State News
Previous123456789...967968Next
  • श्री गुरु नानक जयंती कैसे मनाता है सिक्ख समाज ?
    गुरु नानक जयंती कब है? गुरु नानक जयंती, जिसे गुरुपर्व के नाम से भी जाना जाता है, सिख धर्म के अनुयायियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है। यह पहले सिख गुरु, गुरु नानक देव की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। यह त्योहार कार्तिक पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है, जो हिंदू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक के महीने में पंद्रहवां चंद्र दिवस है, और आमतौर पर ग्रेगोरियन कैलेंडर द्वारा नवंबर के महीने में आता है। *गुरु नानक जयंती का इतिहास* श्रीगुरु नानक देव जी का जन्म 15 अप्रैल, 1469 को लाहौर के पास राय भोई की तलवंडी में हुआ था, जो वर्तमान में पाकिस्तान के सेखपुरा जिले में है। उनके जन्मस्थान पर एक गुरुद्वारा बनाया गया था, जिसे अब गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है। यह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित है। श्रीगुरु नानक देव जी को एक आध्यात्मिक शिक्षक के रूप में माना जाता है जिन्होंने 15 वीं शताब्दी में सिख धर्म की स्थापना की थी। गुरु ग्रंथ साहिब के मुख्य छंदों में विस्तार से बताया गया है कि ब्रह्मांड का निर्माता एक था। उनके छंद भी भेदभाव के बावजूद मानवता, समृद्धि और सभी के लिए सामाजिक न्याय के लिए निस्वार्थ सेवा का उपदेश देते हैं। एक आध्यात्मिक और सामाजिक गुरु के रूप में गुरु की भूमिका सिख धर्म का आधार बनाती है। *गुरु नानक जयंती समारोह* गुरु नानक जयंती के दिन से दो दिन पहले गुरुद्वारों में उत्सव शुरू हो जाते हैं। अखंड पाठ कहे जाने वाले श्रीगुरु ग्रंथ साहिब जी का 48 घंटे का नॉन-स्टॉप पाठ आयोजित किया जाता है। श्रीगुरु नानक देव जी के जन्मदिन से पहले सुविधानुसार नगरकीर्तन नामक का आयोजन किया जाता है। जुलूस का नेतृत्व पांच सिक्खों द्वारा किया जाता है, जिन्हें पंज प्यारे के रूप में जाना जाता है, जो सिख त्रिकोणीय ध्वज, निशान साहिब को पकड़े रहते हैं। जुलूस के दौरान पवित्र श्रीगुरु ग्रंथ साहिब जी को पालकी में स्थापित कर नगर भ्रमण किया जाता है। लोग समूहों में भजन कीर्तन करते हैं और पारंपरिक संगीत वाद्ययंत्र बजाते हैं और अपने मार्शल आर्ट कौशल का प्रदर्शन भी करते हैं। सिख समाज की पहचान के प्रतीक झंडों और फूलों से सजी सड़कों पर हर्षोल्लास के साथ नगर कीर्तन ( जुलूस ) गुजरता है। *लंगर* मूल रूप से एक फारसी शब्द, लंगर एक भिखारी या गरीबों और जरूरतमंदों के लिए एक जगह के रूप में अनुवाद करता है। सिख परंपरा में, सामुदायिक रसोई को यह नाम दिया गया है। लंगर की अवधारणा किसी भी जरूरतमंद को भोजन प्रदान करना है - चाहे उनकी जाति, वर्ग, धर्म या लिंग कुछ भी हो - और हमेशा गुरु के अतिथि के रूप में उनका स्वागत करें। ऐसा कहा जाता है कि गुरु नानक, जब वे बच्चे थे, उन्हें कुछ पैसे दिए गए थे और उनके पिता ने सच्चा सौदा (एक अच्छा सौदा) करने के लिए बाजार जाने के लिए कहा था। उनके पिता अपने गांव के जाने-माने व्यापारी थे और चाहते थे कि युवा नानक 12 साल की उम्र में पारिवारिक व्यवसाय सीखें। सांसारिक सौदेबाजी करने के बजाय, गुरु ने पैसे से भोजन खरीदा और संतों के एक बड़े समूह को खिलाया जो कई दिनों से भूखे थे। उन्होंने जो कहा वह सच्चा व्यवसाय था। गुरु नानक जयंती पर, जुलूस और समारोह के बाद स्वयंसेवकों द्वारा गुरुद्वारों में लंगर की व्यवस्था की जाती है। सिख धर्म और सामुदायिक सेवा हाल के दिनों में, हमने कई गुरुद्वारों को आगे आते देखा है और जरूरतमंदों को भोजन और आश्रय प्रदान करते हैं। चाहे भारत में हो या विदेश में, जहां भी जरूरत हो, सिख समुदाय को लोगों की हर संभव मदद करते देखा जा सकता है। गुरु नानक जयंती की छुट्टी गुरु नानक जयंती को पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, झारखंड और पश्चिम बंगाल में सार्वजनिक अवकाश के रूप में मनाया जाता है।
  • नशा मुक्ति थीम पर बन रहा मां दुर्गा का अनोखा पंडाल: शराब की बोतल, गुटखा पैकेट और गांजे से तैयार
    दुर्ग: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में दुर्गा उत्सव समितियां पंडाल की भव्यता के साथ ही जन जागरूकता को लेकर विशेष झांकी तैयार करा रही हैं। पावर हाउस के लाल मैदान में नशा मुक्ति थीम पर बन रही झांकी की खूब चर्चा हो रही है।समिति ने इस बार दर्शनार्थियों को नशे से दूर रहने का संदेश देने के लिए नशा मुक्ति थीम पर झांकियां तैयार करवाई है। इस झांकी को तैयार करने में 25 हजार से अधिक शराब की बोतलें लगाई गई हैं। गुटखे के पैकेट से पंडाल को सजाया गया है। पंडाल में गांजे की खेती को दिखाया गया है। इंजेक्शन के नशे और सिगरेट के नशे से नुकसान को दिखाया गया है। नशे की लत छुड़ाने शपथ जोन भी दुर्गा पंडाल में लोगों को शराब, गांजा, सिगरेट, गुटखा, चरस, अफीम सहित अन्य सभी नशे के दुष्परिणाम को दिखाया गया है। इन झांकियों को देखने के बाद यदि किसी का मन बदलता है और वह नशा छोड़ना चाहता है तो उनके लिए यहां शपथ जोन बनाया गया है। लोग शपथ जोन में आकर मां दुर्गा को साक्षी मानकर नशा छोड़ने के लिए संकल्प ले पाएंगे। निःशुल्क वैक्सीनेशन, हड्डी-किडनी जांच परामर्श शिविर समिति के प्रबंधक विजय सिंह ने बताया कि 26 सितंबर से 8 अक्टूबर तक कोविड-19 के दुष्प्रभाव से बचने के लिए वैक्सीनेशन शिविर लगाया जाएगा। यहां लोग पहले-दूसरे और बूस्टर डोज निःशुल्क लगवा पाएंगे। वैक्सीनेशन का समय सुबह 10 से शाम 5 बजे तक रहेगा। इसके बाद 28 सितंबर को दोपहर 3 बजे से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है। इसमें समिति के सदस्य सहित आमजन भी रक्तदान कर सकते हैं। समिति ने 51 यूनिट ब्लड डोनेट का लक्ष्य रखा है। 2 अक्टूबर को अस्थि रोग विशेषज्ञ सुबह 11 से 2 बजे तक हड्डी रोग से संबंधित जांच व उपचार करेंगे। इसी दिन दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक किडनी रोग विशेषज्ञों का शिविर लगाया जाएगा। अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में आएंगे जाने-माने कवि अष्टमी को हवन के बाद कन्या भोज का आयोजन किया गया है। 5 अक्टूबर दशहरे के दिन भंडारा होगा। 8 अक्टूबर को समिति की ओर से पूजा प्रांगण स्थल पर अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है। इसमें कई कवि भाग लेंगे।
  • सायलेंसर एवं उससे निकाली जाने वाली कीमती धातु बरामद आरोपियो को गिरफतार कर न्यायालय किया जायेगा पेश
    मन्नू मानिकपुरी संवाददाता / बिलासपुर/ उप पुलिस महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर पारूल माथुर के निर्देश परं अति०पुलिस अधीक्षक शहर बिलासपुर राजेन्द्र जायसवाल द्वारा जिले में लगातार हो रही इको कार के सायलेंसर की चोरी पर अंकुश लगाने हेतु एवं धरपकड करने के निर्देश प्राप्त हुए, जिसके परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बिलासपुर श राजेन्द्र जायसवाल एवं सी. एस. पी. (सरकंडा ) स्नेहिल साहू के निर्देशन में थाना प्रभारी सरकंडा उत्तम कुमार साहू के हमराह में सरकंडा पुलिस के द्वारा इको कार के सायलेंसर की चोरी पर अंकुश लगाने एवं आरोपियों की धरपकड हेतु विशेष अभियान चलाया गया इसी दौरान सरकंडा पुलिस के आरक्षक अविनाश कश्यप को सूचना मिली कि दो व्यक्ति लगातार जिला बिलासपुर, बलौदाबाजार भाठापारा, जांजगीर चांपा, मुंगेली तथा दुर्ग से ईको कार से सायलेंसर चोरी कर सायलेंसर में लगे कीमती धातु को निकालकर सायलेंसर को तलाब एवं निर्जन स्थानो में फेंक रहे है, इसी क्रम में विवेकानंद नगर मोपका तलाब के पास उक्त व्यक्तियों को सायलेंसर से धातु निकालते देखे जाने की सूचना मिली जिसे आरक्षक अविनाश कश्यप ने तत्काल थाना प्रभारी उत्तम कुमार साहू को इसकी सूचना दी सूचना के संबंध में श्रीमान् उ.म.नि. एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया बिलासपुर श्रीमति पारूल माथुरIPS को अवगत कराने पर तत्काल रेड कार्यवाही करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये, जिस पर श्रीमान् अति. पुलिस अधीक्षक शहर राजेन्द्र जायसवाल, एवं नगर पुलिस सरकण्डा स्नेहिल साहू के कुशल मार्गदर्शन में मुखबीर की सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुये थाना सरकंडा पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर आरोपियो को घेराबंदी किया गया,जो पुलिस को देखकर दोनो आरोपी सायलेंसर एवं उसमें से निकाले गये कीमती धातु को फेंक कर भागने लगे जिसे दौडाकर पकड़ा गया और हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया जो पूछताछ पर अपना नाम शेख राहेल पिता शेख इमरान उम्र 23 साल निवासी विवेकानंद नगर मोपका तथा शेख रूस्तम पिता शेख इमरान उम्र 20 साल निवासी विवेकानंद नगर मोपका होना बताये,आरोपियों से पूछताछ पर बिलासपुर जिला के विभिन्न स्थानो से इको कार से सायलेंसर चोरी कर उसमें से कीमती धातु निकालकर राशिद पिता मुबारक अली उम्र 30 साल साकिन असौई थाना हसैन जिला हाथरस उ.प्र. हा.मु. तैयबा चौक आरिफ खान के मकान में थाना सिविल लाईन बिलासपुर तथा जुबेर खान पिता पप्पू खान उम्र 25 साल साकिन चहला थाना अहमदगढ जिला बुलंदशहर उ.प्र. हा.मु. तैयबा चौक आरिफ खान के मकान में थाना सिविल लाईन बिलासपुर को बेचना स्वीकार किये जो आरोपी राशिद खान एवं जुबेर खान के किराये के निवास में पहुंचकर घेराबंदी कर पकड़ा गया जिनके कब्जे से सायलेंसर से निकाले गये कीमती धातु बरामद किया गया है। आरोपियों को गिरफतार कर माननीय न्यायालय पेश किया जा रहा है। संपूर्ण कार्यवाही में एसीसीयू टीम प्रभारी निरीक्षक हरविंदर सिंह, थाना प्रभारी सरकंडा उत्तम कुमार साहू, उनि सायबर प्रभाकर तिवारी, उनि सत्यनारायण देवांगन प्रधान आरक्षक अरविंद सिंह, विकास सेंगर, आरक्षक प्रमोद सिंह, अविनाश कश्यप, सोनू पाल, मनीष वाल्मिकी, तदबीर पोर्ते, भागवत चंद्राकर, राहुल सिंह, अशफाक अली, मुकेश शर्मा, शिव जोगी, गोवर्धन शर्मा, अरविंद अनंत, इंद्रावन सिंह का विशेष योगदान रहा।
  • कांग्रेस द्वारा रमन सिंह के खिलाफ नोटिस की तैयारी - कथन वापसी के लिए दिया 3 दिन का समय

    कांग्रेस रमनसिंह पर करेगी कानूनी नोटिस जारी - 

    कर्ज माफी को लेकर खाई गयी थी कसम - न कि पूरे घोषणा पत्र पर : कांग्रेस

     

    रायपुर ब्रेकिंग कांग्रेस PC गंगाजल सम्मान यात्रा को लेकर पत्रकार वार्ता , उस दिन कसम कर्ज माफी को लेकर खाई गयी थी... न कि पूरे घोषणा पत्र...बेवजह अफवाह फैला रही है BJP.. कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिनों के अंदर किसानों की कर्जमाफी किया गया..चार वर्ष पहले पत्रकार वार्ता का दिखाया गया फुटेज...कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल ने कहा कि : भाजपा अफवाह और भ्रम फैला रही है , भाजपा हाथ में गंगाजल लेकर यह कसम खाये की कांग्रेस के द्वारा गंगाजल लेकर घोषणा पत्र में किये वायदों को पूरा करने की बात कही थी ? आरपी सिह : झूठ बोलने की राजनीत करती है बीजेपी... छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा : भाजपा गंगाजल के नाम पर बोल रही झूठ...राजनैतिक स्वार्थ के लिए बोल रही है झूठ.. असत्य का ले रही है सहारा.. भाजपा यह पहले कभी नही किया...भाजपा कर्ज माफी को लेकर ऐसा कर रही है.. कांग्रेस ने कर्ज माफी को लेकर गंगाजल उठाया था और किया है.. 10 घंटे में किया कर्ज माफी...विपरीत परिस्थितियों में भी किया कर्ज माफी...कांग्रेस के लैटर पेड के माध्यम से फैलाया था झूठ..छत्तीसगढ़ की जनता इसे कब्जी स्वीकार्य नहीं करेगी... रमनसिंह को भी पता है...की आखिर किस लिए गंगाजल को हाथ में रख कर कसम खाया गया था.. भाजपा अशांति और असंतोष फैलाने के लिए कर रही है दुष्प्रचार... जो चीज गंगाजल से जुड़ी नहीं है उसे रमनसिंह द्वारा जोड़ कर किया जा रहा है दुष्प्रचार तीन दिनों के भीतर अपने कथन को वापस नही लेते हैं तो कांग्रेस रमनसिंह पर करेगी कानूनी नोटिस जारी...

  • नवरात्री पर डोंगरगढ़ पहुंचने वाले दर्शनार्थियों के लिए खास खबर...जल्दी पढ़े

    डोंगरगढ़: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले से करीब 40 किमी की दुरी पर डोंगरगढ़ गांव के पहाड़ पर मां बम्लेश्वरी का दरबार स्तिथ है। यहां हर साल नवरात्री के अवसर पर लाखों के तादात में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। वहीं कल से प्रारंभ होने वाले शारदीय नवरात्र पर्व के सफल संचालन एवं भीड़ नियंत्रण को लेकर प्रशासन ने ट्रेफिक व्यवस्था तथा दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए मार्ग निर्धारण के आदेश जारी किए है।

    इस दौरान प्रशासन ने शहर के गणमान्य तथा जनप्रतिनिधियों से चर्चा की तथा यातायात व्यवस्था एवं स्थानीय तथा बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों के लिए मार्ग व्यवस्था पर सुझाव लिए। पार्किंग तथा असमाजिक तत्वों द्वारा दुकानों से अवैध वसूली की शिकायत तुरंत थाने में करने की बात कही।

    प्रशासन ने मार्ग को लेकर आदेश में डोगरगढ़ से राजनांदगांव जाने के लिए चिचोला रोड में गाजमर्रा, राजकट्टा, चंद्रगिरी, गुरूद्वारा पर्किंग चौक से कुरुभांट मुरमुंदा चौक, पटपर, उरईडबरी, तुमड़ीबोड होते हुए राजनादगांव दुर्ग- रायपुर पहुंचा जायेगा। उसी तरह राजनांदगांव से डोगरगढ़ आने वाले यात्रियों के लिए -तुमड़ीबोड-मुरमुदा चौक, बधियाटोला नरेन्द्र सॉ मिल, रेल्वे पटरी होते हुये नीचे मंदिर- हॉस्पीटल रोड-गौ-शाला पार्किंग होते हुए डोगरगढ पहुंचेंगे।

  • *स्काईवॉक की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर न्यायाधीश से जांच करा ले । थोथी राजनीति ना कर निर्णय करे - राजेश मूणत*

    सरकार में दम है तो स्काईवॉक की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर न्यायाधीश से जांच करा ले-

    सेक्रेटरी भी यही है, ठेकेदार भी यही है और अधिकारी भी हैं और उस कार्य की फाइल भी आपके सरकार के पास है, आखिर आपने किया क्या ? - राजेश मूणत

     

    *इस सरकार में दम है तो स्काईवॉक की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर न्यायाधीश से जांच करा ले । थोथी राजनीति ना कर निर्णय करे - राजेश मूणत* रायपुर । भाजपा प्रवक्ता व पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने राज्य सरकार को चुनौती देते हुए कहा इस सरकार में दम है तो स्काईवॉक की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर न्यायाधीश से जांच करा ले । अन्यथा इस पर थोथी राजनीति ना कर कोई निर्णय करे । उन्होंने कहा कि विकास की सोच, दृष्टिकोण व विचार क्या होता है, जो मुख्यमंत्री यह नही जानता वह सिर्फ आरोप ही लगा सकता है ,कार्य नही कर सकता। उन्होंने कहा कि सबसे पहले सरकार यह बताएं कि 4 साल वह सो रही थी क्या ?

     

    राजेश मूणत ने कहा कि सेक्रेटरी भी यही है, ठेकेदार भी यही है और अधिकारी भी हैं और उस कार्य की फाइल भी आपके सरकार के पास है, आखिर आपने किया क्या ?

    4 साल में आप यह नहीं तय कर पाए की इस स्काईवॉक का करना क्या है , शहर की बनी हुई एक स्मार्ट सड़क जिसमें लोग आ जा रहे हैं उस एक्सप्रेसवे की छोटी सी तकनीकी खामी को मरम्मत करने में आपने 4 साल लगा दिए। ऐसी सरकार से क्या अपेक्षा कर सकते है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहले इस बात का जवाब दें कि जिस सड़क से वह अपने गृह नगर जाते हैं उस टाटीबंध, चरोदा और कुम्हारी के लाखों नागरिक पूछ रहे हैं कि जो ब्रिज बनना था वह आज तक बना क्यों नहीं । उन्होंने कहा कि आपके विधानसभा क्षेत्र में जितने विकास के काम मैंने स्वीकृत किए थे पहले वह पूरा कर लो फिर कोई प्रश्न हम से पूछना। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कहा कि वह अपने कार्य का आईना देख ले सच्चाई स्वमेव सामने आ जाएगी।

  • बिजली बिल के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे... जाने कैसे देता था वारदात को अंजाम

    दुर्ग। CG Crime बिजली का बिल नहीं पटाने पर कनेक्शन काटने का मैसेज भेजकर ठगी के वारदात को अंजाम देने वाला जामताड़ा गिरोह के सदस्य को गिरफ्तार करने में स्मृतिनगर चौकी पुलिस ने सफलता प्राप्त की है। आरोपी ने देश के कई राज्यों में 1 करोड़ से अधिक की ठगी के वारदात को अंजाम दिया है।

    मामले का खुलासा करते हुए एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि भिलाई के सुंदर नगर कोहका निवासी पुष्पेन्द्र गजेन्द्र ने स्मृति नगर चौकी में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में पीड़ित ने बताया कि 10 अगस्त को मोबाइल नम्बर पर एक अज्ञात व्यक्ति का व्हाट्सअप मैसेज आया। मैसेज में लिखा था आप का बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा, बिजली बिल जमा नहीं हुआ है।

    यदि बिजली कनेक्शन कटने से रोकना चाहते है तो दिए गए बिजली विभाग के मोबाइल नम्बर पर अधिकारी से बात करो। पीड़ित ने व्हाट्सअप पर भेजे गए मोबाइल नम्बर पर संपर्क किया। दूसरी ओर से खुद को बिजली विभाग का कर्मचारी बताते हुए बिजली कनेक्शन काटने से रोकने के लिए अपने वरिष्ठ अधिकारी से बात करने को बोलकर एक नया मोबाइल नम्बर दिया गया

    जिस पर पीड़ित के द्वारा सम्पर्क करने पर उसके द्वारा एप्लीकेशन डाउनलोड कराया गया। जिससे प्रार्थी के बैंक खाते से 1,48030 रुपए कट गया। अज्ञात आरोपियों के द्वारा के बिजली कनेक्शन कट जाने का झांसा देकर धोखाधड़ी किया गया है। रिपोर्ट पर चौकी स्मृति नगर थाना सुपेला में अपराध दर्ज कर जांच में लिया था। जांच के दौरान पुलिस ने पांच दिन तक रोड ठेकेदार बनकर जमताड़ा में खुफिया तरीके से रैकी की।

    तब जाकर गिरोह का एक आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा। पुलिस ने आरोपी मुकेश मण्डल 27 वर्ष निवासी ग्राम झिलुवा टोलाको गिरफ्तार किया हैं। वहीं इस मामले में गिरोह के तीन आरोपी अजय मण्डल 21 वर्ष, अक्षय उर्फ पिन्टू मण्डल 20 वर्ष, व रंजीत मण्डल 35 वर्ष फरार हैं। पुलिस ने बताया कि चारों आरोपियों ने मिलकर देश के कई राज्यों में बिजली बिल के नाम पर एक करोड़ से ज्यादा की ठगी की है।

  • 13 साल की लड़की से कलेक्ट्रेट कर्मी ने किया रेप, फिर इंस्टाग्राम में भेजने लगा अश्लील मैसेज, परिजनों ने मोबाइल चेक किया तो हुआ खुलासा

    बिलासपुर। जिले में 13 साल की लड़की से रेप करने वाले कलेक्ट्रेट कर्मी (collectorate personnel) को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी युवक ने करीब साल भर इंस्टाग्राम पर दोस्ती किया, फिर गिफ्ट देने का झांसा देकर लड़की को अपने घर ले गया था और उससे दुष्कर्म किया था। इसके बाद से वह इंस्टाग्राम में गंदे-गंदे मैसेज भी करने लगा था। केस दर्ज होने के बाद से वह फरार हो गया था और एक माह से महाराष्ट्र में छिपा था। घटना सिविल लाइन थाना क्षेत्र की है।

    मुंगेली जिले के लोरमी निवासी अनिरुद्ध राजपूत (31) कलेक्ट्रेट में कम्प्यूटर ऑपरेटर है। वह सिविल लाइन क्षेत्र के गवर्नमेंट क्वार्टर में रहता है। उसी मोहल्ले में रहने वाली 13 साल की लड़की को देखकर उसकी नीयत बिगड़ गई। तब बच्ची 7वीं में पढ़ती थी। जून 2021 में उसने लड़की को गिफ्ट देने के बहाने बुलाया और अपने कमरे में ले जाकर दुष्कर्म किया। आरोपी ने लड़की को डराया-धमकाया और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। उसके डर से लड़की ने किसी को कुछ नहीं बताई थी।

     

    लड़की का मोबाइल देखने पर हुआ खुलासा

    लड़की से रेप करने के बाद आरोपी अनिरुद्ध उसे इंस्टाग्राम पर अश्लील मैसेज करता था और उसे परेशान करने लगा था। उसकी हरकतों से लड़की तंग आ गई थी। लेकिन, वह डर से परिजनों को कुछ नहीं बताई थी। लड़की का मोबाइल देखने के बाद परिजनों को उसकी हरकतों की जानकारी हुई। उन्होंने लड़की को समझाइश देकर पूछताछ की। इसके बाद नाराज परिजनों ने आरोपी युवक की जमकर पिटाई भी की थी, जिसकी वजह से आरोपी भाग गया था। इधर, मामला सामने आने के बाद परिजन ने उसके खिलाफ पुलिस से शिकायत की। लड़की का बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने आरोपी युवक पर केस दर्ज कर लिया।

    नंबर ट्रैस करने पर गिरफ्तार हुआ फरार आरोपी 

    इस घटना के बाद से पुलिस आरोपी युवक की तलाश कर रही थी। लेकिन, वह दो माह से मोबाइल बंद कर फरार था। पुलिस उसके परिजन और करीबियों के संपर्क में थी। कुछ दिन पहले ही उसने महाराष्ट्र के शिरडी से कॉल किया था। वह धर्मशाला में रहकर लंगर में खाना खाता था। पुलिस ने नंबर ट्रैस करके उसे दबोच लिया। पूछताछ में पता चला कि आरोपी युवक एक माह से शिरडी में छिपा था।

  • इस गली विच नो एंट्री...शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर लगी रोक, जानिए वजह

    बिलासपुर/रतनपुर: देशभर में नवरात्रि पर्व को लेकर धूम है। हर जगह माता जी के आगमन को लेकर तैयारी की जा रही है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल रतनपुर में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है।

    श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। जिसको देखते हुए रतनपुर मार्ग पर मोटरसाइकिल, कार व बस को लेकर मार्ग में परिवहन परिवर्तन किया गया है। इस दौरान वाहनों के रफ्तार पर भी ध्यान प्रशासन द्वारा रखा जाएगा।

  • जंगली हाथियों का आतंक, एक महिला की मौत, ग्रामीणों में दहशत का माहौल

    अम्बिकापुर। सरगुजा जिले के उदयपुर वन क्षेत्र में दस जंगली हाथियों का दल आने से क्षेत्र के ग्रामीणों में दहशत का माहौल बन गया है। हाथियों के द्वारा उनके फसल को उनके घरों को कोई नुकसान ना पहुंचाए इसके लिए ग्रामीण रात रात भर जाग रहे हैं। वहीं दूसरी ओर वन विभाग भी जंगली हाथियों के दल के आने से ग्रामीणों के साथ मिलकर उसे ग्रामीण क्षेत्रों में घुसने से रोकने का प्रयास में लगी हुई है।

    वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी गांव में पहुंचे और ग्रामीणों को अँधेरे में बाहर न जाने की समझाईश दी जा रही है बताया जा रहा है सूरजपुर जिले के प्रेम नगर से होते हुए उदयपुर वन परिक्षेत्र में हाथियों का दल पहुँच गया है। जहां हाथियों के आने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। वही जंगली हाथी के हमले से एक ग्रामीण की मौत की खबर है इसके बावजूद वन विभाग इन जंगली हाथियों को नियंत्रण करने में अभी तक असफल रही है जबकि राज्य सरकार प्रति वर्ष करोड़ों रुपये की राशि इन जंगली हाथियों को नियंत्रित करने में खर्च कर रही है। वन विभाग की माने तो सरगुजा संभाग अन्तर्गत अम्बिकापुर, सुरजपुर व जशपुर के जंगलों में अलग-अलग समुहों में सैकड़ों की संख्या में जंगली हाथी विचरण कर रहे हैं।

  • प्रत्येक व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से हो आयुष्मान कार्ड- स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव

    अंबिकापुर: छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव शुक्रवार को आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित साइकिल रैली में शामिल हुए। उन्होंने रैली में करीब 2 किमी साइकिल चलाकर आयुष्मान कार्ड बनाने लोगों को प्रोत्साहित किया। रैली अंबिकापुर के मणीपुर स्कूल से शुरू होकर शासकीय बहुउद्देश्यीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में सम्पन्न हुई। रैली के बाद शासकीय बहुउद्देश्यीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में अतिथियों के द्वारा छात्र छात्राओं को आयुष्मान कार्ड का वितरण किया गया।

    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि लोगों को स्वास्थ्य रहने व शारीरिक फिटनेस के प्रति जागरूक करने के लिए साइकिल रैली निकाली गई। कोई बीमार नहीं पड़ना चाहता लेकिन जब बीमार पड़ जाते है तो कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लोगों को बीमारी के ईलाज की सुविधा देने के लिए सरकार आयुष्मान कार्ड बनाकर दे रही है। जब सरकार आयुष्मान कार्ड के जरिये सबके लिए ईलाज की व्यवस्था कर रही है तो इसे बनवाने में पीछे न रहे। हर व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से आयुष्मान कार्ड होनी चाहिए। वर्तमान में एक रुपये प्रति किलोग्राम चावल प्राप्त करने वाले राशन कार्ड धारियों के लिए 5 लाख तक तथा अन्य राशन कार्ड धारियों के लिए 50 हजार रुपये तक की ईलाज के लिए आयुष्मान कार्ड प्रत्येक व्यक्ति के लिए बनाई जा रही है। प्रदेश में करीब 58 लाख परिवारों को 5 लाख रुपये की ईलाज की व्यवस्था की जा रही है।

    मंत्री सिंहदेव ने कहा कि यूनिवर्सल हेल्थ केयर के तहत आयुष्मान कार्ड को हेल्थ कार्ड के रूप में पहचान पत्र बनाने की दिशा में कार्य करने पर विचार किया जा रहा है। हेल्थ कार्ड में व्यक्ति की पूर्व इलाज की पूरी जानकारी संग्रहित रहेगी। प्रत्येक हेल्थ कार्डधारी का अपना पासवर्ड रहेगा जिसको स्वयं ऑनलाइन खोल सकेंगे और देश के किसी भी अस्पताल में ईलाज कराने पर पूर्व ईलाज की पूरी जानकारी मिल जाएगी। हेल्थ कार्ड बनाने की दिशा में आयुष्मान कार्ड पहला चरण है। इसलिए सबसे पहले सभी आयुष्मान कार्ड बनवाएं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में आयुष्मान कार्ड, डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना तथा मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के माध्यम से ईलाज की व्यवस्था की जा रही है। 5 लाख तक की ईलाज की सीमा को सभी के लिए 10 लाख तक करने पर भी विचार किया जा रहा है।

    जिला पंचायत उपाध्यक्ष आदित्येश्वर शरण सिंहदेव ने कहा कि वर्तमान में बीपीएल परिवार को 5 लाख तक तथा मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना अंतर्गत गंभीर बीमारी की ईलाज के लिए 20 लाख तक की व्यवस्था है। सभी अपना आयुष्मान कार्ड बनवाएं। इससे ईलाज कराने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए प्रोत्साहित करें।

    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पीएस सिसोदिया ने कहा कि आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए नगर निगम के सभी वार्डों में शिविर लगाए जा रहे है। अब तक जिले में 57 प्रतिशत लोगों ने आयुष्मान कार्ड बनवाया है। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता, पार्षद शैलेंद्र सोनी एवं प्रमोद चौधरी सहित स्थानीय जन प्रतिनिधि, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे उपस्थित थे।

  • जिला न्यायाधीश लिखित परीक्षा का परिणाम जारी...यहां देखिए रिजल्ट

    बिलासपुर: छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय द्वारा छत्तीसगढ़ उच्चतर न्यायिक सेवा (भर्ती एवं सेवा शर्ते) नियम, 2006 के नियम (5) (ग) के अंतर्गत जिला न्यायाधीश (प्रवेश स्तर) सीधी भर्ती हेतु आयोजित लिखित परीक्षा 14 नवंबर 2021 के परिणाम की घोषणा कर दी गई है।

    परीक्षार्थी अपना रिजल्ट छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय, बिलासपुर की वेबसाइट https://highcourt.cg.gov.in पर देख सकते हैं।

Previous123456789...967968Next