना संकट के दौरान छत्तीसगढ़ में लौटे अप्रवासी मजदूरों को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से राष्ट्रीय कैम्पा को 416 करोड़ रूपए की कार्ययोजना भेजी गई है। इस कार्ययोजना में भी वन क्षेत्र के 176 नालों के जल ग्रहण क्षेत्रों में भू-जल संरक्षण कार्य हेतु 187 करोड़ 53 लाख रूपए का प्रावधान प्रस्तावित है। इसके साथ ही वर्ष 2021-22 की कार्ययोजना में वन क्षेत्र के 441 नालों को उपचारित करने के लिए 392 करोड़ रूपए का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण काल में घोषित लाॅकडाउन के कारण सुदूर वन क्षेत्रों में विकास कार्यों में हुए गतिरोध के कारण बेरोजगार हुए श्रमिकों तथा छत्तीसगढ़ वापस लौटै प्रवासी मजदूरों को पर्याप्त रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाही कैम्पा से की जा रही है। माह मार्च 2020 से दिसंबर 2020 तक 438 करोड़ रूपए व्यय कर 94 लाख 37 हजार मानव दिवस का रोजगार सृजन किया गया है।  
        राज्य के हाथी प्रभावित क्षेत्रों में हाथी-मानव संगवारी जैसी योजनाएं लागू कर हाथी प्रभावित क्षेत्रों में रहवास सुधार तथा जागरूकता अभियान आदि के कार्य कराए जा रहे हैं। वार्षिक कार्य योजना 2020-21 में हाथी प्रभावित जिला कोरबा, मरवाही, कटघोरा में 94 करोड़ रूपए की कार्ययोजना स्वीकृत कर कार्य कराए जा रहे हैं। इसी तरह वार्षिक कार्ययोजना 2021-22 में बांस की उत्पादकता में वृद्धि के लिए बांस वनों की पुनस्र्थापना, वन्य प्राणी काॅरीडोर की पहचान कर वन्य प्राणियों के विचरण क्षेत्रों में रहवास सुधार, वन क्षेत्रों में विशिष्ट प्रजातियों का संरक्षण एवं विकास तथा विलुप्त हो रहे पशु-पक्षियों के संरक्षण संबंधी कार्यों का प्रावधान किया गया है। इस अवसर पर प्रमुख सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी डाॅ. मनिन्दर कौर द्विवेदी, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख  राकेश चतुर्वेदी आदि संबंधित विभागीय अधिकारी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में जुड़े रहे। बैठक में कैम्पा की संचालन समिति के अशासकीय सदस्य  जी.एस. धनंजय भी उपस्थित थे। 

  • तेजी से पूरे किये जायेंगे विकास कार्य-उच्च शिक्षामंत्री श्री उमेश पटेल : खरसिया विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों में विकास कार्यों का किया लोकार्पण व भूमिपूजन

    मंत्री श्री पटेल ने जनसंपर्क कर जानी लोगों की मांगें व समस्यायें

     

    उच्च शिक्षा मंत्री  उमेश पटेल ने खरसिया विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों में जनसंपर्क किया। उन्होंने अगासमार, छिरीपानी, पंडरामुड़ा, फरकानारा तथा पुछियापाली में विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण तथा भूमिपूजन किया।
    उच्च शिक्षामंत्री श्री पटेल ने ग्रामवासियों को संबोधित करते हुये कहा कि गांवों में विकास कार्य तेजी से पूरे किये जायेंगे। आज लोकार्पित व भूमिपूजन किये जा रहे कार्यों के लिये ग्रामवासियों को शुभकामनायें देते हुये कहा कि इससे गांवों के बुनियादी सुविधाओं में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों के जरूरतों को जानना ही इस जनसंपर्क का उद्देश्य है। जिससे उनकी मांग व आवश्यकता के अनुरूप निर्माण व विकास कार्यों की रूपरेखा तैयार की जा सके।
    फरकानारा में नये धान उपार्जन केन्द्र के खुलने पर उन्होंने ग्रामवासियों को बधाई देते हुये कहा कि अब फरकानारा तथा आसपास के गांववासियों को धान बेचने में आसानी होगी तथा उन्हें ज्यादा दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी। उन्होंने छिरीपानी में सांस्कृतिक मंच निर्माण की घोषणा की और कहा कि अगासमार से छिरीपानी के बीच पक्के सड़क निर्माण को जल्द स्वीकृति मिलने जा रही है।
    इस दौरान मंत्री श्री पटेल के समक्ष ग्रामीणजनों ने अपनी मांगें व समस्याएं भी रखीं। मंत्री श्री पटेल ने लोगों की समस्याओं को सुनकर उनके त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया तथा मांगों को शीघ्र पूर्ण करने का आश्वासन भी दिया।
    इन कार्यों का हुआ लोकार्पण-पण्डरामुड़ा में दो सांस्कृतिक मंच तथा एक सीसी रोड का लोकार्पण, फरकानारा में सीएसआर मद से 20 लाख रुपये की लागत से सीसी रोड निर्माण का भूमिपूजन, पुछियापाली में 10 लाख 76 हजार रुपये की लागत से पीडीएस भवन सह गोदाम, प्राथमिक शाला विद्यालय में अतिरिक्त भवन तथा सीसी रोड निर्माण का भूमि पूजन किया।
    इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य श्रीमती संतोषी राठिया, सदस्य जनपद पंचायत श्रीमती बैजंती राठिया, श्रीप्रीतम राठिया, सरपंच पंडरामुड़ा  अजीत सिंह राठिया, सरपंच पुछियापाली श्रीमती ललिता राठिया, सरपंच फरकानारा  छत्तर सिंह राठिया, उपसरपंच पंडरामुड़ा  कन्हैया राठिया, उपसरपंच फरकानारा  लक्ष्मण सिंह राठिया,  रामदयाल राठिया, सीईओ जनपद पंचायत अरूण सोम सहित जनप्रतिनिधि व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

  •  समाज को बुराइयों से बचाना एवं सामाजिक समासता बनाये रखना ही हम सब की नैतिक जिम्मेदारी- कैबिनेट मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू

    तहसील साहू संघ बलौदाबाजार के सँयुक्त तत्वावधान में आज सामूहिक आर्दश विवाह,राजिम जयंती,परिचय सम्मलेन का कार्यक्रम जिला मुख्यालय   स्थित साहू छात्रावास के परिसर में आयोजित की गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहें गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा समाज को बुराइयों से बचाना एवं सामाजिक समासता बनाये रखना ही हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है।समाज के सभी लोगों को शिक्षित करना एवं सभी को लेके आगें बढ़ना ही समाज रूपी गंगा का मूल उद्देश्य है। व्यक्ति जितना सशक्त होगा समाज उतना ही सशक्त होगा। साथ ही हम सब को अपने अपने घर मे एक फोटो हम सब के आराध्य माँ कर्मा माता का अनिवार्य रूप से पूजा स्थल में रखना चाहिए। उन्होंने समाज मे अनावश्यक खर्चे को रोकते हुए सामुहिक आदर्श विवाह को बढ़ावा देने की बात कही गयी। साथ ही समय के साथ समाज के कुछ रूढ़ीवादी परंपराओं में भी परिवर्तन की बात कही। उन्होंने सामुहिक आदर्श विवाह के तहत विवाह में शामिल 18 नव-दंपत्तियों को आशीर्वाद देतें हुए उनके सुखद वैवाहिक जीवन के लिए शुभकामनाएं दिए। इस दौरान छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू,संसदीय सचिव सुश्री शकुंतला साहू,बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा सहित झारखंड राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास,छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह,महासमुंद सांसद चुन्नीलाल साहू,एवं साहू समाज प्रदेशाध्यक्ष अर्जुन हिरवानी,कार्यकारी अध्यक्ष मोती लाल साहू समेत समाज के अनेक प्रतिनिधि एवं जनप्रतिनिधि गण उपस्थित थे। सभी अतिथियों ने समाज द्वारा प्रकाशित हमर पहुना पुस्तक का विमोचन किया गया। मंच का संचालन तहसील साहू संघ बलौदाबाजार के अध्यक्ष लेख राम साहू के द्वारा किया गया।

  • 71 बेटियों को एनएमडीसी की नौकरी मिलने की संभावना की दिशा में एक कदम आगे : कलेक्टर ने बेटियों के प्रकरण पर सर्वे कराकर एक माह में रिपोर्ट देना किया स्वीकार

    सर्वे के लिए गठित प्रशासनिक दल की आयोग के छ सदस्य करेंगे निगरानी

    आयोग द्वारा दिए निर्देश पर महिला को मिली सहायक शिक्षिका की नौकरी

    पुत्र की मृत्यु के प्रकरण में बुजुर्ग मां को आयोग ने दिलाया 50 हजार रुपए की अनुग्रह राशि

     

    जमीन विस्थापन के बाद एनएमडीसी से नौकरी की उम्मीद में महिला आयोग का दरवाजा खटखटाने वाली महिलाओं की उम्मीदें बढ़ गई हैं। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती किरणमयी नायक ने आज सुनवाई के दौरान प्रकरण के शीघ्र निराकरण की दिशा में कदम बढ़ाते हुए भू-विस्थापितों की सूची तैयार करने के लिए सर्वेक्षण के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस सर्वेक्षण दल की निगरानी आयोग द्वारा सुझाए गए सदस्यों द्वारा की जाएगी। उन्होंने इसके लिए भू-विस्थापितों की प्रतिनिधि के रुप में योगिता बाला प्रकाश और अरुणा पटनायक, यूनियन से महेन्द्र जाॅन और जितेन्द्र नाथ, जनप्रतिनिधि मनोहर लुनिया और अधिवक्ता आलोक दुबे को इसकी जिम्मेदारी दी।
    सुनवाई के दौरान श्रीमती नायक ने कहा कि संविधान के विपरीत किसी भी कानून को मान्यता नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि भू-विस्थापित बेटियों को मात्र मुआवजा दिया गया, जबकि नौकरी नहीं दी गई। बेटों के मामलों में भी छूट देते हुए नौकरी दे दी गई, किन्तु बेटियों को इससे वंचित रखा गया। उन्होंने कहा कि जो भूमि अधिग्रहित की गई थी, वे उस भूमि की स्वामी थीं, न कि भूमि स्वामी के परिवार की सदस्य।
    सुनवाई के दौरान कलेक्टर श्री रजत बंसल द्वारा पूर्व अधिकारियों द्वारा प्रशासनिक प्रक्रिया को समझने की चूक के कारण इस प्रकरण के पटाक्षेप में विलंब की बात कहते हुए इसके शीघ्र निराकरण के लिए पुनः सर्वेक्षण की बात कही गई। अध्यक्ष श्रीमती किरणमयी नायक ने आयोग द्वारा नामित सदस्यों की निगरानी में एक माह के भीतर सर्वेक्षण के साथ ही संभाग आयुक्त से अनुमति लेकर सूची एनएमडीसी को उपलब्ध कराने और आयोग को सूचित करने के निर्देश दिए। सर्वेक्षण का कार्य पूर्ण होते ही आयोग द्वारा पुनः सुनवाई की बात उन्होंने कही।
    आज जिला कार्यालय के प्रेरणा कक्ष में आयोजित छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की सुनवाई के दौरान श्रीमती निर्मला आचार्य को सहायक शिक्षिका के पद पर नियुक्ति का आदेश भी प्रदान किया गया। उल्लेखनीय है कि श्रीमती आचार्य द्वारा अनुकंपा नियुक्ति में हो रहे विलंब के मामले में न्याय की गुहार महिला आयोग के समक्ष लगाई गई थी। पिछली सुनवाई के दौरान आवेदिका को तत्काल नौकरी का नियुक्ति पत्र प्रदान करने के निर्देश दिए गए थे, जिस पर अमल करते हुए शिक्षा विभाग द्वारा आज श्रीमती आचार्य को जगदलपुर स्थ्ज्ञित राष्ट्रीय विद्यालय में सहायक शिक्षिका के तौर पर नियुक्ति का आदेश प्रदान किया गया। वहीं एक अन्य मामले में एक बुजुर्ग महिला को भी उसके बेटे की मृत्यु के बाद 50 हजार रुपए की एक्सग्रेसिया राशि उपलब्ध कराई गई। मामला कोंडागांव जिले का है, जिसमें श्रीमती रामबती बाई ने अपने शिक्षक पुत्र की मृत्यु पर अनुग्रह राशि की मांग की थी।
    कोंडागांव जिले के फरसगांव क्षेत्र के भानपुरी में महिला के सामाजिक बहिष्कार एवं 2500 रुपए जुर्माने पर उन्होंने जुर्माने की राशि वापसी के साथ ही सामाजिक बहिष्कार को वापस लेने के लिए गांव में मुनादी करने के आदेश दिए।
    दरभा थाना क्षेत्र अंतर्गत एक व्यक्ति की पत्नी के आत्महत्या के मामले में पति की शिकायत पर उकसाने वाले के विरुद्ध पुलिस जांच और कार्यवाही के निर्देश दिए। कांकेर की एक महिला द्वारा अपने पति पर दूसरी शादी की शिकायत पर उसके पति और संबंधित महिला को आज आयोग के समक्ष बुलाया गया और उनका पक्ष सुना गया। इस मामले में नगर सेना में पदस्थ पति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 494 के तहत अपराध दर्ज करने एवं सिविल सेवा आचरण के उल्लंघन के लिए जिला सेनानी को जांच कर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने और पत्नी को अपने वेतन का आधा हि स्सा प्रतिमाह भुगतान करने के आदेश दिए गए।

  • स्कूल-कॉलेज खोलने की मांग को लेकर घुटनों के बल चलकर किया प्रदर्शन
    राजनांदगांव। वैश्विक महामारी के 11 माह पूरे होने के बाद भी अब तक स्कूल व कॉलेज को बंद रखा गया है। इसके विरोध में भाजपा शहर उपाध्यक्ष नागेश यदु के नेतृत्व में सोमवार को कलेक्टोरेट परिसर में अनोखा आंदोलन किया गया। युवाओं ने घुटनों के बल चलते हुए कलेक्टोरेट के मुख्य गेट में काला रिबन बांधकर प्रदेश के मुख्यमंत्री व जिलाधिकारी से सवाल पूछा कि जब संस्कारधानी में शराब दुकान में चखना सेंटर, हुक्का बार खुल सकते हैं तो स्कूल कॉलेज क्यों नही? प्रदेश का दुर्भाग्य है कि शासन प्रशासन युवाओं को शिक्षा न देकर नशे की ओर धकेल रहा है। जनवरी प्रथम सप्ताह से भाजपा, छात्र युवा मंच व विद्यार्थियों-पालकों के द्वारा स्कूल कॉलेज शैक्षणिक संस्थानों को खुलवाने को लेकर सक्रिय है। भगवा वंदन के प्रदेश प्रमुख लोकेश बारापात्रे ने कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से प्रदेश की जनता जानना चाहती है कि पूरे प्रदेश में शराब दुकान चखना सेंटर कोरोना काल में खुले रहे। अब सरकार आंगनबाड़ी, कौशल विकास प्रशिक्षण को खोल रहे हैं तो शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर विद्यार्थियों के जीवन में अंधकार क्यों ला रहे हैं। सरकार को जगाने लिए हम शहर के प्रमुख चौक चौराहों में आंदोलन करेंगे।
  • मेडिकल बुलेटिन: आज 471 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान, 5 की मौत
    रायपुर। राज्य में आज रात 08.00 बजे तक 471 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें सबसे अधिक 86 रायपुर जिले से हैं। आज कुल 5 कोरोना मौतें हुई हैं। राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक दुर्ग 59, राजनांदगांव 35, बालोद 16, बेमेतरा 9, कबीरधाम 3, रायपुर 86 धमतरी 11, बलौदाबाजार 28, महासमुंद 20, गरियाबंद 4, बिलासपुर 29, रायगढ़ 24, कोरबा 20, जांजगीर-चांपा 24, मुंगेली 6, जीपीएम 1, सरगुजा 30, कोरिया 15, सूरजपुर 21, बलरामपुर 3, जशपुर 9, बस्तर 6, कोंडागांव 3, दंतेवाड़ा 0, सुकमा 3, कांकेर 2, नारायणपुर 1, बीजापुर 3 अन्य राज्य 0 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
  • छत्तीसगढ़: बेटी की शादी के लिए जमीन बेचकर व्यापारी ने घर पर रखे थे रुपए, चोरों ने किया 20 लाख पार
    बलरामपुर। जिले के सनावल में चोरी की एक बड़ी घटना हुई है। चोरों ने सूने मकान का ताला तोड़कर नगद 15 लाख व पांच लाख का जेवर पार कर दिया। इस वारदात के बाद पुलिस चोरों की तलाश में जुट गई है। आशंका है कि जिन्हें पता रहा होगा कि व्यापारी ने बेटी की शादी के लिए दस लाख नगद में जमीन बेचा है उन्होंने ही वारदात को अंजाम दिया होगा। ग्राम सनावल निवासी गोविंद सोनी ने पुलिस को बताया कि बर्तन, जेवर, इलेक्ट्रानिक सामान का खुद का व्यापार है। ग्राम सनावल और रामचन्द्रपुर दोनों स्थान पर उनकी दुकान है। वहीं रामचन्द्रपुर में भी एक और नई दुकान की ओपनिंग 15 जनवरी को की थी। जिसमें घर के सभी सदस्य सुबह करीब 7 बजे चले गए। तब रामचन्द्रपुर तथा सनावल के घर में ताला लगा हुआ था। जब 16 जनवरी को व्यापारी पुत्र गौतम सोनी और उसके पिता जमुना सोनी दोनों शाम करीब 4 बजे घर सनावल आये तो देखे कि घर का ताला टूटा हुआ है।
  • बड़ी खबर : एक्शन में DEO, रायपुर के 240 प्राइवेट स्कूलों पर गिरी गाज, तत्काल प्रभाव से मान्यता खत्म, देखें लिस्ट
    रायपुर : जिले के 240 निजी स्कूलों की मान्यता तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई है. इसके अलावा स्कूलों के नोडलों के वेतन भी रोक दिए गए हैं. जिला शिक्षा अधिकारी ने इसका आदेश भी जारी कर दिया है. उन्होंने इन स्कूलों को आवश्यक दस्तावेज जल्द से जल्द ब्लॉक कार्यालय में जमा करने के निर्देश दिये हैं. दरअसल फीस समिति गठित नहीं करने पर यह बड़ी कार्रवाई की है. जारी आदेश में यह साफ कहा गया है कि सूचित करने के बाद भी अशासकीय विद्यालय फीस विनयमन अधिनियम का पालन नहीं किया गया. इस लापरवाही के कारण नोडलों की सैलरी भी रोक दी गई है. आदेश में लिखा है… शासकीय विद्यालय फीस विनयमन अधिनियम-2020 के तहत अशासकीय विद्यालयों में फीस समिति के गठन के लिए प्रस्ताव (हार्डकॉपी एवं साफ्टकॉपी एक्सल शीट) उपलब्ध कराने निर्देशित किया गया है. लेकिन अत्यंत खेद का विषय है कि आपके द्वारा उक्त कार्य को गभीरतापूर्वक नहीं लिया गया, और आज तक नोडल प्राचार्य के माध्यम से विद्यालय फीस समिति के गठन के लिए प्रस्ताव इस कार्यालय को उपलब्ध नहीं कराया गया है. जिसके कारण विद्यालय फीस समिति गठन का प्रस्ताव कलेक्टर को प्रेषित नहीं किया जा सका एवं शासन की मंशा अनुरूप समय-सीमा में कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है. अशासकीय विद्यालय फीस विनयमन अधिनियम-2020 के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतना एवं जिला शिक्षा अधिकारी के आदेशों का पालन नहीं करना आपके विद्यालय को दी गई मान्यता के प्रमाण-पत्र की कण्डिका-15 का उल्लंघन है. आपके इस कृत्य के लिए आपके विद्यालय को दी गई मान्यता आगामी सत्र 2021-22 से समाप्त की जाती है.
Previous123456789...449450Next