State News
  • बालोद : चलती हुई कार में लगी भीषण… अंदर बैठे लोगों ने बाहर कूदकर बचाई जान
    बालोद। छत्तीसगढ़ के बालोद में बड़ा हादसा टल गया। एक चलती कार धू-धू कर जलने लगी। हादसे के दौरान कार सवार लोगों ने बाहर कूदकर किसी तरह अपनी जान बचाई। इसके बाद आग ने विकराल रूप ले लिया और कार जलकर खाक हो गई। हादसा गुंडरदेही थाना क्षेत्र में हुआ। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली से एक कंपनी के कर्मचारी कार से हैदराबाद जा रहे थे। ये लोग कार को ट्रायल पर लेकर निकले थे। इस दौरान बालोद-दुर्ग मार्ग पर गुंडरदेही के ग्राम डंगनिया के पास अचानक कार में आग लग गई। धुआं निकलते देख अंदर बैठे लोग बाहर कूदने लगे। कार से धुआं निकलते देख कर्मचारी बाहर भागे उनके बाहर निकलने के बाद कार में आग तेज हो गई। देखते ही देखते कार से ऊंची-ऊंची आग की लपटें उठने लगीं। थोड़ी ही देर में कार जलकर खाक हो गई। इस दौरान वहां लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। आशंका है कि शार्ट सर्किट के कारण कार में आग लगी है। फिलहाल ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी है।
  • क्वारेंटाईन सेंटर ईमलीपारा कांकेर में फल, सब्जी क्रय में नहीं हुई अनियमितता
    क्वारेंटाईन सेंटर ईमलीपारा कांकेर में फल, सब्जी क्रय में नहीं हुई अनियमितता 
     
    जांच समिति ने कलेक्टर को सौपा प्रतिवेदन
     
    उत्तर बस्तर कांकेर 18 सितम्बर 2020- क्वारेंटाईन सेंटर ईमलीपारा कांकेर के लिए फल, सब्जी, पेयजल इत्यादि की खरीदी में अनियमितता नहीं पाई गई है, इस संबंध में जांच समिति द्वारा अपना प्रतिवेदन कलेक्टर के.एल. चौहान को प्रस्तुत कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि उक्त क्वारेंटाईन सेंटर के लिए अत्यधिक कीमत में टमाटर एवं अन्य सामग्रियों की खरीदी से संबंधित समाचार प्रकाशित हुई थी, जिसे संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर श्री चौहान द्वारा दो सदस्यीय जांच समिति गठित की गई थी, जिसमें कृषि विभाग के उप संचालक एन.के. नागेश और उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक व्ही.के. गौतम को शामिल किया गया था।
    जाचं समिति के सदस्य नागेश और गौतम द्वारा संबंधित समाचार पत्र के ब्यूरोचीफ की मौजूदगी में दुकानदारों का कथन लिया गया और सब्जी, टमाटर सहित अन्य सामाग्रियों के कीमत की तहकीकात की गई, जिसमें खरीदे गये सभी वस्तुओं के मूल्य प्रचलित बाजार दर के अनुसार पाया गया। जांच कमेटी के सदस्यो ने कलेक्टर को प्रस्तुत अपने प्रतिवेदन में बताया है कि उनके द्वारा शिकायतकर्ता के समक्ष दुकानदारों का बयान लिया गया, जिसमें पाया गया कि टमाटर का दर क्रेट था न कि किलोग्राम, टमाटर का मूल्य प्रति क्रेट 520, 550, 500 रूपये होना पाया गया। इसी प्रकार फल, ड्राईफुड, किराना सामान, टेण्ट सामान, रसोई सामग्री इत्यादि के देयको के संबंध में संबंधित फर्मो से पूछताछ की गई, जिसमे सभी देयको को सही होना पाया गया तथा देयको का फर्जीकरण नहीं पाया गया। जांच समिति के सदस्यों ने अपने प्रतिवेदन में बताया है कि क्वारेंटाईन सेंटर ईमलीपारा कांकेर के लिए खरीदे गये फल, सब्जी इत्यादि की खरीदी मे कोई अनियमितता नहीं हुई है।
  • राष्ट्रीय पोषण माह अंतर्गत मायापुर में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

    जिले के पखांजूर तहसील अंतर्गत महिला एवं बाल विकास परियोजना पखांजूर के सेक्टर मायापुर में राष्ट्रीय पोषण माह कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम को जनपद उपाध्यक्ष किशोर कुमार मण्डल ने संबोधित करते हुए कहा कि लोगों को कुपोषण से बचाव एवं रोकथाम के लिए जागरूक करने की आवश्यकता है, कुपोषण कोई लाईलाज बिमारी नहीं है, इसके लिए खान-पान में विशेष ध्यान देने के लिए  अपील किये। उन्होंने कहा कि अपने-अपने घरों के गर्भवती माताओं एवं एनीमिक महिलाओं को शुरूआत से ही पौष्टिक भोजन जैसे- हरी सब्जी, मुनगा भाजी, अंकुरित आहार, अण्डा, दाल इत्यादि का सेवन कराये, इससे कुपोषित बच्चे पैदा नहीं होंगे। केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा कुपोषण की रोकथाम के लिए कई प्रकार की योजना संचालित की जा रही है, जिसका लाभ लिया जाये। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रथम गर्भवती माताओं को मुख्यमंत्री मातृत्व वंदना योजना से भी लाभान्वित किया जा रहा है। इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को कुपोषण मिटाने के लिए शपथ भी दिलाई गई।
    कार्यक्रम में मायापुर सरपंच दिपाली मिस्त्री, बैकुण्डपुर सत्यरंजन गाईन, पंच सम्पाबाई, सेफाली चौकीदार, पर्यवेक्षक मालती कश्यप, मितानीन रीता राय, बकुल वैद्य, चिंतामणी मण्डल, उषा मण्डल, काजली पाड़ई, यशोदा बाड़ई, साधना दास एवं स्व-सहायता समूह के सदस्य अंजली मिस्त्री, स्वपना मण्डल, उषा डे, अंजना मिस्त्री उपस्थित थे।

  • धमतरी : दिव्यांगजनों को मोटराईज्ड ट्राईसाइकिल और ब्रेल किट किया गया प्रदाय

    पूर्व में एल्मिको द्वारा शिविर में चयनित दिव्यांग हितग्राहियों को आज उप संचालक, समाज कल्याण द्वारा मोटराईज्ड ट्राईसाइकिल और ब्रेल किट प्रदाय किया गया। मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम परेवाडीह निवासी दिव्यांग  हेम नारायण साहू को मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल प्रदाय की गई। इसी तरह दृष्टिबाधित दिव्यांग कुमारी बसंती साहू को विभाग द्वारा ब्रेल किट प्रदाय किया गया।

  • बीजापुर : नक्सलियों ने की CAF जवान की हत्या...5 दिनों से लापता था जवान
    बीजापुर। कोतवाली क्षेत्र के पदेडा गांव में नक्सलियों ने अपहरण कर जवान की हत्या कर दी।नक्सलियों ने जवान का शव गंगालूर-बीजापुर मार्ग पर फेंक दिया।CAF जवान का नाम मल्लूराम सूर्यवंशी है जो बीते 5 दिनों से लापता था ।
  • छत्तीसगढ़ : सड़क हादसे में 4 लोगों की मौत, नवजात बच्ची समेत 6 घायल
    कोंडागांव । छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिले से बड़ी खबर सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक दर्दनाक सड़क हादसे में 4 लोगों की मौत हो गयी है और छह घायल हो गए हैं।हादसे की सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस की टीम पहुंच गई थी। घटना कोंडागांव के एनएच 30 बनियागांव की है।देर शाम एक परिवार प्रसव पश्चात अपनी बोलेरो वाहन से घर जा रहा था। वाहन में ड्रायवर सहित करीब छह लोग सवार थे, तभी बनियागांव के पास सामने से आ रहीं दो मोटर सायकलों से टक्कर हो गयी।हादसा इतना जबरदस्त था कि दोनों मोटर सायकलों के परखच्चे उड़ गये।वहीं बुलेरो वाहन भी सड़क पर पलट गयी।आमने सामने की इस भिड़ंत में दो बाईक में सवार चार लोगोें की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी।घटना में बोलेरो सवार दुधमुंहे सहित छह लोगों को हल्की चोट आयी हैं।साथ ही ड्रायवर को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
  • जगदलपुर : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के प्रयास से गंभीर कुपोषित बच्ची 6 माह में मध्यम कुपोषण श्रेणी में

    मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन ’’हरिक नानीबेरा (खुशहाल बचपन)’’

    जगदलपुर, 18 सितम्बर 2020

    महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा संचालित मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन ’’हरिक नानीबेरा (खुशहाल बचपन)’’ अंतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती जमुना दरियो के सुझबुझ और प्रयास से गंभीर कुपोषित बच्ची सुषीला मात्र 6 माह के अंतराल में मध्यम कुपोषण की श्रेणी में लाया गया है। बाल विकास परियोजना जगदलपुर ग्रामीण में सेक्टर नानगुर के आंगनबाड़ी केन्द्र चेचालगुर में पंजीबद्ध गर्भवती माता श्रीमती नीलावती ने 25 मार्च 2020 को लॉकडाउन होने की वजह से घर पर ही एक बालिका को जन्म दिया जिसका नाम सुशीला रखा गया। जन्म के समय सुशीला का वनज 1 किलो 800 ग्राम था जो डब्ल्यूएचओ के ग्रोथचार्ट अनुसार गंभीर कुपोषण की श्रेणी में थी। बच्ची को जन्म देने के पश्चात् नीलावती का तबीयत खराब होने के चलते एक सप्ताह बाद ही उसकी मृत्यु हो गई। माता की मृत्यु के पश्चात् आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती जमुना दरियो के द्वारा सुशीला हालात जानने हेतु प्रति सप्ताह गृह भेंट करने लगी और वजन लेते हुए, सुशीला के पिता को एवं उसके परिवार के सदस्यों को सुशीला के देखरेख के संबंध में समझाईश देते रही है।

            श्रीमती जमुना दरियो द्वारा परिवार के सदस्यों को बताया गया कि कमजोर नवजात शिशु को कंगारू मदर देखभाल की जरूरत है। कंगारू मदर के तहत् शिशु को कपड़े पहनाए बिना शरीर से लगाकर रखने, उसे पालक के बदन के साथ सुरक्षित ढंग से बांध के या संभाल कर पकड़ना, शिशु को ऐसी स्थिति में सटा के रखा जाता है जिससे शिशु को सांस लेने में दिक्कत न हों। साथ ही शिशु को टोपी व मोजे पहनाने है। शिशु को बोतल से दूध पिलाने के नुकसान तो बहुत है पर सुशीला की माँ नही होने की वजह से उसे बोतल से ही दूध पिलाना पड़ता है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जमुना द्वारा परिवार के सदस्यों को बोतल को अच्छे से धोने एवं साफ-सफाई रखने तथा दूध के अलावा अन्य किसी भी प्रकार का तरल पदार्थ नहीं दिये जाने की विशेष रूप से समझाईस देती रही।

          मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन ’’हरिक नानीबेरा (खुशहाल बचपन)’’ अंतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं पर्यवेक्षक द्वारा सुशीला की सतत् निगरानी की गई और बच्चे को लेक्टोजेन उपलब्ध कराया जिससे बच्चे में माँ के दूध के अभाव में पोषण की कमी ना हो। साथ में स्वास्थ्य परीक्षण और टीकाकरण करवाया गया। परिणामस्वरूप वर्तमान में अभी 16 सितम्बर 2020 को सुशीला का वजन 5 किलोग्राम है जो कि मध्यम कुपोषण की श्रेणी में है। और लगातार सुशीला की पोषण स्थिति में निरंतर सुधार होता जा रहा है। इस प्रकार बिना माँ की बच्ची को महिला एवं बाल विकास विभाग के एक कार्यकर्ता की सुझबुझ से गंभीर कुपोषित बच्ची मध्यम कुपोषण की श्रेणी में मात्र 6 माह के अंतराल में लाया गया है।

  • गिरदावरी: राजस्व विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उतरे खेतों में

    राज्य शासन के निर्देशानुसार प्रदेश के सभी जिलों में राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारी कर्मचारी गिरदावरी के लिए किसानों के खेतों में पहुंचकर फसलों की जानकारी लेकर भूमि के खसरों एवं अभिलेखों में प्रविष्टियां कर रहे हैं। राजस्व विभाग के हल्कों में तैनात पटवारी फसल के रकबे का पंजीयन भी कर रहे हैं। पटवारियों को अपने हल्के के अंतर्गत सभी किसानों के खेतों में पहुंचकर गिरदावरी कर ऑनलाईन एंट्री करने के निर्देश दिए गए हैं। गिरदावरी के कार्य का मौके पर निरीक्षण विभाग के उच्च अधिकारी कर रहे हैं बिलासपुर के कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने तखतपुर विकासखण्ड मंे राजस्व विभाग के अमले द्वारा किये जा रहे गिरदावरी कार्य का निरीक्षण किया। वे खेतों में उतरे और स्थल पर गिरदावरी के कार्य को बारीकी से देखा और निर्देशित किया कि शत् प्रतिशत शुद्धता के साथ गिरदावरी का कार्य किया जाये।    

        राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल गिरदावरी का कार्य जिले में संचालित हो रहा है। इस क्रम में बिलासपुर कलेक्टर ने ग्राम-सकरी पटवारी हल्का नंबर 45 के अंतर्गत चल रहे गिरदावरी कार्य को स्वयं खेत में उतरकर देखा कि गिरदावरी कार्य सुचारू रूप से  किया जा रहा है या नहीं। कलेक्टर ने गिरदावरी के कार्य को बारीकी से करने के निर्देश देते हुए निर्धारित समय पर इसकी ऑनलाईन एंट्री करने कहा ताकि बाद में किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त कलेक्टर श्री बी.एस.उइके, डिप्टी कलेक्टर श्री मनोज केसरिया, कोटा के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) श्री आनंद रूप तिवारी सहित क्षेत्र का राजस्व अमला मौजूद था।

     
  • बीजापुर : नक्सलियों ने किडनैप कर जवान को उतारा मौत के घाट...सड़क पर फेंका शव

    बीजापुर: पुलिस की लगातार कार्रवाई से बौखलाए नक्सली लोगों में दहशत फैलाने के लिए लगातार किसी न किसी कायराना करतूत को अंजाम देने में लगे हुए हैं. नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए सीएएफ के पायनियर प्लाटून में पदस्थ जवान की हत्या कर दी है. 

     

    जवान की हत्या के बाद से ग्रामीणों में दहशत है.जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने 5 दिन पहले जवान का अपहरण किया था. 5 दिन तक जवान का कुछ पता नहीं चल पाया. वहीं शुक्रवार को जवान की हत्या कर शव को गंगालूर-बीजापुर मार्ग पर बीच सड़क पर फेंक दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने शव के पास से नक्सली पर्चा भी बरामद किया है. पर्चे पर गंगालूर एरिया कमेटी ने हत्या की जिम्मेदारी ली है. फिलहाल पुलिस घटनास्थल का मुआयना कर रही है.बीजापुर में नक्सलियों ने एक महीने के अंदर 8 लोगों की हत्या कर दी है. इसमें जवानों के साथ-साथ ग्रामीण भी शामिल हैं. नक्सलियों द्वारा लगातार इस तरह की वारदात को अंजाम दिए जाने से ग्रामीणों में दहशत है. इससे पहले नक्सलियों ने तोयनार में पदस्थ एक जवान की हत्या कर दी थी. नक्सलियों ने बीजापुर में 4 ग्रामीणों की निर्ममतापूर्वक हत्या की थी.

  • कोरोना से प्रोफेसर सत्य रंजन जोगी का निधन…पूर्व सीएम के बेटे ने ट्वीट कर दी जानकारी
    रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय अजीत जोगी के बड़े भाई प्रोफेसर सत्य रंजन जोगी का कोरोना से निधन हो गया है. उन्होंने बिलासपुर में अंतिम सांस ली. इस दुखद घटना की जानकारी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने ट्वीट कर दी. अमित ने ट्वीट में लिखा कि ‘मेरे पिता जी स्वर्गीय श्री @ajitjogi_cg जी के बड़े भाई और मेरे बड़े पापा प्रोफ़ेसर सत्य रंजन जोगी का कल देर रात बिलासपुर में निधन हो गया. परम पिता परमेश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. दोनों भाइयों का अलौकिक साहस और दृढ़ इच्छाशक्ति आने वाली पीढ़ियों को सदैव प्रेरणा देती रहेंगी.’
  • अवैध संबंध के चलते परिजनों ने की बेदम पिटाई...मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार
    सरगुजा। अम्बिकापुर के लखनपुर थाना क्षेत्र में 8 सितंबर को जमदरा जंगल मेन रोड के किनारे बोरी में लाश फेंक कर आरोपी फरार हो गया था. जिसके आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पिछले दिनों ने इलाके में शव मिलने की खबर से सनसनी फैल गई थी. पुलिस ने शव की पहचान केशमा गांव के सहदेव के रूप में की. इसके बाद अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरगुजा के मार्गदर्शन पर टीम गठित की गई. घटना की तफ्तीश के बाद सरगुजा पुलिस ने पांच आरोपियों को पकड़ लिया.दरअसल, मामला अवैध संबंध का है. अवैध संबंध के कारण महिला के परिजनों न सहदेव की बेदम पिटाई कर दी थी जिससे कि उसकी मौत हो गई. घबराए परिजनों ने युवक और युवक के मोटरसाइकिल को बोरे में भरकर जंगल में ठिकाने लगाने ले जा रहे थे कि रास्ते में आती एंबुलेंस को देख सड़क किनारे ही शव और मोटरसाइकिल को फेंक कर भाग गए. इसके बाद लाश मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई.
  • छत्तीसगढ़: इस महिला IAS को बनाया गया सरगुजा संभाग का आयुक्त, आदेश जारी
    रायपुर। राज्य सरकार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2004 बैच की महिला अफसर जिनेविवा किंडो को सरगुजा संभाग का आयुक्त नियुक्त किया है. इससे पहले वो यहीं अपर आयुक्त के पद पदस्थ थीं. इससे पहले बिलासपुर संभाग आयुक्त आईएएस संजय अलंग के पास सरगुजा आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार था. जिससे अब उन्हें कार्यमुक्त कर दिया गया है. इस संबंध में राज्य शासन ने आदेश जारी कर दिया है.