State News
  • छत्तीसगढ़ देश में बना फिर सिरमौर :आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में देशभर में सबसे ज्यादा शासकीय अस्पतालों को पंजीकृत करने वाला राज्य बना छत्तीसगढ़

     आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में छत्तीसगढ़ देश में सबसे ज्यादा शासकीय अस्पतालों को पंजीकृत करने वाला राज्य है। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत महिलाओं के इलाज में भी छत्तीसगढ़ देश में सबसे आगे है। योजना के अंतर्गत उपचारित कुल हितग्राहियों में 58 फीसदी महिलाएं हैं। छत्तीसगढ़ महिलाओं को इतनी बड़ी संख्या मे इस योजना का लाभ देने वाला देश का शीर्ष राज्य है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने आज नई दिल्ली में आयोजित आरोग्य मंथन’ कार्यक्रम में प्रदेश को इन उपलब्धियों के लिए पुरस्कृत किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने इस उपलब्धि पर स्वास्थ्य विभाग की समूची टीम को बधाई देते हुए उनकी पीठ थपथपाई है।

    प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के चार वर्ष और आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के एक वर्ष पूर्ण होने पर नई दिल्ली में 25 सितम्बर और 26 सितम्बर को आयोजित दो दिवसीय आरोग्य मंथन’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले राज्यों को पुरस्कृत किया गया। छत्तीसगढ़ की ओर से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर., स्टेट नोडल एजेंसी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी-सह-संचालक स्वास्थ्य सेवाएं श्री भीम सिंहऔर राज्य नोडल एजेंसी के उपसंचालक डॉ. श्रीकांत राजिमवाले ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

    राज्य में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से उपचारित कुल हितग्राहियों में 58 फीसदी महिलाएं हैं। छत्तीसगढ़ की इस उपलब्धि को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया। महिलाओं को इतनी बड़ी संख्या में योजना के माध्यम से उपचार देने में छत्तीसगढ़ देश में सबसे आगे है। इसके लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा प्रदेश को आयुष्मान उत्कृष्टता पुरस्कार प्रदान किया गया है। इसके साथ ही आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में छत्तीसगढ़ ने नौ हजार से ज्यादा शासकीय अस्पतालों का पंजीयन कर लिया है। इसके लिये भी राज्य को राष्ट्रीय स्तर पर सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने पर आयुष्मान उत्कृष्टता पुरस्कार प्रदान किया गया है।

    क्या है डिजिटल मिशन

    आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ कार्ड बनाए जा रहे हैं। इस कॉर्ड के जरिए मरीज की जांच से संबंधित सारे दस्तावेज ऑनलाइन उपलब्ध रहेंगे। कॉर्ड के माध्यम से इन दस्तावेजों को किसी भी अस्पताल के चिकित्सक देख सकेंगे। साथ ही अपने मोबाइल पर मरीज खुद भी अपनी जांच से संबंधित सभी दस्तावेज देख सकेगा। यह कॉर्ड मरीज को दस्तावेजी औपचारिकताओं से निजात दिलाएगा। छत्तीसगढ़ में इस दिशा में तेजी से काम हो रहा है।

  • नागरिकों का इलाज हुआ आसान

    शहरी क्षेत्र में निवासरत नागरिकों को उनके चौखट पर ही स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए 01 नवम्बर 2020 से मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना प्रारंभ की गई। प्रथम चरण में सभी 14 नगर निगमों में 60 मोबाइल मेडिकल यूनिट एंबुलेंस के जरिए डॉक्टरों द्वारा सेवाएं प्रदान की गई। इसके तहत आम नागरिकों को मेडिकल कैंप के माध्यम से मुफ्त में परामर्श, उपचार, दवाइयां और टेस्ट की सुविधा प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री दाई दीदी क्लीनिक भी इसी योजना की कड़ी है। इसमें संपूर्ण महिला स्टॉफ के साथ मोबाइल मेडिकल यूनिट गरीब बस्तियों की महिलाओं के इलाज हेतु उनकी बस्तियों में जा रही है। 
    द्वितीय चरण में नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों हेतु 60 मोबाईल मेडिकल यूनिट का संचालन 31 मार्च 2022 से प्रारंभ किया गया है। अब 120 मोबाईल मेडिकल यूनिट के माध्यम से शहरी ईलाकों की बस्तियों में निःशुल्क परामर्श, ईलाज, दवाईयों एवं पैथोलॉजी लैब की सुविधा समस्त नगरीय निकायों में उपलब्ध है। अब तक करीब 39 हजार शिविर आयोजित किये जा चुके हैं, करीब 24 लाख मरीजों का निःशुल्क ईलाज किया गया है। इसी तरह से दाई-दीदी क्लीनिक योजना के अंतर्गत रायपुर, बिलासपुर एवं भिलाई नगर निगमों में मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा 1600 कैम्प लगाकर एक लाख 18 हजार से अधिक महिला मरीजों का निःशुल्क इलाज किया गया है।
    आम नागरिको को उच्च गुणवत्ता की रियायती दवा उपलब्ध कराने हेतु श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना प्रारंभ की गई है। योजना अंतर्गत राज्य के समस्त 169 नगरीय निकायों में  धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर खोले गए हैं। इस हेतु नगरीय निकायों द्वारा लगभग 194 दुकानों का चिन्हांकन किया गया, जिसमें से 190 दुकानंे प्रारंभ की जा चुकी हैं। इन दुकानों में 329 प्रकार की जेनेरिक दवाएं, 28 सर्जिकल आइटम रियायती दर पर उपलब्ध हैं। इससे अब आम नागरिकों को जेनेरिक दवाई आसानी से उपलब्ध होने लगी हैं। शासकीय चिकित्सकों हेतु पर्ची पर जेनेरिक दवाई लिखना अनिवार्य किया गया है। दवा की गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु इन दुकानों में देश की ख्याति प्राप्त कंपनियों की जेनरिक दवाइयां उपलब्ध कराने की शर्त रखी गई है। उपलब्ध दवाइयों में सर्दी, खांसी, बुखार, ब्लड प्रेशर, इंसुलिन के साथ ही साथ गंभीर बीमारियों की दवा, एंटीबायोटिक, सर्जिकल आइटम भी न्यूनतम 50 प्रतिशत की भारी छूट के साथ उपलब्ध हैं। राज्य सरकार द्वारा श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर संचालक को 2 रू प्रति वर्गफुट की आकर्षक दर पर नगर पालिक निगम द्वारा किराये पर दुकानें उपलब्ध कराई गयी हैं साथ ही अन्य योजनाओं मे इन मेडिकल स्टोर्स से दवाई खरीदने हेतु प्रावधान किया गया। इस योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा 20 अक्टूबर 2021 को किया गया था। इस दिन प्रदेश के निकायों में लगभग 87 दुकानों का शुभारंभ किया गया। अब 190 से ज्यादा धनवंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर संचालित किए जा रहे है। आगामी चरण में इन दुकानों से घर पहुंच दवा डिलीवरी की भी व्यवस्था की जाएगी।

  • बहू के साथ जेठ का था अवैध संबंध...भाई ने पैसा देकर करवा दी हत्या

    बिलासपुर: तखतपुर थाना क्षेत्र में 24 सिंतबर को एक अधेड़ का शव मिला था, जिसकी गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि मृतक के भाई ने ही गांव के दो लोगों को पैसा देकर उसकी हत्या करवा दी।

    जानकारी के अनुसार मृतक सुंदरलाल कौशिक उम्र 52 साल, ग्राम खम्हरिया का निवासी था। वह 22 सितंबर को अपने फुफेरे भाई विनय कौशिक के घर देवरी जाने के लिए निकला था। इसके बाद से वह वापस नहीं लौटा था, परिजनों ने उसे ढूंढा, लेकिन वह नहीं मिला।

    इस बीच पुलिस को 24 सितंबर को शिव तालाब की झाड़ियों में एक अधेड़ का शव मिला। जिसकी शिनाख्त सुंदरलाल कौशिक के रूप में हुई। पुलिस ने मामले में हत्या का अपराध दर्ज कर जांच शुरू की।

    पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि सुंदरलाल कौशिक अक्सर अपने ममेरे भाई विनय के घर जाता था। घटना के दिन भी वह भाई के घर जाने के लिए निकला था। इसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला और उसकी लाश मिली। इसी संदेह के आधार पुलिस ने विनय कौशिक से पूछताछ की। पूछताछ में आरोपी विनय ने बताया कि वह गांव में खेती-किसानी करता है।

    मृतक सुंदरलाल उसका ममेरा भाई था। वह उसकी खेती का काम देखता था और हमेशा घर आना-जाना करता था। उसने विनय की पत्नी से अवैध संबंध बना लिया था। इसकी जानकारी होने के बाद विनय ने उसकी हत्या करने की योजना बनाई। उसने गांव के ही दो व्यक्ति चंद्रपाल कौशिक और पिल्लू कौशिक को साजिश में शामिल किया और उन्हें 50 हजार रुपए में हत्या की सुपारी दे दी। जिससे दोनों ने उसकी हत्या करने के बाद शव को तालाब की झाड़ियों में फेंक दिया था। पुलिस ने मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

  • बर्थडे पार्टी की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया पर्दाफाश, आपत्तिजनक स्थिति में मिले युवक और युवतियां, दलाल सहित 8 लोग गिरफ्तार

    कोरबा। होटल में जन्मदिन पार्टी पर चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ कोरबा पुलिस ने किया है। इस मामले में तीन युवतियां, एक महिला दलाल और चार युवकों को गिरफ्तार किया गया। मामला कोरबा के दर्री थाना क्षेत्र की है।

    , जानकारी के मुताबिक, 25 सितंबर को मुखबिर से सूचना मिली कि ऋतुराज होटल एवं बार में संदीप अग्रवाल नाम के व्यति के द्वारा खुद के जन्मदिन पार्टी के नाम पर देहव्यापार चलाया जा रहा है। इस सूचना के बाद एसपी संतोष सिंह ने एएसपी अभिषेक वर्मा को जांच कर आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। सायबर सेल ओर दर्री पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में टीम ने होटल में रेड कार्रवाई की। इस दौरान होटल के अलग अलग तीन कमरों में तीन युवक और तीन लड़कियां आपत्तिजनक हालत में मिली। साथ ही पुलिस ने होटल से एक महिला दलाल और चार युवकों को गिरफ्तार किया गया।

    ये आरोपी है शामिल ( included) 

    पकड़े गए आरोपियों में अमन कुमार सिंह पिता बलबीर सिंह 22 वर्ष निवासी बुधवारी अप्पू गार्डन, संदीप अग्रवाल पिता लखीराम अग्रवाल उम्र 37 वर्ष निवासी थाना दर्री, दीपक बारीक पिता संतोष बारीक उम्र 28 वर्ष निवासी बुधवारी बाजार कोरबा और कुमारी मोनू खान पिता अज्जू खान उम्र 24 वर्ष निवासी पुरानी बस्ती कोरबा थाना कोतवाली कोरबा शामिल है।

  • दर्दनाक हादसा : अनियंत्रित होकर पुल से नीचे गिरी ट्रैवलर बस, एक की मौत… 12 घायल

    भानपुरी। एनएच 30 में मंगलवार तड़के सुबह एक भीषण सड़क हादसा हो गया है। हादसे में एक की मौत हो गई है। जबकि 12 लोग घायल हो गए हैं। सभी घायलों को भानपुरी सिविल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद मेकॉज रेफेर कर दिया गया है।

    मिली जानकारी के अनुसार यात्रियों से भरी एक ट्रैवलर बस रायपुर से चित्रकोट की ओर जा रही थी। तड़के सुबह करीबन 5:30 बजे फरसागुड़ा के पास वाहन चालक को अचानक झपकी आ गई। जिसकी वजह से चालक ने वाहन से नियंत्रण खो दिया। अनियंत्रित वाहन एनएच 30 में बने एक छोटे पुल को तोड़ते हुए गढ्ढे में गिर गई। इस हादसे में वाहन में सवार 12 लोग घायल हो गए। वहीं एक व्यक्ति की मौत हो गई।

    घटना की सूचना मिलते ही भानपुरी पुलिस मौके पर पहुंच गई। इसके बाद पुलिस ने एम्बुलेंस 108 की मदद से सभी घायलों को तत्काल ही भानपुरी सिविल अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार करने के बाद सभी घायलों को बेहतर उपचार के लिए मेकॉज रेफेर कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि ट्रेवलिंग बस में सवार सभी यात्री रायपुर एम्स के कर्मचारी है। यह सभी रायपुर से चित्रकोट देखने और बस्तर दशहरा में शामिल होने के लिए जगदलपुर आ रहे थे।

  • काली होने और लड़के जैसा दिखने का ताना मारता था पति, पत्नी ने टंगिया मारकर की हत्या

    दुर्ग: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से हत्या का एक मामला सामने आया है, जहां पत्नी ने काली होने और लड़का जैसा दिखने के ताने से तंग आकर अपने ही पति की टंगिया से गला काटकर हत्या कर दी। अमलेश्वर पुलिस ने सोमवार को कापसी गांव में 40 वर्षीय अनंत सोनवानी की हत्या के मामले में उसकी पत्नी संगीता को गिरफ्तार किया है। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। आरोपी महिला को उसकी चार महीने की बेटी के साथ जेल भेज दिया गया। रविवार रात महिला ने अपने पति की टंगिया मारकर हत्या कर दी।

    काली होने और लड़के जैसा दिखने का ताना मारता था पति
    घटना का पता चलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला से सख्ती से पूछताछ की। इस पर महिला ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पूछताछ में बताया कि आरोपी ने उससे करीब डेढ़ साल पहले शादी की थी। शादी करने के बाद से आरोपी उससे मारपीट करने लगा था। उस पर काली होने और लड़के जैसा दिखने का ताना मारता था। पुलिस ने सोमवार को महिला के खिलाफ धारा 302 और 201 के तहत केस दर्ज करके जेल भेज दिया।

    मोबाइल पर फ्री फायर और फिल्म देखने को लेकर हुआ था विवाद
    पुलिस के मुताबिक घटना रविवार रात 12 से सुबह 6 बजे के बीच की है। इसी दौरान महिला ने अपने पति की हत्या की थी। इसके पहले अनंत के घर आने के पहले संगीता और सौतेले बेटे हर्ष के बीच मोबाइल पर गेम खेलने और फिल्म देखने को लेकर विवाद हो रहा था। इसके बाद पति-पत्नी में विवाद हुआ। फिर महिला ने घटना को अंजाम दिया।

    पहली पत्नी की मौत के बाद की थी आरोपी महिला से मृतक ने दूसरी शादी
    एसडीओपी पाटन देवांश सिंह राठौर के मुताबिक अनंत सोनवानी की पहली पत्नी की करीब दो साल पहले मौत हो गई थी। इसके बाद उसने डेढ़ साल पहले संगीता से दूसरी शादी की। संगीता पहले से शादीशुदा थी। अनंत ने उसे बेहतर जिंदगी और खुश रखने का झांसा देकर अपने साथ रख लिया था। अनंत की पहली पत्नी से 12 साल बेटा हर्ष है। जबकि संगीता से शादी करने के बाद दोनों की चार माह की बेटी है। पुलिस के मुताबिक पहले महिला ने पुलिस को यह बताया कि खाना खाने के बाद वह अपनी बेटी के साथ सो गई थी। जब सुबह उठी तो पति का लाश कमरे में पड़ी मिली। पुलिस को घटना के बाद से पत्नी पर शंका थी। इस वजह से उससे सख्ती से पूछताछ की।

  • CG में भीषण सड़क हादसा: ट्रैक्टर ने स्कूटी सवार तीन सहेलियों को कुचला, 2 की मौत 1 की हालत गंभीर

    धमतरी: छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के मगरलोड थाना क्षेत्र में हुए एक सड़क हादसे में 2 सहेलियों की मौत हो गई, जबकि एक युवक की हालत गंभीर है। तीनों एक ही स्कूटी में सवार थी। यह घटना कल देर शाम खैरझिटी स्थित बेलौदी नहर के पास हुआ।

    टीआई राजेश जगत ने बताया कि क्षमा और भारती नाम की दो युवती एक साथ एक फार्मा कंपनी में काम करती थीं। दोनों सहेली अपने एक अन्य साथी के साथ स्कूटी से दवा का आर्डर लेने मगरलोड की ओर जा रहे थीं। बीच रास्ते में तेज रफ्तार ट्रैक्टर ने स्कूटी सवार तीनों लोगों को चपेट में लेकर कुचल दिया। स्कूटी में सवार दोनों युवती ट्रैक्टर के पहिए की चपेट में आ गईं। हादसे में दोनों की मौत हो गई, जबकि युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं।

  • बस्तर की खास परंपरा… नवरात्र में किन्नर निकालते है श्रृंगार यात्रा, दंतेश्वरी मंदिर में चढ़ाते हैं पहली चुनरी और श्रृंगार

    दंतेवाड़ा। पूरे देश समेत बस्तर में भी शारदीय नवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है, सोमवार सुबह से ही बस्तर के सभी देवी मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है, वही बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी मंदिर में सुबह से ही लोग दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। लेकिन नवरात्रि के पहले दिन देवी की पहली पूजा किन्नर समाज के द्वारा किए जाने की परंपरा बस्तर में लंबे समय से चले आ रही है। जिसके लिये रविवार और सोमवार के आधी रात किन्नर समाज के द्वारा शहर में श्रृंगार यात्रा निकाली गई।

    इस परंपरा के तहत देर रात बग्गी में सवार साज श्रृंगार किये किन्नरो के द्वारा आधी रात में श्रृंगार यात्रा निकालकर देवी भजन के धुन पर दंतेश्वरी मंदिर पहुंचते है और सुबह के करीब 4 बजे जैसे ही मां दंतेश्वरी का दरबार खुलता है, पहला दर्शन किन्नरों के द्वारा किया जाता है, जिसके बाद माता को पहली चुनरी और श्रृंगार किन्नरों के द्वारा चढ़ाई जाती है।

    दरअसल हर साल नवरात्रि के शुरू होने से पहले देर रात किन्नर समाज ही मां दंतेश्वरी को पहली चुनरी चढ़ाते हैं, इस दौरान किन्नर समाज के सभी लोग श्रृंगार सामान लेकर दंतेश्वरी के दरबार पहुंचते हैं और नाच गाने के साथ मां की भक्ति में सराबोर हो जाते हैं। किन्नर समाज की अध्यक्ष रिया परिहार ने बताया कि हर साल किन्नरों के श्रृंगार यात्रा में जगदलपुर के अलावा पड़ोसी राज्य उड़ीसा से भी किन्नर भव्य यात्रा में शामिल होने के लिए बस्तर पहुंचते हैं और नवरात्रि के पहले दिन हर साल किन्नरों द्वारा श्रृंगार यात्रा निकाली जाती है।

    इसमें बस्तर वासियों का भी समर्थन मिलता है। माता रानी के भजन के धुन पर सभी किन्नर थिरकते हुए माता को चुनरी और श्रृंगार का सामान चढ़ाने के लिए मंदिर पहुंचते हैं। इस दौरान सभी किन्नर सात श्रृंगार किए होते हैं। अध्यक्ष रिया का कहना है कि मां दंतेश्वरी के प्रति किन्नरों की गहरी आस्था जुड़ी हुई है। यही वजह है कि हर साल नवरात्रि के पहले दिन चुनरी और श्रृंगार का सम्मान किन्नरों के द्वारा ही माता को चढ़ाया जाता है। किन्नरों ने कहा कि वह भी समाज का एक प्रमुख अंग है, इस पूजा के पीछे उनका उद्देश्य होता है कि सभी व्यापारियों व बस्तरवासियों पर किसी तरह की कोई समस्या ना आए और किसी की गोद खाली ना रहे, इसलिए मां दंतेश्वरी से वे प्रार्थना करने पहुंचते हैं।

  • चंदखुरी की तर्ज पर दंतेश्वरी के प्रांगण में बनने जा रहा मध्य भारत का सबसे बड़ा ज्योति कलश भवन

    दंतेवाड़ा/  का ऐतिहासिक दंतेश्वरी मंदिर जो पहले ही अपनी पौराणिक कथाओं को लेकर विश्व प्रसिद्ध है, अब एक और नया आयाम लिखने जा रहा है। दरअसल, माई दंतेश्वरी के प्रांगण में चंदखुरी की तर्ज पर मध्य भारत का सबसे बड़ा ज्योति कलश भवन बनने जा रहा है। इस भवन का निर्माण लाल बालू पत्थर से किया जाएगा। इतना ही नहीं भवन की दीवारों पर माई दंतेश्वरी की पौराणिक कथाओं को दर्शाया जाएगा जिससे यहां आने वाले भक्तों को मंदिर के इतिहास के बारे में पूरी जानकारी हो पाएगी। इस भवन में एक साथ 11100 ज्योति कलश की स्थापना हो पाएगी। आपको बता दे की भेट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मुख्मंत्री भुपेश बघेल ने मंदिर के पुजारियों की मांग पर इस भवन की नीव रखी थी। जिला कलेक्टर विनीत नंदनवार ने बताया कि आने वाली चैत्र नवरात्रि तक इस भवन के निर्माण का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

  • बस्तर दशहरा प्रारंभ : काछन देवी ने दी बस्तर दशहरा के आयोजन की अनुमति…..

    जगदलपुर  :- प्रसिद्ध बस्तर दशहरा को विधिवत व प्रतिकात्मक रूप से मनाने की अनुमति काछन गादी देवी ने काछनगुड़ी में राज परिवार को दी है। इस विधान के साक्षी होने शनिवार को बड़ी संख्या में लोग भंगाराम चौक स्थित काछनगुड़ी मंदिर पहुंचे थे।

    काछनदेवी के रूप में मारेंगा की पनका समुदाय की 6 वर्षीय बालिका पीहू बेल कांटों से बने झुले में सवार होकर बस्तर महाराज कमलचंद्र भंजदेव को प्रसाद भेंटकर बस्तर दशहरा धूमधाम से मनाने का आशीर्वाद दिया। जिसके बाद लोगों ने बस्तर दहशरा की बधाई दी।

    इस अवसर पर बस्तर दशहरा समिति के अध्यक्ष दीपक बैज, संसदीय सचिव रेखचंद जैन, नगर निगम सभापति श्रीमती कविता साहू, कलेक्टर चंदन कुमार, मांझी, चालकी समेत श्रद्धालुओं का सैलाब देखा गया।

    हर साल पथरागुड़ा जाने वाले मार्ग स्थित भंगाराम चौक के समीप स्थित काछनगुड़ी में काछनगादी विधान संपन्न कराया जाता है। बस्तर दशहरा की शुरूवात काछन देवी की अनुमति के बगैर नहीं हो सकती। काछनगुड़ी रस्म में काछनदेवी कांटों के झूले में सवार होकर महाराजा को प्रसाद भेंटकर बस्तर दशहरा बनाने की अनुमति देती है।

  • आरक्षक की मौत का हुआ खुलासा, 5 हजार बनी मौत की वजह, जानिये पूरा मामला

    राजनांदगांव।अपने उधार दिये 5 हजार रूपये मांगना एक पुलिस आरक्षक के लिए मौत का कारण बन गया। मृतक एवं आरोपी दोनों में आपसी लेनदेन को लेकर हुआ बहस इनता बड़ गया कि आरोपी ने मोबाईल चार्जर केबल से आरक्षक का गलाघोट कर उसे मार डाला। इस हत्या कांड के 24 घंटे के भीतर ही अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

    CG NEWS : आरक्षक की मौत का हुआ खुलासा, 5 हजार बनी मौत की वजह, जानिये पूरा मामला  

    ग्राम ठेकवा के कोटवार ने नेशनल हाईवे से ग्राम ठेकवा जाने वाले मार्ग पर ग्राम झाड़ी के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव देखकर राजनांदगांव जिले की सोमनी पुलिस को मामले की सूचना दी। जिसके बाद सोमनी थाने की पुलिस ने इसे प्रथम दृष्टिया ही हत्या का मामला मानते हुए जांच शुरू की। इस दौरान मृतक की पहचान राजनांदगांव पुलिस लाईन निवासी 40 वर्षीय पुलिस आरक्षक संतोष यादव के रूप में की गई। मामले की जांच के दौरान पुलिस ने कई सी.सी.टी.व्ही फुटेज खंगाले। जिसमें मृतक के साथ एक संदेही नज़र आया। जिसकी तलाश के लिए मुखबीर लगाया गया और मुखबीर की सूचना पर संदेही आरोपी को घेराबंदी कर पुलिस ने पकड़ा लिया।

    मोबाईल चार्जर का केबल से घोंट दिया गला

    पूछताछ के दौरान तुलसीपुर निवासी आरोपी दानिश खान ने पुलिस को बताया कि उसने के साथ शराब का सेवन किया। इस दौरान मृतक संतोष यादव द्वारा उसे पूर्व में कोर्ट में न्यायालयीन कार्य के लिए 5 रूपये उधारी दिया था जिसकी मांग किया उधारी की रकम लौटाने के नाम पर दोनों में बहस शुरू हो गया इसके बाद मृतक कार में बैठा और आरोपी दानिश खान कार के पीछले सीट पर बैठा और वहां रखे मोबाईल चार्जर का केबल उसके गर्दन में फंसाकर गलाघोट कर उसकी हत्या कर दी। हत्या के मामले का खुलास करते हुए राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने कहा कि इस हत्या के मामले में आरोपी दानिश को गिरफ्तार कर लिया गया है।
    कार के भीतर इस हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मृतक के शव को बाजू के सीट में रखकर सोमनी क्षेत्र के ठेकवा तिराहा मार्ग पहुंचा और यहां मृतक को सड़क किनारे झाड़ियों में फैंक दिया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर मृतक का कार, पर्स, मोबाईल, गला घोटने में प्रयुक्त चार्जर केबल को बरामद किया है। वहीं आरोपी के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज करते हुए कार्रवाई की गई है।

  • CG के इस गांव में पूर्ण शराबबंदी का ऐलान, ग्रमीणों ने सर्व सहमति से लिया बड़ा फैसला

    कवर्धाः छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले के पंडरिया के कंझेटा गांव के ग्रामीणों ने अपने गांव में पूर्ण शराबबंदी करने का फैसला लेकर जिले और प्रदेशवासियों के लिए मॉडल पेश किया है।

    मिली जानकारी के अनुसार, ग्रामीणों ने सर्व सहमति से पूरी तरह से शराबबंदी लागू की है। गांव में कोई शराब बेचते या पीते पकड़े जाता है, तो अर्थदंड का कड़ा नियम भी बनाया है।बता दें कि चुनाव के समय राजनीतिक दल शराबबंदी के दावे करते रहे हैं, छत्तीसगढ़ में शराबबंदी को लेकर लगातार मांग उठती रही है, जिसके तहत राज्य सरकार ने समिति भी गठित की है, हालांकि अभी तक शराबबंदी को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं।