Top Story
  • मुख्यमंत्री ने सुकमा में गौठान का निरीक्षण किया...ग्रामीणों ने जैविक सब्जियों से किया मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत

    मिनी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में 168 करोड़ रूपए के 64 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

    पुसपाल और एर्राबोर में 33/11 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र, बारुनदी पर 
    उच्चस्तरीय पुल का लोकार्पण

    सुकमा में 4.17 करोड़ रुपए की लागत के फूड पार्क और आदर्श 
    महाविद्यालय भवन सुकमा का शिलान्यास 

     

     रायपुर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जिला मुख्यालय सुकमा के दौरे पर सुकमा के रामपुरम के पास गीदम में गौठान का अवलोकन किया। ग्रामीणों ने तुमा और तरोई जैसी जैविक सब्जियां भेंट कर और खुमरी पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। बघेल ने सुकमा के मिनी स्टेडियम में आयोजित पंच-सरपंच एवं किसान सम्मेलन में लगभग 168 करोड़ 59 लाख रूपए की लागत के 64 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस अवसर पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, लोकसभा संासद श्री दीपक बैज और विधायक सर्वश्री मोहन मरकाम, लखेश्वर बघेल और  विक्रम मण्डावी सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने सुकमा में आयोजित कार्यक्रम में लगभग 85 करोड़ 26 लाख रुपए से अधिक के 28 विकास कार्यों का लोकार्पण और 83 करोड़ 32 लाख 97 हजार रुपए के 36 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। 

     बघेल ने कोकराल से पुसपाल मार्ग पर बारुनदी में 5 करोड़ 46 लाख रुपए की लागत से निर्मित उच्चस्तरीय पुल, 8 करोड़ रुपए की लागत से सुकमा में निर्मित एकलव्य आदर्श आवासीय परिसर, 11 करोड़ 61 लाख रुपए की लागत से सुकमा में निर्मित 500 सीटर अनुसूचित जनजाति कन्या शिक्षा परिसर भवन, 3 करोड़ 82 लाख रुपए की लागत से छिन्दगढ़़, कोडरीपाल, पुसपाल, तोंगपाल, लेदा, गादीरास, केरलापाल, कोर्रा, चिन्तागुफा, मुण्डपल्ली, कुकानार और कोण्टा में निर्मित सहकारिता गोदाम, 8 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित 250 सीटर बालक छात्रावास भवन, 8 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित बालिका छात्रावास भवन, 2 करोड़ 17 लाख 16 हजार रुपए की लागत से पुसपाल में निर्मित 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र और 1 करोड़ 56 लाख रुपए की लागत से एर्राबोर में निर्मित 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण किया। उन्होंने कार्यक्रम में 10 करोड़ 46 लाख रुपए की लागत से सुकमा में बनने वाले आदर्श महाविद्यालय भवन, सुकमा में 4 करोड़ 17 लाख रुपए की लागत के फूड पार्क, मारोकी, मानकापाल, पोंगाभेज्जी, बड़े गुरवे, बाड़नपाल, कांकेरलंका, कनकापाल, गोलापल्ली, आगरगट्टा, कांजीपानी, कोर्रा, गगनपल्ली, गंजेनार, गोरखा, हमीरगढ़ में लगभग 6 करोड़़ रुपए की लागत से बनने वाले उप स्वास्थ्य केन्द्र, जिला चिकित्सालय सुकमा में 1 करोड़ 14 लाख रुपए की लागत के ट्रांजिस्ट हॉस्टल, रोकेल में फूल नदी पर 2 करोड़ रुपए की लागत के डायवर्सन कार्य, छिंदगढ़ और गंजेनार में 8 करोड़ रुपए की लागत के बनने वाली समूह जल प्रदाय योजना, 49 लाख 66 हजार रुपए की लागत से पोलमपल्ली के आश्रिम ग्राम इत्तागुड़ा, पातापारा, बरदेलतोंग में नलजल योजना, 2 करोड़ 47 लाख 84 हजार रुपए की लागत केे गोरली नदी व्यपवर्तन योजना भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

  • 21 सो रुपए समर्थन मूल्य और ₹300 का बोनस 2013 से देने वाली केंद्र सरकार प्रदेश में सरकार बदलते ही क्यों मुकर गई
    25 सौ रुपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना पक्ष स्पष्ट किया नया रायपुर पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को मैंने पत्र लिखा है केंद्रीय खाद्य मंत्री को भी मैंने पत्र लिखा है | भारत सरकार का कहना है कि 25 सौ रुपए क्विंटल में धान खरीदी करने से बाजार अव्यवस्थित हो जाएगा जबकि छत्तीसगढ़ में 25सौ रुपये में धान खरीदी करने के बाद व्यापार में बढ़ोतरी हुई है | इसलिए मु प्रदेश के व्यापारियों से भी आग्रह है कि वे प्रधानमंत्री को पत्र लिखें और बताएं कि प्रदेश में व्यापार में बढ़ोतरी हुई है | पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का किसान विरोधी चेहरा सामने आ रहा है| एक सवाल के जवाब में भूपेश बघेल ने कहा कि जब प्रदेश में भाजपा की सरकार थी तब क्या उन्होंने केंद्र से पूछ कर ₹300 बोनस देने की बात कही थी? - उन्होंने 21 सौ रुपये में धान खरीदने की बात कही थी तो क्या केंद्र से पूछ कर कही थी ? - 2013 की घोषणा के अनुसार किसानों को केंद्र से बोनस मिला था - 2018 में मैं भी केंद्र ने बोनस दिया था - तब फिर इस बार कांग्रेस की सरकार बनते ही इस पर रोक क्यों लगाई जा रही है ? -, जो काम खुद कर चुके हैं अब उस पर अड़ंगा क्यो लगाया जा रहा है - उनका उद्देश्य केवल चुनाव के लिए है, मतदाता के लिए उनकी नजरों में कोई कीमत नहीं है | केंद्र सरकार पर दबाव बनाने पहले हम राजनीतिक दलों सहित अन्य संगठनों से बात करेंगे|
  • आरएसएस मोदी सरकार को कहे कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा  2500 रू. धान का दाम देने में बाधा न डाले : मोहन मरकाम
    रायपुर/04 नवंबर 2019। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आरएसएस से कहा है कि आरएसएस मोदी सरकार को कहे कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार द्वारा 2500 रू. धान का दाम देने में बाधा न डाले। आरएसएस के भीतर अचानक जागी किसानों के प्रति संवेदनशीलता और कांग्रेस सरकार के नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी की क्रांतिकारी योजना पर आरएसएस के जिलावार आयोजनों पर तंज कसते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि किसानों के प्रति आरएसएस में इतनी संवेदनशीलता अचानक जाग ही गयी है तो आरएसएस मोदी सरकार से कहे छत्तीसगढ़ में किसानों से 2500 रू. मूल्य में खरीदी गई धान के चांवल को केन्द्रीय पूल में लेना चाहिये। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार किसानों को 2500 रू. की दर से धान का मूल्य दे रही है और अपने संसाधनों के बलबूते दे रही है। संघ को छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में कम से कम केन्द्र की मोदी सरकार को इसमें बाधा न डालने के लिये कहना चाहिये। आरएसएस मोदी सरकार को सलाह दे कि पहले की तरह सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ का चांवल लेने की घोषणा केन्द्र की मोदी सरकार करे। छत्तीसगढ़ सरकार के किसान हितकारी प्रकल्प में भाजपा की केन्द्र सरकार बाधा डालने के बजाय सहयोग का हाथ बढ़ायें। यह सलाह संघ को केन्द्र सरकार को देनी चाहिये। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि आरएसएस किसान हितैषी होने के दिखावटी उपायों और प्रयासों से कुछ होने वाला नहीं है। छत्तीसगढ़ के किसान मजदूर गरीब जरूर हैं लेकिन सच्चाई को जानते समझते है।
  • मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में जैन आचार्यों के प्रवचनों और आशीर्वाद की बड़ी भूमिका : राज्यपाल सुश्री उइके

    रायपुर। मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में जैन आचार्यों के प्रवचनों और आशीर्वाद की बड़ी भूमिका है। मैं गोलगंज छिंदवाड़ा में रहीं, वहां अनेक जैन समाज की लड़कियां मेरी मित्र थीं। उनके परिवारों के साथ मुझे भी जैन समाज के आचार्यों का आशीर्वाद मिला और मैं उनके प्रवचनों से लाभान्वित हुईं। उन्होंने मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में अहम भूमिका निभाई। यह बात आज दुर्ग में आयोजित भगवती जिन दीक्षा महोत्सव में राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उईके ने अपने उद्बोधन में कही।

    सुश्री उइके इस अवसर पर आचार्य विमर्श सागर जी का आशीर्वाद भी लिया। सुश्री उईके ने इस अवसर पर कहा कि मेरा सौभाग्य है कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल के रूप में पदग्रहण से पूर्व भी मैंने जैन आचार्यों का आशीर्वाद लिया। सुश्री उईके ने कहा कि महावीर स्वामी का संदेश ‘जियो और जीने दो’ का संदेश है। यह पूरी दुनिया में शांति का संदेश है। महावीर स्वामी का जीवन हमारे सामने बड़ा आदर्श प्रस्तुत करता है। वे राजपरिवार में पैदा हुए लेकिन समाज को सच्ची राह दिखाने सांसारिक सुखों का पूरी तरह से परित्याग कर दिया। सुश्री उईके ने कहा कि जब मैं जैन भिक्षुओं का जीवन देखती हूँ तो उनके प्रति श्रद्धा और बढ़ जाती है। सांसारिक सुखों का पूरी तरह परित्याग कर वे हमें संयम की सीख देते हैं। अहिंसा का पाठ पढ़ाते हैं। अत्यंत संयम और कठिन जीवन बिताने वाले जैन भिक्षु समाज के लिए आदर्श हैं। जैन भिक्षु केवल अपने समाज को राह नहीं दिखा रहे, उनके आदर्शों से पूरे समाज को नई दिशा मिल रही है।

    राज्यपाल ने कहा कि मानव जीवन का अंतिम लक्ष्य मोक्ष प्राप्त करना है और मोक्ष प्राप्त करने के लिए दीक्षा बहुत आवश्यक है। दीक्षित व्यक्ति ही महावीर स्वामी के बताये मार्ग पर चलने में समर्थ होता है। गुरु का आत्मदान और शिष्य का आत्मसमर्पण, एक की कृपा व दूसरे की श्रद्धा के मेल से ही दीक्षा संपन्न होती है। उन्होंने कहा कि इस दीक्षा महोत्सव में मैं शामिल हुई, उसकी मुझे गहरी खुशी है। संतों द्वारा बताये मार्ग पर चलकर ही विश्व कल्याण का मार्ग खुलता है। आचार्य विमर्श सागर महाराज के इतने सुंदर वचन सुनकर मन बहुत हर्षित हुआ है। हर बार इन सुंदर प्रवचनों को सुनकर मन में शुभ संकल्प मजबूत होते हैं। जैन समाज से मेरा गहरा जुड़ाव रहा है। आप लोगों में गहरा सेवा भाव है और आपके बीच आकर, त्याग की, दीक्षा की इस परंपरा को देखकर बहुत सुख मिलता है। इस अवसर पर दुर्ग महापौरमती चंद्रिका चंद्राकर तथा समाज के अन्य गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।

  • रमन सिंह के पास अलादिन का चिराग...उन्हें प्रधानमंत्री बना दो : CM भूपेश बघेल
    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को देश का प्रधानमंत्री बना देना चाहिए। क्योंकि 5 साल में देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंदी लाई है और रमन सिंह के पास अलादिन का चिराग है। इसलिए उनको प्रधानमंत्री बना देना चाहिए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह बयान पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के बयान कि प्रदेश में आर्थिक मंदी का असर नहीं है उसके लिए भाजपा के 15 वर्ष जिम्मेदार हैं के पलटवार में दिया। उन्होंने आगे कहा कि बहुत दुर्भाग्यजनक बात है कि डॉ रमन सिंह की नीतियों के कारण ही छत्तीसगढ़ गरीब हुआ है। जब ये सरकार में आए तो प्रदेश के 36 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन व्यापन कर रहे थे अब 40 प्रतिशत हो गया है। इनके राज में गरीब और गरीब हुआ है। केन्द्र के विरोध के लिए कार्यक्रम बना है वह 5 नवम्बर से प्रारम्भ होगा। 5 से 12 नवम्बर तक ब्लाक और जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। 13 नवम्बर को केन्द्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए किसानों और गरीबों के हित में रायपुर से दिल्ली के लिए कूच करेंगे।
  • आँगन बाड़ी कार्यकत्ताओ - सहायिकाओ के लिये छत्तीसगढ़ सरकार ने किया बड़ा ऐलान -  वंदना राजपूत

    रायपुर 2 नवंबर 2019 महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने आँगनबाड़ी कार्यकत्ताओ सहायिकाओ के लिये बड़ा ऐलान किया है अब आकस्मिक मृत्यु होने पर आंगन बाड़ी कार्यकत्ताओ और सहायिकाओ को पचास हजार रूपये की राशि दी जायेगी एवं रिटायर होने के बाद एकमुश्त राशि मिलेगी जिसका स्वागत महिला कांग्रेस ने किया है। महिला कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता वंदना राजपूत ने इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद पहली बार ऐसा हो रहा है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की सुध ली जा रही है इस फैसले पर सरकार ने मुहर लगा कर साबित कर दिया है कि यह सरकार प्रदेश की महिला वर्ग को कंधे से कंधा मिलाकर चलने का अवसर प्रदान करने वाली सरकार है कांग्रेस सरकार के विकास की प्राथमिकताओं मे महिलाओं की आर्थिक उन्नति और सशक्तिकरण है l

  • सुनिए दमन सिंह जी क्या कह रहे हैं - कांग्रेस

    सुनिये दमन सिंह जी क्या कह रहे हैं? : कांग्रेस रायपुर/02 नवंबर 2019। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि अपने कार्यकाल में तरह तरह के दमन के बाद दमन सिंह के नाम से विख्यात हो चुके रमन सिंह को अब वो सब याद आ रहा है जिस पर वे 15 वर्षों में नियंत्रण नहीं कर पाए। उन्होंने कहा है कि रमन सिंह के कार्यकाल में सामाजिक कार्यकर्ताओं से लेकर पत्रकार और अधिकारियों से लेकर विपक्षी दल के नेता सभी प्रताड़ना के शिकार हुए। उन्होंने दमन के वे सारे तरीके अपनाए जो लोकतंत्र में मान्य नहीं होते । रमन सिंह जी की सरकार में अधिकारी तक एक दूसरे को फोन करने में डरते थे और अक्सर व्हाट्सऐप, सिग्नल जैसे ऐप का उपयोग करते थे। सोमारू नाग और संतोष यादव जैसे पत्रकार रमन सिंह सरकार में फोन टैपिंग के आधार पर ही गिरफ्तार किए गये थे। नंदिनी सुंदर से लेकर मालिनी सुब्रमण्यम जैसे लोगों को कैसे प्रताड़ित किया गया यह किसी से छिपा नहीं है। माकपा के प्रदेश सचिव संजय पराते से लेकर कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को किस तरह झूठे मामलों में फंसाने की कोशिशें हुईं यह जनता ने देखा है। रमन सिंह जी के सरकार में पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता, शासकीय अधिकारी और विपक्षी नेता, कोई फोन टेपिंग से नहीं बचा पाया था। अब तो व्हाट्सएप जासूसी पर नया खुलासा हो गया है। भाजपा की सरकारों में 1400 लोग के फोन टेप किये गये। रमन सिंह का नाम ही दमन सिंह हो गया था। राज्य सरकार पर डॉ. रमन सिंह की सरकार में जो दमन चक्र चलता था लोग रमन सिंह को दमन सिंह कहने लगे थे। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह को जनहित में काम कर रही भूपेश बघेल सरकार पर झूठे आरोप मढ़ने से पहले अपने गरेबान में झांक कर देख लेना चाहिए, झीरम का हत्या कांड रमन सिंह जी की सरकार में हुआ। कांग्रेस भवन बिलासपुर के अंदर घुसकर कांग्रेस कार्यकर्ता पर लाठीचार्ज रमन सिंह जी के सरकार में हुआ। होम टिंपिग और पत्रकारिता जगत के जिस प्रकार से रमन सिंह जी ने अपने मुख्यमंत्रीत्व के काल में निशाने में लिया था आज भी छत्तीसगढ़ पूरा याद करता है। इसी कारण रमन सिंह जी को सत्ता से हटना पड़ा और कांग्रेस को तीन चौथाई से जनता ने बहुमत से चुना है। डॉ. रमन सिंह जी के ऐसे झूठे निराधार आरोपो से न हकीकत बदलने वाली है और न ही राज्य की राजनैतिक परिस्थिति बदलेगी। धान खरीदी में बहानेबाजी के रमन सिंह जी के आरोपों को खारिज करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी सरकार ने रमन सिंह जी के सरकार को 2 वर्ष तक छूट दी गयी थी। धान खरीदी में बोनस देने के बावजूद सेंट्रल पूल में मोदी सरकार ने चावल खरीदी की थी। लेकिन कांग्रेस सरकार बनते ही सेंट्रल पूल में चावल की खरीदी बंद कर दी गयी है। यह सीधे-सीधे केन्द्र की मोदी सरकार का छत्तीसगढ़ विरोधी कदम है और भाजपा के किसान विरोधी चरित्र का जीता-जागता सबूत है। डॉ. रमन सिंह जी कितने भी बहाना बना लें, भाजपा के किसान विरोधी रवैय्ये का वो बचाव नही कर सकते। छत्तीसगढ़ की जनता के बीच और किसानों के बीच भाजपा के चरित्र उजागर हो गया है।

  • छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल महामहिम सुश्री अनुसुइया उईके से की सौजन्य मुलाकात --

    छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने विधायक कुलदीप जुनेजा के नेतृत्व में प्रदेश की राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके से सौजन्य मुलाकात की ।
    छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रमुख जीएस भामरा, एएस प्लाहा, जीएस जब्बल, आर एस अजमानी, डॉक्टर कुलदीप सिंह छाबड़ा, दीप सिंह जब्बल एवं सुखबीर सिंघोत्रा ने राज्यपाल से भेंट कर उन्हें राज्य स्थापना दिवस की बधाइयां एवं शुभकामनाएं दी।
    इस अवसर पर एसोसिएशन की स्थापना के साथ-साथ एसोसिएशन द्वारा सरबत का भला अर्थात सबके भले के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी राज्यपाल को दी ।
    राज्यपाल श्री अनुसुइया उइके को जब यह पता चला कि इस एसोसिएशन के सभी सिक्ख, राज्य एवं केंद्र सरकार के अलग-अलग विभागों से रिटायर अधिकारी हैं,और निस्वार्थ भाव से समाज सेवा के कार्य कर रहे हैं, तो उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं दी, साथ ही उन्होंने छत्तीसगढ़ सिख ऑफिसर वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा भविष्य में आयोजित किए जाने वाले मेडिकल कैंप में आने की सहमति भी दी ।
    प्रतिनिधिमंडल में विधायक कुलदीप जुनेजा एसोसिएशन प्रमुख जीएस भामरा, अवतार सिंह प्लाहा, जीएस जब्बल, दीप जब्बल, आर एस अजमानी, डॉ कुलदीप सिंह छाबड़ा विशेष रूप से उपस्थित रहे । 

     

  • छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल महामहिम सुश्री अनुसुइया उईके से की सौजन्य मुलाकात --

    छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने विधायक कुलदीप जुनेजा के नेतृत्व में प्रदेश की राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके से सौजन्य मुलाकात की ।
    छत्तीसगढ़ सिक्ख ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रमुख जीएस भामरा, एएस प्लाहा, जीएस जब्बल, आर एस अजमानी, डॉक्टर कुलदीप सिंह छाबड़ा, दीप सिंह जब्बल एवं सुखबीर सिंघोत्रा ने राज्यपाल से भेंट कर उन्हें राज्य स्थापना दिवस की बधाइयां एवं शुभकामनाएं दी।
    इस अवसर पर एसोसिएशन की स्थापना के साथ-साथ एसोसिएशन द्वारा सरबत का भला अर्थात सबके भले के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी राज्यपाल को दी ।
    राज्यपाल श्री अनुसुइया उइके को जब यह पता चला कि इस एसोसिएशन के सभी सिक्ख, राज्य एवं केंद्र सरकार के अलग-अलग विभागों से रिटायर अधिकारी हैं,और निस्वार्थ भाव से समाज सेवा के कार्य कर रहे हैं, तो उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं दी, साथ ही उन्होंने छत्तीसगढ़ सिख ऑफिसर वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा भविष्य में आयोजित किए जाने वाले मेडिकल कैंप में आने की सहमति भी दी ।
    प्रतिनिधिमंडल में विधायक कुलदीप जुनेजा एसोसिएशन प्रमुख जीएस भामरा, अवतार सिंह प्लाहा, जीएस जब्बल, दीप जब्बल, आर एस अजमानी, डॉ कुलदीप सिंह छाबड़ा विशेष रूप से उपस्थित रहे । 

     

  • मुख्यमंत्री से नवनियुक्त मुख्य सचिव आर.पी. मंडल ने की सौजन्य मुलाकात
    रायपुर, 31 अक्टूबर 2019/ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में नवनियुक्त मुख्य सचिव आर.पी. मंडल ने सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने मंडल को नये दायित्व के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर आज 31 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हुए निवर्तमान मुख्य सचिव सुनील कुजूर भी उनके साथ थे। मुख्यमंत्री ने कुजूर के स्वस्थ और सुदीर्घ जीवन की कामना की।
  • मुख्यमंत्री ने राजधानी रायपुर के कालीबाड़ी चौक में पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर दी विनम्र श्रद्धांजलि
    मुख्यमंत्री ने राजधानी रायपुर के कालीबाड़ी चौक में पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर दी विनम्र श्रद्धांजलि मुख्यमंत्री ने श्रद्धांजलि सभा में पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी को उनकी पुण्यतिथि और सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनकी जयंती पर नमन किया पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिए अपनी शहादत दी : भूपेश बघेल सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश को एकता के सूत्र में बांधा रायपुर, 31 अक्टूबर 2019 / मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज 31 अक्टूबर को राजधानी रायपुर के कालीबाड़ी चौक में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित्र कर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कहा कि आज पूरा देश पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि और सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर उन्हें याद कर नमन कर रहा है। इन दोनों महान विभूतियों ने देश के निर्माण में अभूतपूर्व योगदान दिया। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश के एकीकरण मैं अपनी पूरी शक्ति लगाई और देश को एकजुट किया । श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिए अपनी शहादत दी । सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के कारण लौह पुरुष कहा जाता है , इसी प्रकार पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी को आयरन लेडी कहा जाता है। इन दोनों महान विभूतियों के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता । आज इन दोनों विभूतियों के कार्यों और विचारों को जन जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है। इस अवसर पर वरिष्ठ विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा ,श्री कुलदीप जुनेजा , श्री विकास उपाध्याय और श्री चंद्र देव राय , नगर निगम रायपुर के महापौर श्री प्रमोद दुबे सहित अनेक पार्षद और जनप्रतिनिधि तथा प्रबुद्ध नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
  • राज्यपाल ने राज्य स्थापना दिवस पर दी शुभकामनाएं

    रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं दी हैं। राज्यपाल उइके ने कहा कि छत्तीसगढ़ विविधताओं से भरा समृद्धशाली प्रदेश है। यहां सभी क्षेत्रों में विकास की असीम संभावनाएं हैं। उन्होंने प्रदेशवासियों का आव्हान किया है कि हमारे पूर्वजों ने छत्तीसगढ़ राज्य के लिए जो सपने देखे थे, उसे पूर्ण करने के लिए एकजुट होकर कार्य करें और देश की प्रगति में सहभागी बनें।