Top Story
  • महेंद्र सिंह छाबड़ा बने छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष
    राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष पद पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री महेंद्र छाबड़ा नियुक्त किए गए हैं उनकी नियुक्ति का आदेश महानदी भवन से जारी कर दिया गया है उनकी यह नियुक्ति कार्यभार ग्रहण करने की तारीख से 3 वर्ष के लिए रहेगी साथ ही 2 सदस्यों की भी नियुक्ति अल्पसंख्यक आयोग में सरकार ने की है छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री महेंद्र छाबड़ा को छग राज्य अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया गया
  • बाल दिवस के अवसर पर टिनी टॉट इंग्लिश मीडियम स्कूल में बाल मेला का आयोजन
    रायपुर दिनांक 14 नवंबर 2019 को सेक्रो अध्यक्षा रेखा कौशल की अध्यक्षता मे टिनी टॉट इंग्लिश मीडियम स्कूल डब्ल्यू आर एस कॉलोनी रायपुर में बाल दिवस के अवसर पर बाल मेला का आयोजन किया गया। बाल मेला का षुभारंभ, सेक्रो अध्यक्षा श्रीमति रेखा कौषल के कर कमलों से संपन्न हुआ। इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन के लिए जंपिंग जैक, विभिन्न प्रकार के झूले, बच्चों के लिए मनोरंजक खेल एवं खाने-पीने के स्टाल इत्यादि लगाए गए थे। नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा इन सभी प्रकार के झूलों,खेलों एवं व्यंजनों का भरपूर आनंद लिया गया। इस अवसर पर दिव्यांग बच्चों ने अध्यक्षा सेक्रो श्रीमती रेखा कौशल को ड्राइंग भेंट किया एवं अध्यक्षा की ओर से इन बच्चों को उपहार प्रदान किया गया| इस अवसर पर सेक्रो अध्यक्षा रेखा कौशल के साथ रंजीता चौधरी, नमिता वर्मा एवं अन्य सेक्रो सदस्य सहित स्कूल स्टाफ एवं बच्चे उपस्थित रहे।
  • *प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने धान खरीदी पर भाजपा से पूछे 5 सवाल*
    रायपुर/15 नवंबर 2019। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने धान खरीदी पर भाजपा से पूछे पांच सवाल :- *_1. 2013 के विधानसभा चुनावों के पूर्व जारी संकल्प पत्र में किसानों का धान 2100 रू प्रति क्विंटल तथा 300 रू. प्रति विक्ंटल की दर से पूरे पांच वर्षो तक बोनस दिये जाने का वादा किया गया था अथवा नहीं?_* *_2. केन्द्र सरकार से उक्त घोषणा के पूर्व अनुमति ली गयी थी अथवा नहीं?_* *_3. जून 2014 में केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा धान बोनस पर प्रतिबंध लगाने के बाद रमन सरकार ने कृषि वर्ष 2014-2015, 2015-2016 एवं 2016-2017 में किसानों को बोनस क्यों नहीं दिया?_* *_4. मोदी सरकार ने 2017 में धान बोनस पर लगाये गये प्रतिबंध को वापस लेने एवं राज्य में कांग्रेस सरकार बनने के बाद बोनस पर पुनः प्रतिबंध क्यों लगाया गया?_* *_5. राज्य के भाजपा नेताओं को धान बोनस पर प्रतिबंध हटाने हेतु केन्द्र सरकार से अनुरोध करने में क्यों संकोच हो रहा है?_*
  • रायुपर : भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक... अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर

    रायुपर: भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक उनके सरकारी आवास में संपन्न हुई। बैठक के बाद कृषि रविंद्र चौबे, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि अब खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना के तहत लोगों को 20 लाख तक इलाज मुफ्त दिया जाएगा।वहीं, नया रायपुर में एम्स को मुफ्त जमीन का आबंटन किया जाएगा, जहां रिसर्च सेंटर बनाया जाएगा। खनन प्रभावित लोगों को डीएमएफ से जोड़ा जाएगा। इस दौरान पंचायत चुनाव को लेकर भी चर्चा की गई।

    अहम प्रस्तवों पर भी लगी मुहर

    • 1. डाॅ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में राज्य में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने वाली समस्त योजनाएं आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, संजीवनी सहायता कोष, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (चिरायु) योजना इस नई योजना में समाविष्ट हो जाएंगी।

      इस नई योजना में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल परिवार के साथ ही सभी प्राथमिकता एवं अंत्योदय राशन कार्डधारी परिवारों को 5 लाख रूपए तक स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी एवं अन्य राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रूपए तक इलाज की सुविधा मिलेगी।

      2. मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना:- वे बीमारियां जो योजनांतर्गत शामिल नही है या हितग्राही का नाम सूची में नही है या नई योजना अंतर्गत बीमा कवर राशि इलाज हेतु पर्याप्त नही है, उन परिवारों के लिए वर्तमान में लागू संजीवनी सहायता कोष का विस्तार करते हुए मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया। इसमें मुख्यमंत्री के अनुमोदन से प्रति परिवार 5 लाख रूपए से अधिकतम 20 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।

      3 डाॅ. नरेन्द्र वर्मा द्वारा लिखित छत्तीसगढ़ी गीत- ‘‘अरपा पइरी के धार महानदी हे अपार‘‘……को राज्य-गीत घोषित करने का अनुमोदन किया गया।

      4 छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के स्वावित्तीय, भाड़ाक्रय आवासीय योजनाओं के भवनों की बकाया राशि पर भारित पंूजीगत ब्याज और दाण्डिक ब्याज में छूट एवं विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत निर्मित अविक्रित आवासीय एवं व्यावसायिक भवनों के मूल्यों में छूट की कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया। जिसके तहत अविक्रित आवासीय एवं व्यावसायिक संपदा के निर्माण दिनांक से वर्तमान रिक्त अवधि के आधार पर भवनों के मूल्यों में 15 से 20 प्रतिशत तक कमी का निर्णय लिया गया।
      इसी तरह स्ववित्तीय योजना के तहत विलंबित अवधि की राशि एकमुश्त जमा करने पर ब्याज में छूट एवं भाड़ा क्रय योजना के तहत लंबित राशि एकमुश्त जमा करने पर दण्ड ब्याज में छूट प्रदान करने के निर्णय का अनुमोदन किया गया।

      5. खनन प्रभावित लोगों के लिए आवास, दैनिक उपयोग के लिए आवश्यक सामग्री तथा महिलाओं एवं बच्चों के लिए वस्त्र आदि की उपलब्धता के लिए छत्तीसगढ़ जिला खनिज न्यास नियम-2015 में नया सेक्टर प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया। इसमें अन्य प्राथमिकता के क्षेत्र अंतर्गत प्राप्त होने वाली राशि में से 5 प्रतिशत अधिकतम राशि का उपयोग उपरोक्त कार्यो के लिए किया जा सकेगा।

      6. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर (एम्स) को नवा रायपुर, अटल नगर में निःशुल्क भूमि आबंटन का निर्णय लिया गया। नया रायपुर डेव्लपमेंट अथाॅरिटी (एनआरडीए) द्वारा सेक्टर-36 में आबंटित भूमि के संबंध में एम्स रायपुर से किए जाने वाले एम.ओ.यू. प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

      7. छत्तीसगढ़ राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के पास उपलब्ध चावल का निराकरण राज्य और केन्द्र शासन द्वारा संचालित विभाग और संस्थाओं की विभिन्न योजनाओं में उपयोग करने का निर्णय लिया गया।

      8. छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण एवं अन्य पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण निधि नियम-2012 में आवश्यक संशोधन का अनुमोदन किया गया। इसमें नए कार्यो (शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण आदि) को सम्मिलित किया गया।

      9. जेम एण्ड ज्वेलरी पार्क रायपुर शहर में स्थापित करने का निर्णय लिया गया ।
      10. नंदनवन जंगल सफारी नवा रायपुर में प्रचलित प्रवेश शुल्क को आधा करने का निर्णय लिया गया। 12 वर्ष से कम और दिव्यांग लोगों के लिए निःशुल्क रहेगा।

  • ओवर रेट पर शराब बेचने को लेकर आमा सिवनी  विधान सभा मार्ग  की शराब दुकान में बवाल
    प्रदेश में ओवरेट शराब की बिक्री आपकारी मंत्री के तमाम दावों के बावजूद रुकने का नाम नहीं ले रही है प्रदेश की सर लगभग सभी दुकानों में ओवरेट पर शराब खुलेआम बेची जा रही है यहां तक कि विधानसभा के पास किस दुकानों में भी यह सिलसिला लगातार जारी है इससे नाराज आमा सिवनी शराब दुकान में एक व्यक्ति को ओवर रेट पर शराब दिए जाने से नाराज बवाल की स्थिति उत्पन्न हो गई है शराब दुकान में भारी भीड़ जमा हो गई है शराब खरीददार कर्मचारी जहां काम करता है ने अपने मालिक को भी बुलवा लिया है आबकारी विभाग का एक भी अधिकारी फोन उठाने को तैयार नहीं है साथ ही पुलिस भी बवाल शुरू होने के आधे घंटे के बाद भी घटनास्थल पर नहीं पहुंची है आबकारी मंत्री की नाक के नीचे विधानसभा के बाजू में खुलेआम अवैध शराब की बिक्री इस बात का प्रमाण है कि ओवरेट शराब बिक्री में सरकार की पूर्ण सहमति है अब देखने वाली बात है कि यह बवाल कितना लंबा खींच आता है अभी-अभी पता चला है कि शराब खरीददार द्वारा सड़क पर चक्का जाम की तैयारी की जा रही है
  • राजधानी रायपुर तर्ज के बाद अब सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के दिए निर्देश : CM भूपेश बघेल
    रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जन चौपाल में राजधानी रायपुर की तर्ज पर छत्तीसगढ़ के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के निर्देश दिए है। सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के लिए मुख्य सचिव को आवश्यक कार्रवाई करने को कहा गया है। रायपुर के महंत घासीदास संग्रहालय परिसर में छत्तीसगढ़ के पारम्परिक व्यंजनों के लिए प्रसिद्ध गढ़ कलेवा का संचालन किया जा रहा है। जिसमें स्व सहायता समूहों की लगभग सौ महिलाएं कार्य कर रही हैं। इस केन्द्र में प्रतिदिन बड़ी संख्या में राजधानी सहित प्रदेश के विभिन्न स्थानों और राज्य के बाहर से आने वाले लोग पारम्परिक छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का लाभ उठा रहे हैं। राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खुलने से लोगों को छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का स्वाद मिल पाएगा साथ ही हजारों स्थानीय महिलाओं को स्व सहायता समूहों के माध्यम से रोजगार भी मिलेगा। जन चौपाल कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के संबंध में मुख्यमंत्री को छत्तीसगढ़ नागरिक संघर्ष समिति रायपुर के विश्वजीत मित्रा ने सुझाव पत्र प्रस्तुत किया है। जिसमें सभी जिला मुख्यालयों के जिलाधीश कार्यालय परिसरों, जिला न्यायालय परिसरों, रेलवे स्टेशनों और स्वामी विवेकानन्द विमानतल में गढ़ कलेवा केन्द्र खोलने का सुझाव दिया है। इन स्थानों में गढ़ कलेवा खुलने से राज्य के सभी जिलों के नागरिकों के साथ-साथ अन्य राज्यों के लोगों को भी छत्तीसगढ़ के पारम्परिक व्यंजनों का स्वाद चखने का मौका मिलेगा।
  • गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व में शामिल हुए सीएम भूपेश बघेल...गुरु ग्रंथ साहिब के सामने टेका मत्था

     रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायपुर के खालसा स्कूल में आयोजित गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व में शामिल होकर गुरू ग्रन्थ साहिब के सामने मत्था टेका और प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। इस दौरान सीएम बघेल ने कहा- गुरुनानक जी महान संत थे जिन्होंने जीवन जीने की कला सिखाई। उन्होंने प्रेम, सदाचार, भाईचारा और समानता का संदेश दिया।

    Image

  • छग विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत से राज्यसभा सांसद डॉ सुब्बारामी रेड्डी ने की सौजन्य मुलाकात
    रायपुर 10 नवंबर 2019 छत्तीशगढ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत से राज्यसभा में अधीनस्थ विधान संबंध समिति के अध्यक्ष एवं आंध्रप्रदेश से राज्यसभा सांसद डॉ टी.सुब्बारामी रेड्डी ने छत्तीशगढ प्रवास के दौरान राजधानी रायपुर शंकर नगर स्थित स्पीकर हाऊस पहुचकर की सौजन्य मुलाकात। इस अवसर पर कोरबा लोकसभा की सांसद ज्योत्स्ना चरणदास महंत भी मौजूद थी। छग विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने इस अवसर पर राज्यसभा सांसद डॉ टी.सुब्बारामी रेड्डी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की मूर्ति प्रतीक स्वरूप भेंट किया|
  • मुख्यमंत्री ने सुकमा में गौठान का निरीक्षण किया...ग्रामीणों ने जैविक सब्जियों से किया मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत

    मिनी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में 168 करोड़ रूपए के 64 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

    पुसपाल और एर्राबोर में 33/11 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र, बारुनदी पर 
    उच्चस्तरीय पुल का लोकार्पण

    सुकमा में 4.17 करोड़ रुपए की लागत के फूड पार्क और आदर्श 
    महाविद्यालय भवन सुकमा का शिलान्यास 

     

     रायपुर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जिला मुख्यालय सुकमा के दौरे पर सुकमा के रामपुरम के पास गीदम में गौठान का अवलोकन किया। ग्रामीणों ने तुमा और तरोई जैसी जैविक सब्जियां भेंट कर और खुमरी पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। बघेल ने सुकमा के मिनी स्टेडियम में आयोजित पंच-सरपंच एवं किसान सम्मेलन में लगभग 168 करोड़ 59 लाख रूपए की लागत के 64 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस अवसर पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, लोकसभा संासद श्री दीपक बैज और विधायक सर्वश्री मोहन मरकाम, लखेश्वर बघेल और  विक्रम मण्डावी सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने सुकमा में आयोजित कार्यक्रम में लगभग 85 करोड़ 26 लाख रुपए से अधिक के 28 विकास कार्यों का लोकार्पण और 83 करोड़ 32 लाख 97 हजार रुपए के 36 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। 

     बघेल ने कोकराल से पुसपाल मार्ग पर बारुनदी में 5 करोड़ 46 लाख रुपए की लागत से निर्मित उच्चस्तरीय पुल, 8 करोड़ रुपए की लागत से सुकमा में निर्मित एकलव्य आदर्श आवासीय परिसर, 11 करोड़ 61 लाख रुपए की लागत से सुकमा में निर्मित 500 सीटर अनुसूचित जनजाति कन्या शिक्षा परिसर भवन, 3 करोड़ 82 लाख रुपए की लागत से छिन्दगढ़़, कोडरीपाल, पुसपाल, तोंगपाल, लेदा, गादीरास, केरलापाल, कोर्रा, चिन्तागुफा, मुण्डपल्ली, कुकानार और कोण्टा में निर्मित सहकारिता गोदाम, 8 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित 250 सीटर बालक छात्रावास भवन, 8 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित बालिका छात्रावास भवन, 2 करोड़ 17 लाख 16 हजार रुपए की लागत से पुसपाल में निर्मित 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र और 1 करोड़ 56 लाख रुपए की लागत से एर्राबोर में निर्मित 33/11 केवी विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण किया। उन्होंने कार्यक्रम में 10 करोड़ 46 लाख रुपए की लागत से सुकमा में बनने वाले आदर्श महाविद्यालय भवन, सुकमा में 4 करोड़ 17 लाख रुपए की लागत के फूड पार्क, मारोकी, मानकापाल, पोंगाभेज्जी, बड़े गुरवे, बाड़नपाल, कांकेरलंका, कनकापाल, गोलापल्ली, आगरगट्टा, कांजीपानी, कोर्रा, गगनपल्ली, गंजेनार, गोरखा, हमीरगढ़ में लगभग 6 करोड़़ रुपए की लागत से बनने वाले उप स्वास्थ्य केन्द्र, जिला चिकित्सालय सुकमा में 1 करोड़ 14 लाख रुपए की लागत के ट्रांजिस्ट हॉस्टल, रोकेल में फूल नदी पर 2 करोड़ रुपए की लागत के डायवर्सन कार्य, छिंदगढ़ और गंजेनार में 8 करोड़ रुपए की लागत के बनने वाली समूह जल प्रदाय योजना, 49 लाख 66 हजार रुपए की लागत से पोलमपल्ली के आश्रिम ग्राम इत्तागुड़ा, पातापारा, बरदेलतोंग में नलजल योजना, 2 करोड़ 47 लाख 84 हजार रुपए की लागत केे गोरली नदी व्यपवर्तन योजना भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

  • 21 सो रुपए समर्थन मूल्य और ₹300 का बोनस 2013 से देने वाली केंद्र सरकार प्रदेश में सरकार बदलते ही क्यों मुकर गई
    25 सौ रुपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना पक्ष स्पष्ट किया नया रायपुर पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को मैंने पत्र लिखा है केंद्रीय खाद्य मंत्री को भी मैंने पत्र लिखा है | भारत सरकार का कहना है कि 25 सौ रुपए क्विंटल में धान खरीदी करने से बाजार अव्यवस्थित हो जाएगा जबकि छत्तीसगढ़ में 25सौ रुपये में धान खरीदी करने के बाद व्यापार में बढ़ोतरी हुई है | इसलिए मु प्रदेश के व्यापारियों से भी आग्रह है कि वे प्रधानमंत्री को पत्र लिखें और बताएं कि प्रदेश में व्यापार में बढ़ोतरी हुई है | पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का किसान विरोधी चेहरा सामने आ रहा है| एक सवाल के जवाब में भूपेश बघेल ने कहा कि जब प्रदेश में भाजपा की सरकार थी तब क्या उन्होंने केंद्र से पूछ कर ₹300 बोनस देने की बात कही थी? - उन्होंने 21 सौ रुपये में धान खरीदने की बात कही थी तो क्या केंद्र से पूछ कर कही थी ? - 2013 की घोषणा के अनुसार किसानों को केंद्र से बोनस मिला था - 2018 में मैं भी केंद्र ने बोनस दिया था - तब फिर इस बार कांग्रेस की सरकार बनते ही इस पर रोक क्यों लगाई जा रही है ? -, जो काम खुद कर चुके हैं अब उस पर अड़ंगा क्यो लगाया जा रहा है - उनका उद्देश्य केवल चुनाव के लिए है, मतदाता के लिए उनकी नजरों में कोई कीमत नहीं है | केंद्र सरकार पर दबाव बनाने पहले हम राजनीतिक दलों सहित अन्य संगठनों से बात करेंगे|
  • आरएसएस मोदी सरकार को कहे कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा  2500 रू. धान का दाम देने में बाधा न डाले : मोहन मरकाम
    रायपुर/04 नवंबर 2019। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आरएसएस से कहा है कि आरएसएस मोदी सरकार को कहे कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार द्वारा 2500 रू. धान का दाम देने में बाधा न डाले। आरएसएस के भीतर अचानक जागी किसानों के प्रति संवेदनशीलता और कांग्रेस सरकार के नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी की क्रांतिकारी योजना पर आरएसएस के जिलावार आयोजनों पर तंज कसते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि किसानों के प्रति आरएसएस में इतनी संवेदनशीलता अचानक जाग ही गयी है तो आरएसएस मोदी सरकार से कहे छत्तीसगढ़ में किसानों से 2500 रू. मूल्य में खरीदी गई धान के चांवल को केन्द्रीय पूल में लेना चाहिये। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार किसानों को 2500 रू. की दर से धान का मूल्य दे रही है और अपने संसाधनों के बलबूते दे रही है। संघ को छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में कम से कम केन्द्र की मोदी सरकार को इसमें बाधा न डालने के लिये कहना चाहिये। आरएसएस मोदी सरकार को सलाह दे कि पहले की तरह सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ का चांवल लेने की घोषणा केन्द्र की मोदी सरकार करे। छत्तीसगढ़ सरकार के किसान हितकारी प्रकल्प में भाजपा की केन्द्र सरकार बाधा डालने के बजाय सहयोग का हाथ बढ़ायें। यह सलाह संघ को केन्द्र सरकार को देनी चाहिये। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि आरएसएस किसान हितैषी होने के दिखावटी उपायों और प्रयासों से कुछ होने वाला नहीं है। छत्तीसगढ़ के किसान मजदूर गरीब जरूर हैं लेकिन सच्चाई को जानते समझते है।
  • मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में जैन आचार्यों के प्रवचनों और आशीर्वाद की बड़ी भूमिका : राज्यपाल सुश्री उइके

    रायपुर। मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में जैन आचार्यों के प्रवचनों और आशीर्वाद की बड़ी भूमिका है। मैं गोलगंज छिंदवाड़ा में रहीं, वहां अनेक जैन समाज की लड़कियां मेरी मित्र थीं। उनके परिवारों के साथ मुझे भी जैन समाज के आचार्यों का आशीर्वाद मिला और मैं उनके प्रवचनों से लाभान्वित हुईं। उन्होंने मेरे जीवन में संस्कार का बीज रोपने में अहम भूमिका निभाई। यह बात आज दुर्ग में आयोजित भगवती जिन दीक्षा महोत्सव में राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उईके ने अपने उद्बोधन में कही।

    सुश्री उइके इस अवसर पर आचार्य विमर्श सागर जी का आशीर्वाद भी लिया। सुश्री उईके ने इस अवसर पर कहा कि मेरा सौभाग्य है कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल के रूप में पदग्रहण से पूर्व भी मैंने जैन आचार्यों का आशीर्वाद लिया। सुश्री उईके ने कहा कि महावीर स्वामी का संदेश ‘जियो और जीने दो’ का संदेश है। यह पूरी दुनिया में शांति का संदेश है। महावीर स्वामी का जीवन हमारे सामने बड़ा आदर्श प्रस्तुत करता है। वे राजपरिवार में पैदा हुए लेकिन समाज को सच्ची राह दिखाने सांसारिक सुखों का पूरी तरह से परित्याग कर दिया। सुश्री उईके ने कहा कि जब मैं जैन भिक्षुओं का जीवन देखती हूँ तो उनके प्रति श्रद्धा और बढ़ जाती है। सांसारिक सुखों का पूरी तरह परित्याग कर वे हमें संयम की सीख देते हैं। अहिंसा का पाठ पढ़ाते हैं। अत्यंत संयम और कठिन जीवन बिताने वाले जैन भिक्षु समाज के लिए आदर्श हैं। जैन भिक्षु केवल अपने समाज को राह नहीं दिखा रहे, उनके आदर्शों से पूरे समाज को नई दिशा मिल रही है।

    राज्यपाल ने कहा कि मानव जीवन का अंतिम लक्ष्य मोक्ष प्राप्त करना है और मोक्ष प्राप्त करने के लिए दीक्षा बहुत आवश्यक है। दीक्षित व्यक्ति ही महावीर स्वामी के बताये मार्ग पर चलने में समर्थ होता है। गुरु का आत्मदान और शिष्य का आत्मसमर्पण, एक की कृपा व दूसरे की श्रद्धा के मेल से ही दीक्षा संपन्न होती है। उन्होंने कहा कि इस दीक्षा महोत्सव में मैं शामिल हुई, उसकी मुझे गहरी खुशी है। संतों द्वारा बताये मार्ग पर चलकर ही विश्व कल्याण का मार्ग खुलता है। आचार्य विमर्श सागर महाराज के इतने सुंदर वचन सुनकर मन बहुत हर्षित हुआ है। हर बार इन सुंदर प्रवचनों को सुनकर मन में शुभ संकल्प मजबूत होते हैं। जैन समाज से मेरा गहरा जुड़ाव रहा है। आप लोगों में गहरा सेवा भाव है और आपके बीच आकर, त्याग की, दीक्षा की इस परंपरा को देखकर बहुत सुख मिलता है। इस अवसर पर दुर्ग महापौरमती चंद्रिका चंद्राकर तथा समाज के अन्य गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।