State News
  •  मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल भोजन के लिए राजागांव में किसान  मंगलराम मंडावी के घर पहुंचे...

    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल भोजन के लिए राजागांव में किसान  मंगलराम मंडावी के घर पहुंचे।

    यहां किसान  मंगलराम एवं उनकी पत्नी श्रीमती सुमित्रा ने स्थानीय फूलों से निर्मित गुलदस्ता  भेंटकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया।

    यहां साल के पत्ते से बने पत्तल और दोने पर मुख्यमंत्री को स्थानीय व्यंजन भोजन में परोसा गया।
    मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने ग्राम पंचायत राजागांव में किसान  मंगल राम मंडावी के घर पर मुनगा भाजी, कोयलारी भाजी, उड़द दाल, मड़िया पेज (मक्का डला हुआ),  गेहूं के आटे से बनी रोटी ,सलाद(मूली+ गाजर) ,आम की  पिसी चटनी, टमाटर की चटनी,का स्वाद लिया।

    यहां आबकारी मंत्री  कवासी लखमा, बस्तर लोकसभा सांसद  दीपक बैज, राज्यसभा सांसद श्रीमती फूलोदेवी नेताम, कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, संतराम नेताम, आदि उपस्थित रहे।
    मुख्यमंत्री ने स्वादिष्ट व्यंजन के लिए  मंगलराम एवं उनके परिजनों को उपहार भेंट कर धन्यवाद दिया।

  • शासकीय योजनाओं का लाभ ले रहे हैं लोग : सीएम बघेल

    जगदलपुर । सीएम ने अधिकारियों की समीक्षा बैठक के दौरान कहा, वनधन, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि न्याय योजना बस्तर के लोंगो के लिए बहुत हितकर साबित हो रहा है। लोग शासकीय योजनाओं का लाभ ले रहे हैं, खेतों के प्रति रुझान बढ़ रहा है।

    राशन कार्ड सबका बना है, सबको राशन मिल रहा है,परंपरागत खेती, कोदो, कुटकी का रकबा भी बढ़ा है। मैं जहाँ भी जा रहा हूँ लोग बैंक मांग रहे हैं, इसका मतलब है लोगों के पास पैसा आ रहा है।

    बस्तर बदलाब की तरफ बढ़ रहा है, कई जगह कॉलेज, आत्मानंद स्कूल, हॉस्टल की मांग हो रही है। नक्सल समस्या को हल करने के लिए आम लोगों का विश्वास जितना जरूरी है। अब हम लोगों तक पहुच रहे हैं, आय के साधन, रोजगार बढ़ा रहे हैं। हम जल, जंगल, जमीन पर अधिकार देने का काम कर रहे हैं।टाटा द्वारा अधिग्रहित जमीन वापस की, अबूझमाड़ में पट्टे बंटे हैं, दंतेवाड़ा में आवागमन की सुविधा, राशन दुकान, सोलर लाइट, सब लग रहा है। नये स्कूल खुल रहे हैं।

  • छत्तीसगढ़ – आंधी-तूफान से मिरौनी बैराज में डोंगी पलटी, 3 मछुआरे फंसे

    छत्तीसगढ़ में आंधी-तूफान ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. कई जिलों में तेज हवाओं और आंधी तूफान के साथ जोरदार बारिश हुई है. इसी बीच रायगढ़ से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. बांध में 3 मछुआरे फंस गए हैं, जो जिंदगी औऱ मौत से जंग लड़ रहे हैं.

    वीडियो रायगढ़ के मिरौनी बैराज बांध का है. जहां शाम को आंधी-तूफान से मिरौनी बैराज में डोंगी पलट गई. डोंगी से मछली पकड़ने गए लोग बीच बांध में फंस गए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक डोंगी आंधी तूफान के कारण पलट गई. डोंगी पलटने के कारण तीन लोग फंस गए हैं. उनकी क्या स्थिति है अभी तक अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, जो वहां से तस्वीर मिली है. वह डरा देने वाली है.

    बता दें कि एक व्यक्ति बांध के किनारे आता दिख रहा है, लेकिन अभी कुछ कहा नहीं जा सकता कि क्या हुआ उसके साथ. पानी की लहरे तेजी से हिलोर मार रही हैं, जिससे खतरा बना हुआ है.

  • संभागायुक्त ने पोषण पुनर्वास केन्द्र एवं सी-मार्ट का किया अवलोकन

    संभागायुक्त दुर्ग  महादेव कावरे ने आज जिला चिकित्सालय बेमेतरा में स्थापित एन.आर.सी. का अवलोकन किया। उन्होने ग्राम कन्हेरा की श्रीमती गणेसिया बाई एवं निर्मला बाई के बच्चे का स्वास्थ्य का हालचाल पूछा। इसके अलावा उन्होने ग्राम बोहारडीह के हीराधर वर्मा जिन्होने मोतिया बिंद का ऑपरेशन करवाया है के स्वास्थ्य की जानकारी ली। इसमें आवास, भोजन एवं उपचार की निःशुल्क सेवा शामिल है। इसके अलावा संभागायुक्त ने  धनवंतरी जेनरिक मेडिकल स्टोर का भी मुआयना किया। इस दौरान उन्होने दवाईयों के अवसान तिथि व उचित मूल्य की जानकारी ली। श्री कावरे ने जिला मुख्यालय बेमेतरा में सी-मार्ट का भी मुआयना किया और महिला समूह द्वारा बेचे जा रहे उत्पाद की जानकारी ली। इस अवसर पर कलेक्टर  विलास भोसकर संदीपान, पुलिस अधीक्षक  धर्मेन्द्र सिंह, सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ. वन्दना भेले सहित चिकित्सा स्टाफ उपस्थित थे।

  • संभागायुक्त श्री कावरे ने जिला स्तरीय अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक

    संभागायुक्त श्री महादेव कावरे ने आज गुरुवार को संयुक्त जिला कार्यालय कलेक्टोरेट बेमेतरा के दिशा-सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। इस दौरान उन्होंने शासन की विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रस्तावित प्रदेश व्यापी विधानसभा स्तरीय दौरे के संबंध में की जा रही तैयारियों के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होने कहा कि जिले के आम लोगों की समस्याओं का निराकरण संवदेनशीलता के साथ करें। आमजनों की शिकायत को गंभीरतापूर्वक सुने और उसका नियमानुसार त्वरित निराकरण करें। संभागायुक्त ने कहा कि राजस्व शिविर आयोजित कर नामांतरण, बंटवारा एवं सीमांकन के प्रकरणों का निराकरण करें। उन्होंने सीमांकन के प्रकरणों का निराकरण शीघ्रता से करने के निर्देश दिए। विकासखण्ड स्तर पर शिविर लगाकर पेंशन से संबंधित प्रकरणों तथा राशन कार्ड के लंबित प्रकरणों का निराकरण करें। विद्युत संबंधी शिकायतों का त्वरित निराकरण किया जाए। शासकीय भवनों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से स्थापित हो। संभागायुक्त ने कहा कि स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता हो। श्री कावरे ने शासन की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना एवं गोधन न्याय योजना की प्रगति की समीक्षा की और चयनित गौठानों में स्थापित किए जा रहे ग्रामीण औद्योगिक पार्क के कार्यों की प्रगति की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने शासन की विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर श्री विलास भोसकर संदीपान, पुलिस अधीक्षक श्री धर्मेन्द्र सिंह छवई, अपर कलेक्टर डॉ. अनिल बाजपेयी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
     
    संभागायुक्त श्री कावरे ने सुराजी ग्राम योजना और गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि गौठानों में मल्टीएक्टीविटी कार्य प्रारंभ कर ग्रामीण औद्यौगिक पार्क के रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए गौठानों में स्व सहायता समूह के लिए विभिन्न गतिविधियां प्रारंभ करने के निर्देश दिए। इससे महिलाओं को लाभ होना चाहिए। संभागायुक्त ने आगामी खरीफ सीजन हेतु धान के बदले अन्य फसल को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे कार्यों की प्रगति की जानकारी ली और शासन से प्राप्त लक्ष्य हासिल करने के निर्देश दिए। संभागायुक्त ने जिले में वर्तमान में खाद-बीज के भण्डारण और वितरण की जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में अधोसंरचना एवं शिक्षकों की व्यवस्था, खेल सामग्री, फर्नीचर आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि नामांतरण, बंटवारा एवं सीमांकन के प्रकरणों का अभियान चलाकर पूरा करें। पटवारियों की टीम बनाकर समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए। आगामी बारिश को ध्यान में रखते हुए किसानों को खरीफ फसल के लिए धान बीज, खाद, बिजली की समस्या नहीं होनी चाहिए, इसके लिए पहले ही तैयारी कर ली जाए। कलेक्टर श्री भोसकर ने कहा कि विभागीय अधिकारी परस्पर समन्वय से कार्य करते हुए शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों का बेहतर क्रियान्वयन करेंगे और शासन द्वारा जो लक्ष्य निर्धारित किया गया है उसे जल्द पूरा करेंगे।
     
    संभागायुक्त श्री कावरे ने लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत पंजी निर्धारित प्रारुप में संधारित किया जाये तथा प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में करें। जिले में जल जीवन मिशन के अंतर्गत स्वीकृत कार्याे की जानकारी ली और कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में पेयजल की स्थिति की जानकारी ली और कहा कि जिले में पेयजल की समस्या ना हो। उन्होंने मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना के अंतर्गत लाभान्वित हितग्राहियों, मुख्यमंत्री सुपोषण योजना की प्रगति, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना तथा जिले में सड़कों का रखरखाव आदि की जानकारी ली और आवश्यक दिशानिर्देश दिए। विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को समय पर राशि का भुगतान सुनिश्चित करें। संभागायुक्त ने मुख्यमंत्री द्वारा जिले के समय-समय पर प्रवास के दौरान किये गये घोषणाओं पर अमल की जानकारी ली। बैठक की समाप्ति पर अपर कलेक्टर डॉ. बाजपेयी ने आभार व्यक्त किया।

  • पहले प्यार, फिर शादी और अब आपत्तिजनक तस्वीर डालकर ब्लैकमेलिंग, दो महीने पहले ही की थी लव मैरिज

    बिलासपुर(bilaspur ) में एक युवक ने इंस्टाग्राम(instagram  ) पर फेक ID बनाकर अपनी पत्नी की न्यूड फोटो अपलोड(photo upload ) कर दी। इसके बाद उसे ब्लैकमेल करने लगा। युवती को पता चला तो उसने थाने में FIR करा दी। इसके बाद से आरोपी पति फरार है।

    जानकारी के मुताबिक  सिटी कोतवाली क्षेत्र के एक युवक और युवती के बीच कुछ समय से प्रेम संबंध(LOVE ) था। दोनों एक ही जाति के भी हैं, फिर भी परिजन उनकी शादी के लिए तैयार नहीं थे। इसके चलते करीब 2 माह पहले युवक और युवती अपने घरों से भाग गए और आर्य समाज मंदिर में शादी (marriage )कर ली।प्रेम विवाह करने के बाद दोनों पति-पत्नी किराए पर मकान लेकर अलग रहने लगे, लेकिन कुछ दिन बाद ही उनके बीच विवाद शुरू हो गया। जिसके बाद युवती उसे छोड़कर अपने मायके आ गई। इस बात से नाराज युवक ने इंस्टाग्राम पर फेक ID बनाई और पत्नी की अश्लील फोटो वायरल कर दी। साथ ही ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

    पुलिस से की शिकायत (complain )

    इस घटना की जानकारी होने पर युवती अपने भाई के साथ शिकायत करने पुलिस अफसरों के पास पहुंची। युवती ने इस मामले में कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद केस दर्ज कराने के लिए उसे कोतवाली थाने भेजा गया। युवती ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। युवती ने पुलिस को बताया कि पति ने उसके गहने और  अन्य सामान भी रख लिए हैं। महिला ने अपना सामान भी दिलाने की मांग की है।

  • Cg Accident News : रेत लोड कर आ रहे ट्रैक्टर के पलटने से चालक की मौत
    अंबिकापुर। महान नदी से रेत का अवैध खनन के कारण अब लोगों की जान जा रही है। एक माह पहले जहां रेत लोड ट्रैक्टर चालक ने एक बुजुर्ग को कुचल दिया था वहीं बुधवार की देर रात रेत लोड एक ट्रैक्टर ट्राली के अनियंत्रित होकर खेत में जाकर पलट जाने से उसके चालक की मौत हो गई।जानकारी के मुताविक सुबह चार बजे नदी से रेत लेकर निकला था, लेकिन खेत में ट्रैक्टर( tractor) पलट गई। नीचे दबने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इसी तरह एक माह पहले छिंदियाडांड में रेत चालक ने खलिहान में सो रहे बुजुर्ग रघुनाथ को कुचल दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी। चार पहिया वाहन ने मोटर साइकिल सवार को मारी ठोकर रात्रि पाली की ड्यूटी से घर लौट रहे मोटर साइकिल सवार को चार पहिया वाहन ने ठोक दिया। मोटर साइकिल सवार की मौके पर ही मौत हो गई। नंदिनी पुलिस( nandini police) ने मर्ग कायम कर कार चालक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है। नंदिनी थाना पुलिस के मुताबिक मृतक मूलचंद निर्मलकर (21) निवासी ग्राम कोडिया थाना नंदिनी एसीसी ( nandini acc)कंपनी काम करता था। वह रात्रि पाली की ड्यूटी खत्म कर मोटर साइकिल से घर लौट रहा था। दुर्ग धमधा मेन रोड शिव मंदिर के पास युवक को अज्ञात चार पहिया वाहन ने अपनी चपेट में ले लिया।
  • प्रदेश में आज भी अंधड़-बारिश की संभावना… दक्षिण-पश्चिमी मानसून अब केरल तट से सिर्फ 100 किमी दूर है और 31 तारीख या उससे पहले भी दस्तक दे सकता है…
    दक्षिण-पश्चिमी मानसून अब केरल तट से सिर्फ 100 किमी दूर है और 31 तारीख या उससे पहले भी दस्तक दे सकता है। केरल में आने के करीब 10 दिन बाद प्रदेश में मानसून सक्रिय होता है, इसलिए प्रदेश में निर्धारित समय यानी 10-11 जून तक मानसूनी वर्षा शुरू होने का अनुमान है। इधर, राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के कई हिस्से में गुरुवार तो सुबह से देर रात तक दो-तीन बार बारिश हुई है। राजधानी में 1 सेमी से ज्यादा और बिलासपुर तथा आसपास तकरीबन 1 सेमी पानी बरसा है। अंबिकापुर और जगदलपुर में भी बौछारें पड़ी हैं। इससे लगभग सभी जगह दोपहर का तापमान 2 से 5 डिग्री तक कम हो गया है। विशेषज्ञों के मुताबिक यह मानसून पूर्व की वर्षा नहीं है। ऊपरी हवा में चक्रवात और एक द्रोणिका के असर से बादल आए हैं। प्रदेश में कई जगह शुक्रवार को भी अंधड़-बारिश के आसार हैं। गुरुवार को मानसून की उत्तरी सीमा मालदीव, दक्षिण-पश्चिम अरब सागर, दक्षिणी बंगाल की खाड़ी और कोमोरिन सागर तक पहुंच गई है। केरल के तिरुवनंतपुरम तट से मानसून अब केवल 100 किलोमीटर दूर है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिन में मानसून रेखा के केरल की ओर बढ़ने व लक्षद्वीप तक पहुंचने की उम्मीद है। विभाग ने पहले कहा था कि मानसून 27 मई को केरल में दस्तक दे सकता है। वहीं, निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने मानसून के दस्तक की तारीख 26 मई बताई थी। बारिश से नौतपा भी हुआ बेअसर राजधानी में गुरुवार को सुबह 4 बजे साढ़े 3 मिमी पानी बरसा। 6 बजे भी बौछारें पड़ीं। इसके बाद दोपहर से शाम तक रुक-रुककर बूंदाबांदी हुई। आउटर यानी माना में 13 मिमी से ज्यादा बारिश हो गई। इस बारिश ने प्रदेश में दूसरे दिन भी नौतपे को बेअसर कर दिया। राजधानी में 10 सालों में 3 बार यानी 2013, 2016 व 2017 में ही नौतपे में गर्मी नहीं थी, बाकी 7 साल खूब तपे और पारा 46.3 डिग्री तक पहुंचा। बिलासपुर में भी नौतपे में पिछले 10 में से 4 साल गर्मी नहीं पड़ी। वहां 2017 में 23 मई को दोपहर का तापमान 49.3 डिग्री तक पहुंच गया, जो प्रदेश का ऑलटाइम रिकार्ड है। छत्तीसगढ़ में बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर संभाग का जंगल एरिया ही ऐसा है, जहां नौतपे में भीषण गर्मी कम बार ही रही। मौसम विज्ञान केंद्र लालपुर के अनुसार उत्तर-पश्चिम राजस्थान से छत्तीसगढ़ होते हुए अंदरुनी ओडिशा तक एक द्रोणिका बनी हुई है। इसके अलावा बिहार और आसपास 1.5 किमी ऊंचाई पर चक्रवात है। इसके असर से प्रदेश में काफी नमी अा रही है। इसी वजह से शुक्रवार, 27 मई को भी कई जगह अंधड़ के साथ हल्की वर्षा के आसार हैं।
  • 5 पार्षदों को BJP ने निकाला… नगर पालिका अध्यक्ष के लिए कांग्रेस को दिया था वोट… जांच के बाद निष्कासित…
    मुंगेली के 5 भाजपा पार्षदों को पार्टी से निकाल दिया गया है। 6 साल के लिए ये पार्षद पार्टी से बर्खास्त कर दिए गए हैं। इन पार्षदों पर मुंगेली नगर पालिका में अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी को वोट देने का आरोप है। क्रॉस वोटिंग की भाजपा ने आंतरिक तौर पर जांच करवाई और ये पार्षद दोषी पाए गए। अब भाजपा के प्रदेश महामंत्री पवन साय ने इन्हें पार्टी से निकाल बाहर करने का आदेश जारी कर दिया है। युवा मोर्चा के एक नेता अमित आर्या को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। भाजपा से निकाले गए मुंगेली के पार्षदों में सोनी जांगडे, मोहित बजारा, संतोषी मोना, मोहन मल्लाह और मोतिम बाई शामिल हैं। सारा विवाद एक साल पुराना है। तब मुंगेली नगर पालिका के परमहंस वार्ड में कोई काम किए बिना ही ठेकेदार को 13 लाख का भुगतान किए जाने का मामला उठा। आरोप तब नगर पालिका के अध्यक्ष संतुलाल सोनकर पर लगे। बवाल के बाद राज्य शासन ने सोनकर को हटा दिया और दोबारा चुनाव हुए। इसी चुनाव में कांग्रेस के हेमेंद्र गोस्वामी को जीत मिली। अब पार्षदों पर हुई कार्रवाई पर हेमेंद्र ने कहा कि ये भाजपा का अंदरूनी मामला है, मैं क्या कहूं। दरअसल मुंगेली में भाजपा के 12 और कांग्रेस 10 पार्षद हैं, 6 ने भाजपा के उम्मीदवार को वोट दे दिया था। निकाले गए पार्षद बोले- हम ऊपर तक जाएंगे पार्टी से निकाले गए पार्षद मोहन मल्लाह ने कह कि हमें आरोपी बनाना बेबुनियाद है । कार्यवाही विधि सम्मत नहीं है । उन्हें पार्टी से निकालने से पहले अपने पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया । राज्य शासन ने जिस तरह मुंगेली नगर पालिका के पृर्व अध्यक्ष पर उनके पक्ष बिना सुने एकतरफा कार्यवाही की है वैसे ही हमारी पार्टी भी हमारा पक्ष सुने बिना हमे 6 वर्षों के निकाल रही है। हम सभी इस कार्यवाही के खिलाफ पार्टी फोरम में अपील करेंगे । हम चुनौती देंगे और हमे भरोसा है हमारी बात सुनी जाएगी। कांग्रेस ने कहा- बिल्ली खिसिया गई है इस मामले को मुंगेली कांग्रेस इसे खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे वाली कार्रवाई बता रही है। मुंगेली कांग्रेस के प्रवक्ता अरविंद वैष्णव ने कहा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को भारी समर्थन मिला जिसे लेकर भाजपा की अंतर्कलह उजागर होने लगी है । मुंगेली नगर पालिका के उप चुनाव में प्रदेश सरकार के कामों पर भाजपा पार्षदों ने भी भरोसा जताया। कांग्रेस पार्टी पर पार्षदों की खरीदी का आरोप बेबुनियाद है ।
  • नहीं थम रहा हाथियों का उत्पाद, दो भाइयों पर किया जानलेवा हमला
    कोरबा। korba कटघोरा वनमंडल Katghora Forest Division स्थित ग्राम बगबुड़ा से लमना पंचायत जा रहे दो भाइयों पर हाथी ने हमला कर दिया, जिससे दोनों भाई गंभीर रुप से घायल हो गए. दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हाथियों ने फसलों को भी नुकसान पहुंचाया है. ग्राम पंचायत लमना के रहने वाले उजित नारायण और आनंद राम बगबुड़ा गए हुए थे.वहां से किसी काम से दोनों लमना स्थित सरपंच के घर जा रहे थे. दोनों गांव के बीच दो किमी का जंगल पड़ता है. सरपंच के घर जाने के दौरान रास्ते में उनका सामना हाथी से हो गया. हाथी ने दोनों पर हमला कर दिया. हाथी के हमले में दोनों भाई बच तो गए लेकिन काफी चोट लगी है.
  • फेल धान बीज  की 31 मई तक होगी खरीदी

     छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम के प्रक्रिया केन्द्रों में फेल धान बीज  को आगामी 31 मई तक समर्थन मूल्य पर समितियों के जरिए खरीदा जाएगा। खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसे ध्यान में  रखते हुए, कलेक्टर  डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र  भुरे ने जिले में भी औसत अच्छे किस्म के फेल धान बीज की खरीदी 31 मई तक समर्थन मूल्य पर करने के निर्देश दिए हैं।
    गौरतलब है कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी हेतु पंजीकृत किसान को अधिकतम 15 क्विंटल प्रति एकड़ धान विक्रय करने की पात्रता नियत की गई है। अतः किसान द्वारा फेल धान बीज विक्रय की पात्रता उसके द्वारा समर्थन मूल्य पर धान विक्रय की पात्रता की सीमा तक होगी। उदाहरण के लिए यदि किसी पंजीकृत किसान द्वारा धान की बुवाई का रकबा दो एकड़ है और उसके द्वारा समर्थन मूल्य पर 20 क्विंटल धान बेचा जा चुका है, तो वह फेल धान बीज 10 क्विंटल की सीमा तक ही बेच सकता है। किसानों को धान बेचते वक्त अपने क्षेत्र की समिति में पंजीकृत कृषक कोड नंबर साथ लाने कहा गया है।

  • बिलासपुर से गुजरी ट्रेन, दुर्ग से झारसुगुड़ा पहुंची इतने घंटे में
    बिलासपुर। दुर्ग से झारसुगुड़ा तक डाउन लाइन को परखने के लिए 130 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाई गई। हालांकि स्टेशन में रफ्तार थोड़ी धीमी कर दी गई है। पर जितनी स्पीड से ट्रेन जोनल स्टेशन से गुजरी यात्रियों की नजर देखती रह गई। इसी रफ्तार से ट्रेन झारसुगुड़ा पहुंचेगी और वापसी में शुक्रवार को 130 किमी प्रतिघंटे की गति से ही अप लाइन से ट्रेन दुर्ग रेलवे स्टेशन तक पहुंचेगी। इस तरह दोनों लाइन का स्पीड ट्रायल हो जाएगा। शुक्रवार को हो बिलासपुर से दुर्ग के बीच मीडिल लाइन का परीक्षण किया जाएगा।दुर्ग से झारसुगुड़ा के बीच की दूरी 320 किमी है। इस सेक्शन में ट्रेनों की गति बढ़ाने की कवायद है। इसके लिए पिछले कुछ सालों से ट्रैक मरम्मत से लेकर संरक्षा से जुड़े कई कार्य हो रहे थे। अब यह काम पूरा हो गया है और इंजीनियरिंग विभाग ने रिपोर्ट सौंपकर यह कहा है कि सेक्शन में ट्रेनों को 130 किमी की रफ्तार से चलाई जा सकती है। इसके लिए ट्रैक फिट है। हरी झंडी मिलते ही गुरुवार को डाउन लाइन का स्पीड ट्रायल किया गया। दुर्ग से बिलासपुर तक इतनी रफ्तार से पहुंची। हालांकि स्टेशनों में रफ्तार धीमी कर दी जा रही थी। इसलिए जब जोनल स्टेशन से ट्रेन गुजरी तो उसकी रफ्तार लगभग 50 से 55 किमी प्रतिघंटे थी। अमूमन स्टेशन से 10 या 15 किमी की रफ्तार से ट्रेन चलती है। यही वजह है कि जब लाइन दो से ट्रेन गुजरी तो प्लेटफार्म पर खड़े यात्रियों की नजरें ट्रेन की तरफ हो गई। हालांकि यात्रियों को इसके बारे में जानकारी नहीं थी। पर ट्रेन गुजरते समय मौजूद रेलवे के अधिकारी व कर्मचारियों की भीड़ को देखकर कुछ यात्री खुद को नहीं रोक पाए। उन्हें बताया गया कि यह स्पीड ट्रायल है। इसके बाद ट्रेनें इसी गति से चलेंगी। यात्री अभी जो समय लग रहा है, उससे एक से डेढ़ घंटे पहले गंतव्य पर पहुंचेंगे। वर्तमान में इस सेक्शन पर ट्रेनों की रफ्तार 80 से 110 किमी प्रतिघंटा है। रेलवे के अनुसार ट्रायल में 24 एलएचबी कोच की ट्रेन चलाई गई है।